मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ

छवि स्रोत,चोदने वाली बीएफ हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

टोका पिक्चर सेक्सी: मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ, अब आप सोच रहे होंगे कि मुझे कैसे पता चला कि वो पैंटी और ब्रा अरीषा की ही है?तो दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि सुबह जब वो सफाई कर रही थी तो झुकते हुए मैंने उसकी ब्रा देख ली थी.

सेक्सी बीएफ देखना है हिंदी में

थोड़ी देर में वो औरत हाथ में चाय के 2 कप लेकर आई और मेरे पास बैठ गई. राजस्थानी भाभी की बीएफअभी भी जब कभी मौका मिल जाता था तो हम दोनों किसी न किसी लौंडिया या भाभी को सैट करके साथ मिलकर चोद देते थे.

मैंने मामी को पीठ के बल लेटा दिया और उनकी चुचियों और पेट पर तेल गिरा कर सामने से उनकी मालिश करने लगा. बीएफ वीडियो में नईमेरी नजर उसी बिंदू पर टिकी हुई थी जहां पर डिल्डो उसकी गांड के छेद में घुसा हुआ था और बार बार उसकी गांड का छेद खुल बंद हो रहा था.

उसने एक कमरे की ओर इशारा करके मेरी कमर में हाथ डाल दिया और मुझे उसमें ले गया.मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ: तभी भाभी ने मुझे रोक लिया और कहने लगीं- इतना क्यों शर्मा रहे हो?मैं- भाभी मुझे माफ कर दो, थकने के कारण मैं कब सो गया … मुझे पता ही नहीं चला और आपको मुझे ऐसे जगाना पड़ा!भाभी- कोई बात नहीं रोहित … इतना मत शर्मिंदा हो … वैसे भी मैंने तुम्हें कई बार ऐसे देखा है.

मैंने कहा- वो मजा भी लूंगा पहले आपकी चूचियों से लंड को चिकना कर लूं.उस भूरे रंग के छेद में अपना लौड़ा आते-जाते देख मानस मन ही मन में खुश हो रहा था.

बीएफ चाहिए सारी वाली - मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ

मेरा तो दो दो नंगी हूरों के बीच में होना न होना एक ही बात हो गया था और ठंड से मेरा बुरा हाल हो गया था.मैं- इतने सारे!मैं सोचने लगी कि 5000 रुपये तो वाकयी बहुत ज्यादा थे.

शायद वो पल आ गया था, जब मेरे रूम के सामने मुझे एक परी दिखायी देने वाली थी. मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ तो मैंने भी बिना वक़्त गंवाए बोल दिया और उन चार हज़ार के अलावा दस हज़ार और दीदी के हाथ में रख दिए.

सोनम अब भी तड़प रही थी और इसी जद्दोजहद में उसके दिल के सांसें मानो रुक सी गयी थीं, आंखों के सामने अंधेरा छा गया और वो किसी बेजान मुर्गी की तरह वाशबेसिन में गिर पड़ी थी.

मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ?

जैसे ही मैंने यामिना की गीली चूत में अपनी बड़ी उंगली चलायी, यामिना ने अपनी दोनों जांघों को भींच कर मेरे हाथ को दबा लिया और जोर से आई … ईईई … करके चीखी. जब उसे लम्बे समय के लिए अपनी पत्नी से दूर रहना पड़ा तो उसे अपनी तनहा रातें काटना दुश्वार हो गया. उसने मुझे कॉल करके कहा- यार अगर मैं प्रेगनेन्ट हो गई, तो क्या करोगे … तुमने मुझे कोई गोली भी नहीं दी और ना कंडोम लगाया.

पापा बोले- तू पागल हो गया क्या?मैंने कहा- पापा, एक बार देख लेने दो बड़ा मजा आएगा. लगभग दस मिनट के बाद धक्के के बाद भाभी जी होश में आईं और अपना मुँह खोल कर मुझे किस करने लगीं. तभी मामी बोलीं- कोई दिक्कत नहीं तू जोर लगा कर दम से चोद!इतना सुनने के बाद मैं और जोर से अपनी कमर को हिलाते हुए झटके मारने लगा.

