हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,अंडरटेकर की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

किन्नर के सेक्स वीडियो: हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ, मेरी इंस्टाग्राम की आईडी है charliejoseph390मेल आईडी है[emailprotected].

ससुरा और बहू की सेक्सी पिक्चर

इसके बाद उस दिन मैंने रश्मि को दो बार और चोदा … और उसको बार बार अपनी रखैल रंडी बोलने लगा … कभी कुतिया कहता, कभी कुछ. भाभी ननंद का सेक्सी वीडियोफिर भी कंट्रोल करते हुए मैंने अपने अंगूठे को बहन की गांड के अन्दर डालते हुए कूल्हे पर दांत गड़ाना शुरू कर दिया। पर वो ब्राउनिश छेद मुझे बेचैन किये जा रहा था। शुभ्रा अब अपना सब दुख दर्द भूलकर उसी पोजिशन में खड़ी रही और स्स.

स्थिति ऐसी हो गई कि एक दिन सुबह दूध लेने के लिए निकला तो गुप्ताइन अपनी किचन में खड़ी दिख गई. वीडियो में सेक्सी गाना चाहिएअब उसका दर्द कम हो गया था और वो अपनी आंख बंद करके मेरे नीचे पड़ी थी.

मैं उनके लण्ड को पूरी तन्मयता के साथ चाटने चूसने लगी, अंकल जी चुपचाप बुत बने खड़े रहे.हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी? अगर कहानी अच्छी लगी हो तो मुझे मेल जरूर करना.

मैं अमित की बांहों से उतरी और अलमारी से अमित के लिए कपड़े और अपने लिए अपने सहेली का नाइट सूट लाई.उन्होंने इतनी जल्दी मेरे सारे कपड़े उतार दिए कि मुझे कुछ पता ही ना चला.

घड़ी से वीडियो सेक्सी - हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

उसको ऊपर उठाते हुए मैंने उसकी ब्रा को खोल दिया और उसके बोबों को आजाद कर दिया। कुछ देर तक उसके चूचों को मसलते हुए बारी-बारी से चूसा और फ़िर मैंने उसकी पैन्टी उतार दी.मेरी बोली- कितनी सेक्सी लग रही हूँ?मैंने उसकी चूचियों पर हाथ डाल दिया और दबाते हुए कहाब- बिल्कुल सन्नी लियोनि सी माल लग रही है.

मैंने अपने घर में अच्छे से सब कुछ कर दिया और अपने बेडरूम का बिस्तर भी ठीक कर दिया. हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ केवल चूत की चुदाई की थी। दोनों संतुष्टि वाली चुदाई करके सो गए। फिर मैं सुबह 4:00 बजे के अलार्म बजने का इंतजार करने लगा.

बड़ा पेग मार कर मैं बोला- मेरी चुदाई में रोयेगी तो नहीं? मुझे पिटाई करने, सख्त बूब्स को दांत से काटने में तुझे पीड़ा होगी.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ?

एक हफ्ते बाद हम रोज जब भी उसका भाई पी कर आता, हम 12 बजे बाद या सुबह 2-3 बजे उसकी छत पर मिलते. थोड़ी देर तो उसने बर्दाश्त किया, पर अन्त में चिल्ला पड़ी- अबे भोसड़ी के तेरा लंड क्या पूरी ताकत मेरी चूत चोदने में लगाएगा, लौड़े के. मैंने लुंगी में हाथ डालकर जांघिया को नीचे कर दिया … और लंड को आजाद कर दिया.

ये देखकर मैं बैठी सी हुई और अपने दोनों मम्मों से उसके लंड को मसलने लगी. एक बार हमने फाइव सम भी किया था, वो ग्रुप सेक्स कहानी मैं आप लोगों को अगली बार की कहानी में बताऊंगा. तभी मेरे बॉयफ्रेंड ने मेरी ब्रा और पेंटी को निकाल दिया और मैं उसके सामने पूरी जन्मजात जैसी नंगी हो गयी.

