जानवर इंसान का बीएफ

छवि स्रोत,एक्स वीडियो हिंदी में देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी साड़ी वाली वाली: जानवर इंसान का बीएफ, दोबारा पूछते हुए मैंने कहा- मजा आया कि नहीं?वो धीमी सी आवाज में बोली- बहुत!उससे इस तरह की कामुक बातें करते हुए अब मेरी जिज्ञासा और उत्तेजना दोनों बढ़ने लगी थी.

एक्स एक्स एक्स बीपी पिक्चर

फिर मैंने जोर के झटकों के साथ ही अपना रस उसकी चूत में ही डाल दिया उसी वक्त उसने भी एक बार फिर से अपना पानी छोड़ दिया. ब्लू फिल्म चुदाई हिंदीमगर उनको क्या पता था कि मैंने अपनी चूत की गर्मी सोनू के लंड से शांत करवा ली थी.

अगले हफ्ते जब मैं ससुराल गया, तब मैं फिर से मेरी बीवी को चुदाई के लिए मना रहा था. शेकशी saxy”क्यों?” मेरी झुंझलाहट बढ़ती जा रही थी।वो … वो मुझे घल पल ताम तलने ता पूछ लही थी.

इतने में ऋतु चाय लेकर आ गई और हम दोनों से चाय पीने के लिए कहने लगी.जानवर इंसान का बीएफ: मेरा लंड उत्तेजित तो पहले ही था, अब 120 डिग्री पर पेट को लगने लगा था.

अब तो मुझे पक्का यकीन हो गया कि ये भी मेरी तरह चुदाई की प्यासी हैं.मैंने उसको अपने सीने से चिपकाते हुए कहा- इसी बात पर हो जाये राजा रानी का मिलन.

বিএফ ব্লু ফিল্ম ভিডিও - जानवर इंसान का बीएफ

दूसरे दिन सुबह उनका फोन आया और भाभी ने कहा कि शिवा भूलना मत … ठीक 8 बजे तक आ जाना.पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया उन्होंने। मेरे दोनों निप्पलों को बारी-बारी से चूसते हुए वो मुझे चोदने लगे.

करीब दो घन्टे बाद मेरी आंखें खुलीं, तो देखा कि रीना करवट लेकर अभी भी सो ही रही थी. जानवर इंसान का बीएफ शुरू में जब पहली बार मैंने एक रंडी की चूत चोदी तो बहुत मजा आया लेकिन फिर धीरे-धीरे मजा आना कम होता चला गया.

उसने मुझे रोक दिया और साइकिल एक तरफ लगा कर मुझे बांहों में भर लिया और मुझे चूमने लगा.

जानवर इंसान का बीएफ?

पापा अपने काम पर चले जाते थे और माँ भी पड़ोस में अपनी सहेलियों के साथ बतियाने चली जाया करती थी. ” ज्योति ने शर्म से कन्धा नीचे करते हुए कहा।बहन आप इजाज़त दें तो एक बात पूछूं?” समीर ने अपनी बहन से कहा।हाँ पूछो?” ज्योति ने जवाब दिया।आपके पति को मरे हुए 8 साल हो चुके हैं, आपका मन नहीं करता कि आप किसी से सम्भोग करें?” समीर ने सीधा सीधा कह दिया।अरे पगले मन तो करता है, मगर मेरी किस्मत में नहीं लिखा था तो क्या कर सकते हैं. अब कमरे में अँधेरा था, बस हलकी सी रोशनी म्यूजिक प्लेयर से आ रही थी.

बहू की चुदाई की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि ज्योति ने अपने भाई समीर को अपने पिता महेश की करतूत के बारे में बताया. इसलिये आप पहले मेरी कहानी का पहला भाग जरूर पढ़ लें ताकि मेरी इस सेक्स कहानी का पूरा मजा आए. अपनी आँखों में भूख और होंठों पर मुस्कान लिए शबनम ने उसकी तरफ देखा- थैंक्स!उसके दिल की धड़कन रुक सी गयी जब उसने उसकी सलवार को थोड़ा सा ऊपर किया और थोड़ा ऊपर मसाज करने लगा.

उसने बोला- ठीक है, मैं शादी तो करूंगी … लेकिन आज अपना सब कुछ आपको सौंपने बाद ही शादी करूंगी. उसको छत से नीचे का नजारा साफ दिखाई दे रहा था और उसकी गांड महेश की तरफ उठी हुई थी. थोड़ी देर बाद हम दोनों ने एक साथ नहाया और फिर मैंने कपड़े पहन कर अंकल से विदा ली.

