हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल

छवि स्रोत,स्कूल का बीएफ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

छोटू के फोटो: हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल, मैं झुक कर पहले तो भाभी की चूत को सूंघने लगा … क्योंकि मुझे चूत की गंध बहुत पसंद हैं.

भोजपुरी में बीएफ वीडियो चाहिए

मैंने बता रखा है कि आप मेरी सहेली के पति हैं, आपके साथ आने जाने में किसे आपत्ति हो सकती है. देहाती बीएफ चाहिए देहातीभाभी ने फ़ौरन से मुझे रोका और कहने लगीं- सॉरी मुदित … मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर सकी इसलिए मुझसे ये भूल हो गई … प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो और किसी से कुछ नहीं कहना.

मैंने पूछा- क्या देखना है?तो उसने मेरा लन्ड पकड़ कर बोला- ये देखना है. सेक्सी बीएफ वीडियो सेक्सी मूवीपहली बात ये कि जिसको भी चोदना हो, उसे पहले विश्वास दिलाओ कि उसकी मर्जी के खिलाफ एक कदम भी आगे नहीं बढ़ेगा.

लगभग 10 मिनट तक यूँही चहल-क़दमी के बाद शेखर के पैर लड़खड़ाने लगे थे।किसी तरह वो वापस अपने बिस्तर तक आया और धड़ाम से बिस्तर पर गिर कर छत की ओर निहारता हुआ लेट गया.हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल: तो पढ़ें सेक्स टॉक कहानी:स्नेहा- दीदू अब आगे किसकी चुदाई देखी है … उसकी बात बताओ?नेहा- मैंने मामा की लड़की ममता की चूत और उसी की भोसड़ी भी देखी है.

एकदम तनी हुई कड़क पहाड़ की चोटियों की भांति मेरी दोनों चूचियां उन दोनों के सामने आ गईं.उसने अपने मामा से अपनी पहली चुदाई की कहानी मुझे पूरे विस्तार से बताई.

देसी औरतों का बीएफ - हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल

मीरा से इस दृश्य को देख कर रहा नहीं गया और वो अपनी चुत में उंगली करते हुए वहीं झड़ गयी.शेखर का दूसरा हाथ भी ख़ाली हो चुका था, अपने दाहिने हाथ की हथेलियों को धारा की चूचियों पर फिराते हुए शेखर ने अपने दूसरे हाथ से धारा की कमर को पकड़ कर अपने क़रीब खींचा और उसे अपने सीने से सटा लिया.

मयंक ने लंड को छेद पर फिर से लगाया और जोर से अन्दर की तरफ पेल दिया. हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल मैंने तुरंत भाभी के ऊपर आकर अपना लंड भाभी की गर्म चुत में पेल दिया.

जॉब लग जाने के बाद मैं अपनी मां को चोदने के बारे में कुछ ज्यादा ही सोचने लगा था.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल?

उधर झड़ चुके दिनकर से रहा नहीं गया तो वो खड़ा होकर अपनी बेटी चमेली को किस करने लगा. मैं केक देखकर हैरान हो गयी और चौंकते हुए बोली- तुम 19 साल के हो गए हो. जितना सोनम ने मानस को जलील किया था, कुछ वैसा ही मानस ने भी सोनम को गालियां दे दे कर सड़कछाप रंडी बना दिया था.

अब अंजू भाभी बहुत गर्म हो चुकी थीं और उनकी चुदास भरी सिसकारियां और तेज हो गई थीं- आह … मांआ … आह!अंजू भाभी का शरीर अकड़ने लगा और चुत ने पानी छोड़ दिया, जिसे मैं पूरा का पूरा चाट गया. लॉकडाउन के समय बीवी मायके गयी हुई थी और मैं घर पर पड़े पड़े बोर होता रहता था।मैं और मेरी बीवी हम दोनों ही यहाँ पर फ्लैट में रहते हैं. तभी अचानक से याद आया कि कहीं मेरी मां की चुदाई का समय तो नहीं हो गया है.

फिर मैं उसके एक दूध को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और निप्पल खींच कर काटने लगा. अब तक मैं समझ चुका था कि फ़लक को सेक्स का बुखार चढ़ने लगा है और वह लण्ड लेने को तैयार है. मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और बोली- साले तूने यह क्या किया?गौतम को लगा शायद उसने मेरी चुत में स्पर्म डाल दिया, उसके लिए मैं गुस्सा हूं.

