बीएफ हिंदी चूत

छवि स्रोत,सेक्सी इंग्लिश वीडियो फुल एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बॉलीवुड सेक्सी वीडियोस: बीएफ हिंदी चूत, और चाची ने हाथ बढाकर मेरे लंड को थाम लिया और दूसरे हाथ से अपनी चूत मसलने लगी।मम्मी चिल्लाई- आरती… बंद करो ये सब!चाचू आगे आये और मम्मी का हाथ पकड़ कर बेड पर बिठा दिया और कहा- अरे भाभी, आप यहाँ आओ और थोड़ा आराम करो.

नया हिंदी सेक्सी व्हिडिओ

मामी ने मुझे इशारा किया तो मैंने झट से रेणु की एक चूची अपने मुँह में लेकर पीना शुरू कर दी; उसकी दूसरी चूची अर्पणा के मुँह में थी. रेप की सेक्सीउसका लंड चिपचिपा गया था, जिससे मेरी उंगलियां भी लिसलिसा गईं और मेरा मन उसके प्रीकम को चाटने का हुआ.

मैंने फिर उसकी पेंटी को नीचे किया और उसके पैर थोड़े फैला कर देखे, एक उभरी हुई चूत जिस पर बीच में चीरा लगा हुआ… चुत के होंठ आपस में चिपके हुए, चूत में उंगली भी ना जाए, चूत पे छोटे छोटे बाल आधा सेंटीमीटर जितने लम्बे!मैंने कविता की चूत की दरार में जीभ लगाई तो वो ऊपर को फुदक पड़ी. bf.xx सेक्सीआज इन डांगरा की गैल्या सोवेगा कै(आज इन भैंसों के साथ ही सोएगा क्या)”वो मुझे पीछे धकेलता हुआ खुद आगे होकर आवाज़ लगाकर बोला- आया मां!भैंसों के आगे सानी(चारा) डाल दूं.

उफ्फ्फ… आह… अम्म आह मम्मी मारा डाला… क्या मजा आ रहा था…मम्मी चूत रगड़े जा रही थी और दोनों से मेरी चूची दबाये जा रही थी, कभी मेरे ओंठ चूस रही थी और तो कभी मेरे गालों को काट रही थी.बीएफ हिंदी चूत: वो जिसको सबसे पहले पकड़ता, उसे उस बच्चे को अपनी पीठ पर बैठा कर काफी दूर तक घुमाना पड़ता था, इसलिए सभी बच्चे ऐसी जगह जाकर छुपते कि जल्दी से नहीं मिल सकें.

सुमन भाभी के पति रमेश भैया एक बैंक में ब्रांच मैनेजर थे, उनके ससुर एक आयुर्वेद के डॉक्टर थे और उनकी सासू माँ एक प्राइवेट स्कूल में टीचर थीं.उसने बेल्ट छोड़ दिया, अपना एक हाथ कमर पर रखते हुए स्टाईल में और हवस के स्वर में बोला- तो ले ना जान.

सेक्सी वीडियो जंगल की हिंदी - बीएफ हिंदी चूत

तो मैंने एक दिन नैना से पूछा कि आरती इतनी शांत और चुपचाप सी क्यों रहती है?नैना ने मुझे बताया कि आरती का एक बॉयफ्रेंड था अवि, वो उस को छोड़ कर चला गया.उसकी भाभी ने मेरी तरफ देखा- इसे पहली बार देखा, ये कहाँ से है?पूजा ने डरते डरते बताया- ये राहुल कुरुक्षेत्र से है.

मैं नीचे उतरी और किशोर को इशारे से नीचे बुला कर कहा- जल्दी सेफ जगह ढूंढो. बीएफ हिंदी चूत अपनी हवस के बस हो कर मैं कहां तक आ गया और अब क्या हो रहा है मेरे साथ… मुझे अपने आप से घिन्न हो रही थी और अपने गे होने पर भगवान को कोस रहा था.

मुझे इस बार का उस दिन एहसास हुआ कि मेरा एटीएम तो मेरी चड्डी में ही है.

बीएफ हिंदी चूत?

कभी कभी रीना को उसकी पहले दिन की चुदाई की वीडियो दिखा कर मैं आज भी उसे चिढ़ाता हूँ. वो मुझे देख कर बहुत खुश हुई थीं क्योंकि मैं उनके घर बहुत दिन बाद गया था. सुबह जब आँख खुली तो काम वाली लड़की चंदा, जिसके पास नीचे सीढ़ियों की एक चाबी होती थी, वह हर रोज़ की तरह कमरे में आ गई और उसने हम दोनों को बिल्कुल नंगे एक दूसरे की बाहों में देख लिया। वह हमें देख कर फ़ौरन बाहर निकल गई और किचन में काम करने लगी। परंतु जाते हुए कमरे से सारे बर्तन ले गई.

