जंगल का सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी नंगी पिक

तस्वीर का शीर्षक ,

जाट का देवता कौन है: जंगल का सेक्सी बीएफ, फिर मैंने पति को कॉल किया, तो जवाब मिला कि वो किसी काम की वजह से बाहर चले गए हैं, आने में थोड़ा ज्यादा टाइम लगेगा.

चूत कि फोटो

क्या आपके कोई बच्चे हैं?सोनिया- हां … एक बेटा है, जो अगले महीने 12 साल का हो रहा है. भाई बहन का सेक्सी विडियोमुझे सिर्फ अहसास मात्र से ही रोमांच हो रहा था और कमोवेश यही स्थिति दीदी की भी थी.

ऊपर से शॉवर का ठंडा पानी गिर रहा था और नीचे से कबीर का मोटा गर्म लंड मेरी चूत में जा रहा था. ஷகிலா செக்ஸ் வீடியோ ஷகிலா செக்ஸ் வீடியோफिर मैंने धीरे से आलिया की चुत में लंड घुसाया, जिससे आलिया कराह उठी.

भाई का अपनी बहन के साथ और बहू का अपने ससुर के साथ चुदाई का खेल अब रोज का ही रुटीन बन गया था.जंगल का सेक्सी बीएफ: मैंने अपनी आई-डी वापस ले ली और उसको उसके घर छोड़ कर वापस अपने गांव में आ गया.

यहाँ क्लिक अन्तर्वासना ऐप डाउनलोड करके ऐप में दिए लिंक पर क्लिक करके ब्राउज़र में साईट खोलें.विकी के मुंह से सिसकारियां तड़प तड़प कर बाहर निकल रही थीं- आह्ह् स्सस … मेरी रांड … तू तो बहुत गर्म है साली.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी भाभी की चुदाई - जंगल का सेक्सी बीएफ

वो उत्तेजना में कभी अपनी जांघें खोल देती, कभी मेरे हाथ को अपनी जांघों में दबा लेती.वो मुझे उनका लंड पकड़ कर दिखा रही थी कि कहां मेरा पांच इंच का लंड और कहां उनका सात आठ इंच का लौड़ा.

मेरी सास की ये वही सलवार थी, जिसमें मैंने न जाने कितने ही बार मुठ मारी थी. जंगल का सेक्सी बीएफ उसने पूछा- आप आ रहे हो?तो मैंने बताया- हां, मैं रास्ते में हूं, होटल के पास पहुंच कर आपको फिर से फोन करता हूं.

करीब एक सवा घंटे तक ऐसे ही चलता रहा और फिर मैंने एना से कहा- एना, तुम्हारे माउंट्स वेरोनिका से कुछ ज्यादा ही बड़े हैं.

जंगल का सेक्सी बीएफ?

फिर उसने अपनी चूत को उस कपड़े से रगड़ कर साफ किया और फिर मुकुल राय की तरफ देखा, जो हैरत से उसकी तरफ देख रहा था।परीशा- क्या हुआ पापा आप ऐसे क्या देख रहे हो?मुकुल राय- बेटी, तुम तो काफी समझदार हो।हाँ जानती हूँ. उसके ऐसा करने से पिंकी बिलबिला गयी … उसने अब तक तो धीरज का लंड अपने हाथ से पकड़ा हुआ था, अब वो अपना कान राहुल के होंठों से हटाने के लिए नीचे झुक कर हँसती हुई अलग हुई. मैं धीरे से उसके पास गया तो मैंने देखा कि वो उस स्टोरी को पढ़ रही थी.

जब पहली दफा मैंने उसके अंडरवियर में हाथ डाला था तो मुझे उसके लंड को छूकर एक करंट सा लग गया था. इधर आग और बढ़ती जा रही थी, अब काबू करना मुश्किल ही नहीं … न मुमकिन था. अगर उन्होंने कुछ कहा, तो मैं कह दूँगा कि मैं अपनी ज़िम्मेदारी समझ कर हर महीने आपको खर्चे के लिए पैसे भेजता रहता हूँ.

फिर मैंने मेरे दोस्त की फेवरट व्हिस्की मंगाई और कहा- यार, अब पीकर कुछ गम हल्का कर लेते हैं. मैं पहली बार डेटिंग पर जा रहा था और वो भी एक बहुत ही हॉट, खूबसूरत और अमीर औरत के साथ. दीदी की आह निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’धकापेल चुदाई का मंजर सिर्फ अहसास के जरिये महसूस होने लगा.

