देसी हरियाणवी बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स फकाफक

तस्वीर का शीर्षक ,

अच्छा ब्लू फिल्म: देसी हरियाणवी बीएफ, स्नेहा- तू कहे तो अभी बुला दूं भाई को, आज ही अपनी सुहागरात मना लेगा.

मारवाड़ी ओपन सेक्स वीडियो

आपने देखा कि इससे पहले वाली स्टोरी में बीवी की चुदाई उसके बॉस से हो चुकी थी. चुदाई देशीपूनम बड़ी तेज़ी से हांफ रही थीं और उनकी चुत लगातार कामरस छोड़े जा रही थी.

मैंने देखा कि वे चारों लड़के भी धीरे-धीरे करके मेरे पास ही आ रहे थे. हिंदी बफ डाउनलोडमैं आशा करता हूँ कि आपको मेरी पिछली कहानीकॉलेज की लड़की की पहली चुदाईपसंद आई होगी.

मैं- देखो इसे (अपना लंड दिखाते हुए), यह मुझे स्खलन के लिए कह रहा है, यह अपना माल निकालना चाहता है.देसी हरियाणवी बीएफ: करने लगी, फिर बोली- पहले खाना खा लेते हैं और मम्मी को फ्री कर देते हैं.

तो मजा लें गाँव की देसी गांड चुदाई का!नमस्कार दोस्तो, मैं राज रोहतक से अब विस्तार से बताऊंगा कि कैसे चाची की गांड भी मारी.मैंने उसे जल्दी से नीचे फर्श पर बिठाया और उसके मुँह और बोबों पर झड़ गया.

सेक्सी एक्स एक्स व्हिडीओ - देसी हरियाणवी बीएफ

तभी वो मेरी तरफ प्रश्नवाचक निगाहों से देखने लगी और मैंने बिना उत्तर दिए ही उसकी चूत में अपनी जीभ लगा कर चाटने लगा.वहां देखा तो उनके बेटे ने बताया कि मैकेनिक बुलाए थे, वे कह रहे थे वर्कशॉप पर ले जाना पड़ेगा.

मैंने वापस रिप्लाई किया कि आप कौन और कहां से हैं?तो उसने जवाब दिया कि मैं जयपुर से हूँ. देसी हरियाणवी बीएफ रात को हम दोनों आमने सामने लोअर बर्थ पर कूपे में थे … बाकी कूपे खाली थे.

अब संजना भी मूड में आ चुकी थी। वो मेरे के लंड के ऊपर बैठ गयी और उसे अपनी चूत में कर लिया।मैं हालांकि नशे में था मगर हुस्न के जलवे के सामने नशा काफ़ूर हो जाता है।विजय और मैंने दोनों ने मिलकर संजना को जमकर चोदा।बाद में संजना ने पूछा कि क्या अनीता भी इस खेल में शामिल होगी तो मैंने कहा कि उसने विजय को सुबह ही मना कर दिया था.

देसी हरियाणवी बीएफ?

मैं खड़ा हुआ तो उसने घुटनों के बल बैठ कर लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना शुरू कर दिया. भाभी- अच्छा ये देखो … मेरे मोबाइल में क्या है!मैं- हां भाभी देखता हूँ लेकिन आपने मुझे माफ तो किया ना!भाभी- हां रोहित, माफ किया. तब मैं अपने घर पर किंजल को ले आया और हम दोनों फ्रेश होकर नाश्ता करने बैठ गए.

दीदी इस वजह से जाग गईं और बोली- ये क्या कर रहे हो तुम?मैंने अपने लंड से दीदी को झटका मारा और बोला- आज यही करना है. अभय ने ही ममता को पूरे खानदान के चुदक्कड़ होने की बात कही थी, जिसे सुनकर ममता को विश्वास नहीं हो रहा था. तभी उसने बोला- खुद को अकेले संभाल लोगे!मैंने कहा- अरे वो सब देख लूंगा.

देसी कपल स्वैप स्टोरी में पढ़ें कि मेरे शहर के एक कपल ने स्वैप के लिए मुझसे सम्पर्क किया. आज मैं उस सेक्स कहानी को आगे लिख रहा हूँ, जिसे मैंने उनके घर पर रह कर उन्हें चोदा था. शाम को 5:00 बजे मयंक रूम पर आया और हम दोनों ने रात के लिए प्लानिंग की.

