बीएफ कुत्तों वाली

छवि स्रोत,एक्स एक्स ब्लू पिक्चर बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी गांव का: बीएफ कुत्तों वाली, लंड जब पूरा का पूरा भाभी की चूत में उतर गया तो मैंने उनकी चूत में लंड के धक्के देने शुरू किये.

छोटी लड़कियों के बीएफ सेक्सी

मैं उस नौकर के लंड को भी अपनी चूत में लेने का मन बना रही थी लेकिन भोला एक ठाकुर मर्द था और वो इतनी आसानी से झड़ने वाला नहीं था. बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफएक टाइम आया, जब मैं मेरी चचेरी बहन और मेरी गांड मारने वाला दोस्त रवि तीनों ने साथ में एक ही बेड पर अकेले वक़्त गुजारा.

प्रिया के पापा के ये फर्स्ट कज़न साहब अपनी पत्नी और बेटी वसुन्धरा समेत प्रिया की शादी से तीन दिन पहले से ही मेरे ही घर में अड्डा जमाये हुए थे. नेपाली के बीएफअब अंकल भी मस्त होकर मुझे भोग रहे थे और अपनी किस्मत पर नाज कर रहे थे कि मुझे कुंवारी बुर भोगने को मिली.

यह तो सरासर मेरे पौरूष को खुली चुनौती थी और ऐसा तो मैं होने नहीं दे सकता था.बीएफ कुत्तों वाली: कुछ पलों बाद भाभी आईं और खुद तैयार होने की कह कर अपने रूम में चली गईं.

मैडम बाहर आई और मुझे एक तरफ कोने में ले जाकर पूछने लगी- क्या इरादा है?मैंने कहा- इरादा तो नेक है, अगर आप हाँ कर दो तो!वह मुस्करा कर मेरी तरफ देखने लगी.या खुदा!! उसका नर्म गर्म हाथ पकड़ते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा.

सेक्सी बीएफ हिंदी में फुल - बीएफ कुत्तों वाली

उसी दिन पति को बाहर जाना था तो वे बोले- तुम होटल चली जाना, मैं कुछ गिफ्ट लेकर वहां दे जाऊंगा.थोड़ी देर हम दोनों एक दूसरे को किस करते रहे और फिर एक बार हम लोगों ने जबरदस्त चुदाई का भरपूर मजा लिया.

आपकी राय के बाद मुझे आगे भी आपके लिए कहानी लिखने के लिए प्रेरणा मिलेगी. बीएफ कुत्तों वाली उसने कस कर पूरी ताकत से मेरे दूधों को दबाया, थोड़ा उठकर एक हाथ से भोला ने मेरी चूत को थपथपा दिया.

अभी तक की कहानी में आपने पढ़ा कि अपनी चाची की बेटी मोनी के साथ मैं उसके ससुराल में उसके पति के घर आ गया था.

बीएफ कुत्तों वाली?

मैंने बहुत ही ताक़तवर दस बारह धक्के लगाए और हर धक्के में एक मोटा सा लावा का लौंदा चूत में झाड़ दिया. साथ ही मेरे दिल की धड़कन भी तेज होती जा रही थी लेकिन फिर भी मैंने हिम्मत बनाये रखी।मेरा प्रीतम (लंड) भी डर के मारे किशमिश के आकार में आ गया था। भई यूँ तो मैं पूरा चोदू हूँ लेकिन मामला ठहरा खतरनाक चुड़ैल का! थोड़ा सा डर लगना तो स्वाभाविक था. इसके बाद एक दौर वाइन का फिर से चला और हम दोनों फिर से अभिसार के लिए गरम हो गए.

हम दोनों खुले आसमान के नीचे दरी पर एक दूसरे से गुत्थम गुत्था हो गए. मामी बोलीं- बड़े नाजुक हो यार!मैं मामी के मुँह से यार शब्द सुनकर ज़रा चौंक गया. मैंने उसके मुँह से गिरी वाईन, जोकि उसके गालों पर लग कर टपक रही थी, उसी अवस्था उसके गालों को चाटना शुरू कर दिया.

