ई-मेल बीएफ चाहिए

छवि स्रोत,पंजाबी सेक्सी मूवी एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

जानवरों की बीएफ दिखाओ: ई-मेल बीएफ चाहिए, मुझे दर्द हो रहा था, मेरे मुंह से ‘आहह हहह बाबू … आराम से … आहहह हहह!’ निकल रहा था.

सेक्सी विडीयो 2021

यह प्लानिंग मैंने उसी दिन शुरू कर दी थी जिस दिन मुझे पता चला था कि मेरे घर पड़ोस वाले घर में शादी होने वाली है. जबरदस्त हिंदी सेक्सीअब तो हम दोनों जॉब की वजह से अलग हो गए हैं, लेकिन छुट्टियों में हम दोनों किसी न किसी जगह घूमने जाते हैं और गांड चुदाई का मज़ा लेते हैं.

मैं इस निकाह से खुश नहीं थी क्योंकि मुझे खूबसूरत शौहर चाहिए था पर वो नहीं मिला. punjab सेक्सी वीडियोमैंने उससे पूछा कि क्या हुआ … नींद नहीं आ रही है क्या?वो दबी आवाज़ में बोला- मुझे ठंड ज़्यादा लग रही है.

” ज्योति ने वैसे ही शर्म से अपना कन्धा नीचे किये हुए कहा।पोर्न हिंदी स्टोरी अगले भाग में जारी रहेगी.ई-मेल बीएफ चाहिए: वॉयलेट- वो बन्दा दूसरी लड़की के साथ उसके बैडरूम में सेक्स कर रहा था, जब मैं उसके बैडरूम गई … उसे सेक्स करते देखने के बाद मैं उसको वहीं ब्रेकअप बोल कर आ गई.

वैसे रात को तो मैं कोई मेकअप वगैरह नहीं करती, पर आज पता नहीं क्यों … मन कर रहा था कि पूरी दुल्हन की तरह सजूं जेठजी के लिए!पर इतना सब करना मुझे ही ठीक नहीं लगा इसलिए मैंने हल्का सा टचअप किया और बाहर आ गयी.जिस दिन से मैंने तुम्हें देखा था उसी दिन से मैं तुमको पाने की कोशिश कर रही थी रोहन.

सेक्स व्हिडिओ सेक्स सेक्सी - ई-मेल बीएफ चाहिए

वो भी मेरी सारी बात सुनता था और मुझे समझाता था और कहता था कि वो आशीष और मेरे बीच में जो गलत फहमी हो गई है वो भी दूर कर देगा.बॉस ने मेरे मुँह में मुँह डाल कर अपनी कमर को तेज तेज चलाना शुरू कर दिया, जिससे गांड में भी जल्दी जल्दी लंड घुसने लगा.

पर मैं नहीं माना, मैं उन्हें किस करते हुए बोला- जान और थोड़ा सा सहन कर लो. ई-मेल बीएफ चाहिए मैंने गाड़ी एक शेड के नीचे रोक दी और वहां पर रुक कर बारिश रुकने का इंतजार करने लगे.

यहां नीचे से मैं उसकी चूत को जितना ज्यादा हो सकता था, फैला कर उसमें अपने जीभ और नाक डाल रहा था.

ई-मेल बीएफ चाहिए?

वो अब तक इतनी गर्म हो गई थीं कि किस करते वक्त ही आवाजें कर रही थीं. एक रविवार मेरी बेटी मुझे बता कर अपने बॉयफ्रेंड के रूम में उससे मिलने गयी. लंड में हल्का सा तनाव आते ही वो फिर से नीचे बैठ गई और मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी.

मुझे अंदाजा हो गया कि शायद इसी लिए इसने मुझे ऐसे वक्त पर बुलाया है जब बच्चे भी घर पर नहीं हैं. हमम्म्म … उफ्फ़ … करते हुए उसने अपनी चुत में ही लंड को फंसाए हुए ही अपनी रफ्तार को एकदम से धीमे कर दी. दोस्तो, मेरी यह एक खास बात है कि मैं चैट में ही औरत की चूत से कामरस निकालने की खूबी रखता हूं बशर्तें कि मैं जैसा कहूं सामने वाली महिला वैसा ही करे.

