एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी

छवि स्रोत,सेक्सी रोग

तस्वीर का शीर्षक ,

अंखियों के बीएफ: एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी, चूंकि भरत दारु पीकर आता है इसलिये उसको पता ही नहीं होता कि वो क्या कर रहा है और कहाँ कर रहा है.

सेक्सी वीडियो पिक्चर वीडियो सेक्सी

मैंने पूछा- तेरा उससे सच्चा प्यार है क्या?उसने बोला- हां, और मैं उससे मिलना चाहती हूँ. नंगी सेक्सी पिक्चर करने वालीजैसे ही उसकी चूत पर मेरे गर्म होंठ लगे तो वो सिसकारते हुए मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही चूमने लगी.

मैंने कई मिनट तक उसके जिस्म की गर्मी को महसूस करते हुए उसको बांहों में लिपटाये रखा और चूमता रहा. सेक्स व्हिडीओ कॉम सेक्सी व्हिडीओ कॉम”तो क्या जीजू … आप वही कहना चाहते हैं जो मैं समझ रही हूँ?”हाँ, कृति.

जैसा कि तय हुआ था, मैं उसके घर पहुंचा और घंटी बजा कर इन्तजार करने लगा.एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी: मेरे राजू, अगर तुम चाहो तो तुम ही मेरा बुखार उतार सकते हो।इसी बीच मैंने उससे बोला- तुम अपनी मर्यादा भूल चुकी हो.

मगर अभी भी मुझे उसके साथ किया गया वो पहला सेक्स अक्सर याद आ जाता है.इस तरह से साली की चूत चोदकर मैंने अपनी ख्वाहिश पूरी की और मुझे उसकी चूत चोदने में जैसे जन्नत का मजा मिला.

सेक्सी वीडियो यूट्यूब में दिखाओ - एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी

और सुबह जब मेरी नींद खुली तो देखा अमरीश सोया पडा था पूरा नंगा … उसका लंड जिसने रात भर मेरी चूत मारी थी और गांड फाड़ी थी, अब एक मरियल चुहिया जैसे उसके टट्टों से चिपका पड़ा था.’ कहते हुए मेरे लंड से खेलने लगी और लंड की खुशबू से पागल होकर सुपारे को चाटने लगी.

फिर वो बोली- तुम तो बहुत मस्त हो यार… ऐसा मजा तो मुझे कभी नहीं आया. एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी चूंकि मैं अपनी कॉलेज की फीस और पढ़ाई का खर्च खुद ही उठाना चाहता था.

वैसे तो मुझे डर भी लग रहा था लेकिन मैंने सोचा कि अगर चाची ने पुणे जाने के बाद मुझे अपने साथ सोने नहीं दिया तो चाची की नंगी फोटो मेरे काम आ जायेंगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी?

मैंने अपनी जीभ को धीरे से बाहर निकाला और चाची की चूची को जीभ से छूने लगा. आह … लंड चुसवाते हुए मुझे लगा कि मैं सातवें आसमान पर पहुंच गया हूँ. वो बोली- ऐसा क्या करेगा तू?मैंने कहा- वो तो मैं घर चल कर बता दूंगा कि मैं क्या कर सकता हूं.

फिर भी मैंने हिम्मत करके उससे कहा- यार, कल के लिये सॉरी, लेकिन मैं तुम्हें बहुत लाइक करता हूं. फिर शादी के हफ्ते भर तक तो मैं उनके घर पर नहीं गया क्योंकि घर में नयी बहू आयी थी इसलिए मैं भी थोड़ा वक्त उनको देना चाह रहा था. समाज में महिलाओं को इस तरह से दिखाया जाता है कि वो असहाय, अबला और पुरूष प्रधान समाज की वासना का शिकार होती रहती हैं.

मोनिया अब भी रो रही थी और बाहर निकालने को कह रही थी तो मैंने कुछ पल रुकने के बाद आगे पीछे धक्का देना चालू कर दिया. ब्रून वाहन चलाने की वजह से बीच में था और रानी ब्रून की तरफ अपनी एक टांग गियर के हैंडल को अपनी चुत के सामने लेकर बैठी हुई थी. इस बार मेरे जन्मदिन पर मॉम ने मेरे लिए व्हिस्की की तीन बॉटल का सैट गिफ्ट किया.

