देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी

छवि स्रोत,निकी बेंज

तस्वीर का शीर्षक ,

जीजा साली की बीएफ एचडी: देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी, सरिता कहने लगी- वो तो ठीक है, लेकिन जल्दी ही कोई दूसरा जुगाड़ कर देना.

मसाज करने की मशीन

मैंने मना किया तो मुझे बांहों में जकड़कर मेरे गालों को चूम लिया और अपना एक हाथ मेरी छाती पर रख दिया. शराब छुड़ाने की टेबलेट कौन सी हैमैं समझ गई थी कि वो क्या चाहते हैं। मैं सुपारे को होंठों पर रगड़ने लगी.

अब मैं गांड में लगा था और विक्रम संजू की चूत में लंड घुसेड़े हुए था. xn xx 2018 मईकोई बीस मिनट तक बहन के दोनों दूध चूसने के बाद मैं सबीना के पेट को चूमने लगा.

मैं भी भाभी के बूब्स और निप्पल्स से खेल रहा था, उनके निप्पल्स भी कड़क होने लगे थे.देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी: अब आप जाओ यहाँ से! मुझे घर के काम निपटाकर ऑफिस का काम भी करना है, मैं पहले से ही लेट हो चुकी हूँ.

यहां मैं आप को बता दूं कि मेरे घर में मां पिताजी, भैया भाभी और मैं रहते हैं.मैंने कहा- आपने भी चुदने का पूरा मूड पहले से बनाया हुआ था, इसी लिए चाय के लिए बुलाया था.

चोपड़ा सेक्सी फोटो - देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी

दो मिनट बाद ही मैंने अपना कंट्रोल खो दिया और अब मेरे लौड़े से ज्वालामुखी फूट पड़ा.तुझे चोद कर तो मैं अपने आप को किस्मत वाला ही समझूंगा।उन्होंने बुर को फैलाते हुए देखा और बोले- वाह … इतनी सुंदर बुर … वह भी कुँवारी!!फिर वो मेरी बुर पर झुकते चले गए और अपना मुँह मेरी बुर पर लगा दिया।बहुत प्यार से वो मेरी बुर को मलाई की तरह चाटने लगे। मुझे पहली बार एक अजीब सा मजा मिल रहा था। मेरी जाँघें अपने आप कांपने लगीं।वो अपनी जीभ को बुर की पंखुड़ियों पर फिरा रहे थे.

पर इस दौरान उस बुजुर्ग व्यक्ति ने एक काम बढ़िया किया; उन्होंने हमसे पूछा- बेटा क्या आप ऊपर वाली सीट पर चले जाएंगे!तो इस पर वंदना ने झट से कह दिया- हां अंकल ठीक है. देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी भाभी मुझे सॉरी बोलने लगीं- आज प्लान किया था … लेकिन कुछ नहीं हो पाएगा.

मेरा स्टैमिना भी बहुत ज्यादा है क्योंकि मैं हस्तमैथुन नहीं करता हूँ.

देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी?

मुझे आपके प्यार भरे मेल मिले, जिसके लिए आपका राज दिल से धन्यवाद करता है. जब उसके लंड का टोपा मेरी बेटी के कोमल से मुंह में जाता तो उसके गाल फूलकर गुब्बारा हो जाते थे. उन्होंने अपने दूध दिखाते हुए कहा- चल अब मेरे पैरों की भी मालिश कर दे.

उसके मुँह से ऐसा सुनकर मैं उठ कर हेलीमा के पास आ गया और उसके होंठ चूसने लगा. एक दिन दोपहर में उसने मुझे वीडियो कॉल किया और हम उसी तरह की बातें कर रहे थे कि उसी समय मेरे पास प्रीति आ गयी. इस बार देर न करते हुए मैं उसकी टांगों के बीच आ गया और मोर्चा संभाल लिया.

इन सब बातों में मैंने आपको उनक नाम तो बताया ही नहीं!उनका नाम धीरेन्द्र प्रताप सिंह था. हॉट चुत सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मुझे एक तलाकशुदा भाभी के साथ सेक्स करके उसकी वासना को शांत करने का मौक़ा मिला. मैं सिमरन … आप सबने मेरी पिछली कहानीइंडियन बीडीएसएम गर्ल का कॉर्पोरेट बॉय संग मजापढ़ कर मजा लिया.

