हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी एचडी सेक्सी एचडी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदू बीएफ वीडियो: हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश, जीजू का लण्ड इस बार भी अंदर नहीं गया बल्कि जीजू का वीर्यपात हो गया.

सेक्सी लंड सेक्सी वीडियो

फिर मैं बाथरूम में जाकर नहाया और कपड़े पहनकर हम दोनों अपना लगेज लेकर कमरे से बाहर आ गए. साड़ी खोलकर सेक्सी वीडियोफिर हम दोनों कमरे में बिस्तर पर आ गये।हीना ने कहा- आप मेंहदी का ख्याल रखिए सर.

उसे देख रूपा के होश उड़ गए। वो क़िताब पर झपटी मगर मैंने उसे वो किताब नहीं दी।और किताब देखते हुए बोला- अरे वाह तो तुम ये शौक भी रखती हो?इतना सुन कर रूपा होंठ मींजते हुए बोली- अरे नहीं अंकल, ये किताब मेरी सहेली की है।अरे तो क्या हुआ … तुम्हारे पास है मतलब तुम भी पढ़ती ही हो। इसमें इतना शर्माने की जरूरत नहीं है. टीवी की सेक्सीबताओ कि कब और किस जगह करना है?वो बोली- मेरे मां-पापा 3-4 घंटे के लिए अपने किसी दोस्त के घर जाने वाले हैं.

जब उसका लण्ड पूरी तरह से मेरी जाँघों को भेदकर आगे जाता … तो उसके लण्ड का सुपारा मेरी कोमल चूत को नीचे से चूमता हुआ आगे आता और फिर वापस चला जाता।मेरी चूत और उससे रिसता हुआ पानी … रोहित के लण्ड को हर बार एक गीला चुम्बन दे रही थी और अगला हर चुम्बन पहले से अधिक गीला और गर्म था.हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश: जब मुझसे नहीं रहा गया तो आखिर मैंने कविता से पूछ ही लिया- जीजू के जाने के बाद भी तुम दोनों इतना खुश कैसे हो? क्या तुम्हें जीजा जी के जाने का कोई गम नहीं है?उसने बोला- पति को मैं वापस नहीं ला सकती हूँ.

हालांकि हम दोनों एक दूसरे को स्कूल के समय से ही जानते थे मगर चूंकि अब मैं भी जवान था और वो भी जवान हो रही थी तो इसलिए इन सब बातों की तरफ अनायास ही मेरा ध्यान चला जाता था.कुछ देर इस तरह चुदाई करने के बाद भाभी ने मुझसे बोला- सचिन, मेरे हाथ दर्द कर रहे हैं, अब मुझसे ग्रिल नहीं पकड़ी जाएगी।मैंने कहा- तो भाभी, आप नीचे उतर जाइए.

सनी लियोन सेक्सी चोदने वाला - हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश

इस बार दवा की असर जल्द ही खत्म हो गया था जिसकी वजह नताशा की नई चूत थी.वो मुझे मम्मी पापा के कमरे में ले गया और बोला- तू आज औरत बनेगी … चल जल्दी से मम्मी की साड़ी पहन और मेकअप कर.

उससे बात होने के बाद मेरा फिर से उसके साथ सेक्स रिलेशन बनाने का मन कर रहा था. हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश थैंक्स इस सब के लिए! और अब 6 महीने बाद जब मैं आऊंगी तो मुझे यही प्यार तुमसे फिर चाहिए.

मैं जैसे ही उठने लगी, जीजू मेरे ऊपर सवार हो गए और बोले- अब कहां जाओगी साली साहिबा!तो मैं बोली- जीजू छोड़ो ये सब गलत है.

हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश?

सच कहूँ … मैं उस वक्त बहुत ही डरी हुई थी … क्योंकि उसका लंड बहुत बड़ा था. मेरा लंड तो पूरा टाइट हो गया था मगर उनका लंड अभी भी वैसे ही सोया हुआ था. फिर बड़ी ही कातिल अदा से अपनी काली ब्रा निकाली और मेरी तरफ फेंक कर झटके से घूम गयी.