शान ने हाथ बढ़ा कर माँ की ब्रा को खींचते हुए फाड़ दिया और उनको अपनी तरफ खींच लिया. शुरू में तो रीता मना करने लगी लेकिन फिर मैंने उसको पटा लिया और वो उस लड़के यानि कि मेरे साथ बात करने के लिए रेडी हो गई है. कुछ पल के बाद मैं उसके ऊपर से उठा, तो भाभी जी उसके गले लग गईं और उसे किस करते हुए बोलीं- कैसा लगा मेरे राजा का लंड?मोना ने शर्म से आंखें झुका लीं.

एक दिन में मैंने उनसे मजाक करते हुए कहा- मेम आज हम दोनों कहीं बाहर डिनर करते हैं. खाना बनाने वाले अलग से बुलाए गए थे और फार्म हाउस के नौकर चाकर भी हमारी सेवा में लगे थे, इसलिए हमें कोई चिंता नहीं थी.

सबने मस्ती के साथ खाना खाया और फिर कुछ लोग घर की ओर रवाना हो गए और ज्यादातर लड़के लड़कियां अपनी चुदाई कार्यक्रम के लिए चले गए.

बोलो मंजूर है?Nangi Photoउसकी बात सुन कर मैंने बिना कुछ सोचे समझे ही हां कर दी.

फिर मैं उनके पास जाने का बार बार बहाना ढूँढता रहूंगा और उनके पास बार जाऊंगा भी. अचानक से उन्होंने एक तेज़ आवाज़ निकली और अपने हाथों से मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबा दिया. कुछ देर तक मैं धीरे-धीरे अपने लंड को उसकी गांड में ऐसे ही फंसाये हुए उसको किस करता रहा.

जाम के साथ नमकीन काजू, कटलेट्स, हनी चिल्ली पोटैटो, यानि कुल मिला कर पेट भरने का पूरा इंतजाम. कुछ पल बाद मैंने फिर से दूध को मसला, तो मोसी भी मजा लेते हुए सिसकारने लगीं. इसी मौके का फायदा मैं और नील उठाना चाह रहे थे कि जैसे हमें उन दोनों के स्तन और गांड को देख कर जो उत्तेजना हो रही थी वैसे ही वो दोनों भी हमारे नंगे जिस्मों को देख कर उत्तेजित होकर खुद ही इस अदला बदली के खेल को अंजाम तक पहुंचा दें.

मैं बोली- जीजा, अगर आपने अपना वादा पूरा करते हुए मेरी शादी आशीष के साथ करवा दी तो जो आप कहोगे मैं वो सारी उम्र करने के लिए तैयार हूं.

कई दिनों तक मैंने अपनी चूत और गांड की सिकाई की तब जाकर मुझे आराम मिलने लगा. उनके मुँह से इस समय एक मदहोश और चुदास से गर्म औरत की मादक आवाजें भर निकल रही थीं. अब कुछ ही मिनटों में चार जवां कलियाँ पानी में अठखेलियाँ कर रही थीं.

वैसे चुदना तो मैं पहले से ही चाह रही थी लेकिन उनके मजबूत हाथों ने जब मेरी चूचियों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाना और मसलना शुरू कर दिया तो मेरे अंदर भी सेक्स की इच्छा तेज होने लगी. दीपा जब हॉस्टल में थी तो उसने एक पोर्न फिल्म देखी थी जिसमें दोस्तों का एक ग्रुप घूमने गया था और वहां सभी ने ग्रुप सेक्स किया. ये कहते कहते उन्होंने मेरा एक हाथ अपने मम्मों पर रखा और मेरे हाथों के ऊपर अपना हाथ रखकर अपने मम्मों को जोर से दबा दिया.

जब मैंने पहली बार तुमको सोनम दीदी की शादी में देखा तो मुझे तुम बहुत अच्छे लगे थे.

फिर मैंने उनकी गांड में अपना पूरा लंड घुसा दिया और धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा. मैं पागल हो गयी हूं भाई की तड़प में … शायद उसकी कमी और सेक्स के लिए मेरी तड़प ने मुझे ऐसा सोचने पर मजबूर किया है.

ई-मेल बीएफ चाहिए मैं भी उसके चूचे देखने के लिए एक्साइटेड हो रहा था लेकिन उसके लिए मुझे उसको पहले गर्म करना था. बेड पर मेरा और मेरे हस्बैंड का किसी दूसरे मर्द का नाम सुनते ही गर्म हो जाना उनका मुझे खूब चोदना और मेरा उनसे खूब चुदना।अब मैं और मेरे हस्बैंड सच में किसी को ढूंढने लगे जिस पर हम भरोसा कर सकें और जो हमारी जरूरत को पूरा कर सके.

