बुढ़िया की बीएफ देसी

छवि स्रोत,தமிழ் கிராமத்து செக்

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी और देवर की सेक्स: बुढ़िया की बीएफ देसी, मटर के साथ उसमें सरसों भी बोई गई थी जो काफी बड़ी हो गयी थी।वहाँ पर बैठे बैठे मैंने खुद ही काफी सारी मटर तोड़ ली थी.

सेक्सी चुदाई जंगल

मैं पूरे प्यार से उन्हें इसी मस्त नशे में ले रहा था, इससे वो मुझसे बेइंतहा प्यार करने लगी थीं. भाभी देवर की बर्फआने वाली स्थिति की कल्पना से उसकी चूचियों में खुमारी भर गई, निप्पल सख्त हो गये, चूत पानी से लबरेज़ हो गई।कहानी का पिछला भाग:जवान लड़की और नेता जी-2धीरे धीरे करोना को होश सा आया.

मैंने पूछा- कभी मरवाई है क्या?उसने बोला- हां एक बार मेरे पति ने मेरी गांड मारने की कोशिश की थी … लेकिन मुझे बहुत दर्द हुआ था, तो उन्होंने अपना लंड निकाल लिया था. हिंदी सेक्सी सुहागरात वीडियोमैंने उसकी चूत को कुछ देर चाटा और फिर मैं उसके नंगे जिस्म पर सीधा होकर लेट गया.

लड़के मेरे पीछे वाली सीट पर बैठ गए और अपनी आँखों से मेरे फिगर का एक्सरे करने लगे, मुझसे बात करने की कोशिश करने लगे.बुढ़िया की बीएफ देसी: मैंने उससे पूछा- शिप्रा मज़ा आ रहा है ना!उसने कहा- भाई काफी दिन से कोई बॉयफ्रेंड नहीं था … इसलिए मजबूरी में तुमसे करवाने को तैयार हुई, पर तुमने पूरा मज़ा दे दिया या.

मुझे झूठ बिल्कुल पसंद नहीं इसलिए जो भी मैं कहानी बताने जा रहा हूं यह बिल्कुल सच है.अगर आपको मेरी स्टोरी पसंद आई हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रियाओं के जरिये जरूर बतायें.

एक्स एक्स एक्स पिक्चर सेक्सी - बुढ़िया की बीएफ देसी

रूम में अंधेरा ही था और विशाल ने तुरंत अपना हाथ मेरे मुंह की ओर किया और मेरे मुंह को अपनी ओर करके मेरे होंठों को चूसने लगा.एक दिन उसने मुझे अपने घर बुलाया तो मैंने उसकी तन्हाई कैसे दूर की?प्यारे दोस्तो, मेरा नाम राजीव है.

खासकर कि समृद्ध उच्च वर्ग के समाज में तो गुप्तांगों पर मेंहदी कला का चलन काफी लोकप्रिय प्रवृत्ति के रूप में देखा जाता है और यह काफी पुराना भी है. बुढ़िया की बीएफ देसी फिर वो बोली- देख, तू मेरा भाई है, अगर तू उस (सेक्स के) इरादे से आया है तो वो नहीं हो सकता है.

पापा तो जैसे तैयार बैठे थे, मेरे ये कहते ही पापा ने हां कर दी और बोल पड़े- ठीक है बहू, मैं अभी तुम्हारी झांटें साफ कर देता हूं.

बुढ़िया की बीएफ देसी?

मेरी माँ ने मास्टर की बेटी तनु को भी बहाने से हमारे घर बुला लिया था. फिर उसने लंड मुँह से निकाला और पीछे आकर बहुत सारा थूक मेरी गांड के छेद पर थूक दिया. इस तरह मेरे पास उसका नम्बर आ गया।मैंने उसे वाट्सएप मैसेज करना शुरू किया और वो भी जवाब देने लगी। अब हम खाली टाइम पर बातें भी करने लगे।वो मेरी बातों में आ चुकी थी तो एक दिन मैंने उसे मेरी गलफ्रेंड बनने को कहा.

उसके नाजुक और संगमरमरी बदन को चिन्ना देखकर दंग रह गया, उसे अपनी किस्मत पर रश्क होने लगा, उसकी लार टपकने लगी. वे खुश होते भी क्यों नहीं, आज बहुत दिन बाद घर में हर्ष वा उल्लास का माहौल था क्योंकि नया मेहमान जो आने वाला था. वह एक बहुत ही सुंदर लड़की है जो नियमित रूप से उसके कॉलेज में होने वाली सौंदर्य प्रतियोगिताओं में भाग ले रही है.