पांच मिनट बुर चुसाई के बाद एकाएक संजू का भाव बदल गया और वो जोर जोर से सांसें लेने लगी. मैंने आंटी को अपनी तरफ खींचा और दूसरे हाथ को सीधा उनके मम्मे पर रख दिया. मैंने उनका इशारा समझा कि वे मुझे चोदने के लिए बोल रही हैं।तो मैं अपना लंड पकड़कर उनकी चूत के पास आया और टच किया।उन्होंने बोला- अभी नहीं राजा, अभी तो पूरी मालिश बाकी है।और वे हंसने लगी।मैं हाथों में तेल लेकर उनकी जाँघों पर बैठा और उनके दूधों की मालिश करने लगा। फिर उनकी पेट की मालिश और नाभि की मालिश के बाद मैंने उनकी जांघों की मालिश की। और फिर धीरे-धीरे उनके पैरों की मालिश करने लगा.

अरे राज! आप …! आप कब आये?” वसुंधरा का हाथ बदस्तूर मेरे हाथों में था. मैंने बहू को पलंग पर लिटा कर टीवी ऑन किया और उसे घर के हर कमरे को दिखाने लगा. मैं कोमल के ऊपर चढ़कर उसके होंठों को चूमने लगा और गर्दन को चूमने लगा.

इधर मौसी की हॉट चुदाई चल रही थी, उधर बैकग्राउंड में हॉट सांग रिपीट पर रिपीट चल रहा था. एकदम से उसने मेरे सर को नीचे धकेला, तो उसका लंड मेरे गले तक उतर आया और उसके बॉल्स मेरे होंठों से आ टकराए.

मयंक ने उसको पहले ही बोल दिया था कि वो उसकी क्लीन शेव चूत की चुदाई करना चाहता है.

एक दिन शाम को रीना अपने गेट पर खड़ी थी और मैं मोबाइल पर बात करते हुए वहीं सड़क पर चहलकदमी कर रहा था.

मैं- माई बाबू ने कबसे दारू पीना शुरू किया … किस घटना के बाद? मैं भी लड़की हूँ, सब समझती हूँ. मासिकधर्म आना शुरू होने के बाद लड़कियों में निखार आता है, इसे जवानी की दहलीज पर पहला कदम भी कह सकते हैं और शरीर भी अपने स्त्रीत्व को स्वीकार करके पूर्ण औरत के रूप में ढलने लगता है. कुल मिलाकर ऐसी कदकाठी है कि उसके बारे में सोचकर 62 साल की उम्र में भी मेरा लण्ड टनटना जाता है.

अमन ने अब पीछे से आकर मुझे पकड़ते हुए मेरे गाल पर किस करते हुए पूछा- तो मैडम, क्या विचार है अब?मैं- कुछ विचार नहीं है. तो वो बोली- मैं तो 4 दिन बाद जा रही हूं कनाडा … नहीं मिल पाऊँगी।मैंने बोला- इसलिए ही कह रहा हूँ कि मिल लो. मैंने टोका, तो बाबू बोले- यह सॉफ्ट सेक्स है … बहुत धीरे पर बिना आवाज के किया जाता है.

स्नेहा भाभी को चोदा कैसे मैंने? चुत चुदाई की कहानी का अगला भाग आपके सामने कल पेश करूंगा.

उधर जाकर मैंने एक गिलास पेप्सी ले ली और जहां स्नेहा भाभी खड़ी थीं, वहीं खड़ा हो गया. हमने वहां स्कूबा डाइविंग, बोट राइडिंग और वहां के सुंदर लोकेशन घूमे. लेकिन छोड़ने से पहले उसने मौका देखकर मम्मी की गांड को सबके सामने दबा दिया जिसे मैंने देख लिया था.

वो ये सुन कर मुस्कुरा दी और मुझे मेरी शर्ट से पकड़ कर अपनी ओर खींचकर मुझे चूमने लगी. मैं नहाकर कपड़े पहन चुका था और बाल ठीक कर रहा था, तभी जीजा जी मेरे कमरे आए. आप चाहते हैं कि मैं भाई के साथ? … आप ऐसा सोच भी कैसे सकती हो?चित्रा- देख आलिया, कल तुम किसी से शादी जरूर करोगी.

इस पर मैं थोड़ी गुस्से में बोली- इतनी गर्मी भरी है … दीदी को नहीं चोदते क्या?जीजू बोले- उसे चोदता तो हूँ मेरी रानी … लेकिन तेरे जैसी कसक उसमें कहां है.

मेरे चाटने से चढ़ी हवस की गर्मी में बेकल होकर वह धीमी आवाज़ में आहें भी भरने लगी थी. अब हालात खराब हो रही है।मैंने पूछा- क्यों?तो वो बोली- दो साल से कुछ किया नहीं है, किसी ने छुआ नहीं है मुझे … तभी बोल रही हूँ।अब हम दोनों क अंदर की आग भड़क चुकी थी।एक दिन मैंने उसे कहा- कहीं घूमने चलते हैं.

हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश भाभी ने अपने फोन से भाई को फोन किया और पूछा- आप कहां हो … कब तक आओगे?उन्होंने बोला- मैं 8:00 बजे तक आऊंगा. जब भाभी ने पूछा था कि दूध पीकर ही खत्म करना है … या कुछ आगे भी बढ़ोगे.

हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश अब आगे:मैंने घोर आश्चर्य से आंखें चौड़ी की और तुरंत कहा- मतलब जहां से हम सूसू करते हैं वहीं से?परमीत ने हां में सर हिलाया, तो मैंने झट से कहा- तुमने डॉक्टर को दिखाया?इस पर परमीत शरमा गई और उसने कहा- धत कमीनी, कोई अपनी ऐसी जगह किसी को दिखाता है क्या?मैंने कहा- दिखाता तो नहीं है, पर जब बात तबीयत की हो तो फिर डॉक्टर से कैसी शर्म. फिर मैंने मुस्कान की कमीज़ के अंदर हाथ डाल कर उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबा दिया.

रमेश- हहम्म वाह … क्या लग रही हो। अपनी पीठ झुकाओ और पीछे चूतड़ को और उठाओ।अब रिया ने वैसा ही किया.

हिंदी मूवी ओपन सेक्स

कोमल ने भी अपनी टांगें पूरी तरह खोलते हुए चुत को लंड के दरबार में पेश कर दिया. मेरे थोड़ा छटपटाने के बाद उन्होंने मुझे अपने होंठों की गिरफ्त से आज़ाद कर दिया. फिर बात करते हैं आराम से बैठ कर! वैसे आपको नीरा कैसी लगी?राज- अच्छी है भाई बहुत सुंदर है.

अब हम लोगों में कुछ भी छिपा नहीं है, मैं रुकैय्या कौ गांड मराने के लिए अक्सर उकसाता रहता हूँ और घोड़ी बना कर चोदने के दौरान अंगूठे से उसकी गांड की मसाज करता रहता हूँ. वो बोली- रोहित, तुम बेड पर चित लेट जाओ ना!रोहित बात को समझते हुए बेड पर पीठ के बल लेट गया. मैंने उससे इस बात को विस्तार से जानना चाहा, तो उसने सारी बात मुझे बता दीं.

इसी सारी बातचीत के दौरान उसने यह भी बताया कि प्रेग्नेंसी डिले के कारण हम लोग कई डॉक्टरों से मिल चुके हैं, कुछ टेस्ट भी हुए थे जिससे पता चला कि इनके स्पर्म में कुछ प्राब्लम है, उसकी दवा ये खा रहे हैं, ईश्वर चाहेगा तो कभी भी हो जायेगा.

हम सच में तो झगड़ नहीं रहे थे, बस एक मस्ती ही थी, जो हम आपस में कर रहे थे और हमें तो अपने कपड़ों तक का होश भी नहीं था. दीपिका ने अपनी आंखें बंद कर रखी थीं और बार बार अपनी जांघों को भींच कर अपनी चूत की कामवासना को शांत करने की कोशिश कर रही थी. उसका फीगर करीब 34-28-32 का होगा और बदन ऐसा चिकना कि जिसकी नजर भी पड़े उसी की नजर फिसल जाये.

वो उठे और मेरी एक टांग को सोफे पर रख कर अपने लंड को पीछे से मेरी चूत पर सटा दिया. कभी कभी वो मेरी ब्रा के नीचे हाथ ले जाकर मेरे स्तनों को मसल लेता था. मैंने एक बार ही उसकी फुद्दी को सहलाया ही था कि उसने ‘उफ्फ अंकल …’ कह कर अपने दोनों हाथ से मेरे सर को अपनी चूत पर दबा दिया.

स्वीटी आंटी- आह रॉकी … ये सब क्या कर रहे हो … उफ़ … उफ … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उह रॉकी छोड़ो भी न … आह रॉकी … आह रॉकी…मैं- सिर्फ मज़े लो स्वीटी आंटी, अपने इस खजाने को आप मुझसे नहीं बचा सकती हो. मैंने मेरे फोन का कैमरा चालू करके गीज़र के ऊपर रख दिया और उनकी फिल्म बनने का इन्तजार करने लगा.