बीच बीच में मैं उनके मम्मे को दांत से काट भी देता, तो वो और भी पागल हो जातीं और मेरी पीठ पर अपने नाखून गड़ा देतीं. मैं- हां?तमन्ना- जान रुका करो!मैं- उसकी चूचियां दबाते हुये बोला- चलो रुका हूं!कुछ ही देर में वो आहें भरती हुयी खुद ही धीरे-धीरे आगे-पीछे होने लगी.

उसकी सुंदर बड़ी आंखें, पीछे की ओर बंधे हुए बाल, सुराहीदार गर्दन, दुबला पतला शरीर, सख्त गोल स्तन, जो उसके हाथों से आधे भी न ढक रहे थे.

मैं जब कुछ देर बाद बाहर आई, तो शहज़ाद बिस्तर पर पैरों को लटका कर आधा लेटा हुआ था.

बहुत सोचने के बाद वो मान गईं और पूछने लगीं- तुम्हारा दोस्त किधर है?मैंने कहा- वो मेरे किसी काम से गया है, आने से पहले मुझे फोन करेगा. मैंने भी चाची को किस किया और लंड अंदर डाले डाले उनके ऊपर ही सो गया. आपको ये फैमिली ग्रुप सेक्स कहानी कैसी लगी इस बारे में अपना सुझाव और अपने विचार जरूर लिखें.

सोफे पर बैठते ही वो बोली- लाओ अंकल, वो वीडियो दिखाओ?मैं बोला- थोड़ा सब्र करो यार!फिर मैंने उसे जूस पीने को दिया और साथ में वीडियो खोल कर उसे अपना फ़ोन दिया. मैंने उसकी गांड में थूक लगाया और अपना लंड गांड के छेदे के बाहर रगड़ने लगा. अब सुनीता शायद थक चुकी थी लेकिन मेरा लंड अभी तक सर उठाए खड़ा हुआ था और अपनी विजय पताका फहराने के लिए लालायित था.

यही सोच कर शेखर ने अपने हाथों को एक बार फिर अपनी कमर पर रख लिया और अपने लंड को स्वतंत्र छोड़ दिया धारा के लिए।धारा ने भी शेखर को ज़्यादा नहीं तड़पाया और इस बार उसने शेखर के लंड को अपनी नर्म मुलायम हथेलियों से थाम लिया.

अनायास ही शेखर के हाथ उठने लगे और उसने सामने खड़ी धारा के शरीर का स्पर्श पाने की लालसा में धारा की तरफ़ हाथ बढ़ाया. तो चलिए इस गर्म माँ चोद कहानी को भानु राय की जुबान से ही सुनकर मजा लेते हैं. उसने उसी ओढ़ने वाली चादर के नीचे अपने सारे कपड़े उतार दिए और बस शॉर्ट्स पहन लिया.

दोस्तो, मैं अर्नव बाँदा, उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ और अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ।मैंने अन्तर्वासना में बहुत सी कहानियाँ पढ़ी, तो मेरे मन में भी विचार आया कि मैं भी अपनी कहानी अन्तर्वासना पर आप सबसे साझा करूँ।यह अन्तर्वासना में मेरी पहली मामी Xxx कहानी है. वैसा ही हुआ गगन ने अपना लंड रोमा की चुत में जड़ तक पेला और धकाधक करके अपना लंड रोमा की चुत में ही झाड़ दिया. कल रीमा की निखिल से चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से पढ़ने को मिलेगी.

मैंने मौसी से कहा- आह जान मैं झड़ गया … और अब मुझसे रुका नहीं जा रहा है.

तो भाभी कहने लगीं कि ये उदासी तुम्हारी समझ में नहीं आएगी, ये सिर्फ एक लड़की ही समझ सकती है. थोड़ी देर बाद वो एकदम से थमते चले गये और मेरा मुँह उनके वीर्य से भर गया।वे बोले- वाह हरामजादी … वाह क्या बात है, चल अब पूरा माल गटक जा मादरचोद!मैं पूरा वीर्य गटक गई और उनके लंड को प्यार से चाटने लगी.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल उसने मेरी हां देख कर मेरे कपड़े निकाले और मेरे दोनों निप्पल दबाते हुए गांड चाटने लगा. यह इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी उस लड़की की है जिसे स्कूल में ही लंड खाने की आदत पड़ गयी थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल करीब 5 बजे वो मेरे पास आया, तो मैंने उससे पूछा- क्या हुआ भैया, आप लेट हो गए?उसने कहा- हां यार, मेरा कुछ काम रह गया था. मौसी Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की मौसी के साथ रियल ओरल सेक्स कर चुका था.