दोस्तो, मैं आपका साथी जीशान … इस कहानी का अंतिम भाग लेकर आपके सामने आ गया हूँ. अमायरा के घर में उसकी दादी और माँ के अलावा उसका छोटा भाई भी था, जो नादान था और जवानी की अठखेलियों के बारे में कुछ भी नहीं समझता था.

मैं उनकी साइड में उसकी बगलों को सूंघता हुआ, उनके कंधे पर सर रख कर लेट गया.

कुछ 3-4 मिनट तक पेशाब की धार लगातार चल रही थी और फिर रुक रुक कर मेरे मुँह पर गिरने लगी.

फिर वो मेरे होंठों को चूमकर बोली- इस खुशी के बदले क्या गिफ्ट दूं आपको?अनीता की गांड को उसकी कमीज के ऊपर से दबाते हुए ही मैंने कहा- मैं तुम्हारे पिछवाड़े को चोदना चाहता हूं जानेमन. देखो बेटा, लंड के स्वागत के लिए अपनी चूत पर अपने दोनों हाथ रखो और उंगलियों से इसका दरवाजा पूरी तरह खोल दो अच्छे से. फिर मैं उसके ऊपर से उतर गया और अपनी पैंट उतार डाला और अपनी चड्डी भी फुर्ती से उतार दी.

न जाने कब से मुझे अपनी कहानी आपसे साझा करनी थी, पर कर ही नहीं पाया. मेरा लंड उसकी गांड पर हाथ सहलाने से खड़ा हो गया था और आलिया के पेट को छूने लगा था. अब वो मुझे किस करते करते मेरे शरीर पर हाथ फिराने लगी और मेरे लंड को बॉक्सर के ऊपर से पकड़ कर सहलाने लगी.

चूत को चाटे जाने पर मैं इतनी अधिक उत्तेजित हो गई थी कि मैंने जोर से कमलेश को पकड़ा और झड़ गई.

उनकी सलवार के ऊपर से ही अपनी उंगलियों से गांड को फैला कर उसमें सलवार घुसेड़ने लगा. मैंने अपना बचा हुआ माल अपनी बीवी के हाथ और मोहिनी की गांड पर गिरा दिया था, जिसको मेरी सास ने अपनी जीभ से चाट लिया. बीवी जब चुद रही हो और ओह … आहह … कर रही हो तो जोश और तेज हो जाता है.

थोड़ी देर के बाद मैं पूजा की पीठ पर झुक गया और उसकी चूचियों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगा. मैं इस बात को जानता था कि पट्ठी मेरा लंड देख रही है, मगर मैं भी ध्यान नहीं देता … क्योंकि मैं जानता था कि ये ज्यादा से ज्यादा दो चार दिन में मेरे नीचे सोएगी ही. परवीन आंटी और हिना आंटी से कम मिलता हूँ, लेकिन चाची से तो महीने में 2 बार मिल ही लेता हूं.

मुकुल राय ने भी बिना देर किए, धीरे-2 अपने लंड के सुपारे को परीशा की चूत के छेद में पेलना शुरू कर दिया.

हॉट कॉलेज गर्ल की कामुकता की यह नयी सेक्स स्टोरी मेरे बॉयफ्रेंड के दोस्त के बारे में है, जिसने मुझे बड़ी हसरत से चोदने के लिये पटा लिया. पूरी ताकत से वो मेरी गांड में लंड पेल रहा था, मुझे मजा आ रहा था, वह पूरे दम से रगड़ रहा था, मुझे मजा आ रहा था.

जंगल का सेक्सी बीएफ मैंने रचना को फिर याद दिलाया कि ध्यान रखना कि यहां किसी को ना पता चले कि तू मेरी बहन है … वरना तुझे मॉडलिंग में काम नहीं मिलेगा. लेकिन उन्हें खुश करने के लिए आपके द्वारा किए गए बलिदान की मैं सराहना करता हूं.

जंगल का सेक्सी बीएफ फिर वह सीट से उठ गया और उसी सीट पर मुझे बिल्कुल किनारे पर घुटनों के बल झुका दिया। इस तरह मेरा सिर सीट पर और गांड सीट से थोड़ा बाहर निकली हुई थी. मैंने भी उनकी जांघें खोल दीं और पेंटी के ऊपर से ही उनकी चूत को रगड़ने लगा.

