तेलुगू बीएफ ओपन

छवि स्रोत,करिना सेकसि

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चोदा मंडी: तेलुगू बीएफ ओपन, मैं उसको कुछ भी कह सकने की स्थिति में नहीं थी क्योंकि मेरा बेटा भी उसके साथ मिल कर मेरी चुदाई कर रहा था.

कपूर का सेक्स वीडियो

हम एक दूसरे के मुँह में जीभ डालकर घुमाते और होंठों को दांतों से काट लेते. चोदी चोदा वीडियो सॉन्गउसका 7″ लंबा और 3″ मोटा (डायामीटर) मेरी अनचुदी चुत में 15 से 20 मिनट तक अपना काम करता रहा था, इस वजह से उसके मूसल लंड को झेल कर मेरे शरीर में दम ही नहीं बचा था.

उसने मेरे होंठों पर एक कसकर चुम्मी दी और नीचे अपने कमरे में चली गई. फोटो होलिका दहनमैंने अपने दोस्त से कहा कि तुम उसे लेकर अन्दर जाओ और जगह देख कर उसे चोदना.

नहीं अंश… जल्दी बाजी नहीं… थोड़ा सब्र रखो… मैं तुमको भी पूरा मजा दूंगी… राहुल के बाद तक थोड़ा इंतजार करो.तेलुगू बीएफ ओपन: आंटी ने मना कर दिया तो मैंने फिर से कहा, तो उन्होंने इठला कर कहा- तुम्हें सोना हो तो सो जाओ मगर मुझे इतना जल्दी नींद नहीं आती है.

कुछ देर तक तो मैं उसे देखता रहा फिर तभी मेरे दिमाग में एक योजना आई… मैंने उस पर थोड़ी सी अपनी रजाई डाल दी। मैंने उसको पूरी तरह से रजाई नहीं ओढ़ाई थी, बस उसके हाथ व पैरों पर ही डाली थी। वो गहरी नींद में थी इसलिए कुछ देर तक तो वो ऐसे ही सोती रही मगर फिर मेरी रजाई की तरफ गर्मी पाकर अपने आप ही वो धीरे धीरे मेरी रजाई में घुसने लगी.मेरा लंड भी सख्त हो गया था और मामी के चूतड़ों पर चुभ रहा था वो भी पीछे से अपनी गांड को मेरे लंड पर दबा रही थी फिर मुझसे कहा- नीचे का घोड़े का लिंग मुझे ऊपर कैसे चुभ रहा है… ओह ये तो मेरे प्यारे भांजे का… अरे नहीं मेरे चूत के पति का है।मैं- हाँ मेरी जान, अब बेड पर चल कर करते हैं!मामी जी- मेरी जान, यहीं खड़े खड़े चुदाई कर लेते हैं, मुझे भी उस घोड़ी की तरह चुदवाना है.

छोटी लड़कियों के साथ - तेलुगू बीएफ ओपन

हल्के हल्के काले भूरे बाल उसकी बुर को मानो सबकी वासना भरी नजर से उसे बचाने के लिए पहरा दे रहे थे.उसका टुन्नू सा लंड मेरी प्यासी जवान काली झांटों में छिपी हुई चुत का लाल दाना देखते ही फेल हो जाता है.

मैं भाभी के शर्ट के अंदर हाथ डालने ही वाला था कि कश्मीर गेट मेट्रो स्टेशन आ गया, मैंने जल्दी से ज़िप बंद करके शर्ट बाहर निकाल ली ताकि खड़ा लंड छुपा सकूँ. तेलुगू बीएफ ओपन आज दिखा दे मुझे लव करके…ओ बेबी बांहों में भर के…जो भी सोचा सपनों में,आज दिखा दे मुझे सब करके…तू इश्क है मेरा तू इश्क मेरा…तू ही मेरी रातों का नशा…वो मेरे सामने देख कर मुस्कुरा रही थीं.

फिर सुबह आंटी मुझसे बोली- यार तुम तो काफी दमदार जवान हो! मजा आ गया कल रात तुम्हारे साथ!मैं मुस्कराने लगा और उसके बाद आंटी से मैंने पैसे लिए और चलने लगा तो आंटी ने मेरा फोन नम्बर लिया, अपना नम्बर भी दिया और कहा कि जब मुझे जरूरत होगी तो मैं तुम्हें फोन करूंगी.

तेलुगू बीएफ ओपन?

ऐसे ही एक दिन मैंने फोन किया- अलका जी… सब ठीक है न? कुछ प्रॉब्लम हो तो बताइयेगा. तभी दी ने मुझसे कहा- छोटू डेली मुझ पे चढ़ता है और जबरदस्ती मुझे चोदता है. उस रात मैंने उस गर्म भाभी को 3 बार चोदा और मैंने उनका मोबाइल नंबर भी ले लिया.

