बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी वीडियो देखने के लिए

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी पुरानी फोटो: बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में, मैं सोचने लगी कि अब मम्मी जी क्या करने गईं … या अब क्या करने वाली हैं.

कॉलेज मुलींचा सेक्सी व्हिडीओ

फिर उसने रूपा की ओर देखते हुए कहा- रूपा जरा तब तक छोटी बहू को अपने खेत खलिहान घुमाने ले जाओ और हां, इनकी अच्छे से देख भाल करियो, हमारे यहां पहली बार आई हैं, खातिर में कोई कमी ना रहे. सेक्सी मूवी प्रियंका चोपड़ाऊपर से इंदु की सिसकारियां … बहुत मजा आ रहा था मुझे … मन ही नहीं कर रहा था कि इंदु की चुत से लंड निकालूं.

फिर मजाक में ही मैंने सबसे पूछा- कौन सुबह में जल्दी उठता है?मैंने कहा- मैं 5 बजे उठ जाता हूँ. ओपन बीपी मराठी सेक्सीदीदी की सासू माँ बोलने लगी- याद है, उस दिन जब तुम लोगों में संग मिलन हुआ, तभी उसी दिन मैं शाम को शादी के लिए चली गयी? क्यों चली गई, मालूम है? ताकि तुम दोनों को थोड़ी प्राइवेसी मिले, एकांत मिले.

उसने भी मेरी टी-शर्ट और लोवर को उतार दिया और जॉकी के ऊपर से ही मेरा लंड सहलाने लगी.बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में: मैं तैयार हुआ, स्कूटर बाहर निकाला और हेमा भाभी को पीछे बैठाकर मार्केट की ओर निकल गया। बाहर जाते हुए लता भाभी ने हमें देख लिया था और उनके चेहरे से लगा कि वह जलकर खाक हो गई थी.

मैंने कुछ ज्यादा सोचने से खुद को रोका और अन्य दिनों की भांति ही उससे अगले दिन मिली, बातें की और दूध लेकर चली आयी.वो कपल दिल्ली में रहते थे, शुरूआत में तो हमने एक दूसरे के बारे में पूछा, एक दूसरे की पसंद नापसंद पूछी.

सेक्सी बीपी डब्ल्यू डब्ल्यू - बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में

असल में उस समय मेरी थोड़ी तबियत खराब हो गई थी, जिसके इलाज के लिए मैं चंडीगढ़ अपनी बुआ जी के घर गया हुआ था.फिर कुछ मिनट के बाद माँ की चूत झड़ गयी लेकिन मेरा लंड अभी भी खड़ा था.

अब विनय जीजू दीदी की चूत के पास आ गए थे और अनन्त कुसुम दीदी के मुंह की तरफ चले गए थे. बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में इधर दूर दूर तक कोई नज़र नहीं आ रहा था … ना कोई लाइट थी … एकदम सुनसान इलाका था, तो चिल्लाने का भी कोई मतलब नहीं निकलना था.

उधर रूपा और मामी जी बातें करते हुए खेतों की तरफ जा रही थीं, मैं और रमेश काका उनकी तरफ देख रहे थे.

बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में?

लंड की टोपी को पीछे करके उसने अपना मुँह लंड पर लगाया और मेरे सुपारे में दांत चुभोने लगी. फिर बेड पर बैठ के हम दोनों की चुदाई देखने लगी और मुझे स्माइल देने लगी. मेरे सिर के पीछे से दबाव डालकर मेरे चेहरे को उनकी तरफ ले जाते हुए उन्होंने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

कुछ ही देर में उन्होंने बीड़ी निकाली और माचिस से उसको सुलगा कर बीड़ी पीना शुरू कर दिया. मैंने सुना था कि शादीशुदा औरतें, चुदाई में लड़कियों से भी ज्यादा मजा देती हैं. थोड़ा रुक कर मुझे फिर से समझाने लगे- नीतू बेटा, तुम्हें तो पता है, मैं तुम्हें कितना प्यार करता हूँ.

जैसे ही जीवन में पहली बार किसी चूत को छुआ, शरीर एक तेज़ बिजली की तरंग का प्रवाह हुआ. ये सब जानने के लिए नए पाठक मेरी पहले प्रकाशित कहानी ‘वो बरसात की हसीन शाम. मेरे एक दोस्त सुमेर की मदद से उसकी घरेलू काम करने वाली लड़की पारो जिसे वो चोदता है, की बहन की कुंवारी चूत मुझे मिलने वाली है.

