हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी

छवि स्रोत,एचडी बीएफ हिंदी में एचडी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

कोलकाता बीएफ सेक्स: हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी, एक एक कड़ियां खुद जोड़ने लगी, क्यों मैं सरस्वती और सुरेश पर ज्यादा ध्यान देती थी, क्यों विमला से उनके बारे में सुनना चाहती थी, क्यों एक समय के बाद मुझे सरस्वती से जलन सी होने लगी थी.

हप्सी बीएफ हप्सी बीएफ

लेकिन वो फिर से एक बार बोली- क्या बोला था … फिर से बोलो न?मैंने अपनी बात फिर से दोहराई- भाभी आपको अकेले में डर नहीं लगता क्या?वो बोली- तुमने मुझे भाभी बोला?मैं बोला- हां. इंडिया की हिंदी बीएफमुझे उनकी बॉडी की गर्माहट महसूस होती, लेकिन कुछ समझ में नहीं आता कि मुझे क्या हो रहा है.

फिर मेरी तरफ़ देख कर बोली- ओह भाईजान आप!तो मैंने कहा- हां … और चलो मुझे दिखाओ कहां लगी है?वो बोली- अभी अम्मी हैं. तुम्हारे बीएफ का क्या नाम हैमैंने एक रूम के लिए रिसेप्शन पर कहा, तो तुरंत एक रूम की चाभी मुझे मिल गई.

एक दिन फेसबुक पर मैंने उसे फ्रेंड रिक्वेस्ट की तो …दोस्तो, मेरा नाम रोहित है.हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी: वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर बोला- बताओ न क्या नाम है इसका?मैंने भी उसकी आंखों में आंखें डाल कर कहा- मुझे तुम्हारा लंड देखना है.

कई तो चालीस पचास के बूढ़े मेरे पार्क या स्टेशन पर मेरा लंड पकड़ लेते हैं.वो अभी दरवाजे तक भी नहीं पहुंचा था कि पता नहीं मेरे मन में क्या आया कि मैंने उससे रुकने को बोल दिया.

स्कूल की बच्ची की बीएफ - हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी

कुछ देर तक उसने मेरी बहन के मुंह को चोदा और फिर उसकी टांगों को उठा कर उसको सोफे पर लिटा दिया.बीच बीच में मैं उसके बूब्स भी मसल दिया करता और मैं उसके गले पर चूम रहा था जिससे पूजा की सांसें गर्म हो चली थी.

तभी दीदी ने आगे कहा- मैं चाहती हूँ कि अपने परिवार में सब लोग एक दूसरे को चोदें, तो कितना अच्छा होगा. हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी कोई दो तीन दिन हो गए थे, सुनील हमारे घर नहीं आया था, तो मैंने उसके घर जाकर दरवाजा खटखटाया.

मैंने अपनी मौसेरी बहन यानि अपनी सगी मौसी की बेटी की चुदाई कर दी एक रात.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी?

उसकी पैंट नीचे गिर गयी और उसका लंड उसके कच्छे में तना हुआ अलग ही दिखाई दे रहा था. दस्तूर अपना आपा खोती जा रही थी और उसकी आंखों से लगातार आंसू आ रहे थे. पूछा- लग तो नहीं रही?वह मुस्कराया, बोला- गांड मराने में थोड़ी बहुत तो लगती ही है, चलता है।मैंने कहा- लगे तो बताना!उसने ढीली कर ली, मैं धक्के लगा रहा था।जाने क्या हुआ, वह फिर गलत समय गांड चलाने लगा, जल्दी जल्दी बार बार टाइट ढीली टाइट ढीली करने लगा.

अगले महीनों में क्या क्या हुआ था, वो अगली कहानी में डिटेल में बताउंगा. मैंने पूछा- अरे रेनू क्या हुआ?उसने बताया कि यार एक मोटा चूहा मेरे ऊपर कूद गया … तो मैं भागी और दरवाजे से मेरे पैर में चोट लग गयी. मैंने महसूस किया कि अब जब भी मैं उसको देखता, तो वो मेरे लंड के उभार को देखने की कोशिश करने लगती थी.