उसके बाद कुछ देर तक वो मेरे पास लेटी फिर अपने कपड़े पहन कर अपने रूम में चली गयी. गुन्नू एक साल का हो गया था लेकिन इस एक साल में मेरी सेक्स लाइफ बेकार कर दी थी.

मुझे इस दौरान भाभी जी की नजरें कुछ इस तरह से दिखने लगी थीं, जैसे वो मुझे देख कर शरमा रही हों.

मैं झुक कर बाइक के नीचे की मिट्टी साफ करने लगा, तभी मेरी गर्दन पर मुझे कुछ टच होता सा महसूस हुआ.

मैंने केक मांगा खाने को, तो बहन बोली कि इन तीनों ने सब खाकर खत्म कर दिया. अगले दिन सुबह उसका मैसेज आया, जिसमें उसने मुझसे मिलने के लिए समय और जगह पूछी. आकाश ने मेरी बहन के मुंह में लंड दे दिया और मजे से मेरी बहन को लंड चुसवाने लगा.

कंडोम का पैकेट देखते ही मेरे शरीर में नयी उर्जा का संचार हुआ और मैंने झट से उसे अपने लंड पर लगा लिया. गप्प की आवाज से मामी की चूत में लंड चला गया और मामी एकदम से सिहर उठीं. तो दोस्तो, मेरी भाभी के साथ मेरी चुदाई की यह कहानी आपको पसंद आई हो तो मुझे बताना.

उसकी चड्डी गीली हो चुकी थी, तो मैंने चड्डी को निकाल दिया और मैं उसकी कुंवारी चुत को देखता ही रह गया.

धीरे धीरे मेरा लंड उसकी चूत से बाहर आ गया और हम दोनों अपने आपको साफ़ करने लगे. मैंने मॉम से पूछा- क्या आपको मेरे साथ किसी और से भी चुदवाने का मन है?मॉम बोलीं- नहीं बेटा ये सब सही नहीं होगा … मैं केवल तुमसे ही ठीक हूँ. मैंने यही लिख भी दिया कि आप मुझ जैसे ओवरएज खिलाड़ी को बढ़िया मानती हैं.

मैं भी आगे बढ़ना चाहती थी पर स्त्रीसुलभ लज्जा मुझे आगे बढ़ने से रोक रही थी. मां का पल्लू तो पहले ही नीचे गिरा हुआ था, धीमे-धीमे अभिनव ने मां के कपड़े खोलने चालू किए. अब मैं मात्र जेब खर्च के कुछ सौ रुपये कमाने नहीं बल्कि किसी दंपत्ति को खुशी देने के लिए जाता था.

ऐसे समय में पुरूष और स्त्री दोनों के ही अंदर यौन क्रीड़ा की ललक भी बढ़ जाती है.

मैंने दुबारा से लंड निकाला और बाथरूम में रखा तेल अपने लंड पर लगाकर फिर दुबारा से हिमानी की गांड पर अपने लंड को सैट कर दिया और जोर से धक्के मारने लगा. मैंने तुरन्त उसका हाथ हटाते हुए कहा- अभी सिर्फ किस … बाकी कुछ नहीं.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी मैंने सोनल से कहा- तुम आगे आओ और मेरा लंड इसकी चूत पर सैट करो … ताकि मैं इसकी चुत में लंड ठीक से पेल सकूं और इसकी मस्त चुदाई कर सकूं. ये सोच कर मैं फिर से दीदी की तरफ मुड़ा और थोड़ी हिम्मत करके दीदी के मम्मों पर फिर से हाथ रख दिया और धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी थोड़ी देर बाद मैंने पीहू से कहा कि वो अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दे. हम दोनों नीचे बैठ कर लैपटॉप में उस शो को देख रहे थे, पर मेरा ध्यान बार बार उसके बूब्स पर ही जा रहा था.

तभी मैंने यह कहकर बात घुमा दी कि तुम पढ़ाई भी करते हो या सिर्फ ऐसी फिल्में ही देखते रहते हो?वह शर्माते हुए कहने लगा- नहीं यार मैं तो बस संडे को ही देख लेता हूं.

