एक्स एक्स इंडियन बीएफ

छवि स्रोत,बाप ने बेटी की

तस्वीर का शीर्षक ,

fm रेडियो सेक्सी पिक्चर: एक्स एक्स इंडियन बीएफ, मैंने चालाकी से उसके दोनों मम्मों की तारीफ की, तो बेध्यानी में चुत से हथेलियों को हटा कर उसने अपने दोनों हाथों से चुचियों को छिपा लिया.

सेक्सी पिक्चर ओपन वाली

लंड पर ऐसा महसूस हो रहा था जैसे किसी ने उसको मुट्ठी में जकड़ लिया हो. मारवाड़ी सेक्सी बीपी पिक्चरएक दिन मेरी नजर फेवीकोल की खाली शीशी पर पड़ी, उसका साइज बिल्कुल राकेश के लण्ड के बराबर था, मैंने उस दिन से फेवीकोल की शीशी का इस्तेमाल शुरू कर दिया.

इसलिए मुझे बता दे कि कितने लंड खाये हैं तूने?मैंने उसको सब सच बता दिया. वीडियो सेक्सी नंगी सीनदोस्तो, ये थी मेरी अनजान भाभी सेक्स स्टोरी … आप लोगों को कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

सिर्फ मेरी कराहती आवाजें कमरे में गूंज रही थी- आअह आह आआआआह उफ़ ईश शस्सशआ आआ हहह ह ह!मेरा पूरा चेहरा उसके जुबान के रस से गीला हो गया था.एक्स एक्स इंडियन बीएफ: इस पर वो मुस्कुराई और मस्त माल जैसे शब्द सुनकर मुझसे ठिठोली करते हुए जाने लगी.

लेकिन बहुत से कपड़ों में से मैंने अपनी लक्की ड्रेस, पीले रंग के पटियाला सूट को पहना.अतः आप सबसे विनती है कि जिन्हें मेरी लेखन कला पसंद आ रही है, या जो मुझसे पर्सनली बात करना चाहते हैं, वो मुझे मेरे मेल आईडी पर मेल कर सकते हैं.

सेक्स वीडियो बीपी सेक्सी - एक्स एक्स इंडियन बीएफ

कुछ देर तक उसकी चूचियों को पीने के बाद मैंने उसकी पतली कमर पर किस किया.जब मैं वापस आया तो रीना बाहर आ चुकी थी और मेरे लैपटॉप में देख रही थी.

हमारे मन में चोर था, इसलिए पहचान वाले दुकानों को छोड़कर दूसरे की दुकान में पहुंच कर उपहार चयन के लिए दुविधा में पड़ गए. एक्स एक्स इंडियन बीएफ आंटी- तुम्हारे अंकल तो ऑफिस के काम से बाहर गए हुए हैं … वो तो शायद कल शाम यार परसों लौटेंगे … और बेटे को 4 दिन की छुट्टी है, इसलिए वो अपने नाना-नानी के पास गया है.

जैसे ही मैंने प्रीति को देखा तो प्रीति मुस्करा दी और मैं भी मुस्करा दिया.

एक्स एक्स इंडियन बीएफ?

दोनों के मन में एक ही बात चल रही थी ‘बहनचोद, 4000 रुपये महीना का प्रोटीन खाएगा तो घर वाले गांड पर लात मार कर बाहर निकाल देंगे. थोड़ी ही देर में पिचकारी की तरह गाढ़ा वीर्य का फव्वारा निकला, जो उसके मुँह के ऊपर, उसके चूचियों पर, कंधों पर गिरा. उसे मैं किसी रंडी की तरह अपनी चूत और गांड की साइज पूरी तरह से दिखाने लगी.

इसके बाद मैंने उनकी पैंटी उतारी, तो देखा कि उनकी चूत तो पानी छोड़ रही थी. मैंने एक हाथ से उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और अपना हाथ उसकी पेंटी में घुसा दिया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:कमसिन कुंवारी चूत को उसके घर में चोदा-2.

