बीएफ कैसे निकाले

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी आवाज में देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी लंदन: बीएफ कैसे निकाले, हमें इस बीच मुख्य सड़क पर मोटर साइकिल की आवाजें सुनाई दीं, मगर हम दोनों अपनी काम-वासना शांत करने में लगे हुए थे.

गोरखपुर सेक्सी फिल्म

आशू के पिता के पास धन और ज्ञान की कमी नहीं थी लेकिन बेटे के पास दिमाग की बहुत कमी थी. गोरे लोगों की सेक्सी मूवीमगर तभी अंकल झड़ गए और आंटी को देख कर लग रहा था कि वो अभी भी प्यासी थीं.

बोले- कुछ हुआ क्या?मैं बोली- नहीं, आगे बढ़ो।उसने दूसरा धक्का दिया और बोले- कुछ हुआ?चाचू का लंड अंदर नहीं जा रहा था. बिहार वाली सेक्सी फिल्मसो अपने गांव वाले घर से मुझे ऑर्डर मिला कि मैं होस्टल से कुछ दिन के लिए दीदी के यहां चली जाऊं.

उसने दिन उसने सिर्फ ब्रा के ऊपर एक ढीली सी स्लीवलैस टी-शर्ट पहनी थी और नीचे लोअर डाला हुआ था.बीएफ कैसे निकाले: मैं उसकी चूची भींचते हुए बोला- तुझे आज पूरे मज़े देने है मेरी जान … तुम मेरे लंड से चुद कर पूरा खुश हो कर ही रहोगी.

करीब दस मिनट बाद आंटी ने कहा- तेरा लंड बहुत मोटा है … आज बहुत मजा आएगा.फोन उठते ही मैंने कहा- मैंने कितना वेट किया … आपने कॉल या मैसेज क्यों नहीं किया?उन्होंने सॉरी कहा और बोलीं- मैं कहना भूल गई थी कि पति के आने के बाद मैं कभी काल या मैसेज नहीं करूंगी.

सेक्सी फिल्म वीडियो जानवर - बीएफ कैसे निकाले

अन्दर आते ही मैंने उसे गोद में उठाया और चूम कर उसे चारपाई पर लेटा दिया.मैं अपना अकाउंट बंद करने ही वाला था कि उसका मैसेज आ गया- आई लव यू टू पागल!वो पल मेरी ज़िंदगी का सबसे हसीन पल था। फिर हमारी लव स्टोरी स्टार्ट हुई।हम रोज देर रात तक बातें करने लगे.

तभी वो बोली- गरम कर देने से क्या होगा?मैंने उसकी आंखों में आंखें डाल कर पूछा- बोलो गरम होकर क्या करवाना चाहोगी?वो शर्मा गई. बीएफ कैसे निकाले मेरी इंडियन क्सक्सक्स स्टोरी हिंदी में पढ़ें कि मैंने कैसे अपनी मकानमालकिन सेक्सी देसी आंटी की चूत चुदाई का मजा लिया.

मेरी दीदी के देवर से मैं कैसे चुदी, इसका पूरा विवरण मैं आपको इंडियन चुदाई गर्ल स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगी.

बीएफ कैसे निकाले?

उस पर थोड़ा थूक लगाया और धीरे से उसे अपने मुंह में ले लिया। हल्का हल्का चूस कर उसे अच्छे से साफ किया और बेड पर से उठ गई।उसने मुझे चादर ओढ़ा दी. क्योंकि उस समय मैं मम्मी को घोड़ी बना कर चोद रहा था और हम दोनों का मुँह दीवार की ओर था. सर बेड से बाहर था। उसने इस पोजिशन में लंड डालना शुरू किया और मेरे निप्पल चूसने लगा।वो मेरा निप्पल चूसने लगा और अपना लंड मेरे मुंह में पेलने लगा.

मां ने मुझे बताया कि उस समय वो इतनी अनजान थीं कि उन्हें ये नहीं मालूम था कि बुर को लंड से कैसे पेला जाता था. रण्डी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी बीसियों मर्दों से अपनी चूत गांड चुदवा कर मुफ्त की रंडी बन चुकी थी. इस तरह से हम दोनों के बीच बड़ी अच्छी टयूनिंग बन गई थी और बस यहीं से हमारी सेक्सी बातें शुरू हो गईं.

