सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती

छवि स्रोत,सनी लियोन का ब्लू पिक्चर सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी सनी लियोन की चूत: सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती, सागर अपने मुँह से मीना का मुँह बंद करके उसे चोदने लगा और मैं दोनों भाई बहन की चुदाई अपने कैमरे में रिकॉर्ड कर रही थी.

राजपूती सेक्सी वीडियो देसी

मैंने नोटिस किया कि मेरा खडा लंड देख कर भाभी का चेहरा कामुकता से लाल हो गया था. सेक्सी जवानी की चुदाईसब की भूखी निगाहें हम दोनों जवान लड़कियों के सेक्सी बदन को ताड़ रही थी.

फिर रमेश ने मयूरी को खड़ा करके उसकी एक टांग सोफे पर रखा और खड़े-खड़े ही उसकी गांड में अपना लंड घुसा दिया. सेक्सी वीडियो हॉस्टल गर्ल्सउसका फेस भी कमाल का था ही, जो उसको देखता था, बस सोचता होगा कि ये पट जाए बस, फिर चाहे जान चली जाए तो कोई गम नहीं.

वो इधर उधर देख रही थी तो उसकी नजर मुझ पर पड़ी, मुझे उसकी ओर देखते हुए देख कर वो मुझ से बोली- मेरे फोन में नेटवर्क नहीं आ रहा… आप मेरी मदद करेंगे क्या?मैंने कहा- कोई जरूरी फोन करना है तो मेरे फोन से कर लो.सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती: लेकिन मैंने अपना कार्यभार जयों का त्यों संभाल रखा था औ र कुछ समय की धक्का पेली के बाद ममता ने जैसे ही दोबारा अपना पानी छोड़ा, मैंने भी अपना स्पर्म उसकी चूत की गहराई में छोड़ दिया.

वो शायद साँस नहीं ले पा रही थी, जिस कारण उसके आँसू निकल रहे थे उसके.वो मेरे लंड से खेलने लगी और मैं मम्मों, चूतड़ों और चुत से खेल रहा था.

सेक्सी वीडियो नंगा वीडियो सेक्सी वीडियो - सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती

”मिलने आएगी या फिर तुझे ऊपर वाला कमरा किराए पर देना पड़ेगा हा हा हा.ये क्या जिद है बेटा, तू फ्लाइट से आजा मैं यहां से ट्रेन से आ जाता हूं; इसमें क्या प्रॉब्लम है?”पापा जी, हम दोनों साथ में और छत्तीस घंटे का सफ़र… जरा फिर से सोचो तो सही आप?”हां हां, पता है छत्तीस घंटे लगते हैं ट्रेन में इसमें सोचना क्या.

तुमने कितनी देर पहले कहा था कि खाना खाने के बाद बात करती हूँ और अभी तक इंतजार करवा रही हो. सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती मैं गया और झट से उसे पीछे से पकड़ लिया तो वो पहले तो डर गयी, फिर जब उसने मुझे देखा तो मुस्कुरा दी.

फिर भाभी बोलीं- मेरे पूरे बदन पर किस कर और मेरे दूध को दबा दबा कर पी, फिर मेरी चूत चाट.

सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती?

सिराज के मुँह से आवाजें निकलने लगी, उसके दूसरे साथी ने मेरीचुत में उंगलीडाली और मेरे एक निप्पल की वो भँभोड़ने लगा. क्या नमकीन टेस्ट लग रहा था चूत का…वो जोर से अपने हाथ से मेरा मुँह को चूत पे दबा रही थीं और बीच बीच में गाली दे रही थीं- चूत को चाट ले साले… और मुँह से सिसकारियां ले रही थीं- ओह उम्म्ह… अहह… हय… याह… याह ओह यस ओह…तभी वो अकड़ गईं और मेरे मुँह में उनका पानी आ गया, शायद वो झड़ चुकी थी. ये क्या कर दिया तुमने रवि, अब मैं आनन्द को क्या कहूंगी?”मैं- ज्यादा शानपट्टी मत करो, मैं भी उसी दिन ऐसे ही रो रहा था, पर तुम पर तो आनन्द का भूत ही सवार था.

मैंने आकाश से बोला- आकाश प्लीज़ अब मुझसे तू बात मत कर और मुझे घर छोड़ दे. कार वाला- कितना लेती हो एक रात का एक आदमी का?मैं- क्या मतलब है तुम्हारा?कारवाला- मैं 10000 दे सकता हूँ बोलो चलोगी?मैं- मुझे उतारो, मुझे नहीं जाना है. यह बात 2010 की है जब मैं एम सी ए कर रहा था, जिसकी कहानी है, उस लड़की का नाम सुमन है और वो मेरे कजन की गर्लफ्रेंड थी.