मेरी छोटी बहन ने मेरा लंड देखा तो वो बोली कि भैया आपकी सूसू पर बाल नहीं हैं, मेरी सूसू पर तो बहुत बाल हैं. इतनी देर में पता नहीं कब पापा ने अपने कपड़े उतार दिए, ये मुझे पता ही नहीं चला. उसके द्वारा मेरे लंड की चुसाई देख कर तनु का मन भी शायद मेरा लंड चूसने के लिए कर गया था.

पहले तो चाची ने मरे मन से मेरे लंड को मुंह में लिया, मगर फिर मैंने चाची के सिर को पकड़ लिया और उनके मुंह को चोदने लगा. लगभग 15 मिनट की चुदाई के बाद सर ने अपने लंड का पानी मेरी चुत में गिरा दिया और मेरे ऊपर ही ढेर हो गए.

मगर एक बार मेरी एक सहेली ने मुझे मर्दों को मसाज देने का आईडिया दिया.

मॉम अब पूरी नंगी थी एकदम रण्डी की तरह … बड़ी गांड, झूलते मम्मे!उन दोनों ने अपने कपड़े उतारे और बारी बारी अपना लन्ड मॉम को चुसवाया और मॉम की चूत चाटी.

मैं धीरे धीरे उसके करीब गया और उसको अपनी बांहों में भर लिया … क्योंकि अब मुझसे सब्र नहीं हो रहा था. मेरा मुँह बंद होने के वजह से मैंने पूछा भी नहीं कि वीर्य अन्दर निकालूं या बाहर. वहाँ से एक किलोमीटर पैदल चलने के बाद रेलवे स्टेशन के पास एक गली में वो दोनों मॉम और आंटी को लेकर गए.

निशा ने आंख दबाते हुए चुटकी ली- सपने में सिर्फ देख रहे थे या कुछ कर भी रहे थे. मैं जान गयी थी कि आज मेरे बेटे का लंड उसकी मां की चूत जरूर फाड़ेगा. और यह कह कर मेरे लंड पर हाथ फेरने लगी।मज़ा आ गया आज तो!” ये बोलकर उसने रिक्शा में ही मेरे होंठों पर एक किस कर दी और मैंने भी उसके बूब्स दबा दिए।उसने बोला- मन नहीं भरा मेरा!मन तो मेरा भी नहीं भरा था इसलिए हमने शनिवार को एक होटल बुक करके उसमें चुदाई करने की सोची।दोस्तो, अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि हमने कैसे होटल बुक करके पुरे दिन चुदाई की.

उसमें लिखा था- आई एम् सॉरी प्रियल … प्लीज मुझसे बात करो … आई लव यू यार … मैं प्रॉमिस करता हूं कि आज के बाद आपको टच भी नहीं करूंगा … पर प्लीज़ मुझसे बात करो.

मुझे सेक्स करने का बहुत शौक है और मैं बहुत सारे लोगों से चुद चुकी हूँ. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:कुंवारी मौसेरी बहन की चूत चुदाई-2. ऐसा करते हुए मैंने उसकी ब्रा और टी-शर्ट को उसके शरीर से अलग कर दिया.

पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ, फिर विस्तार से सारी कहानी बताऊंगा. थोड़ी देर बाद मम्मी बाथरूम से निकलीं और कमरे की लाइट बंद करके बेड पर आ गईं. शाम को मैंने मोहन भाई को फोन किया और कहा- मोहन भाई, आज बहुत मजा आया … मुझे आपसे कुछ बात करनी है … जरा अलग जाओ ना.

मैंने अपने कपड़े निकाले और अंडरवियर निकाल कर पूरा का पूरा नंगा हो गया.

मैं चादर के अन्दर से मामी को देख रहा था कि मामी की सांसें तेज़ हो रही थीं. एक लंबी ऊंची औरत को मैंने ऊपर से उसका सिर अपने दोनों हाथों से पकड़ रखा था और उसकी चूत पर अपने लौड़ा का जबरदस्त धक्के मार रहा था.

बुढ़िया की बीएफ देसी इस तरह से एक हफ्ते में ही वो मुझसे पूरा खुल गई थी और अब तो वो भी नंगी होकर मुझे तेल मालिश करने लगी थी. उसकी पत्नी माया … आह … कसम से क्या लड़की थी … बस एक बार जो देख ले, बार बार देखता रहे.