बांग्ला सेक्सी वीडियो बांग्ला

सुविधा ने कहा- सर कुछ भी करना पड़े, मैं आपकी तरह एक नामी वकील बनना चाहती हूँ. मुझे तो उन्हें सहलाने में ही इतना मज़ा आ रहा था कि मैंने थोड़ा समय तो उसी में लगाया. क्योंकि जिस एरिया में हम दोनों आए थे, उसकी पहचान के बहुत सारे लोग उस एरिया में रहते थे.

वो मुस्कराती हुई मेरे पास आई और बोली- मैं अभी बाहर से नाश्ता करके आ रही थी तो सोचा आपके लिए भी कुछ ले चलूं. यह बात एक साल पहले उस समय की है, जब मैं अपनी पढ़ाई पूरी करके नौकरी की तलाश में दिल्ली आ गया था. जब कभी मेरी वासना ज्यादा उफान पर होती तो मैं अपनी उंगली चूत में लेकर चूत की गर्मी निकालने की कोशिश करती थी.

वो मुझे अपने कंधे पर सहारा देकर बाथरूम से रूम तक लेकर आई और बिस्तर पर लिटा दिया.

फिर शौहर ने कहा कि देखो मैं तो तुम्हारी मदद नहीं कर पाऊंगा लेकिन अगर तुम खुद ही उसको पटाकर चुदवाना चाहती हो तो मैं तुम्हें इसकी आजादी दे रहा हूं. मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया और उसकी चूत पर लंड को घिसना शुरू कर दिया. वो अपनी चूत में मेरे लंड के माल को महसूस करने लगी और आनंदित होने लगी.

उसकी झलक पाते ही मेरे कदम एकदम स्लो हो गए और मैं लगभग न चलते हुए चलने की कोशिश कर रहा था. छोटी के ऊपर 69 का पोजिशन लेते हुए उसके पेन्टी की इलास्टिक को कमर के पास से दांत से पकड़ा और थोड़ा नीचे कर दिया. कभी मेरी गांड पर लंड को रगड़ देता तो कभी उसे हाथ से छूने की कोशिश कर रहा था.

उसने मुस्कुराते हुए मुझे बिठाया और कहा तो लो आज शेफ खुद ही तुमको अपने हाथ से खाना खिलाएगी. जिस समय बड़ी स्खलित होने वाली थी, छोटी मेरे ऊपर गिर गई और उसने अपनी कमर से मेरी कमर को दाबे रखा.

फिर पापा जी बोले- हमारे लाडले साहब जायेंगे या नहीं?मैंने कहा- पापा जी, मैं कॉल करके पूछ लेती हूँ. अबकी बार मैंने भी लंड चुसवाने का पूरा मजा लिया और चाची के मुंह में ही झड़ गया. वैसे तो मुझे डर भी लग रहा था लेकिन मैंने सोचा कि अगर चाची ने पुणे जाने के बाद मुझे अपने साथ सोने नहीं दिया तो चाची की नंगी फोटो मेरे काम आ जायेंगी.

अब मैं कुछ अपने बारे में बताता हूं मेरी हाइट 5’9″ है और मैं ठीक ठाक दिखता हूं और मैं किसी भी लेडी को खुश कर सकता हूं मैं आपको ज्यादा बोर ना करते हुए सीधा स्टोरी पर आता हूं.

मेरे घर में माडर्न कपड़े पहनने की परमिशन नहीं है लेकिन बाहर जाते हुए अक्सर मैं माडर्न कपड़े पहन लेती थी. हम दोनों नीचे बैठ कर लैपटॉप में उस शो को देख रहे थे, पर मेरा ध्यान बार बार उसके बूब्स पर ही जा रहा था. अब नीचे वाले ने मेरी चूत में लंड को दे दिया और मेरी चूत को चोदने लगा.

मैंने उसको समझाया कि तुम्हारे सामने दो ही रास्ते हैं या तो सच की राह पर चलकर ससुराल में बवाल करके मायके वापस आ जाओ या किसी तरह से अगर एक बच्चा पैदा कर लो और मालकिन बनकर उस घर में राज करो. मैं नीचे से लंड की ठोकर देते हुए उसकी चुत चुदाई का असीमित मज़ा ले रहा था.

मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- भैया मैं आपका लंड नहीं ले सकता हूँ … आप प्लीज़ रूको … मेरी जान निकली जा रही है. ये ड्रेस कुछ इस तरह की होती है जिसमें उसके मम्मे कुछ ही सीमा तक अन्दर थे. मैंने उस टीचर की चूत की आग में अपना लंड कैसे सेका?दोस्तो, मेरा नाम नलिन है.

থ্রি এক্স ভিডিও দেখাও

मैंने अपनी शर्ट पेंट उतार दी और उनके सामने सिर्फ एक निक्कर में हो गया.

इसके एक मिनट बाद वो मेरे मुँह में ही झड़ गया और मैं उसके लंड का पूरा रस पी गयी. मैंने अब तक जितनी भी चुत चोदी हैं, उन लोगों की गोपनीयता का ध्यान भी रखा है. मगर आकाश उसकी गोल गोल सफेद चूचियों को किसी बच्चे की तरह पीते हुए मजा ले रहा था.

मैंने उसको बिस्तर पर चित लिटा दिया और उसकी रसीली चूत पर अपने होंठ धर दिए. दोस्तो, मैं प्रेम फिर से अपनी कहानी लेकर आया हूँ। इसमें मैं अपनी गांड की सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ कि इसका उद्घाटन कैसे हुआ. रेप सेक्सी वीडियो रेपमैंने धक्का मारा तो पहले धक्के में आधा और दूसरे धक्के में पूरा लण्ड हनीप्रीत की गुफा में समा गया.

जितनी तेजी से मैं झड़ रही थी, अंकल उतनी ही तेजी से मेरी चुत के रस को पीने लगे थे. अमीषा ने मेरी जांघों पर अपने दूध रखते हुए झुक कर अपना टिकट उठाने की कोशिश की और इसी बीच मेरी नींद खुली देख कर उसने मुझसे माफी माँगी और सीधी बैठ गयी.

उसने काले रंग का टॉप और नीचे जाँघों से चिपका हुआ छोटा सा हाफ पैंट पहना हुआ था. उसने मुझे कैब बुक करने को कहा और कैब आने में अभी कुछ मिनट की देरी थी. मगर ननदोई जी ने मुझे पकड़ कर रखा और गिरने नहीं दिया।जब मेरा पानी निकल गया तो ननदोई जी बोले- दुलहनिया, अब ऐसा कर तू मेरा भी पानी गिरवा दे, चूस इसे और खाली कर दे मुझे।मैं नीचे फर्श पर बैठ गई और ननदोई जी का मस्त लंड चूसने लगी.

उनके गले पर पसीना बहकर आ रहा था था, मैं वो चाट रहा था और वो मुझे झपक झपक की आवाजों से चोदे जा रहे थे. इस पर अनमोल ने बोला- हां है … तू हुक्का ला … इधर ही बैठ कर बात करते हैं. वो बोली- आह्ह … डॉक्टर साहब … चोद दो … मुझे अपने बच्चे की मां बना दो.

मैंने अब अपने हाथ दीदी के नीचे की तरफ ले ही जा रहा था कि अचानक दीदी ने मेरे हाथों को पकड़ लिया.

उसके मुंह से कामुक आवाजें निकलने लगीं- आह्ह … और तेज … आह्ह … मजा आ रहा है … चोदो … देवा … और तेजी से … ओह्सश् मसल दो मेरी चूत को. मैंने अपने लंड का साइज नहीं बताया क्योंकि एक कहावत है कि दूसरे का घमंड और अपना लंड … सबको बड़ा लगता है.

भैया जॉब करते थे और लगभग रोज ही लौटने के बाद नहाते थे और खाना ख़ाकर पता नहीं कौन सी खुशबू लगा कर कुछ देर के लिए मेरे पास लेटने आ जाते थे. पर मैंने फिर भी कोशिश की और उसके होंठों को चूमते-चूमते एक हाथ उसके मोम्मे पे ले गया जिसे पहले तो उसने हटाया पर मामूली से विरोध के बाद उसने मेरे होंठ चूसने ज़ारी रखे।उसके मुलायम मोम्मे मैं प्यार से दबाने लगा और वो किस करने में बिजी थी।एकदम से पीछे होकर वो बोली- हम ये गलत कर रहे हैं. मैंने कहा- अरे भाभी, आप इस वक्त? सब ठीक तो है न?वो मेरी तरफ देख रही थी.