फिर तुरंत वो अपने घुटनों में बैठकर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं. मैंने उसकी तरफ देख कर उसे आंख मारी और कहा- एक कॉल ब्वॉय को आई लव यू बोल रही हो. बोलो झांटें साफ़ करवाने के लिए क्या लगवाओगी?श्वेता- क्या लगवाओगी से क्या मतलब है?मैंने कहा- मतलब बाल साफ़ करवाने वाली क्रीम से झांटें साफ़ करवाना है … या रेजर से चुत की शेविंग करवानी है?श्वेता अपनी चुत को अपने हाथ से सहलाते हुए बोली- तुमको ही मेरी चूत चोदना है … जैसे भी अच्छा लगे … वैसे साफ़ कर दो.

एक में मेरी मां और मौसी ठहरे हुए थे और दूसरे में मैं और मेरी बहन व अन्नु रुके हुए थे. बाद में नौकरानी को पटाया, पैसे दिए बहुत खर्चा किया … पर उसके साथ भी केवल वही मिला … सिर्फ शरीर की भूख मिटी.

मैं बोला- सोच लो भाभी, मैं अपनी दोस्तों के साथ बहुत मस्करी करता हूं.

एक दो बार मैंने उसके चूचों को दबा कर देखा और फिर उनको जोर से मसलने लगा.

उसके अलावा पान वाला भी वीडियो देख कर बोला- मुझे एक वीडियो दे दो … तुम्हारी सब उधारी माफ़. दिन में जो घटना हुई थी उससे लग रहा था कि अन्नु भी वही चाहती है जो मैं चाहता हूं. ठीक है, बोल तुझे क्या चाहिए?मैंने बोला- ठीक है, मुझे जो चाहिए मैं सोचकर आपसे बाद में माँग लूंगा.

लस्त होकर लंड निकाल कर या ढीला लंड अपने आप ही निकल गया, वह मेरे बगल में लेट गया।मामा जी बोले- अब इनकी बारी है, अनिल तैयार हो जा।अनिल मामाजी की ओर मुंह बना कर देखने लगा. वो मुझ पर गुस्सा होने लगीं कि किसी और कि निजी सामग्री तुम्हें नहीं देखनी और लेनी चाहिए. घर आ कर मेरा मन बिल्कुल भी शांत नहीं था क्योंकि मैंने उनके जिस्म का वो हिस्सा देख लिया था, जो नहीं देखना चाहिए था.

मैं मॉम के पास गया औऱ प्यारी रंडी मॉम ये कहते हुए उनके प्यारे होंठों को चूम लिया.

कमाल की बात ये थी कि इस बार मेरे इंग्लिश में और भी ज्यादा अच्छे नंबर आए थे. मैंने उसके मस्त मम्मों को प्यार से देखते हुए धीरे से उसकी अधखुली ब्रा को उतार दिया. मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि मर्दों की तो आदत होती ही है घूरने की.

मुझे ज़रीना को चोदते हुए आधा घन्टा हो चुका था और मैं उसे अब भी चोद रहा था. थोड़ी देर तक ऐसे ही पड़ा रहा मैं। थोड़ी देर के बाद मैं उठा और फ्रेश होने के लिए चला गया. आपको मेरी भाभी की चुदाई की ये सच्ची कहानी कैसी लगी, मेल पर जरूर बताना.

दूसरी तरफ राजशेखर मेरी योनि पर अपने जुबान से खिलवाड़ किए जा रहा था और मैं अपने बस से बाहर होती जा रही थी.

कुछ पल बाद उसकी मरी सी आवाज निकली- उम्म्ह … अहह … हय … ओह … समीर … मैं मर रही हूँ … प्लीज़ रुक जाओ. मेरा लंड एकदम फौलादी और कठोर है, जिसने अभी तक कई हसीनों को पानी पिलाया है.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी नीचे से संजय जोर जोर से चोद रहा था और ऊपर से मैं अपना लंड चुसवा रहा था. मैंने उसकी तरफ देखा और पैरों को चौड़ा करते हुए उसकी चुत का एक चुम्मा लिया.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी इरफ़ान मेरा सर पकड़ कर अपने लंड के पास ले गया और बोला- चल मुँह में ले ले. अब मुझे ये पता नहीं था कि गिलास में बीयर थी, शराब थी, या कोई कोल्ड ड्रिंक थी.