मेरी उत्तेजना इतनी बढ़ गई थी कि मैंने कुछ ही पलों में लण्ड को पेटीकोट में दबाया और हाथ से मुठ मारने लगा. दिनकर हंसने लगा- हां बेटा, तुझे तो मालूम ही है कि तेरी लुगाई तेरे लंड से पहले अपने ससुर के लौड़ों को खुश करेगी.

मैंने वैसे ही किया और अपना हाथ कमर पर रखते हुए उसके लंड के पास को ले जाती.

फूफाजी ने पुराने मकान के साथ पड़ी खाली जमीन पर और कमरे बनवा कर अपने मकान को बहुत सुंदर और बड़ा बना लिया था.

भाभी- अच्छा जी … मेरी जूती मेरे ही सर … हा हा हा …मैं- ओके भाभी अब मैं सोने जा रहा हूँ. शाम को मम्मी, बहन और सारे पड़ोसी मिलकर चार घंटे तक बातचीत गपशप करते रहते हैं. एक मिनट से भी कम समय में भाभी जोर जोर से आहें भर रही थीं- आह शुभ यू आर सो गुड … आह … आह.

जब उसे लम्बे समय के लिए अपनी पत्नी से दूर रहना पड़ा तो उसे अपनी तनहा रातें काटना दुश्वार हो गया. ”ठीक है, बुलाओ उसे, हम समझें तो सही कि वो चाहता क्या है?”राबर्ट आया तो मैंने पूछा- तुम पायल को चोदने की बात कर रहे हो, पहले किसी को चोदा है?वो बताने लगा:हाँ, अपनी स्कूल प्रिंसिपल को. गाड़ी का गेट खुल गया, मैं गाड़ी के नजदीक गया तो गाड़ी में एक बहुत ही सुंदर लड़की बैठी थी, जो गाड़ी चला रही थी.

कॉलेज में किंजल का एक दोस्त था जो कि उसे बाद में उस समय परेशान करने लगा था जब किंजल की शादी तय हो गई थी.

लिली वाइन के पूरे खुमार में थी और मुझे भी तरह तरह से काट और चूस रही थी. अब मेरे बूब्स मेरे बैग से ढके हुए थे जिससे अगर वो मेरे बूब्स दबाता तो किसी को दिखाई नहीं देता. उसके नंगे उरोजों को देख कर मैं बेचैन हो गया और मैं उसके दूध पीने लगा और साथ ही स्तनों को मसल रहा था।उसकी आहें तेज हो गयीं.

अबकी बार मैंने फ़लक को बेड पर घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी सुन्दर चूत की फाँकों को अलग करते हुए पूरा लण्ड चूत में बैठा दिया. अचानक यामिना ने अपनी टाँगों को छत की ओर उठा कर चौड़ा कर लिया और मुझे बोली- जोर … जोर से करो, चोद चोद … कर फाड़ दो … मेरी चूत को, हाय सर … पहले … कहाँ थे … मेरी तो जिन्दगी … ही सँवार दी आपने. मैंने उसी वक्त उनकी टांगों को छोड़ा और चुत की दोनों पुत्तियों को पकड़ कर अगल अलग तरफ खींच लिया.

काफी देर तक मैंने उसके स्तनों को दबाने का मजा लिया और फिर उसकी ब्रा के हुक खोलकर ब्रा को भी हटा दिया.

तेज बारिश में उसकी आवाज दब गई और मेरा लौड़ा सटासट सटासट अन्दर बाहर होने लगा. वो मेरे शरीर को चूमते चूमते नीचे को आ गईं और मेरे लंड को अपने हाथों में पकड़ लिया.

देसी हरियाणवी बीएफ पल्लवी बीच में बात काटते हुए बोली- कल वापिस जाना है क्या … शिट!चिराग- ओ हैल्लो मैडम … पहले पूरी बात तो सुन लो महारानी. कल भी जब वो मुझे दरवाजे तक छोड़ने आयी थी तो उसने मेरे हाथ से हाथ टच करने की कोशिश की थी.

देसी हरियाणवी बीएफ शर्ट निकलते ही यामिना की बड़ी बड़ी गोरी चूचियाँ उसकी ब्रा को फाड़कर बाहर उछलने को हो रही थीं. जितनों का मैंने अभी तक अपनी चुत में लिया था, उन सबसे ज्यादा मोटा लंड था.

