बीएफ फिल्में देसी

छवि स्रोत,पंजाबी सेक्सी भेजो पंजाबी

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी सेक्सी फोटो नंगी: बीएफ फिल्में देसी, फिर जब उसकी चूत में फिर आग लगी तो उसने खुद ही बाकी घर वालों को नींद की गोली खिला कर फिर से चूत चुदवाने का प्रोग्राम बना लिया.

रोमांटिक सेक्सी स्टेटस

राकेश ने रिसेप्शन पर ही एक दारू के लिए बोल दिया, जो कि बहुत महंगी थी. कैटरीना कैफ की सेक्सी दिखाइएजब वो पानी लेने गयी थीं तो मैंने देखा था कि उनका पिछवाड़ा बहुत ही मादक लग रहा था.

मैं एक हाथ से उनकी मोटी कलाई को और दूसरे हाथ से उनके कंधे और गले को सहला रहा था. वीडियो चलने वाला सेक्सी पिक्चरअगर हमारे आगे वाली सीट पर कोई बैठा होता तो उस दिन उसके सिर में शैम्पू ही लग जाना था.

वो एक बार तो उचकी लेकिन फिर हम दोनों ने ही एक दूसरे के होंठों को चूसना शुरू कर दिया.बीएफ फिल्में देसी: यह सुन कर तो मेरा लंड पैन्ट फाड़ कर बाहर आने को हो गया … क्योंकि उतनी देर राज की चाची घर में अकेली रह जाने वाली थी.

तू सेटिंग करवा दे मेरी।दीदी ने कहा- पागल है क्या तू?नीरा ने कहा- यार जब चुदने का मन करता है रात में तो सच में मुझे मनीष का ही चेहरा दिखता है और मैं उंगली करती हूँ उसे ही सोच कर! काश वो मेरा भाई होता तो मेरा तो घर में ही जुगाड़ हो जाता।तब दीदी ने कहा- बना ले भाई उसे, मैंने कब रोका है।नीरा ने कहा- मुझे तो बनाना पड़ेगा.उसके बाद फिर मेरी जॉब दिल्ली में लग गई थी तो मैं दिल्ली में आ गया था.

गाना वाला सेक्सी वीडियो भोजपुरी - बीएफ फिल्में देसी

अब नहीं देखने हैं क्या?इतना कह कर उसने मेरे बालों को छोड़ दिया और सामने कुर्सी पर जाकर बैठ गयी.वो थोड़ा थोड़ा जीभ से टटोलता रहा और धीरे धीरे मुझे खींचते हुए मेरे चूतड़ उठाने लगा.

कविता ने एक बैग निकाला और उसमें से एक ही तरह के 5 जोड़े कपड़े निकाले. बीएफ फिल्में देसी आपकी मेरी मम्मी की चूत की चुदाई पढ़ कर कैसा लगा? आपके मेल का इन्तजार रहेगा.

सीमा जी ने मेरी ओर करवट लेते हुए कहा- आज बरसों बाद मैंने रति सुख का मजा लिया है.

बीएफ फिल्में देसी?

जब वो नीचे से गांड को हिलाने लगी तो धीरे धीरे मैंने भी उसकी चूत चोदनी शुरू कर दी. एक तो पार्लर जाकर जो हुआ, उसी से मैं गोरी और कम उम्र की दिख रही थी. हम एक दूसरे को होंठों में किस करते हुए बस अपने जोश का मजा ले रहे थे.

फिर मैंने भी देर न करते हुए उसकी टांगों को चौड़ी किया और अपने लंड को उसकी गीली चूत पर रगड़ने लगा. चूंकि पिता जी का फोन आ चुका था कि मुझे भाभी भैया के घर ही रहना है, तो भाभी ने मुझे मेरा कमरा दिखा दिया. ईमेल करके मुझे बताइए ज़रूर ताकि मैं अगली बार और अच्छे से अपना एक्सपीरिएंस आप सबसे शेयर कर सकूं.

उसकी टांगें मेरी पीठ पर आकर लिपट गईं और मेरी जीभ उसकी बुर के अंदर बाहर होने लगी. जब काव्या भी वापस उसको किस करने लगी, तो उसने काव्या की टांगों को फैला कर अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. एक दिन मेरी यह प्रार्थना स्वीकार भी हो गयी जब मुझे भाभी की चुदाई करने का मौका मिल गया.