मुझे हमेशा अपने लंड पर घमण्ड रहा है परंतु उस हसीना की चूत, जांघें और उस की हाथी के सूंड के आकार जैसी गोरी टांगों को देख कर मेरे लंड का घमंड ख़त्म हो गया. पप्पू रूपा के हाथ को पकड़ के बोला- अब तेरी जैसी गरम माल मिले तो रहा नहीं जाता, इसलिए तेरा ब्लाउज खोलने लगा था. पार्क क्या था मोटे मोटे शीशम के पेड़ और नदी किनारे बहुत दूर तक जंगल सा फैला हुआ था.

फिर एक एक करके सभी सहेलियां झड़ कर अपने मुकाम पर पहुँच गई थीं और सभी पस्त हो गई थीं. वो औरत मेरे से बोली- मिस्टर संदेश, अगर आप बुरा ना माने तो क्या मैं अपनी प्राईवेसी के लिए आपकी आँख पर पट्टी बाँध सकती हूँ. अब हमारी ये भाई बहन सेक्स की बातें सुन कर बाहर खड़ी मीना की हालत और खराब हो गई थी.

कुछ देर तक नेहा ही वाशरूम से वापिस आई और उसने भी बताया कि उसने अपने बीएफ़ से चुदाई तो पहले भी की है, लेकिन इतना मजा कभी नहीं आया. हिमानी को भी भाभी ने मुझसे चुदवाया, यह अगली स्टोरी में लिखूंगा। हिमानी लाजवाब हुश्न की मलिका थी।मेरी सेक्स स्टोरी पर अपने विचार मुझे कमेंट्स द्वारा भेजें ताकि मुझे पता लगे कि आपको मेरी स्टोरीज पसंद आ रही हैं या नहीं!.

मैंने उठ कर देखा कि नेहा खाना लेकर आ गई है और साथ में उस नई लड़की को भी लेकर आई है.

यूनिफार्म के टॉप में ऊपर से ही उन दोनों के मम्मों को उछलते हुए देखने में ही मज़ा आ जाता था.

मैं उन दोनों से मिल कर बहुत खुश था और वो दोनों भी बहुत खुश लग रही थीं. उस्मान ने माया का चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पे अपने होंठ लगा दिए और चूसने लगा. पापा- अच्छा अगर ये बात है तो फिर मैं आज तुम्हारी माँग भर कर अपनी जीवनसंगिनी बनाऊंगा, उसके बाद लंड के पानी से तेरी चुत भरूंगा, कहो मंजूर है तुम्हें?सुमन- मतलब आप मुझसे शादी करोगे और बेटी से बीवी बनाओगे मुझे?पापा- अब प्लीज़ तुम मत कहना कि मैं अपनी माँ की सौतन नहीं बनूंगी.

सुबह 6 बजे पापा को फोन आया, हमारे गांव में मेरी छोटी चाची का देहांत हो गया है. मैं रुक गया… इन्तजार करने लगा कि मेरी बेटी की बुर का दर्द कुछ कम हो जाए. कभी कभी पहन कर हिलाता भी था। मैंने उनकी करीब 6 से ज्यादा पैंटी चुराई थीं।एक दिन जब मेरे घर में कोई नहीं था, मम्मी और दीदी बुआ के घर शादी में गई थीं.

बोली- तुझे कितना भरोसा है मुझ पर?मैंने कहा- तेरे घर पर कोई नहीं दिख रहा है, सब कहाँ गए?वो बोली- पापा काम पर गए हैं, रात के नौ बजे आएंगे.

दोस्तो! मेरा चुदाई का एक ही मकसद रहा है कि मुझे मजा आये या न आये परन्तु औरत को मजा आना चाहिए, वह बार बार झरती रहे और मजा लेती रहे और मेरी चुदाई को भूले नहीं. बोली- तुझे कितना भरोसा है मुझ पर?मैंने कहा- तेरे घर पर कोई नहीं दिख रहा है, सब कहाँ गए?वो बोली- पापा काम पर गए हैं, रात के नौ बजे आएंगे. मैंने भी अपनी स्पीड और बढ़ा दी, दीदी की झूलती चूचियों को अपनी दोनों मुठ्ठियों में भींच कर मैं जोर जोर से शॉट्स मारने लगा.

काश मैं उसको देख पाती, अपने हाथों से उसे पकड़ कर हिला पाती और आपका रस. एक महीने बाद नीलेश जीजू का मुझे फ़ोन आया और उन्होंने कहा- रोमा, यार तुम्हारी चूत चोदे हुए एक महीना हो गया, यार आज बहुत मन कर रहा है और आज रात पायल की नाईट शिफ्ट है, वो भी हॉस्पिटल चली जाएगी… तो तुम आ जाओ आज कुछ अलग सी चुदाई करेंगे. मैं पीछे से भाभी को किस करने लगा और उनके मम्मों को आटा सा गूँथते हुए मसलने लगा.

मैंने खाना मित्रों के साथ खा लिया था इसलिए डिनर के लिए मना करके सीधा मामी के रूम में लेटकर टी.