मैंने अदिति की चूचियां मसलते हुए कहा- देखो अदिति, मेरा लंड तो पहले से ज्यादा ज्यादा और लंबा हुआ ही है लेकिन तुम्हारी चूत भी एक साल तक ना चुदने की वजह से कुछ सिकुड़ गयी है. लेकिन मैं ऐसे बर्ताव कर रहा था कि उसके मम्मों पर मेरा ध्यान है ही नहीं.

उसकी चूत के आस-पास चूत का रस और विक्रम के वीर्य का मिला जुला पानी जो कि सूख गया था, लगा हुआ था.

पैसे देने की बात करोगी, तो मैं तुम्हें बाईक पर लेकर नहीं जा पाऊंगा.

रेशमा ने भी उतनी ही शिद्दत से मेरे चुम्बन का उत्तर देते हुए अपनी जीभ मेरे मुँह में देकर रोक दी. इस जोरदार आक्रमण से रेनू चीख पड़ी और मुझे कसकर दबोच लिया।मैंने उसके खड़े हो चुके चूचकों को चूसना शुरू कर दिया. इस बार आंटी जोर से हंस कर बोलीं- हां यार, आज मॉर्निंग में ही बना लिए थे.

[emailprotected]पड़ोसी की चुदाई कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में चुदासी भाभी और दो लड़कियों की चुदाई- 2. रेशमा- हेलो सर, मैं रेशमा बोल रही हूँ, आप कहाँ हैं?मैं- क्यों क्या बात है?रेशमा- सर कुछ पेपर हैं जिन पर आपके दस्तखत चाहिए. विपिन भी हल्के हल्के से ‘आहह … आहह …’ कर रहा था क्योंकि उसे भी अन्दर डालने में थोड़ा दम लगाना पड़ रहा था.

फिर चाहे कोई भी हो- जीजा की बहन, दीदी की देवरानी या जो भी लन्डखोर औरत मिले सबकी चुदाई करने की इच्छा रखता हूं.

उसके पीछे मकान मालिक और उनकी‌ पत्नी भी चले जाएंगे, तो कल घर पर कोई‌ नहीं रहेगा. मैं उनको किस करने लगा और साथ ही उनके चूचे दबाने लगा ताकि उनको ज़्यादा दर्द ना हो और वो भी चुदाई के नशे में डूब जाएं. रचना पागल सी हो गयी- ओह बेबी … आह बेबी … आह उम्म बेबी चूसो और चूसो!वो मेरे सिर को पैरों से चूत पर दबा रही थी.

मैंने कहा- अरे रमा, तुम नहीं जानतीं वो कितना बड़ा हरामी है!! हमारी सोनी उसको कैसे झेल पायेगी. यहाँ तक कि उसने दो अधेड़ उम्र की औरतें भी, जिनके बड़े बड़े बेटे हैं, पेल कर रख दीं. चारों उंगलियों को उसने मेरी गीली चूत के पानी से भिगो दिया और दुबारा से मेरी पैंटी में से हाथ निकालकर चारों उंगलियां अपने मुंह में लेकर मेरी चूत के पानी को चाट लिया.

कोई पांच मिनट तक ऐसे करने के बाद मैंने स्पीड बढ़ा दी और आंटी ने भी अपनी टांगें फिर से चौड़ी कर दीं.

आप लोगों के पास इस समस्या का कोई इलाज हो, तो मुझे कृपया मेल करके बताएं. उसके बाद उसने मेरी गांड में उंगली दे दी और खड़े खड़े ही मेरी गांड में उंगली करने लगा.

देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी मेरे पूछने पर उसने बताया कि वो अपने कॉलेज की लड़कियों के साथ सीख गई थी. वो मेरे लंड को सहलाने लगी और मेरा लौड़ा खड़ा हो गया।मैंने आंटी को लंड पर झुका दिया.

देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी अब वो मस्त हो चली थी, तो मैं धीरे धीरे लंड को चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. कि सोनल के मोबाइल पर मामी का कॉल आया- क्या कर रही हो, सोनल?पढ़ रही हूँ, मम्मी.

वैसे मैं चूत चाटने का बहुत शौकीन हूँ … मुझे चूत चाटना बहुत पसंद है.