ई-मेल बीएफ चाहिए बस मैं भाग कर ड्रेसिंग टेबल से तेल की बोतल उठा लाया और उनकी गांड पर अच्छे से तेल लगा कर गांड को चिकना कर दिया. मयूर से मेरा मिलना अब बहुत ही कम मिलना हो पाता था, परंतु हम दोनों के बीच मैसेज वगैरह तो पूरे दिन चालू ही रहते थे.

मैंने मां से कहा- मां मुझे पैसे की जरूरत नहीं है, मगर जो मैं मांगने जा रही हूं उसके सामने मेरे लिए पैसा कुछ भी नहीं है.

काजल अग्रवाल की ब्लू सेक्सी

लेकिन जब उसकी नजर मुझ पर पड़ी, तो शर्मा कर वह भाभी के घर में अन्दर भाग गई. तब तक ससुर तेल की बोतल लेकर आ गए और मैंने ढेर सारा तेल अपने मोटे लंड पर लगा लिया. मैंने उसकी टांगों को पकड़ कर उठा लिया और उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

मुझे ये तो नहीं पता कि मैं अपना दिल हारने लगी थी या नहीं, पर इतना जरूर जानती हूं कि अंत में परमीत ताश के खेल में हार गई थी और उसके हारते ही कोमल ने एक बीयर की बोतल को परमीत के सामने रख दी. इतना सुनकर तो मैं संदीप पर मर ही मिटी, क्योंकि आप भी जानते ही हैं कि एक लड़की चुदना तो बहुत बुरी तरीके से और किसी खिलाड़ी से ही चाहती है, पर जब भी प्यार का मामला आता है, तो उसकी पहली पसंद कोई अनाड़ी और शरीफ इंसान ही होता है. ऐसे ही कोई पन्द्रह मिनट तक हम आगे पीछे होते रहे और दीदी की चुत को भोसड़ा बनाते रहे.

फिर वन्दना ने मेरा वी शेप का अंडरवियर उतार कर मेरा लन्ड अपने पेग में डुबो दिया.

मैंने तीनों के पेग बनाये और उनमें लिम्का डाला जो हमने रास्ते लिया था. इसके बाद वो मेरे पीछे आया और मेरे बूब्स पीछे से हाथ में पकड़ के दबाने लगा. फिर नीता प्रिन्स का 7 इंची लंड चूसने लगी तो मैं उसकी पुसी को चाटने और जीभ से चोदने लगा.

मैं बोली- जीजा, अगर आपने अपना वादा पूरा करते हुए मेरी शादी आशीष के साथ करवा दी तो जो आप कहोगे मैं वो सारी उम्र करने के लिए तैयार हूं. जब वह जाने लगी, तब मैंने पहली बार देखा कि उसकी सेक्सी गांड कितनी बड़ी थी. वैसे मैं कोशिश करूंगा कि डायरेक्टर का मूड अच्छा रहे और मुझे ट्रेलर देखने को मिलते रहें.

दो चार धक्कों के बाद वो फिर से भाभी की चूत में झड़ गया और ऐसे ही भाभी के नंगे जिस्म पर लेटा रहा. नमस्कार दोस्तो, मैं मधु आप सभी का अपनी आत्मकथा में एक बार फिर स्वागत करती हूं।आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानी के पहले भागपुराने सेक्स पार्टनर से चुदाई करवा ली-1पढ़ा कि रोहित ने मुझे गर्म किया और जब मैं चुदने वाली ही थी किपहले तो मैं प्यासी थी लेकिन अब लन्ड चूत में लेने के लिए व्याकुल हो गयी थी। मेरी हालत तब ऐसी हो गयी थी जैसे किसी ने जल में से मछली को निकाल कर गर्म रेत पर रख दिया हो.

इतना सा हमला करके मैंने लंड को फिर से उसकी गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया. उनके कान की लौ को अपने मुँह में लेकर उसके कानों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. कई बार तो उनको दूर से ही देख कर अपने कमरे में छिप कर लंड को मसलता रहता था.

वहां से बढ़ते बढ़ते दोनों मम्मों के बीच में तथा साथ ही साथ उनके ब्लाउज और ब्रा को भी खोल दिया.