उसके हाथ मेरे सिर पर आ गये और मुझे उसके लंड का मस्त स्वाद मिलने लगा. हालांकि मैं कोई लेखक नहीं हूं, इसलिए मुझसे सेक्स कहानी लिखने में भूल हो सकती है. इसके बाद मैंने दराज से सिगरेट की डिब्बी निकाली और उसको देते हुए कहा- उस तरफ से लाईटर उठा कर एक सिगरेट जलाना.

उसने मेरी बेटी को सीधा लेटा दिया और मेरी बेटी की गांड में थूक लगाने लगा. फिर फ़रज़ाना अपने होंठों को मेरे कान के पास ले गयी और धीमे से बोली- आई लव यू रानी.

जैसा कि आपने मेरी इस कहानी के दूसरे भागकॉलेज गर्ल चुदी पड़ोसी अंकल से- 2में पढ़ा कि मैं अंकल के घर पर रुकने वाली थी क्योंकि पापा तीन दिन बाद आने वाले थे.

मैं भाभी के लिए आइसक्रीम लेकर आया और हम दोनों टेबल पर बैठ कर आइसक्रीम खाने लगे.

जैसा कि आप लोगों को पता ही है कि आजकल अच्छे शरीर की क्या वैल्यू होती है. इस पर उन दोनों ने कहा- ठीक है, अब जब कहें, तब पेलवाने के लिए आ जाना. उधर भी मुझे सना को चोदने का मौका नहीं मिल पा रहा था बस हम दोनों दिन भर कैरम खेलते रहते थे.

निप्पल दाँतों में लेने लायक थे। अँधेरा था तो निप्पल्स का रंग पता नहीं चला।बस मैं पागलों की तरह कभी इस निप्पल को कभी उस निप्पल को खाए जा रहा था। जोश जोश में 2-3 बार मैंने निप्पल पर काट लिया तो उसने मेरा सर पकड़ के हटा दिया और नहीं काटने का इशारा किया. मैंने पूछा- अभी जॉब करती हो?उसने ना में सर हिलाते हुए बताया कि अभी उसने जॉब छोड़ी हुई है और वो लखनऊ में 6 महीने से रह रही है. फिर उजमा ने उसके लंड को अपनी जीभ से चाटा, तो अफ्रीकन ने मेरी बीवी के मुँह में अपना मूसल लंड घुसा दिया.

अनीता- आनंद जी क्या बात है, आज तो कुछ ज्यादा ही रोमांटिक हो रहे हो!मुझे उनसे ऐसे सवाल की उम्मीद नहीं थी कि वो ऐसा बोलेंगी.

जिस आदमी एक महीने पहले शादी हुई हो, उसकी वाईफ बगल के कमरे में तीन लोगों के साथ हो. अब सब अपना अपना अंडरवियर पहनने लगे, तभी चपरासी दौड़ते हुए अन्दर आया और उसने अंकल के कान में कुछ बोला. थोड़ी देर उसकी बुर ने पानी छोड़ दिया लेकिन मेरा लंड अभी उसकी बुर के अन्दर बाहर हुए जा रहा था.

मेरी कामुक आह निकल गई और मैंने उसकी दोनों भुजाओं की मछलियां पकड़ लीं. फिर सर मेरी गर्दन पर अपनी ज़ुबान चलाने लगे और साथ ही साथ मेरे चहरे को भी चाटने लगे. मैं मथुरा का रहने वाला हूं और अन्तर्वासना की इंडियन क्सक्सक्स स्टोरी का बहुत बड़ा फैन हूँ.

लेकिन दो ही मिनट बाद ही मैं अब आराम से भाई के घोड़े की सवारी में मस्त थी.

अब माया दीदी ने अपने टांगों से राज की कमर जकड़ ली और अपने दोनों हाथों से राज के ऊपर की बॉडी टाइटली पकड़ ली. दूसरा मुझे शारीरिक सुख मिल सकता था और तीसरा ये कि सामने वाली बंदी की भी इच्छा पूरी हो जाएगी.