फिर दीदी मेरे पास आकर बैठ गईं और मेरे हाथ से सिगरेट लेकर खुद पीने लगीं. कभी कभी हम वीडियो कॉल भी कर लेते थे जिसमें वो मुझे अपने बूब्स दिखाती थी. जब मैं लॉकडाउन के पहले सप्ताह के दौरान घर पर रहने लगा तो तीन चार दिन में ही फिल्में वैगरह देखकर बोर हो गया.

भाभी बोलीं- मुझे भी और करना है!मैंने कहा- थोड़ा आराम करने के बाद … खाना खाने के बाद. यामिना- पूरे चार साल, मैं तो इस सब के लिए तरस गई थी, आज आपने फिर से बदन में आग लगा दी है.

मैंने फ़लक को पहले से तैयार किया हुआ अपॉइंटमेंट लैटर दिया और उसे एक लम्बा सा किस किया.

आँटी- ठीक है, मत बताओ, मैं तुम्हारी चाची रश्मि से अपने आप पूछ लूँगी.

फिर पीछे से उसके कान पर किस किया, गर्दन पर चूमा और उसकी पीठ पर भी किस किया. ऑनलाइन पढ़ाई में मोबाइल, टैबलेट या लैपटॉप तो चाहिए ही है, साथ में इंटरनेट भी चाहिए होता है. इथर मैंने पोजीशन बदलकर रोशना को घोड़ी बनाया और पीछे से लंड पेल लार उसे चोदने लगा.

फ़लक के घुटनों को मोड़कर उसकी पकौड़ा सी सूजी हुई चूत पर फिर लण्ड का मोटा सुपारा रखा और ढ़ेर सारा थूक लगा कर लण्ड चूत के छेद में घुसेड़ दिया. तभी उसने एक हाथ आगे बढ़ा कर मेरी पैंट की चेन खोल कर मेरे लण्ड को पकड़ लिया और उसको हाथ में भरकर सहलाने लगी. मैंने उससे अलग होकर उसके घर के देसी बाथरूम में घुस गया और नहा कर ताजा हुआ.

हमारी जेब में पैसा नहीं होता था, यह बात प्रीति को भी अच्छे से पता थी.

हनीमून सेक्स स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected]इस कहानी को यहीं पर समाप्त किया जा रहा है. मैंने पायल की टीशर्ट उतारी तो उसके कबूतर ब्रा से बाहर निकलने के लिए फड़फड़ाने लगे. मामी बोलीं- मुझे इतना खुश करने के तेरा बहुत बहुत धन्यवाद … अब से मैं तेरी रांड हूँ.

उसको सहलाते रहो और बताओ मुझे कि तुम्हारे साथ ऐसा क्यों किया जा रहा है।”अमन की उंगलियां मेरी चूत और गांड को सहला रही थीं. उसके बाद कुछ दिन ऐसे ही चलता रहा, पर श्वेता से मेरी कोई बात नहीं हो पायी. मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और सहलाते हुए बोला- मैं तेरी प्रॉब्लम समझ सकता हूं.

उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और होंठों को चूसने लगी।अब उसके बेटे के आने का टाइम हो गया.

मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा सारा लोड एकदम से छूटकर कंप्यूटर स्क्रीन पर जा लगेगा. रेनू स्पीड बढ़ाती जा रही थी।हो गया मेरा … आह्ह … हाय मर गयी … ओ … ओ … मा ओओ … आह्ह … बाप रे … आज तो, बहुत थका दिया तुमने मुझे!”इतना कहकर रेनू रुक गयी.

मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ बिना देरी करते हुए मैंने उनकी शर्ट उतारी और उनकी बॉडी को चाटने लगी. आपने देखा कि इससे पहले वाली स्टोरी में बीवी की चुदाई उसके बॉस से हो चुकी थी.

मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ तभी फिर से जोर से बिजली कड़की, तो उसने मुझे फिर से अपनी बांहों में खींच लिया. मैं- ओ गॉड नहीं! मुझे ऐसे मत तड़पाओ यार … मैं आखिरी समय तक टिके रहना चाहता हूं.

यामिना- सर, लेकिन उस साली को चोदना जरूर, उसका हस्बैंड तो किसी काम का है नहीं, वह तो मन्द बुद्धि है, इसीलिए वह लेडी कुंठित रहती है क्योंकि उसकी चूत की खारिश तो मिट नहीं पाती.

