ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,पोर्न वीडियो हद हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

कोकण सेक्सी: ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर, दीदी के सामने लंड को हिलाते हुए वो दीदी के मुंह पर लंड को पटक रहा था.

मां बेटे की बीएफ दिखाएं

वह मना करता ही रहा पर वे उसके ऊपर चढ़ बैठे और अपना आजमूदा हथियार चालू कर दिया, अंदर बाहर … अंदर बाहर!वे लगे हुए थे, मुझे उन देानों की आवाजें आ रहीं थीं, नींद खुल गई. सेक्सी वीडियो देसी बिहारीउसी कार्यालय में काम कर रही एक अन्य लड़की, जो दिखने में बहुत ही सुन्दर थी.

अगले दिन मैंने जल्दी से सब काम निपटा दिया और घर पर, दोस्त के घर जाने की कहकर निकल गया. सेक्सी फिल्म बीएफ भेजेंमेरी इस गे सेक्स स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि कैसे एक गांडू मास्टर मेरी क्लिनिक में आये अपने लंड का इलाज करवाने.

कुछ मिनट बाद अनिल ने अपना लंड निकाल लिया और मॉम को किनारे पर कुतिया बना कर सैट कर दिया.ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर: मैं उनकी पिंडलियों पर तेल लगा रहा था, जिससे मेरी मॉम को बड़ा अच्छा लग रहा था.

फिर रास्ते में स्पीड ब्रेकर पर बाइक उछली तो उसकी बहन ने मेरी जांघ पर हाथ रख लिया.फिर से एक और ज़ोर के धक्के के साथ मैंने अपना पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक डाल दिया और रुक गया.

नर्स को चोदा - ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर

मैंने उससे कहा- ऐसा क्या है मोनिषा आंटी में … जो तू उसे चोदना चाहता है?उसने कहा- भाई इस टाइम मोनिषा को देखा है तूने … कितनी हॉट और सेक्सी हो रही हैं.वो चाय पीते पीते बात करने लगा और फिर एक ऐसा सवाल उसने मुझसे पूछा, जिसके बारे में मैंने कभी सोचा ही नहीं था.

उसके मुंह में लंड को देकर मैंने उसके मुंह को चोदना शुरू किया और एक मिनट के अंदर ही मेरे लंड ने वीर्य उसके मुंह में छोड़ दिया. ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर फिर उसने खुद ही अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के मुंह पर रखवा लिया.

राजशेखर- हां सारिका, और ये बात सिर्फ हम तीनों में रहेगी, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर?

कल्लू मम्मी के पास आ गया था और उसने अपने होंठ माँ के होंठों से जोड़ दिए थे. मैं जाग गया, तो उसने मुझे लगभग दबोचते हुए कहा- चचा भोसड़ी के … दो को चोद चुके हो, अपनी इस परमानेंट रखैल की आग भी बुझा दो. दीदी के बाल खुले हुए थे और प्रिंसीपल के हाथ दीदी के चूचों को जोर से मसल रहे थे.

मैं थोड़ा खुश हुआ, इसी खुशी में मैंने कहा- आज तुम मुझे ज़िन्दगी भर याद रखोगी. मैंने उसकी छाती से चिपकते हुए कहा- हां ले चल … मुझे कोई चिंता नहीं है. मेरे मोटे लंड को हाथ में लेते ही मामी के चेहरे की वासना दोगुनी दिखाई पड़ने लगी.

मैंने कहा- जानू अभी तो आधी ही अन्दर गयी है … अभी तो मैं इसमें पूरा हाथ भर का अपना अन्दर डालूँगा. सबको इस जिस्म से तो प्यार था, पर कोई मुझे अपने साथ कहीं ले नहीं जाना चाहता था. उसका लंड जब भी मेरी बच्चेदानी को छू जाता … तो मेरी किलकारी निकल जाती थी.

उसे बेइन्तहा मज़ा आने लगा था और वो मेरे सर को पकड़ कर चूत की तरफ धकेलने लगी. ये सुन कर मुझे बहुत बुरा लगा, इसलिए मैंने उससे कहा- जब हम लोग एक ही शहर में रहते हैं, तो जब मन हो … खाना खाने आ जाया करे.

मैंने महसूस किया कि अब जब भी मैं उसको देखता, तो वो मेरे लंड के उभार को देखने की कोशिश करने लगती थी.