मैं पहले भी बता चुकी हूँ और फिर बोल देती हूँ कि मुझे गांड नहीं मरवानी है.

दिल्ली वाली भाभी की चुदाई

मेरी पिछली कहानीसहेली के सामने कॉलेज के लड़के से चुदवा लियामें आपने पढ़ा और मेरी ऑडियो सेक्स स्टोरी में सुना होगा कि कैसे जबरदस्ती राहुल के दोस्त मुझे चोदने के लिये तड़प उठते हैं. दोस्तो मैं 5 सालों से अन्तर्वासना का पाठक हूँ, इस वेबसाइट पर मैंने बहुत कहानियां पढ़ी।अब सोचता हूं कि मुझे भी अपनी स्टोरी यहाँ पोस्ट करनी चाहिए।मेरा नाम शिबू है (बदला हुआ नाम) और मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 32 साल है। मेरे लण्ड का साइज 6 इंच लंबा और 2. उसने कहा कि मैं अपने साले यानि उसके भाई श्लोक के मुंह से सुनूं तो बेहतर होगा.

पर नंगे जिस्म डांस कैसे कर सकते हैं, धीरज का लंड बार बार नायरा की चूत के मुहाने पर टकराता और अंदर घुसने की खुशामद सी करता. रोहन- इतनी कम उम्र में … मैं यह नहीं मान सकता कि बैंगलोर जैसे शहर के लोग भी कभी-कभी ग्रामीणों की तरह व्यवहार कर सकते हैं. भाई भी अपना मूसल लंड लेकर मेरे ऊपर आ गये और अपने लंड को गीला करने के लिए कहने लगे.

कभी-कभी अपनी गांड को इस तरह उचकाती थी कि ऐसा लगता था कि मेरे लंड को और अंदर तक लेना चाहती हो.

मैंने उन्हें और ज़ोर से खींच कर नीचे गिरा लिया और उनका ब्लाउज निकालने लगा. मैंने डिल्डो एक हाथ में लिया और उनकी चुत में डाल कर ज़ोर से झटका मार दिया. ” गौरी ने आँखें तरेरते हुए कहा।गौरी ज्यादा दर्द हो रहा हो तो लाओ मैं कोल्ड क्रीम लगा देता हूँ.

जैसे जैसे उसकी हिम्मत बढ़ती गई तो उसने मेरे फोन पर डबल मीनिंग चुटकलों की लाइन लगा दी. लेकिन दिल कर रहा था कि मैं चुदती ही रहूँ।करीब दस मिनट की चुदाई के बाद देव की स्पीड एकदम बढ़ गई, मैं अपने कूल्हे उठा उठा कर लंड खा रही थी. मैंने उससे पूछा- कैसे लगा?तो वो बोली- जीजू सच बताऊं तो आज मुझे सोलन से भी ज्यादा मजा आया.

मैंने पूजा का हाथ पकड़ कर अपनी बांहों में खींच लिया और हम दोनों चिपक कर एक दूसरे को किस करने लगे. ’धकापेल चुदाई के बाद आख़िर मैं भी निकलने वाला हो गया था, मैंने कहा- कहां निकालूँ?मेरी सास बोलीं- सब तुम्हारा ही है बेटा … जहां मन करे, निकाल दो … अब कोई रिस्क नहीं है.

मैंने उसे निकाल दिया और देखा मेरे सामने एक बिना बाल वाली एकदम साफ चिकनी चमेली चुत चमक रही थी. आप लोग बने रहिये अन्तर्वासना के साथ और पढ़ते रहिये यारों का ये सेक्सी याराना. तभी उसने अपने हाथ कंप्यूटर टेबल से से हटाए और की-बोर्ड पर झुक कर कुछ टाइप करने लगी.

क्या नजारा रहा था वो!वह मुझे जी भर कर चोद लेना चाहता था और मैं भी उससे जी भर कर चुदना चाहती थी.

अंशु बोली- उपिन्दर, अब बातें मत कर, पेल हमारी औरत को!शैली बोली- हाँ जीजा जी, मारिये दीदी की, मज़ा आ रहा है. मैं अन्तर्वासना से पिछले 2 साल से जुड़ा हूँ और इसमें सेक्स कहानी पढ़ते आ रहा हूँ. मैंने उसकी मैक्सी से लन्ड पौंछा और उसने भी अपनी चूत पौंछी, फिर सीधा मेरे लन्ड को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ करके बैठ गयी।मेरा लन्ड थोड़ा खिंचाव सा महसूस करता हुआ उसकी चूत में घुस गया। हम दोनों को हल्का सा दर्द महसूस हुआ.