कभी वो लंड पर नीचे ऊपर तक जीभ फिराती, तो कभी वो सुपारे के चारों ओर जीभ घुमाती. जिस नजारे का हम दोनों दोस्त बेसब्री से इंतजार कर रहे थे अब वह हमारे सामने शुरू हो ही गया था. मैंने कहा- शालिनी जी मैंने तो सब कुछ देख लिया, अब अपनी चूत और चुचियों का दीदार करा भी दो.

तब साकेत भैया ने जल्दी से बेड पर बिछे चादर को निकाल कर दीदी को दे दिया और दीदी ने उस चादर को अपने बदन पर लपेट कर बाहर जाने के लिए दरवाजा खोला. फिर मैंने धीरे धीरे गौर किया कि मेरे मकान मालिक मुझे छुप छुप कर देखा करते हैं.

मैं देखता ही रह गया और उन्होंने एक ही झटके में अपना पहला पैग खत्म कर लिया. मेरे पति की फौज में नौकरी थी और उन्हें नौकरी करते हुए एक साल हो गया था. एक मर्द की जीभ को अपनी चूत पर पाते ही मेरी सीत्कारें निकलने लगीं- आहाह … अअहह … ऊऊम्म …विराट की चूत चटाई में मुझे बहुत आनन्द आने लगा.

पंया सेपट की सेक्सी

पूजा भी अभी उसी जोश को महसूस कर रही थी, आतुर पूजा ने मेरे लन्ड को एक बार फिर से पकड़ लिया और हिलाने लगी लन्ड परायी स्त्री की छुअन कड़क होना लाजमी था.

फिर मैं उनके गदराए हुए यौवन पर ऐसे ही हाथ लगाता जाऊंगा और एक हाथ से उनके मम्मे मसल लूंगा. झड़ने के बाद उसने मेरे लंड पर लगा सारा रस पी लिया और लंड का लॉलिपॉप की तरह चूस चूस कर फिर से खड़ा कर दिया. सोनिया- बहुत बदमाश हो तुम … मैं पहले से यहां लगभग नंगी लेटी हूं और ऊपर से तुम चाहते हो कि मैं तुम्हें खुल कर बताऊं.

मैंने पूछा- और एक बार एंजाय करने का मन है क्या?वो बोला- अगर आपका और भाभी जी का मन हो तो बिल्कुल!मैंने बोला- हाँ हमारा तो मन है. यही हम चारों के साथ हुआ क्योंकि जहां हम पहले चट्टानों के पीछे छुपने का सोच रहे थे वहां अब हालत यह थी कि हम नाम मात्र के कपड़ों में ही चूमा-चाटी कर रहे थे. इंडियन हॉट आंटी सेक्सी वीडियोमैंने देर ना करते हुए उनकी पैंटी को निकाल दिया और अब मेरे सामने वो चीज थी, जिसका मुझे कबसे इंतजार था.

मासी चिल्ला दीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई!मैं जरा रुक गया और उनके मम्मों को चूसने लगा. यदि तुम कहते कि तुमको उसकी चूत लेनी है, तो खुद उसको नंगी करके तुम्हारे लंड के नीचे ला देती.

मैंने भाभी को दस बजे से एक बजे के बीच का टाइम दिया था मिलने के लिए. मगर वो साले बड़े प्रोफेशनल थे, साले सब के सब ‘सॉरी मैम … सॉरी मैम!’ करके निकल जाते। किसी मादरचोद ने हमारी फुद्दी नहीं मारी।जब कोई जुगाड़ नहीं बना और हम दोनों को नशा भी बहुत चढ़ गया तो हम दोनों एक दूसरी को ही अपनी बांहों में भर कर बेड पर लेट गई। पहले तो एक दूसरी को देखा, और फिर कविता ने मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये. वो बोले- क्या तुम आज रात मेरे दोस्त से चुदवा लोगी क्योंकि आज मैं तुम्हारी बहन को चोदना चाहता हूँ.

सोनिया- नहीं कुछ मत पहनो अंडर गारमेंट्स में ही रहो … बल्कि अपनी बनियान भी निकाल दो. पर आराम से, जल्दबाजी मत करना!”हओ”गौरी को अपनी गोद में उठाये हुए मैं बड़े वाले सोफे की ओर आ गया। गौरी ने अपने घुटने मोड़ दिए और डॉगी स्टाइल में हो गई। लंड थोड़ा तो बाहर निकला था पर आधा तो अन्दर ही फंसा रहा था।कहानी जारी रहेगी. उसके गांव के त्रिपाठी परिवार के यहां शिल्पा दीदी बहू बन कर जाने वाली थी.