आप भी यहां नहीं हो, तो मैं सोच रही थी कि चली जाती, घूमना भी हो जाता. मैं जैसे तैसे बुआ के घर पहुंचा, तो वहां आंधी की वजह से लाइट भी जा चुकी थी.

जब मैं चाची के घर में पढ़ रहा था, तब भी मैं उन्हें चाची के घर में बहुत बार देख चुका था.

अब तो मेरी सास की हालत बहुत खराब हो गई, वो ज़ोर ज़ोर से ‘आह आह आह ऊह ऊई …’ करने लगीं.

मैंने कहा- आपकी चूचियां तो बहुत बड़ी और भारी हैं … इसे कैसे छोटे पिंजरे में बंद करके रखती हो. चाची ने मेरा लंड हाथ में ले कर अपनी चूत में डालने का फिर से प्रयास किया. दीदी प्रशांत के लंड से चुदने लगी और उसके मुंह से तेज-तेज आवाजें होने लगीं.

फिर मैंने वापस लंड निकाल कर जोर से चुत के अन्दर डाला, तो दो तीन धक्कों में ही मोनाली गर्म हो गयी. अंकल ने बोला- अरे सीमा, तुझे ठंड लग जाएगी, जल्दी जा बाथरूम में और कपड़े बदली कर ले. ”मेरी बात वो समझ तो गई थी लेकिन वो ऐसे रिएक्ट कर रही थी जैसे उसे कुछ समझ ही न आ रहा हो.

मैंने नेहा की टांगें फैला दीं और उसकी चूत पर मुंह लगाकर उसकी खुशबू लेने लगा.

मैं किचन में खड़ा होकर देखने लगा कि ऋतु और अनिल हंस कर आपस में बातें कर रहे थे. उसकी गांड के बारे में क्या बताऊं आपको … जो एकदम मस्त सी, अनछुई सी, बिल्कुल वर्जिन, कोरी सी, गोरी-गोरी सी, परफेक्ट शेप वाली और गोल-गोल है. मैं उसको लेकर बहुत ही ज्यादा उत्साहित था क्योंकि मैंने बहुत सी ब्लू फिल्म में नाइजीरियन लड़कियों को चुदते हुए देखा था.

आंटी अभी दो महीने पहले ही हमारे घर में आई थीं और उनको देखते ही मैंने उन्हें चोदने का प्लान बना लिया था. उसने कहा- मैं तुमसे प्यार करती हूँ … इसलिए आज तुम्हें मेरी आग शांत करनी होगी … मैं कब से तुम्हारा इंतजार कर रही थी. सासू बोलीं- अभी बकवास सुनने का टाइम नहीं है, जो बोल रही हूँ … वो करो.

!मैंने कहा- हां … तो?उसने कहा- तो क्या? चलो जाने दो … मैं कुछ सैटिंग करता हूँ, ठीक है … तुम्हारे क्लास टीचर से में मिलूँगा ओके! तुम टेंशन मत लो और तुम अपनी उस सहेली ईशिता को भी फ़ोन करके बोल दो कि टेंशन मत ले, मैं सब सैटिंग कर दूँगा … ठीक है?यह बात सुनते ही मेरे मन को शांति हुई और ईशिता को भी मैंने फ़ोन करके बोल दिया.

चयन ने मेरा लंड अपनी गांड में लेने के बाद कहा- मोंटू आज तुमने मुझे बहुत मज़ा दिया. अब जब मीनू ने सब कुछ देख ही लिया था तो हम दोनों भी मीनू से खुल कर बात करने लगे.

जानवर इंसान का बीएफ यह कह कर मैंने उनके आंसू पौंछे और साथ ही साथ उनके उन नर्म नर्म गालों और होंठों पर भी हाथ फिरा दिया. उन्होंने बहुत ज़ोर लगाया, तो मैंने बोल दिया- अगर गांड में डालने दो, तो वहां जल्दी निकल जाएगा.

जानवर इंसान का बीएफ बातों बातों में अंजू बोली- मामा आपकी गर्लफ्रेंड की कोई बात बताओ ना?मैंने कहा- अरे … मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं. तीनों ही फिर से मजा लेने लगे और पूरा कमरा कामुक सिसकारियों से गूंजने लगा.