मैंने कहा- उनकी चूचियों के निप्पलों को छेड़ते हुए मैंने उनसे कहा- परेशान तो आपके इस कयामती जिस्म ने मुझे कर रखा है भाभी. उसके बाद उन्होंने सही निशाना लगा कर मेरी चूत में एकदम से लंड को घुसा दिया. मेरे घर के लोग मेरी खुशी के अनजान रहस्य को समझने की कोशिश में आखिर में पूछ ही बैठे कि क्यूँ रे गीत … आज इतनी खुश क्यों है.

इस मजेदार सेक्स कहानी के तीसरे भाग में आपने पढ़ा कि शान्ति भाभी अपने साथ एक प्यासी भाभी को लेकर मेरे पास आ गई थीं और हम दोनों ने उसे गर्म करते हुए चुदाई की पोजीशन में ला दिया था. एक दिन उसने मुझसे कहा- भाभी, मुझे आपसे मिलना है।क्योंकि मुझे वह बहुत अच्छा लगा था तो मैंने उसे मना नहीं किया.

एक दिन सुबह सुबह रेखा आई और बोली- आगरा में मेरी छोटी बहन मनीषा रहती है.

सर अपने लन्ड को पूरा बाहर निकाल लेते और फिर पूरा लन्ड एक झटके में ही मेरी चूत में डाल देते.

यह मेरे एक ऐसे अच्छे दोस्त की कहानी है जो मुझे अंतर्वासना से ही मिला था. मैंने मनु के घर अपने मोबाइल से फोन किया और परमीत के घर जाने की बात कही, तो मनु ने हां कह दिया. स्वीटी आंटी- वाह रॉकी … मेरे कपड़े खोल कर मुझे ब्रा और पैन्टी में कर दिया और खुद अब तक कपड़े पहने हो … चलो तुम्हारे कपड़े मैं खोलती हूं.

थोड़ी देर बाद मालकिन पेट के बल लेट गई और जांघें फैला कर बोली- सुरेश, थक तो नहीं गए ना?मैं- नहीं. इतने में वो बोली- अब क्या आंखों से चोदेगा … डाल न अपना लंड जल्दी पेल … आग लगी है मेरी चुत में … जल्दी डाल भैनचोद. ”अच्छा आप बताइये … आज कैसे याद आई आपको मेरी?”कुछ नहीं … याद तो आपको बहुत किया क्योंकि आपने जो निस्वार्थ मेरी मदद की वो मैं भूल नहीं सकती.

मेरा पूरा लंड भाभी के मुँह में ही था, तो आवाज उनके मुँह में ही दब कर रह जाती थीं.

मैं- करना कुछ नहीं है, बस सीधे थन से दूध पीना है, मगर तुम हो कि सुनती ही नहीं हो. इधर मेरे कूल्हों को खोल कर अभय मेरी गांड के सुराख पर जीभ से चाटने लगा. उनका आदेश सुनकर मैं बहुत ही खुश हुआ और मैं झट से जाकर पलंग पर बैठ गया.

न जाने कितने दिन बाद ऐसा मजा आ रहा है … और जोर से चोदो … आहं खा जाओ मुझे … और तेज धक्के मारो. जेठजी मुझे फिर से अपनी बांहों में जकड़ते हुए बोले- नहीं, इस बार मैं तुम्हें श्वेता नहीं, जस्सी ही समझ रहा हूं. थोड़ी देर बाद उसने झटके तेज़ कर दिए और दस मिनट बाद वो मेरी गांड में ही झड़ गया.

मैंने लोअर उतारकर लुंगी बांध ली और शैली को फोन करके बुलाया- आज पढ़ना नहीं है क्या?उसने कहा- अभी आ रही हूँ, दादू.

उस समय उसे ये सब नहीं पता था, तो उस टाइम कोई प्रॉब्लम नहीं हुई … लेकिन अब वो बड़ा हो गया था. करीब 15 मिनट बाद मैंने अपना माल मामी की चूत में ही निकाल दिया और उनके ऊपर गिर कर किस करने लगा.

एक्स एक्स इंडियन बीएफ मजबूरन अकेले सफर करना पड़ रहा है।मैं बोला- कोई बात नहीं! अकेले नहीं आज हम दोनों सफर करेंगे!बोल कर मैंने बरमूडा से अपना लन्ड निकाल कर पूर्णिमा के हाथ में दे दिया और बोला- हिला और चूस!इतना बोल कर मैंने उसकी कुर्ती को उतार दिया. जब मुझे लगा कि अब ये ज्यादा होने लगा है तो मैंने अपने साले की बेटी को अपनी बांहों की गिरफ्त से आजाद किया.