मैं शायना बुआ को चोदना चाहता था लेकिन इतनी जल्दी ये बात कैसे हो सकती थी. पुरुष दम्भ … ये तो है ही!यक-बा-यक बिला-वज़ह ही फिज़ा खुशगवार सी हो चली थी और वसुन्धरा भी कुछ सहज़ सी दिखने लगी. तुम्हारे पापा के लिए भी कुछ अंडरगार्मेन्ट्स ले आऊंगी और अपना भी कुछ सामान लाना है मुझे।मां की बात सुनकर सुमिना ने काजल की तरफ देखा और उन दोनों ने मेरी तरफ। मगर माँ थी इसलिए बात टाली नहीं जा सकती थी.

मुझे आज व्हिस्की पीने का मन कर रहा था, मैंने सकुचाते हुए मनीषा से पूछा, तो उसने हंस कर कह दिया- हां ले लो, मुझे कोई दिक्कत नहीं है. मानसी ने हेतल को नहीं बताया था कि मैं भी लाइन पर हूं क्योंकि हम उसको सरप्राइज देना चाहते थे.

’मैंने जहाँ निशान था, वहां धीरे से किस किया और पूरा दाया कन्धा जीभ से चाट लिया.

तेरी उम्र तो बहुत कम है लेकिन तेरी चूत बता रही है कि तू बहुत चुदी है.

कहकर मैंने उसकी नाइटी को निकलवा दिया और अब वह मेरे सामने ब्रा और पैंटी में खड़ी थी. मैं उसको चोदता रहा और बीस मिनट की जोरदार चुदाई के दौरान वह दो बार झड़ गई. सुमन का हाथ मेरी चूत पर आकर उसको सहलाने की कोशिश कर रहा था और मैं जैसे सुमन के जिस्म में घुस जाना चाहती थी.

मैं उससे रोज नहीं मिलती थी और वो रोज मेरे घर भी नहीं आता था भैया से मिलने के लिए, क्योंकि अगर वो रोज मेरे घर भैया से मिलने के लिए आता तो भैया को हमारे ऊपर शक हो जाता. उसने नीचे एक काले रंग की पैंटी पहनी हुई थी जिसमें उसकी गोरी गांड को देख कर मेरा दिल मचल गया. तुम कितनी देर में पहुंच रही हो?मैंने कहा- ठीक है, अभी तो मैं जीजा के साथ चित्रकूट के लिए निकल रही हूं.

एक बार लास्ट ईयर मैं अपने परिवार के साथ दिल्ली में एक शादी में गयी थी.

मेरी हाइट 5 फुट 8 इंच है और लंड का साइज़ भी 7 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है, जो किसी भी चूत को पागल बना दे. मैं धीरे-धीरे उसके बच्चे से सम्पर्क बढ़ाने लगा, पर वो न जाने क्यों मुझसे डरता था. उसके ब्लाउज में भरे हुए चूचे देख कर मैं उन पर टूट पड़ा और उनको ब्लाउज के ऊपर से ही जोर से भींच दिया.

आर यू रेडी फॉर इट? (मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ, तुम्हें अपने देश ले जाना चाहता हूँ. जिसके कारण मैंने अपने लंड को अब वहाँ से हटाया नहीं, बल्की वहीं पर हल्का सा दबा दिया जिससे मुझे अपने‌ लंड के‌ मुहाने पर कुछ कसाव व गर्मी का सा अहसास हुआ. उसकी की चीख निकल गयी- आआआअ … आआआहहह बस करो! …बचाओ … प्रीतम मर गई … अह्ह… उम्म!मेरी प्यारी गीतू की चिकनी चूत को मेरा सर्प बिल समझकर उसमें घुस गया था.

मैंने देखा कि भाभी की आंखें भी मेरे लंड को देख कर गुलाबी सी होने लगी थीं.

मेरी उम्र 26 साल है और मानसी की 24 साल। मानसी का शरीर बहुत अच्छे से उभरा हुआ है। उसके मम्मे और गांड बहुत ही मस्त हैं. बारह बजे तक पढ़ने के बाद कुलजीत ने लाइट बंद कर दी और हम लोग लेट गये.