चंचल होगी कोई 20-21 साल की … उसका साइज 36-30-36 का था और जब वो गांड हिला हिला कर चलती थी, तो मेरे शरीर में बिजली सी कौंध जाती थी. मैं यह सब देख कर डर गई मगर जीजा जी ने मेरे बालों में हाथ फिराना शुरू कर दिया.

आज मैं छब्बीस साल का हो गया हूं, दिल्ली में नौकरी करता हूं और मैंने मामी के बाद चार चूत और चोदी हैं, लेकिन मामी की चूत चुदाई का मजा ही कुछ और था.

पर मैंने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया और धीरे धीरे करके उसकी चुदाई करनी चालू रखी.

मैंने अपने दोस्त से कहा कि कुछ देर और रुक जाते हैं लेकिन वो साला मान ही नहीं रहा था. तुम्हें मैं कैसा लगा?मैंने मुस्कुराकर आंखें नीचे कर लीं तो उसने बोला- जवाब दो … मुझे सिर्फ तुम ही तुम दिख रही हो. मैं- रमेश काका क्या बताएं आपको, मेरे सब राज तो मालूम हैं आपको, इसे भी क्या छुपाऊँ.

मैंने दिशा से कहा- देखो मैडम, मुझे पैसों की ज़रूरत है इसलिए मैं यह सब काम करता हूँ।उसने कहा- कितने पैसे चाहिएं तुम्हें, मैं दे देती हूँ।मैंने कहा- मुझे किसी का अहसान नहीं चाहिए. आप सिर्फ़ अपने बारे में कैसे सोच सकते हैं, मोहिनी जी आपकी पत्नी है, थोड़ा रोमान्स लाइये अपनी जिंदगी में, उनकी इच्छा जानिए, किसी दंपति की जिंदगी में प्यार के साथ सेक्स लाइफ भी अच्छी होनी चाहिए. वह बोली- जब से बाइक पर तुम्हारा टच हुआ है तब से मेरी चूत में खुजली हो रही है.

तो हमारी बात काफी सेक्सुअल भी होने लगी थी लेकिन मर्यादा के अंदर ही.

साथ ही वो मेरे चूतड़ों और मक्खन सी चिकनी जांघों की तारीफ किये जा रहा था. उसके मुंह में जब मेरा लंड जा रहा था तो मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था. उनकी इच्छा तो थी कि उन्हें कोई पुत्र प्राप्त हो, पर कम उम्र में माँ बनने से उसकी तबियत बिगड़ चुकी थी और वो कमजोर हो गयी थी.

अनुष्का मैडम के हाथों की छुअन से मेरे लंड में बिजली सी दौड़ पड़ी और वह एकदम टाइट होकर किसी रॉड की तरह हो गया बिल्कुल सख्त. लेकिन मैं मामी जी की गांड में अभी भी दीवानों की तरह अपने लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. हमने अपने कपड़े ठीक किये और बाहर आ गए लेकिन चुदाई का अरमान दिल में ही रह गया.

इतना कहकर वो अपने घर चली गयी।उन 3 दिनों में मैंने भाभी की गांड भी मारी और अच्छा चुदाई का दौर चला। मुझे अब जब कभी भी मौका मिलता है, मैं भाभी की चुदाई करता हूँ। उनका गुलाम बनकर, कभी सेवक बनकर और कभी कुत्ता बनकर।और जब भी मैं चुदाई करता हूँ भाभी की चूत का गोल्डन रस, मूत जरूर पीता हूँ.

फिर भी एक और दबी-घुटी हुई हलकी सी चीख निकल ही गई- ई ई माँ … ऊऊ ऊ आ … आ आ ई ई माँ … आ आ आ … मर र र र गई … ईई ई ईई … सी … सी. मैंने उसे अपनी छोटी बहन सहेली बना करके उससे कहा- मन कोई बात है तो बात दे, शायद मैं कुछ सहायता कर सकूं.

बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में तभी मामी ने कहा- अरे कहां खो गए?मैं- मामी जी नमस्ते, मैं सोच रहा हूं कि आप तो पहले से भी ज्यादा …मामी- क्या पहले से ज्यादा? मोटी हो गई हूं क्या?मैं- नहीं मामीजी. मैं उसके पास गया तो वो मुझसे चिपक गयी और बोलने लगी- ये तुमने क्या कर दिया.

बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में मुझे उसके होंठों को चूसने में दिक्कत हो रही थी क्योंकि मेरी हाइट 5 फीट 2 इंच ही है. दीदी ने मेरी तरफ देखा और अजय से पूछा- इतनी रात को कैसे आना हुआ?अजय ने बताया कि वह किसी काम से यहाँ पर आया हुआ था मगर काम करते हुए रात में देर हो गयी इसलिए उनके पास चला आया.

अगले दिन सुबह जब मैं यूनिवर्सिटी जाने लगा तो मुझे नीचे भाभी दिखाई दी.

सोनम कपूर एक्स एक्स वीडियो

उसने वीडियो कॉल की, जिसमें वो केवल एक सफेद ब्रा पहने हुए थी, जिसमें से उसके टाइट मम्मे दिखाई दे रहे थे. सुखबीर को पता था कि मेरे पति सुबह ही चले गए, इसलिये जब मैं दुकान पर पहुंची, तो सुखबीर ने तरह तरह से बात करने के बहाने निकाले और करीब आधे घंटे तक मुझसे बातें की. उसने मुझसे फिर पूछा कि क्या स्त्री पुरुष इस उम्र में भी संभोग के आनन्द लेते हैं?मैंने उससे कहा- जो अपनी इच्छा से जीवन का आनन्द लेना चाहते हैं, वो किसी भी तरह से जीवन का आनन्द उठाते हैं.

आज लिखने में वह सब लिख पा रही हूं पर उस रात सच में मुझे कुछ नहीं पता था कि इसे क्या कहते हैं और यह क्या हो रहा है. और जैसे ही मैडम ने सुपारी की खाल पीछे कर के सुपारी पर उंगली फिराई तो मेरी उत्तेजना का भरा हुआ गुब्बारा फूट गया. जब आधा लंड चूत में घुस गया तो मैंने हल्का सा धक्का दिया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

मैंने उनकी नाइटी के ऊपर से उनकी योनि को टटोलना शुरू किया और मैंने देखा कि उनकी योनि पानी छोड़ रही थी.

विजय ने कुछ टाइम बाद पता कराया कि माला अपनी एक फ्रेंड के घर रोज जाती थी. मैंने पूछा- तो फिर रात को आप मेरे साथ ही सोए हुए थे, मगर आपने तो मुझे छुआ भी नहीं. धीरे-धीरे मैं अपने हाथ चादर के अंदर ले गया और उनकी चूचियों को पकड़ लिया.

दस बीस धक्के के बाद भाभी भी अकड़न के साथ झड़ गईं और मैं भी 8-10 धक्कों में भाभी की चूत में झड़ गया. मैंने बैडमैन के पूरे कपड़े उतारे और लंड मुँह में लेकर चूसने लगी और वो तड़पने लगा. इस तरह से काफ़ी देर तक मुझे गर्म करके बोला- कैसा लगा मैडम जी?मैंने कहा- जैसा लगना चाहिए, वैसे ही लग रहा है.

अब वो मुझे बोलने लगी- मेरी चूत में लंड डाल!मैं मना करता रहा पर वो नहीं मानी, वो बोली- तेरा लंड तो तेरे भाई से भी तगड़ा है. दोनों ने दस मिनट तक चुदाई का मजा किया … फिर दोनों ने एक एक करके रिया की चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगे.

मैंने प्यार से उनके एक स्तन को अपने मुँह में लिया और जीभ फिरा फिरा कर चूसने लगा. फिर प्रसंग अपने खड़े लंड को हाथ में लेकर मेरी चूत पर रख कर बोला चल- बेटा, आज मस्त कर इसको!और यह कहते हुए उसने एक ही वार में पूरे का पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया. वो कुछ देर मेरी चूची को चूसने के बाद उठे और उन्होंने मेरी सलवार निकाल दी.

या तो आप यहीं पर गाँव में कोई काम करो… या फिर बच्चों को और मुझको लेकर कानपुर चलो, सब चल कर तुम्हारे साथ रहेंगे.