आआईई ईई … अमित …” करके भाभी ने मुझे झटके से अपने से अलग किया और खड़ी हो गईं. उसके बाद हम दोनों गाड़ी की तरफ जाने के लिए चलने लगे तो भाभी से चला भी नहीं जा रहा था. मैं एक पल के लिए असमंजस में थी कि अब थॉमस का लंड मुँह में लूं या ना लूं … क्योंकि अगर रोहन ये देखते, तो उन्हें यह लगता कि मैं यह सब अपनी ख़ुशी से कर रही हूँ.

तभी जीजू ने दीदी को आवाज़ दी, तो दीदी ने मुझे आवाज दी- मधु जरा जीजू को देख ले … उन्हें क्या चाहिए. बॉस तिरछी नज़र से मेरे गोरी चिकनी जांघों को देख रहे थे, मुझे बहुत शर्म आ रही थी.

पहली बार की चुदाई के समय तो कुछ समझ में भी नहीं आया था।मैंने उसकी चूत की फांकों को फैलाया.

कहते हैं कि उम्र के इस पड़ाव में आने के बाद अक्सर भाई-बहन एक-दूसरे के राज़दार हो जाते हैं।हम दोनों कुछ दिन पहले तक दिनभर एक-दूसरे से लड़ते और झगड़ते रहते थे, किंतु अब हम साथ बैठकर बातें करते थे, पढ़ाई करते थे और कभी-कभी पढ़ते-पढ़ते रात को साथ सो भी जाते थे।अब ये दोस्ती हुई कैसे? ये भी जान लें.

अंकल जी ने तो चुदाई का इंतजाम कर दिया था बस अब मुझे हिम्मत करके उनसे चुदने जाना था. थोड़ी देर बाद मैंने जब लंड को उसकी वीर्य से लबालब भरी बुर से बाहर निकाला, तो उसमें से वीर्य और खून की धार बहने लगी. बाथरूम के अन्दर वो खड़े होकर मूतने लगी, मैं वहीं बाहर खड़े होकर उसे मूतते हुए देखने लगा.

थोड़ी देर तक मैं उसकी बंद पाव जैसी चूत को देखता रहा, जो बादामी रंग की थी. फिर एक दिन अन्तर्वासना और उनके राइटरों के बारे में खुशी से बातचीत हो रही थी. अचानक बाली रानी ने जीभ की नोक सुपारी के छेद में घुसाने की कोशिश की.

जब मां चलती हैं, तो उनकी मस्तानी चाल देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाएगा.

मीता- मैं अभी वर्जिन हूँ, आपको लगता है कि मुझे ये सब अभी इस उम्र में एन्जॉय करना चाहिए?मैं- देखो यदि तुमको लगता है कि तुमको सेक्स की जरूरत है, तो जरूर करो. पैंटी के घर्षण के कारण जल्दी मेरा लंड भी पानी छोड़ने के लिए तैयार हो गया. मौसी- सोनू टाइम पास मत कर, अगर कोई आ गया तो प्रॉब्लम हो जाएगी, ये सब बाद में कभी आराम से करेंगे, अभी बस जल्दी अपना काम खत्म कर.

तभी मेरे हाथ भी स्वतः ही उसकी चूची को भींचने लगे।थोड़ी देर तक वो ऐसा ही करती रही। जब शुभ्रा का मन रसपान करने से भर गया तो उसने जल्दी से अपनी मैक्सी को उतारा. फिर जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत से बाहर आया, मैं लस्त होकर उसके बगल में लेट गया. अगले दिन जब उन्होंने मेरे साथ छुपा-छिपी खेलने के लिए कहा तो मैंने ये कहकर मना कर दिया कि मेरे पैर में दर्द हो रहा है.

दो घंटे बाद चाची उठ कर बोलीं- आज से मैं तेरी हो गई हूँ, जब भी तेरा चोदने का मन हो, मुझे चोद लेना.

मैं शुभ्रा से चिपक गया और उचक-उचक कर देखने के चक्कर में लंड उसकी गांड से बार-बार टकरा रहा था. अब वो अपनी खाट के एकदम किनारे पे आ गई थी और ऐसे ही मैं भी उसकी तरफ अपनी खाट के किनारे पे आ गया था.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ मैंने उससे कहा- कोई दिक्कत की बात नहीं है, यदि तुम चाहोगी, तो मैं पूरी कोशिश करूंगा कि तुम्हारी चुत के लिए मेरा लंड मिलता रहे. फिर मैं बेड पर लेट गया और चाची मेरे लंड पर बैठ गई और उछल उछल कर अपनी चुदाई करने लगी.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ नम्रता ने दो दिन पहले ही चूत को चिकना किया हुआ था, लेकिन रोएं आ चुके थे. मैंने सकुचाते हुए बोल दिया- हां भाभी, कभी कभी कोई भेज देता है तो देख लेता हूँ.

