एचडी बीएफ ओपन सेक्सी

छवि स्रोत,ತ್ರಿಬಲ್ ಎಕ್ಸ್ ಎಕ್ಸ್ ಮೂವೀಸ್

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ नई बीएफ नई बीएफ: एचडी बीएफ ओपन सेक्सी, जब मैं उसे लेने जाती थी तब अकसर तरुण के गीले जांघिये में उसका तना हुआ लिंग मुझे दिख जाता था जिससे मेरे शरीर में एक तरह की झुरझुरी हो उठती थी.

ओपन सेक्सी देखना

मैंने उससे कहा- यदि तुम चाहो तो आज मैं तुम्हें पिक्चर दिखा लाऊँ, परंतु डरता हूँ कहीं तुम्हारा बॉय फ्रेंड बुरा न मान जाए. करीना कैटरीना की सेक्सी वीडियोमैं- तू अपनी चुत तो देख!उसने अपनी चुत को टच की और बोली- ये तो पूरी तरह से भीग गई है और तुम्हारा लंड भी गीला हो गया है.

अंकित बोला- पिंकी, तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो, मैं तुम्हें पसंद करता हूँ. डॉट कॉम सेक्सी सेक्सीअगर आप प्राइवेट सेक्स पार्टी चुनती है तो रिसोर्ट के मर्द आपका साथ देते हैं जो सारे प्लेबॉय रहते हैं.

फिर राजू को भी जाना पड़ गया और उसने भरे दिल से हम लोगों से विदाई ली.एचडी बीएफ ओपन सेक्सी: वो लड़के लोग तो यह भी कहते हैं कि इस नवरात्रि में हम माँ-बेटी उनके मोहल्ले में जा कर उनके डाँडिया लेकर डाँडिया खेलें.

रूपा की इस बात पे पप्पू ने भी जोश में आकर उसकी कमर में हाथ डाल कर एक ज़ोरदार धक्का दिया, जिससे उसका मोटा लंड रूपा की चूत फ़ैलाते हुए करीब-करीब आधा घुस गया.जब वो मेरे निप्पल को काटते, मेरे मुँह से निकल ही जाता- उई मा माँ माँ… धीरे से यार लगती है!वो तो कुछ अलग ही मूड में थे और मैं भी! मेरे हाथ न जाने कब उनकी पीठ पे कस गए और उनको बाँहों में लेकर जकड़ लिया.

चीखने चिल्लाने वाली सेक्सी वीडियो - एचडी बीएफ ओपन सेक्सी

अब मैंने उन्हें बेड पे सीधा किया और उनकी कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे उनकी चुत ऊपर को हो गई.एकदम से वो बोली- कब से कॉल बॉय का बिजनेस स्टार्ट किया?तो मैं बोला- सच में आप ही मेरे पहले कस्टमर हो.

अब हम अलग हो चुके थे, अब मैं उनकी चूचियों को चूस रहा था और वो मेरे लंड को सहला रही थी. एचडी बीएफ ओपन सेक्सी हैलो सभी भाभी और आंटी, आप सब की चूतों को मेरे खड़े लंड की तरफ से प्रणाम.

एक झटके में नंगी हो गईं और उन दोनों के जिस्म देख कर सुमन तो बस देखती रह गई.

एचडी बीएफ ओपन सेक्सी?

फिर मैंने उसे बेड पे लिटा दिया और उसके दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख कर लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा. उन कपड़ों में मुझे एक जोड़ी ब्रा एवं पैंटी तथा दो नाइटी भी मिली जिन्हें मैंने निकाल कर अलग किया और घाघरा-चोली उतार उन्हें पहन कर देखा. अंकित मेरी ब्रा खोल कर मेरी मोटी चूची को चूसने लगा, दबाने लगा, मैं भी अंकित का साथ दे रही थी.

अंदर रूम के बीचों बीच एक बड़ी सी गोल टेबल थी, राहुल और मॉन्टी ने हमें आराम से उसके ऊपर बिठाया. मैंने अपनी बारहवीं तक की पढ़ाई पूरी कर ली है और अब मेरे पापा ने मेरे रिश्ते को पक्का कर दिया है. मैं दबे स्वर में रो रही थी, लेकिन अनु के लिए मैंने सोच लिया था कि गांड मरवा कर ही रहूँगी.

शो का टाइमिंग 9-50 शाम का था और मेरे सीट लास्ट रो में कॉर्नर की थी. उसकी बात सुन कर मेरी आँखों से अश्रु निकल आये और मैंने कहा- मुझे खुद नहीं मालूम कि मैंने कहाँ जाना है. मैं आपकी बात को कुछ समझी नहीं?टीना- जिस खेल के बारे में मैंने घर पर कहा था ना.