इंडियन सेक्सी व्हिडिओ मराठी बीपी

जब उसे लगा कि मैं सॉरी बोल रहा हूं तो उसकी थोड़ी हिम्मत बढ़ी और वो शर्माते हुए बोली- ये बात भी बड़ी मेम साहब से छुपानी है? आप ये सब भी देखते हैं?मैंने कहा- तो क्या करूँ … अब जब तक शादी नहीं होती तो यही करना पड़ेगा. उस दिन काम निपटाते निपटाते रात के 11 बज गए थे, समय का पता ही नहीं चला था. मैं उसे चोरी छुपे देखता रहता था और वह भी मुझे कमोवेश कुछ इसी तरह से छुपी हुई नजरों से देखती रहती थी.

जब मैंने कारण पूछा तो सोनी ने बताया कि पहली बात लड़का उससे 6 साल बड़ा है और दूसरी बात लड़के की मां को ऐसी बहू चाहिए, जो 5-6 घंटे की नौकरी करके घर आ जाए. वो हर बार मुझे यही भरोसा दिलाती कि वो जल्दी ही मेरे पास हमेशा के लिए आ जाएगी. अब हम दोनों किस करते हुए हाथ से एक दूसरे के जिस्म को ऊपर नीचे छूते हुए किस कर रहे थे.

फिर मैंने सोच लिया कि अब जब विजय से चुदना ही है तो फिर शर्म करने से क्या फायदा?मैंने अपनी चूत को आधा ढका और आधे से कम बूब्स को तौलिये से ढक कर तौलिया बांध लिया.

आप अपने पेरेंट्स को बुलवा लीजिए और बात पक्की करने के बाद कुछ ही दिनों में यह काम पूरा कर दें. वो बोली- हट … बदमाश।!भाभी बात पलटने लगी तो मैंने धीरे से अपना एक हाथ भाभी के बूब्स पर रख दिया और धीरे से दबा कर कहा- देख कर बताओ ना भाभी … मुझे भी तो पता चले कि मेरा कितना बड़ा है. वो गपागप … गपागप … लंड चूस रही थी।मैंने 2 उंगलियों से चोदना शुरू कर दिया.

मैंने पूछा- मगर क्या!तब उसने मुझे अपनी बांहों में भींचते हुए बोला- इस तरह से. फिर तो भाभी में भी जोश आ गया और वो अपने गांड को आगे पीछे करके मेरा लंड अपने आप अंदर ले रही थी. उसको चुदाई का स्वाद मिल गया और उसने खुद ही अपनी गांड को उठा उठा कर चुदवाना शुरू कर दिया.

मैंने आह करते हुए अपने लौड़े का रस उसके मुँह में ही निकालना शुरू कर दिया. मेरी लम्बाई 6 फुट 5 इंच है, मेरा शरीर मांसल है, मैं नियमित रूप से दौड़ लगाना और वज़न उठाने वाले व्यायाम करता हूँ.

उसकी टांगें कांपने लगीं तो मैंने उसकी कमर में हाथ डालकर उसे सहारा दिया. जबकि वो तीनों मेरी मॉम के कमरे में पूरे नंगे होकर अपने लम्बे लंड हाथ में लेकर खड़े हो गए थे. लन्ड सरसराता हुआ भाभी की चूत में चला गया।भाभी के मुँह से एक हल्की सी चीख निकली।मगर साथ ही एक मजा भी उनके चेहरे पर दिखा.

कुछ देर बाद वो पलटी, तो मैंने भी जानबूझकर अपना एक हाथ उसके मम्मों के ऊपर रख दिया और हल्का सा हिला कर हटा दिया.

फिर जैसे एक शेर अपने शिकार की तरफ बढ़ता है, वैसे ही मैं धीरे धीरे उसकी ओर बढ़ने लगा. शायरा ने पता नहीं मेरी आवाज पहचानी भी थी या नहीं, ये तो मुझे नहीं पता. यामिना बस अपनी पियोन वाली ग्रे यूनिफॉर्म की वजह से मेरा ध्यान आकर्षित नहीं कर सकी थी.

