बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो

छवि स्रोत,नंगे बीएफ देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

ओपन सेक्सी मराठी मराठी: बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो, आंटी ने अपनी चुत में लंड लिए हुए ही अपनी टांगें हवा में उठा दीं और मैंने लौड़ा चुत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

मुंह में डालने वाली बीएफ

शायद तब तक मुझे कोई अच्छी सी नौकरी भी मिल जाए और तब मेरे मम्मी पापा मुझ पर दबाव भी नहीं डाल पाएंगे. जिम्मी और मौसी की बीएफमैंने अपने दोनों हाथों से पलंग के चादर को अपनी मुट्ठियों में भीच लिया.

वाइफ पोर्न सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरी दूसरी बीवी संग सुहागरात- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि आज मैं अपनी दूसरी बीवी सुधा के साथ चुदाई की शुरुआत करने वाला था. गांड मारने वाला बीएफ वीडियोलेकिन मेरा ये पहली बार होने के कारण मैं 30-35 धक्कों में ही झड़ गया.

ये उसका घर है? तू मरवाएगा क्या मुझे … अगर वो आ गयी तो जानते हो क्या होगा?”मैंने अभी तक ममता को बताया नहीं था कि ये किसका घर है, इसलिए उसने थोड़ा डरते हुए कहा.बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो: फिर एक झटके में सारा गर्म लावा उसके मुँह में छूट गया। उसने वीर्य की एक-एक बूंद पी ली और मैं लगभग निढाल सा हो गया।मैं जितनी बार उसके माँसल नितंब देखता, पता नहीं कहाँ से लिंग में जान आ जाती.

जरा सा लंड अन्दर गया भी नहीं था कि रचना की चीखें निकलने लगी- बेबी, धीरे डालो, दर्द हो रहा है.तभी मैंने देखा कि राकेश भी शराब लेकर कमरे में आ गए और वहीं चेयर पर बैठ गए.

बिहार बिहारी बीएफ - बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो

मैं- भाभी कभी भी ट्राइ कर लेना … अगर कभी आपकी ओर आपके यहां जो दो तितलियां हैं … उनको एक साथ चोद ना दूं, तो मेरा नाम बदल देना.लेकिन मैं कुछ भी सोचने की हालत में नहीं थी क्योंकि मुझे बहुत ज्यादा मजा आ रहा था.

उसने मेरे इशारे को समझा और एक हाथ से मेरी जीन्स के ऊपर से लंड पर हाथ फेरने लगी. बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो मैंने उस दिन तो भाभी को कुछ नहीं कहा, मगर जब नीचे आ रहा था तो हॉट देसी भाबी लगातार स्माइल कर रही थीं.

ये अच्छा ही हुआ क्योंकि मेरे वापिस आने के आधा घंटे बाद ही अशोक आ गया और बोला- फ्लाइट कुछ जल्दी ही शुरू हो गई थी.

बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो?

मैंने उसकी चूत में नीचे से थोड़ा झुककर लंड को चढ़ाया और फिर उसको अपने सीने से चिपका लिया. अभी तो वो जवानी की दहलीज पर पहुंची ही है और सुरेश एक खेला-खाया मर्द है. फिर देखिए किस्मत का खेल, जिस दिन रोहन को वापस जाना था, उसी दिन अशोक को वापिस आना था.

हम दोनों तरावट में डूब गए और दोनों के रसों का मिश्रण चूत में इकट्ठा हो गया. सामान्य भाव से मामी मुझसे मम्मी पापा और भाई बहनों का हाल चाल समाचार पूछती रहीं. सभी लोग मेरी मॉम को गंदी नज़र से देखने लगे थे क्योंकि मेरी मॉम सुबह झाड़ू लगाने जब बाहर जाती थीं, तब लोग मेरी मॉम की चूचियां जो शर्ट से बाहर झाँक रही होती थीं, उन्हें देख कर लंड हिलाने लगते थे.

मेरी बात सुन कर वह अजीब सा मुँह बना रही थी, जैसे कुछ गहन सोच में हो. मैं बोला- अब ज्यादा बनो मत, मैं जानता हूं कि तुम मेरे अंडरवियर में मेरे हथियार को देखती रहती हो. जैसे ही लंड अन्दर जा रहा था तो स्लॉप स्लॉप स्लॉप फच फच की आवाज़ आ रही थी.