पर पढ़ाई में मेरा बिल्कुल मन नहीं लग रहा था, मुझे तो बस आंटी ही दिखाई दे रही थी.

विद्या ने मुझे यूं एकटक अपने मम्मों को निहारते हुए देखा, तो उसे अपने हाथों से मेरे सिर को पकड़ कर अपने मम्मों पर लगा दिया. मेरा नाम शैलजा सिंह है और मैं उत्तर प्रदेश के कानुपर की रहने वाली हूं. धीरे धीरे गति बढ़ाते हुए पेलना शुरू किया तो ऐसा लगा कि बस ये पल यहीं रुक जाए अभी के अभी … सैक्स के अलावा दुनिया में इतना मज़ा ना कभी किसी को आ सकता है, ना कभी आएगा.

उसी बीच में उन्होंने मुझसे कहा- टॉयलेट किधर है?मेरा टॉयलेट रूम में ही था, तो मैंने इशारा कर दिया. वो बोली- अच्छा, तो फिर फोन कर लेते?मैंने कहा- नहीं बस इसलिए नहीं किया कि आप और मामा जी अभी लगे हुए होगे. वहां की प्रिंसीपल स्कूल के मालिक और मैनेजर साहब की पत्नी थीं, एक गठीले एवं पूर्ण विकसित शरीर की मालकिन थी.

उसने बताया कि कई बार उसका पति काम के सिलसिले में घर से बाहर रहता है.

उसने राजशेखर को पीठ के बल लेटने को कहा और खुद उसके लिंग को पकड़ चूसने लगी. ‘हाय कैसे हो? बड़े दिनों बाद दिखाई दिए हो … कहां थे?’मैंने उसका रिप्लाई किया कि तुम्हारे तो एग्जाम हो गए … तुम तो फ्री हो गई हो. इतने में उनकी बेटी कोचिंग से आ गयी तो हम दोनों संभल कर बैठ गये।फिर आंटी भी अंदर चली गयी और मुझे बोली- मैं अब खाना बनाऊँगी तो आ जाना खाने।8 बजे के लगभग मैं खाना खाकर वापिस अपने घर की तरफ आ गया और पढ़ाई करने लगा.

इसी वजह से अगर कोई लड़की किसी से प्यार करती भी थी, तो संभोग से दूर रहती थी. आपको मेरी मौसी की लड़की यानि मेरी मौसेरी बहन की देसी बुर की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. पापा के लिए नाश्ता बनाने के बाद वो काम पर निकल गये और मैंने किचन में ही चाची को पकड़ लिया.

मुझे दोस्तों ने बहुत हिम्मत देते हुए बोला कि जा कह दे … अभी नहीं, तो कभी नहीं … चला जा … जाकर उसे प्रपोज़ कर दे … बोल दे अपनी दिल की बात.

अब तो मुझे इस काम में फायदा नजर आने लगा और मैंने इसी को अपना पेशा बना लिया. बस दो मिनट बाद जो उसे चरमसुख मिला, उसका जिस्म सूखे कागज जैसा काँपने लगा, उसकी आवाज़ उसके गले में ही घुट गयी और आंखों से आंसू बह निकले.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर मुझे उनकी बॉडी की गर्माहट महसूस होती, लेकिन कुछ समझ में नहीं आता कि मुझे क्या हो रहा है. उसने पूछा- क्या मैं कपड़ों में खूबसूरत नहीं लगती हूँ?मैं हंस दिया और अपनी बात को पलटते हुए बोला- यदि तुम कपड़ों में खूबसूरत नहीं दिखतीं तो हम दोनों में प्यार कैसे हो सकता था.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर हैडमास्टर की उम्र 58 साल के करीब है और वह जल्दी ही सेवानिवृत होने वाले हैं. क्या ग़ज़ब चूत थी एकदम गोरी चिकनी और अंदर से गुलाबी! मैंने सीधे उसको चूसना चालू कर दिया, वो और गांड उठा उठा कर मेरे मुँह में अपनी चूत दबाने लगी.

कभी मैं उसके होंठों पर किस करता और फिर दोबारा से उसके स्तनों को दबाने लगता.