कभी मेरे पेट पर उंगली से गुदगुदी कर रही थी तो कभी जांघ पर छेड़ रही थी. इससे पहले की मेरा हाथ उनके लिंग पर जाता उन्होंने पूछ लिया- आपके पति घर पर तो नहीं हैं?मैंने कहा- अगर होते, तब भी मैं बेशर्मों की तरह गैर मर्द की बांहों में जाने से हिचकती नहीं. तभी बरसात की तेज फुहार फिर से बेडरूम की खिडकियों से आ टकराई और बादलों की तेज गड़गड़ाहट के साथ बिजली कौंध उठी.

उनके गुलाबी होंठों पर मेरे लंड का सुपारा लगा हुआ था और चाची लंड चूस रही थीं.

इतना कह कर चाची ने अपनी साड़ी उतार दी और फिर से ब्लाउज और पेटीकोट में आ गयी. दीदी ने कहा- ओके … लेकिन जब मेरे ससुर घर पर नहीं हों तब तुम कर सकते हो. वो लोग दस मिनट तक ऐसे ही हरकतें करते रहे और बीच बीच में उंगली मेरी गांड के छेद में घुसाने की कोशिश करते.

अब अरविन्द ने उसकी चूत में अपना लंड घुसाने की नीयत से उसकी टांगें चौड़ी की. जब मैंने पहली बार नग्न अवस्था में देखा तब अन्दर से मुझे अजीब फीलिंग हो रही थी.

आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, मेल आईडी पर अपने विचार जरूर शेयर कीजिएगा. उन्होंने मुझसे बोला- क्या सच में? गांड में भी लेगी?मैंने हां में सर हिला दिया. वैसे इस ही किस्मत की वजह से मुझे आलिया जैसी सुंदर गर्लफ्रेंड मिली है.

टिक टॉक क्यों बंद हो गया

नमस्कार साथियो, इस रसीली कहानी के पिछले भाग में आपको बताया था कि हल्दी की रस्म के बाद उधर डांस सिखाने का कार्यक्रम चल रहा था, जिसमें चुलबुली और अति सेक्सी पायल मुझे डांस सीखने के लिए पकड़े जा रही थी.

पूजा की हल्की से चीख निकली उम्म्ह… अहह… हय… याह…अब पूजा सामने दीवार से सहारे पीछे को झुकी हुई थी और मोहित पीछे से उसके बूब्स पकड़कर उसे चोदे जा रहा था. मेरा लंड तेल की चिकनाई के साथ थोड़ा थोड़ा करके अन्दर घुसता जा रहा था. मेरी एक सेक्स कहानीपड़ोसन लड़की होली खेलने आई और चुत चुदवा गईअन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी है.

हाँ … प्लीज बोलिए!”देखिये … आज मैं भी अकेली हूँ और आप भी … तो … क्यों ना आज का डिनर आप हमारे यहाँ साथ ही करें?”मुझे तो इस लैला के इस प्रस्ताव पर जैसे यकीन ही नहीं हो रहा था। पता नहीं इसके दिमाग में क्या चल रहा है।क्या हुआ? … क्या सोचने लग गए?”ओह … हाँ … दैट्स गुड आईडिया!”तो फिर आप जल्दी फ्रेश होकर हमारे यहाँ पर आ जाएँ मैं आपके लिए बढ़िया डिनर बनाती हूँ. नजमा मेरे होंठों को चूस रही थी और मैं नजमा के मुंह से लार को खींच रही थी. दिल्ली में सेक्सीसाली के साथ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपने जीजू से चुदाई करवाने को तैयार थी.

एक दिन मैंने उसको हाय बोल कर चैट बंद कर दी और उसे अपने रूम में बुला लिया. इसके बाद भी मैंने अपना लौड़ा हिलाते हुए अपनी अम्मी की जवानी को याद करता रहा.

सो! उन का भी गुर्दों पर असर था, नतीज़तन! बहुत देर से मेरे ब्लैडर पर दबाब पड़ रहा था और लगातार बढ़ता ही जा रहा था. जैसे रूम में कौन जा रहा है या कौन आ रहा है।मैंने रोहित से कहा- अभी रोहन आ जाएगा तो क्या करोगे?रोहित- रोहन जब कमरे से बाहर निकलेगा तो मैं आपसे अलग हो जाऊँगा. उस दिन के बाद हंसी मजाक में एक दूसरे के अंगों को छू लेना आम सी बात हो गई, लेकिन हर बार एक नये अहसास से बदन सिहर उठता था.

