जापान की बीएफ जापान की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी सील तोड़ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी पिक्चर देहाती बीएफ: जापान की बीएफ जापान की बीएफ, मुझे दिखाई कम ही दे रहा था, लेकिन फिर भी मैंने ऊपर तक कम्बल से दोनों को ढक लिया था.

कॉल बॉय जॉब कंपनी

मैं खुद पर गर्व महसूस कर रहा था कि ऐसी औरत, जिसको चोदने का सपना हर मर्द देखना चाहेगा, उन्होंने मुझे सामने से चुदवाने के लिए बुलाया है. नेपाल बीएफझगड़ा जब बहुत ज्यादा बढ़ गया तो मैंने गुस्से में आकर चाबी को राजन की तरफ फेंक दिया.

मैंने भी देविका का हाथ अपने हाथों में थाम रखा था, हमारे बीच के वो रोमांटिक प्यार की झलक पूरी पार्टी में आकर्षण का केंद्र थी. बीएफ सेक्सी इंडियन भाभीऔर भी एक बात थी, भाभी ऐसे कभी मुझसे सच में चुदाई के लिए उत्सुक दिखाई नहीं देती थी, वह तभी ऐसा करती थी, जब उनकी तबीयत ख़राब हो जाती थी.

शावर से गिरता पानी मामी जी के स्तनों से होता हुआ चूतड़ों तक ओर फिर नीचे चुदाई के साथ लंड से होता हुआ गांड के अन्दर बाहर निकल रहा था, जिससे पच पच पच की आवाजें बाथरूम में गूंज रही थीं.जापान की बीएफ जापान की बीएफ: ’‘फिर तो पूरा रंगारंग कार्यक्रम होगा वहां’मैं झुकी और उपिंदर का लौड़ा चूसने लगी.

मैं खुद पर गर्व महसूस कर रहा था कि ऐसी औरत, जिसको चोदने का सपना हर मर्द देखना चाहेगा, उन्होंने मुझे सामने से चुदवाने के लिए बुलाया है.तब तक पड़ोसन घर में घुस गई और मेरी तरफ़ देख कर बोली- आजकल जमाना ख़राब है और कोई भी किसी का ध्यान नहीं रखता है.

बीएफ हिंदी मे - जापान की बीएफ जापान की बीएफ

काफी अच्छी शादी थी, खूब आनन्द लिया और रात के करीब 11 बजे हम लोग शादी से लौटने लगे.फिर मैंने उसकी सलवार ब्लेड से फाड़ दी और हल्के हल्के हाथ से उसका सलवार हटा दी.

पहले मैंने उसके मम्मों को धीरे धीरे सहलाया और उसके बाद जोर जोर से दबाना चालू किया. जापान की बीएफ जापान की बीएफ अपने अच्छे व्यवहार के चलते वह कुछ ही दिनों में पड़ोसियों से घुलमिल गया था.

इस सब में मुझे बहुत ही मजा आ रहा था।थोड़ी देर में वो थक कर परेशान हो गयी और नीचे उतर गयी तो मैंने उसको लेटा दिया और फिर से लेटा कर चोदने लगा। अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थी। वो अब झड़ने वाली थी और कहने लगी- जानू जोर से चोदो …अपनी प्यारी बहन को मैं और जोर से चोदने लगा.

जापान की बीएफ जापान की बीएफ?

ऐसा लगता था मेरे लंड का सारा माल मेरे लंड से उसके मुँह में जा रहा हो. इतनी मस्त और रसीली चूत तेरी मेरी बिटिया की … क्या कहूँ! कोई भी ऐसी चूत के लिए तरस जाये. उम्मीद है दोस्तो, आपको मेरी और मेरी चाची के बीच हुए ये चुदाई की कहानी अच्छी लगी होगी.

लेकिन मैं तो ऊपर से लगा हुआ हुआ था पूरी जोश से उसे पेलने में! मेरा लंड जब जोर जोर से भाभी की चुत के अंदर बाहर होता तो इंदु की चूचियाँ हिलती तो मुझे और अधिक आनंद आता. मैं पूरा सेक्स में डूब चुका था, मैं अपने हाथ उसके पीछे ले गया और उसकी मुलायम नर्म पीठ को कस कर पकड़ लिया। कुछ देर बाद मैंने उसे थोड़ा ऊपर किया और गुलाबो की चुची पर जानवरों की तरह टूट पड़ा। उसके निप्पल जिनको आज तक किसी ने नहीं काटा था, अब मैं उसके दायें निप्पल को चूस रहा था और काट रहा था। फिर मैंने बायें निप्पल को चूसा और काटा और पहली को हाथ से दबोच रहा था. उसने आगे बताया कि उसकी शादी 19 साल में ही हो गयी थी और एक साल के बाद पहली लड़की हुई, फिर डेढ़ साल के बाद दूसरी लड़की हुई.