बीएफ पिक्चर वीडियोस

उसने कहा- चड्डी के अन्दर क्या है?मैंने उसका लंड मसलते हुए कहा- इसको देखना है. बेशक आज के दौर की फैशनेबल लड़की थी, मगर उसका कभी किसी लड़के से किसी भी चक्कर की कोई बात नहीं सुनी थी. मैंने रसोई में जाकर पायल का हाथ पकड़ लिया तो एकदम से घबरा गई लेकिन मैंने उसको तभी कह दिया कि मैं तुमको पसंद करने लगा हूं.

कुछ देर बाद वो भी झड़ने वाला था। उसके चोदने की रफ़्तार का कुछ पता ही नहीं चल रहा था।मेरी चूत ने भी अपना माल निकाल दिया। उसने माल चूत में लगे लगे ही कुछ देर तक चोदा। उसके बाद मेरी चूत से अपना लंड निकाल कर वो भी मुठ मार कर मेरी चूचियों पर ही झड़ गया।और उसके बाद कभी भी उससे चुदाई का मौक़ा नहीं मिला मुझे! ना ही मैंने कोई कोशिश की उस लंड से चुदने की. मैं उससे बोली- ये तुम क्या कर रहे हो सुरेश, मैं शादीशुदा हूँ और तुम मेरे दोस्त हो. मैंने बुआ की गांड कैसे मारी, ये आगे की रिश्तों की चुदाई कहानी में बताता हूँ.

मैंने उसकी मन की बात को सुनकर कहा- हां यार वो बचपन से ही ऐसा ही है.

चूंकि मेरा उनके साथ घर जैसा व्यवहार भी था, तो मैंने उनके बारे में कभी गलत नहीं सोचा था. उस रात को भी जब मैं घर आया, तो देखा कि उन लड़कों ने दीदी को वियाग्रा दे दी थी. मैं आगे बढ़ा, तो भाभी की गोरी लंबी गर्दन … फिर उसके ऊपर गुलाबी रंग के ऐसे मस्त होंठ फड़फड़ा रहे थे.

अब मेरे ब्वॉयफ्रेंड ने मुझसे पूछा- अब तो ठीक है?मैंने मुस्कुरा कर हां कर दी. मेरी उत्तेजना को उसने दोगुना बढ़ा दिया था और मैं उसे उत्साहित करने लगी. वैसे मेरी सहेली ने भी मुझे स्कूटी चलाना सिखाई थी लेकिन विभोर से मैंने अच्छे से स्कूटी चलानी सीख ली थी.

उसके मुँह से ये बातें सुनकर मैं बनावटी गुस्से में बोला- तुम कह क्या रहे हो?मेरे गुस्से को देखकर वो बोला- सुरेश तुम्हारी मॉम को आज भी शहर में जाकर चोदता है और अपने दोस्तों से भी चुदवाता है. हम दोनों का ये पहली बार बहन को चोद रहा था, इसलिए मैंने उससे कहा- तुम अपने नीचे तकिया रख लो.

उस दिन जिम में सोमेश भैया ने दीदी के लिए एक केक मंगवाया और जिम के खास खास 6-7 लड़कों को बुलाया, आनन्द भी आया था. धीरे धीरे वो भी मेरा साथ देने लगी और धीरे धीरे अपने और उसके कपड़े भी निकालता चला गया और किस करते हुए उसे बिस्तर पर पटक दिया. फिर कुछ दिन बाद भाभी शाम को बच्चों को लेने मेरे घर पर आई थीं, तो मैंने भाभी से पूछा- आपने मुझे कुछ देने का वादा किया था ना … क्या हुआ उसका?भाभी ने हंस कर पूछा- हां बोलो न … क्या चाहिये?मैंने बोला कि मुझे आपको चोदना है.

मैंने उंगली को निकाल लिया … लेकिन पैंटी के ऊपर से ही उसकी बुर की फांकों को सहलाने लगा.

उसने अपनी तारीफ़ सुनी, तो गर्व से जवाब दिया- इस जिम में मुझे 4 महीने हो गए हैं. हमारे घर वाले एक दो बार हमें घर पर अकेला भी छोड़ कर बाहर गए तो हम दोनों स्कूटी से पूरा दिन बाहर घूमें और सिनेमाघर में जाकर मूवी देखी. इस बात से मैं बहुत ही टूट सा गया क्योंकि मेरे खड़े अरमानों पर पानी फिरा जा रहा था.