दिनेश ने अपने लन्ड को पकड़ के आरुषि की चूत के नीचे सेट किया।आरुषि- ऊई माँ… चुभता है।वो लन्ड पर बैठते हुए बोली। वो जैसे अपना वजन लन्ड पर डालती जा रही थी वैसे वैसे लन्ड उसकी फुद्दी में घुसता जा रहा था।उफ्फ… आह कितना मोटा है दर्द हो रहा है. आप सोचो वो लोग कैसा बोलते होंगे कि में आपको उनकी बात का एक भी शब्द नहीं बता सकती.

बीएफ हिंदी चूत पहले स्कूल में मेरा फिगर ऐसा नहीं था, पर हाईस्कूल में गई, तब मेरी सब सहेलियों की संगत के कारण ऐसी हो गई. खंडहर स्कूल वाली घटना हुई, तब से पापा ने मुझ से कभी बात तक नहीं की.

बीएफ हिंदी चूत दीपक- यार राजीव साली की गांड ही मारना है तो इसको मेरे लंड पर बैठा दे ताकि नीचे से मैं इसकी चूत मार सकूँ और तू पीछे से गांड का मजा लेते रहना. अब बैग में से क्रीम निकाल कर बहुत सारी कोल्ड क्रीम को उस की गांड के छेद पर लगा दिया और ब्रश से गांड के छेद पर क्रीम को अन्दर बाहर करने लगा.

फिर उन्होंने मुझे छोड़ा करीब 2 मिनट बाद मैंने नोटिस किया कि मेरे गांड पर एक लड़की कोई जैल लगा रही है.

बाबा भारती का घोड़ा

रात को बहन को प्यास लगी तो पानी पीने रसोई में गई तो उसने देखा कि उसके भाई के कमरे की लाईट जली हुई है. हां… हां… ओह्ह!अब मैं अपने मुँह में पिंकी की छोटी छोटी चुचियों को लेकर चूस रहा था. उनके दूध लटक रहे थे पर मस्त थे एकदम… मैंने नीचे देखा तो चूत क्लीन थी जैसे अभी-अभी चूत के बाल साफ किये हों.

मैं सोचने लगा कि मामा का लंड क्या इतना बड़ा है जो मामी की चीख़ निकल आई. मैंने नोटिस किया कि उसकी चूत आज पहले से ही गीली हो गयी थी, उसे भी किसी के देखे जाने का अहसास था. मेरी पेंटी के अंदरउनका हाथ अब मेरी चूत तक पहुँच चुका थाजो गीली हो चुकी थी।मैं मेरे एक हाथ की उंगलियाँ उनके बालों में घुमा रही थी। मैं तो किसी और ही दुनिया में थी। मुझे इतना भी होश नहीं था कि कोई छत पर आ भी सकता है।जीजा ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरी गोरी सुडौल चूची उनके सामने थी, उनकी आँखें तो बस मेरी चूची को देखती ही रही.

अब मनोज का लंड नेहा की चूत में घुस चुका था और इधर मैं नेहा की गांड मार रहा था.

तभी वैशाली का फ़ोन बजा, उस के पति का ऑफिस से लैंड लाइन से फ़ोन था जिसका मतलब था कि वे दोनों पहुँच चुके हैं. मैंने सही एंगल सैट करके गांड पर लंड रखके ऐसा झटका दिया कि लंड गांड में आधे से अधिक घुस गया. लंड चूसते चूसते उसने मुझे बताया कि उसके पति का लंड इतना बड़ा नहीं है और वो ज्यादा देर तक खड़ा भी नहीं रहता है.

जोशना ने मुझे खींच के अपने सामने खड़ा कर लिया और खुद सोफा पे बैठ गई. खजुराहो की देवी रंजु सेक्स में माहिर थी परंतु पहली जंग में ही घायल हो गई और उधर रीना जीवन में पहली बार झड़ने के बाद लगातार दो बार दीपक भैया से चुदकर तीसरी बार चुदने के लिए मेरे लंड से खेल रही थी. अचानक मौसी ने अपना हाथ अन्दर घुसेड़ दिया और मेरा लंड मुठ्ठी में लेकर सहलाने लगीं, जिससे लंड अपनी औकात में आने लगा.

मैं तैयार हो गया और अगले ही सप्ताह जा कर एक शुरूआती डील पक्की कर ली और इसी बहाने उसका भरपूर चक्षुचोदन किया लेकिन मेरा टॉरगेट तो असली चोदन कार्य करना था लेकिन विनीता जैसी अकड़ू महिला को चुदाई के लिए तैयार करना एक चुनौती भरा कार्य था और ये काम थोड़ा धैर्य वाला था. उस दिन तो तो मैं डिनर के बाद वापस लखनऊ आ गया लेकिन अब अपने लंड को नियंत्रण में रखना मेरे लिए संभव में नहीं था लिहाजा मैंने लखनऊ की अपनी सहेली पर जाते ही चढ़ बैठा और भरपूर ठुकाई की.

उन फटे और गंदे कपड़ों में सहेली के घर जाती तो सहेली को पक्का शक हो जाता. मुझे हँसता देखकर वो बोला- हाँ… यही चाहता हूँ मैं… ऐसे ही हँसता रहा कर… और जो फिर कभी रोया तो तुझे इतना चोदूंगा कि तू चलने फिरने लायक नहीं रहेगा. मैं बाहर एक तरफ जाकर खड़ा हो गया और ऊपर वाले से दुआ करने लगा कि मदद कर.