बीएफ कुत्तों वाली अब ऐसा ही कुछ हाल‌ मेरा था।जैसा कि मैंने पहले भी बताया था मेरे मम्मी-पापा मोनी व उसकी बहनों को अपनी बेटी की तरह मानते हैं इसलिये मैंने कभी सपने में भी मोनी के बारे में गलत नहीं सोचा था मगर आज मोनी के साथ ऐसा कुछ करते हुए मेरी उत्तेजना अपने चर्म पहुँच गयी थी। मैं वैसे ही मोनी‌ के‌ बारे में सोचकर काफी उत्तेजित था. मैंने बहुत सी लंड की प्यासी भाभियों और चुदासी लड़कियों को अपनी सर्विस से खुश किया है.

बीएफ कुत्तों वाली उसके बाद उसने अपने अंडरवियर को भी निकाल दिया और उसका लंड मुझे अपने सिर के ठीक ऊपर तना हुआ दिख रहा था. मुझे इसमें शर्म भी नहीं आती … क्योंकि सेक्स का असली मजा इसमें ही है.

बहुत मजा आ रहा है … आह्ह … आआ आ आ … तूने तो मुझे पागल कर दिया है और जम कर चोद मुझे.

वीडियो हिंदी में सेक्सी फिल्म

मगर वो कामुक पल ज्यादा देर तक ठहरा नहीं क्योंकि आंटी ने मुझे पीछे कर दिया, आंटी बोली- लल्लू, जरा संभल कर खड़ा हो!फिर मैं मशीन में कपड़े डालने लगा तो आंटी मेरे पीछे आकर खड़ी हो गई।मेरा लंड तो आंटी की गांड छूते ही तन कर उछल-कूद करने लगा था. जैसे ही सनी लियोन के सम्भोग दृश्य स्क्रीन पर चलने लगे, बेबी कभी अपना हाथ अपनी चूत पर फेरती और कभी चूचियों पर. मैं जब वापस सोफे की तरफ आ रहा था तो अदिति मेरे लंड की तरफ देख रही थी लेकिन वो नजर नहीं उठा रही थी.

मैंने वैसा ही किया और उसने मेरे पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे और अपने लंड पर थूका और मेरी गांड के छेद पर लगाया. अब आयशा भी मदहोश हो रही थी, वो मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबा रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी। हमारे पास ज्यादा समय नहीं था इसलिए मैं खड़ा हो गया और आयशा को बिठाकर अपना लण्ड जो अब तक पूरी तरह से खड़ा हो गया था सीधे उसके मुँह में दे दिया और मुख-चोदन शुरू कर दिया. काफी लम्बा-चौड़ा बदन होने के कारण उसका लौड़ा 7 इंच लम्बा जबरदस्त साइज का था.

मौसी बोली- अन्दर मत निकलना, बाहर दूर को ही निकालना अपना माल, वरना साड़ी खराब हो जाएगी.

मेरी दोनों चुचियां एक साथ उसके मुँह में जाने से और दोनों होंठ से दबाने से में भी बहुत उत्तेजित हो गई. दोनों ने करवट ली और एक दूसरे को अपने आगोश में ले लिया और पता ही नहीं चला कि कब नींद आ गयी. उसके बाद हम दोनों ने एक बार और बेड पर और एक बार बाथरूम में भी सेक्स किया.

पांच मिनट में ही मेरे लंड ने उसके मुंह में वीर्य उगल दिया जिसे वो अंदर ही गटक गई. उसके साथ कुछ देर तक मैंने बातें कीं और फिर मैंने अपने कपड़े पहन लिये. जैसे ही मैंने बहन की चुत की दरार से अपना लंड रगड़ा, उसने अपनी चुत को फ़ैला दिया.

मैंने उसके बदन का स्पर्श पाने के लिए नींद में होने का नाटक किया और अपना लंड उसके नितम्बों की दरार में घुसा कर रगड़ने लगा. मैं बताई तारीख से 2 दिन पहले निकल गया और 28 को बैंगलोर पहुंच कर होटल में रूम लेकर रुक गया.

मैंने सोचा अब ये सही मौका है, इसलिए मैंने बिना देर किए अपना लंड सोनल की चुत पर रख दिया. दोस्त ने मुझे ये कह कर मना कर दिया कि रूम सुबह पांच बजे लिया जाएगा. फिर भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने बताया कि मेरा ब्रेकअप हो गया है.

अंकल ने हंसते हुए कहा- बेटा मेरा लंड तो चुत के नाम से ही खड़ा हो जाता है … और यहां तो तुम अपनी अम्मी की मेरे साथ चुदाई की बात कर रहे हो बेटा.