मेर पूछने पर उसने मुझे बताया कि उसने मेरे साथ बस एक ही बार सेक्स किया है … नहीं तो साला बस किस ही करके रह जाता है. मैंने उसके दोनों पैरों को कंधे पर रख दिया और जोर से शॉट मारा तो उसकी चीख निकल गई- आह्ह …फिर मैंने उसके मुंह पर हाथ रख दिया और जोर से उसकी चूत को पेलने लगा. थोड़ी देर के बाद उसने अपनी चूत में मेरे सिर को दबा लिया और मेरी नाक भी उसकी चूत में जा घुसी.

साथ ही कमरे में नीना की आवाज गूंज उठी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चोद डाल साले कुत्ते. यह कहते हुए प्रशांत ने मेरी नीना के हाथ में बड़े प्यार से अपना लंड थमा दिया.

उसने मुझसे कहा- क्या फिर से मेरी चूत मारनी है?तो मैंने हां कहा और उसे डॉगी बना कर फिर से चुदाई करने लगा. कल्पना ने मुस्कुराते हुए कहा- ह्म्म्म, उसी के लिए तो बुलाया है आपको और एक बात आप मुझे नाम से ही बुलाइये, ये मैम वैम नहीं चलेगा. दस मिनट के बाद मैंने पोजीशन चेंज की और उसको मैंने अपने लंड के ऊपर ले लिया.

पापा मम्मी की चुदाई

जीजा जी बोले- झटके से डालने में दर्द कम होता है, नहीं तो पता नहीं कितनी देर तक होता.

तभी मैंने उनको पीछे से ही झुका कर उनका घाघरा (लहंगा) ऊपर उठा दिया और उनकी गोरी गोरी जांघों को सहलाने लगा. तीसरी बात उसने ये अच्छी की कि सुखबीर के झड़ने के बाद उसे फिर से उत्तेजित किया और पारंपरिक तरीके से बदल कर खुल कर संभोग में भागदारी निभाई. चूत-लंड के इस मिलन समारोह के दौरान दोनों ही अपनी-अपनी सुर में सिसकारी भरते हुए चीख पड़े.

मैं बात समझ नहीं पा रही थी कि आखिर क्यों वो मुझे ऐसे देखता था और न ही मेरी हिम्मत होती थी कि उससे कोई सवाल पूछूं. करीब 15 मिनट तक ऐसे ही चुदाई चलती रही और फिर मैं चाची की चूत में ही झड़ गया. मराठी सेक्स सेक्स सेक्सीउसने आते ही मुझसे माफी मांगी और कहा- मेरा मोबाइल बन्द हो गया था इसलिए बता नहीं पायी.

मामा जी सीधे मेरे कमरे में आ गए और कहने लगे- समीर थोड़ी देर में तुम्हारी नानी आ जाएंगी, उसके बाद तुम अपनी मामी के साथ बाजार चले जाना. उसका बदन हाड़ मांस का बना हुआ नहीं बल्कि केसर रूह अफ़ज़ा से मिक्स की हुई मलाई का बना लगता था.

ननकू अब चौकस रहने लगा था लेकिन फिर भी मीना और चिन्टू मौका पाकर घर से बाहर खेत खलिहान में मिलने लगे. मैंने कुछ देर प्रीति की चूत में ही लंड को डालकर रखा और उसके साथ लेटा रहा. उसे भी लग ही गया था कि ये अच्छा मौका है चाचा से चुदने का तो उसने सर हिला कर हां कर दिया.

जैसी वो वीडियो कॉल के टाइम दिखी थी, उससे बहुत ज्यादा खूबसूरत थी।उसने मुझे बताया- आज की रात हम दोनों ही है … मेरा बॉयफ्रेंड तो कहीं और गया हुआ है, और वो बोल के गया है कि अच्छे से करवा लेना और पूरा मजा लेकर करना. फिर उसने मुझे आंख मारते हुए कहा- या शायद कुछ बड़ा सा कांटा चुभ गया होगा. मैंने अपने लंड को पकड़ कर अपने घुटनों को थोड़ा सा मोड़ लिया और मामी जी के चूतड़ों को फैलाकर अपने लंड के सुपारे को उनकी गांड के छेद पर टिका दिया.

पर उसकी आवाज़ ना सुन कर मैंने एक करारा धक्का मार कर अपना पूरा लंड सारा की गाँड में घुसा दिया।ज़रीना आकर मुझे पीठ पर चूमने लगी.