भाभी ने गर्म पानी से उसकी चूत की सिकाई की क्योंकि उसकी झिल्ली फटने के बाद थोड़ा ब्लड आ रहा था.

एक्स एक्स सेक्सी मूवी एचडी

वैसे उसका फिगर 32-28-30 का था, ये मैंने उसके साथ सेक्स के बाद खुद नापा था. इधर रमण का लंड खाली नहीं हो रहा था।अनीता ने नीचे बैठ कर उसका लंड ज़ोर ज़ोर से चूस कर निचोड़ दिया।रमण ने उससे ये वादा लिया कि अब जब भी प्रकाश की दारूपार्टी होगी वो ऐसे ही सेक्स का मजा लेंगे।तो दोस्तो, इस तरह से अनीता ने अपने ही घर में एक गैर मर्द से चुदाई करवाई और अपने पति की शराब की लत का फायदा उठाकर पराया लंड लेती रही. बाद में मैंने एक एक करके तीनों के चुचे चूसे और तीनों को एक साथ लेटा कर मैं उनकी टांगों को चाटने लगा.

मैंने पड़ोसन रीना को चोदते हुए शालू की शर्ट के अन्दर हाथ डाल दिया और उसकी नंगी चूचियों को मसलने लगा. तीसरी कयामत के रूप में अनु दीदी का नशीला बदन एक पारदर्शी गाउन में लड़कों के तनबदन में आग लगा रहा था. पापा मम्मी की बात सुनकर मैं डर गया कि अब मुझे अलग कमरे में सोना पड़ेगा और मॉम डैड सेक्स देखने को नहीं मिलेगा.

मैं अभी अपने रूम में एक कुर्सी पर बैठ कर मोबाइल से ये कहानी नोटबुक में लिख रहा था … तो इसे एक बार में पूरी नहीं लिखा सका था.

यकीन कीजिये आपको बहुत मज़ा आने वाला है इस हॉट लड़की की चुदाई कहानी में।बात आज से एक साल पहले की है. उसके बाद दो तीन दिन तक मैं मौके की तलाश में रहा … लेकिन मौका नहीं मिला. जिससे आप मेरे जीवन के एक पहलू को पहचान सकेंगे और समझ सकेंगे कि कोई आम लड़का भी सुबह शाम कैसे सेक्स कर सकता है.

मुझे किंजल के मुँह से उसके पति को गालियां देकर बात सुनना खूब पसंद आता था. दोस्तो, एक बार फिर से मैं आप अभी के सामने एक नई बिग बूब्स स्टोरी के साथ हाज़िर हूँ. वो मेरे नीचे लेट गई और मेरा सख्त लंड पकड़ कर अपनी चुत की फांकों में ले गयी.

उस दिन रात के करीब 8 बजे थे, तो ताई और भाभी ने खाना बनाया और मुझे भी खाने के लिए बुलाया. उन्होंने नीचे हाथ करके मेरा लंड पकड़ लिया था जिससे लंड एकदम टाइट हो गया था.

फिर उससे रुका नहीं गया, तो वो मेरी बहन की चूत में अपना लंड आगे पीछे करने लगा. वो मेरी तरफ देखकर बोलीं- ये तो मैं हूँ!मैंने कहा- हां चाची … मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ. मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी और गपागप गपागप अन्दर बाहर पेलने लगा.

” मैंने नर्म आवाज में उसके कान में कहा।अमन का जवान लंड तनाव में आकर झटके देने लगा था.

फिर हम सबने साथ मिल कर लंच किया और सब अपने अपने कमरे में जाने वाले थे कि तभी पीहू उठ गई. मैंने अपना लंड उसकी गांड पर सेट करके एक जोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी गांड में आधा चला गया।वो जोर से चीख पड़ी- आह्ह ये क्या? मर जाऊंगी मैं, बाहर निकालो।मैं- चुप कर साली, वर्ना तेरी मम्मी आ जायेगी. इतना बोल कर विराज ने पल्लवी का चेहरा पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर एक लम्बा किस कर दिया और ‘लव यू पल्ली.