बुढ़िया की बीएफ देसी फिर मैंने मौका पाकर घर के सभी खिड़की और दरवाजों में एक-एक छेद कर दिया ताकि मैं किसी तरह से पापा और मां की चुदाई का मजा ले सकूं. मेरे से रहा नहीं गया और मैंने उसके चूचों में अपना चेहरा चूसा दिया था.

फिर मूवी शुरु हुई तो पता चला बी ग्रेड मूवी है और हाल में सब ऐसे ही लोग आए थे और हम सबको मिलाकर 23 ही लोग थे.

हिंदी सेक्सी वीडियो बप

उनकी उम्र 40-42 साल के आसपास रही होगी, थोड़े मोटे से थे लेकिन इंसान बहुत अच्छे थे। इसलिए उनके पास उनसे मिलने के लिए चली भी गई थी. मैं जान गया था कि इसकी चूत चुदने के लिए मचल रही है लेकिन ये मुझे जान-बूझकर तड़पा रही है. आपको मेरी टेलर मास्टर से चुत चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें.

हम दोनों एक पल के लिए एक दूसरे से लिपटे रहे … फिर से चूमाचाटी शुरू हो गई. उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे जो मुझे काफी मदहोश कर रहे थे। मैं उसकी चूत को हाथों से धीरे-धीरे सहलाने लगा. मैं रचना का अपने दोनों हाथों से सिर पकड़े उसकी चूत पर अपने लौड़े से धमाकेदार वार किए जा रहा था.

उसने बोला- भैया ये कैसे करूं?मैंने कहा- जैसे लॉलीपॉप चूसती हो न … वैसे ही लंड चूसो.

जैसा कि आप सबको पता है कि मैं कामुक कहानियाँ लिखने के अलावा अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाओं की सेक्स जिज्ञासा, सेक्स समस्याएं एवम् सेक्स सलाह भी मेल या वाट्सएप्प पे देता हूँ. लो बिटिया, इस अनपढ़ नेता का मोटा सा कला लण्ड एक पढ़ी लिखी आईएएस अफसर की नाजुक सी बेटी की नाजुक सी चूत में उसी के बहुत आग्रह पर! लो सम्भालो इसे!कहानी का पिछला भाग:जवान लड़की और नेता जी-6चिन्ना लोहा बिल्कुल गर्म देखकर- नहीं मेरी प्यारी बिटिया, ऐसे नहीं चलेगा. अगले कुछ ही पलों में हम दोनों एकदम नंगे हो गए और चुदाई के खेल शुरू हो गया.

फिर बहू मेरे आगे झुक गयी और खुद मेरा लंड पकड़ के अपनी चूत में डाल लिया. अगले कुछ ही पलों में मैंने उसकी पैंट उतार कर उसे पूरा नंगा कर दिया. गुलाबी रंग के गाऊन में मम्मी का गदराया बदन मेरी आँखों में नशा भरने लगा.

मेरी सेक्स कहानी में चुत चुदाई का रस कुछ यूं है कि पिछले साल हमारे कॉलेज में दीवाली के अवसर पर बीस अक्टूबर को एक कार्यक्रम किया जा रहा था, जिसमें मुझे लहंगा चोली पहन कर एक आइटम डांस करना था. मैं नसरीन की दोनों चुचियों के चूचुकों को बारी बारी से मुँह में लेकर बच्चे की तरह चूसने लगा.

अब मैं भी क्या करता, सो बोल दिया कि ठीक है, मेरे साथ ही ज़िंदगी भर रहना. मेरी बहू मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं उसके होंठों का रसपान कर रहा था. मैंने उसकी तरफ से कोई दिक्कत महसूस नहीं की और हम दोनों एक ही चादर में चिपक कर लेट गए.

इससे वो और भी ज्यादा गर्म हो गयी और मुझे कसके अपनी बांहों में लेकर चिल्लाने लगी- आह … ऐसे ही करो और जोर से और अन्दर डालो ना … आहा आ … आह हुस्स … हम्म … आह … मैं आने वाली हूँ … और तेज हा … एस्स … आहा.

तुमको देखते ही पता चल गया था कि तुम बैठी तो यहां हो अपने दोस्तों के साथ … पर तुम अपनी लाइफ में खुश नहीं हो. मुझे लगा कि जैसे उसे पता हो चल गया था कि मैं उसे प्रपोज़ करने वाला हूँ. थोड़ी देर बाद मैं आपके गले से चूमता हुआ नीचे की ओर आता हूँ, फिर आपके एक बूब्स को दबाते हुए चूसता हूँ.