फिर मैंने छत पर जाना बंद कर दिया और अगर छत पर जाता, तो भाभी से बात नहीं करता. मैंने आपा से पूछा- फिर से चुदवाने का इरादा है क्या?तो आपा बोली- हां और सिर्फ आज ही नहीं, पूरी जिंदगी भर तुमसे चुदूँगी, वो भी तुमसे निकाह करके तुम्हारी बीवी बन कर तुम्हारे लंड से चुदाई का मजा लूंगी.

अगर कमी मेरे भैया में थी, तब भी आपने परिवार की इज्जत की खातिर किसी से कुछ नहीं कहा. मैं उनकी बातें सुनकर खुश हो गया, लेकिन मैंने अपनी ख़ुशी को संभाला और फूफा जी से कहा कि फूफा जी, मैं अपने घर पर बात करके बताता हूँ. भाभी की चूत पानी से लबालब भरी हुई थी जिसे मैं जीभ से चाट चाट कर साफ़ कर रहा था।साथ ही साथ भाभी के चूचों को दबाये जा रहा था।भाभी ने कहा- दीपू, प्लीज अब चोद भी दो यार! अब कण्ट्रोल नहीं हो रहा.

ക്ഷ്ന്ക്ഷ്ക്ഷ്

दोस्तो, मैं राज आपको अपनी पत्नी की सुहागरात में हुई उसकी चूत गांड चुदाई की कहानी सुना रहा था.

भईया किसी कम्पनी में अच्छी पोस्ट पर हैं, उनका काम फील्ड का ज्यादा रहता है तो वो हफ्ते में 4 दिन घर से बाहर ही रहते हैं. थ्रीसम चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपनी गर्लफ्रेंड की दो सहेलियों को एक साथ चोद कर मजा दिया. अन्तर्वासना की इस फ्री कहानी में अपने पढ़ा कि मैं अपनी भाभी के भाई से चुदाने को तैयार थी.

अगली बार उसने अपने दांतों में स्ट्राबेरी पकड़ ली और मेरी तरफ करने लगी. उन्होंने बाथरूम का दरवाजा पूरा बंद नहीं किया था, लगभग 6 इंच खुला था. ब्लू पिक्चर चलाओ… और कहते हुए उसने मेरे लिंग को मुँह में भर लिया।एक लाजवाब मुखमैथुन के बाद हम दोनों ने काफी देर तक आराम किया।फिर उसने पूछा- खाने में क्या खाओगे?जो तुम अच्छा बनाती हो वो बना लो.

फिर मैंने अचानक से आंखें पूरी खोल दीं और नींद से उठने का नाटक करने लगा. मुझे आज भी याद है … जब मुझे ताई जी ने अपने पीठ की मसाज के लिए पहली बार अपने कमरे में बुलाया था.

तो उन्होंने अपने लॉलीपॉप को निकाल लिया और कहा- कैसा लगा दूध?मैं रो रहा था, तो भैया ने मुझे मनाने के लिए चॉकलेट दी … पर मेरे मुँह अभी भी दर्द हो रहा था. यह कह कर आँटी ने लंड के दबाव से चूतड़ों और चूत में फंसी स्कर्ट को अपनी टाँगें थोड़ी चौड़ी करके एक हाथ से आगे से और दूसरे हाथ से पीछे से निकाला और बाथरूम चली गई. ”ममता ने गहरी सांस लेते हुए कहा‌ और मेरे एक गाल को जोरों से चूम लिया.

वो मेरी गांड में तेल लगाकर अपना लंड धीरे-धीरे मेरी गांड में डालने लगा. तुम बस अपने हाथ से उस लॉलीपॉप को पकड़ कर चूसना; तुम्हें वो बहुत मुलायम लगेगी. कोटा में कोचिंग वाले बच्चों की भरमार थी अतः पीजी रखना और मकान किराये पर देना वहाँ का बिज़नेस है.

आह पेलो इसको जीजू प्यारे … आह और अच्छे से पेलो … पूरी दम से चोदो अपनी रंडी साली को.

कोई पांच मिनट की किसिंग के बाद मैंने उससे कहा- सिर्फ़ किस ही होगा … या और कुछ भी होगा?उसने कहा- किसी ने आपको रोका है क्या? जो करना है कीजिए, पूरी छूट है. 45 बजे उसकी कॉल आयी और मैं उस रास्ते पर निकल पड़ा जिस पर पर मैंने कई बार कल्पनाओं का सफर किया था।दरवाजे पर पहुंचकर कांपते हाथों से डोरबेल बजाई.