बीएफ कैसे निकाले इस वजह से मेरी नाभि के पास बना टैटू तथा मेरे नितंब के ऊपर बना टैटू भी स्पष्ट दिख रहे थे।मुझे इस नई ड्रेस में देख कर मेरे दोनों प्रेमी बहुत खुश हुए।मैं भी बहुत लाइट मूड में थी. मैंने कहा- अच्छा … मतलब मैं ही अपनी बेगम के लिए मोटा लंड सेक्स के लिए तलाश कर लाऊं?उजमा शर्मा गई और बोली- हां मेरे सरताज.

बीएफ कैसे निकाले मगर दोस्तो, मामी ने एक बार मेरा लंड लेकर फिर मुझे ज्यादा भाव देना बंद कर दिया था. फिर उन्होंने इतने में दूसरा धक्का भी इतनी ही जोर से मारा और उनका पूरा लंड मेरी चूत में घुस गया.

जो नशा आपके हुस्न में है वो इस शराब में कहां!मैं अजय से अपनी तारीफ सुनकर उसकी दीवानी हो गयी थी.

सेक्स करने के तरीके

तो अमित बोला- भाई, मेरी मॉम अब तुम्हारी ही है … ये रंडी तुम्हारी ही है … तुम कुछ भी करो. तो मैंने उसे समझाया कि कुछ नहीं होगा और उसे पकड़कर उसकी आंखों पर एक जोरदार चुंबन कर दिया. दोनों औरतें सुंदर के आगे आ गईं और उसके घुटनों के बल नीचे बैठ कर लंड चूसने लगीं.

अब मैंने मामी को ज्यादा दर्द देना ठीक नहीं समझा और उनकी चूचियों को छोड़ दिया. तीस सेकंड के बाद मैं बोली- पेमंट अभी चलेगा?उसने अपने भाई की तरफ देखा, तो मैंने कहा- कोई दिक्कत नहीं है … उसे भी बुला लो. तभी मैंने धक्का लगा दिया, जिससे थोड़ा सा लंड चुत में घुस गया और ऐश्वर्या के मुँह से दर्द भरी आवाज़ निकल गई- उई मां मर गई … तुम्हारा बहुत मोटा है!मैं ऐश्वर्या की चिल्लपौं को अनसुना करते हुए आगे बढ़ गया और धक्के लगाने शुरू कर दिए.

मौसी भी हांफते हुए नीचे लेट गयी और दोनों एक दूसरे में जैसे समा गये.

लगता है आज तो तुम सच में मेंरी चूत और गांड के बीच में छेद करके ही दम लोगे. मैं बोली- मगर तू शादीशुदा है नवाब।वो बोला- हम लोगों में सब चलता है. मैंने पूछा- बताइये?उन्होंने कहा- आज कल छत्तीसगढ़ी फिल्मों की उतनी वैल्यू नहीं रह गई है मार्केट में और न ही ज्यादा प्रॉफिट है.

अब इसके बाद भी गिफ्ट की क्या बात कह सकता हूँ?वो बोली- ये गिफ्ट कैश या काइंड में नहीं है. उन्होंने बाथरूम का दरवाजा खटखटाया, दरवाजा खुला और दो लड़के बाहर झांकने लगे. मैंने हंस कर उसकी टांगें फैला दीं और उसकी मक्खन सी मुलायम बुर पर अपनी जीभ लगा दी.

उसके चूसने के अंदाज से लग रहा था कि मैं तीन-चार मिनट से ज्यादा नहीं टिक पाऊंगा. मैंने उसकी तरफ देखा, तो वो मुझे अपना नाम रोहन और अपनी दीदी का नाम शिप्रा बताने लगा.

सर ने मेरे ब्लाउज़ के हुक्स को एक एक करके खोलना चालू किया और मेरे बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही चाटने लगे. उनके आते ही चपरासी ने मुझसे आकर कहा कि मैं उनके कैबिन में चली जाऊं. मेरा खुद का हाथ रोहित को हेल्प करने लगा।थोड़ी देर बाद रोहित बोला- आओ भाभी, चलकर नहा लेते हैं।मैं उसकी बात काट नहीं सकती थी.

भाभी को कहीं घुमाने क्यों नहीं ले जाते?पापा ने कहा- अभी नहीं, कुछ समय बाद कहीं घूमने जायेंगे.