इसने बड़ी बेरहमी से अपना पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में घुसेड़ दिया था.

उसी पल वहाँ एक बहुत ही खूबसूरत लड़की आई, वैसे सभी लड़कियां खूबसूरत ही होती हैं. थोड़ी देर बाद सुमन फिर से गर्म हो गई और गुलशनपापा का लंडभी अब चुत में जाने को बेताब हो रहा था तो उन्होंने सुमन को सीधा लेटाया और कमर के नीचे तकिया लगा दिया ताकि चुत का उभार ऊपर उठ जाए और वो लंड को आसानी से उसमें घुसा सके. अल्का ने मेरे हाथ भी पकड़ लिए और बोली- थोड़ी देर दर्द होगा फिर जिंदगी में कभी नहीं होगा.

उसने अपनी ब्रा अपनी बांहों से उतार कर रख दी और मुझसे बोली- यार हुक खोल कर पैन्ट उतार… मुझे तेरा लंड देखना है. उसने जहाँ से मुझे पिक किया था, वहीं पर कार पहुँची तो वो मेरी पट्टी खोल कर बोली- मिस्टर संदेश आपके साथ चुदाई में काफी मज़ा आया.

तभी वो अंकल अपना हाथ मेरी जांघों में ले आये, उनका हाथ चाचा के हाथ से टकरा गया क्योंकि चाचा पहले से चूत में उंगली डाल के अन्दर बाहर कर रहे थे. तब मोना ने उसको गोपाल की जान ख़तरे में हैं, वो बात बताई और साथ में ढेर सारे पैसे देने का वादा किया तो वो मान गई. और इसी वजह से मैं तुझे हमेशा प्यार करूँगा अगर तू मेरा कहा मानेगी तो.

सेक्स ओपन वीडियो सेक्स ओपन वीडियो

मैंने अपने लंड को चूत पर रगड़ना शुरू किया और उसके एक निप्पल को मुँह में भर कर चूसने लगा.

फिर सागर ने पूछा- अगला प्लान क्या है?मैं बोली- अगले हफ्ते में मीना के पति ऑफिस के काम से 3 दिन के लिए बाहर जा रहे हैं, तब मैं उसको बच्चों के साथ यहाँ बुलाने वाली हूँ. वैसे मेरा सीना कड़क है इसलिए तो तूने मुझे देखा ना…? रही बात मेरे बच्चों की तो पप्पू वो दोनों मेरे पति के ही बच्चे हैं. उधर अब की बार यश ने खड़े खड़े मम्मी की चूत में लंड घुसेड़ दिया और दो झटके मार के लंड बाहर निकाल कर मुझे पकड़ लिया फिर भाई ने मम्मी को पकड़ के उसकी चूत में खड़े खड़े लंड डाल के पेलने लगा.

हम सभी फ्लैट से निकले और एक रेस्टोरेंट में गए जहाँ मनोज ने लंच करवाया क्योंकि उसने कहा कि आज की पार्टी मेरी तरफ से. हम वहीं बैठ कर बातें करने लगे, उसने बताया कि उसका पति सेल्स मैनेजर है और अक्सर आउट ऑफ़ टाउन ही होता है. बीजापुर सेक्सी वीडियोहम दोनों को एक-दूसरे की गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड के बारे में सारी बातें पता थीं.

अब तो बस यूं हो गया था कि मैं कहीं भी रहता, मुझे कैसे न कैसे चुत मिल ही जाती या यूं कहिए कि घर, बाहर हर जगह मैं चुत की सम्भावना तलाशता रहता था. जनवरी से पहले दिसंबर में मैंने 12 वीं की परीक्षा ओपन बोर्ड से की थी तो एग्जाम देकर मैं फ्री हो गया था.

अब जब भी दीदी कहीं बाहर जाती हैं तो मैं और जीजू एक दूसरे से मोबाइल पर सेक्स चैट करते हैं. मैं उसकी चुचियों को चूसने लगा और भाभी मेरा लंड पकड़ के बार बार अपनी तरफ़ खींच रही थी. आपने मेरी पहली रियल सेक्स स्टोरीसोशल मीडिया पर पंजाबी चुत मिलीके दोनों पार्ट को बहुत पसंद किया, उसके लिए धन्यवाद.

उधर भाई ने अपने लंड का माल मम्मी की चूची और मुंह में डाल दिया, मम्मी ने भाई का लंड अपनी जीभ और होंठों से चाट चाट के साफ कर दिया और मैंने यश का लंड भी ऐसे ही साफ़ कर दिया. तो मैं लड़का, आपका ब्वॉयफ्रेंड और आप लड़की तो मेरी गर्लफ्रेंड हुई ना!यह सुन सुमन भाभी हँस पड़ीं. उसने मेरी आंखों में देखा… और बोला- पक्का दूसरा फोन लायेगा मेरे लिए?तो मैंने कहा- हां यार.