तभी उसने अपना एक निप्पल मेरे मुँह में दे दिया और एक मिनट चुसवाने के बाद वो अचानक से नीचे झुक गई. जब मैं बाहर आया तो उसने मेरी चुटकी ली- हाथ धो आए जीजू, चलो गर्म गर्म भजिया खा लीजिए.

चौड़ी छाती, पतली कमर से होते हुए अपने मस्त गोल गोल चूतड़ों वाली इकहरी काया की रंजू के पैर जमीन से ऊपर उठ रहे थे. जैसे ही मेरे होंठों ने शायरा के होंठों के रस को पीना शुरू किया, एक बार फिर से उसने अपनी बड़ी बड़ी आंखें खोलकर बन्द की, मगर फिर अगले ही पल उसने भी धीरे धीरे मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मोना भाभी मुझसे छूटने की कोशिश भी ऐसे कर रही थीं, जैसे उनके मन भी मुझसे छूटने का मन न हो.

सेक्सी पिक्चर चोदी चोदा वाला वीडियो

एक मिनट बाद मयंक ने दरवाजा खटखटाया तो मैंने उठकर कमरे का दरवाजा खोला.

मैंने दिव्या की गर्दन और गले के पूरे क्षेत्र को अपनी जीभ से सहलाना शुरू कर दिया।दिव्या की सिसकारियां लगातार बढ़ती जा रही थीं- छोड़ दो, मौस्स्सा जी ईई … बड़ी प्रॉब्लम हो रही है, प्लीज छोड़ दो।ये बोलते हुए भी दिव्या नीचे अपने हाथ को लगातार मेरे लिंग पर टकरा रही थी।मैं समझ चुका था कि अब दिव्या को इसकी जरूरत है. उसके मुंह से चीख निकल गयी- उफ्फ … उम्म!उसे दर्द हुआ था लेकिन उसने अपने आपको सम्भाले रखा. धीरे-धीरे उसे बातचीत खुल कर होने लगी और कुछ दिन बाद मैंने उससे अपने प्यार का इजहार कर दिया.

काफी देर बाद हम लोग अलग हुए, मैम ने मेरा कॉण्डोम उतारा और चाट चाटकर मेरा लण्ड साफ करने लगीं. एक बार इसी तरह हम दोनों मैसेज पर बातें कर रहे थे और मैंने उससे पूछा- ये फ़ोन सेक्स क्या होता है?उसने बोला- फ़ोन या मैसेज पर बात करते हुए खुद हस्तमैथुन करने को फ़ोन सेक्स कहते हैं।मैंने हिम्मत करके उसको पूछ लिया- हम करें क्या?उसने हाँ बोला और कहा- यह बात सिर्फ हम दोनों के बीच ही रहनी चाहिए और सिर्फ फ़ोन तक ही रखना. मराठी क्सक्सक्समैंने उससे चाय के लिए पूछा, तो वो मना करने लगी कि रहने दो, कौन बनाएगा.

वहां देखा तो उनके बेटे ने बताया कि मैकेनिक बुलाए थे, वे कह रहे थे वर्कशॉप पर ले जाना पड़ेगा. मेरे इस मकान मालिक का नाम प्रमोद था, वो कॉलेज भी जाता था और उसने घर में ही एक छोटी सी परचूनी की दुकान भी खोल रखी थी.

चूंकि प्रशासन ने दवाइयों की दुकानें खुली रखी थीं, तो उस दिन खाना खाने के बाद मैं सो गया और शाम को एक सेक्स पावर बढ़ाने वाली एक गोली ले आया ताकि अच्छी तरह से भाभी की भोस का भोसड़ा बना सकूं. वो कहे जा रही थीं- आह जानू … तुमने मुझे ये क्या कर दिया … अह … करते रहो मुझे बड़ा अच्छा लग रहा है यश आह. फिर मैंने अपनी निक्कर और अंडरवियर उतार दी और तना हुआ 7 इंच का लंड हॉट चाची के हाथ में दिया और मुँह में लेने को कहा.

इसलिए मैं कई बार उससे लिपट कर सो जाता था … और वो बुरा भी नहीं मानती थी. पीहू को लेकर मैं बाहर गॉर्डन में आ गई और उधर किचन में दोनों काम में लग गईं. हम दोनों की साँसें तेज होने लगीं, मेरी छाती पर थोड़ा हाथ मसलने के बाद यामिना मेरे पाँव की मसाज करने लगी.