मैं- तू सही बोल रही है … साली रंडी की तरह लग रही थी और कैसे उचक उचक कर लंड ले रही थी. उसने घर चलने के लिए कहा, तो मैं भी बेहिचक उसके साथ उसके घर पर आ गया. दरबान डेढ़ घण्टे में अमिता के साथ वापस आया और मैं उतनी देर सिर्फ बैठ कर सोचता रहा.

उन्होंने मेरी टी-शर्ट फटी हुई देखी, तो पूछने लगीं कि ये कैसे फट गयी?तब विशाल भी वहीं था. सनी के अलावा कोई और नहीं मिल सकता क्या?मैं- सनी के अलावा और कौन मिलेगा यार.

मगर उसके स्तन इतने बड़े थे कि ब्रा के कप उसकी चूचियों के लिए बहुत छोटे पड़ रहे थे. अब हम सही जगह पर आ गए हैं। यहां से कोशिश करने के बाद भी कोई भी हमें नहीं देख सकता है। मगर तू सब कुछ जल्दी जल्दी कर लेना। पिछली बार भी तूने बहुत टाइम लगाया था।मैंने कहा- ठीक है मामी जी। मैं जल्दी से आपकी चूत चोद कर अपना माल निकाल लूंगा. फिर नानी ने मां को कपड़े पहनाए और उनके सर पर हाथ फेर कर मां को तसल्ली दी.

गन्ना की खेती

प्लीज़ कमेंट करके जरूर बताइएगा कि मेरी फ्री हिंदी सेक्स कथा आपको कैसी लगी.

अगले दिन जाने से पहले मैंने प्रीति को कहा- आज अपने पति से जरूर चुद लेना ताकि उसे लगे बच्चा उसका ही है. जब कोई पैदा होता है, तो उसके सर पर ठप्पा नहीं लगा होता है कि वो तवायफ का रोल अदा करने वाला है. फिर मैं दोबारा बूब्स चूसने लगा और फिर चूमते हुए नीचे नाभि को किस किया.

तभी रेणुका भाबी बोलीं- तुम मुझे रोज़ बाल्कनी में क्यों घूरते रहते हो? नाम क्या है तुम्हारा?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया. सनी ने मेरी जींस का बटन खोले और मेरी पैंटी को खींच कर मेरी चुत को सहला दिया. मारवाड़ी सेक्सी विडीओजैसा कि मां ने बताया था कि वो कभी भी अपनी गांड मरवाने से नहीं डरती थीं.

मैंने एल्बम को टेबल पर रखा तो उन्होंने कहा- चलें फोटो सेशन के लिए?मैं एक झटके से खडी़ हो गई और कहा- ये सब मुझसे नहीं होगा. मेरे हाथ मेरी बीवी की नंगी पीठ को सहला रहे थे और मेरे होंठ उसके होंठों को चूस रहे थे.

उसकी नंगी पीठ को रगड़ते हुए उसके मुँह के अमृत को चाट रहा था और होंठों को चूस रहा था. फिर वो बोली- विशू जी, सबसे पहले आप किसके साथ सुहागदिन मनाना पसन्द करोगे?मैंने कहा- सबसे पहले मैं उसके साथ सुहागदिन मनाना पसन्द करूँगा जिसकी चूत का छेद खुला होगा. फिर 20 मिनट तक की चुदाई में प्रीति दो बार झड़ गयी और उसके बाद उसकी चूत में अपना सारा वीर्य एक बार फिर से छोड़ दिया.

उसने क्रीम से लंड भिगोया और मेरी गांड में लंड डालने की कोशिश करने लगा. … लेकिन मुझे ड्रिंक करवा दी थी, इसीलिए मैं विरोध नहीं कर पाया … पर अब तो मुझे बहुत अच्छा लगने लगा है. उसे लगा कि ये मेरी तरफ से प्रोत्साहन है … और सच में ये प्रोत्साहन ही था.

फिर रोहन ने मेरे बदन पर बची हुई मेरी स्कर्ट भी उतार दी और अपनी पैंट उतार कर नंगा हो कर मेरे आगे खड़ा हो गया। उसका लंड मैंने देखा तो अंदर ही अंदर खुश होने लगी.

