हिंदी बीएफ लड़कियों की

छवि स्रोत,सेक्सी बीफ हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स बीएफ वीडियो पंजाबी: हिंदी बीएफ लड़कियों की, उसका लंड अभी भी उसकी पैंट में ही तना हुआ बाहर निकला हुआ था और बाइक एक कोठरी की तरफ बढ़ रही थी जिसके अंदर एक धीमी सी रोशनी थी.

बांग्ला बीएफ हिंदी

कभी वो उसकी गोटियां चूसती, तो कभी पूरे लंड को मुँह में भर कर जोर-जोर से आगे-पीछे करती. हिंदी में बीएफ चाहिए बीएफमेरी मम्मे चूसने की स्पीड और बढ़ गई और फिर मैंने उसके दोनों मम्मों को पकड़ कर लंड से बहन की चूची चुदाई शुरू की और वो फिर ‘आआहह.

मेरे बालों को पकड़े हुए उसने मेरा मुँह आगे किया तो मैं भी अपनी जीभ रिया के चुत में घुसाने लगी. सपना चौधरी रीमिक्समम्मी की बात सुन कर सब ने बड़ी चाची को हमारे यहाँ छोड़ कर जाने का फैसला किया और दोनों चाचा, छोटी चाची और बच्चे गाँव चले गए.

जरा कंट्रोल में रहना।साहिल- बात तो समझ में आ गई मगर वो खुद कैसे बोलेगी उसका क्या प्लान है?संजय ने विस्तार से सबको अपनी स्कीम बताई और कैसे सबको एक्टिंग करनी है.हिंदी बीएफ लड़कियों की: उस दिन ब्रा में कसी तेरी चुची देख कर भगवान से प्रार्थना की थी कि एक बार ये चुची नंगी देखने को मिल जाएं और आज देखो भगवान ने मेरी सुन ली।मोना- ये आप क्या कह रहे हो, आपने कब देखा मुझे ब्रा में?काका- अरे जब तू कपड़े बदल रही थी ना.

हालांकि मॉंटी सेक्स से अनजान था मगर एक जवान लड़की को नंगी देखना किसी भी लड़के के लिए आसान नहीं होता, उसकी उम्र तो ऐसी थी कि वो किसी की भी चुदाई के लायक था मगर उसका भोलापन उसे रोके हुए था.मुझे लगा कि मामा मेरी चूत तो अभी ज़रूर चाटेंगे और रात की चुदाई का मामा के लंड और मेरी चूत का रस तो मेरी चूत में ही लगा होगा, मैंने सोचा कि मैं अपनी चूत धोकर आती हूँ, मैं मामा से बोली- मैं आती हूँ थोड़ी देर में!तो मामा बोले- मुझे चुदाई करनी है, अभी मत जाओ.

हिंदी बीएफ सेक्सी चलने वाला - हिंदी बीएफ लड़कियों की

चल साली रांड तू मेरा हाथ से हिला के मुझे मज़ा दे दे।दोस्तो, 15 मिनट तक ये खेल चलता रहा फ्लॉरा तो असीम आनन्द की दुनिया में खो गई। वो कुछ बोल भी नहीं पा रही थी। अजय उसके मुँह को चोदने में लगा हुआ था और इधर मम्मों और चुत की चुसाई से वो बेहाल हो गई थी। उसका झरना बहना शुरू हो गया था, जिसे साहिल ने चाटना शुरू कर दिया।साहिल- वाह साली.उसके हुस्न का जादू मानो मुझ पर इतना अधिक चढ़ गया था कि मैं काबू ही नहीं कर पा रहा था.

इस बार चुदाई इतनी तेज थी कि मैं दो बार झड़ चुकी थी तब मुरुगन का लंड फटने को हुआ. हिंदी बीएफ लड़कियों की वो मेरी बहन के हाथ को पकड़ते हुए लेट गया और मेरी बहन के हाथ में अपने लंड को पकड़ाते हुए बोला- लो पहले इसे चूसो.

मामा जी को भी लगा कि मेरी चूत पूरी गीली हो गई है, उन्होंने मुझे किचन की स्लैब पर बैठा कर मेरी दोनों जाँघों को फैला कर अपनेहोंठ मेरी चूत के होंठों से लगा दिए।मेरी चूत से एक भीनी भीनी सी खुशबू आ रही थी जो मामा को पागल बना रही थी.

हिंदी बीएफ लड़कियों की?

अपने लंड रस को, बहुत दिनों से यह चूत बिना पानी के बंजर जमीन जैसे हो गई थी. मैंने उसके लंड को पकड़ कर रगड़ना जारी रखा और लगभग 2 किलोमीटर के बाद बाइक ने सीधे जाखोद खेड़ा का रोड छोड़कर दाहिने हाथ की तरफ नेवली खुर्द गांव की तरफ कट मार दिया और हम रात के अंधेरे में सुनसान गांव की तरफ अंधेरे में गुम हो गए. मित्रो, इसका एक और फायदा भी हुआ राजे की साली रेखा को… जब ये सारी बातें मैंने उसको बताई तो उसने मुझे मेरी हिम्मत पर खूब शाबाशी दी और बोली कि मोना तेरी इस कारस्तानी से मेरे दिल में भी हिम्मत जग उठी है कि मैं भी राजे की वाइफ को तैयार करूँ कि मैं राजे से तेरी तरह खुल के चुदाई कर सकूँ.

जमीला- तुम तो हर चीज में माहिर हो यार!मुझे नीचे गद्दा बिछा कर उस पर पुरानी बेड शीट बिछा कर लिटा दिया और दोनों मालिश करने लगे. अब मैंने उसकी चूत पर एक किस कर दिया, जिससे उसके मुँह से प्यार भरी आह निकल गई. वो बहुत रोती हुई मजा लेती रही मगर गोपाल तो उसको चोदने में लगा रहा। उसके बाद मैंने भी पूरा मज़ा लिया।’मोना- ओह गॉड बेचारी लड़की की जान निकाल दी होगी.