एक्स एक्स इंडियन बीएफ कई बार आरती मुझे कार चलाना सिखाने के लिए कहती थी लेकिन मैं हमेशा ही टाल मटोल कर दिया करता था. ममता झाड़ू जमीन पर रखते हुए बोली- आइये साहब, पहले आप ही का काम कर दें.

इतना सोचने का क्या लाभ था!कमरे में आकर दीदी ने अतिरिक्त कपड़े उतार देने को कहा.

देसी न्यू सेक्सी

जब मैं वापस आया तो रीना बाहर आ चुकी थी और मेरे लैपटॉप में देख रही थी. कई बार मैंने लड़कियों को पटाने की कोशिश की लेकिन कोई जवान सेक्सी लड़की अब तक मेरी गर्लफ्रेंड नहीं बन पाई. एक बार को तो मैं झटका खा गया, पर जब वो मुस्कुरा कर मेरे लंड को एक नजर देख कर पलट कर चली गयी.

मैंने मन में सोचा कि इसे क्या पता कि मैंने इसकी चुदाई इसकी भाभी की रजामंदी से ही की है. अब शाम को जल्दी आ जाना, मैं कंट्रोल नहीं कर पा रही हूँ बहुत दिन हो गए हैं. संदीप ने पास ही पेड़ के नीचे बने हुए चबूतरे पर बैठ कर बात करने के लिए आग्रह किया.

”सिल्क- अब जाने भी दीजिये … मत कीजिये इतनी तारीफ!फिर मैंने पूछा- आप कॉफी लेंगी?और दो कॉफी आर्डर करके मैं उनसे बात करने लगा.

उन्होंने मेरी ओर कातिल मुस्कान से देखा और फिर दोबारा से अपनी आंखें बंद करके सोने का नाटक करने लगी. मैं- क्या करूं जीजा जी आपकी बीवी है ही इतनी हॉट माल कि मेरे लंड से कन्ट्रोल ही नहीं हुआ. लेकिन एक दो दिनों बाद चूत की खुजली फिर से बढ़ने लगी और मुझे लंड की याद आने लगी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:कमसिन कुंवारी चूत को उसके घर में चोदा-3. वह अपने हाथ से मेरे सर को दबाकर अपना लंड पूरा मेरे मुंह में डाल देता जिससे बहुत सारा थूक आ जाता था. मैं उनको शांत कराने के लिए उनके बगल में बैठ गया और उनकी पीठ पर हाथ फेरते हुए उनको शांत करने लगा.

उसका फ़िगर 34-26-36 का है, यानि कोई भी उसको नजर भरके देख ले, तो अपने आप ही लंड पर हाथ चला जाए. ”फट जाएगी तेरी फुद्दी!”फट जाने दो … बस तुम चोदते रहो!”अब उनकी चुदाई की स्पीड तेज़ हो गई.

एक बार को तो मैं झटका खा गया, पर जब वो मुस्कुरा कर मेरे लंड को एक नजर देख कर पलट कर चली गयी. वरना राजन तो चूत चूसने और मम्मे चूसने में इतना माहिर था कि चूत चूस चूसकर ही शोभा का पानी निकाल देता. उसके बाद उसकी सगाई हो गई, उसने अपने घर वालों की मर्जी से शादी की थी.

उससे मैंने पूछा- ये क्या?तो बोली- जब मैं तुम्हारा लन्ड चूस रही थी, तब से अपना लावा रोक रखा था कि तुम्हारे मुँह में छोडूंगी.

मगर सील पैक चूत की चुदाई और चुदी हुई चूत की चुदाई के बारे में मर्द को पता लग जाता है. इसी सोच विचार के चलते अब मैं अपने बनाए हुए उसी छेद से हर रोज चाची को नहाते हुए देखने लगा था. अगर आप लोगों का रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं अपने साथ हुई घटनाओं के बारे में और भी काफी कुछ बताऊंगा.