मेरा एक बेस्ट फ्रेंड था संजय, जो मुझसे हर एक बात शेयर करता था और मैं भी उससे हर एक बात शेयर किया करता था.

भाई बहन का सेक्सी वीडियो बफ

बस इतना सुनना था कि मैंने गिलास टेबल पर रखा और उसका हाथ पकड़ कर उसको अपनी तरफ खींचते हुए उसे अपनी गोद में बैठा लिया. मेरी चूत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी दोस्ती पड़ोस के एक जवान लड़के से हुई और वो मुझे छोड़ना चाहता था. कार सेक्स कहानी पर अपनी राय देने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग करें.

मैं- साली कुतिया … तेरा बुढ़ापा आ गया … मगर बदन की गर्मी कम नहीं हुई कमीनी. मैंने चाची से पूछा- मॉम कहां हैं?चाची ने कहा- वो मन्दिर गयी हैं पूजा क़रने. फिर उसने खुद बोला कि दोबारा करना है क्या … तो मैं कैसे मौका छोड़ देता.

उसने नेहा को एक कसरत करने वाली बेंच पर दोनों तरफ टांगें करके लिटा दिया और खुद उसके ऊपर चुदाई की पोजीशन में आ गया.

विमला और मैं और सरस्वती, इंटर के बाद गांव में ही रहीं और फिर सबसे पहले उसी की शादी हो गयी. तो मैंने उसे पूछा- आप मुझको कब से पसन्द करती हो?तो सुशी बोली- पिछले दो साल से!फिर मैंने पूछा- मेरे लिए क्या कर सकती हो?तो सुशी शर्माती हुई बोली- आप जो बोलो?फिर मैंने परीक्षा लेते हुए उससे कहा- चलो कुछ करो!तो सुशी ने शर्माते हुए मुझे अपनी बांहों में लेकर हग कर दी. उसके बाद मैंने भाभी की दोनों चुचियों को बारी बारी से खूब चूसा और इतना दबाया कि उनकी गोरी चूचियां लाल हो गईं.

उसके गले तक डालने के बाद मुझे लगा मैं जीत गया, लेकिन अभी भी मुझे कुछ कमी लग रही थी. उस रेड कलर के टॉप से रोनिता के 38 के दोनों चूचे एकदम साफ़ साफ़ नजर आ रहे थे. उसने कहा- कैसे लूं मुँह में … जैसे दीदी ने लिया था विद्यालय में … वैसे?मैं हैरान था कि उसे कैसे पता चला.

फिर वो उठी और मेरे गीले हो चुके लंड को अपने मुंह में लेकर उसको तेजी के साथ चूसने लगी. तो शुरू करो ना मेरे राजा … आज मुझे पूरी खुश कर दो … तगड़े लंड को तरस रही है मेरी चूत …”सुनील ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे उठाया, मुझे खड़ा करके उसने एक झटके में मेरा गाउन उतार दिया.

इस बार हमारी चुदाई का राउंड 35 मिनट तक चला और मैंने उसकी चूत को रगड़ दिया. मैंने उसको डॉगी स्टाइल में आने के लिए कहा और वो जल्दी से उठ कर बेड पर मेरे सामने झुक गई. चिकनाई हो जाने से मैं जोर जोर से चुत में उंगली चलाने लगा और उसका पानी निकल गया.

40 हुआ, तो मैं बोला- अब मैं घर जा रहा हूँ … शाम 5 बजे तक पैसा लेकर आऊंगा … तब तक आप लोग आज का काम खत्म कर देना.

उनके साथ की गई सारी हरकतों को मैं विस्तार से अपनी अगली कहानी में बता दूंगा. गांड का छेद थोड़ा उठा हुआ था और चुत का छेद नीचे को खुल-बंद हो रहा था. बहुत बार उंगली से या फिर और कोई चीज अपनी चूत में मेरी कामवासना बुझाने का प्रयास करती, पर उससे मेरी प्यास कहां बुझने वाली थी.

पूजा चुप थी, पर उसके शरीर में हो रहे कम्पन से साफ पता चल रहा था कि वह उत्तेजित हो रही है. हम दोनों नंगे ही ट्रक के नीचे उतरे और वो रोड के एक साइड टट्टी करने बैठ गया.