फिर कामिनी ने मुझसे बोला- चूसेगा साले… कि नंगे ही बाहर जाएगा?मैंने मन मार के विवेक के लंड मुँह में लिया. तभी मैंने उसको रोका और उससे कहा- मेरे बैग में वैसलीन रखी है, उसको लगा लो. मैंने अगले दिन रीटा को चोदने की खुशी में तीन बार मुठ मार कर अपना पानी निकाला था.

रानी दीदी ने सच बता दिया कि वो मुझ से पहले चुदना चाहती थीं, पर मनजीत दीदी ने जिद की वो मेरा कुंवारा लंड लेगी. अब मेरी उंगलियां हरकत में आकर चूत के स्पॉट को दबाने लगीं; उनकी म्म्म्म्म. उसने अबकी बार मेरी गांड पर लंड लगाकर धक्का लगाया और उसका लवड़ा मेरी गांड फाड़ अन्दर घुस गया.

बीवियों को भी हक़ है, उन्हें भी अधिकार है खुल के मजे लेने का!आप में से बहुत सारे लोग वाइफ स्वेप, थ्रीसम सेक्स करना चाहते हैं और उनकी बीवी उन्हें मना कर देती है. मैं थोड़ा उसको सहज कर देना चाहती थी और थोड़ा गर्म भी, ताकि वो साथ दे.

रश्मि ने मुझसे हाथ मिला कर वायदा किया और मैं वहां से कंपनी के गेस्ट हाउस में चला गया.

मैंने अपने आपको रोकने की पूरी कोशिश की, पर रोक नहीं पाया और मैंने अपने बाएं हाथ से उनकी कुर्ती को उठा दिया.

पहले तो आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद कि आप सभी ने मेरी पहली स्टोरीमौसी को चुत चुदवाने के लिए पटा ही लियाको इतना प्यार अधिक प्यार दिया. मैं पांच दिन बाद आया हूँ और तुम्हारे साथ टाइम नहीं बिताया इसलिये यहाँ आ गया. सबके जाते ही वो टेबल पर पसर गई और बोली- सर अब मेरी प्राब्लम भी सुलझा दो!उसने बात एक दम सेक्सी तरीके से कही।मैंने उसकी तरफ मुड़ कर देखा तो एक झटका लगा। उस के पसरने के कारण उस के स्तन उस के सूट में से बाहर आए हुए थे।मेरी आँखें फटी रह गई।कुछ सेकेंड्स बाद मुझे होश आया तो मैंने कहा- ठीक से बैठो.

चुदाई के बाद अब भी हम दोनों एक दूसरे से चिपके हुए इधर उधर की बातें करने लगे. उसके दोनों हाथ मेरे बालों में थे और मेरे हाथ उसकी कमर को सहला रहे थे. अंकल पूछने लगे- फिर बेटा सर्दी में काम कैसे चलता है?मैंने कहा- बस ऐसे ही चल जाता है.

मैं देर न करते हुए उसकी जांघें फैला दीं और अपना लंड को उसकी चूत पे रगड़ने लगा.

मैं इस वक्त बेबस थी, मेरी चूत में लंड घुसा हुआ था और हम दोनों एकदम नंगे होकर चुदाई का खेल खेल रहे थे. अब उसके पास बोलने के लिये कुछ नहीं बचा था, उसकी हालत काटो तो खून ना निकले जैसी हो गई थी. हमारे घर में 4 लोग हैं, मैं, मेरे पापा, मेरा छोटा भाई और मेरी मम्मी.

तभी नवीन की आवाज़ आई- मालकिन एक बात पूछें?मॉम- क्या पूछो??नवीन- आप पिताजी का नाम क्यों ले रही थीं?मॉम लड़खड़ाते स्वर में बोलीं- क. मैं ना… एकदम माल हूँ माल…मेरी चुची को मेरा देवर घूर घूर के देखता था और मुझे देख कर स्माइल करता था. विशाल भैया मेडिकल रिप्रेज़ेंटेटिव का जॉब करते थे, तो उन्हें काफ़ी बार ऑफिस के काम से सिटी के बाहर जाना पड़ता था.

भगत के केबिन की रनिंग कमेंट्री नहीं बता लेती उसे चैन नहीं हो रहा था.

उसके निप्पल को चूसते हुए मैंने अपना एक हाथ उसकी बुर को मसलने के काम पे लगा दिया था. उसने अपने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ लिया और जोर जोर से मेरे मुँह में पेलने लगा.