मैं समझ गया कि वे मुझे पूर्णतया संतुष्ट करना चाहते थे, इसलिए सारी कलाएं कर रहे थे. वो भी मेरी मस्ती से समझ गया था कि अब मैं विरोध नहीं बल्कि साथ दूंगी, इसलिए उसने अपना पूरा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और धक्के मारते हुए मेरे स्तनों को बा री बारी से चूसने लगा.

मैंने अपनी मौसेरी बहन यानि अपनी सगी मौसी की बेटी की चुदाई कर दी एक रात. वो बोली- क्या?मैंने कहा- बातों में लगे हुए होगे आप दोनों इसलिए नहीं किया. मामी के मोटे चूचे वीडियो में हिलते हुए देख कर मैंने तेजी से अपने लंड पर हाथ चलाना शुरू कर दिया.

बिहार बीएफ बीएफ

उसको भी शायद मेरे मुंह से गालियां सुनते हुए मेरा लंड चूसने में मजा आ रहा था.

क्योंकि यदि उसकी शादी किसी और से हुई, तो उसके मर्द को पता चल जाएगा. उसके कहने के अनुसार मैं उसके बगल लेट गई और अपना स्तन उसके मुँह में दे दिया. इसलिए हम दोनों रोज रात को फोन पर गन्दी बातें करते हुए एक दूसरे को मजा देते थे.

जैसे ही उसकी ब्रा खुली और गोरी चुचियां नंगी हुईं, वो मेरे सीने से लग गयी. पिताजी ने घर तो बनावा दिया था, मगर उसकी बाउंड्री वाल यानि बाहर की दीवार नहीं बन पाई थी. बीएफ फिल्म वीडियो में देखने वालीयारो … आज ‘नो ड्रेस’ कोड है, हम सब आज कपड़ों से आजाद होकर पार्टी करेंगी और सबके मन की सेक्स फेंटेसी शेयर करेंगी.

फिर मैंने उसे लेटाया और उसकी चूत में उंगली से सहलाने लगा तो वो मदहोश होने लगी. एक बार मुझे एक ट्रक में लिफ्ट लेनी पड़ी तो मैंने ट्रक ड्राईवर से गांड मरवाई.

उस दिन शाम को मैं गुमसुम बैठा लंड सहला रहा था कि तभी मेरे फोन पर एक अनजान नंबर से फोन आया. मैंने बोला- रात हो गयी है और सुबह तुम्हें मेरे पति के आने से पहले जल्दी निकलना होगा और मुझे सब ठीक करना होगा. मैं अपनी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँमेरी पिछली सेक्स कहानीछत पर देवर भाभी सेक्स स्टोरीमें आपने पढ़ा था कि आखिरकार मैंने अपनी प्रिया भाभी को चोद ही दिया था.

एक दो बार मैंने कोशिश की है कि मम्मी की फुद्दी में अपना लंड डाल कर देखूँ, मगर जैसे उनकी फुद्दी से कुछ लगता है, वो झट से हिल जाती हैं. मैंने प्रिया भाभी की चुदाई का समय बढ़ाने वाली दवा ली हुई थी, तो मैं बहन को एक घंटे तक चोदता रहा. अगले साल उसकी लड़की हुई, तो उन्होंने मुझे अपने घर बुलाया और मेरा धन्यवाद किया.

भाभी बोली- सूरज क्या हुआ … मुझे उठा कर थक गए क्या … कुछ पियोगे?मेरे मन में आया कि बोल दूँ हां आपके आमों का रस थोड़ा सा मिल जाता … तो मेरी थकान दूर हो जाती.

वहाँ मेरे एक मित्र का एक हाउसिंग सोसाइटी में 2 कमरे का मकान भी खाली पड़ा था, जो मेरा देखा हुआ भी था. उन्होंने धक्का मारा तो मैं चीख पड़ी लेकिन तुरंत ही साहब ने मेरे मुंह पर हाथ रख दिया.

उसके लॉन्ग कट वाले अन्डवियर में उसके लंड ने झटके दे देकर उसको आगे से गीला कर रखा था. मैंने भी आंटी के दूध दबाते हुए कहा- क्यों नहीं मोनिषा आंटी … अभी लो. सुरेश- तो सबको बताने कौन कह रहा … सब छुप कर करते हैं, तुम भी छिप कर करो.