मेरी पिछली स्वीट Xxx गर्ल स्टोरीपड़ोस की कमसिन लड़की की जवानीमें आपने पढ़ा कि मेरी ये तीन पड़ोसनें दरअसल जुबैदा और उसकी दो बेटियां सलमा और नजमी थीं. कुछ देर में साधना ने कपड़े पहनकर मुझे कमरे में छोड़कर कमरा बाहर से लॉक कर दिया.

मैं- अगर मैं आपसे और भी आगे निजी सवाल पूछूं तो आपको कोई एतराज तो नहीं है!ऐश्वर्या- नहीं … मेरी चुदाई से ज्यादा क्या पर्सनल हो सकता है. आकाश सर बोले- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड भी है क्या?मैं बोला- सर पहले थी. मेरी बीवी ऊपर से पूरी नंगी थी और मेरे मुँह में उसकी एक चुची दबी हुई थी.

इंडियन चुदाई गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने बॉयफ्रेंड से चुद कर चुदाई का मजा ले चुकी थी. इससे पहले कि मामी संभल पाती और मुझे हटाने की कोशिश करती, मैंने मामी को जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया. ओहोह निगार आंटी कमाल का पीस थीं यार … मुझे तो वो जन्नत की हूर लग रही थीं.

बीएफ कैसे निकाले इंडियन सेक्स आंटीज़ स्टोरी में पढ़ें कि मैं मामी को पटाकर सरसों के खेत में अंदर ले गया. मैं उसके लंड की तरफ अपना मुँह कर देती और वो मेरी चुत पर अपना मुँह लगा कर जीभ से मेरी चुत को मस्ती से खूब चाटता.

एक्स एक्स इंग्लिश फिल्म

मुझे पता चल गया था कि जिया मेरे दोनों हाथों को रस्सी से बांधने वाली थी. मैंने उससे पूछा, तो उसने मुझे बताया कि उसके लड़के ऑपरेशन से हुए हैं. लोकेश को भेजकर रोहन ने दरवाज़ा बंद किया और मेरे पास आ गया। उसने मुझसे कहा कि अब कोई परेशान नहीं करेगा और लोकेश को भी आने में वक्त लगेगा।फिर मैंने उससे पूछा कि वो बैग जो लोकेश ने उसे दिया है उस बैग में क्या है तो उसने मुझे बैग खोल कर दिखाया.

ऐश्वर्या- यार तुम तो बहुत फास्ट निकले!मैं- आज का जमाना बहुत फास्ट है मैडम. वो मुझसे कहना चाहती थी कि छोड़ दे मुझे … पर मैंने उसके मुँह को अपने होंठों से बंद किया हुआ था. चलने वाली सेक्सी व्हिडिओइस बार मेरा लंड पहले से ज्यादा अन्दर घुस गया था और मेरी रंडी बीवी मेरे जिस्म से चिपक कर चुद रही थी.

सुभाष बोला- रस्तोगी साहब, फिर से आपकी खिदमत के लिए अमिता को लेकर आया हूं.

मैंने उसके कमरे में झांक कर देखा तो पाया कि सलमा पूरी तरह से नंगी थी. जब उसकी मॉम पानी लेकर मेरे सामने आईं, तो मैंने उनकी आंखों में झांक कर देखा और मुस्कुराते हुए हैलो बोला.

हम दोनों की आंखें बंद होने लगीं।अंजलि भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। किस करते हुए आधा घंटा बीत गया और हमें पता भी नहीं चला. लंड बार बार मामी की जांघों के बीच में घुसने की कोशिश कर रहा था और प्रयास कर रहा था कि किसी तरह चूत के छेद में घुसने का रास्ता मिल जाये. आपको मैंने पिछली सेक्स कहानी में बताया था कि मैं अपनी दीदी के घर जाती रहती थी.

मन कर रहा था कि उसके कपड़े फाड़ कर, उसको चूसते हुए उसकी चूत को चोद डालूं बुरी तरह। मैं उसे किस करने लगा और वह भी मेरा साथ देने लगी। लड़की सेक्स के लिए तैयार लग रही थी.

वो हां करने लगीं, तो वे दोनों मेरी मां को गर्मी के मौसम होने के कारण अपने खेत में ले गए. मैंने एक बैग में तीन चार जोड़ी कपड़े रखे और दीदी के घर जाने को रेडी हो गई. रत्ना- सुंदर आओ … लो ये ठंडाई पियो … जो चम्पा ने खास तुम्हारे लिए बनाई है.