उसके लिए आप मेरी बहन की गर्म जवानी के खेल की कहानी के अगले भाग का इंतजार करें. मामी एकदम चुदासी हो गई, उनकी मुनिया आंसू बहाने लगी, अपनी चूत को मेरे लण्ड पर रगड़ने लगी. यहाँ जंगल और अंधेरा है।रजत ने मेरा हाथ पकड़ के अपनी बांहों में कस लिया और बोला- कार के अंदर हम सुरक्षित हैं.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी मेरे लंड को मुंह में लेकर एक दो बार चूसा और फिर उठ कर मेरी जांघों के दोनों ओर पैर करके लंड पर चूत को रख दिया. तभी सर ने अपने लोड़े को हाथ से पकड़ा और चूत के छेद में लगा दिया।मैं बिल्कुल तैयार थी उनका लंड अंदर लेने के लिए!कि तभी सब कुछ बदल गया और मेरे प्राण निकलते निकलते बचे.

सेक्स भाभी देवर

भाभी सेक्स कहानी के अंत में अपने कमेंट्स कीजिए और मुझे मेल कीजिएगा. मुझे पता चल गया कि शायद बैठते समय किसी फ्रेंड ने इसे सीट के निचे डाल दिया होगा. दीदी बोली- पर तू तो राहुल है ना!मैंने बोला- तुमको मेरा चेहरा समझ में आ रहा है क्या?वो बोली- नहीं.

मैंने अपने हाथों से उसके मुँह को ऊपर किया और एक ज़ोर का लिप किस करके दीदी को थैंक्स बोला. फिर यश ने मुझे उठा कर ऑफिस टेबल बिठाया और मुझे धक्का देकर मेरी जीन्स खोलने लगा. सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्ला चुदाईस्पर्म बैंक के प्रबंधक डॉक्टर मुझे सारी प्रकिया विस्तारित रूप में समझा रहे थे.

अब मेरी दिक्कत कि बिना कपडो़ं के निकलूं कैसे? इंस्पेक्टर ने एक मिनट कार को देखा और अपने पास से एक चाबी का गुच्छा निकाला.

अपनी लोअर को मैंने तुरंत नीचे किया और उसके मुंह में अपना लंड दे दिया. तो मैंने उसे दिलासा देते हुए कहा- बस हो गया, अब पूरा लण्ड तुम्हारी चूत के अन्दर है.

मैं तुरंत अमीषा के दोनों मम्मों को दबाने लगा और उसके ब्राउन निप्पल का स्वाद चखने लगा. साली की चुदाई का जो सपना मैंने देखा था उसको पूरा करने का मौक़ा मुझे कैसे मिला. वो लंबी सी सांस लेते हुए बोली- तो फिर किसी और के फोन से तो फोन कर ही सकते थे न?मैंने कहा- आपका नम्बर फोन में सेव करने के बाद मैंने पर्ची फाड़ दी थी.

भाभी ने लंड हिलाते हुए कहा- अब क्या मुहूर्त निकाल कर चुदाई शुरू करोगे?मैंने भाभी की बात का कोई जबाव नहीं दिया.

कभी भाभी की गांड पर हाथ लग जाता था तो कभी उनके कंधे को सहला देता था. नमस्कार पाठको, मेरा नाम अंकुर है और आपने मेरी पिछली इन्सेस्ट सेक्स स्टोरीमेरे चचेरे भाई ने मेरी माँ को चोदाको पढ़ा होगा। पिछली स्टोरी पर अपना प्यार देने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। तो मैं आज हाजिर हो गया हूं उसी रिश्तों में चुदाई कहानी के अगले भाग को लेकर!उम्मीद करता हूं कि यह स्टोरी आपको पीछे वाली स्टोरी की तरह ही पसंद आएगी. कुछ देर बातें करने के बाद ही हमने अपने फोन नम्बर एक्सचेंज कर लिये थे.