मुझे भी उससे मिलने की तड़फ थी, लेकिन मैंने ढील देकर उसे लूटना चाहता था. मैं शर्मा गयी।वो बोली- साहब मैं जा रही हूँ, आप बड़े साहब के कमरे में जाकर बैठ जाइए।अब उसे क्या पता कि आज मैं पूरी रात उसी कमरे में नंगी रहने वाली हूँ।नौकरानी चली गयी थी और मैं रवि के कमरे में उसका इन्तज़ार कर रही थी। उस वक़्त मुझे लग रहा था किसी ने मेरे अंदर सेक्स भर दिया।तब मुझे समझ आया कि वो टेबलेट कामोत्तेजित करने की थी।तभी थोड़ी देर बाद डोर बेल बजी.

मैंने एक बार और जोर लगाया और इस बार पूरा लंड उसकी गांड में घुसा दिया. फिर एक दिन उसने मुझसे कहा- भाभी, क्या आप मुझसे मिलने आ सकती हो? मुझे बस आपको एक बार देखना है. अगर तुम भी मुझे चाहती हो तो मुझे किस करने से मत रोकना।बेशक मैं नशे में थी मगर बेहोश नहीं थी, मैं वैसे ही लेटी रही.

यु तुबे विडियो डाउनलोड

कुंवर साहब ने कहा- नहीं रसिका बहू, आपको तकलीफ क्यों दूँ, मेरा काम तो देर रात तक चलता है.

अब मैं वापस उसके पीछे खड़ा होकर उसकी गांड को हिलते हुए और मटकते हुए देख रहा था. फिर उसने कहा- पूरी तरह से प्राइवेसी रहे, कोई जोर जबरदस्ती नहीं और मुझे नहीं, मेरी एक फ्रेंड को करना है. उम्म्ह… अहह… हय… याह… मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ क्योंकि उनका लौड़ा ज्यादा मोटा भी नहीं था … तो अच्छा भी लगने लगा.

मैंने अपने मम्मों को सहलाते हुए बोला- ये इतने बड़े हो गए हैं न … इसलिए अपने आप दिख जाते हैं. मेरे कॉलेज में एक प्रोफेसर प्रीति भी हैं, जो मुझ से काफी बातचीत करने का प्रयास करती थीं और मेरे आस पास मंडराती रहती थीं. हिंदी सेक्सी बिहारी वीडियोचार दिन पहले जब उसकी कॉल मेरे मोबाइल पर आयी, तो मेरे लंड ने खुलकर सलामी दी.

मैं तब उठ कर अपना लंड अपने हाथ से तान कर पेशाब करने की तैयारी करने लगा. उन्होंने मेरे लंड को सहलाते हुए कहा- ठीक है … आज हम अँधा प्यार करेंगे.

कभी भी कोई भी परेशानी या तकलीफ हो बेझिझक मुझे बताना, जितना भी मेरे से हो सकेगा, मैं हमेशा मदद के लिये तैयार मिलूँगा. मैं तो अक्सर ऐसे ही मसाज सेंटर पर जाता था जहां पर मसाज हैपी एंडिंग वाली होती है. इससे पहले मैं कुछ और कहती उसने मेरे फोन में अपने लंड की फोटो भेज दी.

उनका 36-26-38 का फिगर बड़ा ही कंटीला और एकदम संगमरमर की तरह गोरा बदन था. दोस्तो, मैं आपका साथी जीशान … इस कहानी का अंतिम भाग लेकर आपके सामने आ गया हूँ. ये कह कर उन्होंने दोनों गिलास में एक एक लार्ज पैग बनाया और मुझसे चियर्स कहा.

एक दिन मैंने भाभी से कहा- भाई को दुकान जाने के लिए मनाओ, फिर देखना तुम कैसे प्रेग्नेंट होती हो.

मामा जी के मारने के बाद गांड असंतुष्ट रह गई थी, प्यास और भड़क गई थी. आई लव यू पुण्या।वह मेरी तरफ देखने लगी।पुण्या- मैं भी आपसे प्यार करती हूँ। लेकिन किसी को पता चल गया तो क्या होगा?मैं- किसी को कुछ पता नहीं चलेगा, हम किसी को बतायेंगे नहीं!और मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और चुम्बन करने लगा.