हम दोनों ऐसे मदमस्त हुए एक दूसरे को चूम चाट रहे थे जैसे कई बार सम्भोग कर चुके हों. आआहह … आआहह …थोड़ी देर बाद रुमित ने मुझसे कहा- आशना … तुम अब सीट पर आ जाओ. कभी मेरे सुपारे को चाट लेती तो कभी मेरी गोटियों को मुंह में भर लेती.

वो भी अपने दांतों से मेरी छाती की घुंडियों को काटने लगी … कभी गालों पर चुंबन देती.

मैं उसकी सुंदरता को निहार रहा था और वो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी. धीरज हल्के हल्के बोला- आह आह यस बेबी … और चूसो हम्म!इधर विक्रम भी अपना लंड धीरे धीरे हिलाने लगा, उसे भी जोश चढ़ रहा था.

तो मैंने कहा- सभी अपने अपने सुझाव दो कि कैसे शुरू करें?मोनू बोला- पहले सभी अपने अपने पार्टनर के साथ सेक्स स्टार्ट करते हैं. साथ ही मैंने तुरंत बात सँभालते हुए उन्हें कहा- भाभी, अगर कोई चीज़ मजा देती है तो उसे मिल बाँट कर खाने में क्या बुराई है?भाभी ने कहा- रमा, देख तू मेरी सहेली ज्यादा है ननद बाद में! देख पहले तो जोर-जबरदस्ती करी थी पापा जी ने एक रात को और मैंने तुम्हारे भैया को डर के मारे नहीं बताया. कोमल जोरों से सीत्कार कर रही थी और कमरे में फच फच फच की आवाज़ सुनाई दे रही थी.

पर मैंने कभी उसके बारे में गे की नज़र से नहीं सोचा था क्योंकि मैं खुद को स्ट्रेट समझता था. और इस वजह से यश को बहुत गुस्सा आता। कई बार तो वो उससे बातें भी नहीं करता. सच कहूं तो उस वक़्त मुझे अच्छा भी और अजीब भी लगा क्योंकि मन तो मेरा भी आगे बढ़ने का कर रहा था, पर जेठजी के साथ कैसे करूं इसलिए मैं कुछ समझ ही नहीं सकी कि क्या करूँ?मैं तुरंत ही जेठजी से अलग होकर दूर खड़ी हो गयी और उनकी तरफ पीठ करके खुद को संभालने लगी.

हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश रस से सराबोर भग में लंड के प्रहार से हमेशा की तरह फच फच्च फच फच फच्च होने लगी. पर वादा करती हूँ आपको निराश भी नहीं करूंगी।उसने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया.

सेक्सी कुश्ती वीडियो

मैंने अपने लंड को और आगे की तरफ ठेला पर वो और भीतर घुसा ही नहीं; लगा आगे जैसे किसी बैरियर ने उसका रास्ता रोक लिया है. मैं वेलेंटाइन-डे का इन्तजार कर रहा था, लेकिन उसने अचानक मुझसे ब्रेकअप कर लिया. तभी कोमल मेरे सामने कुर्सी पर बैठ गई और मैं जिया के पास जाकर उसे किस करने लगा.

गुड्डी रानी का मुंह अब बिजली की तेज़ी से आगे पीछे करते हुए लौड़े को चूस रहा था. मैंने कहा- अंदर आ जाइये, बाहर क्यों खड़े हुए हैं?मेरे कहने पर ज्ञान अंदर आये और आकर सोफे पर बैठ गये. भाई+बहन+का+सेक्सी+वीडियोमैंने दीपिका के टॉप में पीछे से हाथ डाला और उसकी कमर को सहलाने लगा.

मुझे देखते ही वो बोला- वाह मेरी जान, तुम तो कमाल लग रही हो!मैंने उसे थैंक्स बोला और अंदर आने को कहा.

मैं- आप लोग दिल्ली में कहां रहते हो?स्नेहा भाभी ने अपना पता बताया कि यहां रहती हूं. अम्मी की आंखें बंद थीं और वो मदहोश थीं इसलिए उनको मेरे आने की खबर ही न हुई.

रानी की चूचियाँ खूब कस के निचुड़ रही थीं, चूत रस पर रस बहाये जा रही थी औरगुड्डी रानी की सीत्कारों की आवाज़ें होटल के कमरे में गूंजने लगीं. लंड के प्रचण्ड आघातों से साली जी की चूत दर्द से तड़प रही थी और उसके मुंह से मर्मभेदी, गगनभेदी कराहें निकल रहीं थीं. भैया ने मेरे हाथ से गिलास लेकर साइड में रखा और इस बार सीधा बोतल से ही पीने लगे और मेरे मुँह में भी बोतल से ही पिलाने लगे.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को अपनी बांहों में ले लिया और किस करने लगा। उसने भी मेरा साथ दिया और 5 मिनट तक किस किया.