सेक्सी वीडियो फिल्म कॉमेडीलण्ड जब अन्दर जाकर ठोकर मारता तो हनी कहती- आह जीजा जी, उम्म्ह… अहह… हय… याह…थोड़ी देर बाद मैंने उसकी चूत के अन्दर ही डिस्चार्ज कर दिया और बाद में उसको आईपिल टेबलेट खिला दी. जैसा मैंने लिखा कि उनकी माँ यहीं एडमिट थीं, तो सारी देखभाल सामान वगैरह देने या कुछ भी जरूरत होती, तो मुझे कॉल किया जाता था.

देवर भाभी की चुदाई दिखाएं

जैसे ही मैं गेट की तरह देखने के लिए मुड़ा, मेरी तो मानो पैरों तले ज़मीन निकल गयी. लेकिन कामिनी में ऐसा क्या है जो मुझमें नहीं है?इससे पहले कि मैं उसको कुछ सफाई देता उसने गुस्से में फोन काट दिया. कृति ने भगवान को हाथ जोड़कर प्रार्थना की और उसके बाद मेरे पैरों में बैठ गई.

ये बात तब की है, जब मेरा बेटा 5वीं क्लास में था और वो पढ़ने में थोड़ा कमज़ोर था. उसके दोनों पैरों को हवा में उठाकर एक बार में ही मैंने पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया. जब मेरा रस निकलने वाला था, तो इस बार मैंने शालिनी से बिना पूछे ही उसकी चूत को अपने लंड के रस से लबालब भर दिया.

मैम के मम्मों को दबाते ही उनके मुँह से एक सिसकारी फूट पड़ी, जो मेरे होंठों में ही दब गयी. मैं एक प्राइवेट कंपनी में काम करता हूँ और उसी कंपनी की तरफ से कॉर्पोरेट क्रिकेट खेलता हूँ. उसके बाद …दोस्तो, मैं 28 साल का हूँ, यह मेरी पहली कहानी है इसलिए अगर कहानी लिखने में कोई गलती हो तो माफ करें। सबसे पहले तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि यह एक वास्तविक कहानी है.

मेरी सेक्स कहानी लगभग 6 साल पुरानी है, जब मैंने बाहरवीं पास करके कॉलेज में दाखिला लिया था. उसने दोबारा निकाह के बाद भी स्कूल की नौकरी जारी रखी और मेरे साथ संबंध भी बनाये रखे.

कुछ देर बाद मैंने अलग होकर उसी के मोबाइल की लाइट से देखा, तो उसकी चूत एकदम लाल और सूज चुकी थी.

बिना चुदाई के अब दिन निकले भी कैसे … कॉल गर्ल्स के साथ जाने में इज्जत का डर लगा रहता था. मेरी चूत मारोवो बोली- तो फिर कैसे बुझेगी तेरी प्यास?मैंने कहा- अब तो आपके बदन से ही मेरी प्यास बुझेगी. सेक्सी फुल वीडियो ओपनमां किसी रण्डी की तरह अभिनव का लंड चूस रही थी और उसने अभिनव का लंड चूस चूस करके दुबारा से खड़ा कर दिया था. मैंने दाहिना हाथ उसके मम्मों से हटाकर उसे भी गांड के गुद्दे पर रख दिया.

चूत चाटने से हनी गर्म हो गई थी, मैं भी देर नहीं करना चाहता था इसलिये मैंने अपना लण्ड निकालकर उस पर तेल लगाया और हनी की चूत में ठोंक दिया.

बड़ी ही सुन्दर शख्शियत … ऊंचाई करीब 5 फुट 5 इंच … छाती पर तने हुए दूध, तो जैसे एक तराशी हुई मूर्ति के मम्मे हों. ऐसे ही एक दिन मैं जब वहां पर पहुंचा तो रिसेप्शन पर एक लड़का बैठा हुआ था. मैंने कहा- पापाजी, ख़बरदार ऐसे बातें की तो! अभी तो आपने अपने पोतों के साथ खेलना है, उन्हें बड़े होते हुए देखना है.