तेलुगू बीएफ ओपन थोड़ी देर बाद उनको को लगा कि मैं सो गई हूँ तो वे दोनों आपस में मस्ती करने लगे. तो हुआ यों कि एक दिन हम लोग यानि मैं और अनामिका सेक्स कर रहे थे और चुत चुदाई के बाद ऐसे ही साथ में लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे और हम एकदम नंगे थे।और तब अनामिका ने ऐसा कुछ कहा जिससे मेरा दिल एकदम ख़ुशी से झूमने लगा था.

तेलुगू बीएफ ओपन मैंने गुर्रा कर कहा- अच्छा… तो बिल्कुल भी सबर नहीं हो रहा हराम की चुदक्कड़ पैदाइश… चल तू भी क्या याद करेगी अब ठोक ही देता हूँ तेरी मलाई वाली चूत को… भोसड़ी वाली रांड, अब हो जा तैयार इस लौड़े को झेलने!जीजा साली सेक्स की कहानी जारी रहेगी. मैं अपना हाथ भाभी की चूचियों से हटा के धीरे धीरे उनकी चूत की तरफ़ ले गया.

नताशा अब तक सोफे चेयर पर बैठ कर मंद-2 मुस्कुराते हुए शेम्पेन की चुस्कियां लेने लगी थी.

उज्जैन सेक्स

हाथों में ट्रे लिए दो युवक हमारी दिशा में आ रहे थे, मैंने काले रंग की कॉस्टयूम और लाल रंग की टाई लगा रखी थी. वो कुछ बात कर रही थीं और मेरे दिमाग़ में उनका सेक्सी, नंगा बदन घूम रहा था. जब सुबह मैं जागी तो वो मुझसे बोलीं- तुम अपने पापा से कुछ ना बोलना, मैं सब संभाल लूँगी.

दारू पीते समय ही मेरे को पता चल गया था कि भाभी वास्तव में बहुत बड़ी छिनाल है. इसके बदले यदि आपने मुझे अपना जिस्म शांत करने को यूज किया तो क्या हुआ, मुझे भी तो आपका शरीर भोगने को मिला. गांड में बहुत जलन हो रही थी, तो मैंने उसे पीछे को धक्का दे दिया, लेकिन अब वो कहां मानने वाला था.

मोबाइल जिसमें वीडियो चालू था उसे उठा लिया और बालू मुझे बोले- वन्द्या, सीधी लेट जाओ!मैं जैसे सीधी हुई, उनका हाथ अब मेरे सामने जांघ में पैंटी के ऊपर से ही सीधे मेरे चूत के ऊपर फूली हुई जगह में रख गया और वो मेरे वहीं पर अपना हाथ चलाने लगे.

तभी चाचा ने दूसरी बात करते हुए चाची से कहा कि वे खेत के किसी जरूरी काम से शहर जा रहे हैं. सुन कर, अपने घर में उसको अकेले रहना पड़ेगा सोचकर वो थोड़ा घबरा गई।दूसरे दिन शाम को उसकी सासू माँ ’15 दिन बाद आती हूँ. इसलिए दोस्तो, पहले तो मेरी आपसे यही गुजारिश है कि अगर आप जिगोलो एजेंसी को ज्वाइन करो तो सोच समझकर करना क्योंकि आपकी हालत भी मेरे जैसी न हो.

बाई ने सबको मिल्क शेक पिलाया और फिर हम चारों कार लेकर क्लब की ओर चल दिए. शायद उसको भी याद आ गया कि सील टूटने की कहानी में कई बार उसने इस बात को पढ़ा था और खून निकलना एक स्वभाविक क्रिया होती है. मेरी टी-शर्ट फाड़ दी तुमने तो…”आहह… जोर से दबाव…”आहह… तुम्हारा लंड मेरे पीछे चुभ रहा है हह…”तभी अंश ने मेरी लैग्गी भी फाड़ दी.

वो मेरी इस हरकत से पागल हो गई- आहहहह इश्स… आह… उहह… चोद से साले मुझे… वरना मैं तेरा रे. आज मैं भी एक कहानी आप लोगों के सामने बताने जा रहा हूँ जो मेरे जीवन की ही है, उम्मीद करता हूँ कि आप लोगों को मेरी ये कहानी जरूर पसंद आएगी और आप लोग अपना प्यार मुझे ज़रूर देंगे.

मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैं उससे अलग हुआ और अपने कपड़े भी उतार दिए. सर आप पलंग पे खड़े क्यों हैं, लंड कभी और दिन चुसवाना दीदी से, अभी आप नीचे बैठ जाओ. अगले दिन लगभग 4 बजे शाम को मैंने सिमरन को फ़ोन किया और बताया कि मैं फ्री हो गया हूँ.