पर भैया की शादी में जब से देखा, आप दूसरे की हो रही थीं … पर मेरा लंड तो आपकी चूत के लिए एकदम तैयार था. अब तक आपने पढ़ा था कि मैं सतना शहर में अपने प्रेमी आशीष के साथ उसकी बुआ के घर में उससे चुदाने की तैयारी में थी.

मैं- अरे कहीं नहीं घोष बाबू, आपकी बात सुनकर उत्सुक हो गया हूँ, बस घर पहुँचने की इच्छा है अब तो जल्दी!घोष बाबू- आपके तो मज़े ही मज़े हैं! सर घर में अपनी बीवी, बाहर देविका जी! अच्छा सुनिए ना … कहीं बाहर चलने का प्लान बनाइये. वह खड़ी होकर मुझे थोड़ा सा और खाना परोसने के लिए उठी और मेरी प्लेट में खाना डालने लगी तो उसका पल्लू दाल के अंदर गिर गया. सैक्स के इस महान पुजारी के कर कमलों से नीना रानी की चूत की आरती उतारवाते रहने का नेक काम अवश्य करें.

इन चार महीनों में मेरा केवल 3 बार पति के साथ संभोग हुआ, पर हर बार मेरी कामाग्नि अधूरी ही रही. आज मैं मानो रवि मामा का मूसल सा लंड अपने मुँह में भरने को उतावला हो रहा था. मैं धीरे-धीरे उसके जिस्म को चूमता हुआ नीचे की तरफ बढ़ने लगा और उसकी निक्कर को खोल दिया.

बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में मेरा उतरा हुआ चेहरा देखकर वो बोलीं- समझो यार, मैंने कभी नहीं किया आज तक … इसलिए मना कर रही हूँ. मैं बोली- तेरे लिये ही तो जिम और योग करके शरीर को ऐसा मस्त बनाया है.

सजावटी पौधों की ऑनलाइन वेबसाइट x वीडियो

वो मेरी सलवार उतार के मेरी पैन्टी नीचे कर के मेरी चूत में उंगली करने लगा और जीभ लगा कर चाटने लगा. साथ ही नीना की चूत को अपने लंड का सैल्यूट, नमस्ते या सलाम भेजना न भूलें. तो मैंने भी हिम्मत जुटाकर बोल दिया- वह कैसे?यार मेरे मंझले भैया की शादी होने वाली है, जिसमें मैं छुट्टी लेकर घर जाने वाला हूं.

उसने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और जिसने रिया के मुँह में लंड डाल रखा था, वो उसकी टांगें चौड़ी करके बीच में बैठ गया. मैं ग्रेजुएशन के पहले साल की परीक्षा के बाद गर्मियों में मामा के घर छुट्टियां बिताने पहुंचा था. डॉग सेक्सी डाउनलोडमामा जी ने मुझे बताया कि हमारे बगल में एक परिवार रहता था, अब वह जालंधर चले गए हैं, उनकी बेटी की शादी है.

वो तड़प रही थी और बोल रही थी- प्लीज रिषभ … अब मत तड़पाओ … डाल दो अपना लंड मेरी चूत में … नहीं तो मैं मर जाऊँगी.

तभी मामा बोले- कौन हो तुम?वह बोला- पंडित जी का लगुआ हूं … मवेशियों को भूसा डालने आया हूं. उसने जरा भी समय गंवाए मुझे अपनी बांहों में एकदम से जकड़ लिया और होंठों से होंठ चिपका कर खड़े खड़े ही चुम्बन करना शुरू कर दिया.

माला को पिछले एक महीने से लंड की खुराख नहीं मिली थी, तो वो वैसे ही चुदवाने को मचल रही थी. वो मस्ती में अपना सर झटक रही थी और दोनों हाथों से मेरा सर अपनी चूत के अन्दर दबा रही थी. मैंने उसको हिलाया, सहलाया और फिर अपने हाथ में लेकर मुट्ठ मारनी शुरू कर दी.

मैंने उसकी चूचियों के निप्पल चूसते हुए लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया.

मैंने पूनम को बेड पर लेटाया और उसकी दोनों टांगों को पूरा आगे करके लंड को उसकी चूत में डाला और धीरे-धीरे धक्के देने लगा. मेरे रूममेट को भी शायद मुझसे ये ही जलन थी कि मेरे पास दोनों एक से बढ़कर एक माल हैं और उसके पास एक ही है, वो भी डेली अलग अलग लंड लेती है. विनय ने मेरी दीदी की के चूचों को हाथ में ले लिया और उनको दबाने लगे.