अब मैं मात्र जेब खर्च के कुछ सौ रुपये कमाने नहीं बल्कि किसी दंपत्ति को खुशी देने के लिए जाता था. माँ ने उसको बोला- तुम मुझे बहुत अच्छा लगते हो, तेरे लिए मैं बहुत दिनों से इंतजार कर रही थी अब देख, हम तेरे घर में ही तेरे ही बिस्तर में सेक्स करेंगे।विशु बोला- हां आंटी, मैंने आपके लिए ही अंकुर से दोस्ती की थी. इस पर बुआ ने मुझे आंख मारते हुए कहा- वो मैंने खाई ही नहीं थी … बाहर फेंक दी थी.

கல்கத்தா செக்ஸ்வீடியோ

पच-पच … गच… गच … की आवाज के साथ पट-पट करते हुए मैं उसकी चूत में लंड से चोदने लगा. मैंने भी कोई ज्यादा ध्यान नहीं किया लेकिन रात 2 बजे तक वो ऐसे ही जाग कर करवटें ले रही थी. जबकि उस समय भी मेरी नजरों में बस उसकी हिलती चुचियां और ठुमकती गांड ही नज़र आ रही थी.

वो मेरा लंड सहलाने लगी और मैं मामी की चूत को!मामी उम्म्ह… अहह… हय… याह… करती रही।फिर मैंने मामी की टांगें जैसे ही फैलाई, उन्होंने अपने हाथों से दोनों टांगें पकड़ कर फैला दी.

इतना कहकर मैंने धीरे धीरे दबाया तो आधा लण्ड अन्दर चला गया लेकिन उसके बाद नहीं जा रहा था.

मैंने उसकी आंखों को पढ़ते हुए कहा- ठीक है … मैं थोड़ी देर में आता हूं. यह घटना आज से 7 साल पहले की है जो मेरी और मेरे मामा की लड़की यानि कुंवारी ममेरी बहन के साथ पहले सेक्स की है. खूबसूरत लड़कियों की सेक्सी पिक्चरउसके बाद उन बुर्जुगवार ने अपनी कलम निकाली, इधर उधर देखा और बकरा की गांड में घुसेड़ दी.

अब दूसरे धक्के के साथ रोहित ने उसकी योनि में लगभग पूरा लिंग उतार दिया. उसके बाद मैंने उसकी पैंटी को निकाल दिया और उसकी टांगों को ऊपर करके उसकी चूत में मुंह दे दिया. सबसे पहले अपने हाथ उसके पीछे से ले जाकर उसके पेट को पकड़ते हुए उसको अपनी और खींचा.

तेज नशे वाली दो बियर पीने के कारण रानी ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. फिर वो खुद आगे पीछे होने लगी, तो मैंने उसकी कमर पकड़ कर फिर से उसे चोदना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद वो अपने कपड़े पहनने लगी, तो मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और उसकी गर्दन को चूमने लगा.

कोई 7-8 मिनट लंड आगे पीछे करने बाद मैंने मॉम को बोला- मॉम, अब आप घोड़ी बन जाओ. मैंने अपनी शर्ट तुरन्त बाहर निकाली क्योंकि मेरी पैंट में तंबू बन गया था. इसके बाद मैंने उसे कुतिया बनाया और उसकी चूत में पीछे से अपने लंड को धीरे से सरका दिया.

सबसे पुरानी सेक्सी पिक्चर लगभग दस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद वो एकदम से चिल्लाते हुए निढाल पड़ गई. इस तरह से बातें करते हुए मैंने एक जोरदार धक्का भाभी की चूत में दे मारा.

आकाश भी मस्ती में उसकी चूची को पीते हुए उसकी चूत को सहलाने में लगा हुआ था. तब भी मैंने कोई ऐसी बात नहीं की, जिससे उसको ये लगे कि मैं चुदाई करना चाहता हूँ. उसने मजा लेकर अपनी चूत की चुदाई कैसे करायी?अब इस अन्तर्वासना हिंदी सेक्स कहानी के पहले भागअनजान चालू भाभी की चुत की चुदाई का मजा-1में आपने पढ़ा कि पुणे में मुझे एक अनजान भाभी अपनी कार से स्टेशन से अपने फ्लैट में ले गई और उधर हम दोनों के बीच सेक्स का खेल शुरू हो गया.