मैंने उनकी ननद को अनदेखा कर दिया और आंटी को ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. तो बिल्कुल सामान्य अवस्था में भी कम से कम दो महीने तो सेक्स नहीं करना चाहिए.

दूध मसलने से उनको मस्ती सी चढ़ने लगी और वो ना जाने कैसी कैसी अजीब सी सिसकारियां लेने लगीं.

जब उन्होंने खुद ही अपना हाथ नहीं हटाया, तो मैंने भी उनके हाथ को हटाने का प्रयास नहीं किया.

और जब मेरे भइया तुम्हारी दीदी को चोदते हैं, तो तुम्हारी दीदी को बहुत मजा आता है. तभी मैंने अन्तर्वासना पर सेक्सी स्टोरी पढ़ी और तब से ही मैं इसका नियमित पाठक बन गया हूं. उसने टी-शर्ट के ऊपर से ही मेरे बूब्स दबाने चालू कर दिए उसने टी-शर्ट उतारने की कोशिश की … लेकिन मैंने मना कर दिया और बोल दिया- यहां मत उतारो.

मैं धीरे से लंड को बाहर लाता और फिर हल्के से धक्के के साथ भाभी की चिकनी चूत में फिर से धक्का लगा देता. कुछ देर के बाद हम वापस शुरू हो गए।जब मेरे थोड़ा लंड उसकी चूत में घुसा तो वो मस्त आवाज करती हुई चुदने लगी. इस बार मैंने अपने लंड पर ढेर सारा थूक लगाकर उसके चूत में घुसाना शुरू किया.

तब मैंने भी कहा- हां, मैं भी किसी स्टाइल से मेरे उनके सामने बात रखती हूं.

में फिर से भाभी की चुचियों से लिपट गया और उनकी मोटी चुचियों को मुँह में भर कर चूसते हुए भाभी को चोदने लगा. तीन लंड अपने तीनों छेदों में लेकर भाभी शायद गांड चुदाई के दर्द को भी भूल गई थी. दस मिनट तक उसकी चूत को जबरदस्त तरीके से रगड़ा और फिर मैंने उसकी चूत में अपना माल गिरा दिया.

फिर मैंने अपने हाथ को उसके गले के ऊपर से कमीज को थोड़ा खींचते हुए अंदर हाथ डाल दिया. सिर्फ उसके पैंटी और गोरी टांगें देखकर ही मेरे लंड से पिचकारी निकल गयी थी. निर्मला के चूतड़ों को पकड़ कर वो तब तक लिंग धकेलता रहा, जब तक उसके लिंग से आखिरी बूंद वीर्य की न टपक गई.

लगभग 25-30 मिनट में मैंने साराह को इतना उत्तेजित कर दिया कि उसकी चूत पानी छोड़ चुकी थी.

की आवाजें भी तेज होने लगी थी लेकिन मैंने इसकी परवाह किये बिना उनकी चुदाई चालू रखी।एक समय आया जब भाबी कि चूत एकदम चिकनी हो गई और मुझे लंड अंदर बाहर करने में बहुत मजा आने लगा।तभी भाबी एकदम अकड़ गई और उन्होंने अपनी दोनों टांगें सिकोड़ ली तथा जोर से चिल्ला भी पड़ी- आईईई. सम्भोग के बीच में अंतराल होने का मतलब था, अब कांतिलाल ने इससे पहले जित्तनी देर सम्भोग किया था, उतनी ही देर संभोग वो बिना झड़े फिर से कर सकता है.

बीएफ फिल्में देसी वो मेरी टांगों को चूमता हुआ चूतड़ तक पहुंच गया और किसी भूखे भेड़िये की तरह चूमता हुआ मेरी पीठ और पीठ से दोबारा चूतड़ों तक चूमता रहा. फिर मैंने मम्मी से पूछा- कैसा रहा मम्मी … पापा की कमी पूरी हुई या नहीं?तो मम्मी बोलीं- अरे बेटा, तेरे पापा में इतना दम कहां बचा है.

बीएफ फिल्में देसी अब तक मैं 130 लड़कियां 65 भाभियाँ, 60 आंटियां, 52 बार अपनी मॉम को चोद चुका हूं. मैं आपको बताना चाहूंगा कि मेरी पत्नी बहुत ही खुले विचारों वाली है और वह मुझसे सेक्सी बातें खुलकर करती है.