इस समय मेरे दिमाग में फिर से वो सब घूमने लगा और मैंने तुरंत रूबी की कमीज ऊपर उठा दी. लेकिन फिर भी प्रियंका उसकी चूत में दे दना दन बिना रुके चूत में खीरा पेलती रही.

अब मैं तड़पने लगी। सोचने लगी कि कहीं हाथ आया हुआ लंड हाथ से ना निकल जाए। इसलिए जयपुर के सारे हॉटल्स का ब्यौरा लिया। संयोगवश मेरे पास एक आईडी गांव की थी।उस आईडी पर मैंने एक ठीक ठाक सा होटल 400 रुपए में बुक करवाया। घर से मैं मेरे दोस्त के यहां जाने का कह कर निकली। मैं सुबह आने का बोलकर निकली थी.

मैं- ठीक है आपा जब आप इतना बोल रही हो कि सब्र का फल मीठा होता है, तो रात तक रुक जाता हूं.

मुझे कमरे में देख कर वो थोड़ा सकपका गई और बोलने लगी- तुम यहां क्या कर रहे हो?मैंने भी बोल दिया- मुझे आंटी ने तुम्हारे रूम में घास चरने भेजा है. क्या आपने अपनी टिकट बुक करवा ली है?मैंने उत्तर दिया कि अभी नहीं कराई है. उन्होंने अपने दूध दिखाते हुए कहा- चल अब मेरे पैरों की भी मालिश कर दे.

शर्ट को फाड़कर बाहर झांकते 34 साइज के चूचे, गदरायी कमर और बाहर निकली हुई लण्ड खड़ा कर देने वाली 36 साइज की गाँड. उसने फिर झट से मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और उसको जोर जोर से हिलाने लगी. अर्चना की कुंवारी चुत की चुदाई करने का स्वर्ण अवसर मामी अपने घर में सौंप चुकी थीं.

अब जैसे जैसे बस की रफ्तार बढ़ने लगी वैसे वैसे मेरा लंड भी अपनी रफ़्तार बढ़ाने लगा.

तीनों के लौड़े से बढ़कर एक थे लेकिन सरदार का लंड कुछ ज़्यादा ही लंबा और मोटा था. विपिन मुस्कुराया और वो धीरे धीरे नीचे झुकते हुए अपना लंड मेरी चूत में डालने लगा. और साथ साथ गाली भी दिए जा रहे थे, बोल रहे थे- हां साली, बहुत हंस रही थी माँ की लोड़ी! अब देख कैसे तेरी बहन चोदता हूँ.

लेकिन उसने मेरी बात को नजरअंदाज कर दिया और मेरा लोअर खींच दिया, जिससे मेरे खड़े लंड को मानो आज़ादी सी मिल गयी और वो हवा में हिचकोले लेने लगा. लेकिन उसने मेरी बात को नजरअंदाज कर दिया और मेरा लोअर खींच दिया, जिससे मेरे खड़े लंड को मानो आज़ादी सी मिल गयी और वो हवा में हिचकोले लेने लगा. राजेश अंकल मेरे पापा के दोस्तों में से एक थे और बड़े रंगीन मिजाज़ के थे.

कुछ मिनट तक इसी पोज में चोदने के बाद विक्रम बोला- प्लीज डार्लिंग, तुम मेरे ऊपर आओ ना!संजू को अभी मजा आ रहा था इसलिए उसने पोज बदल लिया.

बस कुछ देर में गुड़गांव से निकल पड़ी और दिल्ली जयपुर नेशनल हाईवे पर चलने लगी. मेरी गांड की निकली हुई शेप और मेरी ब्रा में उछलती मेरी चूचियां किसी को भी मुझे घूरने पर मजबूर कर देती थीं.

बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो आह आज पहली बार किसी लड़के ने मुझे इस तरह देखा है और वो भी मेरे सगे छोटे भाई ने … आआहह भाई चूसो अपनी बहन की चूची को … आआह आआह हह हहह. उसका गुदा मार्ग कुछ सुगम हो गया था। अब मैंने उसके नितंबों को पकड़कर तेज-तेज धक्के लगाने शुरू कर दिये.

बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो मैंने उनके सिर के साथ अपना सिर लगा दिया और उनके कान को हल्के हल्के से किस करने लगा. फिर एक दिन शाईस्ता ने बताया- दो दिन के बाद हमारे बच्चे अपनी नानी के घर जाएंगे, तो हम तीनों अपने मिलने प्लान रात भर के लिए बनाने के इच्छुक हैं.

संजू बोली- हे भगवान … अब कितना करोगे, तुम दोनों ने तो मेरी हालत खराब कर दी है.

जंगली जानवरों का सेक्सी बीएफ

वो चारों इठलातीं बलखातीं … म्यूजिक सिस्टम पर कमर नचातीं किसी अप्सराओं के जैसी लग रही थीं. शेखर- अच्छा, गांव की पसंद नहीं आती क्या तुम्हें?मैं- नहीं, मैं इस रंग में नहीं. मेरी कहानियों के बीच में इतना लम्बा अन्तराल आने के लिए मैं आपसे क्षमा चाहता हूं.

भाभी की चूत में मेरा पूरा लंड अंदर बाहर हो रहा था और पेट तक जाकर टकरा रहा था. ममता- तो फिर उसी‌‌ को‌ लेकर आता ना, मुझे क्यों लेकर आया है यहां?मैं- आप गुस्सा क्यों हो रही हो. थकान की वजह से शायद वो सो चुकी थी तो मैंने भी उसे जगाना उचित नहीं समझा और मैं भी दूसरे कमरे में आराम करने लगा.

ममता की उस गहरी गुफा की गर्मी अपने लंड पर पाकर मैं तो जैसे पागल ही हो गया था.

उनके घर में मेरे अन्दर जाने के बाद उस आदमी ने मुझे बड़े सम्मान से बिठाया और उसकी बीवी ने मुझे पानी लाकर दिया. उन्होंने लंड को हाथ में भरा और उनके मुंह से पहले शब्द ये ही निकले- आह्ह … बहुत मोटा है।फिर उसको मरोड़ते हुए बोले- ये तो सख्त भी बहुत जल्दी हो गया. रंगोली की चिकनी बुर देख कर मैं खड़ा हो गया और उसके होंठों को चूसते हुए उसका हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी में डाल दिया.

मैं अपने भाई शिवम से चुदती थी और मेरे साथ मेरी चचेरी बहन का लड़का विवेक और लड़की लूसी, जो जवान थे, वो भी मेरे साथ चुदाई का मजा लेते थे. मैंने उसे थोड़ी सी जगह दी, तो वो मेरे लंड को आगे पीछे करते हुए लंड की मुठ मारने लगी. तो मैंने उन्हें बताया कि मेरी सहेली पहले कभी झारखंड नहीं आई थी इसलिए वो चाहती है कि मैं उसे कुछ दिन अपने यहां रखूं.

बस और शादी के कुछ टाइम बाद वो अपने पति को छोड़कर हमेशा के लिए मेरे पास आ जाएगी. मैंने सोचा कि अब आएगा मजा, ये साला कुतिया बना कर भी चोदना जानता है.

मैंने कहा- ठीक है अम्मा जी, कब निकलना है?वो बोलीं- आज 9 बजे वाली बस से जाना है. मैंने अपने झटके और तेज कर दिए। कमरे में बस अब थप्प थप्प की आवाजें गूंजने लगीं. उसकी दोनों टांगों को घुटनों से मोड़कर थोड़ा सा चौड़ा कर दिया और उसकी योनि को होंठों से चूसना शुरू कर दिया.

मैं दो मिनट के लिए उसी के जिस्म पर ही लेट गया और उसके एक गोलमटोल मम्मे को चूसने लगा.

मैं उसके कान की लौ को होंठों से दबाकर खींच देता। अब धीरे धीरे मैं उसके चूचों की तरफ बढ़ने लगा और उसके सूट के ऊपर से ही उसके चूचों को सहलाते हुए हल्का दबाने लगा. मैंने सोचा कि मतलब जिस लड़की ने दरवाज़ा खोला था उसका नाम प्राची होगा, खैर जाने दो. कहानी के पहले भागभाभी मेरे ऊपर चढ़ गईंमें अब तक आपने पढ़ा था कि काजल भाभी मेरे साथ बिस्तर में मजा देने लगी थीं.