आज से मैं तुम्हें खुलकर मजा दूंगी। लेकिन मेरी बेटी के चक्कर में मेरी चूत को न भूल जाना।आंटी आप चिन्ता ना करो. मैंने अपने लंड को नताशा की चूत पर सैट किया और वो कुछ बोल पाए, उससे पहले मैंने एक जोर का धक्का मार दिया. अगले दिन मैं शाम को अपनी बालकॉनी में खड़ा था वो लड़की भी अपनी बालकॉनी में खड़ी थी.

ओल्ड पिक्चर सेक्सीसमय न मिलने के कारण मैं लम्बे समय तक कोई सेक्स कहानी नहीं लिख पाया. मैं वासना के अतिरेक से कोमल की गीली चुत को चाटने लगा … इससे कोमल और भी ज्यादा चुदासी हो उठी.

सेक्सी पिक्चर मराठी सेक्सी पिक्चर

मैंने एक झटके में अपना लोअर उतार दिया, साथ में अपनी कच्छी भी हटा दी. पर इस बार जब से ये दोनों यहाँ आई थीं तो दोनों ने ही बिना कंडोम के सेक्स शुरू किया था. कहो तो मैं उठ जाती हूँ यहाँ से?सीमा को मैंने बांहों में ले लिया और बोला- अब नहीं कहीं जाने देता तुझे डार्लिंग! इधर आ … तेरे भी मम्में देखूं.

कविता भाभी लाल रंग की ब्रा पहने हुए हैं। जिसमें उनके दोनों बड़े बड़े स्तन छिपे हुए हैं। स्तन उनके इतने बड़े कि मेरे दोनों हाथों में ना आए।नीचे आते ही उनकी नाभि जो अंदर को दबी हुई हैं 1 इंच तो गहरी होगी ही. फिर जीजा ने मेरी सहेली की चूचियों को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. इसलिए कभी कभी चूत में उंगली करके और खूबसूरत हो चुके उभारों को अपने ही हाथों मसल के काम चल जाता था.

मैं और जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह गई मैं … और तेज पेल दे मेरी जान … और तेज … फाड़ दे मां के लौड़े … मेरी चूत को और तेजी से चोद दे. मैंने जैसे ही अपनी जीभ को उनकी चुत पर लगाया, चाची ने एकदम मुझे दूर कर दिया, वो कहने लगीं- हट … ये गंदी जगह है इसे मत चाट. मैंने सोचा कि कौन पागल पति है जो अपनी ऐसी माल जैसी पत्नी को छूता भी नहीं।मेरे पूछने पर उसने बताया कि जब वो सेक्स करते थे तो एक दिन में 9-9 बार तक लगातार सेक्स करते थे।ये सब सुनकर अब मेरे अंदर भी हवस उठने लगी थी। और उठती भी क्यूँ नहीं आखिर मैं भी एक इंसान ही हूँ.

कि तभी मुझे दरवाजा बंद करने की आवाज आयी और फिर कोई मेरे पीछे आकर लेट गया. स्नेहा भाभी बोलीं- अब चलोगे भी या यही आँखों से ही अपना इन्तजार पूरा कर लोगे? अब जल्दी से चलो … यहां किसी ने देख लिया, तो प्रॉब्लम हो जाएगी.

रुस्तम यार मेरा तो फिर से मूड बन रहा है … क्या बोलता तू? हो जाए एक और राउंड?”रानी ने खड़े हो चुके लौड़े की खाल को पीछे सरका कर सुपारा नंगा कर दिया और दूसरे हाथ से झांटों में उंगलियां घुमाने लगी.

अब मैं उनके सामने नंगी थी ब्रा और पेंटी में … ड्रेस खुली हुई बेड पर पड़ी थी. देहाती सेक्सी वीडियो सील पैक”यदि एक जोड़े की रात खराब हुई तो बाकी सबकी रात का मजा चौपट हो जायेगा और सारा प्लान फेल हो सकता है. सेक्सी वीडियो देहाती एचडी वीडियोअब मैं वो जो पुराना घर है न … गिरा टूटा हुआ है … वहां पहुंच गया हूँ. उसने मेरी तरफ मुँह करके अपनी पेंटी भी उतार दी और उसे भी मेरी तरफ फेंक दिया.

नए और जवान लंड की चाहत में मेरी खोपड़ी बड़ी तेजी से इस पर काम करने लगी थी कि आदी को कैसे पटाया जाए.