वो कहती है- मैडम मैं अभी, जैसे आप कहेंगी, अकाउंटेंट से सारी गलतियां ठीक करवा लूंगी. रात को उसका मेसेज आया कि आज तुम्हें क्या हो गया था तो मैंने सच बता दिया. सन्नी- सर ऐसी लड़की को कैसे सेट किया जाता है मुझे भी बता दो प्लीज… मुझे भी सपना के साथ सेट्टिंग करनी है.

सिर्फ एक 25-26 साल की लड़की के जो एक रेड कलर की साड़ी में थी, जो बहुत ही कमाल लग रही थी, जिसे देखकर मेरा लंड जीन्स में खड़ा हो गया, मतलब मेरा मन उसे चोदने को करने लगा. वो लड़का आँखें फाड़ कर उसकी नन्हीं सी चूचियों को ललचाई नजरों से देखने लगा.

उसने भी अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी, जिसका मैं बेसब्री से इंतज़ार कर रहा था.

जब मैंने देखा कि उस का दर्द कुछ कम हुआ है, तो मैंने उस से कहा कि बस एक बार दर्द होगा, फिर बहुत मजा आएगा.

तो ठीक है पापा जी, मैं बंगलौर-निजामुद्दीन राजधानी में ऐ सी फर्स्ट क्लास का दो बर्थ वाला कूपा रिज़र्व करवा लेती हूं आप छह तारीख को यहाँ आ जाना. !मैंने लंड को हाथ से पकड़ कर चूत पर रगड़ने लगा और वो सिस्कारियां लेने लगी. उसने मुस्कुरा कर कहा- हेल्लो जी, क्या देख रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं.

उसका निप्पल भी एकदम हार्ड और एक सेंटीमीटर का हो चुका था, चूची देखते ही मैंने उसे चाटना शुरू कर दिया, उसका निप्पल चूसने लगा जिससे उसका निप्पल और बड़ा हो गया और उसकी पकड़ और टाइट हो गयी. तो मैं देखना चाहता हूँ कि क्या वाकयी कमेंट आते हैं या सिर्फ बातें ही हैं, यही सोच कर मैं भी अपनी सेक्स स्टोरी लिख रहा हूं, कमेंट जरूर करना क्योंकि फ़िर आपको एक लेखक और मिल जाएगा. क्या कर रहे हो?तो मैं बोला- यार, आपने ही तो आँखें बंद करके हुक़ लगाने को बोला तो बंद आँखों से मुझे कहाँ पता चलेगा कि कहाँ है हुक़?उसने हंसते हुए बोला- ओ के, आँखें खोल कर देख लो.

बस चूत में उंगली और मम्मे दबाने के अलावा कोई रास्ता ही नजर नहीं आ रहा था.

सुबह उठ कर फोन देखा तो आकांक्षा के तीन चार मिस्स्ड कॉल पड़े थे, मैं हैंगओवर को सँभालने के लिए खड़ा ही हुआ था कि दरवाज़े की घंटी बजी. मैं उसके पूरे बदन को बेतहाशा चूम रहा था और मेरे पैर भी उसके पैरों की घिसाई कर रहे थे. तभी अनुराग का कॉल आ गया और मैंने उससे 2 मिनट बात की तो बॉस ने देखा कि मैं आई फ़ोन 7 यूज़ कर रही हूँ।इससे उन्होंने नए फोन की पार्टी मांग ली.

थोड़ी देर बाद वो सब चले गए और जाते जाते उषा काकी ने मुझ और एक सिग्नल दिया. मैं उनसे कुछ लंबा था, तो मुझे उनकी चूचियों की क्लीवेज साफ़ दिख रही थी. हम एक दूसरे से इतने घुल मिल गए थे कि अपनी पर्सनल बातें भी शेयर कर लेते थे.

मैंने खड़ी होकर रिया को अपनी तरफ खींचा और लगभग धकेलते हुए वापिस उसे टेरेस पे ले गयी.

अमित- ठीक है और दोस्त की सैटिंग कैसे कराऊँ?मैं- लेकिन इस बार ये मत कहना कि मेरे(दिव्या) लिए ड्रेस है, ये कहना कि वो तुम पर ज्यादा अच्छी लगी थी इसलिए तुम्हारे लिए लाया हूँ और दोपहर में 3-4 बजे आ जाना. बात कुछ समय पहले की है मैंने अपनी प्यारी साईट अन्तर्वासना पर एक स्टोरी पोस्ट की थीभरपूर प्यार दुलार के साथ कुँवारी सील तोड़ीतो काफी पाठकों के मेल मुझे आये और काफी लड़कों व लड़कियों ने स्टोरी की तारीफ की.

सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती लेकिन मुझे क्या मिलेगा!अब मेरा मन पता नहीं कैसा होता जा रहा था कि मैं उसी की बातों में खोती चली जा रही थी. मैंने उसके साथ भागने के लिए इसलिए मना किया क्योंकि उससे छोटी उसकी तीन बहनें थीं तो उनकी दुनिया ही ख़राब हो जाती.

सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती मैं काफी दुखी थी, फिर एक दिन रोहण ने मेरा साथ दिया और जवान मर्द से चुदने का सुख ही कुछ और होता है. लेकिन पिछली बार की डाँट की वजह से मैंने इस बार भाभी पर कोई भी रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये.

वो झड़ने के बाद मेरे ऊपर ही पड़े रहे और उनका लंड मेरी गांड में पानी निकालता रहा.

नंगा रोमांस

ये सब इस घर में मेरे लिए अनएक्सपेक्टेड था इसलिए मैं सोच में पड़ गई थी. इतने में अचानक से बाथरूम का दरवाजा खुला और भाभी की ननद अन्दर आ गई और अन्दर आते ही हम दोनों को नंगा देख कर बोली- ये सब क्या चल रहा है… भाभी तुम तो एक नम्बर की चुड़क्कड़ निकली. अब मेरी साइड से चूचियां दिख रही थीं और मेरी पीठ पेट भी साफ़ दिख रहा था.

उनकी हाईट भी 5 फुट 5 इंच थी, जिसके कारण वो एक मॉडल से कम नहीं लगती थीं. उम्मीद करूँगा कि ये दास्तान आपको मेरे इन हसीन पलों का एहसास कराएगी और आप उत्तेजित हो जाओगो. पहले मैं होकर आती हूँ फिर तुम!और मैंने सोचा कि क्यों न प्लान अभी से स्टार्ट कर दिया जाए… मैंने रोहण से कहा- रोहण, मैं यहीं कपड़े उतार दूँ? तुम्हें कोई परेशानी तो नहीं?रोहण ने कहा- ओके माँ!रोहण खुश हो रहा था और मुझे ही देख रहा था कपड़े उतारते हुए!मैंने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे गिरा दिया और उसमें से मेरा क्लीवेज दिखने लगा क्योंकि मैंने डीप नैक ब्लाउज पहना था.

मैंने बिना ब्रा के फुल टॉप पहन लिया क्योंकि मेरे चूचे बहुत दर्द करने लगे थे.

मंजरी ने अपने हाथ में पुलकित का लंड पकड़ा और अपनी और खींच कर बोली- मेरी क्या औकात स्वामी कि मैं आप को रोक सकूँ!पुलकित ने मंजरी को उल्टा कर के लेटाया और पीछे से अपना लंड उसकी चूत पर रखा और अंदर डाल दिया. वो मुझे बांहों में भरकर रोने लगी और कहने लगी- दीदी अब ये लंड में कहां से लाऊं?मैं उसकी तरफ देखने लगी. मैंने अपने हाथ को उनके मम्मों पे रखा और जब वे इस पर भी कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मम्मों को धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया.

वो दिन भर पढ़ाई करती रहती है और दिखने के अलावा हर बात में इतनी स्मार्ट है कि पूछो ही मत. मैं कुछ सेकेण्ड के लिए तो रुका लेकिन तभी मैंने भाभी को उनके ससुर के सामने ही जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया. शायद रात भर जगे होने की वजह से मेरे पैर थक रहे थे और उसकी टाइट गांड की वजह से मेरा लंड भी अपना रस छोड़ने को तैयार था.

मैं सोचने लगा काश मेरी माँ भी ऐसी होती जो मुझे आज तक अपने मम्मॉम से चिपकाये रहती. एक हाथ से मैं एक चूची को दबा रहा था, मसला रहा था तो दूसरी चूची को मैंने अपने होंठों में लेकर चूस रहा था, निप्पल पर जीभ फिरा रहा था.

उसने कहा- अगर तुझे भाभी को चोदना है तो अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़, वहां पर ऐसी बहुत सी चुदाई की कहानी हैं और तुझे आईडिया भी मिल जाएगा. उसे किस करना आता नहीं था तो मैं जैसे जैसे करता, वो भी वैसा ही करती. उनको परवाह करनी चाहिए थी कि अब मोहनलाल (इन भाई-बहन का पिता और मयूरी का ससुर) घर आ चुका था और वो हॉल में दरवाज़े के पास खड़ा, ये दृश्य देख रहा था.

मम्मी?”बोलो?”यह सब क्या है? आप कैसे जानती हो अंकल को?”तुम्हारी कॉलेज की हर छिनाल हरकत से मैं वाकिफ़ हूँ बेटा.

दस मिनट बाद मैंने उसे फिर चूमना शुरू कर दिया, वो तुरंत ही मेरे ऊपर आ गई और मेरे लंड को चूस कर फिर से खड़ा कर दिया और चुदासी आवाज़ में कहने लगी- बेबी प्लीज़ फ़क मी…मैंने उसे नीचे लिटाया, उसके होंठों को चूसा, कान को चूमता रहा क्योंकि मैं जानता हूँ कि औरतों को इसमें मजा बहुत आता है. ” बड़बड़ाते हुए माया बाहर निकली और सीधे अपने केबिन में घुस गई, जहां अमित नहीं था. मैं समझ गई कि महेश क्या देख रहा है फिर भी मैंने महेश से पूछा- क्या देख रहे हो महेश?तो उसने ‘कुछ नहीं.