ये दीदी बहुत अच्छी हैं तेरा बहुत ख्याल रखेगी, बस तू इनकी सब बातें मानती रहना और तुझे पैसे भी बहुत मिलेंगे. मैंने कहा- तो मतलब? कैसे?तो उसने बताया- एक बार घर में कोई नहीं था, हमारे घर में लाइट चली गई थी और मुझे नहाना था, अँधेरे में नहाने में थोड़ी घबराहट होती है इसलिए मैंने बाथरूम का दरवाज़ा थोड़ा खुला रख लिया और मैं नहाने लगी. तो भाई ऐसे ना तो आपको समझ आएगा ना मज़ा आएगा। इससे अच्छा आपको सीधा संजय के घर लेकर चलती हूँ। वहाँ का नजारा देख के शायद मज़ा आ जाए।संजय अपने बिस्तर पर आराम से लेटा हुआ था तभी पूजा कमरे में आती है और सीधा संजय के पेट पर आकर बैठ जाती है।पूजा देखने में एकदम स्वीट सी है, उसने पिंक टी-शर्ट और ब्लैक स्कर्ट पहना हुआ था।आपको बता दूँ पूजा बहुत खूबसूरत लड़की है.

मेरी बहन के पजामे को उतारने के बाद वो मेरी बहन के जांघ के पास बैठ गया. एक कमरे से दूसरे कमरे में जाते हुए बेडरूम के पास पहुँची तो देखा परदा गिरा हुआ था और अन्दर एक लाईट जल रही थी।मैंने सोची दीपा होगी.

मौसी थोड़ी से पीछे को हुई, तो मैंने उसके दोनों बोबे पकड़ लिए और खूब ज़ोर से दबाये, जितना मुझे जोश आता, मैं उतनी ज़ोर से दबाता.

मैं कपड़े पहनने लगी, दूध वाले के दोस्त ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने ऊपर खींच कर बोला- कहाँ जा रही हो रानी, एक बार तो और चुदवा लो.

काफी देर तक झटके मारने के बाद पूजा का शरीर अकड़ने लगा और वो झड़ गई और बेड पर औंधे मुंह गिर पड़ी, पर मेरा अभी बाकी था तो मैं उसके ऊपर ही लेट गया. तत्पश्चात उसने चुचुक से ही मुझे उछाल उछाल के चोदना शुरू किया ‘धमाधम धम धमाधम धम्म धम्म धम्म! फच्च फच्च फच्च! राजे का लौड़ा पूरा सख्त होकर गर्म गर्म लोहे के मोटे से डंडे जैसा हो चुका था. इतने में उस लड़के की नज़र फिर मुझ पर चली गई लेकिन मैंने भी इस बार नज़र नहीं हटाई और वो मेरी तरफ देखकर मुस्करा दिया और बदले में मैं भी…अब उसने लड़की का सिर पकड़कर ऊपर नीचे करना शुरु कर दिया और बड़े प्यार सेलड़की उसका लंड चूसने लगी.

मैंने भी देर ना करते हुए उसकी टी-शर्ट को उसके गले तक ऊपर कर दिया और मेरे सामने उसके दोनों कबूतर उछल कर निकल आए।अह. मैंने बड़ी उत्सुकता से पूछा- तो यहाँ से बाहर निकलने वाली सभी लड़कियाँ क्या चुदवाती हैं?वो बोला- अरे नहीं रे पगले, ज़्यादातर तो अपने दोस्तों के साथ ही होती हैं, हम तो कोई एक ढूंढते हैं, जो अकेली हो. वो धीरे-धीरे प्यार से उसकी चूचियों को दबा रहा था और वो लड़की उसके लंड को पूरा हाथ में भर लेती थी और मसल रही थी.

हाँ! तुमने मुझे क्या समझ रखा है?गोपाल- देखो मोना मेरा दिमाग़ मत खराब करो.

इस अचानक हुए एक्शन से उसका निप्पल मेरे मुख से निकल गया और वो उठ कर साइड मेरे अंडरवियर की ओर आई और बोली- मुझे माफ करना, पर आज मैं अपनी सभी फंतासी तुमसे पूरी करुँगी. वो भी मस्ती से चिल्ला रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तभी मैंने लंड को उसकी चुत से बाहर निकाल कर उसके मुँह में दे दिया और उसके मुँह में ही झड़ गया. मैंने एक हाथ की दो उँगलियों से उसकी चूत को चौड़ा करके अपने लंड का सुपारा उसकी प्यासी चूत पर रखा और थोड़ा अंदर करने के लिए जोर लगाया, लगभग एक इंच सुपारा चूत में चला गया.

मैं चाची के घर गया, चाची कुर्सी पर बैठी हुई थी, मैंने चाची को पूछा- अब कैसी तबीयत है?चाची बोली- अब आराम है. आई लव यू रानी।बाद में वो मुझसे दुबारा मिलने का वादा करके चला गया और मैं जब भी उसे बुलाती हूँ वो आ जाता।तो दोस्तो, यह थी देवर भाभी सेक्स चुदाई की सच्ची कहानी। आपको कैसी लगी मुझे ज़रूर मेल करें. काफ़ी देर दोनों वैसे ही पड़े रहे, फिर गुलशन ने अनिता को सहारा देकर उठाया, उसको वॉशरूम लेके गए.

मैडम सिसकारियाँ ले रही थी, वो बोली- धीरे से करो ना प्लीज़!उनका बदन एकदम काला था, पर बदन का मांस गदेद्दार था.