एकाएक भैया बोले- का देख रहे हो बबुआ? कभी देखे नाही का?मैं पता नहीं किन ख्यालों में था, कि कोई जवाब ही नहीं निकला मुँह से…फिर उसी हालत में मेरे पास आकर मुझे कंधे से पकड़ के उन्होंने हल्के से झिझोड़ा, तब मेरी नींद खुली और तब मैंने शरमा कर नजरें उनके लौड़े से हटा कर उनकी ओर की. ऐसा क्या काम आ गया था उनको?सुमन- अरे ऐसा मत कहो दीदी, दुकान का माल आया होगा शायद.

होली के दिन सारे लड़के पहले होली खेलना शुरू करते और बाद में लड़कियां और आंटी लोग ज्वाइन करती थीं.

जिसको भी शराब पीनी होती, लड़के हमें उसकी गोद में खींचते और हमारे हाथ से शराब पीते.

सच में थोड़ी देर बाद मुझे भी बहुत मजा आने लगा, जिसको मैं ब्यान नहीं कर सकती. मैं परीक्षित के पास गई, वो कुछ काम में व्यस्त थे और चिंटू भी कहीं पर व्यस्त थे. अब मैं हर ऐसे वक़्त और मौके की तलाश में होता था कि कैसे इससे अकेला पाऊं और काम शुरू करूँ.

2 फुट है, मेरे लंड की लंबाई 6 इंच है, जो किसी चुत को चोदने के लिए एकदम परफेक्ट है. फिर हम दोनों बाथरूम से आकर बिस्तर पर लेते और पल भर में ही सो गए।तीन घंटे बाद जब हमारी आँख खुली तो हमने बिस्तर पर चूत चुदाई का एक राउंड और खेला. टीना की बुर अब लावा उगलने को तैयार थी और ऐसी चुसाई एक कमसिन कली कहाँ तक बर्दाश्त कर सकती थी.

उसी रकम से ये आलीशान मकान बना, बैंक में मोटी रकम जमा हो गई और इतना हो गया कि अब चैन से जिंदगी गुजर सकती है लेकिन विक्रम को अभी और चाहिये था। कल उसका फोन आया कि अभी एक साल और रुक कर ही वो वापस आयेगा। इसी फोन के बाद से डॉली का मूड खराब था।डॉली की पूरी बात सुनकर मेरे रवि ने कहा- तो ये बात है आपकी परेशानी की… चलिये जहां तीन साल निकल गये, वहां एक साल और निकल जायेगा.

एक दिन एक शादी में गई तो वहां चार पांच हट्टे कट्टे बॉडी गार्ड को देख कर मेरी चूत पानी बहाने लगी और मैंने उन से अपनी चूत की आग ठंडी करवाने का फैसला किया. अब मामा जी का लंड सारा रस निकल चुका था, धीरे धीरे लंड सुकड़ने लगा था, मामा जी को नींद आने लगी थी, शायद काफ़ी थक चुके थे, मैंने मामा जी को आवाज़ दी पर मामा जी जवाब नहीं दे रहे थे, मैंने दो तीन बार आवाज़ दी तो मामा जी की नींद खुल गयी, मामा जी उठ कर बाथरूम चले गये. मम्मी-पापा दोनों गवर्नमेंट जॉब करते हैं तो दोनों सारा दिन घर पर अकेले ही रहते हैं.

गुलशन जी ने बहुत मना किया मगर रेक्स नहीं माना और आख़िर वो थैली गुलशन जी को दे गया. मैंने बोला- छोड़ो वो सब…मैंने उनकी ब्रा खोली, पेंटी खोली, उन्होंने भी मेरे कपड़े उतारे और पेंट खोल दी. राहुल ने कहा- डर गईं क्या?तो वो थोड़ी शर्मा गईं और अपने घुटनों पर बैठकर राहुल से कुछ बातें करती हुईं उसके लंड को आगे पीछे करने लगीं.

खैर कुछ मिनट बाद फिर से जोश आया और अब मैं उसकी चूत को चाटने औरअपनी उंगली से चोदने लगा, उसने मेरे लंड को चूस चूस के साफ कर दिया और वो फिर से खड़ा हो गया.

मैंने उससे दूध बर्तन ले कर रसोई में उबालने के लिए ले गई, तब वह भी मेरे पीछे आ गया और पूछने लगा- सरिता, कल दिन तथा रात में जो हुआ उससे तुम नाराज़ तो नहीं हो. जो भी पहली नजर में आंटी को देखे, उस को बस आंटी को चोदने की सोचने लगे.

एचडी बीएफ ओपन सेक्सी तभी भाभी ने उठते हुए मेरे लंड को बाहर निकाल कर अपने मुँह में भर लिया. जॉन- हाँ रात को पक्का तुझे उसका स्वाद चखा दूँगा मगर ये बात हम दोनों के सिवा किसी को भी पता नहीं लगनी चाहिए.