कोई 15 मिनट बाद मैंने उसे अपने नीचे किया और उसकी एक टाँग तो अपने कंधे पर रख लिया.

अंग्रेजी सेक्सी वीडियो प्ले वाली

अब वो मेरे तनतनाए हुए लंड को अन्दर तक लेकर बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. अबकी बार मम्मी ने खुद लंड को पकड़ कर चूत के मुँह पर रखा और बोलीं- हां बेटा, अब आराम से धक्का लगा. अब मैं काव्या की चूत और जांघों को चाट रहा था और काव्या मेरे लंड और अंडों से खेल रही थी.

अब सब लोग साथ में बटरफ्लाई बीच पर चलते है … मैंने सुना है वहां बहुत मज़ा आता है. इस बात पर वो थोड़ी नाराज हुई और बोली- आप कैसे इंसान हैं? एक औरत आपको बुला रही है और आप हैं कि औरतों की तरह ही नखरे कर रहे हैं?मुझे उसका इस तरह से बोलना बड़ा अच्छा लग रहा था क्यूंकि उसकी हिंदी ज्यादा अच्छी नहीं थी. (यह उसका काल्पनिक नाम है असली नाम नहीं बताऊंगा)मैंने चौंकते हुए पूछा कि कौन रूबीना?तो उसने कहा कि मैं वही रूबीना, जिसे आप रोज देखते हैं और बात तक नहीं करते.

ये नजारा इतना मदहोश कर देने वाला और याद दिलाने वाला था कि पुरूष चाहे कितना भी पक्के निश्चय वाला हो कहीं न कहीं फिसल ही जाता है.

वो मेरा लंड नहीं सह पा रही थी, इसलिए उसके मुँह से चीखें निकलने लगीं- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैं मर गई … बहुत मोटा है … मेरी फट जाएगी … बस अब इसे निकाल लो … मुझे नहीं चुदना. उससे दोस्ती होने के बाद हम दोनों कई बार साथ में ही बाहर घूमने के लिए भी चले जाते थे. लेकिन मैं सोचता हूँ कि प्यासे को पानी पिलाना और प्यासी लड़की को चोद कर उसे संतुष्ट करना दोनों ही पुण्य के काम हैं.

मैंने लन्ड सेट किया और धक्का लगा कर अंदर डाला और मेरा लंड पहली बार में तो फिसल गया. मैंने कहा- कहो अम्मा क्या बात है?अम्मा ने कहा- अपनी बड़ी बीजी चाची थोड़े दिनों के लिए एक हफ्ते के लिए हमारे घर रहने आने वाली हैं. मैं धीरे-धीरे करके उसकी गांड पर अपने लंड को अच्छी तरह से सटाने लगा.

तभी दीदी ने मुझे रोकते हुए कहा- इसकी जरूरत नहीं है। अब मैंने ऑपरेशन करा लिया है. मैंने उसको बोला कि तुम बहुत भाग्यशाली हो यार … जो तुम्हें ऐसी सेक्सी बीवी मिली है.

थोड़ी ही देर में उसके दोनों निप्पल कड़े हो गए … और उसकी चूचियां टाइट हो गईं. वो अपने हाथ से लौड़े की टोपी को सहलाने लगीं और बूंदों को अपनी उंगली से लेकर बहुत ही उत्तेजक तरीके से मुँह में लेकर चाटने लगीं. खाना खाने टाइम अचानक इत्तफाकन मुझे मेरी बहन के मम्मों के दर्शन हो गए.

मेरे पास आकर किरण मुझसे कहने लगी- जब भी तुम्हारा मन हो तुम यहां पर मेरे फ्लैट में आकर बेझिझक मुझसे मिल सकते हो.

एक दिन प्रजनन अंगों के बारे में पढ़ाना था तो उसने सेक्स नॉलेज के लिए स्पर्म के बारे में पूछा. पर इतना तो मेरे दिमाग में था कि शायद रवि काफी देर तक संभोग करने के बाद ही झड़ेगा. भाभी ने उनका साथ देते हुए अपनी कमीज को हाथ ऊपर करते हुए निकलवा दिया.

फिर रात को करीब 12 बजे के करीब मुझे अपने पेट पर कुछ महसूस हो रहा था. दीदी बोली- अचानक से तुझे क्या हो गया? तू ऐसी बात क्यों कह रहा है?मैंने दीदी से कहा- वो … दीदी, मैंने आपकी सहेलियों की बातें सुन ली थीं.