सारिका अब बड़बड़ा रही थी- जानू और तेज … और तेज मेरी जान …राहुल अब ऊपर हुआ और सारिका के होंठों से अपने होंठ मिला दिए.

एक्सएक्सएक्स सीएनएक्सएक्स

साथ ही मैं 2 उंगलियां उसकी चुत में डाल कर अन्दर बाहर कर रहा था, जिससे वो और भी ज्यादा गर्म हो गई थी. मजा आया चाची?”चाची- हां … ये मेरी ज़िंदगी की सबसे यादगार चुदाई थी और सबसे मजेदार … तेरी बीवी लकी होगी जीशान … उसे हर दिन जन्नत दिखाएगा तू. शुरू से ही जवान लंड को चूसने का, सहलाने का, उससे चुदवाने का शौक लगा हुआ था.

वो मेरी छाती पर आकर लेट गई, बोली- मेरी नज़र तो तुम पर पहले से ही थी. तभी मैंने पूछा- अंकल आप सिर्फ मर्दों की मालिश करते हैं या औरतों की भी करते हैं. सुमिना यूं तो काजल के साथ व्यस्त रहती थी लेकिन मैं कोई चान्स नहीं लेना चाहता था अपनी बड़ी बहन के सामने.

उसने अपनी पैन्ट नीचे की और लंड जो खड़ा होना शुरू हो चुका था, उसको बाहर निकाल कर शिवानी से कहा- अब इसके साथ जो करना है वो करो … ताकि इसका आकार पूरे रंग में आ जाए.

नीता ने काम देख कर उन्हें जाने को कह दिया कि जब जरुरत होगी बुला लेगी. मैंने उसे टोकते हुए कहा- क्या बात है आज बड़ा प्यार आ रहा है मुझ पर?वो मुस्कुराई लेकिन कहा कुछ नहीं और उठ कर बैठ गयी।अब समय था रोमांच का … पहले मैंने वाइन से अपना पूरा मुंह भरा और और उसके होंठों की चूमते हुए उसे सारी वाइन पिला दी. रात को सभी के कमरे से सीत्कारें आतीं और सुबह उठने पर एक दूसरे की खिंचाई भी करते.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथों को जोर से पकड़ा हुआ था। दोनों ओर से मेरे ऊपर हमला हो रहा था और मुझे प्रतिकार करने का मौका ही नहीं मिल रहा था।युवराज मेरे दांयें निप्पल को चूसता, फिर स्तनों के बीच की घाटी को चूमते हुए बांयें निप्पल को मुँह में पकड़ता, दूसरी तरफ अमित मेरे पैरों को किस कर रहा था। घुटनों से शुरू करते हुए वह जांघों तक किस करता रहा और फिर मेरी चूत की तरफ बढ़ने लगा. उसके गर्म होंठ ऐसे लग रहे थे मानो जन्मों से किसी सुलगते हुए ज्वालामुखी का ऊपर बारिश हुई हो. जब उसका पूरा ध्यान चुम्बन की तरफ था, तभी मैंने एक ज़ोर का धक्का उसकी चूत में मारा.

फिर मैं नीचे की तरफ़ गया, तो उसकी जाँघों पे किस करते हुए पैर की उंगलियों को चूसने लगा. मैं नीचे उतरी और कोई मुझे देखे नहीं, वैसे जल्दी से कार में बैठ गई … क्योंकि ऐसे कपड़ों में मामा और मामी मुझे जाने नहीं देते.

अब आगे:उसी रात को उनके मैसेज से मेरी आंख खुली, जिसमें लिखा था ‘शनिवार रात को अगर चाहो, तो बात बन सकती है क्योंकि मेरे पति को ऑफ़िस के किसी कार्यक्रम की तैयारी के लिए उधर ही 2 दिन रहना पड़ेगा, जो जयपुर है. सारिका ने अपने पैर पंकज के कंधे पर रख दिए और पंकज की चुदाई से मदमस्त होकर आवाजें निकालने लगी. अब मुझे मजा आने लगा और वो मेरे दूध को दबाते हुए मुझे जोर से किस करने लगा.

मेरी सेक्सी भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथों से सहलाया और इठलाते हुए अपने घुटनों के बल बैठ गईं.

मुझे पता चला कि रिंकी इंदौर की ही रहने वाली है और वो अपने भाई के यहां दिल्ली जा रही है. सब जोर से हंस पड़ीं क्योंकि नीता ने पैंटी पहनी ही नहीं थी और ये बात वो भूल भी गयी थी. उसकी जीभ अब सिर्फ सुपारे पर ही नहीं बल्कि उसके आस पास तक घूम रही थी.