मैं पीठ के बल जा गिरा और उन्होंने बेड ही पर खड़ी होकर अपना पेटीकोट भी निकाल दिया. मैंने उसकी टांगों को चौड़ी कर दिया और उसकी चूत पर अपने होंठ रख दिये. तुम दोनों आज रात बाहर खाना खाओ, रात घर जाते वक्त फिर चाबी लेकर जाना.

इस हिंदी सेक्स कहानी की रसीली घटना पर अपने विचार प्लीज भेजना न भूलें. अब मेरी बिटिया आरज़ू पूरी नंगी थी और मैं विडियो देख कर अपना लंड पकड़कर बैठा सब देख रहा था.

मैंने उससे कहा- तुमको मैं इस वक्त कैसा दिख रहा हूँ?वो बोली- तुम्हारी नंगी मर्दाना छाती दिख रही है.

उनके होंठों पर एक नशीली मुस्कान थी।भाभी- देवर जी, ज्यादा मत देखो नजर लगाओगे? आपका देखो पैंट में तम्बू खड़ा हो रहा है.

फिर मैंने कोमल को रोक लिया क्योंकि मेरे लंड में बहुत ज्यादा तनाव आ गया था. मैंने मौका देख कर उसके होंठों पर अपने होंठों रख दिये और लगभग जबरदस्ती किस करने लगा. कुछ देर तक एक दूसरे के बदन के साथ खेलने के बाद उसने मुझे नीचे बैठा दिया और फिर हम गद्दी पर लेट गए.

बेड पर लेटने के बाद मैं अपने शरीर पर ब्लैंकेट ओढ़ लेती, फिर अपना स्कर्ट उतार देती. ऊषा बोली- थोड़ी तारीफ खाना बनाने वाली की भी कर दो! उस चिकन की तारीफ तो आपने कर दी मगर इस चिकनी की तारीफ भी कर दो थोड़ी सी!मामा भी कम थोड़े ही थे, बोले- कुछ दिखे तो तभी तो तारीफ करें? अगर खाने को वह भी मिले तभी तो पता चलेगा कि चिकन अच्छा है या चिकनी?ऊषा अपने नैन घुमाते हुए बोली- घबराइये नहीं, अभी तो सब लोग खाना खा रहे हैं. फिर मैंने उसकी चूत की चुदाई धीरे से शुरू की और कुछ ही देर में वो मस्ती के साथ मेरी चुदाई में खोने लगी.

जैसे ही मैंने उसकी पेंटी निकाली, उसकी मस्त सी चूत मुझे दिखाई दी जो हल्की-हल्की गीली हो चुकी थी.

वहीं उस घर में मेरी बुआ की बहू यानि मेरी भाभी रहती थी, जिसके बारे में यह कहानी है. मुझे चोदने के बाद उस साले का लंड थोड़ी देर बाद फिर से तैयार हो गया. मामी की नंगी पीठ को चूमते हुए मैं फिर से घुटनों के बल नीचे बैठ गया.

जीजू बोले- तो कैसा लगा अपनी दीदी को चुदते हुए देख कर? क्या तुम्हारा मन भी करने लगा है चुदने के लिए? जीजू ने मेरे गाल को सहलाते हुए पूछा।वैसे तो जीजू मेरी मनोदशा समझ रहे थे मगर वो मेरे मुंह से सुनना चाहते थे. उसने कहा- थोड़ा सब्र तो करो!मैंने उससे कहा- यार, अब इन्तजार नहीं होता तुम बस मेरी हो जाओ!फिर उसने मुझे कहा- बस 5 मिनट में मैं फ्रेश होकर आती हूँ. मैंने किस करना छोड़ कर भाभी के चूचों को चूसना चालू कर दिया, जिससे भाभी एकदम से चुदासी हो गई.

संजीव ने मेरे बारे में उनको बताया और उन दोनों ने भी मुझसे हाथ मिलाया.

मगर मैं अब लंड डाल चुका था और मेरा बाहर निकालने का बिल्कुल भी मन नहीं कर रहा था. मैंने दस मिनट तक बिना रुके उसकी गांड मारी और लंड बाहर निकाल कर सारा मुट्ठ उसके कूल्हों के और गांड के छेद के ऊपर गिरा दिया.