मुझे लगने लगा था कि ऋतु अब दूसरे मर्दों के साथ भी शारीरिक रिश्ते बनाने लगी है.

फिर सत्य नारायण को इंग्लैंड में एक बहुत अच्छी जॉब मिल गई तो ये लोग वहां चले गए. मैंने दीदी से पूछा- कौन सा फ्लेवर पसंद है तुम्हें?दीदी ने कहा- जो तुम्हें पसंद हो ले लेना. मेरी बात सुनकर वो मुस्कुरा देती थी और मुझे दिलासा देते हुए कहती थी कि वक्त का इन्तजार करना सीखो.

अगले दिन मैं पहुंचा तो देखा तो सोनल आ चुकी थी, दोनों बहनों ने साड़ी पहन रखी थी जिसमें वे सेक्सी लग रही थी. मैं बाईसेक्सयुअल हूँ, मतलब मुझे आदमी के लंड और औरत की बुर, दोनों ही पसंद है.

इसमें कोई भी मसाला नहीं लगाया गया है इसलिए हो सकता है कि आपको कभी बोर भी लगे. मैंने उनको अपनी बांहों में कस लिया था और ज़ोर से उनको चोदने लगा था. उसने कामिनी के शॉर्ट्स का हुक खोल दिया और एक झटके में उसकी ब्लैक कलर की शॉर्ट्स और रेड पेंटी निकाल के कामिनी को एकदम नंगी कर दिया.

मेहंदी कैसे बनाते हैं

तो वो मुझसे कहने लगी कि आप जो बोलोगे मैं वो करूंगी, पर आप प्लीज़ ये बात हम दोनों तक ही रखना.

तभी सामने से एक ट्रक वाला तेज़ी से निकल गया, जिसके कारण उस लड़की का बैलेन्स बिगड़ गया और वो सड़क के किनारे जा गिरी. मैंने उसका हाथ पकड़ कर उसे अपने ऊपर गिरा लिया और उसके चेहरे से बालों को हटाते हुए उसकी आँखों में देखते हुए कहा- आरुषि वाक़यी में तुम बहुत खूबसूरत हो!और फिर कब हमारे होंठ आपस में जुड़ गये कोई पता नहीं चला. उन्होंने मुझको बताया कि चूत हम लोगों की वो ख़ान है, जिससे पूरे मज़े मिलते हैं और लड़के इसके दीवाने बनने घूमते हैं.

अलका… तुम्हारे हाथ ही नहीं पांव भी बहुत अधिक सुन्दर हैं… बहुत कम लड़कियां हैं जिन्हें प्रकृति अति सुन्दर पैरों से सुसज्जित करती है… तुम्हारे पैरों को निहारते निहारते न आँखें थकती हैं और न ही दिल भरता है… ये इतने हसीन हैं किसी विज्ञापन कंपनी के लिए नेल पोलिश, फुट क्रीम, सैंडल्स या पायजेब के लिए मॉडल बन सकते हैं. उसी ने एक औरत को चोदते समय मुझसे कहा था कि मेरी माँ के सामने यह कुछ भी नहीं. खिड़की का ग्रिलमैं सिर्फ नहाने धोने आदि के लिए ही अपनी आँखों की पट्टी हटा सकती थी.

उधर नीना स्ट्रेचर के दूसरे छोर से सट गयी ताकि डॉक्टर चूची को मसलते वक्त उसके करीब आये और लंड नीना की पकड़ में आ जाय. मैंने कहा- तो पहले कितनी देर तक होता था?वो बोली- क्या जीजू आप भी!मैंने कहा- बताओ तो सही.

मैंने तुरंत मेरा मुँह उनकी चुत पे रखा और जीभ से उनकी चुत चाटने लगा. अब मैं भी खुल के शुरू हो गया, मैंने भाभी के ब्लाउज को खोल कर उसको सीधा किया और उसके मम्मों को चूसने लगा. मगर आप तो जानते ही हैं ना कि जब लंड चुत में चला जाता है तो फिर वो जंग के मैदान में होता है, वहाँ प्यार नहीं बंदूक चलती है.

भाभी ने आँखें बड़ी करते हुए पूरा मुँह खोला और मुँह पर हाथ रखते हुए भाभी बोली- बाप रे!मैं- क्या हुआ भाभी? मुझे सचमुच कुछ बिमारी है क्या?मेरा 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लण्ड अपने पूरे आकार में था. शावर से ठंडा पानी निकलते ही कामिनी विवेक से चिपक गई और बोली- बहुत बद्तमीज हो यार. फिर मैं पलटा और टांगें ऊंची करके अपनी मखमली गांड उसके सामने परोस दी.