वो कहने लगा कि जैसे अपने यार से फोन पर बात करते हुए उसको चुम्मी दे रही थी. मैं- आज का क्या प्लान है?दीदी- कल रात तुम दोनों ने मजा किया था, आज हम दोनों मजा लेंगी.

उसने चूत के उभरे हुए भाग को अपने हाथ में भर लिया और उसको दबाने लगा. ’ की आवाज के साथ उसके मूत की धार बहने लगी और मैं उसके मूतते हुए ही उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा. निधि ने कुछ दिन तो बर्दाश्त किया पर अंत में वो मुझे छोड़ कर अपने माता पिता के पास चली गई, बात तलाक तक पहुंच गई.

जबरदस्ती में सेक्सी

मैंने कहा- मादरचोद रंडी, बोल रही थी ना कि बड़े बड़े लण्ड चाहियें … अब ले इस तेरे यार के लण्ड को!मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा और दूसरा झटका मारा.

मैंने कहा- क्या हुआ बेटा!उसने कोई उत्तर न दिया और अपनी आंखें बंद करते हुए फिर से लोचने लगी. अब मैंने धीरे धीरे उसके दोनों पैरों की उंगलियों को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया था. उत्तेजना के कारण उसकी चूत में कामरस ने ऐसी खुजली मचाई कि वो अपनी गीली चूत को मेरे सामने नंगी करने के लिए कुर्सी से उठ गई.

जब होटल में पहुंचे तो होटल मैनेजर ने पहले ही कह दिया कि लाइट बारिश रुकने के बाद ही आयेगी. ” वसुंधरा ने लिफाफा खोलकर उस में से कुछ कागज़ निकाले और मेरी और बढ़ाये. हिंदी चुदाई दिखाओमैं उसे अपने चोदू प्रीत के फ़ार्म हाउस पर ले गई थी और अपने भाई के लिए मैंने एक कॉलब्वॉय को बुलाया था.

वहां सभी कमरे में सो रहे थे और इधर किचन में इतनी रात को मैं अपनी दीदी को पेल रहा था. हमको पहली बार हमारे सगे चाचा ने चोदा था, उसके बाद हमारे पति ने और तीसरे आप हैं.

इसलिए उनके कहने पर मैं कभी कभी अपने कपड़ों के शोरूम पर भी चला जाता था. मैं उनकी बातें सुनने की कोशिश करने लगा, पर उनकी बातें सुन नहीं पा रहा था … क्योंकि रूम का पंखा काफी तेज चल रहा था और वो बातें भी बहुत धीरे धीरे कर रही थीं. अब मैं पेट के बल लेट गई और मेरे चूतड़ों को खोल कर उसने लंड मेरी चूत में डाल दिया.

वो तो उषा ने प्रीति को चुदाई के बारे में बता बता कर उसको चुदाई के लिए इतना प्रेरित कर दिया कि प्रीति को लंड की चाहत होने लगी थी. ‘आआह्ह …’ पिंकी आनन्द के अतिरेक में कराह उठी और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबा दिया. कहानी के शीर्षक से ही आपने समझ लिया होगा कि मैं यहां पर किसके बारे में बात करने वाला हूं.

वो अंकल के लंड से चुद जरूर रही थीं पर उनको मजा की जगह दर्द हो रहा था.

चाची की गर्म सिसकारियां उम्म्ह… अहह… हय… याह… कमरे में भरने लगी थीं. लेकिन जब 15 से 20 दिन की चुदाई के बाद जब जॉब का सीन आया तो सोचने लगा कि अब मैं क्या करूंगा … क्योंकि महीना खत्म होने वाला था और जॉब कुछ किया ही नहीं था.

वो मेरे लंड पर बैठ गयी और मैंने उसकी टीशर्ट में हाथ डालकर उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया. सेवक राम ने पूछा- मैं अभी ज्योति को बुलाऊँ?तो मैंने कहा- आपके सामने वो खुलकर बात नहीं कर पायेगी. राजन ने कहा- हाँ मुझे मालूम है … पर मैं मजबूर हूँ, अब मैं तुम्हें अपने से अलग नहीं कर सकता.