जापान की बीएफ जापान की बीएफ मिसेज पाटिल की चुत, जो पहले से ही गर्म थी, एकदम से बूंद बूंद कर चमकता हुआ पानी छोड़ने लगी. थोड़ी देर चुप रहने के बाद उसने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेन्ड है?मैं- ना.

जापान की बीएफ जापान की बीएफ मैंने पूछा कि जो आज समझाया था वो समझ आ गया था?तो उसने बतय- पूरा नहीं आया!और स्माइली भेज दी शर्माने वाली. लेकिन रवि मामा यह कहते हुए नहीं उतरे कि उन्हें खेत पर जाना है और वो वहीं सोएंगे.

वो अपने पैरों को फ़ैलाने लगी, जिससे उसकी सफाचट चुत उभर कर मेरे सामने आ गयी.

सेक्स वीडियो एचडी अंग्रेजी

मैंने देखा कि शंकर झा जी तो पार्टी का कार्यभार इस तरह संभाल रहे हो मानो इनकी सालगिरह है, एकदम वयस्त!मैंने उन्हें आवाज लगाई- झा जी … ओ शंकर बाबू, कितना बिजी हो यार?शंकर- आरे आरे आइए आइए सर, नमस्ते देविका मेम … क्या करें सर, कौशल्या ने सारी जिमेदारी मेरे माथे पे थोप दी है. चोद कमीने!मेरे बेडरूम में नीना की यह बातें उसकी असलियत का बयान और बखान करने लगीं. 5-7 धक्कों में वो झड़ने लगी और मेरी पीठ पर नाख़ून गड़ा दिए और वो झड़ गयी.

फिर शाम को जिम से आते ही मैं भाभी के घर गया, तो मैंने उन्हें दिन की घटना बताई क्योंकि अब हम सारी बातें शेयर करने लगे थे. मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि मैंने थोड़ी देर पहले ही इस विशाल लंड को अपनी चुत में लील लिया था. वह तड़पने लगी; उसने मेरे मुंह को अपनी चूत पर दबा लिया और अपनी चूत को मेरे होंठों की ओर धकेलने लगी.

तब वो सब उसके पास आकर उसे चूमने लगे और कोई कहीं बैठ गया, तो कोई कहीं हो गया.

उसकी नजरों से लगता, जैसे कह रही हो कि आज रुको मत … बस ऐसे ही प्यार करते रहो. मैंने फूलमती से बोला- कपड़े उतार!तो उसने मना कर दिया, वो बोली- आप ही उतारो!मैंने उसे तालाब के घाट पर ही नंगी कर दिया और राकेश से पहले ही बोल दिया था कि वो मेरी नज़रों से दूर ही रहे, नहीं तो मुझे शर्म आयगी. अब आगे:मेरी सहेली के मामा ने अब मेरी कमर को पकड़कर अपनी हाथों से कस लिया और मेरी चुत पर जीभ नीचे से ऊपर की तरफ रगड़ रगड़ के चाटने लगे.

इधर नीना अपनी चूत में ठसाठस लंड के धक्के खाकर करीब पांच मिनट के भीतर ही पसीने से तर-बतर हो गई और उसके शरीर का हर हिस्सा सिहरन से भर उठा. तभी मामी जी ने मेरी ओर करवट ली और उनके बड़े बड़े स्तन मेरे हाथों से टकराने लगे. मेरी ही तरह जया और सीमा भी अंकल पर फिदा हैं, अंकल की पर्सनालिटी ही ऐसी है.

जिससे उनकी सांसें भी तेज होने लगीं और उन्होंने मुझे बांहो में भरते हुए अपने मज़बूत किसानी जिस्म में जकड़ लिया. उस नाशुक्री ब्रा ने कल्पना भाभी की चुचियों पर अपना कब्जा जमाया हुआ था.

दही पीने के बाद मैं मामी की तरफ देखने लगा और सोचने लगा कि ये मुझे किस नहीं करेंगी क्या?मामी मेरी तरफ देख कर अपनी भौं को ऊपर करके इशारा किया- अब क्या?मैं मुस्कराते हुए कहने लगा- मुझे किस नहीं मिलेगी क्या?मामी ने उसी समय मुझे किस कर दिया- अरे मेरे बाबू को भी किस्सी चाहिए. अब जमाना बदल रहा है और बच्चों को अपनी अपनी एकांतता की आवश्यकता पड़ेगी. मेरा लंड सारा आपा की हायमन से टकरा रहा था और जब लंड ने उसे भेदकर आगे बढ़ना चाहा तो सारा चिल्लाने लगी कि दर्द के मारे मैं मर जाऊँगी.