मेरा दोस्त उसके बड़े बड़े दूध मसल रहा था और साथ में उसे दबादब चोद भी रहा था.

दोस्तो, चुदाई करते वक्त लंड और चूत का नजारा देखने का मजा कुछ अलग ही होता है, क्योंकि साली सोफे पर अपनी टांगें फैलाए बैठी थी तो मुझे ये नजारा साफ साफ दिख रहा था. लेकिन उसने मेरी बात को अनसुना करके मेरे मुँह को चोदना चालू रखा और फिर थोड़ी देर बाद उसके लंड का लावा ज्वालामुखी के जैसे फटते हुए मेरे मुँह में गिरने लगा.

मैंने कहा- क्या काम है?वो बोला- एक पैकेट गाड़ी में रखा है, जरा ले आ. यह कहानी मेरे और एक अंजान भाभी रूपाली के बीच में हुई उस घटना की है, जिसमें मैंने भाभी को चोदा. मैंने उन्हें उठाना ठीक नहीं समझा और मैं डाइनिंग टेबल पर बैठ के हमारी काम वाली बाई को खाने का कहा, उसने मुझे खाना दिया मैंने खाया और रूम में जा के टीवी देखने लगा.

मुझे लगा कि भैया को पता नहीं है कि उनके नीचे में थी, शायद वो मुझे भाबी समझ कर चोदने के मूड में थे कि इतने में भाबी जाग गई थीं. मैंने खोला, उसमें गोल्डन कलर की डोरी वाली ब्रा पेंटी थी और उसके ऊपर एक गोल्डन ट्रांसपेरेंट ओवर कोट था. एरिक आर्थर के सिर के ऊपर बेड के सिरहाने खड़ा होकर अपना लंड प्यार की देवी के मुंह में चलाने लगा.

तेलुगू बीएफ ओपन हम दोनों ने कभी हफ्ते 15 दिनों में उसे बुला कर ऐश करना शुरू कर दिया. तब से लेकर मैं और मौसी लगातार फोन पर सम्पर्क बनाए रहे, मौसी ने डेढ़ महीने बाद ही मुझे बता दिया था कि वे पेट से हैं.

bf देखना है

फिर मैंने नीचे जाकर उसके नंबर पे मिसकाल किया और फिर उसके कॉल का इंतजार करने लगा. मुझे देखते ही बोलीं- चल मेरे शेर खाना खा ले, आज तूने बहुत मेहनत की है. फिर मैं उसके बूब्स पर हाथ से मसलने लगा और उसकी उफनती जवानी को और तड़पा रहा था.

नताशा की बगल में बैठे हुए एरिक ने उसकी चिकनी, महकती हुई चूत को अपने हाथों से सहलाना शुरू कर दिया. उसने मुझे गुस्से से देखा और अपनी चूची को सहलाते हुए बोली- बुरा मानने वाली बात नहीं है, पर क्या कोई इतनी जोर से दबाता है?मैं समझ गया कि मैं बच गया और मैंने मजाक में हंसते हुए उसकी दूसरी चूची धीरे से दबा कर पूछा- क्या इतना ठीक है?वो हंस पड़ी और बोली- हां, इतना ठीक है. ववव क्सनक्सन कॉममरीयम मैडम ने मुझसे पूछा- कुछ अपने में बताओ?मैंने बोला- मैं सैफ दिल्ली से हूँ.

नीरज- तुम्हें उसकी चूत मारनी है तो बोलूँ उसको?मैं- नहीं यार मुझे खिलौने दिलवा दे बस अहसान होगा तेरा.

हमारे यहां इस गार्डन में सब अपने अपने माल को लेकर चुम्मा चाटी करने के लिए ही आते थे और कोई उधर दिन में इस वक्त कोई जाता नहीं था. उसने पूछा कि तुम कुसुम को कैसे जानती हो?मैंने कहा- वो हमारे ऑफिस में काम करती है.

ये कह कर मॉम नवीन को किस करने लगीं और दूसरी तरफ नवीन के लंड को हिला हिला कर खड़ा कर रही थीं. मैंने अन्तर्वासना की बहुत सी कहानियां पढ़ी हैं और उनको एन्जॉय भी किया है. मैं भी उसके गांड में लंड डाल कर उसके ऊपर चढ़ा रहा और धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करता रहा.

मैं बस उसका लंड चूसना चाहता था, उसका लंड मेरी गांड में महसूस करना चाहता था.