वे मुझे अपने सेक्स के बारे बताती हैं तो मेरी पेंटी गीली हो जाती है.

हिंदी में सेक्सी हिंदी बीएफ

उसके बाथरूम का दरवाजा खुला था और अन्दर से कुछ बुदबुदाने की आवाज़ आ रही थी. थोड़ी देर बाद नार्मल हो कर नेहा बोली- चल आ जा अब मेरी बारी!ममता- रहने दे यार … मेरी चूत को लंड की आदत पड़ गई है. लंड चुत में घुस गया था तो अब नाइटी पहने रहने का क्या काम था, मीरा ने अपनी नाइटी को खोल दिया और निखिल के हाथ अपने चुचों पर रखवा दिए.

भाभी ने मेरी बात का मतलब समझ लिया और बोलीं- जब तुम्हारे भैया ने मेरी साथ वो सब किया था, तो मैं दो-तीन दिन तक चल ही नहीं पाई थी. आंटी की इस उम्र में भी उनकीचूत बहुत टाईट थीक्योंकि अंकल का लंड छोटा था और वो आंटी को कभी कभी चोदते थे. वह ऐसे ही चूमते चूसते हुए नीचे चला गया और मेरे पजामा और कच्छे को एक साथ उतार कर मेरी गांड को चूसने लगा.

मेरा हाथ उसकी पीठ पर चल रहा था और मेरे हाथों के गुदगुदे अहसास से वो कसमसा रही थी.

दोस्तो, आपको मेरी सच्ची गर्म लड़की सेक्स कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मेल जरूर करें. चाची ने मुझे बेड पर बैठा दिया और मेरी टाँगों के बीच खड़ी हो कर ऊपर से चुन्नी ढीली कर दी जिससे उनकी चूचियाँ बाहर आ गई. मेरी गांड चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं चिकना हूँ, मेरा रंग गोरा है, सभी लोग मेरी चुम्मी लेते रहते थे.

इस उम्र में कमसिन लौंडिया की चुत चुदाई का मजा क्या होता है, ये सोच सोच कर ही मुझे बेहद सनसनी हो रही थी. तीसरे दिन मैंने उसको कॉल करके बोला- मैं तुमको कॉलेज लेने आ रहा हूँ … तैयार रहना. इस ब्लाउज में आगे से भी बहुत घर गला था, जिससे मेरे उभार बहुत ज़्यादा दिखने वाले थे.

वह आकर पीछे से मुझसे चिपट गया और धीरे से उसने अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और उंगली को चलाने लगा. थोड़ी देर बाद हम पेग लगा कर फ्री हुए तो नीरू का पति पेशाब करने वाशरूम गया और शीना किचन में समान रखने जाने लगी.

वो मेरी चुत में उंगली भी कर रहा था जिससे मैं और भी ज्यादा मजे में अपनी गांड मरवा रही थी. मैंने इशारे से उसे अपनी सीट पर आने के लिए कहा लेकिन उसने मना कर दिया. कुछ पल बाद शन्नो मेरे लौड़े को चूसने लगी और मैंने 69 की पोजीशन में करके उसकी नमकीन चूत को चाटना शुरू कर दिया.

लेकिन लंड का तंबू बना हुआ था और मेरा लंबा और काफी मोटा लंड साफ दिख रहा था.

कसम से दोस्तो, ब्रा के ऊपर से उभरते हुए चूचियां और हल्का सा गोरा बदन और टाइट सी मखमली पर्पल कलर की ब्रा में कसे हुए स्तन देख कर मैं गनगना गया. हकीकत में नहीं हो सकता, सो जाओ।अब मैं उससे ज्यादा जिद नहीं करना चाहता था लिहाजा उसके बदन से चिपक कर सो गया।अब रोज़ यही होने लगा. कुछ ही देर बाद भाभी ने मेरी टी-शर्ट ऊपर कर दी और मेरी छाती की घुंडियों को अपने होंठों से चुभलाने लगी थीं.