तभी मुझे लगा कि मेरी पिचकारी छूटने वाली है तो मैंने उसे बताया पर वो तो ना जाने किस दुनिया में थी।तभी मेरे लन्ड से लावा फूट पड़ा। कुछ तो उसके मुँह में ही चला गया. उसने कहा- हां इसलिए तो पूछना बेहतर सोचा, पर बच्चे के अलावा पति का भी हक़ होता है. मेरी योनि से निकलता हुआ पानी कांतिलाल के मुँह से होता हुआ छाती तक आ गया.

फुल चोदने वाला सेक्सी वीडियो

उसने भी मेरे सिर के पीछे हाथ लगा कर मेरे बालों को सहलाते हुए मेरा साथ देना शुरू कर दिया.

मैंने उसकी ब्रा को निकलवा दिया और उसके मीडियम साइज के गोरे चूचे जिनके बीच में भूरे रंग के निप्पल थे उनको अपने दोनों हाथों में ले लिया. उसका रंग एकदम गोरा ऐसा है जैसे वो कोई फिरंगी की औलाद हो और विदेश से आयी हो. वो भी पहले से ही अपनी चूत चुदाई के ख्वाब देख रही थी शायद इसलिए किसी प्रकार का कोई विरोध नहीं हो रहा था.

फिर मैं और राजेश बाहर रूम में आ गए और किरण नहाने के लिए वाशरूम में चली गयी. कुछ देर के बाद देखा, तो कांतिलाल कविता के पास जाकर उसे छूने टटोलने लगा था. भांजी की सेक्सी वीडियोमैं तो बहुत दिनों से इस मौके की तलाश में था कि भाभी के साथ कुछ करने का मौका मिल जाये.

न तो कभी चूत देखी थी और न ही कभी इस तरह की कोशिश की थी कि मुझे कहीं कोई चूत नसीब हो सके. मैं उठा कर मौसी को बेड पर लेटाने लगा तो मेरा हाथ मौसी के चूचों पर लग गया.

नेताजी लगभग आधा गिलास खाली करने के बाद बोले- मुँह से चूसती नहीं है क्या … थोड़ा मुँह तो लगा. करीब 10 मिनट उसने मुझे यूँ ही बिना रुके धक्के मारे और फिर वो रुक गया. अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते हुए मेरा रुझान लड़कियों की चूत, चूचियों और गांड की तरफ कुछ ज्यादा ही बढ़ने लग गया था.

इस दौरान मुझे लग रहा था कि मेरा इस टूर पर विवेक के बाद सनी के साथ चुदाई का नंबर लग सकता है. चूंकि हम लोगों में से 4 लोग जुआ खेल पाते थे, इससे हम लोगों ने फैसला किया कि हम चार चार लोगों के ग्रुप में हो जाएं, जिससे एन्जॉय किया जा सके. उसने मुझे बूब्स जॉब देना शुतु किया यानि अपनी चूचियों के बीच में मेरा लंड लेकर मेरा लंड सहलाने लगी.

मैंने उस दिन अपने घर पर बता दिया था कि मैं मेरे फ्रेंड के घर पर जाने वाली हूँ.

इसके बाद वो मुझसे रुकने का बोल कर मुझसे अपनी चूचियों को चूसने की कहने लगी. रात में मैंने युक्ता और शोभा की चूचियों और चूत के बारे में सोच कर मुट्ठ मारी.

वे सिसकारियां लेते हुए बोलीं- मेरे राजा और मत तड़पा अपनी भाभी को … जल्दी से डाल दो अपना लंड … अपनी भाभी की चूत के अन्दर पेल दे. हल्की फ़ुल्की बातें और हंसी मजाक करते हुए, जिसको जहां जगह मिली, सो गए. लंड उसकी बीवी के मुंह में जाते ही मुझे मजा आने लगा और मेरी सारी हिचक कम होती चली गई.

उसका पूरा बदन थरथराने लगा और राजेश्वरी भी उस सुखमयी दर्द से कराहने लगी. अब मैं सिर्फ़ ब्रा पैंटी में थी, वो भी इतनी छोटी कि बस एक लाइन जैसी पैंटी में मेरी चुत ढकी देख कर वो पागल हो गया. कांतिलाल ने मुझे इस कामुक अवस्था में पाते ही मेरे होंठों से होंठ चिपका लिया.