इस वक्त मैं भाभी की चुत को पूरे ज़ोर से चाट रहा था तो उस दौरान भाभी की मदभरी आवाज निकल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्या खा ही जाओगे… आह…उनकी कामुक आवाज़ मुझे और अधिक गरम कर रही थी. मैंने अपने आपको रोक कर रखा कि कहीं भाभी को शक नहीं हो जाये!क्या गोरी चिकनी टाँगें थी. इतने में तुम आ गए और साथ ही (लंड की तरफ़ इशारा करते हुए) इसके दर्शन करवा दिए.

संगीता मैडमअगली बार एक और बमपिलाट धक्का मारा तो इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चुत में चला गया. दोस्तो मैं राज आज फिर से आप को एक और रियल स्टोरी से अवगत कराने आया हूँ.

लेडीज सूट सलवार

पूनम तो एकदम से सिहर उठी और बोली- दीदी, बहुत अच्छा लग रहा है!और वो मेरी चूत को चाटने लगी. मैंने रगड़ते रगड़ते अपने लंड को उसकी चूत में धीरे धीरे डालना शुरू किया, लंड का टोपा अंदर जाते ही वो दर्द से कराहने लगी और बोली- इसी तरह धीरे धीरे डालो. वे अपनी जुबान से लंड के सुपारे को सहलातीं और थूक डाल कर मुँह में अन्दर तक लेकर लंड चूसतीं.

लड़की- मगर आपको देख कर कोई नहीं कह सकता कि आप 35 साल से ऊपर की होंगी. एकदम पर्फेक्ट शेप में मेरे मम्मों को देखकर वो मदमस्त हो गया, मेरे मम्मे एकदम टाईट और तने हुए थे. फिर उस लड़की ने किसी और को फोन मिला कर बोला- उसको बोलो जब अन्दर जाएगी तो पूरी नंगी हो कर जाए.

आंटी ने कहा- मैंने अपना रस बहुत बार पिया है, पर आज जिस तरह से तुमने पिलाया है, उससे बहुत मज़ा आया है. उसने कहा- मेमसाहिब यह अच्छी बात नहीं है, आप लोग मुझसे धोखा कर रहे हैं. मैंने एक उंगली उनकी गांड में डाल कर आगे पीछे कर रहा था, साथ ही उनके मम्मों को दबा कर चूस रहा था.

थोड़ी ही देर की उसकी चूत चुसाई और चुचियां दबाने के बाद ही वो झड़ने लगी. हैलो फ़्रेंडस, मैं समीर आपको अपनीजिन्दगी की एक सच्ची चुदाईबताने जा रहा हूँ.

उन्होंने मुझे बेड पे लेटा दिया और मेरी टांगों के बीच आ गए और लंड को मेरी चूत पे सैट करके एक ही झटके में मेरी चूत में ठोक दिया.

”पर वो सरप्राइज क्या है?”उन लोगों ने मुझे चोदा, पर अब मैं तुमको चोदूंगी… देखना कैसे मजा दूंगी. लड़की लड़की के साथ सेक्समेरी टी-शर्ट फाड़ दी तुमने तो…”आहह… जोर से दबाव…”आहह… तुम्हारा लंड मेरे पीछे चुभ रहा है हह…”तभी अंश ने मेरी लैग्गी भी फाड़ दी. सेक्स कर दियाआशीष बोला- बहुत सेक्सी हो वन्द्या, तुम्हें चोदने पर मुझे दुनिया की सब खुशियाँ मिल जाती हैं, तुम्हें चोदे बिना मैं नहीं रह सकता। अब तेरी शादी के बाद तेरी चूत चाटने आया करूंगा. दूसरे ही दिन उन्होंने मुझे फिर कॉल किया और बताया कि आज मेरे बाथरूम के शावर में पानी नहीं आ रहा है, प्लीज़ जल्दी आ जाओ.

दीदी ने कहा- आह… मेरी चुत में ही धार मार दे… मैं तेरे माल को चुत में लेना चाहती हूं.

उसने पता नहीं किस तरह से मेरी चुत को चूसा था कि मुझसे दोनों टांगें मिला कर रखना भी मुश्किल हो गया था. दोस्तो, मुझे ये आज तक समझ नहीं आया कि मेरा उनसे रिश्ता क्या था? क्या वो सिर्फ हवस थी. भाभी ने अपनी पकड़ ढीली की और अपनी कुर्ती भी उतार दी, अब सिर्फ लाल रंग की ब्रा थी, उन्होंने कहा- ब्रा का हुक खोल!मैंने दोनों हाथ से भाभी की ब्रा का हुक खोल दिया.