अब मेरे हाथों को बुआ की जांघों के बीच में चूत की गर्मी भी महसूस हो रही थी.

और बहुत रोई।फिर उस दिन के बाद से मेरा प्यार से भरोसा उठ गया और मैंने उसी दिन प्यार करने वाली फेहमिना को खत्म कर दिया और एक नया जन्म लिया. वो मेरे बाजू सट कर बैठी थी और हमारी जांघें एक दूसरे से सटी हुई थीं.

मैं समझ गयी कि अब जेठजी का भी काम तमाम होने वाला है, जैसे जैसे जेठजी का टाइम नज़दीक आ रहा था, वैसे वैसे ही उनके धक्कों की स्पीड भी बढ़ती जा रही थी. सच बताऊं दोस्तो … उसके चुचे बिल्कुल रुई की तरह नर्म और सफेद थे और उनका निप्पल हल्का ब्राउन रंग का था. मैं बोली- क्यों नहीं, अगर आपको अच्छा लगता है तो मुझे कोई प्रोब्लम नहीं!बॉस खुश हो गए और मेरे होंठों पे एक चुम्मा किया और कहा- तुम कितनी अच्छी हो यार!सब लोगों को बॉस ने वहीं रोका और सबके लिए एक एक गिलास वाइन और बनाई और अब इस बार बॉस सोनम के पास चले गए, अपने हाथ से उसको वाइन पिलाने लगे और उनका दोस्त मेरे पास आ गया और मुझे वाइन पिलाने लगा.

फिर मैंने खड़े होकर उसकी चूत में लन्ड पेल दिया और लगा धक्के मारने! नीरू के चुचे हवा में झूलने लगे. मगर मैं अपना काम करता रहा।जब तक मेरा पानी निकला तब तक वो बिल्कुल निढाल होकर लेटी रही और मेरा पूरा पानी उसकी गांड में जाता रहा।इस तरह उस रात मैंने उसकी चुदाई की।मेरी रीयल सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]. जब मेरी सारी बात खत्म हो गई तो वहां से आवाज आई कि मैं आशीष नहीं उसके चाचा का लड़का विजय हूं.

ई-मेल बीएफ चाहिए उसके बाद वो दोनों उठे और अपने कपड़े पहनते हुए भाभी कहने लगी कि अब उनको घर जाना होगा. मैंने पूछा- इससे मुझे क्या मिलेगा?वो बोलीं- मैं तेरी हो चुकी हूँ, बोलो मेरे जानू को क्या चाहिए?मैंने कहा- जो तुम्हारी मर्ज़ी हो, भेज देना.

इंडियन इंडियन इंडियन सेक्सी

पापा ने मेरी चूचियों को छोड़ कर अब फिर से मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. पर अब वो मूसल सा लंड उसके हाथ में था और उसने उसका सुपारा चाटना शुरू किया. उसके बाद मैंने धीरे-धीरे लंड को सरकाते हुए उसकी गांड में अपना लंड पूरा का पूरा धकेल दिया.

थोड़ी ही देर में मेरा लंड चाची को याद कर करके खड़ा हो गया और मैं चाची के आने का इंतजार करने लगा. अब कभी मैं उनकी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूस रहा था, कभी मेरी जीभ को चूस रही थीं. पहला करवा चौथ कैसे करेंहालांकि उसकी चूत में दर्द हो रहा था लेकिन फिर भी वो मेरे लंड को लेती रही.

मैंने उससे कहा- आज तुम मुझे ना रोको … जो मेरा मन कर रहा है, करने दो.

पर जल्दी ही पीछे की ओर झुक कर खड़े होने की वजह से पीठ में अकड़न सी महसूस होने लगी. फिर श्वेता दीदी दीदी को छेड़ते हुए बोली- ऐसे भी तो सब खोलना ही पड़ेगा … कुछ भी पहन लो.

तुम जब नहा कर टाइट पेटिकोट में घूमती हो तो ऐसा लगता है जैसे पेटिकोट फाड़ कर बाहर निकल आएँगे. 5 इंची डंडे को।अब तक मामी ने लंड को पकड़ा नहीं था तो मैंने अपनी साँसें काबू में रख के धीरे से उनकी कान में कांपती आवाज़ में ‘प्लीज …’ कहा. उसने नजर झुका ली तो मैंने उससे कहा- कुछ तो बोलो ना?उसने धीमी आवाज में ही आंखें झुकाकर कहा- हां.