दोस्तो, मेरी इस कहानी के पिछले भागमाशूका की जवान बेटी ने हमें देख लियामें आपने पढ़ा कि शीना अपनी हॉट मॉम सेक्स वीडियो देखने मेरे घर आ गयी थी. साथ ही अब उसने धारा के गले और उसके कान की लौ को अपने होंठों से चुभलाना शुरू किया.

वो सैम के लंड के पास आ गईं और अगले ही पल सैम ने अपना लंड मेरी मां के मुँह में घुसेड़ दिया. फिर पास पड़े अपने कपड़े उठाकर उसकी जेब से तीन कंडोम का एक पैकेट निकाला. बंगालन भाभी- कैसा पाप, हमारे यहां जब बच्चा होने के बाद दूध जल्दी नहीं निकलता है … तब देवर को बुलाकर भाभी के दूध चूसने को बोला जाता है, ये कोई पाप नहीं है.

देहाती बीएफ बढ़िया वाली

फरियाल लम्बी सांस लेती हुई बोली- आह … हां, आज न जाने कितने टाइम बाद ये हो रहा है … तो मेरा जल्दी निकल गया.

इसी तरह कुछ और देर घूमने के बाद हम दोनों वहां से आ गए और शहज़ाद मुझे मेरे घर छोड़ते हुए अपने घर चला गया. अरुणिमा[emailprotected]इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 2. ऐसा लगा कि जैसे किसी ने बाग में मुरझाये फ़ूल को पानी दे दिया हो, बिना मौसम बरसात हो गयी हो.

फ़ोन रखने के बाद पापा मुझसे बोले- कल सुबह दस बजे रोहित के पास चली जाना … और अच्छे से मन लगा कर सब सीखना. मैं चिल्ला भी नहीं सकती थी … क्योंकि सब यही समझते कि चुदने के बाद नाटक कर रही है. बीएफ व्हिडीओ डाउनलोडजब मीरा ने निखिल की ओर से प्रतिक्रिया नहीं देखी तो उसने अपने हाथ रोक दिए.

उसके एक बूब को मुँह में लेकर मैंने चूसना शुरू कर दिया … साथ ही उसके निप्पल को भी काटने लगा. मैं अन्तर्वासना पर अपने सभी मित्रों की रचनाएं नियमित रूप से पढ़ता रहता हूं.

इधर …स्नेहा चेंजिंग रूम में ज्योति से मस्ती करने लगी- आज तो लगता है काम हो गया तेरा?ज्योति चिढ़ते हुए बोली- घंटा काम हो गया … साली छिनाल पूरा काम खराब कर दिया. रात को एक बजे हम दोनों फिर से मिले और उस रात मैंने अवनि की 3 बार चुदाई की. शेखर उस पते पर पहुँचा, रात के वक्त बिल्डिंग के आस-पास दो चार लोग ही इधर-उधर घूमते नज़र आ रहे थे.

वहीं मेरा लंड भी था, रूचि लंड चुत दोनों पर जीभ की नोक से गुदगुदी करने लगी थी. मैंने अपनी गांड सोफे से थोड़ी ऊपर उठायी तो शीना ने मेरे दोनों कपड़े एक साथ मेरी जांघों तक सरका दिए. घबराइए मत …ये मैं ही हूँ … धारा !!” धारा ने शेखर के हाथ पर अपना हाथ रखते हुए धीरे से शेखर के कान में कहा.

जब मैं उठा तो देखा कि वो तीनों उठ गई थीं और नंगी ही बैठ कर बातें कर रही थीं.

मैंने अपने कपड़े उठाए और नंगा ही अपने रूम में आ गया और अंडरवियर पहन कर सो गया. मैंने खुश होकर तुरंत उसको फ़ोन किया और थोड़ा डांटा- इतने दिन लगा दिए … तुम्हारे बिना मेरा दिल ही लग रहा था.

तुम सबकी तो कॉलेज के टायलेट में देखी हैं, पर ठीक से देख नहीं देख पाई. कविता की चूत के लब खोलकर मैं उस पर अपने लण्ड का सुपारा रगड़ने लगा जिससे चूत पानी छोड़ने और लण्ड टनटना गया. मैं उनके घर के सामने से गुजर ही रहा था कि भैया ने आवाज दी- हैलो!मैंने एकदम से पीछे मुड़कर देखा तो भैया बोले- हां आपको ही बुला रहा हूँ.