ज़ायरा की ग्रेजुएशन होने के बाद मेरी चुदाई बंद हो गयी थी क्यूंकि उसकी शादी अब किसी और से तय हो गयी थी और मेरी ग्रेजुएशन भी ख़त्म हो चुकी थी. मैं भी गर्म हो गया था क्योंकि काफी दिन से मैंने भी सेक्स नहीं किया था. अब हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं और हम दोनों की ये रासलीला काफी समय से चल रही है.

ब्लाउज और ब्रा हटते ही भाभी की उन्नत चूचियां मेरी आंखों के सामने उछल रही थीं. फिर जैसे ही मैंने अपने होंठों से उसकी चूत की बड़ी फांकों को छुआ तो दीपिका एकदम से जोर से ‘आह्ह्ह … आआ राज … स्सस … आईया …’ करके चिल्लाई और उसने अपने चूतड़ों के हिस्से को ऊपर उठा कर चूत को मेरे होठों से जबरदस्त तरीके से रगड़ दिया. हम दोनों किस करने लगे और जल्दी ही हम दोनों ने एक दूसरे के टी-शर्ट उतार दिए.

मौखिक संचार का आशय क्या है

मेरी वो दोस्त जिसका नाम मायरा (बदला हुआ नाम) है, इस दिवाली पर अपने परिवार से मिलने इंडिया में आई हुई थी. माई को चोदते चोदते बाबू की नजर फिर मुझसे जा टकरायी, वो इशारे में एक दिखा रहे थे. कई मिनट से मैं उसके बदन के साथ खेल रहा था और अब ऐसा लग रहा था कि अगर मैं ज्यादा देर रुका तो मेरा पानी निकल ही जायेगा.

कभी-कभी वसुंधरा के बारे में सोचते हुए मुझे ऐसा लगता था कि वसुंधरा जरूर कोई शापित अप्सरा थी जिसे किसी क्षुद्र मानव को प्यार करने के जुर्म में स्वर्ग से निकाल कर पृथ्वी पर भेज दिया गया हो और साथ में ये शाप दे दिया गया हो कि ‘जा! तुझे पृथ्वी पर भी तेरा प्यार नसीब ना हो!’कल शाम मैं फिर से उस परी-चेहरा, उस शापित-अप्सरा को रु-ब-रु होऊंगा … सोच कर ही मेरे रौंगटे खड़े होने लगे.

मैंने उसे जाते ही किस करना शुरू कर दिया और वह भी मेरा पूरा साथ दे रही थी.

मैं- आकाश ने भी गांड नहीं मारी?नताशा- नो … आज तक मैंने उसको भी नहीं मारने दी. मैं भी देखना चाहता हूं कि मैं बिन शादी के लड़के का बाप बना या लड़की का!जैसे ही मायरा से मेरी अगली मुलाकात होगी तो मैं आप लोगों को जरूर बताऊंगा. बेबी की सेक्सी वीडियोतुम मेरे बारे में क्या सोचते हो?मैंने भी बोल दिया- यार, मैं भी तुमको पसंद करता हूँ.

आलिया- मैं ना बोलूंगी, फिर भी तुम तीनों मुझे किसी तरह से मना लोगे और वैसे भी नताशा को मैं भी जानती हूँ … वो मेरी भी सहेली है. उम्म्म्म सस्श्हससकाटो मत ना!”थोड़ी देर में मेरा पानी निकल गयाऔर समीर ने भी अपना लावा मेरे मुँह में गिरा दिया. वो मेरे वीर्य और अपने कौमार्यभंग वाले रक्त का एक अणु भी बर्बाद नहीं करना चाहती थी.

इससे नीतू के मुँह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ जैसी कामुक आवाजें आने लगीं. उसकी चूचियां एकदम से ऊपर छत की ओर ऐसे तनी हुई थीं जैसे दो गोल तोपें हों.

बस मैंने ऐसे ग्रुप सेक्स कभी पहले नहीं किया इसलिए थोड़ा नर्वस सी हूँ.

क्योंकि सुबह मजे आते है और आने के बाद भी फ्रेश फ्रेश सा फील होता है. उसने मुझे पलट कर उल्टा कर दिया और अपने बैग से कंडोम का पैकेट निकाल कर लंड पर चढ़ा लिया. भाभी कहने लगी कि उनके पीरियड्स चल रहे हैं इसलिए चुदाई नहीं हो सकती है.