चुत का कुछ रस मेरे पेट में जा रहा था, तो कुछ लार के साथ नीचे बह रहा था.

मैंने दीदी के कान की लौ को चूसते हुए उनके कान में कहा- दो लंड लोगी अपनी चुत में?उन्होंने भी हां में जवाब दिया. अगले कुछ ही मिनट के अंदर हम लोग समुद्र की उफान भरती हुई झाग वाली लहरों के बीच में थे. ”मी ओर माई बॉडी?” (मुझे या मेरे जिस्म को) मैंने नाराजगी में लिख दिया.

अनु की सेक्सी वीडियोमैंने अपना चेहरा ऊपर करके जेठजी को देखना चाहा कि उससे पहले उनका लंड मेरी आंखों के सामने आ गया, जो अभी भी जेठजी के शॉर्ट्स में झूल रहा था. हमें पता था कि सीमा इस अदला-बदली के लिए इतना जल्दी मान जाएगी क्योंकि एक तो रकुल ने उसे इतना चिढ़ा दिया था कि वह मन ही मन यह सोच रही थी कि उसे रकुल से किसी भी प्रकार जीतना है.

जवान लड़की की सेक्सी बीपी

थोड़ी देर तक दीदी की चुत चाटने के बाद साकेत भैया उठ कर बैठ गए और उन्होंने दीदी को भी उठा कर बैठा दिया. तो वो बोली- आप ब्यावर से ही हो क्या?मैंने कहा- नहीं … मैं अजमेर से हूं. रिया ने उसे 2-4 बार चूस कर बाहर निकाला और उससे फिर एक बार बड़ी हवस भरी नजरों से देखा.

शायद यह उन सब लंडों से ज्यादा लम्बा और मोटा था, जो मैंने आज से पहले अपनी चूत में लिए थे. ”पी रखी थी … ओ हां कल रात मैं पार्टी में थी फिर!”चल ज्यादा जोर मत डाल दिमाग पर … उठ जा, कॉलेज नहीं जाना क्या?”नो दीदी आई एम नॉट फीलिंग वेल. दोस्तो, यह मनमोहक और शानदार चुदाई की कहानी मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूं.

इधर मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए उसकी बीवी को अपनी गोद में उठा लिया और उसको आलिंगन करने लगा. मगर मैं तो तब तक किसी लड़की की चुत चाट सकता हूँ, जब तक वो पानी न छोड़ दे. अब मुझे पैसे चुकाने में कोई जल्दी नहीं थी क्योंकि मुझे भी मजा आ रहा था.

अभय ने मेरी चूत में लंड को पेल दिया और विवेक ने पीछे से मेरी गांड में लंड को डाल दिया था. मैंने जीजाजी से बात की तो एक बार तो उन्हें भी समझ में नहीं आया पर फिर वो बोले कि मैं कुछ करता हूं.

उन रसभरी पिचकरियों को रिया अपने गले से पेट तक जाते हुए महसूस करने लगी.

मैंने उनको समझाने की कोशिश की कि ये सब ठीक नहीं है मगर पापा मेरी बात पर ध्यान ही नहीं दे रहे थे. त्याला दाखवामैंने भी तुरंत उनकी दोनों चूचियों को अपने हाथों में भर कर भींचना शुरू कर दिया. सेक्सी व्हिडिओ दिखाओ हिंदी मेमैंने तुरंत अपने लंड के टोपे का मुंह खोल कर उसके छेद पर अड़ा दिया और हल्के हल्के धक्के ऊपर नीचे देने लगा. मेरे होंठों के बीच में फंसा बर्फ का टुकड़ा उसके चूचों पर ठंडक प्रदान करने का कार्य कर रहा था.

फिर नीता प्रिन्स का 7 इंची लंड चूसने लगी तो मैं उसकी पुसी को चाटने और जीभ से चोदने लगा.

इतना कह कर मैंने उसके चूचों को जोर से भींच दिया और उनको अपने दांतों से काटने लगा. समय ज्यादा हो जाने की वजह से मैंने उनको रोका और अपने कपड़े पहन कर वहां से निकल गया. नाश्ते में मनोज और सुनील बैठे, दीपा गर्म गर्म कटलेट सेक रही थी तो वो नहीं बैठी.