फिर काफी देर तक तो मुझे इस घटना के बारे में सोचते हुए नींद नहीं आई लेकिन फिर मैं भी सो गया. उसने भी मेरे लोअर में हाथ मेरे लंड को बाहर निकाला और लंड को दबाने लगी.

” गौरी की डर के मारे रोने जैसी शक्ल हो गई थी।हा … हा … हा …”गौरी ने आश्चर्य से मेरी ओर देखा।हालांकि आज मौक़ा बहुत अच्छा था मैं उसके और मजे ले सकता था पर मैं उसे और ज्यादा परेशान नहीं करना चाहता था।मैंने उससे कहा अरे नहीं यार … मैं तो मजाक कर रहा था। भला मैं तुम्हारी कोई बात मधुर को कैसे बता सकता हूँ?”आपने तो मेली जान ही निताल दी थी. मैं जानता था कि वहाँ पर चलती हुई गाड़ियों में इस तरह चूसा-चुसाई के काम बहुत होते हैं. पंकज बहुत रिफाइंड टेस्ट वाला व्यक्ति था और सारिका ने भी अपना फ्लैट बहुत खूबसूरती से सजा रखा था.

वीडियो मे सेक्सी वीडियो

मुझे पता नहीं था कि उसका ही फ़ोन है, क्योंकि मैंने उसका नम्बर लिया ही नहीं था.

खेत के अन्दर जाकर उसने चादर बिछा दी और खुद उस पर बैठ कर बोली- आप भी बैठ जाओ. प्यारे दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार! मेरा नाम जसदीप कौर है व उम्र 24 साल है. एक दिन वीना आंटी ने मुझसे पूछा- तुम नए आए हो?मैं बोला- हां हम लोग इधर नए आए हैं.

मैंने थोड़ा आगे झुकते हुए उसकी बगल से पानी की टोंटी के नीचे करके हाथ धोना शुरू किया तो वो साइड में हटने के लिए सरकी मगर मेरी दूसरी टांग से टकराने के कारण उसकी गांड मेरे खड़े हुए लंड से आ सटी. उसके मुंह से जोर से आह्ह … आह्हह की आवाजें निकल रही थीं और मेरा हाल भी कुछ ऐसा ही था. पंजाबी सेक्सी एक्स एक्सइस तरह चलता गया … सोनिका के साथ मैं मोहनीश से मिलती गयी और मैं और मोहनीश एक दूसरे के करीब आते गए.

मैं अपने बिस्तर पर लेटा हुआ अंकल के बारे में ही सोच रहा था कि तभी मेरे रूम के दरवाज़े पर खटखट की आवाज़ होने लगी. अनिता भाभी के मुँह से बस यही निकला- आह मार दिया … रुकना मत … आह डाल दो पूरा अन्दर … उई माँ … चोद दो मुझे अपनी रंडी बना कर!अब ये बात सुनी तो भला मैं क्यों पीछे रहता.

जब उसकी जालीदार पतली पैंटी नहीं खुली तो मैंने उसको खींच कर फाड़ ही दिया. ” गौरी ने मना करते हुए कहा।जानी … कभी हमारे हाथ की भी चाय पी लिया करो … हम भी बहुत कमाल की चाय बनाते हैं. उस पूरे दिन वो मेरे आस-पास ही घूमते रहे और किसी ना किसी बहाने से मुझे टच करने लगे.

मैं अपने बिस्तर पर लेटा हुआ अंकल के बारे में ही सोच रहा था कि तभी मेरे रूम के दरवाज़े पर खटखट की आवाज़ होने लगी. तब मैं रूड़की उत्तराखण्ड में रहकर पढ़ाई कर रहा था और अपने दोस्त की शादी में उसके घर आया था। हमारी दोस्ती कब प्यार में बदल गयी, ये हम दोनों को ही नहीं पता चला।उसके घर में इतनी बंदिशें थीं कि उसका घर से निकलना लगभग नामुमकिन ही था. अब मैं भी अपना माल जल्दी निकालना चाहता था … क्योंकि मेरा शरीर एक चरम सीमा जैसी भावना से पूरे जोश में आ गया था.

हमारे बिस्तर के पास एक बोतल पानी रखा था, हम दोनों जब चुदाई करते करते पसीने से भीग जाते तो हम पानी पीते थे.