कुत्ता कुत्ता वाली सेक्सीमेरे हाथ उनकी ब्रा पर पहुंच चुके थे और भाभी अजीब सी आह्ह … ऊह्ह की गर्म आवाजें निकालने लगी थी. मैं अपना लंड उसकी चूत के अंदर डालने वाला था, लंड को चूत के छेद पर टिका रहा था कि मेरी उंगली उसकी चुत से टच हुई, उसकी चूत पूरी गीली हो गयी थी, पानी बाहर तक टपक रहा था.

पंजाबी ब्ल्यू फिल्म

मैं दोनों हाथों से उसकी चुचियाँ मसल मसल कर किसी बच्चे की तरह उसका दूध पी रहा था. मैंने संजीव को मैसेंजर पर कॉन्टेक्ट करने की कोशिश की लेकिन उसने भी मुझे ब्लॉक मार दिया. मैंने उससे पूछा कि उसे मज़ा आया या नहीं तो बोली- ऐसा कभी किसी के साथ नहीं आया.

मैंने एक सेफ सी जगह देख कर बाइक रोकी, उधर रोड साइड थोड़ा गड्डे जैसा था. इसके अलावा एक झुमकों का सेट भी लिया।मैंने हॉस्टल में आकर उसे ट्राई किया अच्छे से, तन्वी ने देखा तो बोली- क्या बात है यार … तू इसमें बहुत खूबसूरत लग रही है, शादी में जाने से पहले अपने बाल स्टाइल करा के जाइयो यहीं से। मैंने कहा- ठीक है, चलेंगे।अब शादी को सिर्फ 3 दिन ही बचे थे तो मैं तन्वी के साथ पार्लर चली गयी. फिर दीदी की सासू माँ बोलने लगी- क्या चल रहा था वो? और कब से चल रहा है?हम दोनों चुप थे.

उस समय तो गे सेक्स के बारे में कुछ जानता भी नहीं था और सोच भी नहीं सकता था. मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा हूँ। मेरी उम्र 23 साल है. जैसे ही आशीष की बटन खोलने लगी, आशीष मेरी वाइट कलर के टॉप के ऊपर से मेरे सीने को दबाने लगा.

सासू माँ ने मज़ाक करते हुए कहा- इन सबको बुक करना है क्या?मैं- क्या मम्मी जी आप भी, मैं तो बता रही हूँ कि ये सब मुझे दिखने ठीक ठाक लग रहे हैं, बाकी का आप देख लो. मैंने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और उसके सामने बिल्कुल नंगा हो गया.

सासू माँ ने लंबी सांस लेते हुए कहा- ह्म्म्म … एक मिनट तू रुक बेटा, मैं अभी आयी.

मैंने पहली बार किसी लड़की को अपनी आंखों के सामने ऐसी हालत में देखा था. सेक्सी हिंदी बात करते हुएअच्छे से पेल के मेरे यार ने मेरी बहन के पूरे मज़े लिए और फिर उसकी गांड में गुड़ मॉर्निंग कर दी. इंडियन सेक्सी bf.comसीमा मेरी छोटी बहन के साथ मिल कर मेरी माँ के हाथ में मेंहदी लगाने लगी. घर में अकेला ही था तो मम्मी ने मेरे एग्जाम होने के कारण खाना बनाकर देने की जिम्मेदारी भाभी को सौंप दी थी.

जब मैं उसको चोद रहा था, तब उसने अपनी चुत से दो बार पानी छोड़ा और मुझको पता लग गया कि ये भी चुदाई का मजा ले रही थी.

मैंने जिद करके उसे स्कूल छोड़ने के लिए मना लिया, जो उसके घर से 3 किलोमीटर था. उनकी कामुक आवाजें मुझे और पागल कर रही थीं और मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगा. मैं- ह्म्म्म मेरे पास इसका इलाज है, चलो मामी जी बाथरूम में हल्का सा शावर लेते हैं, वहां आपका दर्द में भगा दूँगा.

उसकी सहेली का एक भाई है, वो तो तो मादरचोद किस्म का था ही साथ ही उसकी फ्रेंड का बाप भी ठरकी किस्म का है. इधर मेरे पास आ और मुझे भी दिखा कि तू कैसे कर रहा था इन तकियों के साथ मैथुन?पहले तो वह मना करता रहा लेकिन फिर मैंने उसको गुस्से में चिल्ला कर कहा कि मुझे अभी दिखा कि तू कैसे कर रहा था मैथुन. वह आकर मेरे साथ बेड पर लेट गयी और हम दोनों एक-दूसरे को किस करने लगे.