बीएफ फिल्में देसी इतना कह कर मैंने अपने लंड को चेन खोल कर अपनी पैंट से बाहर निकाल लिया. इससे मेरी पत्नी को संतुष्टि भी मिल जाती है और हमारी कुछ आमदनी भी हो जाती है.

हिंदी देसी सेक्सी ओपन वीडियो

जब शाम में मेरा साला वापिस अपने फ्रेंड के यहां से आया, तो उसने बताया कि मेरी जॉब यूपी में हो गई है. कोई पाठक मुझसे चुदाई की और बात जानना चाहता है, या मुझसे बात करना चाहता है, तो मुझे ईमेल कर सकता है. मेरे अलग होते ही रवि ने निर्मला को धकेलते हुए उसे नीचे जमीन पर गिरा कर लिटा दिया और उसकी दोनों टांगें फैला उसके मोटी मांसल जांघों के बीच झुक गया.

मैं उसके मम्मों को किसी छोटे बच्चे के जैसे चूस रहा था और वो मेरे बालों के ऊपर हाथ फेर रही थी. मैंने उसकी पजामी के ऊपर से ही उसके चूतड़ों को दबाना और मसलना शुरू कर दिया. सेक्सी फिल्मे इंडियन सेक्सवो पागलों की तरह मेरे कानों को काटती हुई मेरे बालों में अपनी उंगलियां चलाने लगी और फिर एक जोर से आह भरते हुए अपनी कमर के नीचे जांघों के पास से मेरे हाथ को कस लिया और फिर 2 मिनट तक झड़ती रही.

दोस्तो, आपको मेरे दोस्त की अम्मी की चुदाई कहानी कैसी लगी आप मुझे मेल के जरिये जरूर बताना.

भाभी को भी डर हो गया था कि अगर लाइट जली तो सारा मजा खराब हो जायेगा. जांघों में फंसी हुई पैंटी को निकाल कर मैंने उसकी चूत पर नाक लगा कर उसकी चूत को सूंघा तो उसकी चूत से मस्त सी खुशबू आ रही थी.

उसके बाद जब मैं कांतिलाल को केक खिलाने गई, तो उसने मुझे मना कर दिया. अब वो कांफ्रेंस काल पर अपनी बहन रितिका से भी मेरी बात करवा देती थी और अपनी सहलियों से भी मेरी वीडियो कॉल पर बात करवाती थी. फिर मैंने सोचा मां चुदाए … अपने को तो चूत मिल रही है … बस मजा लो … और मैं कौन सा दूध का धुला हूँ … मैंने भी कईयों की चूत बजाई है.

वो बारी बारी से मेरे दोनों स्तनों से दूध पीने लगा और मैं उसे बच्चे की तरह उसका सिर सहलाती रही.

मेरे दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था।मैं जैसे ही दीदी की चारपाई पर पहुंचा, उन्होंने भी अपनी आगोश में मुझे भर लिया। मेरा सिर उनके उभारों के मखमली और सबसे मुलायम जगह पर था।अपने मुंह को दीदी के उभारों में घुसा कर उस पहले अहसास के आनंद में ऐसा डूबने लगा कि मुझे पता ही नहीं चल रहा था कि अब और गहराई में उतरना है. इसलिए आज मैंने जब सफाई करके चूत को चिकनी करके लंड डाला तो लंड सट से अंदर सरक गया. भाभी की बातों से मुझे पता लग रहा था कि भाभी को अपनी सेक्स लाइफ में कुछ संतुष्टि नहीं मिल पा रही है.

नितिन सेक्सीजैसे ही मैंने अपने लंड पर हाथ रखा, उसी वक्त उसने अचानक ही मेरी तरफ देखा और मुझसे कुछ कहने लगी. उसके घर जाते हुए मुझे एक महीना हो चुका था, तो जाहिर सी बात है कि हम दोनों में अच्छी जान पहचान हो चुकी थी.