उसने बोला- ठीक है बुला लो … और ये जो तुम कर रही थी, वो सब भी बता देना … वरना मैं ही बता दूंगा. होटल पहुंच कर मैंने मोनू को गोद में ले लिया और डांस एरिया के पास खड़ा हो गया. बस अनायास ही मेरे होंठ उत्तेजना और शर्म के मारे कांपने लगे और इसी कश्मकश में पता नहीं कब, मैंने उनके अंडे जैसे बड़े गुलाबी सुपारे को मुँह में ले लिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल अपने मन में उसने लंड देख कर सोचा- ये क्या मजाक है, इतना बड़ा लंड भी किसी भारतीय का होता है क्या? ये तो किसी भी औरत की चुत और गांड ऐसे फाड़ेगा कि दुबारा सिलने लायक नहीं बचेगी. जैसे ही फ़लक बाथरूम का दरवाजा बंद करने लगी मैंने उससे कहा- फ़लक तुमने इन दोनों कपड़ों के नीचे कुछ नहीं पहनना है.

हॉट भाभी की बीएफ

उसने मेरी दोनों टांगों को उठा कर फैला दिया और अपना लंड मेरी चूत पर रगड़ दिया. पर भाभी कुछ बोलतीं, इससे पहले ही मैंने अपनी चार उंगलियां उनके मुँह में डाल दीं. मेरे पकड़ते ही उसका लंड एकदम कड़क हो गया था और बिल्कुल गर्म हो चुका था.

उसने फिर से मानस की चुम्मी लेकर कहा- हां मेरे शेरू … अब तो तू जहां मुझे ले जाएगा, मैं तेरे पीछे भाग भाग कर आऊंगी. उसके मुँह से फिर से आह्ह अःह्ह आहह ओहह आःह्हा हम्ममा ममहा की आवाज माहौल को कामुक और उत्तेजित करने लगी. ब्लू बीएफ हॉटमैंने नाश्ता उठा कर एक तरफ रखा और अपना एक हाथ शन्नो की मैक्सी में डाल कर उसकी चूचियों को मसलने लगा.

नमस्कार दोस्तो, मैं आपका दोस्त प्रकाश सिंह!मेरी पिछली कहानी थी:दोस्त की दीदी मेरे लंड की दीवानीअब मैं फिर से अपनी एक नयी सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ.

उधर से भाभी फोन उठा कर बोली- आप क्या समझते हैं अपने आपको!भाई ये सुनते ही मेरी तो गांड फट गई. पर मैं काम और कामसूत्र को हमेशा अलग रखता हूं, हमारे रिश्ते काफी प्रोफेशनल थे.

कुछ पल के बाद मुझे भी लंड के मजे आने लगे और मैं अपने भाई से खुल कर चुदवाने लगी. अन्दर उसने ब्रा नहीं पहनी थी तो उसके दूध एकदम गोल और नोकदार खुल कर सामने आ गए थे. शेखर अब भी नहीं झड़ा था; उसका लंड अब भी धारा की चूत में वैसे ही फँसा हुआ था.

मैं अपनी गांड में ग्लिसरीन की ठंडक अभी महसूस ही कर रही थी कि इतने में प्रशांत ने लंड टिकाया और जोरदार झटका दे मारा.

करीब दस मिनट बाद सैम का लंड फिर से खड़ा हो गया और उसने मेरी मां को घोड़ी बना दिया. अब मैंने भाभी के गले में हाथ डाल दिया और उस तरफ से हाथ उनके गाल पर ले जाकर उनके आंसू पौंछते हुए उनके गाल सहलाने लगा और उनको दिलासा दिलाता रहा. शीना मेरी बात को बहुत गौर से सुन रही थी, फिर वो बोली- क्या आपके पास वो वीडियो है, मैं वो देखना चाहती हूं?मैं बोला- वो वीडियो मेरे पास नहीं है.

सेक्सी बीएफ कार्टून वीडियोधारा- आप सच में बातों के धनी हैं … मन मोह लेते हैं आप अपनी बातों से. मैं जरा झुक कर आंटी के पेट को चाटने लगा और आंटी की नाभि में थूक डाल कर उसे चूसने लगा.