सच में राहुल भी एकदम मस्त था यार। अमन से किसी भी लिहाज से कम नहीं था।अब ना तो मेरे से कण्ट्रोल हो रहा था और ना ही उन दोनों से. मैंने बाथरूम से निकल कर दरवाज़े के पास खड़ा हो कर माला के निकलने की प्रतीक्षा करने लगा.

हिंदी बीएफ लड़कियों की प्लीज़ निकाल लो।लेकिन मैंने उसके चूचों को मसलते हुए धीरे-धीरे चोदना जारी रखा। जब उसकी सिसकारियाँ बढ़ने लगीं. वैसे मेरे पति का लंड भी 7 इंच का है, वे मेरी चुदाई खूब करते भी हैं, फिर भी उनका टूरिंग जॉब है इसलिए मेरी प्यास तो बनी ही रहती है.

हिंदी बीएफ लड़कियों की इतने में मेरे लंड में खिंचाव होना शुरू हो गया और उसकी चूत में से पानी भी रिसना शुरू हो गया था. सुमन ने बैठ कर उत्तेजना में मॉंटी के सर को पकड़ा और अपनी चूत पर जोर से दबा दिया.

इतने में जैसे ही मुझे शावर चलने की ध्वनि सुनाई दी, मैं समझ गया कि माला नहा रही होगी इसलिए मैं उठ कर बाथरूम में घुसा और पूछा- माला अभी और कितनी देर लगेगी? ज़रा जल्दी करो मुझे भी ऑफिस जाने के लिए नहाना एवम् तैयार होना है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो भेजिए

संजय का लंड उसके हाथ में आ गया, जोकि लोहे जैसा सख़्त और गर्म था। लंड का स्पर्श पाते ही वो घबरा गई और जल्दी से उठ गई।संजय को कुछ करने का मौका भी नहीं मिला. मैं उन तीनों के लंड चूसना चाह रहा था लेकिन अगले ही पल संदीप राजू के पास पहुंच गया और राजू को कहा- एक बार अपना लंड निकाल… और इसको घोड़ी बना दे. नाश्ता करते हुए ऋतु ने सबको बता दिया कि आज रात उसकी फ्रेंड पूजा रात को यहीं रुकेगी.

मैंने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और कुछ ही देर में अपनी बहन के सामने बिल्कुल नंगा खड़ा हो गया. उसकी हवस इतनी बढ़ गई थी मानो वह कह रहा हो कि मैं आज तुझे अपना लंड खिला ही दूंगा. दोनों बारी-बारी से मेरे पप्पू को अपने मुंह में लेकर लॉलीपॉप की तरह चूस रही थी.

मुझे वापस दुकान पर भी जाना है।सुमन ने एक ब्लैक जींस और लाइट पिंक टी-शर्ट ली, फिर उसको ट्रायल रूम में चैक किया। वो उस पर बिल्कुल फिट बैठी और उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा। इन कपड़ों में वो एक सेक्स बम लग रही थी। वो बाहर आई और गुलशन जी ने उसे देखा तो उनकी तो आँखें ही चुंधिया गईं। सुमन को उस ड्रेस में देखकर वो बस देखते जा रहे थे।सुमन- क्या हुआ पापा.

धीरे धीरे मैं उनकी गांड तक आया, एकदम गोरी, इतने बड़े बड़े उभार कि चूत के एक छोर से होती हुई एक लाइन आगे बढ़ रही थी और आगे न जाने कहाँ ख़त्म हो रही थी. खाना तो हो गया अब अपनी रसीली चुत का रस भी पिला दे।मोना- आ जाओ मेरे गोपू. शाम को गुलशन जी भी फ्रेश होकर चले गए और जाते टाइम वो बोल गए कि उन्हें आने में देर हो जाएगी.

उठ गईं और दौड़कर कमरे में आ गईं।पर यहाँ का माजरा कुछ और ही था, फिर वो ये सब देख कर तुरंत ही चली गई।मैं अब तक अपना आधा लंड साली की चूत में घुसा चुका था।बड़ी साली आई पर उसको मेरी छोटी साली देख नहीं पाई थी। मैंने सोचा अब चुत में लंड दे ही दिया है. लेकिन ये मुझे देखकर ऐसे क्यों मुस्करा रहे हैं?मैं नज़रें चुराता हुआ फ्रेंची को अपने हाथों में दबोचकर दोनों हाथ कमर के पीछे से छुपाता हुआ नीचे चला गया और जाकर अपने सामान के बैग को उठा लिया और एकांत में जाकर उसमें सामान को व्यवस्थित करने लगा. तभी मेरा निकलने वाला था सो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ?उन्होंने बोला- अन्दर ही डाल दो.

हाँ थोड़ी मॉर्डन हूँ, मगर मैंने कभी ऐसा-वैसा कुछ नहीं किया।साहिल- अच्छा अच्छा जाने दे ये सवाल हो गए. मैं एकदम भौंचक्का रह गया था और शीघ्रता से अपने लंड को अपनी https://www.

वो बोली कि वो किसी से मकान शेयर करने को भी तैयार है बशर्ते कोई उस जैसी लड़की हो. मैं भी उसके साथ चिपक कर लेट गया और पीछे से ही अपने लंड को उसकी चुत पर रगड़ने लगा. जिसे देख कर सबके लंड खड़े हो गए। सच में आज खुले बालों में सुमन का लुक बड़ा सेक्सी आ रहा था।वो दोनों पास आईं.

अगले पन्द्रह मिनट में पहले मध्यम गति से, फिर तीव्र गति से और अंत में अत्यंत तीव्र गति से धक्के लगाते हुए मैंने चाची को चरम सीमा तक पहुंचा कर उनके योनि रस का स्खलन करवा दिया.