इंडियन सेक्सी वीडियो ब्यूटीफुलजब मैं चाय नाश्ता लेकर गेस्ट रूम में पहुंची, तो मैंने देखा कि माया दीदी मेरे भाई का लौड़ा चूस रही थीं. वो बोली- क्या कर रहा है सुबह सुबह ये? छोड़ मुझे।मैंने उसकी चूचियों पर एक थप्पड़ा मारा और कस कर भींच दिया.

दो बहनों की चुदाई

उस रात उस अफ्रीकन ने मेरी बीवी को कई बार चोदा और हम सुबह उठकर आगरा में घूमने निकल गए. कुछ देर तो वो सोचते रहे कि क्या करें, आगे बढें या पीछे हट जायें? मगर कब तक खुद को रोक कर रखते? उनके लिंग में लग रहे लगातार झटके उनको आगे बढ़ने के लिए मजबूर कर रहे थे. मुझे उल्टी होने लगी लेकिन सर मेरे मुंह को पूरा जोर से दबाते हुए चोदते रहे.

घर में सभी लोग खुल कर ड्रिंक कर लेते हैं, इससे मुझे कोई गुरेज नहीं था क्योंकि मेरे पीहर में भी सब लोग ड्रिंक करने में खुले हुए थे. उसके बाद सुभाष ने अमिता को कपड़े दिए और हम वहां से निकल कर घर आ गए और अगले दिन शहर वापस आ गए. क्योंकि मेरी गांड तो चुदनी ही थी, लेकिन पूजा आंटी के होंठों और जुबान कमाल कर रही थी.

निगार कैसे भी चक्कर चला कर नाजायज सम्बन्ध रख कर एक बच्चा पैदा कर ले. इसकी उम्र 18 साल से थोड़ी ज्यादा है और इसका लंड 8 इंच लम्बा और काफी मोटा है. चुदाई के पूरे टाइम मेरी चूचियां आशीष के होंठों में ही दबी रहती हैं.

अगर आपने मेरी पुरानी कहानियां नहीं पढ़ी हैं तो आपको बता दूं कि इससे पहले मैंनेचाची के साथ बस में चुदाईकी कहानी लिखी थी जिसको आप सबका बहुत प्यार मिला. ऐसा लंड हर किसी का नहीं हो सकता।फिर मैंने हाथ हटा कर नीचे से ऊपर जोर लगा कर उछाल मारी तो हरी का लंड थोड़ा और अंदर घुस गया.

कहकर वो उंगली को चाटने लगा।नहीं रोहित!” मेरे मुंह से इतना ही निकला।मेरे इस शब्द को सुनकर बोला- क्या भाभी, अभी भी मुझसे शर्मा रही हो। इस समय मैं तुम्हारी मलाई चाट लेता हूं.

आंटी एकदम नंगी झुकी हुई थीं और अंकल उनको डॉगी स्टाइल में चोद रहे थे. इज्जत लूटना सेक्सीआपको मेरी इस मदमस्त कर देने वाली दो चूत की रगड़ाई वाली लेस्बियन सेक्स स्टोरी को लेकर क्या कहना है … और आपको मेरी लेस्बियन सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. आदिवासी सेक्सी वीडियो mp3बस मैं चुपचाप ये सब देख कर वापस आ गया और सही समय का इंतजार करने लगा. मैंने मासूमियत से पूछा- मैं कब तुम्हारी खिंचाई की है?वो बोली- और अभी क्या कर रहे हो?मैंने कहा- अरे ये वाली खिंचाई … मैंने सोचा कि वो वाली!वो समझ गई और बोली- अच्छा मतलब वो वाली खिंचाई करने के इरादे से हॉस्टल में घुसने का तरीका पूछ रहे थे?मैंने कहा- हां यार आज सर्दी कुछ ज्यादा ही है … अकेले मन नहीं लग रहा है.

जब मेरी बीव मायके गयी तो मैंने उस कामवाली को कैसे पटा कर चोदा?नमस्कार दोस्तो, मैं रॉकी गोवा से हूँ.