एचडी बीएफ ओपन सेक्सी उतनी सी लाइट में कुछ दिखता तो नहीं था हां खिड़की के कांच चमकते से लगते थे. फिर जॉय ने एक दिन घूमने का प्रोग्राम बनाया और ये सब बाहर घूमने के लिए निकल गए.

मैंने अपनी पोजीशन बदली और अपना सिर शहज़ाद के पैरों की तरफ कर दिया जिससे मेरी टांगें शहज़ाद की तरफ हो गई और मेरी चूत उसके नजदीक हो गई.

দেশি বৌদি চুদাই

सिटी से आने में मुझे रात को देर हो गई थी, सभी लोग खाना ख़ा कर सो गए थे. फिर मेरी आँख एक बजे खुली, मुझे टॉयलेट लगी थी, मैं टॉयलेट करके रूम में वापस आ गया. दीपिका बोली- राजीव क्या चोदने का इरादा है?मैं बोला- हाँ, मैं आज तुम्हें चोदूँगा.

यही सोचते सोचते मैं ड्राइंग रूम में नंगा ही टहलने लगा; टाइम देखा तो रात के दो बजने वाले थे. लगता है तेरे लौड़े को मेरी गर्म चूत में झड़ कर इस चुदाई की निशानी छोड़नी है. फक फक मी हार्ड… बच्चा!” वो आँखें बंद करके मुझ से चुद रही थी और धक्कम पेल जारी थी.

मैं ड्राइंग रूम में जाकर लाइट ऑफ करके और अपना फोन स्विच ऑफ करके दीवान पर लेट गया और सोने की कोशिश करने लगा.

बाक़ी की लड़कियां चीखती और चिल्लाती थीं इसलिए मुझे ज्यादा मजा नहीं आता था. रितु दीदी बोलीं- तब तो थोड़ी देर और बैठो, मैं भी खाली ही हूँ और अकेली बोरे हो रही हूँ. मेरी सहन करने की क्षमता अब खत्म हुई, मैं तपाक से उठी और एक लड़के को पीछे से जा लिपटी। मुझे वैसे लिपटे देखकर रिया के होंठों पे एक बेहद कमीनी मुस्कान आई.

फिर उससे कुछ इधर उधर की बातें हुईं, मैं भी उस पर ध्यान देने लगा और वो मुस्करा कर अन्दर चली गई. थोड़ी देर बाद जब उसने अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाला तो मैंने कहा- अब तो तुमने मुझे पूरी तरह से औरत बना दिया. राहुल सिर्फ मुस्कुरा कर रहा गया और उसने अनामिका को पुनः अपनी बांहों में ले लिया.

रितु दीदी ने फिर पूछा कि क्या तुमने किसी लड़की या औरत को नंगा देखा है? जैसे अपनी माँ, बहन, भाभी, मौसी, नौकरानी को नहाते या कपड़े बदलते?मैंने कहा कि नहीं. मैं बोला- थैंक्यू से काम नहीं चलेगा… पहले ये बताओ कि हुआ क्या है, इतनी मुरझाई हुई सी क्यों रहती हो?वो बोली- सन्नी क्या बताऊं? राहुल को बस काम दिखता है, मैं नहीं… वो इस बात को नहीं समझता है कि पैसों के सिवाए औरत की और भी ज़रूरत होती है.

उसके साथ तो मैंने बहुत चुदाई की है, उसे मैंने अपने घर, उसके घर में, कॉलेज की छत पर, उसकी सहेली के घर, अपने दोस्तों के घर, होटल में, पार्क में सब जगह चोदा है. बड़े ही ध्यान से मैं शेव कर रहा था और जहाँ से रेजर पास होता, वो जगह बिल्कुल सिल्की स्मूद हो जाती. मैंने तौलिए से अनु का लंड अच्छी तरह से साफ किया और मैंने भी उसी के सामने खड़े होकर अपनी चुत को अच्छी तरह से पौंछ कर साफ किया.

हम दोनों की ट्रेन एक, समय एक और जगह एक!धीरे धीरे हम दोनों ही एक दूसरे को नोटिस करने लगे.

उसकी गीली गीली चुत पर मैं अपनी उंगली को घिसता रहा और उसे एक और स्खलन हुआ. दूसरे हाथ से वो मेरी गोटियों को पकड़ कर दबा देती जिससे मुझे दोहरा मजा आ रहा था. मेरा भी काम होने वाला था, मैंने पूछा- माल अन्दर निकालूँ या बाहर?तो वो बोली- अन्दर ही डाल दो.

मैंने कहा- ठीक है कोई मसला नहीं, अगर खुली हुई बोरी से थोड़ी चीनी चख लो तो कोई फ़र्क नहीं पड़ता. इससे मेरी जांघें और चूत के दर्शन उसे मिल रहे थे, वो टीवी के बजाए मेरी चुत की तरफ देख रहा था.