वो सिर्फ रोमांस में डूबी थी, उसे होश ही नहीं था कि लंड क्या करने वाला है.

मैंने भाई के लंड को पकड़ा, तो लगा कि यह भी अशोक के लंड की बराबरी करता है. भाभी जी- नहीं आरुष, अब से तो मैं तुम्हारी और भी ज़्यादा दीवानी हो गई हूं.

मैंने उसे पलंग पर लिटाकर पहले एसी चालू किया और टीवी पर धीमी आवाज़ पर रोमांटिक गाने चालू कर दिए. और अन्दर ले भैन के लंड … साले गांडू आज तेरी गांड को ऐसे चोदूंगा कि अब तक किसी ने नहीं चोदी होगी. जब बचपन में मैं निखिल के छोटे होंठों को चूमती थी, तो मुझे बहुत ही खुशी मिलती थी.

मयंक ने कहा- आप हमें ज्वाइन नहीं करेंगी?संगीता हंसते हुए वहीं हमारे पास सोफे पर बैठ गई और बोली- हां चलो साथ में ही लेते हैं. मेरा भी चरमोत्कर्ष अब करीब ही था, इसलिए मैं उन्हें वैसे ही पकड़े चोदता रहा और जोरो से लंड चुत में अन्दर बाहर करता रहा. मैं लंड दबाए हुए दूसरे बाथरूम में चला गया और उधर लंड का माल गिरा कर खुद की सांसों को नियंत्रित किया.

देसी हरियाणवी बीएफ मैं अब किसी की कोई बात सुनने के लिए तैयार नहीं थी, इसलिए हम दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली. तुम्हारी जान तुमसे मिलने आएगी और वो सब होगा जो आज बाकी रह गया है। मैं कल दिन में तुमसे बात करूंगी.

बिहार वाला हिंदी बीएफ

मेरी तबियत ठीक नहीं लग रही थी तो मैंने छुट्टी कर ली और रूम पर रूक गया।दिन में करीब 11 बजे मेरा फोन बजा. मैं- यार प्रमोद, रोज रोज एक ही मिठाई अच्छी नहीं लगती, कभी लड्डू, कभी पेड़े, कभी बर्फी. आपको हॉट देसी औरत चुदाई कहानी कैसी लगी … बताने के लिए मुझे मेरी मेल पर अपनी राय जरूर भेजिएगा.

रमण के कमरे में अनीता ने रमण से अपनी चूत मरवाई और फिर जल्दी से नीचे आ गयी. संगीता ने बेसब्र होते हुए कहा- अब बातें ही करते रहोगे या मेरे लिए एक व्हिस्की का पैग भी बनाओगे … मुझे थकान हो रही है. മലയാളം സെക്സ് വീഡിയോवो सिर्फ रोमांस में डूबी थी, उसे होश ही नहीं था कि लंड क्या करने वाला है.

मैं अदल बदल कर उसके मम्मों को चूस रहा था और वो मेरे लंड को जड़ तक चूत में लिए हुए आगे पीछे करते हुए धीरे धीरे रगड़ रही थी.

आप जानना चाहते हैं कि मैंने कैसे मजा लिया? तो मेरी इस कामुक स्टोरी को पढ़ें।दोस्तो, मेरे अंदर ठरक कूट कूटकर भरी हुई है. एक दिन अन्तर्वासना पर भाई बहन की सेक्स कहानी पढ़ते हुए मुझे भी मेरी दीदी को चोदने का और उनकी चूचियां दबाने का बहुत मन कर रहा था.

जिन्दगी में पहली बार बुर चोदने का मौका मिला है और आपके चूचे इतने मस्त हैं कि दिल करता है कि चूसता ही रहूं. इसकी चूत में अपने लंड को देकर मैं इसकी चूत की सही से चटनी बनाती और सारा रस निकाल देती इसको चोदकर।मैंने हल्के से उसकी टांगें फैलाईं और योनि को छुआ. इसलिए मैं कई बार उससे लिपट कर सो जाता था … और वो बुरा भी नहीं मानती थी.

पता नहीं क्यों … मुझे हंसी आने लगी अपनी किस्मत पर कि देखो … मेरा पहला ही दिन कैसा गया है.