मैं झूठ नहीं बोल रहा हूँ बेटी, ऐसी कमसिन लड़की को इतने तंग कपड़ों में लड़के देखेंगे तो ना जाने तेरे बदन के साथ क्या करेंगे.

उस दिन जब मैं रात में सोने के लिए अपने रूम में गई तो राज जाग रहे थे. लेकिन अब भोला भी अपनी कमर को आगे पीछे करने लगा और कुछ ही देर में अपनी स्पीड बढ़ा कर पेलने लगा.

दिल थाम कर बैठ जाइए क्योंकि अब मैं जो सेक्सी कहानी सुनाने जा रहा हूँ उसे पढ़कर आप लंड और चूत से पानी निकालने के लिए मजबूर हो जायेंगे. तब मैंने फिर से उस के गले पर किस करना चालू कर दिया। इस बार वो अधिक विरोध नहीं कर रही थी. अब लंड 25% अन्दर जा चुका था और फिर धीरे-धीरे कर के लंड को अन्दर भरने लगा.

विवश होकर आप मेरे ऊपर चढ़ गए और मुझमें बलपूर्वक मेरी इस में समा गए जैसे ही आपका विशाल लिंग मेरी प्यासी योनि में घुसा था, मैं समझ गयी थी कि मैं छली जा चुकी हूँ, कि मेरे साथ मेरा पति नहीं कोई और ही है क्योंकि आपके बेटे का लिंग आपसे बहुत छोटा और पतला सा है. धीरे धीरे तेरी चूत को मैं अपने दोस्तों से बड़ी करावाऊंगी, फिर तुझे कुछ नहीं होगा. वो हँसने लगी। फिर उसने ही मेरा लण्ड अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर रखा और अन्दर डालने को कहा.

बीएफ हिंदी चूत अंकल ने मेरे हाथ से मेरा सेल लिया और मम्मी का फोटो देखने लगे- मेघा, तेरी मम्मी तो अभी भी बिल्कुल माल हैं!धत्त…”सच्ची यार मेरा तो दिल कर रहा है कि तेरी मम्मी को भी एक दिन चोदूं. उसकी तुलना आप मैं हूँ ना” मूवी की अभिनेत्री सुष्मिता सेन के टीचर वाले रोल से कर सकते हैं.

गूगल तुम्हारी गर्लफ्रेंड कौन है

अब मैं जानबूझ कर उससे व्यक्तिगत और भावनात्मक बातें करनी शुरू कर दी क्योंकि मैं जानता था कि अब दवा का असर शुरू हो जाएगा. क्या हुआ माया हम नया मकान बनाएं?मुझे काफी अच्छा फील हुआ, खुद पर गर्व भी हुआ. चाची- अरे बुद्धू, लड़की के पास सोने का मतलब है जब लड़का-लड़की एक-दूसरे को प्यार करते हैं और लड़का अपना नुन्नू लड़की की नुन्नू में डालता है या फिर इसे मुठ्ठी में पकड़ कर मुठ्ठ मारते हैं, तब वीर्य निकलता है, अब समझा?मैं बोला- चाची मुठ्ठ कैसे मारते हैं?चाची ने मेरा लंड अपनी मुठ्ठी में पकड़ लिया और आगे-पीछे करने लगीं.

इधर हमारे पास ही मनोज ने सोनिया को घोड़ी बना लिया था और उसके ऊपर से उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था. तो वो बोलीं- देवर जी भी नहीं हैं, मैं किसके साथ जाऊं?पापा ने कहा- तुम धर्म को लेकर चली जाओ. फुल सेक्सी अंग्रेजी पिक्चरअब वह कमर उठा कर मेरे मुँह पर बुर मार रही थी, जिससे बार बार मेरे मुँह से बुर बाहर निकल जा रही थी.

आपने पिछले भाग में पढ़ा कि मेरे मामा ने कैसे मेरी चुदाई किचन में की, खड़े खड़े चुदाई के बाद हम दोनों इतने थक चुके थे कि चुदाई पूरी होते ही एक दूसरे के बाहों में गिर गये, 5 मिनट यों ही हम दोनों एक दूसरे से लिपटे रहे, फिर हम दोनों ने एक दूसरे के कानों में अपनी अपनी ख्वाहिश बताई.

तभी 3-4 लड़कों ने हम दोनों को घेर लिया और कहा- अरी कुतियाओ, आम हमारे पास… हम तुम्हें महसूस कराएं कि असली कुतिया क्या होती है!मैंने उनकी तरफ देखा और कहा- हां हां. सारिका मेम की चुत से पानी निकलने लगा था और चॉकलेट सीरप में मिलकर बड़ा टेस्टी लग रहा था.

हम वहीं बैठ कर बातें करने लगे, उसने बताया कि उसका पति सेल्स मैनेजर है और अक्सर आउट ऑफ़ टाउन ही होता है. मैं दर्द के मारे आहें भरती रही और जय धक्के पर धक्के लगाए जा रहा था. मैंने भी धीरे से मामी के कान में कहा कि मामी मेरी बुर में कुछ झुरझुरी सी हो रही है.