फिर घर में सारे दिन दोनों भाई आते जाते बार बार अनु दीदी को सहलाने और स्पर्श करने की कोशिश कर रहे थे. हुआ यूं कि हमारी बैंक की ट्रेनिंग एक साथ आ गई थी और हम पहली बार ट्रेनिंग सेंटर पर मिले थे.

मैंने उनकी टांगें थोड़ी सी ऊपर की और फिर से एक जोर का धक्का दे दिया. कुछ देर बाद बिना कुछ कहे उसने अपना हाथ मेरी जांघों पर रख दिया जो कि सीधा मेरे लंड पर आ गया. कहते हैं त्रिया चरित्र तो देवताओं के भी समझ से बाहर की चीज है, फिर मैं तो छोटा सा प्यादा था.

एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स फुल एचडी बीएफ

मैंने अपना मुँह सीधा उसके एक निप्पल पर ले जाकर उसे अपने मुँह में भर लिया.

मैं सिर्फ अंडरवियर में बैठा अन्तर्वासना पर सेक्स स्टोरी पढ़ रहा था और अपना लंड हिला रहा था. मेरे बड़े बड़े बूब्स तौलिये में आधे से भी कम ढके हुए थे और लगभग पूरे बाहर बिना ब्रा के नंगे नजर आ रहे थे. गुलजान की मोटी मोटी चुचियां मेरे सीने के नीचे दब रही थीं और मुझे एक मखमली गद्दे का अससास करा रही थीं.

इस बार उसने मुझे घोड़ी बनाया और फिर से मेरी जोरदार चुदाई चालू हो गयी. वे सचमुच देवता पुरूष थे, इसी बात ने उनके प्रति के मेरे प्यार को बढ़ा दिया था. एक्स एक्स एक्स सनी लियोन सेक्सी बीएफक्योंकि एक तो गर्मी का मौसम था, ऊपर से मेरा कमरा भी सबसे ऊपर की‌ मंजिल‌‌ पर था और उसमें हवा के‌ लिए बस एक पंखा ही था.

मैंने अपने होंठ उनके होंठों से मिला दिए और चुंबन करते हुए धीरे धीरे झटका मारने लगा. हल्के भूरे बालों से ढकी सोनल की बुर पर मैंने अपनी जीभ फेरनी शुरू की.

मैंने दो तीन मिनट का विराम दिया और फिर मैं भी चुपके से अंदर घुस गयी. फिर वही टुकड़ा अपने होंठों में दबा कर मैं अनामिका के होंठों के पास आ गया. लेकिन मैंने उन्हें कुछ कहा नहीं क्यूंकि मुझे भी इस सब में मज़ा आ रहा था.

मैंने तो अपना वादा निभाया, अब वादा निभाने की बारी तुम्हारी है बेबी. इससे लड़कियों को दर्द होता है क्यूंकि उनकी गांड फट जाती है और खून भी आता है. पिछले भागों में अब तक आपने जाना था कि शायरा के मन से मेरे लिए जो गलफहमी हो गई थी, वो खत्म हो चली थी और उसने मुझे नाश्ता करने के लिए अपने घर में बुला लिया था.

कुछ देर की मस्ती के बाद उससे रहा नहीं गया और उसने अपनी एक टांग को अपने लोअर बाहर निकाल दिया और मेरे लंड में थूक लगा कर मेरे ऊपर चढ़कर बैठ गयी.

एकदम से मैंने अपने होंठ उसकी गर्दन पर रख दिये और मैं उसकी गर्दन को चूमते हुए उसके बूब्स को जोर जोर से भींचने लगा. तभी उसने मेरी तरफ देखा और मैंने उसकी तरफ!उसकी आंखें कह रही थीं कि मुझे चोद कर संतुष्ट कर दो, मुझे आज अपना बना लो.

विक्रम ने संजू को नीचे बैठाया और अपना लंड संजू के गदराई हुई चुचियों के बीच में रखकर चुचियों को ही चोदने लगा. ये अचानक आए मज़े से भाभी की ‘औईई …’ निकल गयी और उन्हें बेहद मज़ा आने लगा. अब मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी थी और धीरे धीरे से अब मैं जल्दी जल्दी धक्के मारने लगा.