” नीलम ने अपने ससुर से कहा और अपनी साड़ी को अपने जिस्म से अलग करती हुई उतारने लगी। नीलम कपड़े उतारते हुए अपने ससुर की तरफ नहीं देख रही थी क्योंकि उसे शर्म आ रही थी।नीलम ने साड़ी उतारने के बाद अपने ब्लाउज और पेटीकोट को भी खोल दिया। इधर अपनी बहू को सिर्फ एक छोटी सी पेंटी और ब्रा में देख कर महेश का बुरा हाल हो चला था. उसने मुझे जगाया और मेरे लिए कॉफी बनाई और हम दोनों ने साथ में कॉफी पी.

अब राहुल को भी नशा चढ़ा … उसने ऊपर होकर अपना लंड सारिका के मुंह में अंदर कर दिया. राहुल अपने कॉलेज में तैराकी में चैंपियन होने के साथ ही स्विमिंग कोच भी था. फिर मैंने जोर के झटकों के साथ ही अपना रस उसकी चूत में ही डाल दिया उसी वक्त उसने भी एक बार फिर से अपना पानी छोड़ दिया.

इसके बाद हम दोनों कुछ देर तक यूं ही हांफते हुए अपनी सांसों को नियंत्रित करते रहे. अंकल ने बोला- अरे सीमा, तुझे ठंड लग जाएगी, जल्दी जा बाथरूम में और कपड़े बदली कर ले. दो मिनट रुकने के बाद जब वो शांत हुई तो मैंने धीरे-धीरे चाची की गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया.

जानवर इंसान का बीएफ उन्होंने मेरा लंड हाथ में पकड़ा और बोलीं- तेरा लंड तो तेरे अंकल से भी बहुत बड़ा है और मोटा भी है. कुछ देर तक वो धीरे-धीरे चूत में लंड को डाल कर हिलाता रहा और फिर मेरा दर्द कम हो गया.

मारवाड़ी चुड़ै

चूंकि वह असल में तो सिंगल बेड ही था अतः हम दोनों चिपक कर ही सोते।मेरा रूम मेट भी यही कोई तेईस चैबीस साल का रहा होगा, मेरे से ज्यादा गोरा … बहुत माशूक बन ठन कर रहता. जब भी आंटी छत पर होतीं, तो मैं उनको देखने के लिए कोई ना कोई बहाना बना कर छत पर उनको ताड़ने के लिए पहुंच जाता. मैंने दरवाज़ा अन्दर से डबल लॉक कर दिया कि कहीं कोई गलती से दूसरी चाबी से खोल न ले.

मैंने कहा- अब जब तुझे पता ही है, तो फिर क्यों पूछ कर मुझे शर्मिंदा कर रही हो. क्या बताऊं … वो इतनी गजब की खूबसूरत लग रही थी कि मेरा लंड खड़ा हो गया. ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी वीडियोपांच मिनट के बाद सब लोग अपने अपने पार्टनर बदल सकते हैं, इसके बाद पंद्रह मिनट तक म्यूजिक नहीं बदला जाएगा.

मेरा आधा लंड अन्दर चला गया और चाची की चीख तेज़ हो गयी- आआआहह … माँ … मर गई … आह … ऊऊह.

स्स्स … हाय … क्या चूचे थे उसके और वो भी नंगे!मेरा लंड तुरंत तन गया और उसकी गांड पर झटके देने लगा. मुझे पता ही नहीं चल रहा है कि मेरी सेक्सी भाभी क्या चाह रही है? क्या खेल खेल रही है मेरे साथ.

मेरी पिछली कहानीबड़े लंड का लालचजिन्होंने नहीं पढ़ी है, उन्हें यह नयी कहानी कहां से शुरू हुई, समझ में नहीं आएगी. उसने कहा- मैं क्या आगे नहीं बैठ सकती?मैंने कहा- क्यों? आगे ही बैठी हो?उसने कहा- नहीं, आपने पीछे का दरवाजा खोला था न, इसलिए पूछा. उस समय हाथ मेरे लंड पर चल रहे थे लेकिन मन ख्यालों ही ख्यालों में अनीता की मैक्सी को उठाकर उसके बदन के दर्शन करने की कामुक कल्पनाओं में गोते लगाने लगा था.