गाँव की लड़की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोसन लड़की ने एक दिन खुद ही मुझे अपने बाथरूम में बुला लिया. मैंने आँटी को फिर उठाया और उसी तरह उनके हिप्स में अपना लण्ड डाल दिया. उसे असीम आनंद की अनुभूति होने लगी थी।इसी समय मैंने उसे रसोई की स्लैब पर पूरा झुकाया और चिकने लिंग को गुदाद्वार में धीरे से घुसाना शुरू कर दिया.

अब बस एक महीने के आराम के बाद मुझे भाभी की चुदाई का मजा मिल जाएगा, ये तय हो गया था. वो बोलीं- तू पागल है, मैं मम्मी हूँ तेरी, किसी को पता चल गया तो?मैंने कहा- कौन बताएगा. मैंने ममता के होंठों‌ से चूमना शुरू किया था … मगर धीरे धीरे उनकी भरी हुई चूचियों पर से चूमते चाटते मैं अब उनकी चुत पर आ गया.

देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी मैं फिर से अपनी एक और नई कहानी के साथ हाजिर हूं जो मेरे साथ ज्यादा दिन पहले नहीं घटी है। यह साल 2019 के सितंबर महीने की घटना है।आपने मेरी पिछली कहानीतन्हा चूत की प्यास लंड से बुझीको खूब पसंद किया. मेरे हाथों से चूचे दबवाते हुए अब मोनिका की सिसकारियां निकलने लगी थीं.

सेक्सी बड़े बूब्स

वह अब बेजान सी हो गई थी, पर उसके होंठों ने भरपूर जवाब दिया कि अभी वह मेरे साथ ही है. जिसमें खुल करचुदाई की बातेंलिखी जाती हैं, वही सेक्स कहानी अच्छी लगती है. मेरे ताऊ जी सक्रिय राजनीतिज्ञ है, जिस कारण वो घर में बहुत कम ही रहते हैं.

मुकेश- तो फिर बेडरूम में चलते हैं ना?संगीता- मुकेश की गोद से उछल कर खड़ी हुई और कहने लगी- ऑफिस नहीं जाना क्या?उसने मुकेश का लंड पकड़ कर निचोड़ दिया. जिस रूप की देवी को मैं अपने इतने करीब रहते हुए पूज सकता था, मैं उस मौके से चूक गया. सील तोड़ दो”ये सुनकर रचना के चेहरे पर मुस्कान आ गयी- तो बेबी तुम्हारी आज मीटिंग नहीं है?जानू, जरूरी मीटिंग है ना … मेरे लंड की तुम्हारी चूत के साथ मीटिंग है.

फिर उसने एकदम से लंड उसकी योनि में अंदर तक पेल दिया और वो नीचे लेटी महिला चिल्ला उठी- बस … आह … बस … धीरे … ओह्ह … नहीं!मगर लौंडा पूरे जोश में था.

मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और लुंगी लपेटकर मामी के पीछे लेट गया. मैं उस समय लंड हिलाते हुए सोचता था कि कोई तो इसके चुचे चूसता होगा, कोई तो इसको इतनी मोटी गांड मारता होगा.

सुरेश ने झटके मारे तो सोनी चिल्लाने लगी- नहीं … अंकल नहीं … अंकल आह्ह … नहीं … बहुत मोटा है … प्लीज नहीं!सुरेश ने उसे समझाया- सोनी चुप … बस बस … हो गया है. थोड़ी देर बाद छोटी लड़की बाहर आई और मुझे बाल्कनी के पास झुक झुक अपने बड़े बड़े चुचे दिखाने लगी. मैंने कहा- क्यों पहले किसी ने नहीं किया?वो बोलीं- सच में तेरी कसम आज … पहली बार तूने ही नीचे किस की है.

वो सामने वाले सोफे पर बैठते हुए बोली- तेरे भैया को पता चल गया तो डेरी बंद करवा देंगे.