उसकी चूत को मैंने फैला कर देखा तो दिव्या की चूत पूरी गीली हो चुकी थी. कभी कभी उसकी आवाज नहाते हुए बाथरूम से आती, वो मुझको वहां नंगी मिलती और मैं उसे वहीं दीवार से लगा कर चिपक जाता और बिना समय जाया किए अपना लंड उसकी चूत में पेल देता. तो उसने कहा- होटल में होगा, आप होटल में आ जाइएगा और बाहर आकर फोन करिएगा, मैं रिसीव कर लूंगी आपको.

फिर उन्होंने थूक लेकर मेरी गांड पर लगा दिया और अपने लौड़े पर भी लगा लिया. चूंकि मैं सबसे बड़ी थी, इसलिए मैं भी उनकी चिंता को अपनी चिंता ही समझा करती थी. अब हमें जब भी मौका मिलता, हम चुदाई का ये खेल, खेल लेते और बहुत मज़े करते.

जंगल का सेक्सी बीएफ मिन्नत करने के बाद वो बोली- किसी रेस्टोरेंट में मिलते हैं।इस बात पर मैंने मना कर दिया. आखिर कुछ भी हो … वो है तो एक स्त्री, उसे भी अपनी बसी बसायी दुनिया उजड़ जाने का डर था.

सरसों के खेत पर शायरी

मैंने उसके मुँह से हाथ हटा दिया और उसकी चूत में तेजी से धक्के लगाने लगा. गजन अपनी जीभ को मेरी चूत में घुसा कर अंदर ही अंदर जोर से घुमाने लगा. मैं खुद चुदाई से पूरी मदहोश हो गई थी और मेरे मुँह से ‘अहह अहह उह्ह्ह अह्ह्ह म्मा …’ निकल रहा था.

हमारे घर पर खेती-बाड़ी थोड़ी अधिक थी तो हर वक़्त कुछ ना कुछ अनाज छत पर सूखने के लिए फैला रहता था. मेरे लिए ये सब नार्मल था … क्योंकि वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त थी और हमारी दोस्ती बहुत समय पुरानी थी. पंजाबी सेक्सी मूवी पिक्चरफिर कुंवर साहब ने अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के छेद पर रखा और गांड में घुसा दिया.

उसने कहा- भैया, फिर तो आपकी भी कोई लड़की दोस्त होगी?तो मैंने हाँ कहा और उसे बताया- जब तू भी कॉलेज जाएगी तब तुझे भी पता चल जायेगा।फिर बातें करते करते हम मस्ती करने लगे तो अचानक एक छिपकली उसके ऊपर गिर गयी जिससे वह डरकर मुझसे लिपट गयी और कस कर मुझे पकड़ लिया.

ऐप इंस्टाल कैसे करेंमेरी पिछली सेक्स कहानीमेरी वासना और बॉस की तड़पमें आप सभी ने मेरे बॉस के साथ मेरे सेक्स सम्बन्ध के बारे में जाना था. इसी ख्याल के साथ मेरे लंड में फिर से करंट सा दौड़ने लगा और मैं दोबारा उसके घर पर जा पहुंचा.

अगर ये सही बात है कि तुझे बिना कुछ किए काम मिल गया है, तो वहां पर मेरी भी नौकरी लगवा दो. परीशा अपनी आँखों को खोलते हुए- नहीं नहीं पापा, बाहर मत निकालना … पूरा अंदर कर दो … मेरी फिकर मत करो. बेतहाशा मुझे चूमने लगी, मेरे गर्दन, गले, गालों पर चेहरों पे उसके चुम्बन होने लगे.

कुछ देर तक मेरे ऊपर लेट कर मेरी चूत को चोदने के बाद कबीर ने मुझे उठा कर घोड़ी बना लिया.

राज शायद मुझ पर कभी भरोसा नहीं करता और मेरी चूत, मेरी कामुकता प्यासी ही रह जाती. मुझे खड़ा करके उन्होंने अपनी बांहों में ले लिया और अपने होंठ मेरे कापते होंठों पे रख दिए. जब चार्ली बस तुम्हारे ही नाम की माला जपता था तब तो मेरा शक यकीन में बदल गया था कि तुम दोनों के बीच कुछ ना कुछ तो चल रहा है.