मैं आंटी के निप्पल चूसते हुए उनके चूतड़ों की दरार में उंगली डालने लगा. मैं मदहोश होने लगा और न जाने कब रवि ने अपना टोपा मेरी गांड में फंसा दिया. थोड़ी देर उछलने के बाद जब भाभी थक गयी तो फिर मैंने डॉगी स्टाइल में पीछे से लन्ड घुसाया और चोदने लगा.

बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो मैं धकापेल चोदता गया और बड़बड़ाता गया- आह प्रियंका तू मस्त है यार … कितनी बार चूत देगी अपने इस लंड महाराज को … मुआह तेरी जैसे साली हर किसी को मिले. एक दिन उसने कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हो?मैं बोला- इसका जवाब मैं आपको बाद में दूंगा.

हिंदी इंडियन बीएफ सेक्सी वीडियो

मैं जोर से चिल्लाई- उईईई माँ, मम्मी … मार डाला जानू!यह कहनी सेक्सी लड़की की आवाज ने सुन कर लुत्फ़ उठायें. संजू कुछ मिनट में बाथरूम से फ्रेश होकर आ गई और उसने अपनी नाईटी चेंज कर ली. जैसा कि आप सभी समझ सकते हैं कि एक जवान लड़का, जिसने कभी संभोग न किया हो, उसके मन में सेक्स के प्रति क्या कुछ न भरा होता है.

मैंने मोबाइल के सामने देखा और जोर से बोल उठी ताकि मोबाइल में मेरी यह आवाज साफ रिकॉर्ड हो जाए- विजय, मुझे तुम्हारा लंड चूसना है. मुझे आज शादी में जाना है।इतने में वो बोला- ठीक है मेम, आप फेस एंड हैंड पे आज करवा लो. बीएफ फिल्म दिखानावो संजू की गांड को दोनों हाथों से थोड़ा फैलाकर अपनी जीभ को अन्दर तक पेल कर जोर जोर से चूसने चाटने लगा.

कुछ ही देर में मुझे दिमाग में आया कि नाटक करके देखता हूँ कि मेरी बीवी कैसे चुदती है.

ये देख कर मैं जल्दी से अपने कमरे में आया और बीवी से बोला- यार सुन … देख वो सुरेश ने तो हमारी बेटी को लण्ड पर उठा रखा है और उसे चोद रहा है. इस पोजीशन में उसने अपनी चूत मेरे मुँह की तरफ कर दी और खुद डॉगी सी बन कर अनामिका को अपने चूचे पिलाने लगी.

एक सुबह ऐसे ही दौड़ लगाता और एक्सरसाइज करता हुआ मैं डाक बंगले पर जा पहुंचा. दो दिनों तक आंटी का आना नहीं हुआ, फिर वापस पार्क में आना शुरू हो गया. इस बार लिंग उसके सँकरे गुदाद्वार में आधे से ज्यादा घुस चुका था।रेनू के मुँह से चीख सी निकल गयी और वो सीधी खड़ी हो गयी.

उसकी नजर मेरे लंड पर गयी जो मेरी पैंट में तोप की तरह मुंह उठाकर खड़ा था.

हम दोनों एक दूसरे से कुछ नहीं बोल रहे थे, बस अपने अंगों को खेलने दे रहे थे. सोनी एकदम से उछली और सुरेश के लंड का गुलाबी टोपा मेरी बेटी की चूत में फिर से गायब हो गया. फिर मैं एक हाथ आपा के लहंगे के ऊपर ले गया और कपड़ों के ऊपर से ही आपा की चूत को सहलाने लगा था.

सेक्सी बीएफ देहाती बीएफसंजू ने लंड को बड़े प्यार से देखा और लंड को दो-तीन बार ऊपर नीचे करने के बाद अपने होंठ से लंड का सुपारे को चूम लिया. तुम हो गयी हो पहलवान!ज़ारा- क्या बात कर रहे हो? मेरा फिगर देखो कितना सेक्सी है!मैं- तुम सिर्फ बदन से लड़की हो वैसे तो पूरी गुंडी हो गयी हो!वो खिलखिलाकर मुझसे लिपट गयी काफी देर तक हम लेटे हुये बातें करते रहे.