और खाने के बाद एक दूसरे के साथ एक घण्टे लेट कर प्यार की बातें करने लगे!फिर हम होटल से बाहर आये. मेरी उम्र 40 साल है, मेरे लंड का साइज 6 इंच है।मैं एक कॉल बॉय हूं मुझे आंटियां भाभियाँ और अकेली रह रही लड़कियां या फिर कोई भी विधवा कॉल करके बुलाती हैं.

इससे एकदम से उत्तेजित होते हुए भाभी ने मेरा लंड पकड़ लिया और उसे सहलाने लगीं. फिर मैं उसके होंठों पर अपना लंड रगड़ने लगा, तो उसने हाथ से हटाने की कोशिश की, जिससे उसके हाथ चूचों से हट गए और मैंने उसी समय उसके मम्मे पकड़ लिए. वे तौलिया से अपने बदन को छिपाने का ड्रामा करतीं लेकिन मुझे उनकी चूचियां और गांड की गोलाई दिख ही जाती थीं.

सेक्सी वीडियो होगी

आज यहां मैं वो दास्तान लिख रहा हूँ, जिसमें मेरे दोस्त की पत्नी ने किस तरह मुझे अपनी चुदाई करने को लेकर मुझे उकसाया.

मैं पढ़ाई में थोड़ा होशियार भी था इसलिए उसके पढ़ाने से मेरे मार्क्स भी अच्छे आये. मैंने कहा- कितने पैसे?उसने कहा- तेरी मां की चूत, बहन की लौड़ी कुछ काम पैसे से नहीं होते. रूम में पहुंच कर सारिका चेंज करने के लिए बाथरूम गई तो मैंने पेप्सी की बॉटल में दो पेग व्हिस्की मिला दी.

मुझे लग रहा था कि मेरे जाने के बाद पूरा ब्लू फिल्मों का कलेक्शन दीदी ने देख लिया है और वो पूरी तरह गर्म है. अपनी बहन को मुझसे चोदते देख तुम्हारा भी मुझसे चुदने का बड़ा ही मन कर रहा था ना. बहन भाई की सेक्सी वीडियो फिल्मवैसे तो मुझे कोई इस तरह देखे तो अच्छा नहीं लगता मगर मैं भी उसकी जानदार बॉडी को देख रही थी.

मैंने अपने हाथ और लंड दोनों की स्पीड बढ़ा दी … और हम दोनों एक साथ झड़ गए. मैंने अपने कपड़े उतारे तो मेरे कच्छे में मेरा काफी प्रिकम निकल गया था और लंड भी काफी गीला था.

इसके साथ ही मध्य पूर्व की शादियों में इस तरह का चलन काफी आम रहा है. पर मैं भी कम नहीं था … ऐसे धीरे धीरे उसे मैं लाइन पर ले आया।अब वह कभी कभी मेरे कमरे पर भी आ जाया करती थी जब उसकी मम्मी कहीं पड़ोसियों के पास चली जाती थी तो! मैं उसके बूब्स को दबाता, उसकीचुत में उंगलीकरता. करीब 5 मिनट बाद वो शांत हुई, तो मैंने उसकी गांड मारना शुरू कर दिया.

जैसे ही उसके हाथ का स्पर्श मेरे लंड को लगा तो ऐसा महसूस हुआ कि मेरा लंड तो आज फट ही जायेगा. मुझे तीन दिन बाद फ़ोन आया कि एक साहब हैं … उन्हें खाना बनाने वाली चाहिये, तू आकर उनसे मिल ले. लेकिन उनको समझ में नहीं आ रहा था तो मैंने अपना एक हाथ भाभी की चूत से थोड़ा सा ऊपर रखा और दूसरा हाथ उनकी चूचियों के पास लगाकर उनको उठा लिया और उनको पानी में पैर मारने के लिए बोलने लगा।मेरे लंड की हालत ख़राब हो चुकी थी.

मेरी मामी की उम्र 40 साल से कुछ ज्यादा है और वो दो बच्चों की माँ हैं.

अब तक सफलता हासिल नहीं हुई है, लेकिन जिस तरह का माहौल बन चुका है, उससे उम्मीद हो गई थी कि चुत लंड का मिलन जरूर होगा. जब मेरा ध्यान इस बात पर गया तो मैंने पाया कि दीदी मेरी ओर झुक गयी थीं.