करीना कपूर की बीएफ

जब तक दिनकर जया को चोदने की सोचता, तब तक नगर का दूसरा मर्द उसकी बीवी की चुत में लंड पेल कर उसे चोदने लगता था. अब मेरा लंड जवाब देने लगा था, सो मैं चिल्ला रहा था- आह और जोर से जोर से आह आईई. मैं वहां काम करने लगी … साथ में यहां भी मुझे अपने शरीर की आवश्यकता का ध्यान रखना था.

इस दौरान रिचर्ड बार बार मुझे देखता, इससे मैं समझ गया कि शायद मेरे बारे में बात हो रही है. जरा तेज तेज चल कर नीचे से कुछ सामान ले कर आई थी, तू बन्द कर मैं काम कर रही हूँ. एक ही फ़्लैट में माँ-पिता जी के साथ रहते हुए भी वो दोनों एक दूसरे के पास आने का कोई मौक़ा नहीं छोड़ते थे.

चाची ने हाथ पाँव की सुंदर नर्म उंगलियों में बहुत सुन्दर नेल पेंट लगा रखा था.

क्यों मॉम, इससे हमारी पढ़ाई का नुकसान भी नहीं होगा और थोड़ा चेंज भी हो जाएगा?स्नेहा- एक दिन में क्या घूमेंगे?चिराग- दो दिन पूरा हमारे पास है. मैंने उसकी पैंट ढीली करके लंड बाहर निकाल लिया और हाथों से पकड़ लिया. भाभी- गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने थोड़ा सहज होते हुए कहा- पहले तो थी … पर अब नहीं है.

ललित एक ऐसा लड़का था … जो मेरे पति से पहले मेरे साथ अनगिनत बार शारिरिक संबंध बना चुका था. प्राची तो मानो जैसे तड़फ उठी, उसके मुँह से चीख निकल गयी और वो उसके निप्पल को मेरे दांतों से छुड़ाने के लिए मुझे दूर धकेलने लगी. उसकी आंखों में आंखें डालकर अपनी बांहों में भरके उसके होंठों पर किस करने लगा.

इस वजह से पूरे एक साल तक एक दूसरे से दूर रहने की बात दोनों को ही खल रही थी. कुछ ही देर में नगर के और लोग भी आ गए और गगन अजय के झड़ जाने के बाद उन्होंने जया की चुत गांड पर कब्जा जमा लिया.

उसकी प्रोफाइल फोटोदेल्ही सेक्स चैट मॉडल मिशैलइतनी कामुक थी कि कोई भी उसको देखकर इग्नोर कर ही ना पाये. श्वेता अपनी खिड़की में झुकी और टंगे हुए कपड़ों के नीचे से इशारा किया. मैं लेटी हुई थी तो अंकल मेरे मम्मों पर अपने पैर मेरे दोनों साईड कर कर बैठ गए और लंड मेरे मुँह में ठूंस दिया.

पायल को बेड पर लिटाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिये और बेड पर आकर पायल से लिपट गया.

मगर एक बार फिर मैंने किसी तरह खुद को रोका और मैं इस आकर्षक वेबसाइट के बारे में देखने लगा. मैं अपनी जीभ उसके मुँह में डाल कर घुमाने लगा, तो प्राची ने भी मेरी जीभ को पकड़ कर चूसना शुरू कर दिया. मेरी बहन दर्द से जोर जोर से चिल्लाने की कोशिश कर रही थीं मगर होंठ बंद होने के कारण वो सिर्फ छटपटा पा रही थीं.

मैं चुप होकर बस उनकी आंखों में अपनी आंखों को डाले अगले एक्शन का इंतजार कर रहा था. मैं मादक अंदाज में चलते हुए उसके बिस्तर पर जाकर बैठ गई और बोली- कुछ भी करने से पहले तुम जिनसे सेक्स चैट करते हो, मुझे वो दिखाओ.

अगर आप भी कुछ उत्तेजक, कामुक और निजी पल दिल्ली की इस हसीना तान्या (फोटो ऊपर दी गयी है) के साथ बिताना चाहते हैं तो उसकी प्रोफाइल चेक करने के लियेयहां क्लिक करें. ” कहकर रेनू ने मेरा लण्ड चूम लिया।फिर मैं रेनू को बांहों में भर कर लेट गया. चिराग- कल हम लोग पंचगनी जाएंगे, जो यहां से करीब 19-20 किलोमीटर यानि करीब एक घंटे का रास्ता है.