वो रात को 11-12 बजे तक ऑनलाइन रहती है, पर तब भी वो मुझको मैसेज नहीं करती.

मैंने उससे कहा- क्या देख कर ही मन भर लेना है आज?उसने उत्तर दिया- सारिका जी, आप इतनी सुंदर और कामुक लग रही हो कि देखते ही रहने का मन कर रहा. ये कहानी कुछ दिन पहले की है, इसलिए मैंने सोचा कि क्यों ना ये कहानी आप लोगों के साथ भी शेयर की जाए. कभी कभी तो उनकी शर्ट काफी ज़्यादा फट जाती और उनका कड़क जिस्म फ़टे कपड़ों में से बाहर झांकने लगता.

वो अभी तक कुंवारी कैसे हो सकती है?मैंने चौंकते हुए कहा- क्या? क्या कहा अभी आपने?कल्पना थोड़ा उदास होते हुए बोलीं- हां, मैं अभी तक कुंवारी हूँ. हालाँकि मैं उन्हें बुरी निगाह से नहीं देखता था, न ही उनकी नज़र में मुझे कुछ वैसा दिखाई देता था.

जिन चुचियों और चूत की फ़ोटो देख कर मैंने कितनी बार उसके नाम की मुठ मारी थी, वो आज बिल्कुल सामने देख लंड का तो हाल बेहाल था. काफी लोग कहते हैं कि इतना बड़ा अन्दर गया, तो मैं आप को बता दूँ कि 8 इंच से ज्यादा बड़ा लंड चुत के अन्दर इंफेक्शन भी कर सकता है, जिनका ऐसा लंड है, उन्हें ये अच्छी तरह पता है. तुझे क्या लेना है?चिन्टू मीना के घर अब बेखटके और बिना किसी रोक टोक के आने जाने लगा था.

राजस्थानी फुल सेक्स वीडियो

कुछ देर उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने भाभी को घोड़ी बनने के लिए कहा.

हालाँकि कुछ ही देर में रस के कारण चूत ने दर्द को भुला दिया और सलोनी भी अपनी गांड उठाकर चुदवाने में साथ देने लगी।कुछ देर बाद पूरा लंड चूत की जड़ तक अन्दर-बाहर होने लगा और धमाकेदार धक्कों से सलोनी की चूत का बाजा बज उठा. उसने तब कहा- पता नहीं कब दोबारा मौका मिले, कम से कम थोड़ा अलग करने दीजिए. मैंने बेड पर लेटा कर भाभी की नाइटी को ऊपर कर दिया और भाभी के सेक्सी जिस्म पर टूट पड़ा.

मामी को बाथरूम जाना था सू-सू करने के लिए तो मामा भी साथ में चल दिए. मैं बस ऊपर मचलती रही, कभी चादर खींचती, अपने नितंबों को खुद ही दबाने लगती, अपने होंठ काट लेती, सिसकारियां भरती रही. सेक्सी बीएफ जंगल कीमैंने एक सेफ सी जगह देख कर बाइक रोकी, उधर रोड साइड थोड़ा गड्डे जैसा था.

मैंने कहा- अच्छा यह बताओ, तुम्हारी मम्मी की चूत कैसी है?सोनू कहने लगी- एकदम सुंदर, चिकनी और गोरी, अंदर से पिंक कलर की है. जब मुझसे और ज्यादा बर्दाश्त करना मुश्किल होने लगा तो मैंने कोमल को अपने पास बुलाकर उसको अपने दिल का हाल बताया.

मैंने एक और जोरदार झटका मारा, जिससे मेरा पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में समा गया. भाभी की जोरदार चीख निकल गई आह मर गई … उम्म्ह… अहह… हय… याह… उईईईइ धीरू मर गई मैं आःह ऊऊऊ शीईईई …भैया पर तो चूत का भूत सवार था. जब शाम हो गयी तो राजन बाहर जाने लगा और जाते हुए उसने कहा कि वह रात का खाना बाहर ही खाएगा.

मैं बीच-बीच में उसके ट्टटों को भी मुंह में भर लेता था जिससे उसकी आह्ह. उनकी उंगलियां सोनल की पैंटी के बॉर्डर पर घूम रही थीं और एक उंगली उसकी चूत की दरार पर पैंटी के ऊपर घूम रही थी. हमारी कोचिंग की कक्षा में केवल दो ही लड़कियां थीं, वे दोनों बहनें थीं.