अंग्रेजी में सेक्सी फिल्म वीडियो मेंजब वो मुझे आखिरी बार ट्यूशन के पैसे देने लगे, तो बोले- बेटी यह ना समझना कि तुमको मैं तुम्हारे काम से निकाल रहा हूँ. पता है मेरी गांड के छेद का साइज इतना बड़ा है कि लगभग एक लोटा तो समां ही जाएगा.

करिष्मा कपूर सेक्सी व्हिडिओ

ऐसे करते हुए उन्होंने मुझे इशारा किया कि पीछे से मेरा ब्लाउज खोल दो. मैंने एक दो बार मना किया लेकिन नीचे से कबीर की जीभ मेरी चूत में घुस चुकी थी. आगे क्या हुआ वो अगले भाग में!आप लोगों को मेरी सेक्स कहानी कैसी लग रही है? मुझे बताइयेगा.

धीरे धीरे उसने मेरी मदनमणि को अपने होठों में पकड़ा और उसे जीभ से छेड़ने लगा। मैंने अपने हाथों से उसके बालों को पकड़ा और उसके सर की मेरी चुत पर दबाने लगी. उस दिन वो मेरी साड़ी ब्लाउज़ की तारीफ करने लगे- उज्ज्वला आज तुम्हारी साड़ी बहुत अच्छी जंच रही हैमैं- थैंक्यू सर. जब मैंने नितिन की हरकतों पर ध्यान देना शुरू किया तो मुझे पता चला कि उसको शायद मेरी बड़ी बड़ी चूची बहुत पसंद आ गयी हैं क्योंकि कई बार वो मेरी चूचियों को ही घूरता रहता था.

चाची मुस्कुराकर चली गईं … और मैं भी जल्दी ही सो गया … मैं बहुत थक गया था. वो हैरत से उसकी तरफ देखता रहा और बोला- क्यों मेरे सर के बाल खिंचवाना चाहती हो. मैं भी गाली देते हुए बोली- मादरचोद तू भी चोद ले आज … मैं भी तो देखूँ भोसड़ी के तेरे लंड में कितनी दम है.

पहले तो उसकी चूत का अच्छे से मुआयना किया।कितनी मस्त चूत थी उसकी, दोनो पंखुड़ियां आपस में चिपकी हुई और फूली मानो गेहूँ का बड़ा सा दाना हो। मैंने झांटों को हाथ से किनारे किया तो एकदम हल्के भूरे रंग की दरार दिखी और लग ही नहीं रहा था कि कुछ देर पहले मैंने अपना लन्ड इसमें डाला था. दीदी ने अपनी बाँहें फैला कर मुझे अपने आगोश में भर लिया और मेरे प्यार को अपने प्यार से रंगने लगीं.

उसने अपने मोबाइल में एक फिल्म चला दी, जिसमें एक महिला 2 मर्दों से चुद रही थी.

” मैंने बेड के ड्रावर से निरोध निकाला और अपने लंड पर लगाने लगा।गौरी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- मेरे साजन इसे लहने दो … मैं अपने इस प्रथम मिलन के अहसास और आनन्द को बिना तिसी अड़चन और अवरोध के महसूस तरना चाहती हूँ।कह कर गौरी ने शर्मा कर अपने हाथ अपनी आँखों पर रख लिए।मैंने हाथ में पकड़ा निरोध फेंक दिया और गौरी के ऊपर आ गया- गौरी, अगर कुछ गड़बड़ हो गई तो?तोई बात नहीं … मैं पिल्स ले लूंगी. रिया चक्रवर्ती सेक्सवह है कि इस समस्या को लेकर पुरुष अक्सर शर्मिंदगी महसूस करते हैं और समस्या के बारे में खुल कर किसी अच्छे सलाहकार से सलाह या परामर्श लेने से कतराते हैं. సెక్స్ సెక్స్ ఫిలిం సెక్స్फिर बॉस खड़े हो गए और अपना लंड निकाल कर मुझे बिना बताये, मेरी गांड में घुसा दिया. उसने भरपूर मेरे संतरे चूसे और जाने से पहले मेरे हाथ में एक और पर्ची थमा गया.

इंस्पेक्टर मुझे मना नहीं कर सकता था … क्योंकि वो आज मेरे अंडर ड्यूटी पर था.