उसकी टाइट चूचियों और मोटी मोटी चूचियों को देख कर मेरे अंदर एकदम से वासना भर जाती है. और जैसे ही करोना की उँगलियाँ गलती से करोना की भगनासा से टकराई, अचानक उसके पूरे शरीर में तूफ़ान सा आ गया और …कहानी का पिछला भाग:जवान लड़की और नेता जी-1तभी अचानक करोना एक किशोर युवती को बस में चढ़ते देख कर ठिठक गई। करोना के हावभाव समझ कर अटेंडेंट ने बताया- यही लड़की साहब की मालिश करेगी।ये सुन कर करोना को एक झटका सा लगा. एक घंटे बाद करीब 9 बजे नवीन जी फ्लैट में आये और बोले- अंजलि, क्या तुमने डिनर रेडी कर लिया.

मेरी चूत की अधूरी इच्छा कैसे पूरी हुई?लेखिका की पिछली कहानी:मां को चोदा जंगल मेंमेरा नाम शालिनी है. होटल पहुंचे तो देखा बड़ा आलीशान होटल था, खाना खाकर हम लोग अपने अपने कमरों में चले गये. मेरे हाथ अब उसकी ब्रा के ऊपर से उसकी चूचियों को दबा रहे थे। इससे वह जोश में आ गई और मेरी पैंट के ऊपर से मेरा लंड पकड़ कर उसको सहलाने लगी।फिर उसने अपनी ब्रा को भी खोल दिया.

बुढ़िया की बीएफ देसी यह मेरी पहली कहानी है इसीलिए अगर कोई गलती हो लिखने में तो मुझे माफ़ कर दीजियेगा. सोनू और मैं अक्सर गांव में घूमने के लिए साथ में निकल जाया करते थे और काफी मस्ती किया करते थे.

फुल अंग्रेजी सेक्सी मूवी

मेरा लंड इस समय बंदूक की नाल की तरह तना हुआ था और अप-डाउन कर रहा था. उसकी बात सुन कर मीनू ने वहां रुकने के लिए कहा।पहले तो मैंने मना किया, फिर उसकी जिद के आगे मुझे झुकना पड़ा और हम वहीं रुकने के लिए तैयार हो गए।जब मैंने उस लेडी से किसी होटल के बारे में पूछा तो उसने कहा- यहाँ कोई होटल नहीं है, आप को किसी के घर पर रुकना पड़ेगा. मैंने फट से फोन उठाया और पूछा- कहां हो तुम?उसने मुझसे कहा कि मैं तो यही हूँ … तुम कहां हो?उसे मैंने एक जगह का नाम बताया, तो उसने कहा कि मैं तुम्हारी ठीक बाजू वाली रोड पर हूँ.

आप अच्छे से जानते हो!मैंने कहा- जब तक आपकी मर्जी न हो, मैं कुछ नहीं करूंगा. नसरीन पूरी तरह गर्म हो चुकी थी, उसकी सांसें तेज़ चल रही थीं … दोनों चुचे ऊपर नीचे हो रहे थे. इंडियन गर्ल्स एक्स एक्स एक्स वीडियोजैसे ही उसने हाथ ऊपर को बढ़ाया, तौलिया हट गया और मेरा लंड फिर बाहर आ गया.

आंटी जोर जोर से सिसकारने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और तेज … आह्ह मजा आ रहा है… तुम तो बहुत जल्दी सीख रहे हो औरत को खुश करना.

कहानी का पिछला भाग:शहर की चुदक्कड़ बहू-1जब वो रसोई में जा रही थी तो मेरी नजर उसकी गांड पर थी. आखिअर मैंने अपने कूल्हे ऊपर को उचकाये तो उनके लंड का सुपारा मेरी चूत के छेद में फंस गया.

मैंने जल्दी से उसकी साड़ी उसके बदन से हटा दी और उसको बेड पर लिटा कर उसके ऊपर चढ़ गया. जरा कल्पना करें कि आपका होने वाला पति या शादी की सुहागरात के दिन आपका पति जब आपकी योनि की एक झलक पाने के लिए तरस रहा होता है और उसको आपके वहां पर एक खूबसूरत सा डिजाइन मिले या फिर ऐसी कला मिले जिसके बारे में उसने अंदाजा भी न लगाया हो तो कैसा रहे?मसलन इसमें आप अपने हबी या अपने पति के नाम का पहला अक्षर इस डिजाइन के बीच में बनवा कर उनको ज्यादा मोहित कर सकती हैं. उनके मुंह से आह निकल रही थी गर्दन में किस करते करते!कुछ ही देर बाद हम दोनों ने एक दूसरे के कपड़े उतार दिए.