दोस्तो, जैसा अपने पिछले भाग में पढ़ा कि अमीषी की मेरे साथ एक बार चुदाई हो चुकी थी.

बहन भाई का सेक्स

मैंने उसे आवाज़ दी- कितना सताओगी यार?तो उसने हंस कर कहा- अगर तुमको फ्रेश होना है, तो बाहर एक और बाथरूम है, वो यूज़ कर लो. मानसी इतनी गर्म लौंडिया थी कि आज भी कभी अगर उसका मूड हॉर्नी हो जाता है. प्रियंका ने मुझे देख कर मेरी तरफ हाथ हिलाया और हम दोनों उनकी ओर चल दिए.

चुदाई करवाते करवाते उन्हें भी ना जाने क्या सूझी कि मुझे धक्का देकर फिर से भागने लगीं. क्योंकि मुझे नौकरानी से डर लग रहा था कि वो दिन में ही आ गयी, तो सब जान लेगी. सोनल अन्दर से ब्लैक कलर की मोटे कपड़े की पट्टी लेकर आई और उसने मुझे पट्टी बांध दी, जिससे मुझे कुछ नहीं दिख रहा था.

मैंने उसे नीचे झुकाकर चूचियों को मुँह में लिया और चूसने लगा तो वह लंड को अंदर बाहर करने लगी.

वह भी झड़ चुकी थी और उसके 1 मिनट के बाद ही मैंने भी अपना माल उसकी गांड में उड़ेल दिया।1 घंटे तक चली इस चुदाई में हम तीनों ही पस्त हो चुके थे और तीनों बिस्तर पर गिर गए. एक ही झटके में मेरा पूरा छह इंच लम्बा और दो इंच मोटा लंड दीपाली की चुत में पूरा अन्दर तक घुस गया. मैंने पीछे मुड़ने की कोशिश की, लेकिन तेरे पति ने मुझे अपनी बांहों में जोर से जकड़ा हुआ था.

वैसे तो वसुन्धरा से मुझे कुछ ख़ास उम्मीद नहीं थी लेकिन इंसानी ख़्वाहिशों और कल्पनाओं का कोई ओर-छोर तो होता नहीं. हॉल में देखा तो जीजू वहां पर सो रहे थे और उनके खर्राटों की आवाज जोर से सुनाई दे रही थी. मेरे प्यारे दोस्तो, उस दिन मुझे पता चला कि जब मर्द और औरत में से कोई एक भी प्यासा रह जाये तो उसके मन पर क्या गुजरती है.

उसकी पैंटी हल्की गीली हो चुकी थी उसके चूत के रस से। वो खुशबू अनोखी थी। मैंने उसकी पैंटी को जैकेट के पॉकेट में रखा और फिल्म देखने लगा।कुछ देर में इंटरवल हुआ, हम बाहर कुछ खाने के लिए गये।फिर से फिल्म शुरू हुई. जब तक तेरी जीभ का रस अच्छे न पी लूंगी और अपनी जीभ का रस पिला न दूंगी.

”उनकी बातें मेरे कानों में गर्म लावा डाल रही थीं, मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि प्रमोशन के लिए नितिन ये भी कर सकता है. मैं अपनी बहन सोनल के दोनों मम्मों को अपनी हथेलियों में भर कर मसलने लगा. मैं बोला- नाटक मत करो यार, कल रात को तो तुमने मेरा लंड आगे आकर चूसा था.

मैं उसकी गर्दन से मुँह हटाकर उसकी चूचियों पर पहुंच गया और कपड़ों के ऊपर से ही उसकी एक चूची को मुँह में भरने लगा, दांत से काटने लगा.