मेरे मुहल्ले के बहुत से लड़के मोनिषा आंटी के नाम की मुठ भी मारने लगे थे. सुरेश ने मुझे बहुत कुछ बताया, तब मैंने भी सोचा कि छोड़ो … सब तो अपने ही हैं. भाभी भी मेरा पूरा माल पी गयी और मेरे लंड को चाट चाट कर पूरा साफ कर दिया.

सेक्सी चुपके चुपके

मैंने कहा- हां, आंटी ने बताया तो था कि तुमको रात में अकेले सोने में डर लगता है.

कहानी के पहले भागप्रिंसीपल मैडम के साथ कार सेक्स-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने मैनेजर के कहने अपने अपनी मैडम यानि प्रिंसीपल साहिबा को उनके मायके में छोड़ने के लिए जा रहा था. लेकिन मैंने भी यूं ही तुक्के में कह दिया- जब तक वो नहीं आती, तब तक आप ही मालिश वाली बन जाओ ना. मैं तुम्हारी याद में अपने चूचों को दबाती और हस्तमैथुन करके सुकून लेती रही … कुछ उस वजह से भी मेरे बूब्स का साइज़ बढ़ गया है.

मैं भाभी के गोरे गोरे पैरों को देख रहा था … क्या गज़ब की टांगें लग रही थीं. मैं रुक गया और उसको किस करने लगा।जब वह थोड़ी नार्मल हुई तो मैंने आराम आराम से अंदर बाहर करना शुरू किया, फिर अचानक से ज़ोर का झटका मारा और पूरा लण्ड अंदर घुसा दिया, वह फिर से तड़पने लगी।फिर मैं आराम से अंदर बाहर करने लगा।अब उसको भी थोड़ा सुकून मिल गया था, उसको भी मज़ा आने लगा. सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ ओपनदिन में बहुत से लोग आते भी थे, इसलिए भी मैं उसको अपने घर नहीं बुला पा रही थी.

उर्वशी बाहर से तो खूबसूरत थी ही मगर अंदर से भी उसका बदन संगमरमर की तराशी मूरत से कम नहीं था. लेकिन जैसे ही मैं अपनी कार लेकर आगे निकला, वैसे ही उसने मुझे आवाज़ लगाई.

मैं- सोनीपत में कहां आना है?रीता- मैं सोनीपत से हूँ उधर रहती नहीं हूँ. फिर कुसंगति में पड़ कर उनका पति, नशा और कई औरतों से संबंध रखने लगा था. हमने रोज की तरह पहले पढ़ाई की, फिर वंदना ने कहा- अब जो तुमने प्रैक्टिस की है, वो मुझ पर ट्राय करो.

अब मिहिर ने भी दो धक्कों के बाद अपना नियंत्रण खो दिया और मेरी बीवी की योनि में ही वीर्यपात करते हुए शांत होता चला गया. मैंने कोई सात आठ मिनट तक ज्योति के मुँह से अपना लंड चुसवाया और बाद में मैं उसके मुँह में ही निकल गया. मैंने कोई सात आठ मिनट तक ज्योति के मुँह से अपना लंड चुसवाया और बाद में मैं उसके मुँह में ही निकल गया.

दिसम्बर का महीना था, तो पूजा नहाने के बाद ठंड के कारण हल्की सी सुरसुरा रही थी.

फिर जब मैडम को होश आया कि वो मुझसे चिपकी हुई है तो वो शरमाते हुए मुझसे अलग हुई. मैंने एक एक पैग और बनाया और हम दोनों दारू पीने के साथ साथ खाना खाने लगे.

मेरे चूचों को जोर से अपने हाथों में दबाते हुए उनको मुंह में लेकर पीने लगे. उनको देख कर ऐसा लग रहा था कि वो बहुत पुराने प्रेमी हों और बहुत दिनों के बाद एक दूसरे से मिल रहे हों. इसलिए उसने मेरा लंड हाथ से पकड़ कर अपनी बुर की दरार के बीचों बीच सैट कर दिया औऱ अपनी बुर को मेरे लंड पर दबाने लगी.