अब फच्च फच्च … की आवाज के साथ लंड उसकी चूत में अंदर बाहर हो रहा था. वो ग्राहकों को हंस कर तो कभी झिड़क कर दारू बेचती रही और मैं उसके पास बैठ कर मजे से सिगरेट का धुंआ उड़ाता रहा. उनकी बात मेरे मन में घर कर गई और आज उसी विषय पर एक सेक्स कहानी पेश है.

एक्स एक्स हॉट सेक्सी वीडियोतभी मेरी आंख खुल गई और वो जो मैं सपने में देख रहा था, मेरे सामने हकीकत बन कर आया गया था. मैं रेखा की चूचियों को मसलने लगा और उसकी कामुक आवाजें फिर से तेज़ हो गईं.

देसी भाभी के साथ सेक्स

धीरे-धीरे उसे बातचीत खुल कर होने लगी और कुछ दिन बाद मैंने उससे अपने प्यार का इजहार कर दिया. मैंने पैंट को उसके चूतड़ों से नीचे कर दिया, यामिना ने उसे खुद ही नीचे करके अपने पाँव से बेड के नीचे गिरा दिया. वो अब उधर फंसे हुए हैं, अब तो उनका आना लॉकडाउन खुलने के बाद ही हो सकेगा.

भाभी के साथ जो भी हुआ, उसे बताने से पहले एक बार इनकी जानकारी दे देता हूँ. बाहर आने पर तो वो इतना ढीला था कि मुझे सोचने पर मजबूर होना पड़ा कि पता नहीं पहले कैसे यह लोहे की रॉड सा बना हुआ था. उन झटकों की वजह से वो सरक सरक कर बिल्कुल मेरी पीठ से चिपक ही गयी थी.

मामी मुझे नहलाने लगीं और साबुन लंड पर लगा कर उसे अच्छे से साफ कर दिया. हम बाहर आ गए और लिली अपनी मम्मी के रूम में जाकर खाना लगाने के लिए बोल आयी. मेरा कुछ ही देर में छूटने वाला था, तो मैंने बुआ से कहा- मेरा 2-4 मिनट में होने को है.

अब आगे माउथ सेक्स की कहानी:मैंने संगीता को अपनी बांहों में ऊपर उठा लिया और बेड की तरफ ले गया. तो संगीता बोली- और हां मयंक … तुम अपने साथ व्हिस्की और गिलास लेते आना.

साथ ही उसने अपनी ड्रेस भी बदल ली थी, अब वो शॉर्ट निक्कर और टॉप में आई थी.

कुछ देर बाद मेरे शरीर में अकड़न होने लगी और झटकों के साथ मेरे लौड़े ने वीर्य छोड़ दिया. যৌন মিলন ভিডিওउसके बाद अमन ने रात में तीन बारमेरी बहन को चोदाऔर एक बार उनकी गांड भी मारी. ब्लू पिक्चर सेक्सी भोजपुरी मेंपता नहीं क्यूँ लेकिन उसे ये विश्वास था कि आज उसे धारा से बात करने का मौक़ा मिल सकता है. पेरेंट्स के जाते ही मैंने घर का दरवाजा बंद किया और पजामा निकाल कर एक कोने में बैठ गया.

बूब्स बड़े करने के तरीकों की अधिक जानकारी करना हो या कुछ अन्य मदद चाहिए हो, तो बेहिचक मेल से बताइएगा.

आप मेल जरूर करें ताकि मैं आपके लिए ऐसे ही और भी कहानियां लाता रहूं. वो मेरी आंखों में वासना से देखने लगी तो मैंने उसे हल्का से इशारा किया. वैसे अब आपने मुझे और ज्यादा बेचैन कर दिया है और मैं रुक नहीं पा रही हूं.

ऑफ़िस की कैंटीन में बैठ कर लंच करते-करते शेखर फिर से धारा और ललित के बारे में सोचने लगा. मैंने उनको आगे से थोड़ी नीचे होने को कहा, तो उसने वैसा ही किया … जिससे बुआ की गांड थोड़ी बाहर को उभर आयी और मेरे लिए थोड़ी आसानी भी हो गयी. उसके लंड की नसों की धमनी मुझे मेरे हाथ पर साफ महसूस हो रही थी और मुझे पूरा पता चल रहा था कि लंड एकदम से पूरे तनाव में आ चुका है।क्या तुम्हें मेरी गांड सच में इतनी पसंद है? ईमानदारी से बताओ और सही से कहो कि तुम इसके बारे में कैसा फील करते हो.