दोस्तो, मैं सुनील अपनी अंतर्वास्सना हिंदी कहानी का अंतिम भाग आपके लिये लाया हूं. कसम से दिखने में अनु बहुत सुंदर थी और उसका बदन भी मस्त था। उसके चूचे बड़े मस्त थे. भाभी की चुत चुदाई की मेरी न्यू कामुकता कहानी फ्री ने कैसा रंग जमाया, ये मैं अगले भाग में लिखूंगा.

पांच मिनट बाद वो बोली- प्लीज़ मैं अब और नहीं रुक पाऊंगी … मेरे साथ ही मेरे अन्दर आप भी लंड झाड़ लो … मैं आपका वीर्य अपनी चूत में लेना चाहती हूँ. इसलिए मैंने विकास को पहले ही मना कर दिया था कि वो इस दौरान मेरे फ्लैट पर ना आये. फिर अगले दिन उनसे पूरे दिन बात नहीं हुई … न उनकी कॉल आई, न मैंने की.

फुल सेक्सी व्हिडिओ ओपन

मैंने पूछा- ये वीडियो तुम्हारे शौहर को भेज दूं बोल!वीडियो देख कर उसकी गांड फट गयी. उसने मेरी जांघों को फैलाया और मेरी चूत में एक उंगली अन्दर तक घुसा दी. वो बोला- वाह्ह… जैसी मां, वैसी बेटी। कब सुहागरात मनवा रही हो इसके साथ?मैं बोली- थोड़ा टाइम दे.

आप अपनी प्रतिक्रियाएं अवश्य दें ताकि मैं अगली बार अपनी कहानी को और ज्यादा अच्छे तरीके से लिख सकूं.

दीपक जी भी नशे में टल्ली थे और वो नशे वाले ही अंदाज में बोले- तुम साली हो या घरवाली … मुझे तो आज तुमको ही प्यार करना है.

इस हिंदी रण्डी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे उन्होंने मुझे रण्डी की तरह चोदा. उंगली उसके दाने के पास पहुंची, तो उसको भी छेड़ा और फिर मैं चूत में जीभ देकर चाटने लगा. चेन्नई सेक्सी वीडियोसअब आगे की फेमिली सेक्स स्टोरी:समीर ने झट से अपना लंड जेठानी जी की गांड में पेल दिया.

मेरे पेशाब करके आने के 5 मिनट बाद दिव्या भी बाथरूम गई और फिर थोड़ी देर बाद वापस आ कर सो गई. लगभग एक घंटे से भी ज्यादा देर तक चले इस खेल में लगभग हर पोजिशन में मैंने उसे चोदा. आपके सोने के बाद फिर मैंने धीरे से उठ कर बाहर हॉल में देखा तो हरी टीवी पर फैशन शो वाली ब्रा पैंटी की मॉडल्स देख रहे थे.

मैं कुछ नहीं कर सकता था … मैंने आंटी की चुत पर बंधे नकली लंड को चूसना शुरू कर दिया. मैंने अंतिम क्षणों में अपना लंड बहन की चूत से एकदम से बाहर निकाल लिया और अंजलि के पेट पर अपना माल निकाल दिया.

लंड देख कर मेरी हालत भी खराब होने लगी और मेरा मन भी चुदवाने के लिए करने लगा.

मोहित अंकल ने मुझे देखा और बोले- डार्लिंग, तुम्हारा लौंडा गर्म हो गया है. इसके बाद चाची ने अपने कपड़े सही किये और जूड़ा दोबारा से बांधा और मेरे सीने से लिपट गयी. मुसम्मियां चूसने और चूत के गीले होने की खबर लगते ही मेरा लण्ड टनटना गया.

सेक्सी हिंदी वीडियो ऑडियो मैंने भाभी के करीब जाकर कहा- गांड से इतना काम करोगी … तो ऐसा ही होगा ना!उन्होंने कहा- मैं भी क्या करती … मेरे चूतिया पति का लंड नहीं उठेगा … तो मुझे तो रंडी बनना ही पड़ेगा ना. फिर एक मिनट बाद मैं उसके नीचे होकर बगल में लेट गया और उससे बात करने लगा.