मगर इस बार जब मैंने अपने होंठों को ममता के होंठों के करीब किया तो ममता जी ने अपना चेहरा नहीं घुमाया और मेरे होंठ उनके नर्म रसीले होंठों को हल्का सा छू गये जिससे उनमें हल्का कंपन सा होने लगा. अंजना ने चुम्मियों से राहुल का पूरा बदन भर दिया। इसके बाद कुछ देर आराम करने के दोनों नहा कर बाहर आ गए।देवर भाभी की पहली चुदाईइस तरह से बाथरूम में पूरी हुई.

अब धीरे धीरे पूनम को मजा आने लगा और मैंने पूनम की चुदाई शुरू कर दी. सिराज के मुँह से आवाजें निकलने लगी, उसके दूसरे साथी ने मेरीचुत में उंगलीडाली और मेरे एक निप्पल की वो भँभोड़ने लगा. कुछ देर बाद मामी ने लंड को मुँह में ले लिया और वे पूरी तरह से कामुक होकर लंड चूस रही थीं.

एनिमल्सेक्स

चुदाई करते हुए मैं पूनम की पीठ को चूम रहा था और मम्मों को मसल रहा था.

मैं उनको उंगलियों पर नहीं नचाती थी, वह सब मुझे अपने लंड पर बिठाते थे. मैं सुबह जल्दी उठी गई और दरवाजे की चौखट पर देखा कि एक पैकेट पड़ा था. अपने अपने स्पीड बढ़ा दी और थोड़ी ही देर में उसकी चुत को मेरे दही (वीर्य) का अभिषेक कर दिया.

मैंने टॉयलेट में जाकर अपने लंड को हिला कर बोला- बेटे, आज तुमको पंजाबी चूत दिलाता हूँ. मैंने सफ़ेद मिनी स्कर्ट के ऊपर सफ़ेद पुशअप ब्रा पहनी थी और उसके ऊपर एक हाल्टर नेक जैकेट पहना था. सेक्सी अंग्रेजी में सेक्सी अंग्रेजी मेंमैं तो मदहोश होने लगी थी क्योंकि मेरे सिर पर तो दवाई का असर था और मेरे साथ क्या हो रहा था, मुझे कुछ नहीं पता था.

मैं- महेश, बोलो ना क्या हुआ, मुझे ऐसे यहां क्यों लेकर आए हो?महेश- यार हम प्यार करते हैं मगर मिल नहीं पाते. कुछ देर बाद हम दोनों 69 पोजीशन में आ गए, मैंने पहले अंजलि की चूत पर पैंटी के ऊपर से ही किस किया, उसमें से हल्की सी खुशबू आ रही थी जो मुझे उत्तेजित करने के लिए काफी थी.

मैं गिरा और पूरी नंगी अंजलि मेरे ऊपर आकर चढ़ गई और मेरे होंठों को चूमने लगी. उसने मुझे थैंक्स बोला, फिर उसने कोई नम्बर मिलाया और वो फ़ोन पर बात करने लगी. उसने बैठ कर मेरे लंड की एक किस किया और फट से मुँह में डाल कर चूसने लगी.

मैं पहले ही इतना उत्तेजित हो चुका था कि उसके मुँह में दो तीन बार आगे-पीछे करते ही मेरे लंड ने अपना सारा रस उगल दिया. पैसों की मुझे जरूरत थी ही, तो मैंने ले लिए और रूचि मुझे घर छोड़ने के लिए आने लगी तो मैंने कहा- आप आराम कीजिए, मैं ऑटो लेकर चला जाऊँगा. फिर मैंने उसे उसी हालत में अटकाए रखा और अपने लंड से उसकी चूत के छेद पर ऊपर नीचे घिसने लगा, चूत को लंड की नोक से रगड़ता रहा.

इतने में उसके मोबाइल पर घंटी बजी तो दोनों उठ कर कपड़े पहने और मैंने उसे कहा- जो हुआ उसे एक गलती समझ कर भूल जाते हैं और वापस अपने काम पर लगते हैं.

सुभाष की शादी जिस लड़की से फिक्स हुई है, वो सीकर की है और उसका नाम रेणुका है. मुझे उसको चोदने का मन हो रहा था लेकिन आज ऐसा कुछ हो नहीं पा रहा था.

मैंने जैसे ही अपनी जीभ उसकी चूत पर लगाई, उसके शरीर में एक बिजली सी दौड़ गई और उसके मुँह से सिसकारी निकल गई- आहह आईई माँ उम्ह आहह…उसने अपनी गांड हिलाना शुरू कर दिया, मैं उसकी चूत को चाट रहा था और मेरा लंड उसके मुँह में था, मैं उसकी चूत के दाने को अपने होंठों से बड़े प्यार से काट रहा था. वो फिर से मेरा लंड चूसने लगी जिससे वो दोबारा खड़ा हो गया, अब मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी, अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी, उसके बड़े बड़े मम्मे मुझे अपनी ओर खींच रहे थे कि हमें चूसो. मैंने सोचा कि जब यहां तक आ गई, तो पीछे भी आएगी, घर के आगे मेन गली थी और पीछे खेत थे.