उसने पूछा- कहां जा रहा है?मैंने नवीन को पकड़ लिया और वहीं उसको गले से लगा लिया.

फिर विनय जीजू, जो उसी बेड पर बैठे थे दीदी को चूमकर उन्होंने पूछा- कैसा लगा जान अनन्त का लन्ड?दीदी- बहुत पसन्द आया. रमेश- हां मालिक, मैं जानता हूँ और मरते दम तक आपके परिवार और आपका वफादार रहूंगा.

फिर मैंने उसकी पेंटी को उसकी टांगों से बिल्कुल ही अलग कर दिया और उसकी नंगी चूत पर अपने होंठ रख दिये. मामी बोली- तो फिर आप से गलती हुई है तो आप सजा के भी हकदार हो जाते हैं. यहां तेरे और मेरे बीच में जो भी होगा वो न तो कभी किसी को बताएगी न मैं.

अब रात तो रात, दिन में भी कई दंपति मित्र मुझे अपनी संभोग क्रिया कैमरे पर दिखाने लगे. अगर सूरत की कोई फीमेल मुझसे दोस्ती करना चाहती है तो मेरा ई-मेल एड्रेस नीचे दिया हुआ है. उससे चला नहीं जा रहा था, तो मैं उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम ले गया.

जापान की बीएफ जापान की बीएफ जैसे ही मैं अपने बेडरूम में घुसा, उस लड़की ने जो कि मेरी पत्नी है, कहा- मुझे छूना नहीं, मुझे छुओगे तो मैं आत्महत्या कर लूँगी. चारों ओर से चूत की दीवारों में फंसे हुए टाइट और खासे मोटे लंड की मौजूदगी मेरी नीना रानी को जन्नत का सैर कराने लगी.

घरेलू प्राइवेट नौकरी चाहिए

उस दिन भी वो खुले गले का टॉप पहन के आयी थी और मेकअप भी प्यारा किया हुआ था. मैंने धीरे से पूछा- आपने एकदम से क्यों डाल दिया?आपको पता है कि इस तरह कितना दर्द हुआ मुझे. उसका छः फिट का लंबा कद, चौड़ी छाती, हाथ पैर के चौड़े पंजे, उसकी आँख, होठ, जांघे और कूल्हे मुझे उसका पूरा बदन चाटने के लिए पागलों की तरह खींच रहे थे.

लगभग 5 मिनट बाद उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया और मैं उसकी चुत का पूरा पानी पी गया. मैं उसे पास के ही एक होटल में ले गया औऱ एक कमरा बुक करके हम दोनों रूम में आ गए. बांग्ला सेक्सी एचडी बीएफमेरी छाती उसके चूचों को दबा रही थी और उसकी जांघों पर मेरी जांघों के टकरा जाने के कारण फट्ट फट्ट की आवाज हो रही थी.

तुझे मैं कैसे प्यारा लगा?मैंने कहा- मुझे तो आप जैसे लड़के बहुत पसंद हैं.

मम्मी जी- बेटा, दो दिन बाद हम सूरत जा रहे है, तुझे साथ में नहीं ले जाऊँगी, बोल तो किसी को बुक करूँ तेरे लिए या तो तू खुद किसी को ढूंढ लेगी?मैं- मैं किसे ढूंढूंगी मम्मी जी यहां, यहां तो कोई पहचान का है भी नहीं, आप ही देख लो क्या करना है आपको. मेरी देसी पोर्न कहानी के चौथे भाग में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी पेंटी देने के बहाने मेरी सहेली के मामा मुझे एकांत में ले गए और मेरी चूत को सूंघने लगे.

फिर मेरे मोबाइल ने 5 बजे के अलार्म ने मुझे जगा दिया, जो मेरे मोबाइल में सैट था. वो हमेशा टाइट कपड़े पहनती थी और बिना परफ्यूम के तो वो कहीं जाती ही नहीं थी. मुझे अब भी यही लग रहा था कि वो नशे में हैं, तो मैं भी उनका साथ देने लगी.

कुछ कुछ खेलने या पढ़ने, साथ लिखते पढ़ते थे और वहीं उसके साथ गोटी या चंदा का खेल खेलती थी.

मैंने उसकी टांगों को अपने कंधे पे रखा और एक ही झटके में उसकी चुत के अंदर लंड उतार दिया. बस मैंने हिम्मत बढ़ा दी और अपना हाथ उनकी ब्रा में डाल कर उनके एक चूचे को अपनी हथेली में भरके सहलाने लगा. मैं राजस्थान के झुंझुनू जिले के एक गांव का रहने वाला हूँ और अभी अजमेर में रहता हूँ.