हेमा मालिनी बीएफ सेक्सी

सच में बड़ी ही मस्त किस थी वो!उसकी ज़ुबान पूरी तरह से मेरे मुँह में आ गई थी और मेरी ज़ुबान से लड़ रही थी. मैं अपने एक हाथ से उनके चुचे को दबा रहा था और दूसरे चुचे को मुँह में लेकर चूस रहा था. मेरे चाचा का कुछ पता नहीं रहता है कि वो किधर मटरगश्ती करते घूम रहे हैं और मेरी चाची चारा काटने खेत गई थीं.

मैंने दीदी की गीली पैंटी को उठा लिया और उसे उल्टा किया, तो देखा कि जहां पर दीदी की चूत का छेद था … वहां पर सफ़ेद मलाई सा चूत का पानी लगा हुआ था.

वो बोली- अरे राज जी … आप आ गये! आपको मेरी ननद तंग तो नहीं कर रही?मैंने कहा- नहीं.

पत्नी- ये नहीं हो सकता … घर चल कर कर लेना, यहां ये सब नहीं हो पाएगा. चिराग- पापा, इस वीकेंड दो दिन की छुट्टी मिल रही है … और स्नेहा का मन भी है, प्लीज जाने दो ना … थोड़ा चेंज भी हो जाएगा!पापा- ओके ओके … तुम कितने लोग जा रहे हो?चिराग- पापा हम 8 लोग हैं बस!मुकेश- ठीक है, मैं एक मिनी बस बुक कर देता हूँ, जिसमें तुम सब सेफ रहोगे और वहां मेरे दोस्त का रिसॉर्ट भी है. सेक्सी वीडियो मारवाड़ी चुदाईज्योति- तन्वी तू क्या बोलती है?तन्वी- कहां की प्लानिंग की है स्नेहा?स्नेहा- तुझे कैसे पता ये प्लानिंग मेरी है?पल्लवी- तेरी गांड में कहीं भी घूमने जाने की ज्यादा खुजली होती है.

कुछ देर चुप खड़ी रहने के बाद बोली- सॉरी सर, मैं उस दिन की बदतमीजी के लिए सॉरी बोलती हूँ. अब आगे होटल रूम सेक्स स्टोरी:वो बोली- ठीक है, मैं कहानी पढ़कर आपको बताऊंगी. थोड़ी देर बाद उसने लंड निकाल दिया और बोली- कौन आई थी?मैंने कहा- क्या मतलब?वो बोली- मुझसे झूठ मत बोलो तुम्हारे लौड़े में चूत का पानी लगा है.

भाभी भी मेरे लंड को आईसक्रीम की तरह ऐसे चूस रही थीं जैसे इसे वो आज खा जाएंगी या उनको बाद में लंड मिलेगा ही नहीं. पापा ने मम्मी की चूत में उंगली डालकर देखा कि मम्मी की चूत पानी छोड़ने लगी थी.

तेजी से लंड पर हाथ चलाते हुए फिर मेरी चरम सीमा आ गयी और मैंने अपने लंड का माल झाड़ दिया.

अमन को भी अपनी सजा में पूरा मजा आया और उसको एक सही उत्तर मिला जो हरकत उसने की थी।तो आपको मेरा ये कामुक अनुभव कैसा लगा? मैं एक तीखी बी. मैंने किचन में जाकर देखा, तो एक बर्तन में केलॉग्स और दो बोतल दूध निकाल कर रखा हुआ था. मैंने कम से कम दस मिनट तक उसके होंठों को खूब चूसा लेकिन तब भी उसके होंठों का रस कम नहीं हुआ.

देशी बी एफ अलवीना ने कहा- अगर तुम चाहो तो हम दोनों किसी बार में ड्रिंक करने चल सकते हैं. तुम्हारी जान तुमसे मिलने आएगी और वो सब होगा जो आज बाकी रह गया है। मैं कल दिन में तुमसे बात करूंगी.