मुंबई क्सक्सक्स

उन्होंने नहाने के बाद अपने शरीर पर एक पतली सी, झीनी सी साड़ी घुटनों से ऊपर लपेट रखी थी जिसके नीचे उन्होंने न ब्लाउज, न ब्रा और न ही पेटीकोट पहना था, वह लगभग नंगी दिख रही थी, उनकी बड़ी-बड़ी खड़ी चूचियां और सुन्दर सुडौल चूतड़ उस कपड़े में से साफ़ दिखाई दे रहे थे. मैंने अपने लंड को पकड़ कर अपने घुटनों को थोड़ा सा मोड़ लिया और मामी जी के चूतड़ों को फैलाकर अपने लंड के सुपारे को उनकी गांड के छेद पर टिका दिया. मैंने राजन से कहा- बेटा, तू इन तीन तकियों के साथ क्या कर रहा था?वह बोला- मैं तो कुछ नहीं कर रहा था माँ.

”यूँ तो मैडम या किसी भी लड़की के मुंह से मादरचोद सुन के मैं आश्चर्यचकित हो जाता, लेकिन अब तक के घटनाक्रम से अचंभित होने का मेरा कोटा पूरा हो चुका था.

मैंने कहा- आपकी शादी भी हो चुकी है?वो बोला- हां, मेरी तो तीन साल की एक बेटी भी है.

जब मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ?तो उसने बताया के कल रात हम दोनों ने संभोग किया, पर मैं असंतुष्ट रह गयी. मैं बोला- मेरी रानी … बस इस बार बर्दाश्त कर लो … आगे मजा ही मजा है. सेक्सी भोजपुरी गाना सेक्सी भोजपुरी गानामैं एक बात यहां बताना चाहती हूं, मैंने आशीष को बहुत प्यार किया है … सच्चे मन से, सच्चे दिल से.

मैंने कहा- चिंता मत करो जान, मैं तुमको थोड़ा सा भी दर्द नहीं होने दूंगा. उसने मेरा लंड चाटते हुए मेरी गोटियाँ चाटना शुरू कर दी, मुझे बहुत मज़ा आने लगा क्योंकि आज तक किसी ने ऐसा नहीं किया था. मेरी समस्या को सुनने और समझने के बाद मेरे मित्र ने मुझे एक काम के बारे में बताया.

हम दोने की ही पता भी नहीं चला कि मैंने कब गुलाबो को नंगी कर दिया। सिर्फ नथ रहने दी. इस सुनहरे ख्बाव से बाहर निकलें और जिंदगी की सच्चाई को समझने के साथ-साथ अपनाने की आदत भी डालें.

तो विजय ने उससे कहा कि माला मुझे तेरे बारे में सब पता है कि तुम्हारा जो जिस्म है, ये कैसे फल फूल रहा है.

इसलिए मैंने मौके की नजाकत को देखते हुए अपना लंड उनके मुंह से बाहर निकलवा दिया. मिसेज पाटिल बोलीं- ये तुम्हारे औजार के लिए हैं, इसका ध्यान रखना, बड़ा मस्त टूल है. तो सोनम ने भी मुझे गले लगा लिया और बोली- तब तो अब मैं तुझे भाभी बोलूंगी.

सेक्सी वीडियो इंडियन जंगल भाभी ने मेरे लंड को हाथ में पकड़ा और धीरे धीरे अपनी चूत पर टिका कर उसे चूत पर रगड़ते हुए हिलने लगीं. दोस्तो, ज़िन्दगी में कम से कम एक बार ही सही, लेकिन सभी के साथ ही ऐसा होता है कि बचपन से ही हमारे आसपास के कुछ लोग हमें अच्छे लगते हैं और हम उनके जिस्म की ओर आकर्षित होते हैं.

उसने वीडियो कॉल की, जिसमें वो केवल एक सफेद ब्रा पहने हुए थी, जिसमें से उसके टाइट मम्मे दिखाई दे रहे थे. मैंने धीरे से दीदी से पूछा- ये तेरी सासू माँ और मेरी नयी माँ इधर क्यों बैठी है?दीदी ने कहा- वो हमारा सेक्स देखना चाहती है. उनकी चूची पर मेरे हाथ को ऐसा लग रहा था कि मैं रूई का गोला दबा रहा हूँ.