मुझे अपने पुरूषत्व पर शक हो रहा था और भाभी मुस्कराते हुए अपने कपड़े ठीक करके चली गईं. मैं मूर्ख उनके मम्मों में ही डूबा रहा जबकि जन्नत मेरा इंतजार कर रही थी. मैंने उसकी गद्देदार गांड पर अपना हाथ लगाया और उसे सहलाना शुरू कर दिया.

सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती मैंने इससे पहले अब तक 3-4 औरतों के साथ मजा किया था, पर ये तो उन सबसे गजब की माल थी. लेकिन मिलना जरूरी था इसीलिए बिना कुछ सोचे चला गया यह सोच कर कि जो होगा देखा जायेगा.

सनम बेवफा के गाने

स्विफ्ट के सारे कांच बंद थे, इसलिए ज़्यादा कुछ समझ नहीं आ रहा था, पर उसमें एक औरत जैसी छवि नज़र आ रही थी. उसने मुझे थैंक्स बोला, फिर उसने कोई नम्बर मिलाया और वो फ़ोन पर बात करने लगी. जैसे ही उसकी गांड पर अपना लंड लगाया, तो मेरा पैर फिसल गया और मैं उसकी गांड पर गिर गया जिससे मेरे लंड का टोपा उसकी गांड में उतर गया.

बेचारी को दो दिन से वायग्रा का ओवरडोज दिया था, खून का प्रेशर चूत पर ही दबाव कर रह था. वो भी बोल रही थी कि वो पूरी नंगी वॉशरूम में कमोड पर बैठ कर फिंगरिंग कर रही है. नर्स की सेक्सी व्हिडिओथोड़ी देर तक उसकी पूरी चूत चाटने के बाद मैं खड़ा हुआ और मैंने उसको लंड चाटने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया.

मैं कॉलेज गई हुई थी कि हमारी टीचर को दिल का दौरा पड़ा और क्लास में ही उनकी मौत हो गई.

धीरे धीरे हम दोनों में फिर बातें होने लगीं, पर मेरी उनसे खुल कर बात करने की हिम्मत नहीं हो रही थी. मैं तुरंत वहां से बहाना करके वापस चला आया और वो मुझे बाहर ही दूसरी लड़कियों के साथ मिल गई.

चूस चूस कर ही थोड़ी देर में उसने मेरा लंड फिर से खड़ा कर दिया और मेरे लंड पर बहुत सारी क्रीम लगा कर उस पर ऊपर से बैठने लगी, लंड उसकी चूत में जाने लगा, वो एक साथ दर्द से चिल्लाने लगी पर रुकी नहीं और एक ही झटके से पूरा लंड अपनी चूत में उतार लिया. मैंने झट से उन्हें दीवार से लगा दिया और उनकी गर्दन को किस करने लगा. वे मेरे ऊपर चढ़ बैठे और अपना पूरा लंड फिर से गांड में अन्दर पेल दिया.

मैं- इसकी ज़िम्मेदारी मैं नहीं लेती कि कितनी देर लगेगी पर लग जाएगी, ये पक्का है.

रमेश ने एक झटका लगा दिया और उसका लगभग आधा लंड काजल की चूत में चला गया. सेंवढ़ा से भिंड जिले के मेंहगांव के लिए जाने वाली बस में बैठे, फिर सड़क किनारे बस से उतरे. उसने भी इंकार किया तो माला ने मुझसे बोला कि तुम मेरे साथ अन्दर तक चलो.

रश्मिका हीरोइन सेक्सी वीडियोवो मज़े से लंड ले रही थी, मैंने थोड़ा स्पीड बढ़ा दी, वो और सेक्सी आवाजें निकालने लगी. अपने भैया से मैं ज्यादा डरती थी तो केवल दो जोड़ी बहुत ही सिम्पल जींस टॉप रखे, बाकी 6-7 जोड़ कुर्ता सलवार रख लिए.

लंड चूत की पिक्चर

मुझे पता था कि कभी भी उसने ऐसा नहीं करवाया है तो बहुत समझदारी दिखा रहा था. मोनिका की मम्मी को रात में फ़ोन की लाइट बार बार जलने से शक हो गया था. फिर मैंने भाभी को अपनी बाँहों में उठाया और बिस्तर पर ले जाकर पटक दिया.

उसको घर लाने से पहले ही रास्ते में मैंने कॉंडम का एक पैकेट ले लिया था. वो बस मस्ती से चीखती जा रही थी- आह… ज़ोर से… आह… करते रहो… आह…करीब 15 मिनट बाद मैं जब झड़ने के करीब पहुँचने वाला था तो मैंने जल्दी से अपना लंड उनके मुँह में डाल दिया और मुँह को चोदने लगा. और कैसा भी दिख रहा हो, तारीफ जरूर कर देना और उसके साथ ही अपने लिए शॉपिंग करना.