सेक्सी बीएफ हिंदुस्तान की

कुछ देर तक ये अब मजा करने के बाद हम दोनों ने अपने कपड़े पहने और कमरे पर चल कर बाकी की चुदाई का मजा लेने का तय कर लिया.

अंदर मेरी बीवी और मेरी बीवी का बॉस और दो विदेशी आदमी और एक विदेशी औरत थी. एक मिनट बाद मैंने किंजल की पैंटी भी हटा दी और उसकी चुत के दीदार किए. वो हंसकर बोली- हराम का माल नहीं है कि जहां चाहे घुसेड़ लो! पहले अपनी बीवी की गांड मारना और एक बार मेरे पति से अपनी गांड मरवाना, तब मेरी गांड की सोचना।रमण ने चुपचाप उसकी चूत की पिलाई शुरू की.

इस बार वो मेरे और भी करीब सट कर बैठी थीं जिससे मेरी जांघ उनकी जांघ को छू रही थी. मैं लहंगे के ऊपर से ही उनकी गांड को चूमता हुआ, उनकी जांघों पर हाथ फेर रहा था. इंडियन बीएफ भेजेंऔर मुझे तो यह आईडिया भी नहीं की बात किस टॉपिक पर करूँ?तब उन्होंने बोला- अच्छा तो ये प्रॉब्लम है … कोई बात नहीं, तुम्हारी हिचक हम दूर कर देंगे.

इतनी खूबसूरत महबूबा!शादी के जोड़े में!सब हार-शिंगार किये हुये सामने खड़ी हो तो आदमी क्या करेगा?गिरा के बिस्तर पर चूस लेगा उसके हुस्न को!यही एक हथियार है हम मर्दों के पास!लेकिन लड़कियां?औरतें?उनकी ख्वाहिशें?मैं- बिस्तर पर बायीं तरफ घूंघट निकाल कर बैठ जाओ!ज़ारा- जी! लेकिन मेरा आपसे कुछ भी छिपा नहीं है तो घूंघट करना अजीब सा लगेगा!मैं- ज़ारा,एक्टिंग करनी है. वहां देखा तो उनके बेटे ने बताया कि मैकेनिक बुलाए थे, वे कह रहे थे वर्कशॉप पर ले जाना पड़ेगा.

कुछ देर के बाद उसका पति बाहर आने लगा तो वो रुक गयी और फिर बाथरूम में चली गयी. उसके उभारों से थोड़ा सा दूध चूसकर निप्पल दांतों से काटते हुए उसके सपाट पेट पर अपनी जीभ फेरने लगा. मैं लण्ड अंदर किये किये यामिना के पेट से चिपक गया और उनकी बातें सुनने लगा.

जिस तरह से आपने मेरी पिछली कहानीदोस्त को दिलवाई सेक्सी लेडी की चूतको प्यार दिया, उसका मैं तहेदिल से शुक्रगुज़ार हूँ. उसके जाने के बाद मैंने बाथरूम का रुख किया और शॉवर लेकर लाल रंग का हाफ गाउन पहन लिया. जब मैं थक कर रूका, तो मैंने चाहा कि लंड बाहर निकाल लूं, पर मैं उसकी ख़ुशी के लिए लंड अन्दर डाले रहा.

गर्म औरत सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे दफ़्तर की जूनियर स्टाफ लेडी ने मुझे खुश करने के लिए मेरे कमरे में आ गयी.

वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठाते हुए बोली- आहह आहह और तेज़ और तेज़ … मज़ा आ रहा है. मैंने कहा- मुझे नहीं पता, बस तुम रात को कुछ भी करके मेरे कमरे में आ जाना.

मेरी कहानियाँ जब पब्लिश होती हैं तब देश के विभिन्न हिस्सों से अच्छे बुरे मेल आते रहते हैं।कुछ पाठकों के साथ दो चार दिन ही बात होती हैं तो कुछ के साथ लंबे समय तक बातचीत का दौर चलता रहता है।ऐसी ही एक पाठिका थी सरिता।सरिता एक 40 साल की कुँवारी महिला थी। उसका होने वाला पति नामर्द था इसलिए शादी के मंडप से भाग गया था. मैंने कम रोशनी में सिरहाने रखी पानी की बोतल टटोली, फिर हाथ फैलाए … तो देखा भाईजान की जगह खाली थी. बहरहाल, रेणु से दूर शेखर देर रात तक ऐसी ही साईटों पर घूमता रहता और कभी-कभार किसी से चैट कर लिया करता.