मुझे देर हो रही है।फिर सन्नी एक ही झटके में अपने सारे कपड़े उतार दिए।उसका लन्ड तो एकदम सलामी दे रहा था। जिसे देखकर मैं बहुत खुश हुई।वो अपने लन्ड को मेरे मुँह के पास लाया और बोला- इसे गीला कर मेरी रानी अपने मुंह में लेकर!लेकिन मैंने उसे मना कर दिया और वो मान भी गया।फिर उसने एक क्रीम उठायी और बड़े ही प्यार से मेरी चूत पर और थोड़ी अपने लंड पर लगा ली. अब मैंने पापा की वो फ़ाइल काफी कागज़ों के नीचे दबा दी और अंकल का इंतज़ार करने लगी. रास्ते से मैंने विपिन से पूछा- सेक्स करने के लिए तुम अपनी गर्लफ्रेंड को ट्यूबवेल पर ले जाते होगे ना!विपिन बोला- हां कभी कभी … वरना ज़्यादातर तो गन्ने के खेत में ही कर लेता हूँ.

र्पोन क्या है wikipediaइस तरह से अचानक से हाथ रख देने से भाभी थोड़ा चौंक गईं और धीमे से बोलीं- क्या कर रहे हो?मैंने भी कहा- क्या भाभी अब मुझसे क्या शर्माना … और वैसे भी मुझसे आपका दर्द देखा नहीं जाता है. इसलिए आज तेरे मामा और सोनल को दूध में नींद की दवा मिलाकर पिला आई हूँ.

मॉम सोन सेक्स स्टोरी

थोड़ी ही देर में उसने मेरे लिंग में फिर रक्तसंचार भर दिया और वो पुनः चढ़ाई के लिए तैयार हो गया।मैंने रेनू को सीधा पीठ के बल लिटाया. मेरा लंड तो कब से आपके लिए तैयार था।उन्होंने कहा- अच्छा जी, ये बात है! सच कहुँ दीपू, जब से मैंने तुम्हारा लंड उस दिन कच्छे में खड़ा देखा था, तब से मैं तो यही सोच रही थी कि ये कच्छे में इतना हॉट लग रहा था तो बाहर आने के बाद कैसा लगेगा. उनका रंग एकदम गोरा है, शरीर एकदम पतला सा और चूचियां भी छोटी छोटी हैं.

पर बड़ी हिम्मत थी उसमें … उसने पूरी कोशिश से अपनी आवाज को रोका हुआ था. इन सेक्स सम्बन्धों में मेरी ताई ने पहल करके मुझे उनके साथ सेक्स के लिए बढ़ावा दिया. बहुत दिनों के बाद किसी जवान लंड से चुद रही थी मैं!फिर एकदम से मेरी आंखों के सामने जैसे अंधेरा छा गया.

वो मेरी बात से काफी खुश हो गई और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरी तरफ आशा भरी नजरों से देखने लगी. वहशी दरिंदे की तरह मैं रेशमा की कमसिन फुद्दी को चाट कर फांकों को मुँह में भर कर खींचते हुए चूसने लगा. वो गपागप गपागप करके मेरा चूसने लगी।मैंने उसे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया.

सुरेश अब हिल नहीं रहा था उसने सोनी के होंठ प्यार से तीन चार बार चूमे और उसके गाल थपथपाये. उसने वहां किसी के साथ मुँह नहीं मारा होगा, इसलिए वो मेरी चुत पर टूट पड़ा.

शायद मेरे लिंग ने उसके नितंबों को थोड़ा चौड़ा कर दिया था। मैंने चाय बनने के समय में उसके नितंबों को चूमा और सहलाया.

आपा वैसे भी घर में ऐसे ही कपड़े पहनती थी मगर आज तो वो और भी ज्यादा हॉट लग रही थी. मोगली जंगल बुकमैंने भाभी को घोड़ी बना कर लंड को उनकी गांड में एक ही झटके में डाल दिया. सेक्सी भेज दोयह शायद इस वजह से हो सकता है कि मुझे बहुत दिनों बाद किसी मर्द का स्पर्श हुआ था. उस दिन शाम को उसने ये निश्चित कर दिया कि वो कल जा रही है अपनी मां के साथ.

थोड़ी देर तक मैंने भी विरोध सा किया और ‘उन्हहह … उन्हहह …’ करती हुई उसको खुद से अलग करने की कोशिश करती रही.