मैं भी अपनी पत्नी के देहांत के बाद लंड का पानी किसी भी चूत में नहीं निकाल पाता था. फिर मैंने भी उसकी ब्लाउज और पेटीकोट उतार दिया और अब बो पिंक ब्रा पैन्टी में थी. दोस्तो, कैसी लगी मेरी कहानी, मुझे आप लोगों की राय का इंतजार रहेगा मेरी ईमेल आईडी है.

चूत में हाथ डालना

मैंने दीदी की पीठ को सहला कर और चूम कर कहा- आह एकदम चुदक्कड़ रंडी लग रही हो जानूं. वो बिना कुछ बोले ऐसे ही खड़ी रही, तो मैंने फिर से पूछा कि मुझे सच बताओ. फिर वह मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी और कहने लगी- वाह क्या लंड है… इतना लम्बा मोटा तगड़ा लंड आज मैं पहली बार देख रही हूँ.

हम लोग (मैं और मेरा रूममेट) सड़क एक किनारे से चले जा रहे थे, तभी एक लड़की हमारे पास से निकली… वो साइकिल से थी.

जूसी रानी के आ जाने के बाद मैंने अलका रानी को होटल में बुला कर चोदना शुरू किया.

दीदी बेशर्मी से बोलीं- अभी तक 8 से सेक्स किया है और तुम नौंवे हो जिसके साथ चुदाई करूंगी. वो पूरी पीठ पर हाथ फेर रही थीं, कभी बालों को पकड़ रही थीं, कभी हाथ फेरतीं. भारत साऊथ आफ्रिकाअब मुझसे भी सब्र नहीं हुआ और मैंने उसकी जीन्स के साथ ही उसकी पेंटी भी उतार दी.

बातचीत हुई तो मालूम चला कि बेटा कनाडा जा रहा था और बेटी हॉस्टल में रहती थी. परंतु दोस्तो, मुझे जो मजा औरत की सुन्दर चूत मारने में आता है वह किसी और छेद में नहीं आता. उसने तेजी से स्वयं तकिए पर सिर रखकर लेटते हुए, एक दिन की पार्टनर को अपने पेट पर बिठाते हुए अपने फनफनाते लंड को उसकी चूत में घुसेड़ दिया और अपने कूल्हे उठा उठा कर गहरे धक्कों के साथ मेरी जीवनसंगिनी की चूत मारने लगा.

मुझे बहुत डर भी लग रहा था कि कोई देख ना ले, पर उसका गधे जैसा बड़ा लंड को देखकर मैं खुद को रोक नहीं सकती थी. दो मिनट में ही वो आसमान को छूने लगा और बिंदु की चुत को सलामी मारने लगा.

यार मैं क्या बताऊं… जब उसने अपने दोनों होंठों से मेरे लंड को दबाया तो जैसे मुझे लगा कि मैं जन्नत की सैर कर रहा हूँ.

मुझे अपने घर ऋषिकेश जाना था, मैंने ऑनलाइन बस की टिकेट खरीदी हुई थी. मैंने गिलास में ड्रिंक डाल दी, सोडा पानी बराबर बराबर डाल कर दोनों को गिलास दे दिए. जिसके लिए बड़े बड़े ऋषि मुनियों का ईमान डोल गया था, आज वही मंजर मेरे सामने था.

प्रियंका चोपड़ा के सेक्सी पिक्चर मैं उठा और मामी की गांड की तरफ आगे बढ़ा और अपने हाथ से उसकी गांड सहलाने लगा. धीरे धीरे अपना एक हाथ उसके दूसरे बोबे पे ले जाके हल्के हाथ से उसके निप्पल को मसलने लगी.

मेरा सारा पानी उसकी चूत को लबालब भर बैठा और मैं कम से कम दस मिनट तक उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा ताकि उसके गर्भ धारण की सम्भावानाएं बढ़ जाएँ!दोस्तो, उस दिन मैंने उसे एक बार और चोदा और फिर उसकी चूत को भर दिया. उनके करीब हुआ तो भाभी ने मेरे गालों पे हाथ फिराया और मुझे खींचते हुए अपनी गोदी में लिटा लिया. ”अच्छा… पर तुम तो बस नंगी देखना ही चाहते थे न?”अरे नंगी करने के बाद ये खड़े लंड को बिठाएगा कौन?”ये कहते हुए उसने मेरी नाइटी उतार दी.

साजन फिल्म डाउनलोड

इधर सोनिया की लड़की 3 महीने की हो गई, लेकिन मेरी मौसी की लड़की अब कुछ उदास सी रहने लगी. कामिनी बोली- आह… क्या मजा देते हो राजा… इतनी देर से पेले जा रहे हो मेरी जान… मैं दो बार निकल गई हूँ, अब तो छोड़ दो पिचकारी अपनी!विवेक बोला- आह… छोड़ देंगे… अभी तो लंड के मजा लो. जब फिल्म खत्म हो गई तो बोला कि तुम तो चुदवाने के लिए तैयार नहीं थीं फिर कैसे यह सब करने का इरादा कर लिया.