आज लिख रहा हूँ लेडीज किटी पार्टी में बढ़ती अश्लीलता पर!और यह अश्लीलता या नंगपना इस वजह से बढ़ती जा रही है कि मॉडर्न सेक्स में खुलेपन की पक्षधर लड़कियाँ ही अब गृहणी भी बन रही हैं. भाभी के हाथ से लंड सहलाए जाने से मेरा लगभग 6 इंच का लंड सर उठाने लगा. मम्मी बोलीं- इसको सहलाते ही रहोगे या यह लंड कुछ काम भी करेगा?कल्लू बोला- रानी, यह लंड ही तेरी चूत की आग को शांत करेगा.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी क्योंकि साहब की उम्र भी 55 साल के करीब थी इसलिए उनको चिंता हो रही थी. अब मैं मौके की तलाश में था कि कब दीदी के साथ कोई न हो … उसी दिन मैं दीदी को लेकर वहां उड़ीसा भाग जाऊं और किसी को कुछ पता न चले.

मारवाड़ी देसी सेक्सी

हम माशूकों की गांड बाद में लंड पिलवाने को मचलने लगती है, लंड के लिए तड़पती है … पर उस वक्त गांड मारने वाला नहीं मिलता है. मैंने कहा- हां, आंटी ने बताया तो था कि तुमको रात में अकेले सोने में डर लगता है. तमाशाईयों की भीड़ छंटने और महिला के क्षमा मांगने के बाद में उनके पास गया, उसे शांत किया और अस्पताल में उसकी बेटी की मरहम पट्टी करवायी।एक सुखद मुस्कुराहट के साथ वो महिला मेरा फोन नंबर लेकर चली गयी.

उसने बताया कि जब वह सो रही हो, उस समय कोई अजनबी इंसान उसकी बिस्तर पर आकर आहिस्ता आहिस्ता उसके कपड़े उतार कर उसे नंगी करता जाए और नींद की हालत में ही उसके जिस्म के हर एक अंग के साथ खिलवाड़ करे और उत्तेजक हरकतें करता रहे. उसने धक्के मारते हुए मुझे अपनी तरफ खींचना और सही जगह पर लाने की कोशिश करनी शुरू कर दी. हिंदी बीएफ हिंदी सेक्सी फिल्मउसके बाद मैंने ऑनलाइन वेज बिरयानी मंगवाई और उसे खाकर घर की तरफ निकल आए.

मैं ये सब बात जानकर हिल सी गयी और डरने लगी कि सरस्वती को पता चल गया, तो क्या सोचेगी.

उन्होंने मुझे धक्का देकर पीछे किया, तो मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी बोलीं- मुझे थोड़ा अजीब लग रहा है. उसका पूरा बदन भीगा हुआ था और उसने अपने चूचों के ऊपर तौलिया लपेटा हुआ था.

लंड के प्रवेश के समय तो उर्वशी के मुंह से दर्द की कुछ आवाजें निकलीं मगर मिहिर भी कच्चा खिलाड़ी न था. मैंने उससे आंख के इशारे से पूछा- क्या देख रहा है?उसने हाथ में चूची को पकड़ कर खाने के लिए मुँह बनाया और मैं हंस पड़ी. उसके बिस्तर पर गिरते ही मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके होंठों को चूमने लगा.

कजरी बोली- याद आ गया है … तो क्या हुआ … आप भी तो यहीं हैं … थोड़ा प्यार हमें भी करा देना बाबू जी.

अब मैं रुकने की हालत में नहीं था, इसलिए मैं अपने लंड को ज्योति की चूत में अन्दर-बाहर करने लगा. आखिर उसने मुझे कसके जकड़ लिया ताकि मैं ज्यादा लंड बाहर न निकाल पाऊं. अब मैं जन्मजात नंगा था। मैंने भाभी को सीधा लिटाया और खुद उनके पैरों के पास आ गया।मैंने भाभी के पैरों के तलवे चाटने शुरु किये.

बीएफ मूवी फिल्म बीएफ मूवीउनके जाने के बाद मीनू के फोन से मेरे फोन पर मैसेज आया- कब तक आ रहे हो?मैंने रिप्लाई किया- बस कुछ ही देर में पहुंच रहा हूं. फुलवा बोली- बच्चे दूध पीने वाले नहीं है बाबू जी … हम सब साथ ही जाएंगे.