तो मैंने कहा- ठीक है!मामी ने कहा- तुम्हारे मामा ने तो मुझे कई दिन से चोदा नहीं है. मैं अकेले में उसे गर्लफ्रेंड ही कहता था जैसे- हेलो गर्लफ्रेंड! कैसी हो?फिर एक दिन मैंने मौका देख कर गर्लफ्रेंड के गालों की एक चुम्मी ले ली और वो भागते हुए बाहर चली गई. पास जा कर मैं घुटनों के बल हो गयी और रिया के साथ साथ मेरा मुँह भी पीटर के लंड पे चला गया.

लगभग दस मिनट ऊपर नीचे मालिश करने के बाद आंटी ने कहा कि मालिश कई दिन करवानी है और यह कह कर आंटी ने मुझे होठों पर किस कर लिया. और उनकी देखभाल को कोई नहीं था। सो भैया के बड़े भाई की वाइफ वहां रहने आई थीं।मेरी उनकी फैमिली के साथ अच्छी बनती थी।मेरा कमरा छत पर था और दिन में मैं ज़्यादातर अपने कमरे में ही होता हूँ। एक दिन शाम को मैं छत पर टहल रहा था। गर्मी के कारण मैं अधिकतर कॅप्री या टी-शर्ट में ही होता था।हुआ यूँ कि बड़ी भाभी शाम को कपड़े सुखाने के लिए डाल रही थीं.

मैं भी पड़ी पड़ी अपने दोनों हाथों से कभी बूब्स कभी चूत को सहला कर चुदाई के मजे में मस्त थी. उन्हें रयान भला लगा… पर वो बोले- पूरी कोठी की जिम्मेदारी तुम्हारी है. मोना के शब्दकोष में इतनी गहराई नहीं है कि आपका वर्णन भली भांति कर सके.

सेक्सी बीएफ गंदी वाली

मैंने उससे पूछा तो उसने बताया कि बहुत दिनों बाद चुद रही हूँ ना इसलिए दुख रहा है.

मैं तो यह कहने आई थी की नाश्ता तैयार है आप जल्दी से तैयार हो कर खाने की मेज़ पर आ जाइये. अवश्य ही अंजलि रानी ने रीना के माध्यम से कोई न कोई चक्कर चलाया होगा. मैं थोड़ा घबरा गया… रात होने वाली है, आस-पास कोई है भी नहीं… कहीं चोर उचक्के तो नहीं हैं… कहीं मुझे चाकू वाकू मार दें?मैं सोचकर डर गया और पटरी पर वापस चढ़़ कर दूसरी दिशा में जाने लगा… मेरी स्पीड तेज हो गई थी… मुझे यहाँ से जल्दी ही निकलना था.

शायद वो चुदने को तैयार थी।अब उससे मेरी बात होने लगी।फिर वो एक दिन हमारे घर में रहने आ गई क्योंकि उसकी मम्मी बाहर गई हुई थीं और शायद वो इस मौके पर मुझसे चुदना चाहती थी।मेरे घर में भी कोई नहीं था तो मैं मौके का पूरा फायदा उठाना चाहता था लेकिन मेरी मजबूरी थी क्योंकि मुझे खेत पर काम करने जाना था।तो मैंने उससे कहा- आप यहीं बैठो, मैं खेत से होकर आता हूँ।वो कहने लगी- नहीं. फाड़ दे मेरी चूत को आज!मैं- साली रांड… इतना चोदूँगा कि याद रखेगी… ले साली. एक्स एक्स एक्स सेक्स वीडियो बीपीबहन का रिएक्शन देख कर मैं उसी वक्त समझ गया था कि अब कुछ होने वाला है.

थोड़ी देर में मेडम भी आ गईं और हमें देखकर अपनी चूत में उंगली करने लगी. आज तेरे मामा की रात की पारी है और मैं यहाँ अकेली बिन पानी की मछली की तरह तड़प रही हूँ.

मैंने कोमल के पेट पर तेल डाला और उसके मुँह की तरफ खड़ा होकर कोमल की चुचियों पर तेल मालिश करने लगा तो फिर योगिराज कोमल के मुँह में घुस गया और कोमल मेरी मालिश से जब आगे पीछे होता तो उसका फायदा लंड चूसने में लेती. मैडम- ठीक है, फिर 7 बजे मेरे घर आ जाना, मैं सब बता दूंगी क्या करना है!और गुड बाय बोलते हुए फोन कट कर दिया. फ्लॉरा बेचारी क्या जाने कि उसका भाई उसे किस इरादे से गोली दे रहा है.

मेरी चूत तो पहले से ही गीली थी इस लिए लंड का 4 इंच का मोटा सुपारा मेरी चूत के दोनों होंठ खोलता हुआ अंदर घुस गया. चल अब ऊपर-नीचे होकर चुदवा ले, मज़ा आएगा।पूजा अब गांड को हिलाने लगी, उसको थोड़ा दर्द था मगर लंड की गर्माहट उसको सुकून दे रही थी। उसकी चुत भी गीली हो गई थी तो अब लौड़ा फिसलने लगा था। अब उसको हल्के दर्द के साथ मज़ा आने लगा।पूजा- आह. अच्छे भले कपड़े तो हैं अब ओल्ड क्या और न्यू क्या?सुमन- पापा व्ववो मुझे ज्ज.

बड़ी ज़ोर से उसके लंड का सुपारा चूत को भेदता हुआ बच्चेदानी में ठुकता और मेरी सीत्कार निकल जाती ;आहा आहा आहा आहा आहा करती हुई मैं मदमस्त होकर किलकारियाँ मार रही थी, चिल्ला रही थी- चोद चोद राजे… माँ के लौड़े… और ज़ोर से चोद कुत्ते… आहा आहा आहा… हाँ हाँ मेरी जान… फाड़ के रख दे इस हरामज़ादी चूत को…आहा आहा आहा.