उनकी प्यास को किसी दूसरे के लंड से बुझते देख कर मुझे भी लगने लगा कि मुझे भी बहती गंगा में डुबकी लगा लेनी चाहिए. एक दो ने तो जो मेरे शहर के नज़दीक रहती हैं, मुझसे चुदने की इच्छा भी जाहिर की जो शायद बहुत जल्दी पूरी भी हो जाएगी. भाभी ने फिर से भैया का कोट पहन लिया और मुझे उसके बाद मुझे पूरी तरह साड़ी में पहना कर घर में एक जगह आग लगाकर सात फेरे लिए.

एक्स एक्स इंडियन बीएफ एक हाथ से उसने मेरे एक मम्मे को पकड़ा और उसके निप्पल को मसलते हुए अपने मुँह में ले लिया. उसने मेरे हाथ को पकड़ लिया और मुझे अपनी ओर खींचते हुए बोला- दीदी सुन तो सही.

सेक्सी पिक्चर देखने का वीडियो

वो दोनों आगे और पीछे से मेरी जांघों और मेरी गांड में फंसी हुई पैंटी को देख कर लार टपकाने लगे. मैंने प्रीति की सलवार में उसकी चूत में हाथ डाल दिया और उसके दाने के ऊपर उंगली चलाने लगा. मैंने मामी जी को भी नमस्ते बोली और मैं वहीं आलिया के साथ सोफे पर बैठ गया.

जब उसने अपना लंड बाहर निकाला तो उसका वीर्य मेरी चूत से निकलकर मेरी जाँघों पर बहने लगा. ये हमारे लिए कुछ अलग था क्योंकि आजकल तो सब नमस्ते से काम चला लेते हैं. लड़की की चुदाई सेक्स वीडियोउम्र 27 वर्ष, रंग सांवला, बूब्स साइज 34B, कद 5 फुट 2 इंच, एकदम दुबला छरहरा कामुक शरीर … एक बार भी देख लें वो गच्चा खा जाये कि यह लड़की शादीशुदा भी हो सकती है क्या!वक्त ना बर्बाद करते हुए सीधा कहानी पे आती हूँ.

कुछ दिनों बाद पता चला कि वो दुकानदार मनु का ब्यायफ्रेंड बन गया था, इस तरह मनु को ही सबसे पहले बॉयफ्रेंड मिल गया.

अब मैं सिर्फ उसके सामने ब्रा और पेंटी में थी, मेरा गोरा बदन उसके सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में था. ”सिल्क- अब जाने भी दीजिये … मत कीजिये इतनी तारीफ!फिर मैंने पूछा- आप कॉफी लेंगी?और दो कॉफी आर्डर करके मैं उनसे बात करने लगा.

इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया और मैं डोली के ऊपर पूरा लेट गया. चाची ने मुझे कहा- आज रात फिर से आना सोने … फिर मजा करेंगे।फिर चाची बोली- और हाँ … आते वक्त कंडोम लेकर आना. मैंने कहा- चलेगा भाभी … इतना ही भरोसा है मेरे ऊपर … तो अगली प्लानिंग मुझे करने दो.

… इसीलिए तो आ जाती हूं ताकि साथ में मिलकर अपना प्रॉब्लम सॉल्व कर लें … आंटी प्रिया है कहां … दिखाई नहीं दे रही है?मम्मी- अच्छा है.

चुत में लंड अन्दर डालते हुए मेरे लंड के टोपे पर भी थोड़ा दर्द हुआ, पर चुदाई के नशे में मैंने दर्द की परवाह न करते हुए अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. साथ ही मां को बेड की चादर पर लगा हुआ मेरी चूत का रस और साथ ही विवेक और अभय सेठ के लंड का रस लगा हुआ मिल गया. अब आगे:मैं फ्रेश होकर रूम से बाहर आ गया और जीजा जी के साथ सोफे पर बैठकर टीवी देखने लगा.

त्याची की चुदाईउधर उसके जिस्म के सारे गैरज़रूरी बालों को रिमूव करवा के वैक्सिंग और मसाज करवा दिया. मैंने यह दिखाया उसके सामने कि जैसे मैं अपने जीवन में जिस बड़ी चीज का हकदार था, उससे वंचित रह गया उसके कारण.