कॉम की सचित्र कॉमिक्स में इतने जीवंत दृश्यों के माध्यम से दिखाया गया है कि आप बेहद गरम हो जाएंगे. उसके बाद तौलिये से अपना पूर्ण नग्न शरीर पोंछ कर जब कपड़े पहनने के लिए खड़ी हुई तब मैंने देखा कि तरुण बरामदे में खड़ा था. उसने एक-एक करके मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मैं अब उसके सामने बस ब्रा और पैंटी में थी.

ব্লু পিকচার দেখাও

ममता और मैंने एक-दूसरे को चुदाई के बहुत मौके दिए और आगे की कहानी में मैंने कैसे ममता को रात में रूम पर बुलाकर चोदा और कैसे उसकी मालिश करके तेल लगाकर उसकी गांड मारी.

फिर वो बोली- कुत्ते… सिर्फ़ मेरी बेटी को चोदेगा? मुझे नहीं छोड़ेगा क्या हरामी? मैं जाह्नवी से ज्यादा सेक्सी हूँ, खूबसूरत हूँथोड़ी देर तो मैं कुछ नहीं बोला और ऐसे ही खड़ा रहा, मालती मुझे किस करती रही. इससे अब मम्मी को पूरी आज़ादी मिल गई और वो अब भी उस नौकर से चुदवाती है. तब मैंने उसे अपने गले से लगा लिया और फिर धीरे से अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए.

लंड का टोपा पहले ही प्रयास में गप्प से बहूरानी की गांड में समा गया. अब मुझसे तो सब्र नहीं हो रहा था, मैंने तुरन्त ही रोस्टन से चूत में लंड डालने के लिये बोल दिया, उसने तुरन्त कंडोम निकाल कर लंड पर लगाया, मुझे गोदी में उठाकर बेड पर लेटाया और मेरे दोनों पैरों को उसके कन्धे पर रखकर मेरी चूत को चोदने लगे, तेज धक्के लगाने लगा, मैं भी आह्ह्ह आअह्ह अह्ह्ह आअह्ह्ह की हल्की सी सिसकारी ले रही थी और उसे किस भी कर रही थी. गूगल मेरी बहन का क्या नाम हैरूबी हर धक्के पर अपनी चूत को पीछे धकेलने लगी ताकि ज्यादा से ज्यादा लंड अंदर जा सके.

अपने मुलायम मम्मों पे पप्पू के खुरदुरे पैरों से होता खिलवाड़ उसे अच्छा लगा और वो बोली- हाँ साले… डालती हूँ! पहले झाँटों से तो स्वाद खतम करने दे. मैंने उससे पूछा कि उसकी चूत इतनी खुली हुई कैसे है जब उसका पति उसको चोद नहीं पाता.

फिर हम अलग हुये तो यश ने कहा- अब तुम माँ बेटी दोनों थोड़ी देर आपस में लेसबीयन सेक्स करो. मैं- क्या? दिमाग तो ख़राब नहीं है तुम्हारा?पीटर- जल्दी से अपनी पैंटी निकालो. मॉंटी तो चुदाई से एकदम अनजान था उसको समझ ही नहीं आ रहा था कि इसमें लंड घुसेड़ने से क्या मजा मिलेगा.

जब मैं ऊपर गया तो मैंने देखा कि मेरी सीट पे जो लड़की मेरे बगल में बैठी थी, वो बैठी हुई है और उसकी सीट खाली थी. वो एक हाथ से अपनी चूचियों को दबा रही थी और एक हाथ से अपनी बुर को सहला रही थी. काकू भी अब रीना के सर की ओर ओर खड़ा होकर उसके मम्मों से नीचे तक की मालिश कर रहा था.

मैं रागिनी को बुर सहलाते हुए देखता रहा और मेरा लंड तौलिये में खड़ा होकर ऊपर नीचे होने लगा.

इसके आगे क्या हुआ, कैसे मैंने उस मस्त जवान मर्द के लंड का आनन्द लिया, आप जानेंगे मेरी गांडू सेक्स कहानी के अगले भाग में!आप अपनी प्रतिक्रियाएं मुझे इस मेल आई डी पर अवश्य भेजे जो मुझे नयी कहानियाँ लिखने के लिये प्रेरित करती रहें!आपका लव[emailprotected]कहानी का दूसरा भाग :दशहरा मेले में दमदार देसी लंड के दीदार-2. फिर मैंने भी भाभी को हग करते हुए कस के पकड़ लिया और मैंने हिम्मत करके भाभी के गोर चिकने गाल पे किस कर लिया.