हिंदी सेक्सी गांड चुदाई वीडियो

मैंने उससे कहा- अपूर्वा मैं तुम्हें बहुत पसंद करता हूं … तुम मुझे बहुत अच्छी बहुत हॉट और बहुत सेक्सी लगती हो … मैं तुम्हें चोदने के सपने देखता रहता हूँ. मैं फोन लगाने के बहाने आंटी की गांड से टच होकर फोन मिलाने लग गया और अपने लन्ड को उपर से ही आंटी की गांड पर सेट करके फोन लगाने लग गया। मैंने आंटी को फोन लगा के दे दिया. मेरी सगी मम्मी लापता हो गयी थी तो मेरे पापा ने अपने से 12 साल छोटी लड़की जो गरीब घर की थी, से शादी कर ली थी.

फिर भाभी बोलीं- अच्छा जी … पर मुझे पहले ये तो बताओ कि आपको मुझमें ऐसा क्या ख़ास दिखा है … ये बताओगे जरा?मैं बोला- छोड़ो भाभी. उसके अन्दर आते ही मैंने टॉयलेट का दरवाजा बंद किया और उस पर टूट पड़ा. जैसे ही वो फ्री हुई, मेरे पास आयी, बोली- यार अभी नहीं।मैंने थोड़ा उनको इमोशन ब्लैकमेल किया और कहा- मैं ऊपर रूम में इंतजार कर रहा हूँ.

मैंने दीदी के रूम में जाकर दीदी को बड़े प्यार से कहा- दीदी मेरे पास एक रास्ता है … जिसमें आपकी चूत को चुदाई का मजा भी आएगा और हम पैसे भी कमा सकते हैं. फिर तो मेरा भी मूड बन गया और मैंने उसको कमर से पकड़ कर पीछे एक दीवार से सटा दिया. मैंने अपना लम्बा और गज़ब के मोटे लंड से परी की चूत के दरवाज़े पर दस्तक दी और हल्का सा झटका दिया.

इतना सुनने के बाद मैंने भाभी को कार से नीचे उतरने के लिए कहा और कार को लॉक कर दिया. मेरे मन में वो जिज्ञासा थी इसलिए मैं उसी के बारे में बात करना चाह रहा था तो मैंने दीदी से कहा- जिस बात के बारे में आपको परेशानी होगी मैं उसी के बारे में तो बात करुंगा न आपसे …वो बोली- हमारी सेक्स लाइफ के बारे में क्या बात करेगा तू, जब हमारे बीच में कुछ है ही नहीं तो.

उसके पैरों को देखकर मेरा लंड कड़क होने लगा था, पर मैं अभी कुछ कर भी नहीं सकता था.

अभी तक की पब्लिक बीच सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी? आप मुझे मेल करते रहिएगा. राजस्थानी आदिवासी सेक्सी बीपी वीडियोऔर मैं ये भी जानती हूं कि तुम उस दिन टॉयलेट में मुठ मार रहे थे मेरे नाम की! सच कहूँ तो मैं भी उस दिन चुदना चाहती थी लेकिन मौका नहीं मिला. सेक्सी विडीयो हिन्दी मेउसकी नर्म नर्म गोरी गोरी मांसल जांघें देखकर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे. आंटी की चूत को चोदते हुए मुझे मजा आने लगा और आंटी के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकलने लगीं.

‘ओह्ह्ह निहाल … आअह्ह मेरी जान … उम्म्ह… अहह… हय… याह… … मेरा निकलने वाला है … आह्ह्ह्ह …’मैंने जीभ के साथ साथ अपनी एक उंगली भी उसकी चूत में डाल दी और दूसरी उंगली से उसकी चूत के दाने को मसलने लगा.

मैंने पूरे मन से 4-5 मिनट खूब ज़ोर से उसकी चुदाई की और मैं फिर झड़ गया. मुझे 12 से 14 मिनट लगे होंगे वाशरूम में … और शायद वो सब सुन रही थी. पूरे समय वो मेरे आगे पीछे घूमता रहा था और जब कभी उसे मौका मिलता था, वो मुझे छूने, छेड़ने से रुकता नहीं था.

तो मैंने अपनी बीवी की फिगर सुधारने के लिए क्या किया? पढ़ें इस गंदी कहानी में!यह गंदी कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है, वास्तविकता से इसका कोई संबंध नहीं है. सौ एकड़ जमीन थी उसकी लगभग। घर के आस पास बहुत सारे आम के बगीचे थे और बगीचे से बाहर खेत ही खेत थे. क्योंकि पुरुष साथी ही संभोग के दौरान धक्कों की जिम्मेदारी लेता है, इसलिए स्त्री को समय समय पर आसन बदल कर धक्कों की जिम्मेदारी लेते रहनी चाहिए ताकि संभोग का आनन्द बना रहे और पुरुष को थोड़ा सुस्ताने का समय देते रहना चाहिए.