कुत्तों का सेक्सी बीएफ

मैं उनके फ्लैट में पिछले एक साल से रह रहा हूँ और उनको याद करके मैंने कई बार मुठ भी मारी है. मैंने हाथ से बड़ी वाली लॉलीपॉप को जीभ से स्पर्श करते हुए कहा- भैया यह तो बहुत बड़ी है … यह मेरे मुँह में नहीं आएगी. वो अपने पति को धोखा नहीं देना चाहती थी मगर उसका अकेलापन उसको धोखा देने को कह रहा था.

पर थोड़ा बहुत ध्यान हमारा भी रख लिया करो।मैंने कहा- मैं कुछ समझा नहीं भाभी?तो उन्होंने कहा- अब इतने भी नासमझ ना बनो, तुम्हारी इस हथियार के तो बहुत कारनामे देखे है मैंने!यह कहते हुए भाभी ने धीरे से मेरे लंड पर कच्छे के ऊपर से ही हाथ फेर दिया और हंसने लगी. नहीं तो मैं तुम्हारे मुँह में नहीं अपना पानी निकाल दूँगी।मैंने कहा- भाभी आने दो पानी को, मैं तुम्हारा नमकीन टेस्टी पानी पीना चाहता हूँ।और फिर मैं और जोर जोर से भाभी की चूत चाटने लगा. इन सेक्स सम्बन्धों में मेरी ताई ने पहल करके मुझे उनके साथ सेक्स के लिए बढ़ावा दिया.

भाभी ने मेरी तरफ देखा और फिर अचानक से स्माइल करके पूछा- आपको देखा नहीं कभी … क्या आप इस बिल्डिंग में नए आए हो?मैंने हां में जवाब दिया- जी, मैं अभी नया नया ही शिफ्ट हुआ हूँ. खाना ख़ाने के बाद हम तीनों पिक्चर देखने चले गए और रात को होटल से खाना खाकर ही वापिस आए. अंकल मेरी गांड भी सहला रहे थे और धीरे-धीरे मेरी गांड में उंगली भी कर रहे थे.

चूत का छेद भी अपने आप खुल रहा था, भीतर के गुलाबी रंग का इलाका मैं अपनी आंखों से साफ़ देख पा रहा था. मैंने आँटी के कान में फुसफुसाकर कहा- आँटी आगे से भी उठा दूँ?आँटी ने आँखें बंद किये हुए कहा- हूम्म!मुझे लगा लाइन क्लियर है.

फिर मैंने गुलजान को अपना लंड चूसने को बोला और हेलीमा को अपने लौड़े के ऊपर लेकर उसे किस किया.

ये सब मेरे लिए एकदम नया था, तो उनको देख कर मुझे ज़्यादा मज़ा आने लगा. मां और बेटा बीएफमैंने किसी तरह बहाना बनाया और कुछ देर के बाद सरस्वती से सारी बात कह-समझा उससे पति की बात करा दी. छत्तीसगढ़ी में बीएफ वीडियोफिर मैंने अपना लंड निकालकर उनकी चूत के छेद में रखा … और इस बार कोई मुरव्वत न करते हुए एक ही झटके में अपना पूरा लंड भाभी की चूत में डाल दिया. मैंने बड़े प्यार से उनके चेहरे को हथेलियों से पकड़कर होंठों को चूमना शुरू कर दिया.

ऐसे ही एक दिन मैं मॉम को नंगी नहाते हुए देख रहा था और मॉम उस वक्त अपनी चूत की झांटें साफ़ कर रही थीं.

जल्दी ही एक और सेक्स कहानी के साथ आप सबसे रूबरू होऊंगा, तब तक आप सब अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें और कोरोना नियमों का पालन करें. उसने मेरी एक खूबसूरत सहेली को देखा तो …नमस्कार दोस्तो, मैं सारिका कंवल आज फिर से आपके लिए एक रोचक लेस्बियन सहेली की कहानी लेकर प्रस्तुत हूँ. चाय पीने के बाद बसन्त जी कहने लगे- राज! फ़िलहाल तो कोई जुगाड़ बन नहीं रहा है.