नमस्ते दोस्तो, मैं विशाल कड़ेला एक बार फिर अपनी दूसरी चुदाई की स्टोरी लेकर आपके बीच में हाजिर हूँ. वह लंड छोड़ कर बीच बीच में आनन्द से तरह तरह की आवाजें निकालने लग जाती थी और चूत को मेरे मुंह पर दबाव देकर रगड़ने लग जाती थी. मैं दोनों हाथ ऊपर करके चाची के मम्मों को दबाने लगा और चूत के छेद में जीभ डाल के चूत चाटने लगा.

सोचा चलो आज और चाची की चूत में लंड डाल कर काम चला लिया जाए गांड मारने का किसी और दिन मौका मिल ही जाएगा. ओह्ह्ह आअह्ह आअह्ह!”उफ्फ उफ्फ ये ये ये यस यस यस!”आह्ह आअह्ह आअह्ह्ह उई उई उईईई माँ!”मेरी चूचियों को आशीष मसलने लगे, मेरी कामुक चीखों, उसकी कामुक आहों और चुदाई की फच्च. उस बात का अहसास मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती।बीच पे कई जगह बहुत से लोग नंगे ही घूमते मिले। कहीं जोड़े तो कहीं ग्रुप में सेक्स क्रीड़ा चल रही थी.

एचडी बीएफ ओपन सेक्सी बाद में मामी ने कैसे मुझसे चुदवाया और अपनी चुदास खत्म की इस सबके लिए आपके मेल का इन्तजार रहेगा, तब मैं अपनी और मामी की चुदाई की कहानी लिखूंगा. हम गीली चुत लेकर रूम पहुंची तो रिया ने तुरंत मेरी को बुलाया।जैसे मेरी ने रूम में कदम रखा तो रिया ने कहा- मेरी, अभी मुझे एकदम जंगली चुदाई चाहिए.

देहाती चुदाई दिखाओ

मैंने चाची को हग के दौरान अपना मुँह सीधा रखा और उनके मम्मों पर अपनी ठोड़ी रखी और अपने हाथ उनकी ब्रा की पतली पट्टी पे. इसके बाद मैंने बड़ी बेताबी से फिर से उसके पेट को चूमा और उसकी टांगों तक जीभ फिराता हुआ नीचे तक उसको जीभ से सहलाता चला गया, जिससे वो तड़प उठी. उसकी नाभि के चारों तरफ जीभ से चाटने लगा और फिर उसकी नाभि मैं अपनी जीभ डाल कर अन्दर चूसने लगा.

आओ ना और मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरी नस नस को तोड़ और मरोड़ कर मेरी बुर की पेलाई करो. मै थोड़ा भारी हूँ या यूँ कहूँ कि भरा पूरा हूँ। मेरे सेक्सी बदन को देखकर लड़कियाँ मुझे पसंद करती हैं। और मैं बी ए के सेकंड ईयर में पढ़ता हूँ. ब्लू पिक्चर भेजो वीडियो सेक्सीसोनिया मेरे पास आ गई और नेहा पीछे खड़ी थी, तो मैंने नेहा को पकड़ कर आगे कर दिया और बोला- पहले हम तीनों मिल कर इस साली को थोड़ा खोलते हैं.

घबराना नहीं तुम!अनुराधा- होने दो भैया… कभी ना कभी तो होना ही है तो आज ही सही… मैं सिर्फ़ तुम्हारे साथ ही ये करना चाहती हूँ.

इतने दिनों तक चुत चोदने नहीं मिली तो लंड बेकाबू हो रहा था और चुदाई का मन कर रहा था. अब उसकी क्लीन और साफ़ चूत मेरे सामने एकदम नंगी पड़ी थी और नेहा का अल्फ नंगा जिस्म मेरे लौड़े को खड़ा कर रहा था.

सुमन- ये क्या पापा आप ये रेजर क्यों लेके आए हो… इनसे क्या करोगे?पापा- मेरी जान, इस वाले से मेरी झांटें साफ होंगी और ये सॉफ्ट वाले से तेरी झांटें साफ होंगी… समझी तू!सुमन- लेकिन इसकी क्या जरूरत थी मेरे पास तो बाल साफ़ करने वाली क्रीम है ना… मैं तो उसी से कर लेती. सच बताता हूँ कि मुझे कभी किसी को चोदने में इतना मजा नहीं आया, जितना पिंकी को चोदने में आ रहा था. वो कराहते हुए बोलीं- उफ़फ्फ़ दीनू कई सालों के बाद इस चुत ने लंड खाया है.

उनके विशाल लंड से रस की धारा निकलने को बेताब थी, तभी उन्होंने जल्दी से लंड को बाहर निकाला और पास पड़े प्याले में सारा रस निकाल दिया तब जाकर उनको सुकून मिला.