मां और बेटे की एक्स वीडियो

मेरे पहले चुम्बन का क्या गज़ब का जवाब मिला था मैं तो उसके चूमने की अदा पर ही घायल हो गया था. चूंकि भाभी थोड़ी भरे हुए शरीर की थी इसलिए उनके शरीर का हर हिस्सा कोमल और गुदाज था. उसने एक ही झटके में अपनी गांड को उठाते हुए मेरे लंड को चूत में खींच लिया.

मैं अक्सर राजेश को सोचकर या फिर रवि मामा के हैंगर पर टंगे कपड़ों की महक लेते हुए मुठ मार लिया करता था. फिर मैंने उसको सीधा लेटा दिया और उसके चूचों पर एक बार फिर से टूट पड़ा.

उसने अपनी जोरू मीना से थोड़ा रौब से पूछा- ये चिन्टू का यहाँ रोज रोज आने का क्या काम? क्या चक्कर है ये?अपने पति की बात सुन मीना के हृदय की धड़कन बढ़ गई- ये आप क्या कह रहे हैं? वो आपका रिश्तेदार है तो कभी कभार आपके घर आ जाता है.

जीजा जी ने मुझे पकड़ लिया और नंगी करके मेरी चूत में उंगली डालकर मेरी कामुकता और जला दी और अपना लंड मुझे चुसवाया. मैं अपनी चूत को थोड़े से बालों से सजा कर रखती हूँ क्योंकि मुझे ऐसा करना अच्छा लगता है. क्या मस्त चूचियां थीं उसकी … और मस्त गुलाबी निप्पल एकदम हार्ड हो गए थे.

मैंने बोला- भाभी क्या ग़लत किया?भाभी बोलीं- चलो रूम में चलो, कुछ बताती हूं. मेरा उसे दूर से देखना … और उसका एक बार अपने मम्मों की घाटी का दिखाना. उनके व्यवहार से ज़रा भी यह नहीं लग रहा था कि उन्हें मुझमें कोई रूचि है.

इंदु और मुझे दोनों को बहुत मजा आ रहा था।अचानक इंदु ऊपर से उठ के मेरे मुँह पे आकर बैठ गयी और चुत को जोर जोर जोर से मुँह में रगड़ने लगी.

बीएफ फिल्म हिंदी में वीडियो में: इसके कुछ पल बाद हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और उसके बाद उन्होंने मुझे अपने ऊपर आने के लिए बोला. मैं तो उनके इस तरह अपने बदन को चाटने से मचल उठी, मुझे इतनी गुदगुदी हो रही थी कि मैं बार बार कसमसा रही थी, ज़ोर ज़ोर से हंस रही थी और प्रोफेसर साहब को रोक भी रही थी.

भाभी बीच बीच में कहे जा रही थीं कि अमित ये कैसी होली खेल रहे हो … छोड़ दो मुझे … आह ऊऊ यार मत करो … कहीं तुम्हारे भैया ऊपर न आ जाएं … आआह. वो मेरे ऊपर ही बैठे बैठे अपने मुँह को मेरे लंड की तरफ को घुमा चुकी थी और चुत को ऊपर नीचे कर रगड़ते हुए ‘ओह्ह आह …’ की मादक सिसकारियां निकाल रही थी. रिया लंड चूसने में बड़ी माहिर है, उसने मेरे सामने ही एक बार ग्रुप सेक्स में दो के लंड एक साथ चूसे थे.

मैंने भाभी से कहा- भाभी! लता भाभी की बात आप अपने तक ही रखना और हो सके तो उस लड़की सोनू से भी कहना कि वह किसी से न कहे.

उसके ऊपर लेटे लेटे मिशनरी पोजीशन में ही थोड़ा अपने चूतड़ों का दबाव डाला, तो लण्ड अंदर जाने लगा. उसने किसी बच्चे की तरह नीना को अपनी गोद में उठा लिया और फ्रंट पोज से उसी पुराने अंदाज में पेलता रहा. ”आपने इतना मजा दिया तो मेरा भी फर्ज है आपको मजा दूँ … लाइये देखूं तो सही आपका कैसा है … अभी तक छुपा कर रखा हुआ है.