यह चादर सिर्फ दो ही आदमियों के लिए ही थी तो हम तीनों नंगे बदन एक दूसरे से चिपक कर लेटने लगे. मैंने देखा कि वे चारों लड़के भी धीरे-धीरे करके मेरे पास ही आ रहे थे. उस कम्पनी का सारा स्टाफ मुझे बहुत पसंद करता है क्योंकि मैं सबकी मदद भी करता हूँ और देखने में भी मैं बहुत स्मार्ट हूँ.

मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ मेरे बूब्स ऐसे थे कि बीच में थोड़ी भी दरार खुली नहीं थी, एकदम चिपके थे. उसकी चूत ने ढे़र सारा योनिरस उगल दिया और मैंने भी 2-3 धक्कों के बाद उसकी गाँड को कस कर पकड़ा और पूरा वीर्य रेनू की चूत में छोड़ दिया।रेनू चूत में लण्ड छोड़ कर ऐसे ही ऊपर लेट गयी।जान आज तो बिना मज़दूरी के मेहनत करवा रही हो … कुछ चाय-नाश्ता भी नहीं, बस खेत में हल चलवाये जा रही हो कंजूस … कहीं की!”सुनकर रेनू हंस पड़ी और मुझसे लिपट गयी।इस तरह से मेरा बरसों पुराना सपना पूरा हुआ.

बीएफ फिल्म हिंदी सेक्स

बेबी बोली- आह अब जल्दी से अन्दर डाल दो … मुझसे रुका नहीं जा रहा है. लेकिन ऑफिस से बार काफी दूर होने के कारण मैंने अलवीना को मेरे साथ ऑफिस में ही ड्रिंक करने का प्रस्ताव दिया. मैं उसे प्यार करने लगा तो कुछ देर बाद उसकी आंखें खुल गईं और वो लम्बी सांस लेते हुए बोली- आज पहली बार ये अनुभव हुआ कि चुत से भी पानी निकलता है.

मैंने दरवाजा खोला तो बाहर हाथों में एक गद्दा और दोनों बच्चों को लिए सरिता आँटी दरवाजे पर खड़ी थी. मैं ऑटो से जल्दी उनके घर पहुंचा।जाकर मैंने गेट से आवाज दी- भाभी, मैं राज … गेट खोलो. बंगाली चुदाई बीएफइसके अलावा जिस समय लौड़े मुझे चोद कर झड़ते हैं, उस समय वो उन लौड़ों से टपकते वीर्य को एक कटोरी में इकट्ठा करता है और रात को खुद की मां को चोदकर उसको पिलाता है.

भाभी ने मुझे खाना परोसा, पर मैं शर्म के मारे भाभी की तरफ देख ही नहीं पा रहा था.

मगर हमारी बातों की एक सीमा थी, जिसको न ही मैंने कभी लांघा था और न ही मेरी दीदी ने. जब मैंने भाभी को नीचे उतारा तो देखा उनकी सफ़ेद नाइटी के गांड के पीछे वाले हिस्से पर वीर्य और खून का गोल सा धब्बा बना हुआ था.

सुलतान ने कहा- अरे सर हुक्म क्या … आपको मैंने सब बता दिया था ना!मैं उठकर रोशना के पास सोफे पर बैठ गया. अपने दोनों हाथों से मैंने आँटी की चुचियों को पकड़ा उन्हें जोर जोर से मसलते हुए धक्के लगाने शुरू किए. चिराग देख लेता तो तुझे ऐसी स्थिति में क्या सोचता तेरे बारे में?स्नेहा- आज नहीं तो कल वो भी तो देखेगा किसी को पैंटी में … या नंगी.

मैंने 2 चाय के लिए बोल दिया और मैं टॉवल लेकर बॉथरूम में चली गई और सारे के सारे कपड़े उतार दिए.

मैं श्वेता के करीब आ गया और उसके बोबे उसकी ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा था. फर्स्ट इयर में मेरी ज्यादा लड़कियां दोस्त नहीं बन सकी थीं, क्योंकि मेरा लड़कों का ग्रुप इतना बड़ा था कि मैंने उनकी तरफ ध्यान ही नहीं दिया. प्राची ने मेरे लंड को थोड़ी देर सहलाया और फिर आगे को झुक कर सुपारे पर अपनी जुबान फेरने लगी.