अब वो मेरे आधे नंगे जिस्म को चाटने लगा, अपने जिस्म को मेरे जिस्म से रगड़ने लगा. मीरा ने उसी शाम को रितेश को खाने पे बुलाया और कहा कि वो रीमा को भी साथ में लेते आए, तभी रात को हम अपने मिलने के बारे में भी सोचते हैं. उसके ये बोलने तक मेरा एक हाथ उसकी चूची पर पहुंच गया था … लेकिन उसकी बात सुनकर मैं उसको एकदम से छोड़ कर खड़ा हो गया.

हम दोनों का ये पहली बार ही था इसलिए भैया मुझे धीरे-धीरे चोद रहे थे जबकि मेरा बॉयफ्रेंड मुझे तेज-तेज चोदता है. मैं उसके और करीब को आ गया और फिर मैंने उसके चेहरे की अपनी तरफ घुमाया.

पर गर्लफ्रेंड ने मना कर दिया कि वह यह नहीं करना चाहती।मैं उसे बोला- यार, तेरे लिए ही तो मैं गांव आया हूं. जूली शरमा कर अपने बदन को चादर से ढकने लगी तो सारा बोली- मुझसे क्यों शर्मा रही हो जूली आपा? मैंने और गुलाबो ने आपका पूरा सुहागदिन दरवाजे पर खड़े होकर चोरी-छिपे देखा है. दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी? अगर कहानी अच्छी लगी हो तो मुझे मेल जरूर करना.

क्सक्सक्स कॉम हिन्द

मैंने कई मिनट तक उसके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसा और काटा, जिससे उसके दोनों चुचे सुर्ख लाल हो गए थी और कहीं कहीं लव बाईट भी बन गए थे.

काजल की फिगर में उसके 34डी के तने हुए चूचे, बलखाती 32 की कमर और थिरकती हुई 34 साइज़ की गांड. इसी लिए मैंने झट से दीपाली के हाथ पकड़े और अपना लंड फिर से दीपाली के चुत पे रख दिया. मोनी मेरे लंड से चुदती हुई अपने हाथ-पैरों को समेटकर बिल्कुल इकट्ठा हो रखी थी.

जैसे ही प्रियंका को मालूम हुई कि हम लोग मुम्बई लैंड करेंगे, तो प्रियंका और जीजू दोनों बहुत जिद करने लगे कि हम लोग उसके यहां आएं. नेहा मुझसे बोली- मैंने सुबह इशारा किया था, पता नहीं तुम समझे या नहीं?मैंने कहा- मैं इशारा समझ गया था. सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म पंजाबीकई बार ऐसा होता है कि जब हमें जगह नहीं मिलती तो हम बाहर जाकर चुदाई करके आ जाते हैं.

माणिक मेरी चूत चाटने के बाद और मेरे पूरे जिस्म को चाटने के बाद उठ गया. गुड कुत्ते … तुझे शरीर सुरा का स्वाद चखाऊँगी राजे … धीरे धीरे देखता जा तू.

आपको हमारी यह भाई-बहन की चुदाई वाली कहानी पसंद आई होगी ना? तो आप जरूर कमेंट करें. मैं बोला- नहीं … तुम अपनी चूत की हवस मिटाने के लिए एक मर्द के साथ हो. फिर भी मेरा मन नहीं माना, मैं चुपचाप दबे पाँव कमरे से निकल कर चल दी और धीरे-धीरे गेस्ट हाउस की खिड़की के पास पहुँच कर कान लगाकर सुनने लगी.

हाथ रखने के बाद मैंने धीरे से उनको दबा दिया तो मनीषा की नींद खुल गई. फिर अपने घुटनों पर ऊपर हुई और पीछे होते हुए मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत पर सैट किया, धीरे से नीचे बैठते हुए ‘अअअ भईया अअअअअ आई …’ उसने धीरे धीरे पूरा लंड अन्दर ले लिया. फिर ऐसे ही फूल बोला तो वह अपना बायाँ चूतड़ उठाने लगी और मैंने पूरा लंड निकाल कर बायीं ओर धक्का मारा.

वैसे हम दोनों रात 11 बजे तक टीवी देखती हैं लेकिन आज पता नहीं सुमीना को क्या हुआ, अभी दस बजे ही कहने लगी- भाभी, मुझे तो बहुत नींद आ रही है, मैं सोने जा रही हूँ.