पर यह होड़ में आखिर में ही हार गई। मैं झड़ कर निढाल हो गयी।अगले ही पल रॉकी के लन्ड ने भी अपना काम पूर्ण किया और वीर्य का एक फव्वारा निकला और मेरी चूत को लबालब कर गया। रॉकी मेरी ऊपर ही पसर गया और हाँफने लगा।कुछ देर आराम करने के बाद जब घड़ी में समय देखा तो शाम के 5.

उसने मेरे हाथ से सिगरेट ले ली और मेरे लंड पर धुंआ छोड़ते हुए हामी भर दी. लेकिन वह छत इतनी पास नहीं थी कि चुदाई के बारे में सामने से देखने वाले द्वारा कुछ अन्दाजा लगाया जा सके. थोड़ी देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और इधर मेरे लंड से भी बौछार निकल गई.

एक्स वीडियो चूतथोड़ी देर तो अर्पित भी मुझे देखता रह गया और बोला- यार क्या माल लग रही हो तुम आशना … तुम्हारे सर तुमको चोदें, उससे पहेले शायद में ही तुम्हें ना चोद डालूं. मैंने भी बदला लेने के लिए उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी और उसको कब बेड पर गिरा दिया मुझे पता नहीं चला.

ब्लू सेक्स पोर्न वीडियो

कुछ ही पलों में मुकुल राय अपनी बेटी के होंठों के स्पर्श के उस सुखद एहसास में डूबने लगा।आआहह … बेटी … प्लीज बेटी ऐसे ही करते रहो. मैंने जीभ थोड़ी और अंदर कर दी और उसकी सिसकारियाँ और तेज़ होने लगीं. तभी वो झड़ गई, मैंने उसका सारा पानी चाट लिया और उसकी चूत चाट कर साफ कर दी.

मैंने मना किया तो उसने मुझे पैरों से जकड़ लिया और मेरा वीर्य उसकी चूत में ही गिर गया. मेरी उम्र 40 साल है मगर मेरी बॉडी काफी हद तक फिट है और कहीं से भी मेरी शेप बिगड़ी नहीं हुई है. तो मैंने अपने दोनों हाथ उसके गाल पर रखे और मुँह ऊपर करके पूछा- क्या हुआ … उदास क्यों हो गईं?उसने बताया- मेरे पति हमेशा काम के सिलसिले में बाहर ही रहते हैं.

इसलिए मैंने नीचे बैठकर उनके लंड को अपने मुंह में भर लिया और तेजी से चूसने लगी. डॉक्टर ने एक नजर अपनी बीवी की तरफ डाली, उसकी बीवी भी शरारत से बोली- हां हां कर सकते हो! तुम चूत चूसने में बड़े उस्ताद हो, मुझे पता है. आज भी मैं आपके सामने मेरे जीवन की एक ऐसी ही हक़ीकत बताने जा रही हूँ.

फिर मैंने धीरे से बोला- सॉरी!वो बोली- किस लिए सॉरी?मैंने कहा- मेरी हरकत के लिए. मैंने उसकी चूची को दबाना चालू किया और आगे को मुँह करके उसके होंठों को अपने होंठों में भर लिया.

अब मैं मालिश के साथ साथ उनकी गांड को भी सहला रहा था और उनकी चूत भी टच करने लगा.

उस पर हल्की सी झांटें थीं जिनको देख कर लग रहा था कि उसने अपने बाल कुछ दिन पहले ही बनाये होंगे. रानी वीडियो सेक्सीफिर मुझे सीधी खड़ी करके पीछे से लंड डाल दिया और मेरे मम्मे दबाते हुए चोदा. चूत में लंड सेक्सी वीडियोउसने नायरा को चिपकाया और उसके कान में पूछा कि क्या वो उसके साथ कम्फर्ट नहीं फील कर रही?नायरा अब तक चारों ओर का नजारा भांप चुकी थी कि सब ओर चूमा चाटी हो रही है. इसमें कोई भी ग़लत बात नहीं होगी अगर कोई कहे कि सागर का लंड शिवानी के दोस्त के लंड जितना ही लंबा था … मगर मोटा उससे ज़्यादा था … जो हर चूत को प्यारा होता है.

कुछ तेज़ झटके देने के बाद मैंने लंड निकाल कर उनके मम्मों पर लंड की पिचकारी छोड़ दी.