सेक्सी बीएफ बिहार का वीडियोआठ लोगों ने बारी बारी से जया की चुत गांड में लंड पेला और उसे हचक कर चोद दिया. मैंने मामी को खून की बताते हुए पूछा- मामी यह कैसे?मामी बोलीं कि तेरा लंड तेरे मामा से लम्बा व मोटा है … इसलिए ये सब हो रहा है.

सेक्सी हॉट मूवी बीएफ

फिर ध्यान आया कि ये तो मेरी चाची है, माँ समान है, चाचा मुझे कितना प्यार करते हैं. कुछ देर बाद मैं बोला- घोड़ी बन जाओ!वो घोड़ी बनी!लंड तो चूत के रस से चिकना हो ही रखा था मैंने एक ही झटके में पेवस्त कर दिया पूरा लंड उसकी गांड में!ज़ारा चिल्ला उठी- जा … न! दर्द भी होता है गांड में!मैं रुककर उसकी चूचियां दबाने लगा कुछ ही देर में ज़ारा आहें भरने लगी तो मैं झटके देने लगा और दो उंगलियां उसकी चूत में अंदर-बाहर करने लगा. जब मैं बाहर आया तो उसने मेरी चुटकी ली- हाथ धो आए जीजू, चलो गर्म गर्म भजिया खा लीजिए.

मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और सहलाते हुए बोला- मैं तेरी प्रॉब्लम समझ सकता हूं. मैंने जल्दी से शॉवर लिया और खुद को आईने में देखने लगी कि कितनी सेक्सी लगती हूं मैं और अपनी चूत को छूने लगी. जैसे ही पानी उस वाशबेसिन में भरने लगा, उसने सोनम का चेहरा उस पानी में दबा दिया.

सेक्स स्लेव पोर्न कहानी में पढ़ें कि लिफ्ट में एक लड़के ने मेरी गांड पर अपना लंड लगा दिया. अब मैंने धीरे धीरे भाभी की चुत में झटके देना शुरू कर दिए और कुछ ही देर बाद मैं उन्हें तेज तेज चोदने लगा था. मैं- ओह पूनम …पूनम बुआ- राहुल, मेरी जान …मैं- पूनम, आज आपने मज़ा बाँध दिया.

वो लंड चुत के हर झटके में अपनी चरम सीमा तक पहुंचने की कोशिश कर रही थीं. मेरी देखा देखी मयंक और संगीता ने भी एक ही झटके में गिलास खाली कर दिए और हम तीनों ने अपने-अपने गिलास टेबल पर रख दिए.

उसने एक आंख मारते हुए मेरे लण्ड को फिर पकड़ लिया और उसको मस्ती में चाट चाट कर साफ कर दिया और बोली- तुमने आज पहली बार में मुझे बिना चोदे ही जीभ से चूत को चाट कर जो सुख दिया है तो मेरा भी कुछ फर्ज बनता है.

मैंने बीच बीच में अपनी दो उंगलियां उनकी चूत में भी डाल देता और अंगूठा उनकी गांड में करने लगता. हिंदी में अच्छा बीएफमैंने फिर एक बार कमर पीछे खींच कर पानी छोड़ चुकी रंजू की चुत में एक झटके से पूरा लंड उतार दिया. एक्स एक्स एक्स वीडियो हॉट बीएफलॉकडाउन में कम तनख्वाह में घर भी चलाना था, इस वजह से भाभी नया फोन या टैबलेट नहीं ले पा रही थीं. इस बारे में मेरी पायल से बात हुई तो बोली- विजय, राबर्ट ने मुझे जिस लण्ड का चस्का लगा दिया है, उसे पाना है तो उसके साथ जाना ही पड़ेगा.

मैं इस समय पूरे जोश में धक्के लगा रहा था, जिससे ममता जी की कामुक आवाजें ही मुझे सुनाई दे रही थीं.

अब मैंने अपना दांव खेला और बोला- मैं तो तृप्त तुम्हारे प्यार से ही हो गया. मैंने उसेक स्तनों की मालिश करके उसके बूब्स बढ़ाए और उसकी चूत चुदाई भी की. जब खाने का समय हुआ तो मेरे ना आने के कारण भाभी मुझे आवाज लगाती हुई मेरे कमरे में आ गईं.