अब सुरेश ने सोनी को सामने से अपनी गोद में ऊपर उठाया और उसके एक हाथ से उसकी कमर अपनी बांह के घेरे में कसी और दाएं हाथ से लण्ड को खड़ा करके उसपर सोनी की चूत रखी. वो बोली- क्या विचार है प्रकाश और एक बार मन है तो अब घर चलें?मैं हामी भर दी. मैं समझ गया कि ये टीम पूरी तरह से मेरी बीवी की चुदाई के लिए तैयार हो चुकी है.

मारवाड़ी हिंदी बीएफ सेक्सी

उनका मुँह मेरे लंड पर जिस तरह से चल रहा था, उससे मेरे अन्दर गजब का नशा हो था. मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ और आज लॉकडाउन के चलते में अपनी आपबीती हॉट चाची सेक्स स्टोरी आप सबको बताने जा रहा हूँ. इससे भाभी की मदभरी सिसकारियां निकलने लगीं ‘आह उफ़्फ़ सीई आहह …’मैं धीरे धीरे भाभी की गर्दन को चूमने और चाटने लगा.

भाई ने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मां ने अपनी चूत को मेरे मुँह पर रख कर रगड़ना शुरू कर दिया.

अब आगे देसी विलेज सेक्स कहानी:मैं खुद को साफ़ करके विपिन को देख ही रही थी कि तब तक उसने एक सरिए की मदद से दरवाजा खोल दिया.

फिर उसको पलटाकर मैंने दीवार से चिपका दिया और पीछे से उसके चुचों को जोर जोर से मसलने लगा. फिर उसने मेरी गांड के छेद को उंगली से टटोला और फिर अपने हाथ पर थूक लेकर मेरी गांड में मसलने लगा. बीएफ चूत मारीदूसरी तरफ रूचिका आंटी- प्रभात डार्लिंग, आज आप मेरी गांड भी मार दो प्लीज.

फिर चुदते हुए मैं अपनी उत्तेजना के चरम पर आ गयी और एकदम से चीखती हुई झड़ने लगी. उसने हंसते हुए मनीष को जोर से हग किया और बोली- अब खुश … बट जीजू आप लोगों से मिल कर इतना अच्छा लग रहा ना कि क्या कहूं. अब हुआ यूं कि कभी वो लड़की छत पर कपड़े सुखाने आती, तो कभी उसकी मां आती.

अब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी के पिछले भागकॉलेज गर्ल की अन्तर्वासनामें पढ़ा था कि मनीष ने अपनी बीवी की चूचियां दबा कर उसे बाय बोला और ऑफिस निकल गया. साथ में एक छोटी ब्रा भी थी, वो भी उसने मेरी चूचियों के ऊपर पहना दी, जिससे मेरे मम्मे ऊपर उठ गए और दोनों मम्मे एकदम पास आ गए.

मगर शायरा ने बीमारी का बहाना बना दिया, पर मैं जानता था कि शायरा को कौन सी बीमारी हुई है.

डॉटर फादर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मां को उसके यार से चुदाई करती देखती थी। मैं भी वैसी ही होने लगी. मगर न जाने ऐसा क्या हुआ कि कुछ ही सालों में वो ऐसी निखर गईं कि उनके चूचों की चर्चा पूरे इलाके के बच्चों से लेकर बड़ों तक पहुंच गई थी. मैंने उसके एक निप्पल को अपनी दो उंगलियों के बीच में भरा और मसलना शुरू कर दिया; साथ ही मैं उसकी एरोला के चारों तरफ हल्की हल्की उंगलियां भी फेरने लगा.

हिंदी बीएफ वीडियो क्लिप यामिना- नहीं सर, वो बात नहीं है, औरत आदमी की बातों, उसकी शराफ़त और सच्चाई पर आगे बढ़ती है, मेरी बेटी की जॉब की बात मैं आपसे कभी दुबारा नहीं करूँगी, आप चिंता न करें. इसके बाद वो भी जल्द ही झड़ गए और मेरी बगल में लेट गए।इस कहानी की ऑडियो रिकॉर्डिंग:https://www.