सौम्या ने मुझे बड़ी प्यार से देखा और मुझसे लिपट कर कहा- तुम आज बहुत मस्त लग रहे हो. जब मैं उसकी चुत में उंगली डालने लगा, तो उसने अचानक मेरा हाथ पकड़ लिया. मैंने उसकी चूत की चुदाई को जारी रखा और अगले दो मिनट तक मजे लेकर उसकी चूत में धक्के मारे.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर वे अपनी दोनों उंगलियों को मेरी गांड में तेज तेज चलाते रहे, फिर गोल गोल घुमाने लगे. सुरेश- खैर छोड़ो, कोई प्लान बनाओ कि हम तीन दोस्त साथ में कहीं मजे कर सकें.

सुहागरात वाली सेक्सी बीएफ हिंदी में

तो हुआ यूं कि पूजा-पाठ होने के कारण मॉम ने मुझसे कहा- अंकित कल गांव चलते हैं. लेकिन तू बुरा मत मानना क्योंकि यह सच बात है।विक्की- क्या बात है भाई … बता न?मैं बोला- भाई प्लीज बुरा मत मानना यार!विक्की- हाँ हाँ … ठीक है भाई, तू बोल दे बेधड़क!मैं- विक्की यार, आपकी बहन मुझे पसंद करती है यार. इस बीच में मैंने नोटिस किया कि उर्वशी और राज़ आपस में कुछ अधिक बातें कर रहे थे.

मुझे उसके लिए बुरा लग रहा था, पर नितिन के वहां पर होते हुए मैं कुछ नहीं कर सकती थी. माँ शर्माती हुई जब लाला के पास से गुज़री, तो लाला बोला- आप पता नहीं कब समझेंगी. सेक्सी पिक्चर बीपी इंडियनमैंने जीभ पर काबू करते हुए उनसे पूछा कि यह इतना ही लम्बा रहता है … मतलब सूजन वगैरह से तो नहीं है?वे बोले- नहीं इतना ही है … अब मुझे कोई कष्ट नहीं है.

मैंने दूसरे दिन मोनिषा आंटी से कहा- मैंने आपसे कहा था न कि मोहल्ले के बहुत से मर्द आपके जिस्म को निचोड़ कर चोदना चाहते हैं.

मैं रात को मुठ मार कर सोने लगा, लेकिन 5 मिनट बाद मेरा लंड फिर से तन कर रॉड जैसा हो गया. मैंने अब मेरे शॉट लगाने शुरू किए और पूरी ताकत से अपना लंड उसकी चूत में अन्दर घुसा दिया, जिससे वो बहुत जोर से चिल्लाई और मुझे दूर धकेलने लगी.

अन्दर आंटी एक सीट पर बैठ गईं, मैं भी उनका बैग लेकर उनके पीछे पीछे आ गया और मैं भी बैठ गया. लेकिन जब कोई घर में नहीं रहता था, उस वक़्त मैं उसकी जमकर चुदाई करता था. मैंने उसकी कुवारी चूत में जीभ को अंदर तक डाल दिया तो वो तड़पने लगी.

उसके चूचे इतने छोटे थे कि मैं उन्हें अपने मुँह में पूरा भर लेता था.

तीसरा उस कमरे में खुलता है जिसमें अनु मेरा लंड चूस रही थी और चौथा गेट मैडम के शयन कक्ष में खुलता है. मैंने कहा- भाभी अगर आप बुरा न मानो, तो मैं आपकी समस्या को दूर कर सकता हूँ. इसके लिए अब मैं खुद को पलटने का प्रयास करने लगी, पर सुरेश मुझे उसी अवस्था में रोके रखना चाहता था और मुझे पलटने नहीं दे रहा था.

সানি লিওন ব্লু ভিডিওलगभग 34 इंच के बूब, कमर 28 इंच की … और 34 इंच की तोप सी उठी गांड थी. मुझे उससे सम्भोग की बात भी मन में आई, लेकिन मैंने इस विचार को सुरेश की पहल पर छोड़ने का निश्चय किया और उसके आने का इन्तजार करने लगी.

हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियो देखने वाली

मैंने पहली बार में पहचान लिया कि यह तो वही पहले वाली आवाज है जिससे मेरी बात अभी कुछ देर पहले ही हुई थी. उस दिन मैं ऐसे ही घर पर टाइम पास कर रहा था कि मेरी चाची आयी और कहने लगी कि दीपू जरा अपने मामा के यहां फोन लगा दे. एक तरफ मेरा पति था, जिससे मुझे दो साल तक कोई शारीरिक सुख नहीं मिला था और आगे भी मिलने की कोई गारंटी नहीं थी.