भाभी बोलीं- हां मेरे राजा मैं तुम्हारे लिए कुछ भी करने को तैयार हूं. महेश ने अपनी बेटी ज्योति के चूतडों को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से धक्के मारते हुए कहा- ज्योति बेटी. अपनी जीभ से उनके गालों के पास हल्के से चाटना शुरू कर दिया और फिर कान के पास चला गया.

मयूर सेक्सी वीडियो

उम्मम्मह सर …स्स्स्सस आआआ मर गई!”सर मेरी चूत को अपने मुँह में भर के चूसने लगे और जीभ अंदर डालने लगे. मैंने सारा पानी उसकी चूत में छोड़ दिया और वो मुझे फिर होंठों पर किस करने लगी. मगर वह ऐसा नहीं कर सकता था।महेश मन ही मन में दुआ कर रहा था कि उसकी बेटी एक दफ़ा सीधी हो जाये ताकि उसे अपनी बेटी की असल जन्नत का दीदार हो सके। महेश सोच रहा था कि जब उसकी बेटी की गांड ही इतनी प्यारी है तो उसकी चूत और चूचियों का क्या आलम होगा और यही सोच कर उसका हाथ अपने आप उसकी धोती के अंदर अपने लंड तक पहुंच गया था.

पांच मिनट ये सब करने के बाद अचानक उसने अपने हाथों से मेरे बालों को पकड़ लिया.

जब मैं झुक कर उनके बॉस के लिए पेग बनाती थी तो मेरे बूब्स देखकर उनके बॉस की आंखों में चमक आ जाती थी.

उठ इशिता, कहां से आ रही है, तूने इतनी क्यों पी रखी है?”बूब्स … बिग बिग बूब्स. कुछ देर बाद उस लड़के ने मुझसे धीरे से पूछा- क्या आपका कुछ मन कर रहा है?मैं कुछ नहीं बोला. जंगली सेक्सी वीडियो देहातीविनय ने अपना टी-शर्ट को निकाल दिया और मैंने उसके पैंट को खोल दिया, तो उसने वो भी निकाल दिया.

मैंने कभी सपने में भी नहीं सोच था कि पहली चूत इस तरह मिलेगी और इतनी स्पेशल होगी. थोड़ी देर बाद मुझे लगा कि एक बार सायरा का पूरा ध्यान मेरे लंड पर है। मैंने फिर अपनी आंख को थोड़ा खोला और फिर से देखने लगा. अब आगे की कहानी मेरे यार रजत की जुबानी:मेरा मन था कि मैं इन हसीन लम्हों को यादगार बना दूं.

मैं भी उसके चूचे देखने के लिए एक्साइटेड हो रहा था लेकिन उसके लिए मुझे उसको पहले गर्म करना था. तेजी से अपनी जीभ को मेरी चूत में मेरे पति ने अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

लेकिन जो था, यही था और बहुत चाहते हुए भी वो खुद की कोई मदद नहीं कर सकती थी.

मैं आगे हाथ बढ़ा कर दीदी के मम्मों को भी दबा रहा था और साथ साथ उनके गले पर किस भी करता जा रहा था. वॉयलेट एकदम से तड़फ गई … उसने मेरे होंठ काट लिए … मुझे दर्द होने लगा. इस तरह से मैंने रात भर उस आंटी की चुदाई की और फिर हम दोनों नंगे ही सो गये.

किन्नर सेक्सी वीडियो ओपन मेरी चूत को चोदते हुए उसने अपना लंड मेरी चूत से बाहर निकाला और उसके बाद अपनी जीभ मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को चाटने लगा. इस बार वो नीचे लेटा रहा और मुझे अपने लन्ड पर बिठाया और मैं उसके लन्ड पर उछलने लगी.

मैंने एक उंगली सेजल दीदी की गांड के छेद में डाल दी, तो वो चिहुंक उठीं और उसका भी मज़ा लेने लगीं. चुत चुदायी भी एक ऐसा नशा होता है … जो लंड के स्खलन के बाद ही उतरता है. इस तरह हम दोनों में बड़े ही कम समय में एक दोस्ताना रवैया बन गया था, जोकि एक परफेक्ट सेक्स के लिए बहुत जरूरी होता है.