तब से वो रोज मेरे ऑफिस से छुट्टी वाले समय पर ऑफिस के बाहर आता था और हम दोनों लोग पार्क में जाकर एक दूसरे को किस करते थे. मैं धीरे-धीरे मालिश करते हुए अपने हाथों को उसके चूचों तक लेकर जा रहा था. फिर उसका गर्म मूड बन जाता, उसके बाद वो बेड पर वो घमासान मचाती है कि पूरी रात नशे में हम दोनों एक दूसरे के जिस्मों में कैसे बीत जाती है, पता नहीं चलता है.

इसलिए कुछ देर पहले वो इतने गुस्से में थी और अब वो मुझसे खुद ही माफी मांग रही थी. इसी बात का फायदा उठा कर मैंने फिर से रजू के चूचों में हाथ डाल दिया. मैंने भाभी को अपनी बांहों में भर लिया और उनको फिर से गर्म करने लगा.

नंगी फिल्में वीडियो में

आज जब मौका आया तो उसे जाने मत दो, मैं आज तक किसी से नहीं चुदी … अब तुम मेरी आग बुझा दो, मेरी चूत जल रही है. मैंने देखा तो वो उस पर आइसक्रीम लगा रही थी। अभी मैं कुछ समझता, तब तक मेरा आधा लंड उसके मुंह में था. तभी उसकी कमर में हरकत हुई और मैं समझ गया कि मेरी माल अब चुदने के लिए तैयार है। अब देरी ना करते हुए मैंने धीरे धीरे अपने लंड को गति दी, मैं उसे पहले बहुत धीरे धीरे चोद रहा था.

मुझे उसकी आंखें वासना से भरी ऐसी दिख रही थीं … जैसे वो मुझे अभी ही खा जाएगी.

और हमारे क्लास टीचर हम सबको इंटरनल मार्क्स की शीट पर साइन करवा रहे थे.

मैं उससे ताकतवर था और उसके लंड का सुपारा मेरी गांड में घुसा आनंद दे रहा था. इसी दौरान मैंने उससे उसक़ी मैक्सी निकालने को कहा, उसने शर्माते हुए अपनी मैक्सी निकाल दी. xxx.com सेक्सीवह मेरी तरफ करवट किए मेरे से चिपका था, उसकी जांघें मेरे ऊपर मेरी जांघ पर रखी थी.

मैं- मैंने जो कल बोला, क्या उसके लिए नाराज हो?थोड़ी देर बाद उसका जवाब आया- नाराज नहीं हूं … बस तुम्हारे बारे में सोच रही थी. वस्त्रहीन भीगे जिस्म पर हाथ फिराया और फिर दायें हाथ से पकड़ कर लिंग को शॉवर से गिर रहे पानी के धारे के नीचे कर दिया. वहां पर उसके और दोस्त भी थे वे सब अपनी गर्ल फ्रेंड्स के साथ उधर आए हुए थे.

” उसने अपनी मुंडी नीचे कर ली।हे भगवान कैसे माँ-बाप हैं बेचारी को बिना खिलाये पिलाए ही काम पर भेज दिया।चलो तुम भी चाय और बिस्किट ले लो. आज शॉवर से गिर रही बूंदों की छुअन गर्म जिस्म पर बाकी दिनों की अपेक्षा ज्यादा ठंडी महसूस हो रही थी.

इस कार्य में राहुल जी ने मेरी मदद की है, मैं उनका आभारी हूँये कहानी मेरी और मेरे ऑफिस की फ्रेंड कविता की है.

मैंने चाची के चूचों के बीच में अपना लंड दे दिया और उनके चूचों की ही चुदाई करने लगा. वो एकदम से जोर से चिल्लाने लगीं कि आह साले फाड़ दी मेरी चूत … आराम से कर मादरचोद … बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ. शिवानी का डिल्डो अभी भी मेरे पास था, जो मैंने उसे अभी तक वापिस नहीं किया था.

मुंबई की चुदाई वीडियो मैं जानता था कि जो रिश्ता मेरे और काजल के बीच में है वो रिश्ता कुणाल और सुमिना के बीच में भी है। यह उन दोनों की आपसी सहमति का मसला था इसलिए मैं बीच में अपनी रूढ़िवादी सोच को नहीं आने देना चाहता था. हां आप ठीक समझे … भाभी की प्यारी सी चुत की मालिश करने बारी आ गई थी.