सेक्सी वीडियो लाइव हिंदी

पता नहीं कि क्या आकर्षण था उनकी आवाज में जो उनकी आवाज मेरे हृदय में घर कर गयी।बातों का दौर चला और चलता ही रहा. ये कहते हुए उसने साइड की टेबल पर से लिक्विड चॉकलेट की बोतल उठाई और मेरे लंड पर टपकाते हुए लगा दी. मैंने बात का मर्म समझते हुए कहा- ठीक है … पर आप भी किसी को कुछ नहीं बताना.

मेरी चूत ने अभी तक जितने लंड खाए थे, उनमें से रंजन के साथ मैं बहुत अच्छा महसूस कर रही थी. उसने हौले से अपने हैंडबैग से टिफिन निकाला और अपने हाथों से मुझे आलू का परांठा खिलाया. मुझे इस वक्त बेहद आग लग चुकी थी और उसका कड़क लंड मुझे इस समय अपनी चूत की खुराक दिखने लगा था.

उसके पास मेरा नंबर तो था ही, जिससे उससे बात करने का साधन तो उपलब्ध हो गया था. वो भी मेरी मस्ती से समझ गया था कि अब मैं विरोध नहीं बल्कि साथ दूंगी, इसलिए उसने अपना पूरा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और धक्के मारते हुए मेरे स्तनों को बा री बारी से चूसने लगा. मैंने कहा- कल तुम्हारा एग्जाम है और तुम हाफ गर्लफ्रैंड पढ़ रही हो?ऐसा कहते हुए मैं उसकी तरफ देख रहा था और मैंने देखा समीज में कसी उसकी चूचियां सच में लंड खड़ा करने के लिए काफी थीं.

अब आगे:मैंने फोन उठाया, तो उधर से आवाज आई- डिस्टर्ब हो गयी … या फुरसत हो गयी?मैंने जवाब दिया- साली कुत्ती कमीनी कहीं की, इतनी रात क्यों फ़ोन किया?सरस्वती- अरे तूने बताया था न कि आज सुरेश आने वाला है तेरे घर … इसलिए सोचा कि पूछ लूं क्या चल रहा है. फिर ऐसे ही एक बार मुझे पता लगा कि अपने कॉलेज के प्रिंसिपल से भी स्वरा दीदी सेक्स करती है.

मेरे दोस्त के पापा, उसकी माँ, उसकी दादी, उसकी एक बहन और खुद मेरा दोस्त.

तत्पश्चात् एक दो बार उर्वशी की चूत पर अपना लंड पटका और फिर उसके योनि मुख पर अपने गुलाबी सुपाड़े को सेट कर दिया. ट्रेन और बस में सेक्स बीएफभाभी निढाल होकर नीचे और मैं भाभी के ऊपर।थोड़ी देर बाद हम उठे और भाभी ने मुझे किस करके बोला कि आज मैंने उन्हें सबसे बड़ी खुशी दी है उनके जीवन की।उस रात हमने 3 बार सेक्स किया. बीएफ पिक्चर फिल्म वीडियो मेंचूत से हल्की सी महक आ रही थी … क्योंकि उसने आज ही चूत को शेव किया था. उसी समय मैं भी वहीं उन सबके सामने आ गया … तो मुझे देख कर सब औरतें चुप हो गईं.

अगली किटी पार्टी के लिए जॉयश ने सबको मैसेज किया कि सब लेडीज अपनी अपनी सेक्स फेंटेसी लिख कर लाएंगी और खुलकर लिखेंगी जो भी मन में हो, उसमें शर्म या ‘गन्दी है’ जैसी कोई बात नहीं होगी.

फौजिया दीदी- कुछ मोबाइल से फोटो खींचो … मैं भी तो देखूँ कि ठीक है, या दूसरी लेना पड़ेगी. आपको मेरी यह कजिन सेक्स कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपने विचार जरूर बतायें. उधर रीता उठ कर सोनम के मुँह को चूसते हुए उसकी चूचियां मसलने लगी, जिससे कुछ ही देर में सोनम की चुत को लंड का मजा आने लगा था.