मेरे देवर ने मुझसे कहा- भाभी भरोसा रखो … यह मैंने आपकी खुशी के लिए ही किया है. लेकिन मैं तो मानने के लिए तैयार ही नहीं थी क्योंकि आज बहुत दिनों बाद मेरी एक इच्छा पूरी होने जा रही थी. सुबह मम्मी किचन में पापा से कह रही थीं कि गोलू ने रात सब देख लिया था.

बीएफ फुल सेक्सी वीडियो

मैं बोला- साली रंडी … जब तक तू मेरे लंड को मुँह में नहीं लेती, तब तक तुझे नहीं चोदूंगा. बेडरूम का दरवाजा खुला था इसलिए बेडरूम की तरफ जाते ही शायरा मुझे सामने ही बेड पर बैठी नजर आई. सारी कागजी औपचारिकता पूरी होने के बाद हमें कंपनी दिखाने के लिए एक सर हमारे साथ गए.

मैंने बड़ी फुर्ती में काम आगे बढ़ाते हुए अपना एक हाथ रोशना के मम्मों से लगा दिया. पता नहीं ऐसे क्यों कांप रहे थे शायरा के होंठ … मेरे होंठों से मिलने के लिए या मेरे होंठ उसे ना छुए इसलिए?ये तो मुझे नहीं पता था … मगर फिर भी मैं अब उसके होंठों की तरफ अपने होंठ ले जाने लगा.

मैंने रोशना को बांहों में उठाकर पंलग पर लेटा दिया व उसकी पैंटी के ऊपर से ही चूत को चूमने लगा था.

उन्होंने अपना लंड मम्मी के मुँह में दे दिया और मम्मी की चूत चाटने लगे. नाइटी के बाजू इतने छोटे और ढीले थे कि केवल उनके कंधे ही थोड़े ढके हुए थे जिनके अंदर से चाची की सुंदर गुदाज़ गोरी बगलें और उनके नीचे चूचियों तक की साइड का सेक्सी भाग दिखाई दे रहा था. वो उखड़ी हुई सांसों से बोली- सर, आप तो बहुत जबरदस्त तरीके से फ़किंग करते हो, आह … आज तो मजा आ गया जिंदगी का … ओह माई गॉड … आह … आह … फ़क मी हार्ड … ज़ोर से चोदो.

इतने से उसका मन नहीं भरा तो वो उठ कर चुदने की पोजीशन में आकर मेरे लंड पर चुत सैट करके बैठ गई और मेरा पूरा लंड चुत में डलवा कर ऊपर बैठ गई. अब ऐसा तो हो नहीं सकता कि समीर गया … उसका पेटीकोट उठाया, चूत में लंड डाला … चोदा और चला आया. सुबह पापा मम्मी से कह रहे थे- कल रात बहुत मजा आया न?मम्मी ने हां में सिर हिला दिया.

कल क्या है कि बच्चे पढ़ने चले जाएंगे और यहां हम दोनों ठीक से बात करेंगे.

देसी हरियाणवी बीएफ: सेक्स चैट में साफ़ समझ आ रहा था कि अमन मेरी बहन रीना को चोदना चाहता है, पर मेरी बहन रीना नहीं मान रही थीं. उसके बाद साल भर तक मैं महीने में 2-3 बार उसको होटल ले जाकर चोदता रहा.

तब मैम ने मेरी पैन्ट खोलकर मेरा लण्ड निकाल लिया और उसके टोपे को सहलाने लगीं. वो मेरी तरफ देखता ही रह गया और दोनों लिफाफों को अपने पास रखते हुए बोला- मैडम, मैं अपने जीवन में कुछ भी भूल जाऊं, मगर आपको कभी नहीं भूलूंगा. अजय- हां मेरी रंडी, मेरा लंड अब भी तेरी चुत फाड़ने के लिए फड़फड़ाता है … आ जा साली, तेरी गांड मारने का बड़ा जी कर रहा है.

फिर भी मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था। अब मैं अपने लंड को उसकी चूत की फांकों में फंसा लिया.

हौले हौले से पैर रखते हुए वो मेरी ओर अपनी कमर को लचकाते हुए आगे बढ़ रही थी. मैंने पहले अपना नंबर सेव करके उनका नंबर लेने के लिए हाय का मैसेज कर दिया. ’ कर जोर से चिल्लाने लगी- अआह जान मारो … और जोर से मारो आह्ह मजा आ गया … आह मेरी गांड को आज लाल बना दो … यह कब से तड़प रही थी.