मैंने थोड़ा प्रेम-प्रसंग युक्त होते हुए उनके गाल को चूम कर बोला- मेरी जानेमन चाची, अब क्या हो गया, अब किस सोच में उलझी हुई हो? ज़रूर कोई गंभीर बात है. मुझे पता चला कि मेरा भाई और उसका दोस्त आपस में गांड गांड खेलते हैं.

मैंने उसके लंड को पकड़ कर रगड़ना जारी रखा और लगभग 2 किलोमीटर के बाद बाइक ने सीधे जाखोद खेड़ा का रोड छोड़कर दाहिने हाथ की तरफ नेवली खुर्द गांव की तरफ कट मार दिया और हम रात के अंधेरे में सुनसान गांव की तरफ अंधेरे में गुम हो गए. थोड़ी देर बाद एक 50 साल का आदमी मेघा के पास आकर उससे डांस के लिए बोला, मेघा ने भी ‘हाँ’ कर दी. अन्तर्वासना के पाठकों एवं पाठिकाओं चाची ने मामी के बारे में मुझसे क्या बातें करी तथा वह हमारे घर कितने दिन रही, यह सब जानने के लिए आपको कुछ प्रतीक्षा करनी पड़ेगी.

तो मैं क्यों इस छोटे से लंड से खेलूँगी?सुमन- दीदी वो तगड़ा लौड़ा संजय सर का है ना. लेकिन धीरे-धीरे उनको भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगीं। अब मैं भाबी के चूचे सहलाते सहलाते उनके लिप्स पर किस करने लगा। भाबी भी मेरा साथ देने लगीं और उन्होंने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया।दोस्तो, पूछो मत उस टाइम क्या मजा आ रहा था. ऊऊओ ऊफोफ्फ्फ्फ़… उईई माँ… और दबाओ ना!उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और ब्लाउज के नीचे के दो बटन खोल दी और मैं उसको जम कर दबाने लगा.

हिंदी बीएफ लड़कियों की दरवाज़ा संजय के लिए खुला हुआ था ही!बॉस को देख कर मैं गदगद हो गई पर मैंने सोने का नाटक किया. आप सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!मेरा नाम सैम चौहान है, मैं चंडीगढ़ में रहता हूँ.

नेहा बीएफ

दोस्तो, उम्मीद है आपको मेरी फर्स्ट टाइम चुदाई की सेक्सी कहानी पसंद आई होगी. मैं- दीदी, मुझे तुमसे कुछ पूछना है?सीमा- हाँ पूछो?मैं डर भी रहा था पर हिम्मत कर के बोला- ये सब क्या हो रहा है, तुम्हारे रूम एक किताब मुझे मिली थी. मैंने कहा- बस हो गया चाची!फिर मैं सूई बाहर खींच कर रुई से रगड़ने लगा.

मैंने जल्दी ही झड़ना शुरू कर दिया और अपने गर्म वीर्य की धारें ऋतु के गले में छोड़ने लगा. मैंने कहा- उई आह आह सी सी… ले संभाल अपने यार को साली आह आह उफ़… आ गया मैं आह्ह… सी सी सी सी…जब तक मेरे लंड भी अपना फव्वारा रुचिका के मुंह के अंदर छोड़ दिया और रुचिका ने लंड को कस कर होंठों में दबा लिया और फिर तुरंत ही होंठ खोल दिए और मेरा झड़ रहा लंड उसके खुले मुंह के होंठों के पास नेहा ने पकड़ा हुआ था, लंड की बरसात कुछ उसके मुंह के अंदर और कुछ बाहर उसके गले पे, नाक पे हो रही थी. નેપાલ સેક્સकरीब आधे घण्टे की चुदाई के बाद वो मेरी चुत में ही झड़ गया!उस दिन आकाश ने मुझे चार बार चोदा और फिर आकाश नहाने चला गया.

आज मैं अपनी आँखों देखी मॉम की चुदाई का हाल बताने जा रहा हूँ।हम लोग गुजरात के रहने वाले हैं। मेरी मॉम का नाम चंपा है, उनकी उम्र 39 साल है। मेरी मॉम काफी सुन्दर हैं और अभी भी जवान दिखती हैं।मेरे पापा का एक जिगरी दोस्त हैं.

मैंने भी राहुल का साथ देतेहुए उसे दबा लिया और उसके होठों पर अपने होठ रख दिये. पूरे कमरे में भूकम्प आ गया था। उसके धक्के बहुत जोरदार और गांड फाड़ू हो गए थे। मेरी गांड बुरी तरह रगड़ी जा रही थी.

मन नहीं भरता, अब क्या हो गया?पूजा- मन तो है मामू लेकिन मेरे पैर और कमर भी दुखने लगे हैं।संजय- सब ठीक हो जाएँगे, रात को मैं खुद तेरी मालिश करूँगा। चल इधर आ मेरे पास. इतने में सुमित आ गया, उसके हाथ में एक दारू का पव्वा और एक कोक की बोतल थी. उस दिन से तो हम सेक्स करने का मौका ढूढ़ने लगे, पर उसके टीचर होने की वजह से उसको छुट्टी नहीं मिल रही थी.

मैं अपने बेड पर आकर बैठ गया और संकुचाते हुए अपनी जींस और चड्डी को उतार दिया और मुठ मारना शुरू किया.