मैंने मना किया तो वो बोला- विक्रम की यह पहली चुदाई है, उसे सुहागरात वाला फील आना चाहिए।मैंने हाँ कर दी और तैयार हो गई. मैं वापस कमरे में आया और गुप्ताइन को फोन करके पूछा- यह लड़की कौन है?तो बोली- मेरी भतीजी है, गोरखपुर से आयी है. वो चॉकलेट मेरी चूत में लगाकर मेरी चूत को चाटने लगा जिससे मैं उत्तेजित होने लगी.

फिर ओकले ने मुझे खड़ा किया और मेरी गांड चुत से उन सभी ने एक साथ अपने अपने लंड भिड़ा दिए. इस बार मैं आपको एक हसीन हादसा, जो मेरे साथ हुआ, उसके बारे में बताना चाहता हूँ.

अब रात को उसके ख्याल आने शुरू हो गये थे और एक दिन मैंने उसके बारे में सोच कर मुट्ठ भी मार डाली. उसके चहरे को महसूस करना एक अलग अहसास था।फिर मैं उठा और बोला- चलो घोड़ी बन जाओ. तभी उसका भाई बिस्तर ले आया और वे मेरे साथ में बिस्तर लगा कर लेट गए.

ફુલ એચ ડી સેકસી વીડિયો

अगर किसी दिन मेरी कोई क्लाइंट के 34 साइज़ के मम्मे हों और एकदम टाइट हों, तो समझो उस दिन मेरी चांदी हो जाती है.

इसके पहले मैंने उसका लंड देखा तो था, पर उसे टॉयलेट करते हुए देखा था … उस समय इतना कड़क नहीं दिखता था. मैंने मामी से पूछा- आपको मजा आ रहा है?वो बिना कुछ बोले मेरे बाल पर अपना हाथ फिरा के मेरा साथ देने लगीं. मौसी के लेटने की वजह से उनकी कमर भी थोड़ी पीछे की ओर सरक गयी, जिस वजह से मेरे लंड और उनकी चूत के बीच में मेज़ का किनारा आने लगा.

वैसे उसका नाम विनीता था पर घर में सब उसे डॉली बुलाते थे तो मैं भी उसे डॉली ही कहती थी, उसका घर भी मेरे घर के पास ही था. मानसी ने हेतल की चूत को चूसना शुरू कर दिया और हेतल अपने हाथों से अपने चूचे मसलने लगी. बंगाली बीएफ सेक्स व्हिडीओप्रिय पाठको, मैं श्रीमती सोनम सिंह, इस समय मेरी उम्र बयालीस वर्ष की है.

या खुदा!! उसका नर्म गर्म हाथ पकड़ते ही मेरे तनबदन की आग और भड़क गयी और मेरा लंड सनसनाता हुआ पूरा 8 इंची बड़ा हो गया और सलामी देने लगा. इसलिए साल में दो बार दीपावली और गर्मी की छुट्टियों में ही गांव जाता हूं.

यह देख कर मैं उसको गोद में उठा कर घर ले आया और मैंने दादा जी से उसके लिये दवा देने के लिये कहा. जीजा बोले- साली कुतिया, तुझे तो मैं बेटी की तरह नहीं अपनी बीवी की तरह रखूंगा. बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था.

बकौल शायर ज़नाब सुदर्शन फ़ाकिर साहबहोठों पे तबस्सुम हल्का-सा, आंखों में नमी सी ऐ ‘फ़ाकिर’ …हम अहले-मुहब्बत पर अकसर ऐसे भी ज़माने आए हैं. वो बोले- तेरी गांड बहुत मस्त है बंध्या, मैं तुझे चोद चोद कर पागल कर दूंगा. जैसे ही मैंने उसको चुदाई की पोजीशन में करके अपना लंड उसकी चुत में घुसाया, वैसे मुझे लगा कि लंड किसी गर्म भट्टी में दे दिया हो.

जब से उन्होंने वह सुहागदिन की बात कही थी तब से ही मेरे मन में उनके जिस्म को लेकर ख्याल आते रहते थे.

उसने खुद ही उस लड़की के शर्ट उतारी और फिर उसकी पैंट की बेल्ट भी खोलने लगी. मैं उसकी गुलाबी सी चुत को देख रहा था तो बोली- देखते ही रहोगे क्या, अब कुछ करो ना … नहीं तो मैं मर जाऊँगी.