भाभी देवर की सेक्सी वीडियो जबरदस्ती

मैंने ही आगे बढ़ते हुए पूछा- क्या हुआ मोना? इतना क्यों शरमा रही हो?ये कह कर मैंने उसे आंख मार दी. उसके होंठों पर मुस्कुराहट थी और प्रेम भरी उसकी तिरछी नजर मुझ पर ही टिकी थीं. इस दौरान जिस लड़की को जिस लड़के के साथ रात गुजारनी है वो उसके कान में ‘आई लव यू’ बोल देगी और अपना कोटेज नंबर बता देगी.

बॉस ने मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अच्छे से फैला दिया, जिससे विनय का लंड आसानी से मेरी गांड में घुस जाए. मैंने उसे कुतिया बनाने के लिए कहा, तो वो अपने सिर को नीचे तकिये में फंसा कर अपनी गांड उठा कर लेट गई.

धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा तो मैंने कहा- सलीम जोर जोर से मेरी गांड मारो!और मैं मजे में आकर ‘आह आहह हह’ करने लगी.

लेकिन मैंने मासी की तरफ देखा तो मुझे उनकी तरफ से कुछ भी विरोध नहीं दिखा. उसके बाद के दो तीन दिनों तक व्यवस्था को ठीक करने और समीक्षा चर्चा, हंसी मजाक और खर्च का हिसाब करने में निकल गया. मैं भी हामी भरते हुए कह दिया कि तो फिर पक्का रहा, मैं यहीं पर उसकी सील भी तोड़ दूंगा और आपकी भी चुदाई करूंगा.

शायद अब दीदी को भी मज़ा आने लगा था, वो भी आंखें बंद करके मजा लेने लगी थी. वो कहने लगी- प्लीज़ जल्दी करो मेरी जान … जल्दी से अपना ये लंड मेरी चुत में डाल दो … वरना मेरी चुत में से फिर छूट हो जाएगी … अब मुझसे सब्र नहीं होता … प्लीज़ जल्दी डाल दो ना. रिया किसी बेबस लड़की की तरह, जो कि वो बिल्कुल भी नहीं थी … उसके लंड के झटकों को सहने के साथ उसके मजे ले रही थी.

जब साक्षी ने मनोज को देखा तो उसका चेहरा शर्म से लाल हो गया और अपनी साड़ी के पल्लू से अपने स्तनों को ढक लिया.

ई-मेल बीएफ चाहिए: मेरा ऐसा मानना है कि हर बार हम लोगों ने अपने बदले पार्टनर के साथ एन्जॉय किया, मतलब हम आपस में सभी एक दूसरे के साथ कम्फर्ट फील कर रहे हैं, अब शायद हम अपने मन में यह तय कर चुके होंगे कि यदि हमें रात भर किसी के साथ रहना है तो हमारा पार्टनर कौन हो. उनके होंठों के रस को पीने लगी और वो मेरे होंठों को काटने लगे तो कभी गर्दन पर काटने लगे और चूसने लगे.

उसने कहा- अगर मैं तुमसे चार-पांच लोगों के साथ सेक्स करने के लिए कहूं तो तुम कर लोगी?मैंने कहा- अगर तुम चाहते हो कि मैं किसी और के साथ करूं तो मैं वो भी करने के लिए तैयार हूं. उसके बाद सुहास ने मुझे और 3 बार चोदा, पर गांड मरवाने के बाद मैंने सुहास का लंड एक बार भी अपने मुँह में नहीं लिया. अब चाची भी मस्ती से बोले जा रही थीं- आंह … चोद दे मुझे … उंहह ह्ह … हां चोद देईई ऊऊह ओह्ह्ह यस यस … दीपू तुमने आज मेरी गांड का भी उद्घाटन कर दिया … मुझे खुशी इस बात की है कि ये काम तूने किया है.

मेरी मासी बाथरूम में जाकर फ्रेश होकर आ गई थीं … और कपड़े पहन रही थीं.

कोई 8-10 धक्कों के साथ मैंने सुनीता की चूत में पानी छोड़ दिया और उसी पर लेट गया. बीच में मौका देखकर वो मेरे पास आ रही थी, हर चक्कर में वह मुझे प्यार से खूब लंबा चूमकर जा रही थी, कभी सेंडविच लायी, कभी कॉफी लायी. उसके मुँह में जॉली का लंड बड़ा होता महसूस हो रहा था, वहीं उसकी मोटाई भी रिया के मुँह में जैसे तैसे समा रही थी.