चारों तरफ अच्छी तरह से देखा तो कुछ भी नजर नहीं आया, जिससे उस पर कोई शक़ कर सकता था. उसने एक कमरे की ओर इशारा करके मेरी कमर में हाथ डाल दिया और मुझे उसमें ले गया. समीर से सटकर बैठने की वजह से मेरा पूरा हाथ उसकी गोद में था जिससे मुझे उसके मोटे नेवला, जो उसकी पैंट में था, का अहसास भी हो रहा था.

टीचर सेकस

उनकी टांगें ऐसे भिंच गईं, जैसे वो अपनी चुत को मुझसे छिपाना चाह रही हों. उमस तो पूछो ही मत।थोड़ी देर ही हुई थी ऑफिस से निकले कि हम सबको पसीना आने लगा. मैं साड़ी और पेटीकोट की बंधन से आजाद होना चाहती थी इसलिए मैंने दोनों को नीचे खिसका दिया.

भाभी हंसने लगीं और बोलीं- जैसे क्या ख़ास लगा?मैंने कहा- आप पूरी की पूरी ख़ास हो.

पापा ने मम्मी की चूत में उंगली डालकर देखा कि मम्मी की चूत पानी छोड़ने लगी थी.

इससे कमरे में अंधेरा बढ़ गया और केवल ज्यादा ध्यान से देखने से ही कुछ दिखाई देता था. मैंने तेजी से लंड को अन्दर बाहर करना चालू कर दिया और अब मेरे लौड़े से वीर्य निकलना शुरू हो गया. नेकेड बीएफ वीडियोमैंने हाथ से लंड को सैट किया और वो मेरे लौड़े पर चुत पेलती हुई धच्छ से बैठ गई.

किस के साथ ही मैं उसकी चुत में उंगली कर रहा था; वो मेरे लंड को मुठिया रही थी. मैंने उसकी चूत पर हाथ लगाया और उसके लोअर के ऊपर से थोड़ा थोड़ा फेरना चालू कर दिया. मामी मुझे नहलाने लगीं और साबुन लंड पर लगा कर उसे अच्छे से साफ कर दिया.

फ्रिज से दो गिलास जूस लेकर मैम सोफे पर आ गईं और मेरे बगल में बैठ गईं. तभी लिफ्ट का दरवाज़ा वापस से खुल गया और मैंने देखा कि एक मस्त सी लेडी भी लिफ्ट में आ गयी.

मुझे ये डर लग रहा था कि पता नहीं वीडियो देखने के बाद क्या होगा … कहीं भाभी जी मेरी मम्मी से शिकायत न कर दें.

इससे पहले कि मैं ये खोजता कि ये साइट किस बारे में है, मेरा हाथ एक बार फिर से मेरे लंड पर चला गया और मैं उसको सहलाने लगा क्योंकि उसमें देसी इंडियन सेक्सी गर्ल्स की बहुत ही गर्म फोटो दिख रही थीं और मैं खुद को रोक नहीं पा रहा था. स्नेहा- ओह … तो आपने वहां से देखी थी उनकी चुदाई, पर दीदू मुझे भी तो बता सकती थीं आप!नेहा- नहीं, तू उस समय छोटी थी इसलिए मुझे ये सही नहीं लगा. मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उनके दोंन मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा.

देसी सेक्सी सेक्सी बीएफ भाभी की चूत से इतना रस निकल रहा था कि अब लंड बार-बार फिसल कर बाहर आ जाता था।मैंने उन्हें सीधा किया और दोनों टांगों आपस में जोड़ के लिटा दिया जिस से थोड़ा ज्यादा ग्रिप बनें और फिर लंड डाल दिया. मैंने चूत पर एक चुंबन किया और एक उंगली डालकर चूत का रस चाटा, तो बहुत मजा आया.

बीस मिनट बाद पापा मम्मी की गांड में ही झड़ गए और वो दोनों थक कर नंगे ही सो गए. तभी उसने मुझसे पूछा कि यार इतनी देर से मैंने तुझसे पूछा ही नहीं कि तुम गांव कब आए?मैंने कहा- अभी कुछ दिन पहले ही लॉकडाउन शुरू हुआ था, तभी आया था. अब मैंने उठने का यत्न किया, तो भाभी ने मेरे हाथ को पकड़ते हुए मुझे वापस बिठा दिया.