लेकिन मैंने उसे फिर भी नहीं छोड़ा।कुछ देर तक और चूत चाटने के बाद अनिता कहने लगी- मुझसे अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. मेरे होंठों को उनके होंठ और उनके हाथ मेरे मम्मों को जबरदस्त मसल रहे थे.

आह-आह करते हुए पतिदेव बोले- कैसा लगा मेरा माल?नम्रता- बहुत टेस्टी है. मैं पसर कर लेट गया और नम्रता अपनी चूत में भरा हुआ माल लेकर मेरे मुँह पर आ गयी. संजना की चुसाई देखकर अब मेरी आंखें बंद होने को थीं और मैं भी अब अपने चरमोत्कर्ष पर पहुंच रहा था.

वह पीना नहीं चाहती थी, लेकिन मैंने अपने होंठों से उसके होंठों को बन्द करके रखा था. जब मेरा लंड अच्छे से दोनों के मिले हुए माल से गीला हो चुका था, तो वो मेरे ऊपर से उतर गईमेरे मुरझाये हुए लंड के तरफ देखते हुए नम्रता बोली- अब इसका फड़कना बंद हो चुका है. मेरी उम्र अभी 24 साल की है, मैं सूरत की रहने वाली हूँ, मेरा फिगर साइज 34-30-36 है.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ मैं और जोर जोर से चिल्लाने चीखने लगी- आह आह उम्म थॉमस रुको रुको बेबी!मगर थॉमस नहीं रुका. मैं खिड़की से अपनी पीठ टिकाकर खड़ा था और नम्रता घुटने के बल बैठे हुए मेरे लंड को चूसने, सहलाने या मुठ मारने में मगन थी.

सेक्सी गर्ल्स इमेज

नेहा का टॉप उसकी बड़ी बड़ी छातियों के ऊपर से तना हुआ था जिसमें से उसका नंगा सुंदर चिकना पेट दिखाई दे रहा था. जब मैं अगले दिन ऑफिस गया, तो मेरा एक दोस्त बोला कि उसे ऑफिस के काम से कुछ दिनों के लिये बाहर जाना है और 3 दिन बाद उसके माता पिता आने वाले हैं, तो वो घर बंद करके नहीं जा सकता. उस दिन मैंने एक पीले रंग की कुर्ती और उजले रंग की लेगिंग पहन रखी थी.

नेहा की अपने हस्बैंड से नहीं बनती थी, प्रेग्नेंसी के बाद से झगड़ा होने के बाद अपनी माँ के पास आ गई थी और बच्चे की डिलीवरी भी यहीं हुई थी. घर से निकलते हुए वसुन्धरा ने दबी जुबान में पुराने कपड़ों वाला अटैची कार से निकल कर घर में ही छोड़ने की बात कही लेकिन मैं उसकी बात सुनी-अनसुनी कर गया. सेक्सी पंजाबी पंजाबीराजेश ने अपनी उंगली को बाहर निकाला और फिर अपने मुँह में उंगली भरकर चटकारे लेते हुए बोले- वाह क्या स्वाद है तुम्हारी चूत के रस का.

धीरे धीरे पापा डिप्रेशन में जाने लगे तो मैंने उन्हें डाक्टर को दिखाया तो उन्होंने माहौल बदलने की बात कही.

मुझे कुछ दाल में काला लगा कि दीदी मेरे पति के साथ अकेली किचन में क्या काम कर रही है. फिर मैंने एक हाथ से उसके चूतड़ पर हाथ फेरकर एक चपत लगाई और उसे हट जाने का इशारा किया.

नम्रता मुझे अपने पति के संग हुई चुदाई के बारे में सुनाने में लगी थी. तभी शुभ्रा ने मुझे पीछे खींचा और खुद झरोखे से चिपक गयी और मैं शुभ्रा से चिपकते हुए अन्दर की तरफ झांकने की कोशिश करने लगा. वो बीच-बीच में मेरे कोमल सुपाड़े पर दांत चलाती, जिससे मुझे मेरे पेट पर एक अजीब सी गुदगुदी सी महसूस होती.

और वो एक के बाद एक ऐसे करते हुए मुझसे सब मोबाइल के बारे में जानने लगी पर मेरी नज़र उनके बूब्स पर ही थी और मेरा लंड वापिस तन गया था जो दी ने देखा.