मैं- तो यार … खाना खाने के बाद तुरन्त चुदाई तो हो नहीं सकती न, अब तुम जो कहो, वो कर दिया जाए. उसकी चूची बहुत चिकनी थी।आंटी कपड़ों पर जोर-जोर से सोटा मार रही थी, सोटा मारते मारते आंटी की चूची भी हिल रही थी। उधर आंटी का सोटा कपड़ों को ठोक रहा था और इधर मेरा सोटा मेरी पैंट में तन कर मेरे अंडरवियर को ठोकने लगा था. देखते ही देखते वो नंगा हो गया और अपने लंड को एक बार हाथ में हिला कर जल्दी से मेरे ऊपर लेट गया.

वापस आते समय विकी ने मेरी सास से बात की- कैसी हो आंटी, बाकी सब ठीक है न?उसने मेरी तरफ देखा भी नहीं. दोस्तो, उन ठरकी अंकल ने मेरे मम्मों को तो पहले ही आजाद कर लिया था और लगातार मसल रहे थे. वो पूरे जोश के साथ धक्का लगाते और पूरा लंड बुआ की चूत में घुस कर ताऊ की जांघें बुआ की जांघों से टकरा जाती और फट्ट की आवाज होती.

बीएफ कुत्तों वाली राधिका ने सोनल तरफ देखकर कहा- हां तो तुम दोनों ने क्या डिसाइड किया, क्या रात को चुदने के लिए तैयार हो?सोनल- सिर्फ एक राउंड की बात तय हुई है … वो भी स्लोली स्लोली …तभी राधिका मेरी ओर देखकर मुस्कराने लगी, मैंने भी उसको स्माइल दे दी. गुलाबो ने गुलाबी रंग की फ्रॉक पहन रखी थी और सर पर चुनरी ओढ़ रखी थी, उसने अपना चेहरा छुपाया हुआ था.

લાઈવ સેકસી

जब मैंने जीजा जी और अपनी चूत चुदाई की कहानी सुमन को बताई तो सुमन की चूत में भी खुजली होने लगी थी. फिर नम्रता ने अपनी एड़ी को कूल्हे से सटायी और टांग को थोड़ा सा फैलाकर अपनी नाभि को सहलाते हुए अपने हाथ को चूत की तरफ ले जाने लगी. कुछ दोस्त मुझसे सेक्स करने की चाहत रखते हैं, तो कुछ ने लड़की के नाम से मेल आईडी बना कर हेल्प के लिए मुझसे सम्पर्क किया.

बिना चुदे उससे रहा नहीं जाता।मैं आपको बता दूँ कि मेरी बहन एक बहुत ही गर्म माल है। उसके मम्मे उभरे हुए 32 के साइज के हैं. बेताब तो मैं भी बहुत हो रहा था लेकिन मैं उसकी बेताबी देखना चाहता था. हिंदी सी बीएफअंकल के साथ उन दोनों को जो मज़ा आया था, वह पूरा सिनेमा मैं देख चुकी थी.

जब मेरे मामा की बेटी यानि मेरी दीदी मुझसे मिलीं, तो मैंने दीदी से बात की, लेकिन उन्होंने मुझसे बात नहीं की.

कुछ टाइम के लिए मैं फिर से रुक गया और मौसी की हालत ठीक होने का इंतजार करने लगा. तभी उसने गुस्से में मेरा लंड पकड़ा और खुद ही चुत में सुपारा सैट करके ज़ोर से गांड ऊपर की तरफ करके झटका दे दिया.

कुछ देर बाद सुमेर के लण्ड में से सफ़ेद लिसलिसा पदार्थ निकला और दोनों चूमा चाटी करने लगे. उसको पता था कि मैं कितनी चालाक हूँ, बाहर ध्यान दे सकती हूँ, इसलिए वो मेरे जिस्म के उभार के मजे ले रहा था. मोनी शायद सोच रही थी कि मैं अब फिर से उसकी चूत के पास जाने‌ की कोशिश कर रहा हूँ इसलिये मोनी ने जोरों से कसमसाकर अपना एक‌ हाथ अब मेरी गर्दन पर‌ डाल लिया और मुझे ऊपर से पकड़ लिया।एक मिनट म मैं … व व वो … लगा लेता हूं…” मैंने कॉन्डोम‌ का नाम लिये बिना मोनी से कहा मगर मोनी ने मेरी‌ बात का को‌ई जवाब नहीं दिया.