पहले मैं थोड़ा अपने बारे में बता दूँ, मेरी लंबाई 5 फ़ीट 7 इंच है और मैं ज्यादा मोटा नहीं हूँ. मयूरी ने भी वक़्त न गंवाते हुए अपनी चूत को सुरेश के खड़े लंड पर सैट किया और ऊपर से ही सुरेश को चोदने लगी. ” कहते हुए ब्रायन ने मेरी मम्मी के चेहरे को पकड़कर उनके मुँह में अपना लंड दे दिया.

इतने मैं विकास ने पूजा को आँख मार कर कुछ इशारा किया और मुझे ड्राइविंग करने के लिए बोल दिया. वो दर्द के मारे चिल्ला उठा, मैंने पूरी झड़ने के बाद उसको छोड़ा तो भाई ने उठ कर मुझे घोड़ी बना कर पीछे से मेरी चूत में लंड घुसेड़ दिया, और मेरी गांड में हर 3-4 झटकों के बाद थप्पड़ मार देता, जिससे मेरी गांड पूरी लाल हो गयी थी.

मैंने दीदी की तरफ देखा तो उनकी आँखों में आँसू थे लेकिन चेहरे पर एक राहत भरी झलक भी नज़र आ रही थी.

दोस्तो, उसकी चूत पे एक भी बाल नहीं था और गांड भी एकदम मस्त चिकनी थी. हॉट सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्स एक्सआप गाड़ी कैसे चला सकती हैं? ए जगत, वो दूसरी लड़की को देखना तो!जगत नाम का पुलिसिया लपक कर रिया के पास आया तो रिया ने खुद ही मुँह खोल दिया। दो पल उसकी सुंदरता देख कर जगत ने ऐलान कर दिया- ये लड़की भी बहोत पी हुई है जनाब!तब तक एक बन्दे को हमारी पिछली सीट पे पड़ी हुई बोतलें दिख गयी तो और बवाल मच गया. बहन का चुदाई वाला सेक्सी वीडियोमैंने उसके कानों में बोला- सब कुछ सोफ़े पे ही करने का इरादा है क्या?वो बोली- चलो अन्दर. मैंने कई बार उसे बताना चाहा कि मैंने तुझसे बदला लेने के चक्कर में फंसाया था, पर उसने मेरा इतना साथ दिया कि मैंने ये बात अपने मन में ही मार ली और उसे एहसास भी नहीं होने दिया.

रीनू मामी भी पूरी पक्की थी, वो ऐसे ही सो रही थी जबकि उनके सामने एक नंगी औरत रंडियों की तरह चुद रही थी.

उसने मुझे खड़ा किया और मेरा लंड ऐसे पकड़ लिया जैसे मुझे गिरफ्तार कर लिया हो. इधर रमेश ने अपनी बहन काजल को सोफे पर लिटा दिया और उसके बगल में बैठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. मैंने देखा कि रीनू मामी की चूत गीली हो रही थी क्योंकि उनका पानी उनके कपड़ों पर आ रहा था.

छेद की सिलवटें साफ़ दिख रही थीं तो मुझे लगा कि ज़्यादा मुश्किल नहीं आएगी. हम लोग मेरे एक दोस्त की कार लेकर घर से निकल पड़े, साथ में खाने का कुछ सामान भी ले लिया. आज मैं भाभी की चुदाई करने अपने कॉलेज से छुट्टी लेकर पहुँच जाता हूँ.

ದೆಹತಿ ಸೆಕ್ಸ್

यह एक तेजी से बढ़ती हुई कंपनी थी और यहाँ माया जल्दी ही अपने बॉस, कंपनी के एमडी को इम्प्रेस करना चाहती थी. 36 साइज कहने से ही समझ आ जाता है कि उसकी मादकता कितनी ज्यादा थी, और उसके सपाट और चिकने पेट ने मेरे मन में हलचल मचा दी।कोई भी औरत जब साड़ी पहनती है तो उसकी कमर किसी भी आवरण से परे होती है और उस जगह से ही आप किसी स्त्री को बिना छुये या बिना पास जाये भी अनावरित कर सकते हो। मतलब स्त्री के नग्न रूप का आभास किया जा सकता है, आंटी ने काम करने के लिए कमर में साड़ी बांध रखी थी. जैसे ही गीतांजलि ने जैसे मेरे पजामे के ऊपर से लंड पर हाथ रखा, उसी समय सिमरन 3 कप कॉफी बना कर ले आई तो गीतांजलि ने मेरा लंड छोड़ दिया.

मौके का फायदा उठा के उस्मान ने माया की नाभि के नीचे अपनी उंगली फिरा दी.

सवाल- बहन को चोदना चाहता हूँ, हेल्प करो?जबाव- याद रखो बहन भी एक लड़की ही है.