किंतु ये मज़े के आँसू थे। फिर वीर्य निगलने के बाद दीदी ने लंड को बाहर निकाल दिया. जैसे ही म्यूजिक बजना शुरू हुआ … मैंने एक हाथ ऐश्वर्या की कमर पर रख दिया और दूसरे हाथ को उनके हाथ पर रख दिया. मैंने उसकी गांड से लंड निकाला और कंडोम पहन कर उसकी टांगें फैला दीं.

सेकसि हिनदि

सना अपने मुँह से कामुक आवाजें निकालने लगी- आह आआह … मर गई … आईईइ … कितना अन्दर तक कर रहा है मुए … आंह हाय आज तो तू पूरा चोद दे … आह आह ओह रिदान … तेज तेज चोद मुझे … हाय मर गई मैं!कोई 15 मिनट तक मैं उसकी चूत चोदता रहा. मैंने सोचा अंधेरे में शायद सेक्स का नशा ज्यादा होगा, तो लाईट को बंद कर देना चाहिये. लेकिन आज मैं अकेली थी मानव मेरे साथ नहीं था।आज भी दुकानदार अकेला ही था और शायद दुकान बंद करने ही वाला था।मुझे देख कर उसके चेहरे पर चमक आ गई और वह दुकान के बाहर आया और मेरे करीब आया.

मैंने सोचा कि आपके साथ अपनी चुदाई के अनुभव भी बांटूं ताकि मेरा मन भी कुछ हल्का हो जाये. इसके बाद रविन्द्रनाथ ने अपनी जेब से दारू का अद्धा निकाला और गटगट करके आधा पी लिया और बाकी मेरी मां के मुँह से लगा दिया.

फिर मैंने अपने दोनों हाथों से उनकी पूरी गांड को फैला दिया और लंड गांड में डाल दिया.

मैंने पूछा- मतलब?उन्होंने कहा- मतलब ये कि हम प्रोडक्शन में जा रहे हैं और आपके लिए ऑफर है कि आप हमारी फिल्मों में नायिका की भूमिका अदा करें. दोस्तो, पिछले भागएक्स-गर्लफ्रेंड के साथ दोबारा सेक्स सम्बन्ध- 2में आपने पढ़ा कि प्रिया ने कैसे अपने बॉयफ्रेंड से अपनी चूत चुदवाई. अब आगे की लेस्बियन सेक्स स्टोरी:फिर मैंने मौसी को आवाज़ लगाई- मौसी ज़रा तौलिया देना प्लीज़.

फिर जैसे ही मैंने उसके दाने को चूसा, मोटी नंगी लड़की कांपने लगी और जोर की ‘आंह. आधा घंटे की लगातार ठुकाई के दौरान मेरी बीवी करीब तीन बार झड़ चुकी थी. कभी मैं उसकी गर्दन पर किस कर रहा था और कभी उसके गालों को काट रहा था.

भाभी एकदम से आउच कर उठीं मगर तब तक तो मेरा हाथ उनके गुब्बारे दबा कर दूर हट चुका था.

बीएफ कैसे निकाले: चूंकि एक बार लंड का स्वाद मिल जाने के बाद मेरी चुत को सुमित के लंड की चाह बार बार होने लगी. मेरे लंड का पानी अभी भी नहीं निकला था, तो मैं अपनी बीवी को जोर जोर से चोद रहा था.

हम दोनों एक दूसरे को आप बोलते थे … मगर ना जाने कब तुम पर आ गए, कुछ पता ही नहीं चला. एक दूसरी चॉकलेट जो पिघल चुकी थी, उसे मैंने आंटी की चूत में डाल दी और उसे जीभ से चाटने लगा. उसके मटर के दाने जैसे निप्पल उसकी चूचियों की खूबसूरती पर चार चांद लगा रहे थे.

उसने पैर खोल दिए थे और थोड़ा झुक कर लंड लेने के लिए खड़ी हो गयी थी.

मैं पहले से ही गर्म थी और तेरे चाचू के होंठों को किस करने से और ज्यादा गर्म हो गयी और बस… उसके बाद से ये सब शुरू हो गया. अब मैं उसकी बुर में धीरे धीरे लंड को अंदर डालने लगा और वो दर्द को बर्दाश्त करने लगी. एक दिन मैंने अपनी बीवी को अपने बड़े भाई से इशारे करते हुए देखा और फिर मैं उनकी जासूसी करने लगा.