बीएफ पिक्चर चोदने वाली दिखाओ

मैंने उन्हें गले से चूमते हुए उनके चुचे पीने लगा और उनके निप्पल को दांत से दबाते हुए जीभ को चारों ओर घुमाने लगा. सेक्सी स्कूल टीचर सितारा को देखा तो ऐसा लगा कि यही मेरी पसंद की औरत है. वह बोला- साली कुतिया, अब देख मैं दिखाता हूं तुझे कि एक मर्द किसको कहते हैं.

उसके 42 इंच के चूतड़ों को देख कर ऐसा लगता है, जैसे 2 तरबूज काट कर गांड के छेद के दोनों तरफ चिपका दिए गए हों. उसके मम्मों की मां चोदने के बाद मैं नीचे आ गया और उसके पेट पर किस करने लगा. मेरा तीसरा छेद यानि मुंह अभी खाली था तो मैंने अमित का लंड मुंह में ले लिया और उसे चूसना शुरू कर दिया.

वो झट से आ गई इस पोजीशन में … हम कुछ 8 मिनट दौड़ते रहे और दोनों एक साथ झड़ गए. मैंने भी आज पहली बार अपनी मां को नंगी देखा था और उनकी चुत भी मेरे अन्दर वासना भर रही थी. सेक्स विद बॉस इन ऑफिस की कहानी का अगला भाग:जवान लड़कों से चूत गांड फटवायी- 3.

उसने झट से मुझे अपने बिस्तर पर खींच लिया और मेरे होंठों से अपने होंठ सटा कर रस चूसने लगी. फिर इससे पहले कि वो सम्भालता, वो सीधा एक गद्देदार बिस्तर पर पीठ के बल लेट चुका था.

मैंने उसकी चुत को देखा तो उसकी वैक्सिंग ऐसी लगी जैसे कुछ दिन पहले ही चुत की झांटें साफ़ की गई हों.

जिस पर मैंने उसे अपनी गदरायी हुई चूचियों की झलक दिखाते हुए उसे अपनी वासना के जाल में फंसाने का जतन किया. छोटे लड़कों की सेक्सी बीएफजब वो आयी तो मैं उसे देखता ही रह गया!गुलाबी कुर्ता, सफेद दुपट्टा, काली चुस्त पाजामी, सुनहरी जूतियां!भरा-भरा चेहरा, हेजल आंखें, उनमें डला सुरमा, गुलाब की पंखुड़ियों जैसे गुलाबी लिपस्टिक लगे होंठ, गोरा रंग, कसा हुआ इकहरा बदन!फोटो से तो कई गुना खुबसूरत लग रही थी. एक्स एक्स बीएफ सेक्सी फोटोएक दो बार उसने चुत लंड पर पटक कर एडजस्ट की और मयंक से बोली- हां जान … आ जाओ … मेरी गांड बहुत ज्यादा टाइट है, प्लीज धीरे से फाड़ना. उस वक़्त मुझे बहुत दर्द महसूस हो रहा था अपनी चूत में, लेकिन फिर अनामिका मेरी तरफ मुंह करके समीर के मुंह पर अपनी गांड रख कर उसको चटवाने लगी.

तो सितारा भावुक हो गई तो मैंने उसे गले लगा लिया, उसके मस्तक पर चुम्बन किया, फिर गाल पर किया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये.

अब जब आपके पास हमारी बातों का रेकॉर्ड है तो आप पहले वो सारी बातें पढ़ लें फिर शायद हम आराम से बातें कर सकेंगे. जिम से कसी हुई बॉडी, गोरा रंग और लंबा चौड़ा कद किसी भी औरत को पल भर में अपने वश में कर ले … वो ऐसा था. जैसे ही लंड चूत में गया उसने मुझे एकदम से भींच लिया और हम दोनों की आह निकल गयी.

फिर मैं धीरे से राज के पास गई और पैंट के ऊपर से ही उसका लंड सहलाने लगी. जब मैं साड़ी पहनती हूँ तो ब्लाउज में से मेरी चूचियों की घाटी एकदम अलग सी दिखती है. निखिल बीनबैग पर आगे पीछे होने लगा और अपनी कमर हिलाते हुए अपनी मौसी मीरा की चुत चोदने लगा.