अब इस बार बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा, जो है वो भी जाता रहेगा और आज इतना मजा आएगा पूछ मत. लड़कियां भी अपनी चूत में उंगली या खीरा वगैरह डाल कर मजा ले सकती हैं. इतने में मां मेरे कमरे का दरवाजा खोल कर अन्दर आ गयी और बोलीं- हर्षद ठंड ज्यादा है ना … तो मैं तुझे ये कम्बल देने आयी थी.

सेक्सी फिल्म हिंदी में देसीउसने हल्का सा जोर लगाया, जिससे उसका 8 इंच का आधा लंड मेरी चूत में उतर गया. उसने मेरी भाव-भंगिमा समझते हुए कहा- मेरी रानी … चल अब जल्दी से इसे चूस कर और बड़ा कर दे … मैं तुम्हें चोद कर खुश करना चाहता हूँ … और तेरी ख़ुशी तुझे इसी लंड से मिलेगी.

क्सक्सक्स व्हिडिओस कॉम

हम लोग उस दिन घर पूरा दिन बोर होते रहे इसलिए शाम को मैं और जीजू घूमने के लिए निकल गये. प्रियंका ने मुझे देख कर मेरी तरफ हाथ हिलाया और हम दोनों उनकी ओर चल दिए. तो मैंने भार्गव से पूछा- भार्गव, कार की चाबी तुम्हारे पास है न?उसने कहा- हां … क्यों क्या हुआ?मैंने कहा- अरे यार मैं अपना पर्स कार में ही भूल आई हूँ … और मेरा मोबाइल भी उसी में है.

वैभव हैंडसम है और रोमांटिक भी, इसलिए मैंने भी उसे लिफ्ट देना शुरू कर दिया. मैं बोली- तो कैसे?वह मेरे हाथ में से गिलास को लेता हुआ बोला- पहले शराब को अपने होंठों से टच कीजिए और एक घूंट लीजिए. पूरे कमरे में सिर्फ हम दोनों माँ बेटे या आज ही बने पति पत्नी की कामुक सिसकारियां गूंज रही थीं.

उसने अपनी पकोड़ा सी चूत को मेरे पैंट में तने लंड के ऊपर रख दिया और रगड़ने लगी. शायद वह मुझे अपनी नंगी टांगों कमर और चूत को घूरते हुए नहीं देख पा रही थी. नेहा ने बहुत सुंदर परफ्यूम लगाया था और नहाने के बाद बाल खुले छोड़ रखे थे.

पर खुशी सिर्फ दिखावे के लिए बिंदास है, असल में खुशी भावुक और संस्कारी लड़की है. उसने बोला- मैं तो शादीशुदा हूँ यार … तुम जाओ मेरे लिए तो पति हैं मेरे!अब हम दोनों मूवी देखने पहुंचे.

मेरी बात पर हीना ने कहा- तो क्या हुआ सर … आप मेरे अन्दर ही समा जाइए न … बाकी मैं संभाल लूंगी.

निष्ठा का दर्द कुछ कम होता दिख रहा था और अब उसके चेहरे पर आनंद के लक्षण दिखने लगे थे. पंजाबी सेक्सी वीडियो फिल्म दिखाएंमैंने अपनी जीभ बाहर की और उसकी चूत से होता हुआ, जो पानी की बूंदें टपक रही थीं, उनको जीभ पर लेने लगा. सनी लियोन सेक्सी एक्सनील- ओके थैंक्स जान। लेकिन हां, अब मैं तुम्हारे कमरे में नहीं आऊंगा. अंकल कामक्रीड़ा में भारी एक्सपर्ट लग रहे थे, उन्होंने धीरे से एक उंगली मेरी चुत में डाली और अन्दर बाहर करने लगे.

मैंने उसे सारी बात बताई तो वह खुश हो गई और अपने कपड़े हटाने में मेरी मदद करने लगी। मैं उसे चूस रहा था, अपने दांतों से काट रहा था.

घर पर तो ये सब हम कर नहीं पाते हैं … और अब जब मौका मिला तो मैं कैसे छोड़ देती. मैं 20 साल का हूँ और मैं आप सभी को आज अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ।कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी भाभी के बारे में बताना चाहता हूँ. फिर मैं बेड पर लेट गया और चाची मेरे लंड पर बैठ गई और उछल उछल कर अपनी चुदाई करने लगी.