मेरा साथ हुई इस घटना में जिस लड़की का जिक्र मैं करने जा रहा हूं वह मेरे साथ ही मेरी ही कम्पनी में काम करती थी.

वो लड़कियां के मामले में मुझ पर पूरा विश्वास करता था, तो उसने नम्बर उधर फेंक दिए. वो काम वासना में गांड उठाते हुए बड़बड़ाने लगी कि आह मन्नी … मजा आ रहा है … तुम करते रहो … रुकना नहीं डियर … मैं इसी दिन का कब से वेट कर रही थी. मैंने भी उसी कपड़े से अपना लंड साफ किया और हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए.

सेक्सी बीएफ वीडियो बीपीहालांकि उनके चेहरे पर कोई अलग भाव नहीं थे, मुझे ऐसा लगा, जैसे उन्होंने ये सब जानबूझ कर किया था. नम्रता- चलो नहा धोकर कुछ खाना बनाती हूं, उसके बाद थोड़ा आराम भी करेंगे.

हॉट हॉट सेक्सी सेक्सी

उसके बाद हमने यह सब बहुत बार किया लेकिन चुत में उंगली उसने दुबारा नहीं करने दी. वापस आकर मैं कपड़े पहनने लगी तो जीजा जी ने कहा- अभी तो आधा मजा ही लिया है साली साहिबा, रुको थोड़ी देर … फिर आपको असली मजा दूँगा. उसकी चूचियों को पीते हुए मैं उसके होंठों को भी चूसना चाहता था मगर अगले ही पल मेरा ध्यान उसकी चूत की तरफ चला गया और मैंने एक हाथ नीचे ले जाकर उसकी चूत पर रख दिया.

मैंने अपनी रफ़्तार को और तेज़ किया और दो ही मिनट में मैंने फिर से चाची की चूत को अपने लंड के लावा से लबालब भर दिया. भाबी के इस तरह गांड को उठा उठा कर लंड पर बैठने की अदा मुझे बड़ी भा रही थी. चूत पर जीभ ने कमाल दिखाना शुरू किया, तो अनुषी हल्की सिसकारी लेने लगी.

मैंने कहा- लेकिन 5 लोगों के साथ कैसे कर पाऊंगी?सर बोले- परेशान मत हो तुम्हें भी मजा आएगा. शुरू में थोड़ा मजा लेने के लिए मैंने निक के करीब आयी थी, पर आज वो मेरे दिल पर राज कर रहा है. उसकी चूत से पानी निकलने के बाद लंड और भी सटासट अन्दर बाहर होने लगा.

कुछ देर के बाद मैंने उसके कंधे पर हाथ रख कर जैसे ही उसकी चुची के ऊपर रखा तो आतिशा बोली- नहीं भैया, ये ठीक नहीं है. मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे.

फिर अचानक एक दिन उसका कॉल आया- तुम कहां हो, मैं अजमेर में ही हूँ … तुम आ सकते हो क्या?मैंने उससे पूछा- अजमेर में तुम कहां हो?उसने बताया तो मैं जल्दी से उसे मिला और उसको लेकर एक रेस्टोरेंट में ले गया.

इतना कह कर वो खुद ही आगे पीछे होने लगी और मद्धिम स्वर में कहने लगी- सब मैं ही करूंगी या तुम भी कुछ करोगे … चोदो ना अपनी इस कुतिया को … क्यों तड़पा रहे हो. मैडम का बीएफमैं अपने दोस्तों के पास नहीं बल्कि आज मानसी के चूचों को दबाने की प्लानिंग कर रहा था. मां बेटे की बीएफ हिंदीलेकिन जब मैंने जीजा के साथ पहले सेक्स में हुए दर्द के बारे में सोचा तो थोड़ा डर भी लग रहा था. वह छटपटाई उम्म्ह… अहह… हय… याह… लेकिन मेरी पकड़ मज़बूत थी।पूरा मेरा पूरा सात इंच लंबा, ढाई इंच मोटा लंड उनकी चूत में जगह बना चुका था.