सेक्सी एचडी बीएफ ब्लू

उसी समय फरियाल ने मुझे अपनी बांहों में लेकर अपने एक बोबे को मेरे मुँह में डाल कर मुझे कसके जकड़ लिया. शन्नो देखने में सांवली जरूर थी लेकिन अब मुझे उसके रंग रूप से कोई मतलब नहीं था. मैंने आव देखा न ताव, एक हाथ से भाभी का मुँह खोला और दूसरे से सर को लंड की तरफ दबा दिया.

मैं अकेला इंसान ट्रेन में मौजूद सभी खूबसूरत युवा जोड़ों को देख कर खुद को बोर महसूस कर रहा था.

थोड़ी देर बाद उसने गांड से निकलकर मेरी चूत में लंड डाल दिया और मेरी चूत की चुदाई शुरू कर दी.

अनिकेत भैया ने लूसी को अपनी बांहों में ले लिया और उसकी चूचियों को दबाने लगे. ये सब देख कर मैं पीछे हट गया और अब आगे जो होने वाला था, उसे देखने के लिए बेताब हो रहा था. हिंदी हीरोइन का सेक्सी बीएफतो क्या तुम उसके साथ सेक्स कर चुके हो?गौतम बोला- नहीं दीदी, अभी तो नहीं किया है.

करीब 20-25 झटकों में भाभी फिर से गर्माने लगीं तो उन्होंने भी मजा लेना शुरू कर दिया. फिर उसे मैंने बताया- आपके लोअर एब्डामिन में थोड़ी स्वेलिंग है और मसल्स टफ हो गई हैं. जिससे मैं तुम्हें जी भर कर किस कर सकूं और उन सुनहरे पलों को अपनी यादों में समेट कर अगली मुलाकात तक हिफाजत से रख सकूं.

यूँ अचानक से शेखर को दौड़ कर अपने कमरे में जाते हुए देख कर रघु भी एक पल को चौंक सा गया और शेखर को पीछे से आवाज़ लगायी- अरे क्या हो गया शेखर भैया? इतनी जल्दी ऑफ़िस से वापस आ गए और यूँ हड़बड़ा कर कहाँ दौड़ रहे हैं?शेखर के ऊपर तो मानो कोई भूत सवार था, उसने रघु की बातों पर कोई ध्यान ही नहीं दिया और सीधा अपने कमरे में जाकर बिस्तर पर अपने लैपटॉप के साथ पसर गया. दो मिनट में ही उसने अपनी चूत से पानी छोड़ दिया जो कुछ मेरे मुँह में भी आ गया.

दोस्तो, मैं आपका अपना प्रकाश सिंह आपकी सेवा में अपनी एक नई और सच्ची घटना के साथ पुनः हाजिर हूँ.

ये ड्रेस मैं सिर्फ दोस्तों की उस पार्टी में पहनती हूँ, जहां चुदने का प्लान होता. अब तक आपने जाना था कि चलती बस में पल्लवी विराज के सीने से लग कर उससे अपना प्यार जता रही थी. मैं पिछले काफी समय से … उस समय से अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ता आ रहा हूँ, जब मेरी शादी भी नहीं हुई थी.

लड़कियों के बीएफ पिक्चर दो मिनट चूसने के बाद मैंने फिर से अपना लौड़ा भाभी के मुँह में कंठ तक घुसा दिया. अंदर बाथरूम में सेक्स भी चल रहा था।मैं उस दिन एक शॉर्ट निक्कर और टॉप में थी.

उसने भी लिखा- अच्छा समझ गई कि साहेब को मैं हंसने वाली हॉट लगती हूँ. मैंने लंड को चूत के मुहाने पर लंड टिका कर उसकी कमर को कसके पकड़ कर जोर का धक्का मारा. अंकल- ऐसा तो नहीं कि तुम्हें खुद ही लड़कियां पसन्द नहीं आती हों?मैं- नहीं अंकल, ऐसा कुछ नहीं है.

डॉग और गर्ल्स की बीएफ

फरियाल अपनी कमर पर हाथ रख कर किसी मॉडल की तरह पोज देती हुई बोली- पंकज डार्लिंग … तुमको मैंने सिर्फ देखने के लिए नहीं बुलाया है. भाभी बाहर जा चुकी थीं, बस मेरे मन में रात की मीठी महकती सी याद थी।दोस्तो, आपको मेरी ये आनंदभरी हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे जरूर लिख भेजें।आप कमेंट बॉक्स में अपनी राय दे सकते हैं या फिर मुझे ईमेल भी कर सकते हैं।मुझे आपकी प्रतिक्रियाओं का इंतजार रहेगा।मैं आपका अनुराग बंसलमेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]. वो आह आह करती हुई कहने लगी- राज, मुझे कुछ हो रहा है … आह जल्दी जल्दी करो.