मैंने अपनी पूर्व की कहानी का लिंक दिया है, जो दोस्त मेरी जवानी से परिचित न हों, वे प्लीज़ मेरी इस लिंक को खोल कर मुझसे परिचित हो लें. आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी, कमेंट करके बतायें या फिर मेरी मेल-आई डी पर अपने मैसेज भेज कर प्रोत्साहित करें. अगर मुझसे कुछ बातें करके अपना अनुभव बांटना चाहती हैं तो मुझे लिखना न भूलें। मुझे आपके पत्रों का इंतजार रहेगा।इसी के साथ आप सभी पाठकों का सहृदय धन्यवाद। आपके पत्रों की प्रतीक्षा में आपका अपना विंश शंडिल्य।[emailprotected].

सेक्सी बीपी वीडियो भोजपुरी

मैंने हल्का झटका लगाया तो वो अपनी जगह से हट गया। उसने फिर लगाया और फिर हट गया।लगभग 2-3 बार के बाद मैंने पुश किया तो इस बार मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत में चला गया और उसकी चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से … आह्ह, दर्द हो रहा है बहुत।फिर मैंने थोड़ा विराम दिया और जोर का धक्का दे मारा तो पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. इतना कहते हुए मैं उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से मसलने लगा और पैंटी के ऊपर से चुत को सहलाने लगा. मुश्ताक ने नायरा से कहा- मुझे फ्रेंच किस नहीं सिखाओगी?तो नायरा ने मुस्कुराकर मुश्ताक के होंठ से अपने होंठ भिड़ा दिया.

पैंट पहनने के बाद मैंने अपने तने हुए लंड को अपनी पैंट में एडजस्ट करने का दिखावा सा किया. मैं- मैंने जो कल बोला, क्या उसके लिए नाराज हो?थोड़ी देर बाद उसका जवाब आया- नाराज नहीं हूं … बस तुम्हारे बारे में सोच रही थी.

हाय … इसकी गांड … इसके स्तन … कितने रसीले होंगे अनीता के स्तन … चूस-चूस कर पी लूंगा उनको.

मैं अपने दोस्त के घर लगभग पन्द्रह दिनों तक रहा था और इन सारे दिनों में मैंने अंकल के साथ अलग अलग तरीके से गांड चुदाई की. मगर अगले ही पल दोनों भाई बहनों के नंगे जिस्मों ने आपस मिल कर सारी चिंताओं को भुला दिया. कहीं ऐसा न हो कि कोई और ही मामला हो और मेरी इज्जत मिटटी में मिल जाए.

मैं पूरा दिखावा कर रहा था कि मैं अब उसकी चूत को हाथ नहीं लगाने वाला. जोश में आकर मैं हर्ष के लंड से अपनी गांड मरवाना चाहती थी कि फिर पता नहीं फिर ऐसा लंड कब मिले!हर्ष नीचे बैठ कर मेरी गांड के छेद पर अपनी जीभ डालकर चाटने लगा और काफी सारा थूक मेरी गांड में छोड़ दिया. उन्हें चूमते हुए मैंने धीरे से उनकी मैक्सी ऊपर उठाई और उतार कर अलग रख दी.

उसने मेरी टांगें अपनी कंधों पर रखीं और अपने लंड को मेरी चूत में उतार दिया.

जानवर इंसान का बीएफ: मैं बाहर आकर खाना बनाने ही लगी थी कि तब तक माँ और चाची घर में आ गई. मैंने संजना के चेहरे को अपने हाथों में पकड़ कर उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के दौरान वो दो बार अपना पानी छोड़ चुकी थी. उन्हें देख कर मुझे लग रहा था कि खाना पीना बाद में देखा जाएगा … इस साली को पहले यहीं पर पटक कर चोद दूं. मैं उनके पूरे शरीर को सहला रहा था और उनके गालों को अच्छे से चूम रहा था.

शावर से गिरता पानी बदन पर लगे साबुन को तो साफ कर रहा था मगर सुमिना के साथ बैठी उस लड़की की मासूमियत का रंग था कि हर पल और गहराता जा रहा था.

शबनम उठ कर बाथरूम में गयी और उसने राजीव को आवाज दी- आ जाओ शावर लेते हैं. मैं- अगर चाची आ जाएंगी, तो पहले दरवाजे की घंटी बजेगी … उन्हें देख लेंगे. तो मैंने अपने दोनों हाथ उसके गाल पर रखे और मुँह ऊपर करके पूछा- क्या हुआ … उदास क्यों हो गईं?उसने बताया- मेरे पति हमेशा काम के सिलसिले में बाहर ही रहते हैं.