न्यू दिल्ली सेक्सी वीडियो

मैंने उसकी जीभ को चूसते हुए उसका एक बोबा ज़ोर से मसल दिया, वो सिसक गयी- अहह आहह आहहा आहह … धीरे करो न. मेरी चूत की सील कैसे टूटी, उसके बाद पहली चुदाई कैसे हुई और पहली चुदाई होने के बाद किस तरह से मेरी जिन्दगी बदलती चली गयी. मैंने आंटी को देख कर पूछा- आंटी दीदी कहां हैं?आंटी बोलीं- अन्दर हैं बेटा … क्यों क्या बात है?मैंने कहा- आंटी, मुझे दीदी से अपनी पढ़ाई को लेकर कुछ पूछना है.

थोड़ी देर में मम्मी झड़ गईं और शांत हो गईं … लेकिन मेरा अभी भी पानी नहीं निकला था.

रमा आज बहुत सुंदर दिख रही थी और हो भी क्यों न … वो हफ्ते में 3 दिन पार्लर जाने वाली महिला थी.

रोहण ने प्रिया की पिक देखते ही कहा- वाह क्या माल है यार … ऐसी पटाखा लड़की तो मैंने आज तक नहीं देखी … कौन है यह छमिया?मैंने बोला- एक टॉप की मॉडल है. दर्द से कराहती नमिता ने कहा- तुम्हारा लण्ड बहुत लम्बा है और मोटा भी. आडवाणी की सेक्सीआज से मैं तुम्हारी जान नहीं, तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूँ … उफफ्फ़ …दोस्तो, उसकी चुचियों को चोदते हुए मुझे दो तीन मिनट ही हुए थे लेकिन चूंकि ये मेरा पहली बार था … इसलिए मुझे लगा कि मेरा अब निकल जाएगा, इसलिए मैंने जल्दी से अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसके बाल पकड़ कर उसके मुँह को चोदने लगा.

उनके ये मदमस्त मम्मे मुझे तो क्या … हर किसी को बरबस ही उनका लुत्फ़ उठाने को मजबूर कर देते थे. काफी देर उसकी चूत को जीभ से चोदते हुए हो गई तो वो फिर से गाली देने लगी- साले मुझे अपने लौड़े से कब चोदेगा हरामी?मैंने कहा- रंडी, पहले वादा कर कि जितनी औरतों को तू जानती है उन सब की चूत मेरे लंड को दिलवायेगी. मैं आपको बताना चाहूंगा कि मेरी पत्नी बहुत ही खुले विचारों वाली है और वह मुझसे सेक्सी बातें खुलकर करती है.

दूध मसलने से उनको मस्ती सी चढ़ने लगी और वो ना जाने कैसी कैसी अजीब सी सिसकारियां लेने लगीं. पर वो धक्के ज्यादा गहराई तक नहीं थे, सो मुझे परेशानी की जगह आनन्द मिला.

मैं ध्यान से सुन रहा था, जिसमें सलमा अपनी सहेलियों की कहानी बता रही थी.

कोई पाठक मुझसे चुदाई की और बात जानना चाहता है, या मुझसे बात करना चाहता है, तो मुझे ईमेल कर सकता है. मैं दरवाज़े की झिरी के बीच से उन तीनों की सेक्स क्रिया को देखते हुए लंड हिलाने लगा. एक दूसरे में ऐसे खोये रहे 7 दिन तक जैसे हमारी जिन्दगी का मकसद सिर्फ यही है.

बिहार की औरतों की सेक्सी तभी सोनाली ने मेरे सिर के पीछे से मुझे अपनी पूरी ताकत से अपनी ओर खींच लिया. वो आयोडेक्स लगाने लगीं … लेकिन दर्द बेहद ज्यादा हो रहा था, तो दीदी लगा नहीं पा रही थीं.