मैंने भी अपना लंड भाभी के चुत में डाला और चुदाई का मैच चालू हो गया. वो बहुत गलत है।फिर भाभी मेरे पास कभी सोने नहीं आईं। मैं उस दिन के बाद जैसे पागल सा हो गया। मेरे दिमाग में सिर्फ भाभी ही रहती थीं।कुछ दिन बाद मैंने भाभी से कहा- मेरा लंड बहुत दर्द कर रहा है।तो भाभी ने कहा- कभी-कभी मुठ मार का लंड को हल्का कर लिया करो. जमीला- तो बुला लूँ उस चुदक्कड़ ननद को? बहुत आग लगी है उसकी चूत में, राजेश आज दोनों भाई बहन की गांड मारना तुम.

सेक्सी बीएफ डांसकुछ सोचा फिर कहा- ठीक है।वो बहुत खुश हो गया और बोला- ऐसे हाँ करने से नहीं चलेगा. हम दोनों चुदाई की चरम सीमा पर पहुंच चुके थे, उस समय का आनन्द बढ़ता ही जा रहा था.

मुसलमानी सेक्स वीडियो बीएफ

ऐसे तो शताब्दी के ललितपुर आने का टाइम दोपहर में साढ़े बारह के करीब है लेकिन उस दिन वो डेढ़ घंटे की देरी से आई; खैर जाना तो था ही तो चढ़ गया. ऋषिका का शरीर सख्त हो गया और उसने भी रयान के पैरों को अपनी टांगों से दबोच लिया. गोपाल- उहह सोने दो ना डार्लिंग… क्या है?मोना- बहुत देर हो गई है गोपाल… कितना सोना है तुम्हें… चलो आज तुम्हें खाने के पहले थोड़ा मज़ा दे देती हूँ.

ऐसा लग रहा था मानो बस देवर मुझे चोदते ही रहे।मैं मेरी उत्तेजना में बड़बड़ा रही थी- आआह्ह्ह ऊऊऊईइ आआह्ह. अब वो फिर गर्म हो गई, इस बार पूजा ने खुद ही मेरा लंड पकड़ा और अपने मुँह में डाल कर मज़े से चूसने लगी. अब उन्होंने पैरों पर जाने को कहा तो मैं उनके पेटीकोट को घुटनों तक उठाकर पैरों की मालिश करने लगा.

उसको तो टेस्ट करना चाहिए। ये सोच कर उसने लंड से घिसाई बंद कर दी।पूजा- उफ़ क्या हुआ मामू रुक क्यों गए आह. उसका लंड बहुत थोड़ा सा ही मेरी चूत में घुस पाया और वो लड़का मेरी चूत को खोलने पर लगा हुआ था. माला के ब्लाउज के ऊपर वाले दो बटन ही सिर्फ बंद थे और सोते हुए ऊपर सरक जाने के कारण उसके दोनों उरोज उसमें से बाहर निकल गए थे.

मोना- अच्छा अगर ऐसी बात है जो आप नहीं बता सकते तो जाने दो मत बताओ उनका राज आप छुपा कर रखो, थोड़े दिनों बाद जब वो मर जाए, तब उसकी चिता की राख के साथ ये राज भी गंगा में बहा देना. आंटी ने मुझे 2000 रूपए दिए और बोला- मेरी सहेली को भी जवान लंड और डर्टी सेक्स पसंद है.

फिर पापा ने मुझे और शालू को बहुत डांट लगाई और मुझे चंडीगढ़ स्टडी करने भेज दिया.

फिर मुझे ऐसा लगा जैसे मुझे कोई करंट लगा हो, मैं बिल्कुल हल्का हो कर हवा में उड़ गया हूँ, और इस दौरान मौसी ने इतनी ज़ोर से मेरे लुल्ले की चमड़ी पीछे को खींची कि वो टूट गई, और मेरे लुल्ले से खून बह निकला. हिंदी में हिंदी में बीएफ पिक्चरउसने मेरे कंधे तक हाथ डालकर मुझे नीचे की ओर दबाते हुए पकड़ा और एक लय में लंड पेलना शुरु कर दिया. बीएफ दिखाव बीएफमेरी गर्म कहानी में आपने पढ़ा कि चाची की चूत और गांड की चुदाई के बाद मैंने अपनी चचेरी बहन सीमा की कुंवारी बुर की चुदाई भी कर दी. तुम बताओ मेरे लंड के रस को मैं किधर निकालूँ?मैंने कहा- भाई जहाँ आपका मन हो.

अब जमीला ने खाना गर्म किया और सबीना ने चपाती बनाई और फिर हम लोगों ने नंगे ही लंच किया.

मॉंटी ने अपना हाथ सुमन के गले पर रखा और वहां से धीरे-धीरे सहलाना शुरू किया. हाँ मामू बहुत मज़ा आ रहा है उफ़ लेकिन नीचे कुछ गीला-गीला अजीब सा लग रहा है।संजय- अरे मेरी भोली पूजा, तुम ज़्यादा ध्यान मत दो बस मज़ा लो।संजय बातों में उलझा कर उम्म्ह… अहह… हय… याह… अब पूजा के संतरे भी सहला रहा था।पूजा को समझ आ रहा था या नहीं ये तो पता नहीं मगर मज़े से उसकी आँखें बंद हो गई थीं. उसकी विक्की संग चुत चुदाई की कहानी को मैं आपको अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि कैसे विक्की ने शालू के फिगर को चोद कर बड़ा कर दिया.

सुमन अपने पापा से जोर से लिपट गई और उसका पूरा ध्यान सिर्फ़ पापा की पैन्ट में फूले रहे उनके लंड पर ही था. मैंने रश्मि के दोनों चूतड़ों को पकड़ कर अपनी तरफ दबा लिया जिससे लंड एक झटके से चूत के अंदर समा गया. ले आज तेरी मैं गांड चोदती हूँ।जैसे ही उसने अपना नकली मोटा लंड मेरी गांड में डाला.