नित्या मेनन सेक्स

जींस और लाल रंग के टॉप में जैसे ही मीना एयरपोर्ट से बाहर निकली, उसे देखते ही मेरा लण्ड उछल उछलकर सैल्यूट करने लगा. वो मेरे पास को आया, मुझे अपने पास वाली कुर्सी पर बैठा कर मेरे होंठों में लंड घिसने लगा. फिर हमने कुछ देर तक बैठ कर बातें की और फिर उसके साथ मैंने कुछ बातें शेयर कीं.

जीजा साली चुदाई कहानी का पहला भाग:छोटी बहन को अपने पति से चुदवा दिया-1मेरी छोटी के बहन के बड़े बड़े दूधों को दबा कर मैंने उसको इतना गर्म कर दिया था कि उसकी चूत में उठी वासना गर्मी उसके चेहरे और उसके शब्दों के जरिये बाहर आने लगी. हम दोनों धीमे धीमे गरम हो रहे थे और ऊपर से शराब का असर होने लगा था. मैंने उसके दोनों पैर अपने कंधों पर रखे और लन्ड को चूत के अंदर प्रवेश देने लगा.

हर कौर के साथ-साथ मैंने बारी-बारी से वसुंधरा की हथेली समेत हाथ की सभी उँगलियों को प्यार से चूमा भी और चूसा भी. रेखा ने मेरा लण्ड मुंह में लेकर चूसा और बोली- चाचा जी, कोशिश करती हूँ कि आपकी इच्छा पूरी हो जाये. फिर छुट्टियों में किसी रिश्तेदार के जन्मदिन पार्टी थी एक बड़े होटल में … तो वहां मुझे भी बुलाया गया था.

मीना और दिलीप हर शनिवार को नाइट शो मूवी देखने जाते थे, रात को 9 बजे से 12 बजे के बीच के समय का मुझे सदुपयोग करना था. मुझे यह देख कर बहुत खुशी मिलती है कि आप लोग मुझे इतना सपोर्ट करते हैं.

ब्रा तो मैंने पहनी ही नहीं थी … तो टॉप निकलते ही जेठजी को मेरे चूचों के दर्शन हो गए.

उसका लंड कभी मेरी जांघों पर लग रहा था तो कभी मेरी पैंटी के ऊपर से टच हो रहा था. सस्य वीडियोसफिर उसने जीभ को निकाला और मेरी चूत को ऊपर से लेकर नीचे तक चाटने लगा. थ्री एक्स ब्लूमैंने फिर जानबूझ कर पेटीकोट के अन्दर हाथ ले जाना शुरू किया … ताकि मालकिन की बड़ी सी गांड दिखाई दे जाए. मैं चेयर पर बैठ गया और संगीता को अपनी गोद में बिठाकर उसके होंठ चूसने लगा.

मैंने गिलास में बियर डाली और सिगरेट का कश लगाते हुए केशव से लड़कियों को बुलाने के लिए कहा.

शायद आलिया अभी झड़ी नहीं थी … इसलिए वो मेरे लंड से चुदने को जल्दी मचाने लगी. मैंने भी मुस्कुराते हुए कह दिया- हां भाभी, मुझे तो मस्त माल ही पसंद आते हैं … आप भी मस्त हैं. मैं भाभी की कराहें सुनता, तो और जोर-जोर से उंगली को चूत के अन्दर बाहर करने लगता.

दोपहर को जब मैं खाना खाकर बैठा हुआ था, तब चाची मेरे पास आईं और मेरे पास बैठ गईं. अब मेरी कोशिश रहती थी कि मैं किसी न किसी बहाने से चाची के करीब आऊं. उसने अपनी आंखें बंद कर लीं और एक मर्द के स्पर्श का वो अपनी नंगी चुचियों पर मजा लेने लगी.

सेक्सी दिखा दीजिए सेक्सी

‘मैंने जब से आपका लैटर पढ़ा है, तब से अभी तक मैं बहुत परेशान हूं … मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा कि मैं आपके सवाल का क्या जवाब दूँ … हां बोलूं या ना … श्वेता मेरी बचपन की सहेली है … वो मुझे अच्छी तरह समझती और जानती हैं … मेरे हां बोलने से भी परेशानी है. वो खड़ा हो कर अपनी टी-शर्ट उतारने लगा, तो मैं भी खड़ी होकर उसकी टी-शर्ट उतारने लगी. इतना कहने के बाद मैंने 15-20 जोर के शॉट मारे और हम दोनों साथ में ही झड़ने लगे.