बीएफ गानाबाहर आकर कहने लगे कि सपना तुम भी अपने आप को बाथरूम में जाकर साफ कर लो. मैंने उसके घर की तारीफ़ की, तो उसने मेरी तारीफ़ से मुस्कुराकर ही जवाब में धन्यवाद दिया.

लड़की पटाने की आईडिया

अनन्त भी आ गया है।दीदी- क्या करूं, रचना यहीं है।जीजू- रचना सो गई है. डॉली बोली- हमारे इस घोड़े की खुराक और चुदाई दोनों ही ज्यादा है, इसीलिए इसे साथ में रखा है. कल्पना- ओके, बाकी दोनों के साथ कैसा एक्सपीरियंस रहा आपका?मैं- एक्सपीरियंस तो सबके साथ एक जैसा ही होता है, पर कुंवारी लड़की के साथ बहुत संभाल कर सेक्स करना पड़ता है.

नमस्कार दोस्तो, अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज़ डॉट कॉम पर यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है। अगर कोई ग़लती हो तो माफ कर दीजियेगा।सबसे पहले दोस्तो, मैं अपना परिचय देना चाहूँगा। मेरा नाम राहुल है, मैं रांची में रहता हूँ और एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूँ, यह कहानी तीन महीने पुरानी है। जब मैं जॉब की तलाश में था और घर पर ही रहता था। मैं घर पर बैठे-बैठे बोर हो रहा था. मैंने जल्दी से अपनी सलवार को बांध लिया और आराम से मुंह खोलकर लेट गई. उधर मेरा लंड भी झड़ने को आया था, मैंने उसे बताया लेकिन वो नहीं रुकी.

अगले दिन सुबह जब मैं यूनिवर्सिटी जाने लगा तो मुझे नीचे भाभी दिखाई दी. इतनी ही देर में विमला दूध लेकर फिर से कमरे में आ गई और मुझे हल्के से डांटने लगी. वो जब रसोई में काम कर रही थी, तो मैं बार बार रसोई में जा कर उसके चुचे और गांड मसल रहा था.

मैंने चूत में उंगलिया घुमाते हुए बोला- बता भी दे अब किसका लंड लिया था. एक बार की चुदाई के बाद कल्पना भाभी काफी रिलैक्स नज़र आ रही थीं, पर थकान का असर अब भी उनके चेहरे पर साफ दिख रहा था.

मैंने देखा कि लंड पर खून लगा हुआ है और उसकी चूत में से भी खून निकल रहा था। लेकिन उसे पता नहीं चला।मेरी बहन अब मेरे लंड की चुदाई का मजा लेने लगी थी और उसके मुंह से सिसकारी निकल रही थी.

कुछ देर यूँ ही झटके खाने के बाद उसका लिंग अपने आप ही मेरे होंठों से बाहर निकल आया. सेक्स फिल्म चुदाईअभी तक कहानी के पिछले भाग में कल्पना ने बताया कि मेरी सास मुझे एक कॉल ब्वॉय से मिलने को समझा रही थीं और मैंने उन्हें ‘सोच कर बताती हूँ. भोजपुरी एक्स एक्स एक्स वीडियो हिंदीसाथ ही नीना की चूत को अपने लंड का सैल्यूट, नमस्ते या सलाम भेजना न भूलें. उसकी साँसें भी तेज हो रही थी और पेट भी तेज तेज से ऊपर नीचे हो रहा था.

अब तो बताएं मालिक … आखिर क्या कारण है जो आपको अपनी मामी हमारी छोटी मालकिन बहू के साथ संबंध बनाना पड़ा?मैं- आपको तो मालूम है काका मामा जी का पूरा ध्यान बिजनेस में ही है, वह दिन भर, तो कभी कभी हफ्तों तक बाहर रहते हैं और मामी जी को ज्यादा वक्त नहीं दे पाते.

कई बार वहां कोई लड़की मिल जाती है, लेकिन ज्यादातर लड़कियों के नाम पे वहां सब लड़के ही होते हैं. सच कहूँ तो दोस्तो, मुझे भी समझ में नहीं आ रहा था कि इनके साथ कहां से शुरू करूँ. भाभी हंसने लगी, कहने लगी- अभी तो वह बिल्कुल छोटी लड़की है, तुम्हारा इतना बड़ा लंड कैसे लेगी?मैंने कहा- वह पूरी जवान हो चुकी है, उसके मम्मे बड़े-बड़े हैं और कई बार मैंने उसकी स्कर्ट में से उसके पट भी देखे हैं, अपने आप ले लेगी.