लाला ने भैंस के चारों तरफ घूम कर देखा और फिर माँ की ओर देखते हुए उसने अपने हाथ की एक उंगली हमारी भैंस के पिछवाड़े में डाली और थोड़ा सा आगे पीछे किया. फिर मैंने उसे कभी पीछे से तो कभी सामने से तो कभी अपने ऊपर लाकर अलग अलग पोजीशन में सेक्स किया और अंत मे मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में ही छोड़ दिया। और फिर हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेट गए।उस दिन हम लोगों ने 3 बार सेक्स किया. मैंने भी गाली दी और कहा- आ जा भैन की लौड़ी … साली मेरी रंडी आज तेरी चूत के चिथड़े उड़ा दूँगा.

व्हिडिओ फुल सेक्सी

उसने मुझसे अपनी झेंप मिटाने के नजरिये से कहा- अरे मैं टॉयलेट साफ करने गई थी, लेकिन मैं भूल गई थी कि तुम अन्दर हो. जिस कुवारी लड़की के बारे में मैं आप लोगों को बताने जा रहा हूं उसका नाम सुनीता है. मैंने उसे गोद में उठाया और टेबल पर बैठा कर उसकी ब्रा और शॉर्ट्स को उतार दिया.

तफसील से बात करते हुए दीदी ने मुझे बताया कि उन लड़कों में कोई ठेकेदार का लड़का था और कोई वहां के लोकल नेता का लड़का था.

एक रहस्य की बात ये भी है कि मैंने ज़रीना की अम्मी को भी चोद लिया है.

थोड़ी ही देर में मोनिषा आंटी की चूत ने अपना रस छोड़ दिया और वो सारा रस मेरे मुँह में आ गया. मैंने उन्हें दस दिन इलाज करवाने का बोलते हुए कहा- ठीक तो जल्दी हो जाओगे, पर इलाज पूरे दस दिन करवाना पड़ेगा. वॉलपेपर से बीएफमैंने चाची के दूसरे निप्पल को भी खूब चूसा और उसी के साथ पहले वाले दूध को रगड़ कर खूब मसला.

और इतने मैं भाई ने एक झटका और मारा तो उनका पूरा लन्ड मेरी बुर में समा गया। मेरी आँखें बाहर आने को हो गयी, मेरी हालात बेहोश सी हो गयी।फिर भाई कुछ देर ऐसे ही रहे, मुझे किस करते रहे, मेरे चुचों को चूसा मसला, खूब प्यार किया. तुम सब के लिए 15 दिन के बाद की बुकिंग हो सकती है … करना हो तो बोलो … रंडी तुम्हारी हो जाएगी. फिर उसके ऊपर आकर मैंने उसकी चूचियों पर भी लिक्विड चॉकलेट टपका कर पूरी चूचियों पर मल दी.

फिर आंखों में इशारे हुए और हम दोनों सेक्स करते करते अपनी चरम सीमा पर पहुँच गए. वो ऐसे कर रहा था, जैसे कोई मजदूर भारी भरकम बोरी को जगह पर लाने के लिए करता है.

ब्वॉय फ्रेंड तो दूर की बात थी, उसका तो कोई साधारण फ्रेंड भी नहीं था.

वो बोली- जब तक तुम्हारी शादी नहीं हो जाती, तब तक तुम्हें मेरी चूत को चोदना पड़ेगा. मेरी बड़ी चाहत थी कि अगर कभी मौका मिले, तो मैं माँ बेटी दोनों को चोदना चाहूँगा. ये कहकर मैंने एक ताकतवर धक्का और मारा जिसके साथ ही पूरा लंड मामी की गर्म चूत में उतार दिया.

बीएफ वीडियो एचडी वीडियो में फिर जब तक मैं वहां रहा उसने अपनी चूत चुदवाई लेकिन उसने कभी दोबारा चूत की चुदाई में चूत में वीर्य नहीं गिराने दिया. थोड़ी देर किसी तरह उसने जैसे तैसे धक्के लगाए और मुझे घुमा कर अपने तरह मुहाने कर बिस्तर पर लिटा दिया.