फिर उसने एक हाथ से लंड का चिकना टोपा चुत की फांकों पे फंसा दिया और एक जोर का धक्का लगा दिया. मैंने गुप्ताइन की साड़ी और पेटीकोट एक साथ ऊपर उठा दिये और उसके चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा. मेरी सहेली ने बताया कि उसका पति सुबह 8-8:30 के बीच निकल जाएगा और शाम को देर से ही वापस आएगा.

मुसलमानी सेक्सी वीडियो हिंदी

पिघल रही सीमा के इस वार से मैं भी बच न सका और मेरा भी लौड़ा छूटने के बहुत नज़दीक पहुँच गया. ये सुनकर मैंने खुश होकर एक बार फिर से प्रतिभा को बांहों में भर लिया और कहा- तुम बहुत अच्छी हो. लेकिन कुछ ऐसा हुआ कि मुझे भाभी की चूत मिल गयी और भाभी को मेरा लंड मिल गया.

मैं पांच मिनट के बाद भाभी के मुंह में झड़ने लगा और भाभी की चूत का पानी भी मेरे होंठों पर आकर उनको गीला करने लगा.

उसके बाद फिर धीरे-धीरे लिंग चुसवाना और योनि चाटते हुए उसका रस पीना मेरे लिए आम बात हो गयी।तो मेरे प्यारे दोस्तो, ये थी मेरे पहले संभोग की कहानी.

मैंने अपनी जुबान से उनकी चुत का दाना भी खींचते हुए चूस दिया, इससे वो बिलबिला उठीं. या इसके अतिरिक्त कुछ भी जो आपको पसंद हो!लेकिन पति से बोलने में झिझक होती है. ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी देसी… सहन नहीं हो रहा … आप जोर से करो … और जोर से चोदो मेरी चुत को, चोद चोद कर पूरी हेकड़ी उतार दो साली की.

मैंने पूछा- क्या है?नम्रता बोली- आज मैं अपने आपको आजाद पंछी पा रही हूं. फिर अचानक बोली- शरद तुम भी घोड़े के स्टाईल से घुटने के बल होकर अपनी गांड उठा लो. दोस्तो नमस्कार, मैं आप लोगों की प्यारी हॉट मधु … एक बार फिर अपनी आत्मकथा में तहेदिल से आप सभी का स्वागत करती हूं.

मैंने जानबूझ कर उसको मेरे आमों की झलक दिखाई, जिससे मेरे पूरे निप्पल तक दिखे जा रहे थे. स्टूडेंट्स के जाने के बाद वो बोली- लड़कियां तो दीवानी हैं राहुल जी आपकी.

काफी देर तक अनिता इस चॉकलेट चूत चुसाई के बाद कांपते हुए मेरे मुँह को जोरों से पकड़ कर दूसरी बार झड़ गई.

उसने मुझे अपनी बांहों में भरा, तो मैंने भी उसके लंड और होंठों पर किस किया. क्योंकि मैंने मेरे हाथ की बीच की उंगली को सीधा उसके क्लिट पर रगड़ना शुरू कर दिया था. मैं क्या बोलूँ, वो एकदम मुलायम और राउंड राउंड गांड का अहसास मुझे सनसनी दे गया.

इंग्लिश सेक्सी 2022 मैं बोला- बस? लेकिन मजा तो इसी में है ना।वो बोली- अगर मजा इसी में है तो फिर लोग पेशाब नाली में क्यों करते हैं? फिर तो मुंह में ही कर देना चाहिए?वो मुझसे बहस करने लगी।मैं झल्लाते हुए- अरे यार, ये सब मुझे नहीं मालूम, मगर जो मालूम है उसमें चूत चटाई और लंड चुसाई होती है. मैंने अपने बैग के अन्दर छुपा रखा टैबलेट का पत्ता निकाला और उसमें से एक गोली निकाल कर खाकर सो गया.

इधर जीजू मेरे पर लाइन मार रहे थे और उधर मेरे पति ना जाने दीदी के साथ क्या कर रहे थे. बाथरूम में अब पानी की टप-टप की आवाज से भी ज्यादा हम तीनों की चीखें और सिसकारियां सुनाई दे रही थीं. मैं भी नीचे से कमर हिलाकर उनको साथ देने लगी और उनके सीने को दाँतों से काटने लगी.