बाजार की दूरी अधिक होने के कारण कभी कभी तो ऐसा हो जाता है कि मैं मोबाइल में गाना सुनते हुए सो भी जाती हूँ.

मेरा नंबर ले जाना और मैं बोल दूंगा कि तू या तेरी फैमिली कोई भी आए उससे कभी पैसे ना लिया जाएं. बाजू में देवर का बेडरूम, फिर ऊपर छत पे जाने के लिए बाथरूम के पास से सीढ़ियां हैं. मैंने भी उससे आई लव यू टू बोला और एक बार और करने को पूछा, तो उसने भी हां बोल कर मेरा साथ दिया.

काजल मेरी छाती पर चूम रही थी और फिर अचानक एक भूखी शेरनी की तरह वो सीधे मेरे लंड पर टूट पड़ी. मैं उसके ऊपर लेट गया और उसके मुंह में जीभ डाल कर उसको आनंद देने लगा. रात को उसी की पायल की आवाज आती है और इसीलिये रात में कोई भी उस गौशाला में नहीं जाता।लेकिन मैं इन बातों को नहीं मानता था क्योंकि मैं शहर का रहने वाला लड़का था.

भाभी की सेक्सी एचडी वीडियो

मैं खुश हो गयी और मैंने सुबह ही उसे कॉल कर घर बुला लिया।अरे उसका नाम बताना भूल गई … उसका नाम राकेश है।वो 10 मिनट में ही आ गया. अगले दिन रात को मैंने उनकी गांड भी मारी, जिसका मजा मैं बयान नहीं कर सकता. उस औरत ने धमकी देते हुए एक बैग और कपड़े नीचे फेंक दिए और बोली- देख ले साली तुझे नंगी ही जाना है या बात मानेगी?फिर मैंने लंड को मौसी की गांड में डाल दिया.

दरवाजा बंद करते समय मैंने देखा कि वो पीठ करके मेरा इन्तजार कर रही थी.

दीदी ने कहा- आपको आज क्या हो गया है जो जानवरों की तरह मेरे स्तनों को मसल कर मरोड़ रहे हो?मगर दीदी की बात को अनसुना करके जीजा जी तो बस पागल से हुए जा रहे थे.

आह … क्या माल लग रही थी, वो साड़ी में थी … लेकिन तब भी एक नंबर का कांटा माल लग रही थी. जैसे ही मेरा हाथ उसकी चूत पर जाकर टिका उसने अपनी जांघों को भींच लिया और घुटनों को मोड़ कर उन्हें दूसरी तरफ कर लिया. बीएफ हिंदी देहाती मेंबस में से उतरने के बाद हम दोनों ने अपने फोन नम्बर एक-दूसरे को दिये और मैं वहाँ से भैया के रूम पर चला गया.

भाभी मुस्कुराते हुए मुझसे कहने लगीं- देवर जी, तुम्हारा औजार तो वाकयी बहुत ही बड़ा है और शानदार भी है. ये सब मेरी एक दोस्त ने बताया था और मैंने थोड़ी पोर्न मूवीज़ भी देखी थीं. तो सुमेर ने पूछा- वो लड़की कौन है?तो पारो बोली- मेरी छोटी बहन … उसका नाम गुलाबो है.

मैंने थोड़ा सा आगे होकर उसका हाथ अपने हाथ में ले लिया और उसको बिठाया. खैर … मैं वहां से अपने घर चला गया और भाभी के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा.

बस साला थोड़ी देर तक मेरी चूत को सहला देता था और फिर मेरे ऊपर चढ़कर मुझे चोद देता था बस.

मैं कोई दवाई लेकर चुदाई की बात नहीं कह रहा हूँ, बल्कि ये मेरी कुदरती स्टेमिना है. मेरी सहेलियां, जिनके बॉयफ्रेंड हुआ करते थे, अक्सर ही मुझे अपने किस्से सुनाती रहती थीं. उसको देख कर तो यही लग रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दें, पर ये मुमकिन नहीं था.

सनी लियोन एक्स एक्स वीडियो बीएफ मैं एक दिन पीछे आम के पेड़ के पास गया और फिर आम देख कर मुझे आम तोड़ने का मन हुआ. उसने अपना हाथ नीचे ले जाकर मेरे लंड को पकड़ा और अपनी चूत पर रगड़ दिया.