जब उसका दूध आना बंद ही गया, तो मैंने आहना की आंखों में देखा और उसने कहा- घबराओ नहीं, मेरे बेटे और तुम्हारे लिए अभी भी बहुत दूध बाकी है. उनके गले को चाटते हुए उनके एक दूध को अपने मुँह में डाल कर चूसने लगा और दूसरे मम्मे के निप्पल के साथ खेलने लगा. उसके बाद मैंने रीना की जींस पर उसकी चूत के ऊपर वाली जगह पर अपनी उंगली से सहलाना शुरू कर दिया.

सेक्स पिक्चर दिखाओ

जैसा कि आपको मैंने पिछली कहानी में बताया था कि वो वीडियो कॉल में मेरे लंड की साइज देख कर खुश हो गई थी और वो मेरा लंड लेने के लिए तड़प रही थी. दोनों ने साथ में शावर लिया। फिर साथ में खाना खाया। तब तक शाम के 4 बज चुके थे।भाभी- सुन मेरे राजा … मैं चलती हूँ, मेरी सास आने वाली होगी बाजार से. दो दिन बाद में मालिश कर रहा था, मामी मालिश के टाइम पे सिर्फ ब्रा और केप्री ही पहनती थीं.

एक दिन एक पड़ोसन ने मीना को कह दिया- पराये जवान लड़के का इस तरह घर में आना-जाना ठीक नहीं … तेरी बेटी जवान हो चुकी है, उसका तो कुछ तो ख्याल कर!मीना उसकी बात तो ताना समझ कर क्रोध में बोली- अपने घर की फ़िक्र मैं खुद कर लूंगी.

अपने बगल की आंटी के साथ तो मामी ने एक बार मुझे लेकर थ्री-सम भी करने को कहा था.

(आगे अँग्रेज़ी की बातचीत को हिन्दी में लिखा है)मैं ब्रा और पेंटी में उसके सामने खड़ी थी. मुझे लगा मैडम मजाक कर रही हैं, इसलिए मैंने मजाक में उनसे कहा कि कुछ मिलाने के लिए है, तो ले आओ. भोजपुरी बीएफ चोदा चोदीउसने बेड पर बैठ कर मेरा निक्कर उतारा और मेरे खड़े लंड को देख कर एकदम से मानो शॉक्ड हो गई.

अभी मैं ये सोच ही रहा था कि पता नहीं उसके घरवाले अभी तक गए हैं या नहीं. कुछ सेकेंड तक जब मैंने कोई हरकत नहीं की, तब भाभी अपना चेहरा मेरे सामने लाकर मुझे देखने लगीं. मामी जी- क्या ये अभी भी भूखा है? सारी रात तो मुझे चोदता रहा और अब फिर से अकड़ गया.

फिर एक दिन मैंने उससे कहा- यार मेरा तो अब चुदाई का मन करता है, मुझे कब तुम्हारी चूत के दीदार होंगे?तो यह बात सुनकर वो इतना अधिक खुश हो गयी, जैसे वो ये सब मेरे कहने का ही इंतजार कर रही थी. फिर मैं नीचे घुटनों के बल बैठ गया और मामी जी के पेट पर प्यार से हाथ घुमाने लगा.

मैंने उससे कहा- तुमको मैं इस वक्त कैसा दिख रहा हूँ?वो बोली- तुम्हारी नंगी मर्दाना छाती दिख रही है.

इंदु जब लंड के ऊपर नीचे होती उसकी 36 इंच की चुचियाँ हवा में उछल कर ऊपर नीचे होती जो मेरे जोश को और बढ़ा देती. और अगर तुम्हारी सैलरी बढ़ती भी है, तो बस 10% बढ़ेगी क्योंकि यह कंपनी का रूल है. हथेली को साफ करके मैडम ने बाकि सब जगह पर पड़े हुए मक्खन को उंगलियों से समेटा और उसको भी मुंह में लेकर चाट लिया.

क्सक्सक्स village मेरे लंड घुसने के साथ ही उसकी एक मीठी सी आह निकली और दो पल में ही उसकी चूत ने मेरे लंड को लील लिया और फांकों से चबाते हुए लंड से लड़ने लगी. उसकी चूचियों को हाथ से मसला और उसकी दोनों टांगों को थोड़ा चौड़ा करके अपने लंड को हाथ से पकड़ कर उसकी चूत के छेद पर लगाया.