कुछ देर बाद मम्मी मुझे जगाने आईं- अर्णव उठो … खाना खा लो, बहुत समय हो गया है.

तो उसने मुझे कहा- ऐसी ही चैट करो, नहीं है व्हाटसअप नंबर!मैं बोला- ठीक है, नहीं देना है तो मत दो.

मैं उसकी चूत पर जीभ फेरने लगा तो कसमसा कर बोली- ये न करो साहब, लण्ड पेलो, अब हमसे बरदाश्त नहीं हो रहा. हो सकता है कि कहानी को लिखते समय मुझसे कुछ गलतियां हो जायें तो कृपया सबसे निवेदन है कि गलतियों पर ध्यान न दें. एक्स एक्स एक्स सेक्सी इंग्लिश वीडियोइस दो अर्थी बात पर हम दोनों ने एक दूसरे को पल के लिए देखा और हंस दिए.

इस दौरान दोनों ने मुझे संदीप के नाम से चिढ़ाया और उसे जल्दी पटाने की बात कही. तुम्हारे हल्के हल्के से घुटने, जो दिखते नहीं है भी या नहीं … तुम्हारी वो गोरी (सुंदर) सुडौल सी जांघें, जिनसे किसी की नजर हट ही नहीं सकती. एक हफ्ता तो वो होटल में रहा, फ्राइडे को रात को लखनऊ चला गया, क्योंकि सेकंड सैटरडे को बैंक बंद था.

जिंदगी में किसी नंगी जवान लड़की को चिपका कर सोने में जन्नत के सुख का आनन्द मिल रहा था. पहले उसने मेरी ब्रा को ऊपर की ओर सरका दिया, जिससे मेरी ब्रा में दबे मम्मे और सख्त होकर संदीप के सामने नुमाया हो गए.

दिन भर की घुमाई से मैं बहुत थक गई थी, तो मैं आते ही बेड पर गिरी और कब सो गई, पता ही नहीं चला.

मैं एक पल के लिए तो हड़बड़ा गई … पर दूसरे ही पल संभलते हुए कहा- आज एक सहेली का जन्मदिन है … आज उससे पार्टी लेनी है, हो सकता है आज कॉलेज से आने में देर भी हो जाए. मेरे मन में तुम्हें पाने का, तुम्हें भोगने का ख्याल हर पल आता है, लेकिन जिसे दिल से चाहा हो, उसे मैं धोखा कैसे दे सकता हूँ, मैं नपुंसक नहीं हूँ, मेरी जवानी भी तुम्हारी जवानी का दीदार करना चाहती है. मैंने अबकी बार आराम से चुत में लंड को उतारा और वो ‘आआ … आ आआ … उउफ्फ़.

ইন্ডিয়ান সেক্স ভিডিও সেক্স ভিডিও जब बात मेरी बर्दाश्त के बाहर हो गयी तो मैंने उसकी चूत को बहाने से अपने अंगूठे से छूना शुरू कर दिया. इस तरह मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ तो मैंने उससे आराम से करने के लिए कहा.

फिर मुझे याद आया कि अपनी बीवी के कुछ नंगे फ़ोटो और चुदाई के वीडियो हैं, क्यों न वो भी देख कर मजा लिया जाए. वह पेटीकोट उठाकर मेरे ऊपर चढ़ गई और अपनी चूत फैलाकर मेरे लण्ड पर रखकर बैठ गई, पूरा लण्ड चूत में लेकर ममता फुदकने लगी. मैं और पिंकी दोनों ही एक दूसरे की बांहों में समाये पड़े रहे। फिर धीरे से मैंने साइड में होकर पिंकी को पीछे से आलिंगन कर लिया, अपने हाथों से उसके बोबों को पकड़ कर, उसकी गांड की दरार में अपना लंड दबा कर हम दोनों सुस्ताने लगे ओर हमारी आँख लग गयी.