मेरे लंड पर बैठने के बाद वह उछलने लगी और खुद ही अपनी चूत को चुदवाने लगी. मैंने उसकी चूत को तेजी के साथ सहलाना शुरू कर दिया और वो मेरे चूतड़ों को दबाते हुए मुझे अपनी तरफ खींचने लगी. फिर हम चारों का खाना खत्म हुआ और हम सभी मुँह हाथ धोकर चुदाई के लिए रेडी हो गए.

वीडियो सेक्सी चार्ट

मैंने फ्रिज से कोकाकोला की बोतल निकाली, उसमें मैंने व्हिस्की मिला रखी थी, दो घूंट पीने के बाद बोतल डॉली को दे दी, दो तीन घूंट पीकर उसने मुझे दे दी, इस तरह कोकाकोला की बोतल हम दोनों ने खाली कर दी, दो दो पेग अन्दर जा चुके थे. मां ने पूछा कि मजा आ रहा है तो मैंने कहा कि हाँ बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है. कूलर को मैंने अपने कमरे में लगाने के लिए मानसी से पूछा तो वो बोली- ठीक है.

उसने मुझसे कहा- तुम मेरे लिए किसी परी से कम नहीं हो! अपनी पूरी जिंदगी में मैं तुम्हारी जैसी लड़की को नहीं चोद पाता. एक तो तुम नंगे होकर नहाते हो, फिर ऊपर से दरवाजा भी बंद नहीं करते हो.

पार्टी में बहुत सारे लोगों को आना था, तो मैं सज धज कर जाने के लिए तैयार होने लगी.

मैंने कहा- मुझे कुछ पता नहीं … आप लोगों को जो कुछ करना है, कर लीजिये. इस बीच में जब मैं दीदी के घर गई तो मैंने कई बार जीजा जी को तौलिये में देखा था. मैंने अपनी गीली उंगलियों को नम्रता के नथुनों के पास किया और उसको सूंघाते हुए उंगलियों को चाटने लगा.

मैंने भाभी से नजर बचाते हुए पैंट को सीधा किया लेकिन उसने मेरी पैन्ट को फूला हुआ देख लिया था. वह अपनी गांड को बार-बार मेरे लंड की तरफ पीछे धकेल रही थी और मेरे अंडरवियर में तना हुआ मेरा लंड उसकी गांड में घुसने की कोशिश कर रहा था. मेरे मुँह से एक कातिल मुस्कान निकल गई और मैंने मोबाइल उसके हाथ से ले लिया.

मैं तो लंड का मजा भी ले चुकी थी इसलिए मुझे दोनों ही कामों में आनंद आता था.

बीएफ कुत्तों वाली: मैंने कहा- तो अब तुमको मुझ पर विश्वास हो गया या नहीं?वह बोली- हाँ, मुझे तुम पर विश्वास है. मैंने अपनी जिंदगी को इतना इंजॉय किया जिसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी.

मैं उसकी गर्म सांसों को महसूस कर सकता था। उसके बाद मैं उसके होंठों पर पहुंचा और वो आइस क्यूब को जीभ निकल कर चाटने लगी। उसकी आँखों पर पट्टी थी. उसकी गांड पर लंड को रगड़ते हुए जल्दी ही मेरा वीर्य निकल गया क्योंकि मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गया था. मैं उनको बाथरूम में ही किस किए जा रहा था और उनकी चूत को सहलाए जा रहा था.

कुछ ही मिनट में उसके लंड से वीर्य निकल कर मेरे सारा का सारा वीर्य मेरे मुंह में झड़ गया.

लेकिन कुछ पाठकों ने अपनी मेल्स में मुझ से शिकायत की है कि मेरी कहानियों में स्त्री-पुरुष के गुप्तांगों का, प्रेम-आलापों का निहायत ही सभ्य शब्दावली में ही उल्लेख क्यों होता है, मैं भी औरों के जैसे अश्लील शब्दों का उपयोग क्यों नहीं करता. इसके बाद मैंने राजेन्द्र जी के सामने इस बात को चैक करना शुरू कर दिया. मैं जिस फ्लैट में रहता था उसमें मेरे बड़े भाई-साहब और छोटी बहन भी रहती थी.