इसके बाद बहुत अच्छा सा मेकअप किया मैंने।चूँकि मैं आज बहुत दिनों बाद ऐसे तैयार हो रही थी तो मुझे तैयार होने मे मज़ा भी आ रहा था और साथ ही होने वाली चुदाई का रोमांच मेरी चूत को बार बार गीला कर रहा था।मैंने अपने आप को एक माल बना लिया था जिसे देखकर धीरू अंकल का पैन्ट में ही पानी निकलने वाला था. जैसे ही चुदाई खत्म हुई, रूपा का फोन आया और बोली- लंच तैयार है, जल्दी से आ जाओ. सुरेश साला एक तगड़ा मर्द था और हर तरह से डील डौल में भी उसका कोई मुकाबला नहीं था.

मगर उस समय तो मुझे भी उसकी चुदाई पराये मर्द से देखने में असीम आनंद आ रहा था. मैं भी एक अनजानी सी खुमारी में डूबने लगा; मस्त आनन्द की गहराई में खोने लगा. प्रियंका बोली- कमीनी ने पूरा लंड कैसे ले लिया?इसी बीच मैंने और प्रियंका ने जगह चेंज कर ली.

jio के सेक्सी वीडियो

उसके पेट की नाभि में अपनी जीभ घुसा घुसाकर उसे गर्म करने लगा।अब मैंने उसकी चूत पर सलवार के ऊपर से ही हाथ रख दिया. अगर आपको ठीक लगे, तो मैं इसको अपने घर ले जाता हूं … ये वहीं पर सो लेगा. तू इसे बाहर निकाल ले … आह मर गई … तेरी कसम चुत में बहुत दर्द हो रहा है.

मैंने उनसे कहा- क्या विचार है, लेना है या मुँह से ही चुसवा कर काम खत्म कर दूँ?वो बोले- बेटा, अभी तो मुँह से ही चूस ले … बड़ा मजा आ रहा है.

”तुमने इतना मस्त माहौल बनाया है तो मैंने भी इस माहौल और मजेदार बनाने के लिए कुछ किया है.

पिछले पांच सालों में हम मुम्बई के लगभग सभी प्रसिद्ध जगहों पर घूमने गए और कई बार हम मुम्बई के बाहर भी जाकर आए. आज मैं आपको बताने वाली हूँ कि कैसे मैंने एक गैर मर्द के साथ रात बिताई और मेरा वो अनुभव कैसा था. चोदाचोदी व्हिडिओ चोदाचोदीइधर मेरा भी लंड पानी छोड़ने को तैयार हो गया था, तो मैंने लंड बाहर निकाला और उसके पेट पर ही सारा माल गिरा दिया.

कुछ तो आगे बोलिये?उधर से एक लड़की की आवाज आई- आप कौन हैं और कहां के रहने वाले हैं?उसने मेरा नाम और शहर का नाम पूछा तो मैंने उसको बता दिया. तो मैंने एक थोड़ा जोर से झटका मारा और आधा लंड भाभी की चूत के अंदर समा चुका था. एक दिन मैंने कहा- आप मुझे भी घर के काम बता दिया करो, मैं आपकी हेल्प कर दिया करूँगा.

मैं चचा के सामने अपना पजामा खोलने लगा तो चचा मेरी तरफ ही देख रहे थे. तो दोस्तो, इस बार आपको सेक्स कहानी में कैसा लगा … प्लीज़ मेल करना न भूलिएगा.

ऑफिस लेडी सेक्स कहानी में मैंने बताया है कि मैं बदली पर कम्पनी के बैंगलोर ऑफिस में गया तो वहां कई लड़कियां थी.

मैंने उसे थोड़ी सी जगह दी, तो वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए लंड की मुठ मारने लगी. वे सचमुच देवता पुरूष थे, इसी बात ने उनके प्रति के मेरे प्यार को बढ़ा दिया था. मैं उसकी क्लिट को बार बार जीभ से कुरेदते हुए उसकी चुत को भड़का रहा था.

सोनिया सेक्सी भाभी- आआ आआहह आअहहा कसम से तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है और तुम बस मेरी चुदाई जल्दी जल्दी करते रहो. मैंने उसकी तमन्ना कैसे पूरी की? मजा लें!मित्रो, मैं विवान अपनी सेक्स कहानी में चुदाई का रंग भरने एक बार फिर से हाजिर हूँ.