रिश्तों में चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी मामी को नंगी देखा तो मेरा मन उनकी चुदाई के लिए बेचैन हो गया.

मैंने कभी उसका घर नहीं देखा था। हां एक फोटो उसने जरूर लगाई हुई थी व्हाट्सएप पर. मैंने उसे हग किया और समझाया कि अब रोने से कुछ नहीं होगा, तुम परेशान ना हो. जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने कहा- जोर से दबा साली, शादी के बाद भी यही करना है तुझे.

सनी लियोन सेक्स वीडियो फुल एचडीउसका मुँह बंद करने के लिए पास में रखी हुई निशा की पैंटी को मैंने उसके मुँह में डाल कर उसका मुँह बंद कर दिया … जिससे वो चिल्ला ना सके. उसने कहा- क्या ख्याल है, एक बार फिर हो जाये?मैंने हाथ जोड़ कर कहा- मेरे दोनों छेद जल रहे हैं.

बिहार का सेक्सी वीडियो देखने वाला

उनको चुत में उंगली करते देख कर मैं समझ गया था कि मौसी को एक अच्छे और मोटे लंड की जरूरत है. वह जानता है कि वह एक IAS अधिकारी की बेटी है और यह उसके राजनीतिक करियर के लिए घातक हो सकता है।ये सोचते सोचते चिन्ना के 8 इंची विशाल लण्ड में जबरदस्त तनाव आ गया और उसने तुरंत अपने ऑफिस की चपड़ासन को बुला कर उसके मुँह में अपना लण्ड ठूंस दिया. कुछ देर बाद उस महिला के पास किसी का फ़ोन आया और वो महिला वहां से चली गयी.

मैं बैंक कर्मचारी हूं तो मैं शाम को पाँच बजे अपने कमरे पर आ जाता हूं. उसने अपना हाथ मेरे बालों में सहलाया और आंख बंद करके सिसकारियां निकालना जारी रखा. शायद वह मासूम कोमल से लड़की चिन्ना के विशाल लण्ड की जोरदार ठुकाई सहन नहीं कर पाई थी।अटेंडेंट ने उसे गोद में उठा कर एक कार में बिठा दिया।उसके बाद चिन्ना कल की तरह बाथरूम में आया और लाईट जला ली.

तभी मैं उसकी चूत के दाने को होंठों से पकड़ कर खींच कर जीभ से सहलाने लगा. यहाँ लोग बहुत खुल कर और विस्तार से अपनी बात नहीं लिख पाते हैं क्योंकि यह कॉलम सिर्फ एक पेज का होता है प्रकाशक अपने स्तर पर अपनी पत्रिका के पाठकों के स्तर के अनुसार समस्याओं को संपादित करते हैं, सेंसर भी करते हैं. जब आप किसी लड़की के साथ पहली बार सेक्स कर रहे हो, तो आप जानते ही हो कि कितनी जल्दी झड़ना हो जाता है.

उसके चूतड़ों पर लंड को रगड़ते हुए मैंने उसको अपनी ओर घुमाया और उसके होंठों को किस करने लगे. वैसे पार्थिव की शादी को 3 साल हो गए थे, लेकिन उनको कोई बच्चा नहीं हुआ था.

मैंने उनसे नजदीकी बढ़ानी शुरू कर दी और …लेखक की पिछली कहानी:दिल्ली की भाभी और आंटी की गंदी चुदाईदोस्तो, मेरा नाम मयंक है.

मैं उनकी सेक्स में बढ़ती सनक को कैसे काबू में करूं?यहां मैं उनके और मेरे साथ हुए कुछ वाकये लिख रही हूं. एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चर हिंदी मेंजब भी हमें अकेले में मौका मिलता, मैं कज़िन सिस्टर के साथ सेक्स का मजा लेता. नहाती हुई भाभीउसके वक्ष का साइज 32 है जो कि उसने मुझे ब्रा को निकालते समय बताया था। और उसकी कमर की साइज 30 है जो किसी भी लड़के का लंड खड़ा कर सकती है।बात उस समय की है जब मैं मामा के गांव गया था अपनी मम्मी के साथ. उससे बातें हुईं, तो पता चला कि वो एक स्कूल टीचर है और बरनाला पंजाब में अकेली रहती है.

हम दोनों ही अपने अपने चूतड़ों और कमर को हिलाकर चुदाई का मजा लेने लगे.