ब्लू पिक्चर दीजिए बीएफ

इस क्लीनिक में सारी लेडीज़ पेशेंट ही आती थी, जिनमें गर्भवती, बच्चे न होने वाली और अन्य डिप्रेशन आदि की शिकार. वो खाने के लिए पैसे माँग रही थी। वो एकदम 18 साल की खिलती जवान लड़की थी। गोपाल ने उसे ज़्यादा पैसों का लालच दिया और हम उसको अपने साथ हमारे रूम में ले आए।’‘फिर?’‘फिर गोपाल ने उसको वॉशरूम भेज दिया और कहा कि अच्छे से नहा कर आओ फिर कुछ खा लेना।’‘फिर. नाश्ता करने के बाद मैं अम्मा को उस माह का वेतन दे कर ऑफिस चला गया और शाम को घर लौटने पर देखा की अम्मा और माला ने अपना सभी सामान लाकर स्टोर में रख दिया था.

इतनी रात को तुम्हें क्या चाहिए?ऋतु ने कहा- क्या तुम फिर से मेरी बुर चाट सकते हो जैसे कल चाटी थी.

मुझे कुछ खाने की गोलियां दीं और कहा कि कल इसी टाइम पट्टी चेंज करवा लेना.

तभी मेरा निकलने वाला था सो मैंने पूछा- कहाँ निकालूँ?उन्होंने बोला- अन्दर ही डाल दो. इधर लड़के का लंड सांप की भांति उसकी जिप से बाहर निकला हुआ था जिसकी टोपी को वो लड़की ऊपर नीचे करते हुए लड़के को बेकाबू किए जा रही थी. वीडियो औरत की चुदाईपूजा ने उत्तेजित होकर पूछा- तो उसने क्या कहा?ऋतु- वो तैयार है और वो इसके लिए दो हज़ार रूपए मांग रहा है.

शादी के 2 महीने पहले गोपाल का उससे झगड़ा हुआ था, बस तब से वो लापता है।मोना- लापता. ऋतु ने सारा रस ऐसे पिया जैसे जूस पी रही हो और फिर वो खड़ी हो गई… उसका पूरा चेहरा भीगा हुआ था. अरमान भी एक कम्पनी में काम करता है, वो परचेज मैंनेजर है, इसलिए दिन में ज्यादा बिज़ी होता है और उसकी पत्नी सुलेखा भी एक कम्पनी में कंप्यूटर ओपरेटर है इसलिए वो भी बिजी होती है, परन्तु फिर भी टाइम टाइम पे रिप्लाई देती रहती है, उसके रिप्लाई बहुत मस्त होते हैं, क्योंकि वो चैट में बहुत खुले शब्द इस्तेमाल करती है और चैट में रंग जम जाता है.

दोनों अंधाधुंध फ्लॉरा के दोनों छेदों को चोदने लगे। इधर इनको देख कर अजय का लंड फिर खड़ा हो गया मगर उसने कंट्रोल रखा क्योंकि वो जानता था दोबारा चुसवाएगा तो चुदाई नहीं कर पाएगा।इधर संजय और वीरू बाहर चले गए थे उनको बियर पीनी थी।करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद दोनों झड़ गए और साथ में फ्लॉरा भी झड़ गई। अब उसके जिस्म में बिल्कुल ताक़त नहीं थी. मैं मोना की गांड की ठुकाई करता हूँ।मोना घोड़ी बन गई और काका उसके पीछे बैठ गए। उन्होंने घी में उंगली डुबोई और मोना की गांड में घुसाने लगे।मोना- आह.

मैंने उनकी कमर को नीचे से हाथ डालकर मेरी तरफ खींचा तो वो बोलीं- ये क्या कर रहे हो?तो मैंने कहा- बर्फ की वजह से ठंड लग रही है।आंटी मेरे पैरों पर ब्लैंकेट डालकर उसी पोजीशन में सो गईं।अब मैंने उनकी तरफ करवट ली.

अभी चाची को कुछ ही फोटो दिखाई थी की तभी मुख्य द्वार के घंटी बजी और यह देखने के लिए कि कौन आया है मुझे चाची को वहीं छोड़ कर बाहर जाना पड़ा. मेरी चूत में बिल्कुल जगह नहीं थी फिर भी वो मेरी चूत में अपना लंड घुसाने में तुला हुआ था. पूजा बड़ी हैरानी से ये सब देख रही थी, उसे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि ऋतु अपने सगे भाई का लंड इतने मजे से अन्दर ले रही है और वो अपना मुंह फाड़े ये सब अनहोनी होते देख रही थी.

बफ पिक्चर सेक्सी हिंदी अनिता झड़ गई मगर गुलशन जी का लंड चुदाई में लगा रहा, पता नहीं उस लंड में कितना पॉवर था, वो एक ही स्पीड से चुत की माँ चोदने में लगे हुए थे. इतने में मैंने अपना टीशर्ट और लोअर उतारा, मैं सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी.

माला ने भी मेरे लिंग की त्वचा को पीछे सरका कर लिंग-मुंड को बाहर निकाल लिया और फिर उसके किनारों को अपनी उँगलियों एवम् अंगूठे से सहलाने लगी. मेरी शरारतों से उस की नींद खुल गई, वो वहां से उठ कर जाने लगी तो मुझे ऐसा लगा कि वो शर्म के मारे जा रही है… मैंने उसको अपन बाहों में पकड़ लिया और धीमे से उस के कान में कहा- मज़ा नहीं आ रहा क्या?उसने मेरे गाल के पर एक थप्पड़ मार कर कहा- मुझको मालूम नहीं था कि तुम ऐसे नीच ख्याल रखते हो मेरे बारे में… तुम से तो मैं सवेरे सब लोगों के सामने बात करूंगी. फिर अचानक से फूफा जी ने मुझे अपने ऊपर से उठा कर साइड पर लिटाने की कोशिश की मगर नशे के कारण वो ऐसा कर नहीं पाए.