मैं बहुत ही आश्चार्य से उस हवेली को देख रही थी तभी तरुण बोला- यह हमारी पुश्तैनी हवेली और मेरा घर है. तो उन्होंने अबकी बार सुमन का पजामा धीरे से नीचे किया और उसकी चुत को देख कर हल्के से बोल पड़े- वाह, क्या मस्त चुत है तेरी सुमन. फिर जाह्नवी की माँ मालती मेरी तरफ आई और वो अनायास ही मेरे लंड को पकड़ कर खींच कर चलने लगी.

सेक्सी मराठी स्टोरीएसउसके बाद उसने मेरी स्कर्ट भी निकाल दी और मुझे भी पूरी नंगी कर दिया. सुमन- ये क्या पापा आप ये रेजर क्यों लेके आए हो… इनसे क्या करोगे?पापा- मेरी जान, इस वाले से मेरी झांटें साफ होंगी और ये सॉफ्ट वाले से तेरी झांटें साफ होंगी… समझी तू!सुमन- लेकिन इसकी क्या जरूरत थी मेरे पास तो बाल साफ़ करने वाली क्रीम है ना… मैं तो उसी से कर लेती.

ब्लू पिक्चर 2021

कभी उसके बटन जैसे निप्पलों को चूसते, तो कभी उसकी गर्दन को चूसने लगते. हमारी कॉलोनी में बहुत सी लड़कियां रहती थीं क्योंकि उस कॉलोनी में करीब 15 घर थे और हर घर में एक दो लड़कियां तो थीं ही. मैं 2 मिनट में ही एकदम मस्त हो गई थी और चूतड़ उठा उठा कर देवर से चुदवाने लगी.

जब मैं बाथरूम से रूम में आया तो रागिनी पूरे कपड़े निकाल कर अपनी बुर सहला रही थी. झोंपड़ी के पास पहुँचते ही जैसे उसने मुझे देखा तो पूछा- तुम कौन हो? यहाँ क्या कर रही हो?मैंने मायूस चहरा बनाते हुए कहा- मैं यहाँ से गुज़र रही थी तभी अचानक तेज़ बारिश आ गयी थी और मेरा बेटा रोने लगा. मैंने उसे सोफे पर ही अपनी गोद में लिटा लिया और उसके शरीर पर हाथ फिराता रहा.

पर मैं थोड़ा शर्मीला हूँ तो मैंने उनको डायरेक्ट नज़र करके नहीं देखा, बस साइड से देख रहा था. ये दोनों अब फुल मस्ती में आ गए थे और इनकी बातें सुमन को पागल बना रही थीं. सेक्स स्टोरी पढ़ती हूँ तो लाज़मी है कि उनका असर भी मेरी जिंदगी में होता होगा… पर कभी हिम्मत नहीं हुई कि शादी से पहले मैं सेक्स कर लूँ.

कुछ ही कदम चला हूंगा कि…बहु की चुदाईसेक्स स्टोरी पर अपने विचार अवश्य लिखे. पुरुष के यौनांग के पहले स्पर्श के साथ ही मेरी बुर फिर पानी पानी होने लगी, सैंकड़ों चीटियां सी रेंगने लगी मेरे बदन पे… मेरे हाथ खुद-ब-खुद उस कठोर अंग को सहलाने लगे, कभी आगे तो कभी पीछे!मेरा दूसरा हाथ खुद ही उनके नग्न चूतड़ों पर आ गया और मैं आशीष को अपने पास और खींच कर उनके होंठों को चूसने लगी; उत्तेज़ना के वशीभूत हो मैंने उनके लबों पर काट लिया.

तभी उसने दोनों हाथ से उसका शार्ट निकाल कर नीचे गिरने दिया। किसी स्प्रिंग की माफिक उसका लंड टनटनाकर रिया के मुँह के पास खड़ा हुआ.

संजय अब स्पीड से लंड को अन्दर-बाहर करने लगा और टीना मस्ती में आ गई- आह. सेक्सी वीडियो ब्यूटीराहुल श्रीवास्तवआप मेरी सभी कहानियाँ इस कहानी के शीर्षक के नीचे लिखे मेरे नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं. माधव सिंह के सेक्सीकाफी देर के बाद चाची वापस आईं तो मैंने देखा कि उनकी साड़ी और पेटीकोट काफी भीग चुके थे. और सबको तुम अपनी जैसी रंडी मत समझो मेरा और उसका रिश्ता सेक्स का नहीं प्यार का है.

मैं उसको वापस गर्म करने लगा, साली वो भी रांड थी, क्या फटाफट वापस गर्म हो गई.

मेरी चुदाई अधूरी रह गई थी इसके बाद नेहा मुझसे अकेले में मिलने से डरने लगी थी. चाची ने खुद मेरा लौड़ा हाथ में लिया और अपनी चूत के अन्दर घुसाने लगीं. मैंने उसे बताया- स्वीटी अपने बॉय फ्रेंड को छोड़ देगी क्योंकि बॉय फ्रेंड से कुछ हुआ ही नहीं था.