राजस्थानी मारवाड़ी सेक्सी वीडियो देसी

पैंटी तो सिर्फ नाम की थी, उसमें से चुत की फांकें साफ साफ नुमायां हो रही थीं. दस दिन में प्यार और चुदाई का खुमार इतना चढ़ गया कि हम दोनों सारी हदें पार करने लगे थे. फिर एक लड़की ने अपनी चूत पर डिल्डो बांध लिया और वो दूसरी की चूत में उस डिल्डो से चोदने लगी.

हम दोनों एक ही चादर को ओढ़े एक दूसरे के सामने मुँह किए फिर बातें करने लगे. फिर मैं बर्तन साफ करने लगा और काम खत्म करने के बाद मैं उन लोगों के पास चला आया.

बोली- चोद दे ना हरामी, अब किसका इंतजार कर रहा है!मैंने भाभी की चूत में लंड को घुसाना शुरू किया मगर लंड अंदर नहीं घुस रहा था.

मेरा मन तो कर रहा था कि ड्राइवर का हाथ फिर से मेरी फुदी पर टकरा जाए और वो अपने मजबूत हाथ से मेरी फुदी को मसल दे. मेरी अभी उनसे नजर हटी नहीं थी कि तभी उसने अपनी पैंटी उतारकर मेरी नजरों के सामने कमर हिलाई. सोचते सोचते मैं अपने जिस्म को सहलाने लगी और सहलाते सहलाते और आफताब की हरकतों को याद करते करते मैं इतनी गर्म हो गई कि मैं अपने हाथ से अपनी ही चूत को सहलाने लगी और तब तक सहलाती रही जब तक मैं स्खलित न हो गई।मैंने ज़ोर ज़ोर से आफताब का नाम पुकारा.

अब उन्होंने अपना लंड गीला करके मेरी गांड पर सटाया और हल्के से धक्का लगाया।लंड का आधा हिस्सा अंदर चला गया. तेरे बारे में जो गांव के लड़के और बुड्ढे बात करते हैं सब बिल्कुल सही है कि तू हमारे गांव की ही नहीं पूरे एरिया की सबसे सेक्सी और सबसे चुदासी लड़की है. उसने राजन को मोर्निंग विश किया और कहा- भाई साहब, चाय तो मैं बना देती! आपने क्यों तकलीफ करी?राजन ने महसूस किया कि वो तनाव में है.

दिन भर साईकिल पर बैठ कर हर जगह घूमा, पर कुछ भी उधारी वसूल नहीं हुई.

एक्स एक्स इंडियन बीएफ: वो बोला- ये वही पैंटी है क्या जिसमें तू तीन-चार महीने पहले ही एक लड़के के साथ पकड़ी गई थी?मैं बोली- हां वही है. राजन और ममता दोनों ही जिन्दगी में पहली बार किसी गैर की बाँहों में नंगे चिपटे हुए थे.

कुछ देर के बाद भाभी ने मेरी तरफ ही करवट ले ली और अपना मुंह मेरी तरफ कर लिया. कहानी को शुरू करने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बताना चाहता हूं. मेरी आंखों में आंख डालकर संदीप ने कहा- गीत, मैं जानता हूँ, तुम मुझसे प्यार करती हो … और तुमसे कहीं ज्यादा मैं तुम्हें चाहता हूँ.

वो तो जैसे मेरे नंगे जिस्म से खेलने के लिए, मेरी चूत चुदाई के लिए बेताब था.

ये उपक्रम कुछ ही देर और चला, तभी दीदी बड़बड़ाने लगीं और मैंने उसके शरीर में किसी सर्प की भांति ऐंठन देखकर स्खलन का अंदाजा लगा दिया. इतना कहकर मैंने शैली की बुर के लब खोलकर अपने लण्ड का सुपारा रखकर ठोंका तो सुपारा बुर के अन्दर हो गया, इसके बाद मैंने धीरे धीरे दबाकर लण्ड अन्दर करना शुरू किया तो आधा लण्ड भी अन्दर नहीं जा पाया. उनकी चूचियों की दरार देख मेरा लंड खड़ा होने लगा था, जो मेरी पैन्ट से साफ नजर आ रहा था.