मैं गबरू जवान लड़का उसकी चुत बजाने के लिए उतावला सा उस कमरे में आ गया था. मेरी गांड तो कुलबुलाने लगी कि इतना मस्त हथियार तो मेरी गांड में भी भोला डाल दे, मगर मैं कह नहीं पाया. सोनी के मम्मी पापा ने उसे 2-3 दिन घूमने के लिए रोहण के पास भेजने का पक्का किया था.

काजल बीएफ सेक्स

मम्मी के होंठ मेरे मुँह के अन्दर होने की वजह से वो चिल्ला नहीं पाईं, पर वो छटपटाने लगीं और उनकी आंखों से आंसू निकल आए. प्रियंका इस अचानक हमले से एक बार हल्के से चीखी और उसने अपनी गांड थोड़ी और उठा दी. मैं आहिस्ता आहिस्ता लंड अन्दर बाहर करने लगा और अदिति से बोला- अदिति दिल करता है कि मेरा लंड हमेशा तुम्हारी चूत में ही पड़ा रहे.

मैंने केक का टुकड़ा अपने होंठों के बीच फंसा कर आधा बाहर ही निकला रहने दिया और उसे अपनी बांहों में लेकर बाहर निकले केक के टुकड़े को उसके होंठों की तरफ बढ़ा दिया. जैसे ही शैली पलटी, उसके गीले बाल मेरे मुँह पर पानी की बूंदों की बौछार करने लगे.

विडो सेक्स कहानी के पिछले भागपुराने प्रेमी के लंड का मजा लियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी ननद अनन्या को मनोज पसंद आ गया था.

और मैं लड़की या भाभी या आँटी पटाते वक्त या चोदते वक्त मेरे ही शब्दों और मन पसन्द आसनों को बोलता और अमल में लाता हूँ. उसी समय मैंने अपनी जीभ को नुकीला किया और उसकी चुत की फांकों के बीच ठेल दी. कहते हैं त्रिया चरित्र तो देवताओं के भी समझ से बाहर की चीज है, फिर मैं तो छोटा सा प्यादा था.

इसी के साथ अचानक से उन्होंने तेज तूफानी शॉट मारना शुरू कर दिए और हां हां करके मुझे लगभग भंभोड़ने लगे. आपको क्या लगता है कि इस स्थिति में जो कुछ भी हुआ क्या वो सही था या फिर इसका कुछ और विकल्प भी हो सकता था?मेरी बेटी की चुत की कहानी पर मुझे आपके सुझावों का इंतजार है. अब धीरू अंकल ने मुझे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और मेरी चूतड़ों को फैला दिया.

नेहा ने मुँह बनाते हुए- क्या मनीष आप भी ना … स्नेहा हमारे यहां रोज रोज नहीं आती.

बीएफ ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो: अब उसे उस प्यारी सी चूत में जाना था, जिसके मूतने की आवाज अभी मैं सुन रहा था. अब आगे पार्क सेक्स का मजा:इसी बीच एक बार रोहण ने मुझे पकड़ कर नीचे घास पर लिटा दिया और अपना मुँह एकदम मेरे मुँह के पास ले आया.

मगर अब किसी और का लंड कैसे दिलवा सकती हूँ, यह मेरी समझ में नहीं आ रहा था. मैंने चुपके से मेरी भाभी की ब्रा-पैंटी, लेगिंग, कुर्ती चुराई और पार्क में जाकर वो पहन लिये. मैं- फिर क्या कहूँ?सरिता- मुझे नहीं पता! लेकिन मैं आँटी जैसी बूढ़ी तो नहीं हूँ.

थोड़ी देर के बाद अदिति अपनी गांड आहिस्ता आहिस्ता ऊपर नीचे करने लगी तो मैं समझ गया कि अब ये सामान्य हो गयी है.

थोड़ी देर बाद उसने एक हाथ मेरी गांड पर रखा और तेजी से अपनी गांड आगे पीछे करके अपनी चूत मेरे लंड पर जोर जोर से रगड़ने लगी. वो भी जैसे अपनी आंखों में ही मेरी शुक्रगुजार होने की भावना को दर्शा रही थी. फिर से मैं चिल्लाई- मुंह को बंद रख हरामी! कुत्ते की तरह भौंकना बंद कर, जैसा कह रही हूं वैसा कर नहीं तो जॉब को भूल जा.