खुदाई की सेक्सी वीडियो तू बहुत बोल्ड लड़की है, मुझे ऐसी लड़कियां चोदने में बहुत मज़ा आता है।फिर उसने मुझे एक कार्ड दिया और बोला- इससे होटल में आज रात को आ जाना. मैंने भी दीपिका का साथ देते हुए उसे जगह जगह से चूमना और उसकी बड़ी बड़ी सुडौल चूचियों को मसलना और पीना चालू रखा.

वो बोली- कुछ नहीं होता, इस पर कौन सा आपका नाम लिखा हुआ है? आप चिंता मत करो. मैंने अपने सुलगते होंठ उसकी चूत के ऊपर और पेट के नीचे वाले हिस्से पर रख दिये और वहां थोड़ा दाँतों से काट लिया. चूचियों को अपने हाथों से गोलाकार दिशा में मालिश देते हुए उसके हाथ मेरी वासना की आग में घी डालने लगे.

चिट्ठी आती है हमें तड़पाती है

पिछले कुछ दिनों से मेरी नजर मेरे साले की छोटी बेटी गिन्नी पर अटक गई है. एक दो बार उसकी चूत को छेड़ा और चाटा और फिर अपना लंड उसकी चूत में लगा दिया. आआअहह … उसने अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाला और मेरे मुँह में दे दिया.

मैंने उसकी ओर देखकर आंख मार दी, तो जिया बेड पर बैठकर हम दोनों को देखने लगी. मेरी बहन के पैर उठने से उनकी चुत का मुँह खुल गया और उनके ससुर से एक ही शॉट में अपना पूरा लंड मेरीबहन की चुतके अन्दर पेल दिया.

अब राजीव मुझे अकेले में नहीं बुलाता था बल्कि अब वो मुझे जानबूझकर सबके सामने डांट देता था.

मैंने रोहिताश के हाथ को अपने लन्ड से हटाया और उसके सामने ही उसकी बीवी की चूत में एक बार फिर से डाल दिया. वो घूमी पर उसके घूमते ही विशाल ने उसकी ब्रा के हुक खोल कर उसके मम्मे आजाद कर दिए. चार छह महीने बाद आशा लगभग दस दिन के लिए मायके आती है फिर उसका पति अशोक उसे लेने आ जाता है.

इस तरह 10 मिनट बाद भाई स्खलित हो गया और उसने अपना गर्म गर्म लावा मेरे मुँह में उड़ेल दिया. दस मिनट बाद मैं झड़ गया और लंड से कंडोम को डस्टबिन में फेंक कर लेट गया. आपका दिल क्या कहता है?” मैंने वातावरण थोड़ा हल्का करने की गरज़ से पूछा.

फिर मैंने फुर्ती दिखाते हुए उनका एक चूचा नाइटी से बाहर निकाल लिया और मुँह में लेकर चूसने लगा.

हिंदी बीएफ पिक्चर इंग्लिश: यानि श्लोक की चुदाई का डोज मुझे मिला है। मादरचोद ने चोद चोद कर मेरी चूत का सारा रस खत्म कर दिया. देखा है न?” किसी अनहोनी की आशंका से मेरे तन में सिहरन की लहर सी दौड़ गयी.

जब मैं वहां आऊँ तब तुम दोनों आपस में सेक्स करती हुई मिलना जिससे वो चुदाई के लिए मना ना कर सके. मैंने मस्ती भरे स्वर में कहा- हां यार … वो क्या है, थोड़ी नींद लग गई थी और नींद में तुम्हारे सपने आने लगे थे. मैं वासना के अतिरेक से कोमल की गीली चुत को चाटने लगा … इससे कोमल और भी ज्यादा चुदासी हो उठी.

मैंने भी अपने कपड़े बदल लिए … क्योंकि मुझे पता था कि अब नीतू को चोदना है.

और फिर वो तेजी बढ़ाते हुए अपना लण्ड जल्दी जल्दी चलाने लगा।मैं समझ चुकी थी कि अब रोहित का स्खलन होने वाला है. न जाने क्यों ऐसा लगा कि नीरा की चूचियां पहले से कुछ छोटी हो गई हैं और टाइट भी. बोल … शर्त मंजूर है तो बता, वरना चल मेरे साथ घर।”तुम जो बोलोगे, सब मानूँगी और ये बात किसी को पता नहीं चलनी चाहिए वरना मेरी बहुत बदनामी होगी।”मैंने उसे अपने पास खींच कर कहा- मेरी जान … अब तो तू मेरी है तो तुझे बदनाम थोड़े होने दूंगा.