थोड़ी देर बाद पूजा भी मेरा साथ देने लगी और कहती- अब जोर लगाओ, जितना लगा सकते हो.

वैसे तूने बताया नहीं कि कितने लड़कों ने तेरा यह जिस्म सहलाया है और तुझे उन लड़कों को अपनी ब्रा का साइज़ बताने में क्यों शरम आती है?नीता को पहली बार मर्द के सामने अपना नंगा सीना दिखाने और निप्पल को मर्द से मसलवाने में मज़ा आने लगा था. जब भी आंटी झुकती थीं, तो उनकी कुर्ती के गले से उनके मम्मे दिखते थे क्योंकि उसका गला काफी गहरा था. उसका लंड तनकर मेरी पैंट को फाड़कर मेरी गांड में घुसने की इजाज़त मांग रहा था.

इंडियन सेक्स सेक्स सेक्सीकुछ देर सोनिया को ऐसे चोदने के बाद हम दोनों ने सोनिया को घुमा दिया और अब मुझे सोनिया की चूत मिली और मनोज का लंड सोनिया की गांड में था. यार सबको पता है कि थोड़ी देर बाद यहाँ ग्रुप सेक्स होने वाला है तो ये झूठ-मूट का नाटक किसलिए?अतुल- बात तो सही यार, जब ये लड़की होकर नहीं शर्मा रही है, फिर हमें किस बात का डर है?अतुल की बात सुनकर सबने ‘हाँ’ में ‘हाँ’ मिलाई और हंसने लगे.

अकबर बीरबल की कहानी सुनाओ

मैं पानी लेकर बाथरूम के पास पहुँचा, दरवाज़ा खटखटा कर कहा- मॉम पानी ले आया हूँ. मैंने काफी देर उस के चूतड़ों को सहलाया, उन पर किस किया और फिर चूस, काट कर आठ दस जगह नीले निशान बना दिए. अतुल- पागल हो क्या यार मैंने खुद उसको कहा था और मैंने भी तो बराबर का मज़ा लिया है.

चाचाजी ने मुझे बाथरूम की दीवार से चिपका कर खड़ा कर दिया और अब उनके बिना आवाज वाले चुम्बनों की बौछार से मेरे पूरे बदन पर मद हावी हो रहा था. मैं बेड के कोने पर पाँव नीचे लटका कर बैठ गया और उस को अपनी टांगों के बीच खड़ी कर के उस के मस्त चुचों को मुंह में भर कर चूसने लगा. उसके निप्पल उसकी चुचियों के रंग से मिलते जुलते रंग के बस थोड़ा गुलाबीपन लिए हुए थे.

वैसे न जाने मेरे अन्दर क्या खूबी है कि मेरे साथ लड़कियां ज्यादा आकर्षित होती हैं. वो एक स्लीवलैस और लो नेक ब्लाउज पहने हुए थी, साड़ी नाभि दर्शना बंधी हुई थी. बरात उसके घर तक जाने तक मैं उधर रुका, उसके बाद मुझसे वहाँ रुका नहीं गया और मैं अपने घर आ गया.

मेरी चुत इतनी देर में दो बार झड़ चुकी थी, पर चाचाजी रुकने का नाम नहीं ले रहे थे. अचानक उसने कहा- क्या मेरे चोदू बंदर, बस इतना ही दम है तेरे लंड में, मेरी पूरी प्यास भी नहीं बुझी और देख साला तेरा लंड मुरझा गया और मेरी चूत, अभी गरम है.

मैंने उसके लंड को पकड़ा और ठिकाने पर लगा कर बोला- साले, ज़ोर से धक्का मार.

तभी तीसरा आदमी जो शमशेर होगा, मम्मी के नाभि के नीचे के टांकों के निशान देख कर बोला- वाह यार, यह तो कुंवारी चूत के बराबर है, इसका तो बच्चा भी आपरेशन से हुआ है. सेक्सी वीडियो नंगी भेजोफिर चाची मेरी तरफ घूम गईं और उन्होंने अपनी मैक्सी ऊपर उठाई और अपनी चूत पर हाथ रख कर बोलीं- देख ये है मेरी नुन्नू. सेक्सी फिल्म छोटी लड़की के साथउसके बाद राजीव का नंबर था, उस कमीने ने मुझे घोड़ी बनाया मेरी गांड में अपनी उंगली से कोई जैली सी लगाई और अभी मैं कुछ समझ पाती कि उसने मेरी गांड में लंड घुसा दिया. मोना- अच्छा ये बात है चल ये बता तुझे अपने जीजू का लंड पकड़ने में मज़ा आया कि नहीं?नीतू- दीदी सही कहूँ.

मैंने भी बाथरूम में अपना लंड साफ़ किया, उस पर थोड़ी क्रीम लगाई और आकर बेड पर लेट गया.

पप्पू का लंड नंगी नीता को देख कर और गर्म हो गया जिसे रूपा मस्ती से चूस रही थी. हम दोनों ने निश्चित किया कि हम अगले रविवार को इन्दौर में एक लॉज में मिलेंगे. मेरी चुत जब नंगी हुई तो वह अपने हाथ से मेरी चुत पर उगी घनी घनी झांटों को सहलाने लगा.