सेक्सी वीडियो पेली पेला बीएफ

मैंने नीलम को बताया कि मेरा मोबाइल छूट गया है तुम्हारे यहाँ!तो उसने हाँ कहा और कमरे में से मोबाइल लेने चली गई. हमारी वीडियो बनने लगी!आकाश आया और आते ही मेरे मुंह में अपना लंड देकर अंदर बाहर कर लगा. दोस्तो, कैसे हैं आप!मैं तो बहुत अच्छी हूँ… मुझे उम्मीद है कि आप सभी भी मस्त हैं.

फिर एक दिन मैंने देखा कि तमन्ना के परिवार वाले कहीं जा रहे थे, उनके जाते ही मैंने झट से उसको मेसेज किया- क्या कर रही हो?वो बोली- कुछ भी नहीं… फ्री हूँ!मैंने सोचा कि क्यों ना इसको आज चोदने की कोशिश की जाए. मामी मेरी तरफ पीठ कर के सो रही थी मैंने उनकी साड़ी पेटीकोट से बाहर निकालने की कोशिश की पर नहीं निकली.

!मेरा इतना बोलना था किआंटी ने मेरे पास आकर मेरे लंड को पकड़ कर दबा दिया, मुझे बहुत दर्द हुआ। मैंने जानबूझ कर कुछ ज्यादा ही रिएक्ट किया तो वो ये देखकर थोड़ा डर गईं और मुझसे बोलीं- सॉरी गलती से हो गया।मैंने गुस्सा होने का नाटक किया तो बोलीं- दिखाओ तो क्या हुआ है?मैं शरमाने लगा तो वो बोलीं- शरमाओ मत.

मेरी गांड ऐसे चोदो जैसे मेरी बहन की चूत चोद रहे हो, तुमको सबीना की चूत की कसम!मैं- मादरचोद, तुम भाई बहन को चूत की कसम देने का ज्यादा शौक है, दिन में वो चुदक्कड़ कसम दे रही थी अब तुम. अब तो ये मेरा हर दिन का काम हो गया था कि किसी की कोई भी प्रॉब्लम हो मुझे आवाज लगा देते थे. अचानक नीचे लेटा एंड्रयू झटके मारने लगा, उसने मेरी मिसेज के पैर कस कर पकड़ लिए और लंड को तेज गति से उसकी गांड में पेलने लग गया.

कुछ देर बाद वह सिसकारियाँ ले रही थी- आआह आह ऊउइ आह्ह, और जोर-जोर से चोदो मुझे. जल्दी ही वो झड़ने लगी और मेरे मुंह में उसका गर्मागर्म रस आ गया और मैंने सारा पी डाला. हम दोनों ऐसे ही सो गए।रात में हमने 3 बार सेक्स किया और हम सो गए। सुबह जब हम उठे तो भैया ने मुझे किस किया। सुबह तक मेरी बुर पूरी तरह से सूज चुकी थी। मुझे ठीक से खड़े होते भी नहीं बन रहा था, मैं कॉलेज नहीं गई.

इसलिए उसे भी अब कोई शर्म की गुंजाइश भी नहीं थी।राधा बेशर्मों की तरह काका के पास बैठ गई और उनका लंड जो अभी भी आधा तना हुआ था.

हिंदी बीएफ लड़कियों की: वो सिहर सी गई… काफ़ी दिनों से नहीं लिया होगा ना…यह चोद चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसको फिर बाहर निकाल लिया… वो पागल गई और मेरे को धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और अपनी चूत मेरे लंड पर रख कर उस पर बैठ गई और पूरा 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड अपनी चूत में ले लिया और अपने दांत भींच लिए. मगर इस बार सुमन जोश में थी तो मॉंटी का सारा रस वो गटक गई और अपनी बुर का रस अपने हाथ पर लेकर वहीं ज़मीन पे निढाल होकर बैठ गई.

बस चल पड़ी, थोड़ा अंधेरा भी हो गया था तो हम ऐसे ही बात करने लगे तो पता चला कि वो भी देहरादून जा रही है और वहीं रहती है. टीना- हा हा हा तुम दोनों ऐसे नंगे-पुँगे कितने अजीब लग रहे हो हा हा हा. मैंने बात को सँभालने के लिए बाज़ी पलटी और बोला- ठीक है, बस आखरी बार.

उस फ्लैट में स्थानांतरण के बाद जब मुझे खाने पीने और घर के रख-रखाव की समस्या आई तब मैंने उसी इमारत के अन्य फ्लैट में काम करने वाली एक पचास वर्षीय वृद्ध महिला को घर का काम करने के लिए रख लिया.

यदि लड़की खुद उनसे कहे कि गालियाँ देते हुए खुल के गंदे शब्दों में बात किया करो तो कम्बख्त ज़बरदस्ती का ओढ़ा हुआ शराफत का नक़ाब उतार के फेंकने में भी देरी नहीं करते. कुछ सीनियर्स को मेरी गोरी छरहरी बॉडी पसंद भी आ गई। पूछा भी गया कि क्या एक्सरसाइज करते हो।एक सीनियर तो रात को मुझे अपने कमरे में ले गए. इससे पहले मैंने अपनी पहली कहानीदोस्त की बहन की सेक्सी स्टोरी : समर्पणलिखी थी जिसे अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के पाठकों ने बहुत सराहा.