मॉमेडियन सेक्स

मैंने उन्हें जल्दी से पलट कर उन्हें बेड पर लेटा दिया और फिर से लंड को उनकी चूत पर सैट करके ज़ोर का धक्का दे दिया. मुझसे भी रुक पाना बर्दाश्त नहीं हो रहा था, लेकिन हीना की पकड़ में मुझे छटपटाने का ज्यादा अवसर नहीं मिल रहा था. मीता- ओह्ह … मैं आ जाऊं आपको लेने!मैं- आ जाओ, यदि तुमको कोई दिक्कत ना हो.

गैलरी की घनी बाउंड्री की वजह से नीचे क्या हो रहा है, आंटी को दिखना नामुमकिन था. मैंने बिछी हुई बेडशीट, पिलो कवर, नैपकिन, सब वाशिंग मशीन में धुलने के लिए डाल दिए.

मैंने गैलरी में ही नेहा को गोदी में उठा लिया और उसको प्यार करने लगा.

सारा को समझ आ गया था कि दिलिया की चूत की चाबी उसके ओंठ और जीभ है और उसे इस तरह से किस करने लगी. मेरी ऐसी तेज ठुकाई से शीना फिर से एक बार झड़ने लगी और उसका बदन पूरी तरह से ऐंठने लगा. स्नान करने के दौरान मंजू मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

लेकिन मैं क्या बताऊं दोस्तों, मेरी गांड इतनी फटती थी कि कहीं मैंने कुछ किया और भाभी ने मुझे नहीं झेला तो क्या होगा. पानी गर्म करने के लिये वो एक बर्तन नीचे की शेल्फ से निकालने के लिये झुकी, मैंने झट से उसकी गांड घिसाई झट से कर दी. मेरा काफी दिनों से किसी को चोदने का मन कर रहा था लेकिन कोई माल मेरी नज़र में नहीं आ रहा था.

मेरे हर धक्के में उसकी कराह निकल रही थी, पर आज किसी बात का डर नहीं था.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: मैंने एक कोचिंग क्लासेज में पढ़ाने का काम करना शुरू किया था, जहां बहुत खूबसूरत ख़ूबसूरत जवान लड़कियां पढ़ने आती थीं. हर बार उसके स्पर्श से मैं सिहर उठती और मेरे पूरे जिस्म में वासना की लहर दौड़ जाती.

वसुन्धरा का अपने माँ-बाप से इतर रहना, उसके व्यक्तित्व में समायी तमाम बत्तमीज़ी, दबंगई, ख़ुद-पसंदगी और उसके तनहाई-पसंद होने का और मेरे प्रति अनबूझे अनुराग़ का और अभी तक अविवाहित होने का कारण उसके पिता जी का उसकी मुझसे शादी के ख़िलाफ़ लिया गया एक फ़ैसला ही था. उसने मेरी जांघों पर बैठ कर अपनी चूत पर मेरे लंड को लगा लिया और धीरे धीरे दबाव बनाने लगी. बड़ी ज़ोर का सूसू आया है।फिर रमेश नीचे बैठ गया और रिया को करीब खींच कर अपनी जाँघों पर बिठा कर उसके मम्मों को चूसने लगा। उसका लौड़ा एकदम कड़क हो गया.

वह मेरी तरफ ऐसे देख रही थी जैसे उसे मैसेज पर विश्वास नहीं हुआ हो।मैंने उसे फोन की तरफ देखने का इशारा किया।वो नीचे देख कर कुछ सोचने लगी, फिर कुछ देर बाद टाइप किया- ओके मास्टर!और फोन साइड में रख कर पैंटी निकालने लगी.

मुझे भी काफी आग लगी थी, उसकी चूत के चिकने पानी से मेरा लंड बड़ी तेजी अन्दर बाहर होने लगा था. ऐसे ही कुछ मिनट लंड चूसने के बाद मैंने अपने लंड के ऊपर कंडोम चढ़ा लिया. उसने पहले ही धक्के से अपना पूरा लंड मेरी चूत के अन्दर तक डाल दिया था.