मैंने उसका नाम बदल दिया है क्योंकि कहानी उसकी मॉम के बारे में है इसलिए मैं नहीं चाहता कि उसकी मॉम की पहचान किसी को पता चले. वो आंखें बंद करके इस सब का मज़ा ले रही थी। मैंने चूस चूस कर उसके बूब्स लाल बना दिए।जल्दी से मैंने उसकी सलवार भी उतार दी नीचे. मैंने ठोके और जोर जोर से मारे और कहा- अम्मा मुझे देखना है कि तू हस्तमैथुन कैसे करती हो.

सेक्सी वीडियो देहाती शादी वाला

इतनी खूबसूरत औरत आपके सामने खड़ी हो और आपके पास उसको पकड़ने के लिए जाल भी हो, तो सैयाद क्यों किसी पर तरस खाये. रात के 12 बजे महसूस हुआ कि कोई मेरे बदन से पकड़ कर मुझे हिला रहा है. मैंने सोचा कि आखिर वो मेरी क्लाइंट है, मैं उसको इस तरह से नाराज नहीं कर सकता.

फिर उसने अपने लंड के सुपारे को मेरी चुत की फांकों में रगड़ा और फंसा दिया. छठी मंजिल आने के बाद आंटी ने मुझसे हेल्प करने के लिए कहा तो मैंने उनको हां कहा और दो बैग उठा लिये.

मैंने अपनी सेक्स की शुरूआत अपनी स्टेप मॉम की चुदाई आज से दस साल पहले करके की थी.

रोहण ने प्रिया की पिक देखते ही कहा- वाह क्या माल है यार … ऐसी पटाखा लड़की तो मैंने आज तक नहीं देखी … कौन है यह छमिया?मैंने बोला- एक टॉप की मॉडल है. इससे मेरा काम भी चलता रहता और घर की बात घर में ही रहती।ये सब सुनकर मैं बहुत खुश हुआ और उसको चूमने लगा. चुदाई ही एक ऐसा तरीका है, जिससे उसकी साइज़ बढ़ेगी और वो हॉट लगने लगेगी.

इस सोच से ऊपर उठ कर सोचिये, आपको स्त्री में कई सारे गुण मिल जायेंगे. एक दिन उन्होंने मुझे इस बारे में टोक ही दिया, दीदी बोली- मैं देख रही हूं कि तू आजकल मुझ पर लाइन मारने की कोशिश कर रहा है. फिर इतने में ही वो कहने लगी कि मैं तो बातों ही बातों में तुमको पानी पिलाना भूल ही गई.

इतना कह कर पहले तो उसने अपने चेहरे पर गुस्से और नाराज़गी के भाव दिखाए, फिर कुछ पल के लिए एकदम से चुप हो गई.

बीएफ फिल्में देसी: अंगिका- आपका अपॉइंटमेंट थोडा जल्दी मिल सकता है क्या?मैं बोला- मैम, मैंने 5 आर्डर बुक किये हैं और 3 का तो एडवांस भी आ चुका है. मौलीश्री मेरे घर से कुछ दूरी पर रहती थी और वो अपनी स्कूटी से आती थी तो हम दोनों सहेलियां जिस दिन हम लोग की छुट्टी रहती थी, घूमने जाती थी.

लगभग नंगे हो जाने पर उससे रहा ही नहीं गया और उसने मेरी ब्रा पकड़ कर खींच दी. मैं देख रहा था कि हर कोई उसके बदन को छू रहा था … उसे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँ. पर जब मैंने गौर से अपने पेट को देखा, तो सच में बहुत लज्जा सा महसूस हुई कि मेरा पेट इतना बड़ा दिख रहा है और दूसरी के मेरी योनि उस लेगिंग में उभर कर दिख रही थी.

मुझे बाहर निकलने की आपा-धापी में समझ ही नहीं आया कि इन दोनों में से कौन सी भाभी मेरे साथ सैट हुई थी.

आज मुझे पता चल रहा था कि मेरी सभी सहेलियां अपने यारों के साथ चुदाई करके इतनी खुश कैसे रहती हैं. पांच मिनट बाद ही मेरे लंड से चुदते हुए वो सिसकारने लगी- आह्ह विक्की … आई लव यू … जोर से करो … मजा आ रहा है … आह्ह … आह्ह … उफ्फ … आह्ह। जानू चोद दे … आज से मैं तेरी हूं. उसकी चूत में लंड डालते हुए अब मुझे ऐसा लगने लगा था कि जैसे मैं किसी मक्खन के कटोरे में लंड को डाल रहा हूं.