आकांक्षा ने मेरे लंड को अपनी आँखें बंद कर के सूंघा और आँखें बंद किए किए ही उसने मेरे लंड पर अपने होंठ फिराने शुरू कर दिये, आकांक्षा मेरी अपेक्षाओं के बिल्कुल उलट एक हॉर्नी लड़की की तरह बर्ताव कर रही थी और अब वो मेरे लंड को अपने चेहरे पर फिराने लगी, उसने मेरा लंड अपने माथे पर फिर आँखों फिर नाक गालों होठों और ठोड़ी पर फिराया. एक तो मॉम वैसे ही पूरा दिन बाहर रहती थीं और जब शाम में घर में रहती थीं उस वक़्त उनके साथ बहन ज़्यादा वक़्त बिताती थी. सेक्सी मोमेंट्सतुम यही कुछ और ले लो और यहाँ भी यही पहना करो, गाँव वाले घर में मत पहनना बस.

मैं हर साल गर्मियों की छुट्टी में अपने मामा के घर घूमने जाता था, उस बार तो बात नहीं बनी, फिर दीवाली आई, खुशबू मामा के साथ भाई दूज पर हमारे घर आई. बताओ, क्या अगर तुम अपनी बहन के साथ ऐसे रिश्ते नहीं रखते तो क्या कभी समझ पाते कि भाई बहन आपस में क्यों चुदाई करते हैं?रमेश- हाँ, शायद तुम सही कह रही हो. शेरवानी में मेरा खड़ा लंड पूरा दिख रहा था और उनकी गांड में साड़ी का कपड़ा घुसता हुआ नज़र आ रहा था.

मैं कामुक सिसकारियां ले रही थी- सिस्स्स्सस अम्म्म्मम… उम्म्ह… अहह… हय… याह…मेरा पूरा तन और मन अब वासना की आग में डूब चुका था और मैं अपनी सारी मर्यादा भूल चुकी थी. हमारे प्राचीन ऋषियों ने स्त्रियों की योनि की बनावट के आधार पर उन्हें चार भागों में विभक्त भी किया है जैसे हस्तिनी, अश्विनी, चित्रिणी, पद्मिनी इत्यादि!अतः अपनी सेक्स कथा लिखते समय इतना मन में विश्वास रखना चाहिए कि आप भी साहित्य सृजन ही कर रहे हैं न कि गन्दा, अस्वीकार्य या अक्षम्य लेखन कर रहे हैं.

अभी चाय वाले से चाभी लेकर मैंने ऑफिस का गेट खोला और अन्दर आकर बंद कर दिया.

दोनों ख़ुशी ख़ुशी घोड़ी बन गईं और अपनी अपनी गांड मटका मटका कर लंड चुसाई के मजे लगीं. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी अकेली हो तब वो सिर्फ काले रंग की ब्रा और पैंटी पहनी हो और वो दिन भर ऐसे ही रहे मेरे सामने… मेरे सामने घर के सारे काम इसी तरह अधनंगी रह कर करती रहें!7. वो खड़ी हो गई और उसने कहा- मेरे राजा, इतनी जल्दी भी क्या है!वो गांड मटकाते हुए अन्दर गई.

सेक्सी वीडियो भेजो फुल एचडी बात कुछ समय पहले की है मैंने अपनी प्यारी साईट अन्तर्वासना पर एक स्टोरी पोस्ट की थीभरपूर प्यार दुलार के साथ कुँवारी सील तोड़ीतो काफी पाठकों के मेल मुझे आये और काफी लड़कों व लड़कियों ने स्टोरी की तारीफ की. मम्मी भी नीचे से अपने चूतड़ उछाल उछाल कर चुत चोदन करवा रही थी- आआह चोदो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आ और जोर से…पट पट की अवाज से कमरा गूँज रहा था।ससुर जी ने मम्मी की चूत से लंड निकाल कर नीचे लेट गये, मेरी मम्मी को अपने लंड के ऊपर बिठा कर उनकी चुदाई करने लगे। मम्मी भी ससुर जी के लंड की घुड़सवारी कने लगी, उछल उछल कर चुत चुदाई करवाने लगी.

उसने मुझे रोकने की बहुत कोशिश की लेकिन मेरे ऊपर तो चुदाई का भूत सवार था. मैंने कहा- टैलिपैथी से तुम्हारा संदेश मुझे पहले ही मिल गया था!अब प्रेरणा और फफक कर रो पड़ी और मुझसे लिपट कर कहने लगी- ओह संदीप, तुम नहीं होते तो मेरी जिन्दगी का मकसद पूरा नहीं हो पाता और मैं भी जिंदा नहीं होती।उस वक्त माहौल भावुक हो उठा था, फिर धीरे धीरे सभी सामान्य होने लगे. अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर मैं पहली बार अपनी सेक्स कहानी लिख रही हूँ, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी पसंद आएगी.