अब ज्यादा देरी न करते हुए मैंने उसे बेड पर लेटाया और उसकी गांड के नीचे दो तकिये लगा दिए. संजू बोल उठी- नहीं नहीं … तुम्हारा बहुत बड़ा लंड है … प्लीज तुम नहीं. उसकी आंखों में वासना और प्यास के डोरे तैर रहे थे।उसकी साड़ी को उसके मादक जिस्म के आगोश से मैंने अलग किया.

वीडियो डॉट कॉम सेक्सी वीडियो

अब उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हें यह लॉलीपॉप केवल चूसनी है … खानी नहीं है न दांत से दबानी है, इसे चूसने के बाद इसमें से अपने आप दूध निकल आएगा. एक दिन वो अपने आप ही बोली- क्या हुआ, तुम तो ग्रुप सेक्स करवा रहे थे?मैंने उसे तुरंत अपनी बांहों में ले लिया और उसे नंगी करके खूब चूमा. ये सुनकर उन्होंने आगे बढ़ कर मेरे एक गाल को चूम लिया और वो बाहर आ गए.

करीब 20 मिनट तक चूत चुदाई के बाद मैंने पूरा माल उसकी चूत में भर दिया. मम्मों पर उसका पारदर्शी दुपट्टा जो उसके डीप गले को ढकने की नाकाम कोशिश कर रहा था.

इस छत के चारों तरफ एक तो वैसे ही काफी ऊंची-ऊंची दीवारें हैं ऊपर से एक कोना ऐसा है कि वहां कुछ भी होता रहे किसी को कुछ नहीं पता चलेगा.

भाभी लेटे-लेटे ही मेरे लंड से खेलने लगीं, जिससे लंड फिर से खड़ा होने लगा. पहले तो सोनी ने एक झटके से हाथ बाहर निकाला मगर सुरेश ने उसके चूतड़ चौड़े किये और फिर अपना चेहरा दाएं बाएं किया और उसकी चूत-गांड को चाटकर सोनी की सिसकारी निकाल दी. मैं दो मिनट के लिए उसी के जिस्म पर ही लेट गया और उसके एक गोलमटोल मम्मे को चूसने लगा.

फिर मुझसे रुका नहीं गया तो मैंने उसके सिर को बालों से पकड़ा और अपनी चूत पर दबा दिया. जब मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आया और मेरा लण्ड अकड़कर मूसल जैसा होने लगा. एक दिन तो मैं सीधा बेड से उठकर अंडरवियर में ही उसके सामने वॉशरूम में गया.

वो बोली- ये सब क्या है हनी!मैंने कहा- चलो तो यार … तेरे लिए कुछ सरप्राइज है.

देसी बीएफ वीडियो एचडी मूवी: मैंने प्रियंका की गांड में जैसे ही लंड डाला … वो मजे से कराह उठी- आह जीजू … बहुत अच्छा लग रहा है. दरअसल ज़िन्दगी की भागदौड़ में कुछ यूं उलझ गया था कि कहानी लिखने का वक़्त ही नहीं मिला। इस बीच कुछ बहुत अच्छे अनुभव भी हुए और उन सबकी कहानी भी आप सबको सुनाऊंगा।कहानियों का नया सिलसिला शुरू करने से पहले हम पिछली कहानी को पूरा कर लेते हैं.

देखते ही देखते मेरी जवान बेटी के मुंह से आह्ह … आह्ह … की आवाजें आने लगीं. हमने जम कर एक दूसरे के होंठो को चूसा जैसे हम जन्मों जन्म से प्यासे हों. उस पर उसके चूचों पर टंके हुए भूरे दाने, किसी पहाड़ की चोटी की तरह खड़े अपने आपको फतह किए जाने का इंतजार कर रहे थे.

मैं आपको अपनी सहेली की एक दोस्त की कहानी बता रही थी जो मुंबई में नौकरी करने गयी थी.

वो बोली- एक जवान लड़की आपके साथ है और आपका कुछ मन नहीं कर रहा है?अब वो पूरी तरह खुलने लगी थी मगर मैं उसको और ज्यादा खोलना चाह रहा था. मैंने थोड़ा सा आँटी के घुटनों को मोड़ा तो चूत का बीच का हिस्सा दिखाई देने लगा. अगली बार मैं आपको अपनी विधवा रेखा बुआ और पूजा बुआ की एक साथ चुदाई की कहानी को लिखूंगा.