उसने अपने बेग से कुछ जार और एक बड़ा बाउल निकला और एक बहुत ही मादक स्प्रे वहां कर दिया उसने. फिर कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद भाई ने मुझे टेबल पर लिटा दिया और चोदने लगे. तो वो बोलीं- मुझे नंगी देखोगे?मैंने कहा- अगर आप दिखाएंगी तो ज़रूर देखूँगा.

बाथरूम का सेक्सी वीडियो

यह दृश्य बहुत सेक्सी था; मॉम खड़ी थी और यश उन की चूत को नीचे बैठ कर चाट रहा था, मॉम अपनी चूचियां अपने आप दबा रही थी और आहें भरती जा रही थी. फिर थोड़े देर बाद मैंने नोटिस किया कि वो अपने पर्स से निकाल कर कुछ पी रही थी, पता नहीं क्या था मगर स्मेल वाइन जैसी आ रही थी. अतुल अब उनके वश में आ गया था और उत्तेजित इंसान दिमाग़ या दिल से नहीं.

फिर मैंने उसे अपने ऊपर आने को बोला और लंड बिना निकाले पोजीशन चेंज की और ऊपर-नीचे होते हुए लंड पर कूदने लगी.

फिर वो एक लंबी ‘आह्ह्ह’ बोल कर झड़ गई और मेरे लंड पे गरम तरल की बौछार लगी। मेरी बहन की चूत में अलग ही चिकनाहट आ गई थी और मेरा भी वीर्य आने को हुआ तो मैंने लंड बाहर खींच के उसकी गांड पे गिरा दिया।फिर मैं वहीं लेट गया.

थोड़ी देर बाद जब उसने अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाला तो मैंने कहा- अब तो तुमने मुझे पूरी तरह से औरत बना दिया. मैं कुछ पल निढाल पड़ा रहा… फिर मैंने उसके मम्मों को दबा-दबा कर चूसा तो मेरा लंड फिर से एक बार खड़ा हो गया. लिंग बड़ामैंने मना कर दिया, मेरी आँखों में तो आँसू तक आ गए, पर वो रेगुलरली मेरे मम्मों को सहलाए जा रहा था.

उस लड़के ने मुझे टेबल के ऊपर लिटाया और बिना कुछ कहे अपना मुँह मेरी टांगों के बीच घुसा दिया। सुरूर ऐसा था कि मेरे मुँह से एक घुटी हुई चीख निकल गई. यश भी अब झड़ने को हुआ तो उसकी गति तेज हो गई, मैंने उसे कहा- यश डार्लिंग, अपने लौड़े का गर्म वीर्य मेरी चूत में गिरा के मुझे अपने बच्चे की मां बना दे!यश के गर्मागर्म वीर्य ने मेरी बुर को इस प्रकार से भरा कि मज़ा आ गया. फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैं उसकी गांड की दरार पर लंड रगड़ने लगा; वो मादक आहें भरने लगी.

नीता की चूत को एक लंबा किस करके पप्पू ने सिर उठा कर कहा- अरे नीता, तू देख आगे आगे और क्या क्या मजा देता हूँ तुझे. मैं सॉरी करते-करते उठाने लगी, जैसे ही मैं झुकी, तभी नीचे की जगह से मेरी नज़र पड़ी तो हिल गई.

यह सोच कर पप्पू नीता के कड़क मम्मे ज़रा मस्ती से मसलते हुए बोला- रानी बन कर मतलब… ऊंची ऐड़ी की सैंडल पहन कर गांड ठुमकाते हुए, नाक चढ़ा कर, हम लोगों को चूतिया समझ कर चलती थी… इसलिए उसको सज़ा दी.

इतना मोटा लौड़ा घुसने से रूपा का सीना और माथा पसीने से लथपथ हो गया. रुस्लान ने तेज धक्कों से शुरुआत करते हुए पूरा लंड चूत में घुसेड़ना शुरू कर दिया. तेरी माँ हमसे और ना मसलने की भीख माँगने लगती थी पर हम उसकी कोई बात नहीं मानते थे बल्कि और ही मसलते थे.

2021 की नई सेक्सी हिंदी नमस्कार दोस्तो, मैं लव शर्मा एक बार फ़िर हाज़िर हूँ आपके लिये एक और सच्ची और मज़ेदार गे सेक्स कहानी के साथ… काफ़ी समय से व्यस्तता के चलते आपके समक्ष प्रस्तुत नहीं हो सका. धीरे धीरे यश ने मेरी चूत चोदने की स्पीड बढ़ाई… अब मुझे मजा आने लगा, मेरे आनन्द की कोई सीमा नहीं थी, आह… म्म्म्ह आहहा हां… हां… ओह… मेरे मुख से लगातार सिसकारियां निकलने लगी, मैं गर्म साँसें छोड़ने लगी.