मैंने कहा- हां मुझे खुद समझ नहीं आ रहा है भाभी … जब मैं हाथ से मुठ मारता हूँ … तो 15 मिनट में ही निकल जाता है … आज पता नहीं क्यों नहीं निकल रहा है. सभी लड़के और लड़कियों के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था सिवाय एक लड़की के.

चाची मेरे गालों को चूमते हुए बोली- कैसा लगा बर्थडे गिफ्ट?मैं- बहुत अच्छा, हर रोज मिलेगा या बस?चाची- चाची की चूत अब तुम्हारी हुई, जब मर्जी मार लेना.

थोड़ी देर तक ऐसे ही आराम करने के बाद मैंने उसको मालिश करने के लिए कहा, तो उसने मेरी पूरी बॉडी की अच्छे से मालिश की. फिर उसने उंगली का सहारा छोड़ सीधे अपना मुंह रूपाली की चूत से जोड़ दिया और उसकी चूत चाटने लगी।नीतू रूपाली की चूत में अपनी उंगली अंदर बाहर कर रही थी और उसके दाने को जीभ से सहला रही थी।रूपाली अपनी चूत पर हो रही इस दोहरी मार को झेल न सकी और नीतू के सर को अपनी चूत पर दबाने लगी।नीतू रूपाली की चूत चाटने में लगी हुई थी जिससे रूपाली के मुंह से कामुक तरंगे आअह्ह्ह. उसने मुझे देखा तो किलकारी मारती हुई उठी और मेरे हाथ से सिगरेट लेकर पीने लगी.

मैं पोजीशन बना कर फरियाल की चूत पर आ गया और उसकी चूत को पूरा मुँह में लेकर चूसने लगा. वासना के अभिभूत मुझे महसूस हुआ कि इस कामुक जिस्म का भोग जितनी जल्दी कर लिया जाए उतना ही उत्तम होगा. थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर शन्नो रंडी के मुंह में डाल दिया.

सभी पाठकों और पाठिकाओं का मुझे जैसा प्यार पहले मिलता रहा था, वैसे ही प्यार मेरी इस कहानी को भी मिलेगा, इस बात का मुझे पूरा यकीन है.

हिंदी सेक्सी बीएफ एचडी फुल: भाभी की चीख निकल गई, वो तड़फ कर बोलीं- आह नहीं … मारोगे क्या … आह बहुत बड़ा है … मुझे नहीं सहा जाएगा निकाल लो. हॉट सेक्सी भाभी मेरे लिए चाय बना कर लाया करती थीं और मेरी भाभी से हल्की-फुल्की बात भी हो जाया करती थी.

इस तरह मैंने रोहन और नेहा से मुलाकात कर रोहन के कहने पर नेहा को पराये मर्द का सुख दिया. मैं गर्म तो थी ही मगर सामने मेरा मौसेरा भाई था तो थोड़ी हिचक हो रही थी. तो कभी उसके निप्पलों को जोर से मरोड़ देता इस उम्मीद में कि शायद इन से अभी दूध की धार निकल पड़ेगी.

उसने मेरी टांगों को फैला दिया और उनके बीच में बैठ कर मेरी चूत चाटने लगा.

वो कपड़ा भी एकदम पतला सा था, जिससे मेरे निप्पलों की नोकें भी एकदम साफ दिख रही थीं. सविता भाभी के साथ खेलिए क्रिकेट का खेल!सविता भाभी वीकएंड में भी पति के घर में ना रहने के कारण काफी बोर महसूस कर रही थीं किसी काम में मन नहीं लग रहा था।इस समय वो सिर्फ एक पेटीकोट और काफी खुले गले का ब्लाउज पहने थी. वो बोली- हां जब तू तेज झटका लगाता है … तो नाम ज़ुबान पर आ जाता है यार!मैंने कहा- साली लंड का झटका तेरी गांड नहीं झेल पा रही क्या?वो बोली- कुत्ते, तू एक औरत को जब कुतिया बनाकर इतनी तेज तेज चोदेगा तो वो हल्ला करके चिल्लाएगी ही.