मैं अपने होंठों को मॉम के होंठों से सटाकर उनके होंठों को चूसते हुए मॉम की चूत को पेल रहा था. जब हम दोनों को पढ़ते हुए काफी देर हो गयी, तो पूर्वी से मैंने पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?उसने शर्माते हुए कहा- नहीं भैया … अभी कोई अच्छा मिला ही नहीं. वो मॉम के पेटीकोट को ऊपर करके अपना लंड, मेरी मॉम की मोटी गांड में डालने लगा.

मैं अपनी बुआ के बेटे के साथ यानि चचेरे भाई बहन की चुदाई का मजा लिया. मैंने पूछा- घर में बाकी लोग भी होंगे ही ना?तो वो बोली- आप आ तो जाओ … बाकी सब समझ जाओगे. मैं झड़ने के बाद भी तुरंत जोश में आ गयी क्योंकि सुरेश ने धक्कों को जरा भी विराम नहीं दिया था.

फिर जब तक मैं वहां रहा उसने अपनी चूत चुदवाई लेकिन उसने कभी दोबारा चूत की चुदाई में चूत में वीर्य नहीं गिराने दिया. उसकी चूत काफी चिकनी हो चुकी थी क्योंकि काफी देर से उसकी चूत से कामरस निकल रहा था जिसका स्वाद मुझे बहुत पसंद था.

कई दिनों बाद मुझे चुदाई का सुख मिल रहा था, इसलिए मुझे भी अपनी चूचियों के चूसे और मसले जाने से बड़ा मजा आ रहा था.

रोनिता के चूचे पूरी तरह तन चुके थे, जो दिखने में बहुत मस्त लग रहे थे. सुंदर भाभी की फोटोइसलिए अभी मैं इस बात को यहीं खत्म कर देता हूं और अपनी भाभी के बारे में आपको बताता हूं. हिंदी की ब्लू पिक्चर सेक्सीदीदी के बूबू मैंने कई बार चूसे, जब वो हाथ से अपनी फुद्दी मसलती, तो मुझे बूबू चूसने को कहती और मेरी लुल्ली को पकड़ कर बहुत खींचती. जैसे ही मेरी ट्रेन ने बिहार को क्रॉस किया और मैं यूपी में घुसकर यूपी के कानपुर के पास आया.

यहां तक कि मेरी सगी बुआ ने मेरी चढ़ती जवानी में खुद आकर मेरा लौड़ा पकड़ लिया था.

मैं हंसने लगा और बोला- जाओ कह दो भौजी … मैंने भी तुमको पेशाब करते हुए और चुत में उंगली करते समय का वीडियो बना लिया है. कुछ ही समय में ज्योति सिर्फ ब्रा और सलवार में मेरे सामने लेटी हुई थी. एक बार होली के दिन वह हमारे घर रंग खेलने आया, नितिन का एक्सीडेंट होने के बाद मैंने होली खेलना, सजना संवरना छोड़ दिया था.

मगर मुझे मालूम था कि दुबारा के सेक्स में ज्यादा समय लेगा और अभी रात काफी हो चुकी थी. तो कुछ मिनट बाद मैंने भाभी की चूची पर हाथ रख कर धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया. मेरी रण्डी बहन मुझे खरीद चुकी थी उस वक़्त मुझे अपने भावों से …मैंने हौले से एक झटका दिया और रुक गया … शरारती अंदाज़ में उससे पूछा- कैसा लगा बहना … डालूँ या ज़ोर से डालूँ?तो बोली- हरामी कुत्ते … घुसेड़ दे अंदर और बन जा बहनचोद।मैंने फिर भी धीरे धीरे डालना शुरू किया तो उसका दर्द बढ़ता गया … उसने दोनों हाथों से चादर भींच ली और न रुकने का इशारा किया.

सेक्स बीएफ हिंदी वीडियो में

क्योंकि जब कभी वह देर से आती हैं, तो उनके चेहरे पर थकान ना होकर ख़ुशी होती है. अब सुरेश ने धीरे धीरे अपनी गति बढ़ानी शुरू की और मेरी सिसकारियां भी तेज होने लगीं. उसने कहा- 4 दिन अकेले? मैं आपके बिना बोर हो जाऊँगी।बहुत समझाने पर मेरी पत्नी ने कहा- ठीक है, अगर इतना ही जरूरी काम है तो फिर चले जाओ लेकिन मुझसे ये चार दिन कटेंगे मुश्किल से.