उसने भी बिना देरी किये मेरे लंड को अपने हाथ में थाम लिया और मेरे लंड को अपने हाथ से दबाने लगी. चूत को रगड़ने से वो इतनी गर्म हो गयी कि उसने मेरे सिर को पकड़ कर मुझे नीचे धकेलते हुए बैठने का इशारा किया. छोड़ो मुझे, कोई देख लेगा तो क्या सोचेगा।भाभी जी, जिसे जो सोचना सोचने दो.

पहले इस भट्टी की आग को अपने हैंडपंप के पानी से बुझा दो।लेकिन मैं तो अपनी ही धुन में उसकी चूचियों को और चूतड़ों को सहला रहा था वो और भी तेज आवाजें निकालने लगी. वो मेरी तरफ देख कर बोली- आज यहीं रूक जाओ न!मैंने कहा- घर पर क्या बोलूंगा?उसने कुछ सोचते हुए घर पर फोन कर देने का कहा. पहले चिन्ना ने लण्ड की धकपेली से करोना की चूत में धीरे-धीरे अपनी जगह बनाई और फिर जब करोना की चूत मोटे लण्ड की कुछ अभयस्त सी हो गई तो उसकी झन्नाटेदार चुदाई शुरू कर दी.

एसएस सेक्सी वीडियो चोदा चोदी

सी के लिए है वहां का रास्ता बेटे के रूम से भी है और मेरे भी, वहां से देखने की कोशिश करने लगा. हम दोनों को किस करते हुए 2 मिनट हुए थे तभी बहू ने मुझे बेड पर धक्का दे दिया और खुद मेरे ऊपर आ गयी और फिर से किस करने लगी. ये थी मेरी मौसेरी बहन की चुत चुदाई की कहानी, आप मुझे मेल ज़रूर लिखें.

मैं- वो मैंने जब से यह वीडियो देखी है, तब से ये सीन मैं अपने दिमाग से निकाल नहीं पा रहा हूँ … और मैं अभी तक वर्जिन हूँ, जिस वजह से मेरा मन विचलित हो रहा है.

वो पहले तो शरमाई, पर फिर उसने मेरे जिस्म पर अपने हाथ फेरना शुरू कर दिया.

आंटी के हाव-भाव से कभी कभी मुझे ऐसा लगता कि शायद आंटी मेरी मंशा को समझ गई हैं और उनके अंदर भी सेक्स की आग जल उठी है. अब मैं चाची की मदद करने के लिए चला जाया करता था क्योंकि चाचा को बेड से उठाने और बिठाने में मदद चाहिए होती थी. হিন্দিমে সেক্সিपापा बोले- बाल हटाने वाली क्रीम कहां है?मैंने कहा- बाथरूम में पड़ी है.

उसने उठाया और कहा- बोलो … कैसा रहा कल का दिन … मजा आया? बताओ तुमने आज फिर से क्यों कॉल किया?मैंने उससे कहा- मुझे फिर से तुमसे मिलना है. उसे भरोसा हो गया था कि मुझसे गांड मराने में उसे कोई दर्द नहीं होगा. ब्लाउज को बांधने के लिए पीछे से बस एक डोरी थी, बाकी मेरी पूरी पीठ खुली थी.

नसरीन- दीदी मैं जल्दी नहीं कर पाउंगी, इसके बदले आप जो बोलोगी, मैं करूंगी … मुझे कुछ टाईम दो न. ऊंह… ऊंह की आवाज के साथ वो अपनी चूत में सहलाते हुए अपना चूचा दबा रही थी.

वैसे क्या तेरा पति तुझे खुश नहीं करता है क्या?”रानी बोली- नहीं बाबूजी, वो बस पीने खाने में रहता है बस.

नसरीन मोटे लंड के अहसास से बोल पड़ी- बाप रे बाप … भाई … प्लीज़ मत घुसाओ … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. इसलिए वह बस बिस्तर पर लेट गया और उसने कहा- बेटी मालिश शुरू करो।करोना अपने होश में आई और उसने तेल की बोतल से अपनी हथेली पर थोड़ा तेल लगाकर बिस्तर के एक तरफ खड़ी होकर मालिश शुरू कर दी।यह मालिश करने के लिए एक असुविधजनक स्थिति थी, इसे भांपते हुए चिन्ना बोला- बेटी, ऐसे मालिश ढंग से नहीं हो पायेगी और तुम्हारी ड्रेस भी ख़राब हो जाएगी. आज मैं भी अपनी बहन की चूत गांड एक साथ मार मार कर खूब मज़े ले रहा था.