जब इस बार छुट्टी पर मैं अपने घर गया, तो मैंने देखा कि इस एक साल में ही रचना का शरीर बहुत ही ज्यादा बदल गया था. इससे पहले मैं इस सेक्स कहानी को लिखूँ, आप सभी को इसके पहले भाग से रूबरू करा देता हूँ. भाभी- अरे ऐसे क्यों बोल रहे हो … क्या मैं इतनी मोटी हो गई हूँ?मैंने कहा- और नहीं तो क्या … आपको देख कर लग रहा है कि मुझे पूरा खा भी जाओगी … तो भी आपका मन नहीं भरेगा.

मैं तो वैसे ही गर्म था तो मैंने भी उनके गालों पे एक गीला सा चुम्बन कर दिया।उन्होंने मुझे अचम्भे से बड़ी आँखें करके देखा तो मैं बोला- आपको भी तो बधाई बनती है, आखिर आपके भांजे को जॉब मिली है. जब पहली दफा मैंने उसके अंडरवियर में हाथ डाला था तो मुझे उसके लंड को छूकर एक करंट सा लग गया था. मैंने अपनी एक दो सहेलियों से नौकरी के बारे में बात की, तो उन्होंने कहा- मिल तो जाएगी, मगर जिसके यहां पर नौकरी करनी होगी, वहां उसके कई उल्टे सीधे कामों में उसका साथ देना पड़ेगा.

सी वीडियो बीपी

तभी मेरी बीवी ने मेरी टी-शर्ट निकाल दी और उठ कर मेरी गोदी में बैठ गई. अब आगे:मैं अब असली लंड की तलाश करने लगी थी, मैं वहां आसपास किसी का भी तो लंड ले नहीं सकती थी क्योंकि इससे पकड़े जाने का खतरा था. तभी मैंने देखा कि मेरी बीवी उठ गई थी और बेडरूम के दरवाजे पर खड़ी हुई अपनी चूत को सहला रही थी.

इसके बाद वो बोली- सुन पूनम, जब तुमको भूख लगती है, तो खाना खाती है ना.

मैंने धीरे से कोई दो तीन अंगुल लंड को बाहर की तरफ खींचा तो इस बार चूत साथ नहीं आयी.

पिंकी ने झट से उतर कर पास रखे टॉवल से अपनी चूत से निकलते सफ़ेद लावे को पौंछा और वही टॉवल राहुल के लंड पर डाल कर वाशरूम की ओर चल दी. वह फिर चिल्लाने लगा- आ…आ… ब…स! लग रही लग रही है, तेरा बहुत मोटा है।मैंने कहा- यार, बार बार गलत समय गांड टाइट करेगा तो लगेगी ही! मेरी तो बड़ी बेरहमी से मारी, अब बहाने बाजी कर रहे है?मामा जी मुस्कराए- यह बदमाशी करता है. इंडियन सेक्सी बीपी दाखवामैंने उससे कहा- मैं सेक्स को लेकर वादा तो नहीं कर सकता लेकिन इतना जरूर कह सकता हूं कि मेरी पैंट की चेन नहीं खुलेगी.

जब मैं सोकर उठी, तो घर में रशीद नहीं था … वो खेतों की तरफ चला गया था. वेरोनिका और मैं एक साथ बाथरूम में चले गए और नहाने के लिए गर्म पानी का फव्वारा चला दिया. मैंने उनके तेज बोली से समझ लिया कि भाभी काफी गुस्से में आती जा रही हैं.

इस बात पर मैं भी हंसने लगा और अपने कपड़े पहन कर हॉल में पानी पीने आ गया जहां संजय ड्रिंक करता हुआ अपने मोबाइल पर बिजी था. यह बात कहते हुए नीलम की साँसें ज़ोर से चल रही थी।बेटी मुझे गलत मत समझना, मगर जब तक समीर न आ जाये हमें एक दूसरे की बांहों में बांहें डालकर सोना होगा.

ये सोचते सोचते मेरे हाथ अपने आप मेरी चूत पर लग गए और मैं गाऊन को हटा कर चूत में उंगली घुसेड़ने लगी थी.

हमने कोई एक घंटे तक सेक्स किया और इतनी देर में वो 3 बार फ्री हो चुकी थी. राहुल ने कहा- ये क्या है जानू?पिंकी ने कोई जवाब न देते हुए राहुल को नीचे बिठाया और अपनी चूत उसके मुँह के आगे कर दी. फिर जब मैं चुत में उंगली करने लगी, तो उसने मुझे रुकने का कहते हुए चला गया.