”रहने दो … अगर मैं ना होती तो किससे लिपट के सोते … बहाने बना रहे है लिपटने के!”अगर तुम ना होती तो तकिये का सहारा लेते … पर अब तो तुम हो … और नींद तुम्हें भी नहीं आ रही … तो तुम ही लिपट जाओ शायद नींद आ जाए. मैंने फिर से थोड़ा सैट करके एक जोरदार धक्का मारा, तो भाभी के मुँह से उनकी घुटी हुई आवाज निकली. इस पोजीशन में वो बार बार चुदाई करते हुए रूक जाया करता, मुझे गुस्सा आता, चिढ़ भी होती और चुदाई का मन भी बढ़ता.

फुल एचडी सेक्सी देहाती

लगभग पंद्रह-बीस मिनट की चुदाई के बाद रीना का बदन फिर से अकड़ने लगा. मैंने कहा कि देख तुम्हें गांड मराने में इतना मजा आया कि तुम्हारा वीर्य बाहर निकल आया. लिफ्ट में पहुँचते उसने मेरे कूल्हों पर मस्ती से हाथ फेरना शुरू कर दिया था.

जब तुम उल्टी लेटी हो, मैं तुम्हारे ऊपर सवार होकर जब लंड तुम्हारे बम्प्स से होकर तुम्हारी गांड के होल को टच कर के तुम्हारी चुत में पेलता हूँ. फिर दीदी की सासू माँ ने एक डिब्बी निकाली और मुझसे कहा- भर अपनी दीदी की मांग.

इस समय भैया नहाने गए हुए थे, तो मैं सीधा भाभी के पास किचन में पहुंच गया.

फिर शाम को जिम से आते ही मैं भाभी के घर गया, तो मैंने उन्हें दिन की घटना बताई क्योंकि अब हम सारी बातें शेयर करने लगे थे. एक लौंडे ने मेरी जीएफ रिया को खींच कर गाड़ी से निकाल कर उसे दरी पर बिठा दिया और बोला- चल कपड़े उतार … वरना फिर हम कपड़े फाड़ेंगे, तो तुझे यहां से नंगी ही घर जाना पड़ेगा … सोच ले. मैंने कहा- तो बताओ प्रोग्राम शुरू करें?वो बोली- हां चलो, कमरे में चलते हैं.

अभी मेरा आधा ही लंड अन्दर घुसा था कि सीमा भाभी दर्द से कराहने लगीं. क्या शरीर था … बहुत चिकने हाथ, चिकनी साड़ी में उनका हर अंग बहुत कोमल, चिकने फर्श की तरह कड़क माल के जैसी गर्म भाभी. मैंने कहा- बिल्कुल … मैं आपका दास हूँ आज की रात पूरी बाकी है, जो मन हो वो करवाइये.

मैं अंकित को पढ़ा रहा था और भाभी मोबाइल पर कुछ देखने लगी। वो नाइटी में और भी ज्यादा सेक्सी लग रही थी क्योंकि नाइटी डीप गले वाली थी.

जापान की बीएफ जापान की बीएफ: मगर वह तेजी से अपने चूतड़ों को आगे की तरफ धकेल रहे थे और पूरा लंड दीदी के गले में उतार रहे थे. कुछ देर बाद मैंने भाभी को बोला- अब आप नीचे हो जाओ, जिससे दोनों को स्खलन की संतुष्टि हो जाए.

तो प्रोफेसर साहब अपने घुटनों के बल बैठ गए, अब उनका पेट मेरे पेट के ऊपर टिक गया, और नीचे से प्रोग्राम फिट हो गया. दोस्तो, ये तय बात है कि अगर किसी औरत को पूरा सैटिस्फैक्शन देना हो, तो उसे पहले खूब गर्म करो. 3-4 मिनट में ही उसके लंड ने अपना रस मेरे मुंह में छोड़ना शुरू कर दिया.

अंकल ने पूछा- फिर बताओ हिंदी में क्या कहते हैं?मैं बोली- उसे ‘चुम्मी.

वो मेरे ऊपर चढ़ सा गया और मेरे चूतड़ों के ऊपर अपनी दोनों टांगें फैला कर झुक गया. उसने मेरे यह कहते ही मेरे होंठों को चूम लिया और बोला- तू बहुत अच्छी है पर एक बात बोलूं, तू बिल्कुल एक नंबर की माल लगती है. इसके नये कपड़े नहीं ला पाया, सो गुस्सा होकर इधर आ गई, तो इसी को मना रहा था.