और वहीं अपना लौड़ा हिला लेता था।इसी बीच मेरे किरायेदार बदल गए और कुछ महीनों बाद नए किरायेदार आए। उनकी अभी दो साल पहले शादी हुई थी. देखो मिरर में कैसे मैंने अपनी बेटी की मोटी ताज़ी गांड को पकड़ा हुआ है… और मेरा लंड अपनी जानू बेटी की टाइट चूत मैं कैसा मस्त लग रहा है. मैं दायें हाथ से उसकी चूत को छेड़ने लगा जो बहुत ज्यादा पानी छोड़ रही थी.

हाथी की सेक्सी वीडियो

आंटी ने मुझे बताया- अरे डर मत… वो साली तो खुद ही अपने नौकर से चुदती है क्योंकि उसका पति हमेशा बाहर ही रहता है. मैंने आँखों को खोला तो वह कोई और नहीं बल्कि सलमा का क्लासमेट शिशिर था. जैसे हम अंदर गई तो मेरी ने दरवाजा हमारे पीछे बंद कर दिया।हम थोड़ी आगे बढ़ी तो सारी आवाजें रुक सी गयी.

तभी किसी के अन्दर आने की आवाज आई और मैं जल्दी से अलग होकर फ्रीज में से पानी की बोतल निकाल कर ले गया.

”भभी मेरा लंड पूरा अंदर तक जा रहा है ना?”हां राहुल… पूरा अंदर है! बस तुम मुझे चोदते जाओ!”कोई दस मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था और इस बीच भाभी भी एक झड़ चुकी थीं.

वैसे भी मैं अपनी क्लाइंट्स को उनकी प्राइवेसी के लिए पूरी आज़ादी देता हूँ. मैंने बस शरमाते हुए उनके पेशानी पे किस किया, जिससे वह समझ गए कि मैं भी यही चाहती थी. सेक्सी व्हाट्सएप सेक्सीमैंने अब अपने दोनों हाथों में उनके मम्मों को पकड़ लिया और दम से भाभी के मम्मों को दबाने लगा और उन्हें किस करने लगा.

मैंने उसे सामान रखने में मदद की, लेकिन उसी समय बस चलना शुरू हो गई ओर उसके स्तन मेरे हाथ को लगे. और 6 इंच का लटकता लंड… बताओ अब क्या कमी थी उसमें… दिल तो कर रहा था कि उसका एक फोटो खीच लूँ. मैं उसकी नन्ही सी अनचुदी चूत को मसलने लगी तो उसकी सांसें तेज हो गईं.

सुबह 6 बजे पापा को फोन आया, हमारे गांव में मेरी छोटी चाची का देहांत हो गया है. जब वो सिर्फ ब्रा-पैंटी में रह गई तो मैं उसके पीछे आ कर उसकी ब्रा के हुक खोलने लगा, फिर ब्रा को उसके बदन से हटा कर पीछे से उसकी दोनों चुचियों को पकड़ कर दबाने लगा और उसकी गर्दन पे किस करने लगा.

मैं आज आपको अपने जीवन में घटी एक मस्त देसी कहानी सुनाने जा रहा हूँ.

मम्मों को नीचे से ऊपर दबाते हुए पप्पू रूपा का सीना चाटते हुए बोला- वैसे जान…! माना कि बस में ऐतराज़ करती तो तेरी बे-इज़्ज़ती होती… पर ये सच बता कि क्या तुझे ऐतराज़ करना था जब मैं बस में तेरे जिस्म से खेल रहा था?पप्पू साड़ी निकालने लगा तो रूपा उसे थोड़ा दूर करके अपने साड़ी पकड़ती हुई बोली- अरे इतनी जल्दी क्या है जो वीराने में तू सीधे पेटीकोट पे आ गया? पहले अच्छे से गरम तो कर. मैंने मन ही मन सोचा कि काश जय ही मुझे चोद देता तो मुझे जवानी का मजा तो मिल जाता. गुलशन- क्या सोच रही हो फ्लॉरा… मैं जानता हूँ तुम्हें भी ये अच्छा लगा.

पाकिस्तान की सेक्सी मूवी वीडियो माया ने अपने दूध सहलाते हुए अपना मुँह खोल दिया और उस्मान का लंड अपने गले तक जाता हुआ महसूस करने लगी. माया अब बस ये चाहती थी कि ये सब जल्द से जल्द लंड पेल दें और उसकी चूत की आग को बुझा दें.

बाहर आकर मैं उनको अपने साथ अपने फ़्लैट में ले आया इधर आते ही मैंने सारिका मेम को अपनी बांहों में भर लिया. मैंने सोचा कि क्लास के किसी लड़के से चुदाई करवा लूँ लेकिन डरती थी कि साला मुझे रण्डी ना बना दे. वो यह तो न देख पाई कि वो क्या कर रहा था पर कच्छे का बड़ा सा उभार देख कर समझ गयी कि राहुल मुठ मार रहा था.