सकसी विडयो

मैंने उनकी चूत पे मुँह लगाया और जोर जोर से जीभ डाल कर चूत चाटने लगा था. मैं वापस नीचे आया और अपनी एक उंगली उसकी बुर पर रगड़ने लगा, वो जैसे मचल गयी. उऊहम्म्म…”पिंकी की चीख से सारा घर थर्रा गया था और पिंकी दर्द के मारे छूटने के लिए फड़फड़ा रही थी.

इधर उसने अपने एक हाथ को मेरे गले से हटा कर मेरे पजामे के ऊपर से ही मेरे लंड पर रख दिया. पर कोई भी भाई ऐसा नहीं होगा कि लड़की सामने नंगी हो, तो उसे चोदे ना.

सागर ने रात में मुझसे पूछा- अब आगे क्या करना है?मैंने कहा- अब तुम्हारे जीजू को ट्रैप करना है.

अपनी बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से होते देख मुझे भी बहुत मजा मिल रहा था, जिसमें मेरी बीवी की खुशी, उसमें मेरी खुशी… मेरी बीवी खुशी और आनन्द से किलकारियां मार रही थी, मेरे दोस्त के लंड को अपनी चूत में घुसवा कर नीचे से अपने चूतड़ उछाल उछाल कर अपने पति के सामने गैर मर्द से अपनी चूत चुदवा के मजा ले रही थी. फिर मैंने बरमुडा पहना और बाहर आ गया, उसके बाद तो मैंने उसे पूरे दिन अपनी गोद में उठा उठा कर चूमा और बूब्ज दबाये और चूसे पर उसने चूत को टच नहीं करने दिया. अगले दिन मैं पास की पैट शॉप पर गया तो उसने बताया कि अभी उनके पास कोई ऐसा मेटिंग करवाने लायक कुत्ता नहीं है, जब होगा तब बता देगा.

ताऊ के घर में इकलौता पुत्र होने के कारण उसकी शादी भी धूमधाम से की गई, जो कि समय से 6 महीने पहले ही कर दी गई थी. सच में माया मुझे तुम सब कुछ देने को तैयार हो?”अमित के बात करने के तरीके से माया को सब समझ आ गया कि ये चोदने के चक्कर में है लेकिन इस वक्त उसे वो फाइल चाहिए थी जो कि कंपनी के लिए बहुत महत्वपूर्ण थी. मैंने कहा- तुमने देखा नहीं तुम्हारा पति इसकी चूची और जांघों को ऐसे देख रहा था, जैसे चोद ही देगा तो ये छोटी कैसे हुई? वैसे भी 18 पार कर चुकी है.

वो भले ही 5 साल का है, पर है तो मेरा बेटा ही… वो भले ही 40 का हो जाए मैं तो उसे तब भी दूध पिलाऊँगी.

सेक्सी बीएफ देहाती सेक्सी बीएफ देहाती: निहारिका का जॉब इंटरव्यू दिल्ली में शनिवार को था, तो हम लोग दिल्ली शनिवार को ही पहुंच गए थे. फिर मैंने उसे लिटाया और उसकी चूत पर लंड का टोपा रखा और जोर लगाया, वो पूरी तरह से कुँवारी थी तो उसे थोड़ा दर्द हुआ.

रिया ने मेरे बूब्स दबा दिये, मैं कुछ नहीं बोली कि तभी मेरी सास बाथरूम में चली गई फिर रिया ने मुझे पकड़ा और मेरे होठों को चूमने लगी, मुझे किस करने लगी और मेरी साड़ी ऊपर उठा के मेरी चूत को रगड़ने लगी. कोई है कि नहीं?मैंने भी कहा- हां एक लिया था लेकिन आपके डर से कभी घर में नहीं पहना, वहां कभी कभी पहन लेती थी. मैंने उसे समझाया कि सुभाष देख रेणुका भाभी की खुशी जिसमें है, तू उसमें खुश रह, क्योंकि अगर तू उनकी बात नहीं मानेगा तो रेणुका भाभी और तेरे बीच फालतू का झगड़ा होगा.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट भी उतार दी और उसकी काली पेंटी को अपने दांतों से पकड़ कर उतार दिया.

जैसे मैंने अपनी जान को बांहों में लिया था और उस ड्रेस में उसे हनीमून पर ले जाने वाला अहसास हो रहा था. फिर वो 9 बजे स्टैंड पर मिली, मैं उसे लेकर कुछ दूरी पर नहर के किनारे एक अरहर के खेत में ले गया. सीनियर, जिसका नाम सिराजुद्दीन था उसने कहा कि हमें पुलिस थाना चलना पड़ेगा।अब हम दोनों सिराज के सामने गिड़गिड़ाने लगी- सर, पुलिस थाना जाकर क्या करेंगे… जो भी है यही सुलझा लीजिए प्लीज। अगर थाने में गई तो हम किसी को मुँह दिखाने के काबिल नहीं रहेंगी। प्लीज सर… प्लीज!वैगरह वैगरह!काफी देर बाद उसने हमें चुप रहने के लिए बोला। फिर उसका और उसके साथियों का नजरों में ही कुछ इशारा हुआ.