काकू भी बलिष्ठ कश्मीरी पट्ठा था, उसने अपना लंड पूरा अंदर पेल दिया था और फुल स्पीड से रीना को चोद रहा था. मैंने ब्लाउज के बटन खोले तो अन्दर आंटी ने वाइट कलर की ब्रा पहनी हुई थी. तरुण के कहे अनुसार मैंने रसोई तथा तरुण, वरुण तथा मेरा ज़रूरी सामान बाँध कर रख दिया और दोपहर का खाना ले कर खेतों में चली गई.

चोदी चोदा सेक्सी पिक्चर

जब पप्पू को एहसास हुआ कि नीता की साँसें अब शाँत हो गई हैं तो उसने हल्के से लंड दो-तीन बार आगे पीछे किया. वो एक खण्डहर के पास जाकर रूक गया और मैं खण्डहर के दूसरी तरफ़ से होता हुआ उस सेक्सी मर्द के सामने की तरफ़ आ गया और छिप कर देखने लगा. अब मैं किसी ऐसी ही भाभी की तलाश में हूँ जो मेरे प्यासे लंड की देखभाल कर सके.

फिर मेरी चुत पर अपने लंड को रख कर सहलाने लगा, मैंने विवेक को मना किया- विवेक रहने दो. इस दौरान वो काफी गरम हो चुकी थी और मेरा लंड लेने के लिए मचल रही थी.

अब आगे:मम्मी ने बेड से उठते हुए कहा- ये कुछ ज्यादा ही हो गया।ऋतु ने उनसे पूछा- क्या आपको ये सब अच्छा नहीं लगा मम्मी?मम्मी ने धीरे से कहा- हम्म्म्म हाँ अच्छा तो लगा… पर ये सब एकदम से हुआ… मेरी तो कुछ समझ नहीं आ रहा है.

?दोस्तो, मेरी इस जवान लड़की की चुदाई स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. उसकी चीख निकल गयी, मैंने उसका मुँह अपने होठों में दबा लिया उसकी चीख मेरे मुंह में ही घुट गयी. सुमन ने टीना और फ्लॉरा को जो आधी बात बताई वो पापा को बता दी मगर लेस्बीयन वाली बात उसने पापा से छुपा ली.

पप्पू शॉर्ट्स के ऊपर से नीता की कमसिन चूत मसलते हुए उसका हाथ अपने लंड पर रख कर बोला- बहनचोद तू बड़ी मस्त लड़की है, इतना मसलवाया अपना जिस्म उन लड़कों से और अब बता रही है. मैंने उसकी नज़रों को अपने भारी भारी मम्मों पर महसूस किया जो कि साफ़ दिख रहे थे. मैंने पूछा- वो क्या है?मामा जी मेरे टॉप के अंदर हाथ डाल कर मेरी चुची को मसलते हुए बोले- ये थोड़ी छोटी हैं, थोड़ा खाने पीने पर ध्यान दिया करो.

अब वो उसके सर की ओर बैठ कर झुक कर उसकी कमर से नीचे तक मालिश कर रहा था.

एचडी बीएफ ओपन सेक्सी: सुमन- क्या हुआ दीदी, आप मुझे ऐसे क्यों देख रही हो?टीना- आज पहली बार तू कुछ और बोल रही है और तेरी आँखें कुछ और कह रही हैं. वो 69 में होकर मेरे लंड को चाटते हुए बोली- तेरा लौड़ा तो मेरे पति के लौड़े से भी बड़ा और मोटा है.

या मैं खुद आज मर जाऊंगा या तो आप मुझे बताओगी कि आपने मेरे साथ वो सब सुमन को करने को कहा. वो मेरे पास आई और मेरे गले लग कर बोली- बस बाबू कितना दिखोगे, तुम्हारी ही हूँ मैं. उसने इतना सुनते ही फ़ोन काट दिया और फिर अगले 3 दिनों तक हमारी बात नहीं हुई.

फिर धीरे आगे बढ़ते हुए मैंने हिम्मत करके पूछा- आप इतनी सुंदर हो और ऐसे क्यों घूमती हो?उसने बताया- पैसे के लिए काम करना पड़ता है.

मैं जब भी उनकी मोटी चूचियों को देखता हूँ तो मेरा मन करता है कि बस पकड़ के रगड़ दूं. उस टाइम पता नहीं मुझ में कहाँ से हिम्मत आ गई थी, मैं चाची के पास गया और मैंने एक हाथ से चाची की गांड और दूसरे हाथ से चाची की चुची को दबाते हुए कहा- मेरी प्यारी चाची, मैं तो बस इन्हीं को देखता रहता हूँ. अब तो हमेशा मैं तुम्हें चोदूँगा तुम्हारी जैसी कच्ची कली को चोद कर मेरा लंड तृप्त हो गया.