सेकसी फिलम हिनदी

अब क्या मैं ऐसे बैठूँ उनके आने तक?”पप्पू ने नीता के माथे पर पसीना देखा. आज माया को अमित ने रंडी बना दिया था और वो जानता था कि अब वो जो चाहे माया से करवा सकता है. पूरे रूम में हम दोनों की ‘अह्ह्ह… ओह्ह्ह…’ की कामुक आवाजें गूंजने लगीं.

मैंने झट से अपनी चड्डी नीचे कर दी तो मेरा 8 इंची लंड तन कर 90 डिग्री में खड़ा हो गया. इतनी देर में मेरी बीवी ने आवाज आई- कहां हो?मैं डर गया कि कहीं ऊपर ही ना आ जाए.

ये देख कर उस्मान से रुका नहीं गया और वो माया का चेहरा पकड़ कर अपने लंड के पास ले आया.

यह स्टोरी उस वक्त की है, जब मैं स्कूल में पढ़ता था, उन दिनों मैं शाम के समय गांव के सारे बच्चों के साथ मिलकर छुपा छुपी का खेल खेलता था. उसके उठे हुए चूतड़ मेरे लौड़े के आगे थे, पहले मेरा कोई गलत इरादा नहीं था, लेकिन भीड़ की वजह से मेरा लंड उसके चूतड़ों पर दब रहा था. मामी के मुँह से चीख निकली- आईई मैं मर गईईई…मैं बैठ कर उनकी मनोदशा को महसूस कर रहा था.

भैया के साथ में सुबह थोड़ी देर बैंक के काम से निकलता था और 11 बजे तक वापिस आ जाता था। फिर सारा दिन भाभी के साथ ही रहता था।भाभी ने एक दिन कहा- राज! तुम चन्दा को बिल्कुल कुछ नहीं कहोगे, यदि तुम चाहोगे तो मैं कभी बढ़िया चीज तुम्हें दिलवा दूँगी।मैंने कहा- आपसे बढ़िया मुझे और कहाँ मिलेगी?भाभी शरमा गई और बोली- मैं तुम्हारी भाभी हूँ, इतने गंदे ख्याल रखते हो।मैं फिर डर गया. मेरे कामदेव पति, आपने ही तो ब्लू फिल्म दिखा दिखा कर मुझे रंडी बना दिया है. मैं भाभी के चूत के दाने को चूसने लगा, दो तीन बार चूसने और जीभ से चाटने के बाद भाभी ने मेरा सिर अपनी टांगों से कस कर जांघों में भींच लिया और उनकी चूत से पानी निकल गया.

ये कह कर उसने मेरे होंठों पर एक किस किया और उठ कर कपड़े पहनने लगी क्योंकि अब दीदी और उनकी सास के आने का टाइम हो चला था.

बीएफ हिंदी चूत: भाभी का ब्लाउज मैंने पूरा उतार दिया तो मैंने देखा कि भाभी ने अन्दर भी मेरून कलर की ब्रा पहन रखी थी. दोनों चुची को जम कर चूसने के बाद मैंने कविता को फिर होंठों से चूसना शुरू किया और फिर धीरे धीरे नीचे सरकते हुए नाभि तक जीभ से चाटा, वो तो इतनी गर्म हो गयी कि वो बार बार अपने होंठों को अपनी जीभ से चाट रही थी, कभी वो तकिये को अपनी मुट्ठी में कस के पकड़ती, तो कभी उफ्फ फफ्फ़ उफ फफ्फ़ आह… आआआ आआहह की आवाज़ करती.

अब प्लीज़ यार, जल्दी से मेरी चूत में लंड घुसा के इसे शांत करो ना!बरखा ने ये बात बड़े ही सेक्सी अंदाज में कही थी, जिससे सबकी नज़र उस पर पड़ गई. काला मूसल जैसा, जिस पर लाल रंग का टमाटर जैसा सुपारा था, लंड भी पूरा बालिश्त भर लम्बा होगा. लेकिन आप सभी से अनुरोध है कि इस कहानी के बारे में अपने बेशकीमती सुझाव जरूर मेल करें.

रात का सफ़र था और ट्रेन बीच में कहीं रुकती भी नहीं थी इसलिए मैंने शिशिर से कहा कि रास्ते के समय को काटने के लिए कोई मैगजीन ले आए.

सागर बोला- क्यों खुश नहीं है?मैंने कहा- तुम्हारी बहन को बड़ा लंड चाहिए और तुम्हारे जीजू का लंड छोटा है और वीर्य भी बहुत जल्दी निकल जाता है. जिसकी वजह से मैं ठरकी हो गया और अब मेरा मन सिर्फ चूत व गाण्ड चाटने को करता है।बात उस समय की है. दिनेश बस झड़ने ही वाला था, मौका देख कर वो उस पर भूखे शेर की तरह झपट पड़ा, उसने आरुषि को सोफ़े पर फेंक दिया और उस पर घोड़े की तरह चढ़ गया; उसने आरुषि के गले को पकड़ लिया और ऐ.