બબીતા સેકસ नीचे मैंने अपना लंड उनकी जांघों के बीच में सैट करके चुत से सटा दिया और ऊपर नीचे करने लगा. इसको तुम जिंदगी भर के लिए अपनी रखैल बना दो और जब तुम चाहो तब हम दोनों मैं से किसी के साथ भी सेक्स कर सकते हो; या चाहो तो दोनों के साथ एक ही बिस्तर पर …आज तो संजना मुझ पर बम गिराने के ख्याल से ही बैठी थी.

परवीन आंटी के मुँह से प्यारी चीख निकली- आआह …उस चीख से मेरा पूरा बदन खिल उठा. चाचा ऑफिस गए हुए थे और घर वाले रिलेशन की ही किसी पार्टी में गए हुए थे और मैं चाचा को खाना खिलाने के लिए घर में रुक गयी थी. हालांकि मेरी चूत पूरी गीली हो रही थी उसके बारे में सोच सोच कर … फिर भी मैंने जल्दी करना ठीक नहीं समझा.

गधा की चुदाई

उन्होंने जवाब में कहा- हां पता है … और मुझ पर भरोसा करो, समय आने पर सब बता दूंगी. उसने मुझे कहा– कितना देखते रहोगे मुझे?मैंने जवाब दिया– आप मुझे रोको मत, जी भर कर देख लेने दो. मुझे नहीं पता राज किस कोने में पड़ा हुआ था लेकिन कबीर का लंड अब मेरी चूत को फाड़ने लगा था.

दस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद उन्होंने लंड बाहर निकाला और पूरे रसोई में फव्वारा मार दिया. इसलिए हम दोनों भाई बहन आजाद पंछी की तरह अपना जीवन मस्ती से गुजार रहे थे.

जैसे ही लंड चुत में घुसा, भाभी जी ने एक आह निकालते हुए कहा- आह मर गई.

शबनम की चूत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया और इसी के साथ उसने अंकित के लंड से उसके वीर्य को निचोड़ना शुरू कर दिया. उसने कई मिनट तक मेरे चूचों को चूसा और फिर मेरी चूत में उंगली करने लगा. इससे दीदी एकदम से भड़क गईं और उन्होंने लंड चूसते चूसते मुझे काट लिया, जिससे मेरी चीख निकल गई.

इस वक्त मेरे अन्दर तो आग पहले से ही सुलगी हुई थी … मेरे सोचने समझने की शक्ति मानो खत्म हो चुकी थी. फिर नीचे आकर मैं अपनी चूत में उंगली करने लगी और कुछ ही देर में मैं झड़ गई. मैंने उसका घूंघट उठाया और उसके होंठों को चूम कर कहा कि आज की सारी रात मैं तुम्हें बहुत मजा दूंगा.

पहले मेरे सास ससुर ने दु:ख दिया … उसके बाद हम गांव से शहर आए, तो यहां ये बिगड़ गए.

जंगल का सेक्सी बीएफ: मैंने देखा कि ये सुनकर उनके चेहरे पर एकदम से खुशी छा गयी थी और मेरे अन्दर भी थोड़ी सी हलचल मचने लगी थी. चाचा डिनर कर रहे थे और मैं जब उनको परांठा देने के लिए झुक रही थी तो वो मेरी चूची देख जाते थे.

उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया पहले की तरह और उसके ऊपर चढ़ गया। मैंने उसकी जाँघे फैला कर जैसे ही अपना लन्ड घुसाने की कोशिश की तो वह बोली- कितना करोगे, मार ही डालोगे क्या मुझे?मैं बोला- बस अब निकलने वाला है. धीरे धीरे हम इसी पोजीशन में चरम आनन्द पर पहुंचने लगे और हम तीनों एक साथ झड़ने लगे. मैंने हां में हां मिलाई और साथ में माफ़ी भी मांगी कि मेरी वजह से आप दोनों में बहस हो गयी.

उनके वो ब्राउन निप्पलों के चारों तरफ चमकता हुआ उनका ऐरोला मुझे अपनी ओर खींच रहा था.

भाई का अपनी बहन के साथ और बहू का अपने ससुर के साथ चुदाई का खेल अब रोज का ही रुटीन बन गया था. दोस्तो, मैं आपका प्यारा राजवीर एक बार फिर से आप सभी पाठकों के बीच में हाजिर हूं. वेरोनिका थक कर वहीं टॉयलेट शीट पर ही बैठ गई और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.