फिर मैं तपाक से बोला- यार दस्तूर, मैं मिस्त्री तो हूँ नहीं … लेकिन आपको आपके घर तक छोड़ सकता हूँ … इफ़ यू डोंट माइंड!दस्तूर बोली- यार, ये तो आपका एहसान होगा … पर कार का क्या होगा?मैंने उसे समझाया- ओके तुम परेशान मत हो … यहां पर आपकी कार सेफ है … फिर जब भी आपके भाई या पापा आएंगे, तो यहां पार्किंग से कार ले जाएंगे.

वो जैसे ही फोन लेने उठीं, उनका साड़ी का पल्लू नीचे गिर गया और मैंने पहली बार उनकी चूची का थोड़ा सा हिस्सा देख लिया.

मुझे भोगने वाला, दूसरे लोगों के सामने अपना दोस्त कहना नहीं चाहता था. ऊपर से शावर का पानी गिर रहा था और नीचे से वो अपनी गर्म जीभ मेरी चूत में चला रहा था. বাঙ্গালী সেক্স ভিডিওরउसने दीदी को जबरदस्ती नंगी कर दिया और दीदी हंसते हुए उससे खुद को छुड़ाने की कोशिश करने लगीं, लेकिन जैसे ही पठान दीदी के मम्मों पर अपना मुँह रख कर चाटने लगा, वैसे ही दीदी ढीली पड़ गईं और कामुक सिसकारियां लेने लगीं.

उसकी मस्त बातों से मुझे भी जोश आने लग़ा और मैं नीचे को होकर उसकी चुत चाटने लगा. हम दोनों लोग नंगे ही बिस्तर पर लेटे थे और साथ आपस में किस भी करते जा रहे थे. पूजा ने मुझसे अगली सुबह तक का समय मांगा।उस रात में डरा हुआ भी था और रात यह सोचते हुए निकल गयी कि सुबह या तो मेरी पिटाई होगी या मेरी भी कोई गर्लफ्रैंड बनेगी।सुबह 5 बजे उसका ‘आई लव यू’ का मैसेज आया और उस वक्त मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा। अब रोज़ाना एक दूसरे से बातें करने का दौर शुरू हो चुका था।पहले कुछ दिन तो हम दोनों के मध्य सामान्य सी बातें होने लगी.

अब मम्मी दोपहर को सोतीं, तो मैं उनके पास खड़े हो कर उनकी बेख्याली में उन्हें देखते हुए मुठ मारता. मैं- किस बारे में?वो-आप एक कॉल ब्वॉय हैं?मैं- ऐसा किसने कहा आपसे?इस बात को मैं सीधे नहीं स्वीकारना चाहता था क्योंकि इस काम में दूसरे तरह का खेल भी बहुत होता है, सो मैंने संभाल कर बात की.

मैंने एक्स्ट्रा पैसे के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि तेरी बीवी की ही कमाई है.

लगभग उसी समय चूत के गीलेपन के कारण मैं भी उसकी चूत में झड़ गया … और उसके ऊपर गिर गया. जाने के बाद उसने मुझे चाय नाश्ता करवाया और फिर हम दोनों बातें करने लगे. मेरे घर वाले जब भी गाँव जाते हैं तो हम लोग सेक्स करते हैं या विभोर का तो घर दिन में हमेशा खाली रहता है.

न्यू एचडी बीएफ हिंदी मैंने लंड को जैसे ही माँ की गांड से निकाला, मेरे वीर्य की धार गांड से बहने लगी. वह अपने कपड़े वापस पहनने के लिए बढ़ी लेकिन जॉयश ने मंगल को बोल कर उसके कपड़े एक तरफ रखवा दिए और कहा- आपने ऐसे ही रहना है आज!सब औरतें खिलखिला कर हंसने लगी और फिर उसके बाद बारी बारी से सब अपने कपड़े उतारने लगी.