उसके बाद मुझे ध्यान में आया कि घर में कोई है ही नहीं, तो मैं फ़ालतू में घबराया. उन्होंने लंड की स्पीड बढ़ाई … अन्दर बाहर अन्दर बाहर धच्च फच्च धच्च फच्च … वे शुरू हो गए. मेरे मामा शरीर से काफी हट्टे कट्टे थे लेकिन उनका लंड देखा तो मुझे यकीन नहीं हुआ.

ब्लूटूथ सेक्सी इंग्लिश

उधर पठान भी कसकर दीदी को दबाये हुए चोद रहा था और लंड पेलता जा रहा था. कुछ देर तक चूत पर लंड को रगड़ने के बाद उन्होंने मेरी चूत पर अपने लंड को अच्छी तरह से सेट कर लिया और धीरे-धीरे अपने शरीर का वजन मेरे ऊपर डालने लगे. सुरेश का लिंग झड़ने के बाद सिकुड़ कर छोटा जरूर हो गया था, मगर सुपारा मेरी योनि में ही अटका रह गया था.

मेरे कराहने, उसके हांफने और संभोग की क्रिया से हो रही थप-थप की आवाज से कमरा गूंजने लगा था. उसके बाद अपने हाथ में ढेर सारा थूक लेकर मेरे लंड पर लगाया और अपनी चुत पर रख दिया.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया और आंखों से चूमने का इशारा किया, तो उसने झुक कर मेरे लंड के सुपारे को प्यार से चूम लिया और फिर चली गई.

मैं जब भी घर गया तो अपनी माँ को चोदा हर बार!आपको मेरी इस माँ बेटे की चुदाई की कहानी पर क्या कहना है, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. उसके गले तक डालने के बाद मुझे लगा मैं जीत गया, लेकिन अभी भी मुझे कुछ कमी लग रही थी. आखिर मैं समझ गया कि वो अब मना नहीं करेगी, तो मैंने समीज उतारनी शुरू की.

मुझे अपनी चूत में उसका लंड किसी गर्म की हुई लोहे की रॉड की तरह लग रहा था. कानपुर स्टेशन पर मिली एक आंटी की गांड का मजा मैंने उनके घर जाकर कैसे लिया, पढ़ें इस कहानी में! ट्रेन में आंटी से दोस्ती हो गयी थी और थोड़ा मजा मैंने ट्रेन में ले लिया था. 05 पर मैंने कजरी को आते देखा, तो मैं वहीं खड़ा हो गया … ताकि कजरी मुझे देख ले.

मेरा लंड किसी भी लड़की, भाभी या आंटी को चुदाई का पूरा मजा देने के काबिल है.

हिंदी बीएफ वीडियो सेक्सी एचडी: मेरे लंड के सुपारे के नीचे के भाग से भी रक्त निकल रहा था और उसके चूत से भी खून निकल रहा था।फिर भी हम दोनों थोड़ा देर आराम करने के बाद फिर से चालू हुए. विभोर के पास कार भी थी तो कभी कभी वो कार में भी मुझे किस करता था और मेरी चूची को दबाता था.

मैंने कच्ची नींद में आंख खोल कर देखा कि सोनू मेरी बगल में बैठी हुई थी. फिर तभी अचानक से मौसी ने आवाज दी तो उसने अपने हाथ से मेरे हाथ को हटा दिया. मेरी गोद में आते ही हम दोनों के होंठ एक दूसरे के मुंह से कोल्ड ड्रिंक का मिठास चूसने लगे.

वो हमारे रूम पर रुकी थी और रात में मैं उसे पढ़ा रहा था कि …अन्तर्वासना के सभी मज़ेदार और चूत लंड के भूखे पाठकों को मेरा नमस्कार, सलाम.

वो मैंने उससे बोल दिया, तो वो बोली- ठीक है … लेकिन इस वक़्त सब कुछ ऊपर से ही कर लो … मतलब पूरे नंगे नहीं होंगे. अब मेरी 3 साल की इंटर्नशिप स्टार्ट होने वाली थी जिसमें मेरे को रोज ऑफिस जाना था साथ साथ में क्लासेस भी होती थी. वे बोलीं- हां हां आप मेरे बेस्ट फ्रेंड हो … मैं आपकी किसी बात का बुरा नहीं मानूँगी.