हिंदी बीएफ देहाती बीएफ

पूरे कमरे में बस फच फच की आवाज़ और वासना भरी सिसकारियों की आवाजें ही आ रही थीं. हम दोनों की आपस में बहुत ज्यादा जमती है, लेकिन घरवालों को हमारी दोस्ती अच्छी नहीं लगती थी. स्नेहा का अब जाकर ध्यान गया कि रात को चूत में उंगली करने के बाद वो नंगी ही सो गई थी.

मैं बोला- ठीक है मेरी कप्पो रानी … लेकिन आप कमरे से बिना कपड़ों के ही अपने कमरे में जाओ. मिशैल ने अपने रसीले चूचों पर तेल डालना शुरू कर दिया। मालिश करने वाले तेल से उसके स्तन पूरे चिकने हो चुके थे.

रेनू को लगा कि बग़ल वाली किराएदार होगी और जैसी ही उसने दरवाजा खोला वो एकदम डर गयी- अरे तुम बिना बताए, बिना बुलाये कैसे आ गए? कहाँ छुपे थे? चलो जल्दी से अंदर आ जाओ।वो बिना रुके इतने सवाल पूछ बैठी।मैंने अन्दर आकर दरवाजा बंद किया और उसके होंठों पर एक प्यारा सा किस ले लिया.

कुछ देर बाद मैंने उसे एक ड्रेस दिया जो उसकी जांघों तक ही था और ऊपर से कंधों पर थोड़ा खुला हुआ था।उसने पहन कर दिखाया. बस इतना कहते कहते मैंने पूनम बुआ की गांड में अपने लंड की पिचकारी छोड़ दी. मैंने वो पुराना फ्लैट छोड़ दिया था और अब मैं एक नयी जगह पर शिफ़्ट हो गया हूँ.

फिर भी मैंने नीचे से धक्के देते हुए करीब 3 इंच तक अपना लंड भाभी के मुँह में फिट कर दिया. मेरा हाथ डालने पर जूली कुछ नहीं बोली, उसने बस गर्म सांस छोड़ कर अपनी उत्तेजना दिखाई. मैंने भी मौके पर चौका मारते हुए बोला- तुम्हारे उभार दिख ही कहां रहे हैं.

अगले रोज मेरे ताऊ ससुर की तेहरवीं के बाद दिव्या की मां ने हमें वहीं रुकने का आग्रह किया और मेरा सपना जैसे पूरा होता दिखा.

मौसी की चुदाई हिंदी में बीएफ: पास आने पर पता लगा कि वो एक मोटा डिल्डो था जिसे उसने फर्श पर रख दिया।तान्या- मैं अपनी बॉडी को शेप में रखना पसंद करती हूं. आँखें खुलीं तो शेखर ने ख़ुद को बिल्कुल नंगा पाया और अपनी जाँघों पर अपने ख़ुद के वीर्य की सूखी हुई बूँदे नज़र आयीं.

पर वह शाम को खींसे निपोरता मेरे पास बैठा था- सर जी … जैसे मस्ती से आप करते हैं … वैसा मजा उन साहब से नहीं आया. थोड़ी देर बाद मैं उठा, तो मैंने देखा कि भाभी गांड से खून और मेरा वीर्य एक साथ बाहर निकल रहा था. दोपहर को मैंने खिड़की से देखा कि श्वेता हॉल मैं कुछ कर रही है और गर्मी होने के वजह से उसने एक ढीली सी टी-शर्ट और शॉर्ट्स पहन रखी थी.

शायद शायरा को डर था कि ये सब सपना है और वो मुझसे अलग होगी, तो उसका ये सपना टूट जाएगा.

जल्दी ही उसकी चुत का शुरूआती नमकीन पानी निकलने लगा और मैं चुत रस पी कर मजा लेने लगा. उसने दोनों हाथों से मेरी चूत की पंखुड़ियों को फैला दीं और अपनी नाक घुसा कर सूंघने लगा. चाय खत्म करने के बाद उसने मुझसे पूछा- वैसे बेटी, तुम्हारा नाम क्या है?मैंने कहा- जी आंटी मेरा नाम जया है.