उसने अपना ब्लाउज़ भी निकाल दिया और पेटिकोट भी … अब वो मेरे सामने चड्डी और ब्रा में ग़ज़ब लग रही थी। वो गुलाबी रंग की सेट वाली चड्डी और ब्रा पहने थी. अब हम दोनों बिस्तर पर दीवार से टिक के एक दूसरे की बांहों में समाये हुए बैठे थे. थोड़ी ही देर में राजशेखर ने निर्मला को अपने ऊपर से हटाया और मुझे बिस्तर पर पीठ के बल लिटा संभोग का आसन ले लिया.

सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ चुदाई वाली

तुम किसी और के कपड़ों के साथ क्या कर रही हो? चुराने का इरादा था क्या?मैंने कहा- नहीं साहब, मैं तो बस देख रही थी. मैं गांड हिलाते हुए लंड लेने लगी और मैंने भैया से कहा- मार और जोर से … और तेज मार … फाड़ डाल. साला मैं अपनी दोस्ती के खातिर सब कुछ बता रहा हूँ ताकि वो उसको समझाए.

फिर बारी थी उसके 30 साइज के वक्ष उभार की।मैंने थोड़ा सा उन्हें भी पीना शुरू किया. मैंने कहा- मास्टर साहब … मैंने गर्लफ्रेंड या लड़कियों से भी एक दो बार किया है.

कोई पांच मिनट बाद मैंने कहा- मेरा छूटने वाला है रेनू … मैं क्या करूं?भाभी बोली- चिंता मत करो मेरे राजा … मेरी चूत में ही अपना माल निकाल दो.

नीचे वाले हिस्से में कोई नहीं रहता था, सो वहां लड़की लाने पर ज्यादा प्रॉब्लम नहीं थी. मेरी हालत खराब होते देख कर साहब ने सारी प्रक्रिया रोक दी और मेरे ऊपर लेट गये. इतनी हॉट लड़की को पास बैठा देखकर मेरा मन और लंड दोनों ही रोमान्टिक गाना गा-गा कर नाच रहे थे.

चाची की गांड फट गई, लेकिन तेल की कटोरी से तेल टपका टपका कर मैंने चाची की गांड को खूब मजे से मारा और उनकी गांड में ही झड़ गया. मेरी नाभि में अजीब सी सनसनाहट हुई और ऐसा लगा मेरी योनि की मांसपेशियां ढीली पड़ जाएंगी. कुछ ही समय में ज्योति सिर्फ ब्रा और सलवार में मेरे सामने लेटी हुई थी.

वो आई, तो उसने कहा- क्या हुआ?मैंने कहा- प्रीति ये क्या है?हालांकि मैं जानता था कि कैसे और क्या है.

ट्रिपल एक्स सेक्सी बीएफ पिक्चर: एक पक्के चोदू की तरह उसके चुचे दबाते हुए मैंने फच फच फच की आवाज के साथ खतरनाक मोर्चा संभाल लिया. चलिए अगले भाग में आपको लिखता हूँ कि मेरी भतीजी ने मेरे लंड को सुकून दिया या नहीं.

मैंने अपना लंड भाभी की चूत के छेद में सैट किया और एक ज़ोरदार धक्का दे मारा. वो बोली- फिर इतनी रात को किसकी याद में खोए हुए हो?मैंने कहा- सच कह दूं. बोलो झांटें साफ़ करवाने के लिए क्या लगवाओगी?श्वेता- क्या लगवाओगी से क्या मतलब है?मैंने कहा- मतलब बाल साफ़ करवाने वाली क्रीम से झांटें साफ़ करवाना है … या रेजर से चुत की शेविंग करवानी है?श्वेता अपनी चुत को अपने हाथ से सहलाते हुए बोली- तुमको ही मेरी चूत चोदना है … जैसे भी अच्छा लगे … वैसे साफ़ कर दो.

नितिन भी मेरी बेबसी देख कर खुद को लाचार समझते और मुझसे माफी मांगने लगता.

मैंने उसको लाल रंग की ब्रा पैंटी पहन कर आने का बोला था और वो सच में पहन कर आई थी. दूसरी तरफ सुनील था, जो मेरी सारी जरूरतें पूरी कर सकता था पर …उस पर भरोसा कैसे करूँ … कल कुछ हो गया तो? किसी को पता चल गया तो? मेरा घर उजड़ सकता है … नहीं नहीं, यह सही नहीं है. मैं उसे उठा कर वाशरूम तक ले कर गया और गर्म पानी से उसकी चूत साफ की.