દેશી સેકસી વીડીયો એચડી

वो भी मस्ती से चुदते हुए सीत्कार करने लगी- आह … और ज़ोर से चोदो जान …साथियो, ये तय मानिए कि जब लड़की खुद जोर से चुदाई करने का बोलती है, तो और भी ज्यादा मजा आने लगता है. मैं अपने मामा के घर गया तो मामा की जवान बेटी की गांड को देख मेरे लंड में हलचल होने लगी. एकदम से लंड घुसेड़ने से बहन की चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मगर राजा पक्का गांड मारने का उस्ताद था.

मैंने इस बात पर ध्यान नहीं दिया कि मेरे फोन में ही भाभी का नहाते हुए वीडियो भी रखा हुआ है. उसकी फ्लोर पर पहुंच कर उसने अपने फ्लैट का दरवाजा खोला और हम अन्दर आ गए.

खैर मैं तो सच जानता ही था, मैंने मां से पूछा- मां आप कहां जा रही हो?मां बोली- बेटा, मैं मौसी के घर जा रही हूं.

उसकी चुदास बढ़ाने के लिए मैंने आज उसी के सामने में अपने रात में पहनने वाले कपड़े बदलना शुरू कर दिए. वो जितना मुझे चूमता, मुझमें उतनी मदहोशी छा रही थी।मैं उसका लण्ड अपने हाथ में लेकर हिलाने लगा और उसके अंडों को सहलाने लगा. वो कामुक आवाजें निकाल रही थी- आंह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्म … और चूसो प्रेम!जब मैं दूध चूसते हुए बीच बीच में उसके एक निप्पल पर काट लेता, तो वो होंठ दबाते हुए मेरा सर अपने चूचे पर दबा देती, जिससे मुझे और जोश चढ़ जाता.

मैंने अपने हाथों से उसकी चुत को साफ किया और थोड़ा थूक लगाकर अपने लंड को पेल दिया. फिर कुछ सोच कर मैं केमिस्ट की दुकान पर गया और वहां से सेक्स बढ़ाने की गोली ले आया. उसके बाद उन लोगों ने मेरी बहन को घेर लिया और मेरी बहन अब उन सबका लंड चूस रही थी.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके वो चीखी और लंड को बाहर निकालने के लिए कहने लगी.

एक्स एक्स हिंदी बीएफ मूवी: पति बोले- मैंने तुम्हारी चुदाई बहुत लोगों के साथ देखी है मगर अब मैं तुम्हारी चुदाई अपने पापा के साथ देखना चाहता हूँ. पहले अभिनव ने माँ की टांगों को चौड़ा किया और अपना लंड पर थूक लगाया.

तो आज ही सही … बस आप पेलते रहो!20 मिनट चुदाई के बाद मेरी बीवी का पानी छूट गया और मेरा भी होने वाला था तो मैं बीवी की गांड में ही झड़ गया. मैंने तेजी से उसकी चूत में जीभ चलाना शुरू किया और वो पांच मिनट में ही झड़ गयी. वो अंदर आकर एक टूटे कमरे की ओर गयी और दीवार के पीछे जाकर खड़ी हो गयी.

वो अब मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी … पर मैंने उसको जोर से पकड़ा हुआ था.

मेरा पूरा मुँह भर गया और मैंने भी उनके वीर्य की एक भी बूंद बाहर नहीं जाने दी और मैं गट गट करके उनका पूरा वीर्य पी गयी।आह … उनका गर्म वीर्य बहुत ही स्वादिष्ट था। मैंने उनका लन्ड पूरा चाट के साफ किया और वो मेरे बगल में लेट गए।अभी हमारे पास दो दिन का वक़्त था और इन दो दिन में हमने पांच छह बार चोदा चोदी की. अब मेरी एक उंगली उसकी चुत में थी और मेरे होंठों में उसके निप्पल दबे थे. अब मैंने मौके की नज़ाकत को समझा और उसके लबों पे लब रख दिये और बेकार के नाटक और विरोध के बाद वो मेरा साथ देने लगी.