मगर ट्रेन का टिकट न होने के कारण बस से अजमेर के लिए जाना तय किया और कुछ समय बाद चल पड़े. उस दिन हमने डेढ़ दो घंटे सेक्स लिया जिसमें अनामिका ने तीन बार पानी छोड़ा था और मैं दो बार झड़ चुका था, एक बार मैंने अपना माल उनकी चूत में छोड़ दिया था और दूसरी बार उनकी गांड में।और फिर थोड़ी देर बाद हम किस करने लगे और मैं अपने बदन को साफ कर के मेरे कपड़े पहन कर मेरे घर वापस आ गया.

मैं सीधे डॉक्टर के कैबिन में पंहुचा, उस समय कोई पेशेंट नहीं था और न ही डॉक्टर साहब का असिस्टेंट या कंपाउंडर।डॉक्टर साहब और नीना हंस हंस गप्पें लड़ा रहे थे.

शुरू में मुझको थोड़ा अजीब लगता था, पर वो सिर्फ अपने में मगन रहते थे, तो मैं भी कुछ बोलता नहीं था. हर कदम बहुत मुश्किल से उठा पा रही थी, मगर फिर भी मैं चलती रही ताकि वो मुझे वापिस जाने को कह दे. भाभी- वो ये बात है… जब से शादी से आयी हूं, तेरे भैया ने एक बार भी जम कर नहीं चोदा.

लंच के बाद हम लोग वापिस आ गए, अलका को उसके घर ड्राप किया और मैंने अपने घर आकर तीन कहानियां उसको भेज कर दीं और फिर अपनी सेक्रेटरी अनु जेम्स को चोदने के लिए बुला लिया. दीदी ने कहा- अरे डिस्को शहर में है और यहां से 40 किमी दूर है, मैं जाऊँगी किस के साथ?मैंने कहा- दीदी आप तैयार हो जाओ, मैं ले चलता हूं और शाम तक लौट आएंगे. यहां हमें किसी ने पकड़ लिया तो… नहीं नहीं… मैं यहां नहीं चुदूँगी… चलो वापस चलते हैं.

अब वो और जोर जोर से गीता की चुत में अपने लंड के धक्के मारने लग गया.

तेलुगू बीएफ ओपन: मैंने सोचा कहीं ऐसा ना हो कि भाईजान डर जाएं और फिर मुझे मज़ा ही ना मिले इसलिए मैंने उनको अपनी सग़ी बहन को चोदने की हिम्मत बढ़ाने के लिए तैयार करने के इरादे से कहा- ओह्ह. मैं- मैं आपकी में डाल कर देखूँ?भाभी आश्चर्यचकित होकर बोली- क्या?मैं- मैंने कुछ गलत कह दिया क्या?भाभी- हाँ, यह काम सिर्फ पति पत्नी के बीच होता है.

अब मैं पूनम की जांघों में बैठ गई जिससे चूत मेरे एकदम सामने आ गई और फिर इस तरह से चूत को खोल कर जीभ से चाटने लगी. जैसे ही हम अन्दर पहुँचे, मैं आपे से बाहर हो गया और उसे बुरी तरह चूमने चाटने लगा. दोस्तो, जीवन के सारे चूतियापे हम सिर्फ चूत और लंड के मिलन के लिए करते हैं, इसका एहसास मुझे तब हुआ जब मैं 12वीं में था.

उसके बाद तो नेहा और उसकी सास को हमेशा साथ साथ ही चुदाई करता था और वो दोनों मुझ से इतना खुश थी कि हर चुदाई के बाद मेरे लाख मना करने के बाद भी 2000 रुपया दे ही देती थी.

मैंने उन्हीं कमीने दोस्तों से जब ये सुना कि लड़की की चूत मारने में बहुत मजा आता है, हाथ से लंड हिलाने में तो कुछ भी मजा नहीं है. उसने अपनी किरायेदारी में रहने वाली बहुत सारी औरतों को और अपनी नौकरानी को भी चोदा है. भाबी मुझे कुछ भी नहीं बोल रही थीं मुझे लगा कि शायद भाबी मुझे लाज के चलते कुछ भी नहीं कह पा रही हैं लेकिन उनको अपनी चुत की चुदाई का मजा लेना ही है इसलिए वे मेरे साथ सेक्स में डूबी हुई हैं.