मोटी औरत की चूत जैसे कि योनि के ऊपरी हिस्से पर एक गुलाब बनाना कामुकता को कितना बढ़ा सकता है, आप स्वयं कल्पना करके इसका अंदाजा लगा सकती हैं. श्वेता बोली- भैया और कितने तरह से चुदाई होती है?मैंने उसे बताया- देखो होना तो बस एक ही काम है … बुर और गांड में लंड का घुसना … पर इसको जिस तरह से भी मजेदार बना दिया जाए, वो ही पोजीशन सही होती है और वो ही मस्त तरीका होता है.

वो उस लड़की को ऐसे चोद रहा है जैसे ये उसकी जिंदगी का आखिरी दिन और आखिरी लड़की हो. इस बार उसने एक बार तो ना किया, फिर बोली- ठीक है, अपना नंबर मुझे दे दो।हमारी फोन पर बात होने लगी. और कभी बीच बीच में उनका लड़का आ जाता है।फिर जब चाय बन गई तो हम दोनों सोफे पर बैठ कर चाय पीने लगे.

रोमांटिक देसी सेक्सी वीडियो

तभी वो मेरे और पास आया और मेरे खुले हुए मम्मों को पकड़ कर दबाने लगा. एग्जाम सेंटर पर मैं फ़ोन नहीं ले जा सकता था, तो मैं अपना फ़ोन मानवी को दे गया और उससे बोला कि मैं एग्जाम देने जा रहा हूँ, तुम ध्यान से जाग जाना और घर से फ़ोन आए, तो बात कर लेना. अपने लण्ड पर थूक लगाकर मैंने अपना लण्ड आंटी की चूत पर रखा और अन्दर पेल दिया.

हम दोनों एक ही बिस्तर पर लेटे हुए थे और हमारे साथ में मनीषा का भाई भी था. लगभग पंद्रह मिनट तक मैंने दीदी की चूत को पेला और फिर मैं भी एक बार फिर से झड़ने के करीब पहुंच गया.

मैंने तेरी आंखों में नसरीन के लिए भरपूर और बेइंतहा प्यार को देखा है.

मैंने जल्दी से एक कोने से थोड़ा दरवाजा खोल कर देखा, तो रूम सर्विस वाला आईसक्रीम लेकर खड़ा था. जब तक मेरा लंड दोबारा से खड़ा नहीं हो गया सोनाली ने मेरे लंड को अपने मुंह से नहीं निकाला. बहू बोली- डैडी जी, आप अपने रूम में चलो, मैं आपका सरप्राइज लेकर आती हूँ.

मुझे नंगा देखकर और रानी को मेरा लंड चूसते देख बहू ने अपना हाथ अपने मुँह पर रख लिया. काफी गर्म और उत्तेजक कहानी पढ़ने के बाद मैंने सोचा कि अपनी भी सेक्स कहानी आप सभी से शेयर की जाए. खाना खत्म करते ही मैंने उसको अपनी गोदी में उठाया और बेड पर पटक दिया.

मेरी चूत से बहुत कम पानी आ रहा था, इसलिए लंड फंस कर अन्दर जा पा रहा था.

बुढ़िया की बीएफ देसी: खाते हुए भी मेरी नज़र मेरी बहू के बूब्स पर थी और वो भी मुझे अपने बूब्स के पूरे दर्शन दे रही थी. और अपनी कुंवारी गांड भी मेरे लण्ड के हवाले करोगी बोलो है मंजूर?करोना बिना अंजाम की परवाह किये- मुझे आपकी सारी शर्तें मंजूर हैं अंकल.

मैंने देखा कि उनकी चूत पर हल्के हल्के से बाल थे, जो चूत को और भी खूबसूरत बना रहे थे. मैंने मामी से बोला- मेरा मूड फिर से बन रहा है और चुदाई करें!मामी मेरी तरफ देख कर मुस्करा दी. थोड़ी देर बाद मैंने अपना हाथ उसकी सलवार के अंदर डालना शुरू कर दिया.

मैंने कल्पना भी नहीं की थी गैर मर्द की बीवी के साथ इस तरह से मस्ती करने में इतना मजा आने वाला है.

आज मेरा सब कुछ कर जाने का इरादा था, तो मैंने कहा- बेटू आज हम दोनों अपने पूरे कपड़े उतार कर सोते हैं … मजा आएगा. फिर मैंने अपनी जीभ नुकीली करके उसकी बुर के छेद में डाला, जो कि अन्दर से बंद था. भैया भाभी सो गए थे और मैं प्रीति के दूध और चूतड़ों को अपने आधे जिस्म पर महसूस कर पा रहा था.