इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ फिल्म एचडी हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx बीएफ हिंदी: इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो, वो काला लंबा चौड़ा अब्दुल बोला- हां सही बोला भाई, चल बेड वाले गद्दे उठा कर नीचे डाल दे.

बांग्ला बीएफ दिखाइए

इस तरह से जीजाजी मुझे और मेरी बहन को बारी बारी से 20 मिनट तक चोदते रहे. सेक्सी फिल्म बीएफ बीपीमेरे लगातार चूत चूसने के कारण उनकी चूत पनिया गयी थी और वो कभी भी पानी छोड़ सकती थी मैंने फिर भी चूत को चूसना बंद नहीं किया.

तभी मेरी नजर उसकी पैंटी पर चली गयी, जो कि चुत के पास से पूरी भीगी हुई थी. किस वाली बीएफमैंने पैन्ट उतार कर फर्श पर फेंक दी और वंदना पर टूट पड़ा, उसको किस करने लगा.

उसने हड़बड़ाते हुए अपनी पैंट खोली, तो उसके जांघिए के भीतर ही उसका लिंग तनतना रहा था.इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो: उसने जैसे ही यह बात मुझसे कही, मैं हैरान हो गया कि कोई सच में मुझसे अपनी चुत की चुदाई करवाना चाहती है.

नेहा ने अपनी जांघें भींच रखी थीं और एक हाथ से वो मेरे हाथ को भी पकड़े हुए थी.मैं उसकी बाहों में झड़ना चाहती थी। फिर हम दोनों चरम सीमा पर आ गए तो मैंने उससे कहा- अपना पानी मेरी चूत मैं ही निकाल दे!उसने सारा वीर्य मेरी चूत में भर दिया.

बीएफ सनी लियोन के बीएफ वीडियो - इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो

मैंने देखा तो सुनीता आज पहले ही ऊपर थी और उसने अपने कमरे का दरवाजा खुला रखा था.उसके चूसने के अंदाज से साफ पता चल रहा था कि वो पहले भी इसका स्वाद ले चुकी है.

गाढ़ा गाढ़ा दूध, मीठा, गर्म, केसर से युक्त, इलायची से महकता हुआ!मैं सिप सिप करके दूध के मजे ले रही थी. इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो मेरे अंदर सेक्स की आग जल उठी और मैंने रूम का दरवाजा बंद किया और अपने सारे कपड़े उतार दिए और मैं अपनी चूत में उंगली करने लग गयी.

प्रिया के कमरे से बाहर जाने के कुछ देर बाद ही नेहा मेरे पास आ गयी … उसने मेरी पिटाई तो नहीं की, मगर उसका भी यही सवाल था.

इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो?

वो ड्राइवर को बोला- तुम गाड़ी सीधे बंगले तरफ ले लो और पीछे क्या हो रहा है, उसे भूल जाओ. मैंने अपनी साड़ी कमर तक पूरी ऊपर की और अपनी पैंटी उतार उसे अपनी योनि के दर्शन करा दिए. मेरी पत्नी टांगें फैलाएं नीरू से अपनी चूत चटवा रही थी, मैं नीरू की चूत डॉगी स्टाइल में चोद रहा था और पहली बार चुदने आई पायल मेरे लंड को नीरू की चूत में अंदर बाहर होते हुए नीरू के गांड की दरार फैला कर उसे बड़े चाव से देख रही थी.

उसकी बॉडी लग रही थी कि लोहे की है, वह जिमनास्टिक करने वाला बन्दा था. मैंने समय ना गंवाते हुए उसकी चुची मुँह में भर ली और जोर जोर से चूसने लगा और दूसरी को मसलने लगा. इसके बाद उन्होंने अपना तौलिया या गमछा जो वे कंधे में डाले थे, उसे इस तरह से मेरी जांघ में स्कर्ट के ऊपर डाल दिया कि नीचे कुछ भी हो, किसी को दिखे ही नहीं और किसी को कुछ समझ ना आए.

मैंने कहा- ठीक है, यदि तुम्हें मुझसे कुछ हेल्प लेनी हो तो मुझे बता देना. जगत अंकल मुझसे बोले- वन्द्या अब बताओ, तुम्हारा चुदवाने का मन हो रहा है कि नहीं?इस पर मैं कुछ नहीं बोली, पर मैंने अंकल का हाथ पकड़ लिया और अपनी चूत में रखकर दबवाने लगी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:बीमारी ने दिलायी प्यासी भाभी की चूत-3.

वो मेरे सीने पर अपने हाथ रख कर चूत चुदवाते हुए कहने लगी- आह राज और जोर से करो. एक दिन हमारी ट्यूशन क्लास के बाद उसने मुझे गली में रोक लिया और कहा कि वह मुझे बहुत पसंद करता है और मेरे साथ फ्रेंडशिप करना चाहता है तो मैंने भी उसे हाँ कर दी.

मैंने भी कई बार हल्के से दांत से दबा उसकी चूची काटी, तो वो कामुक सिसकारियां लेते हुए ‘आह्ह …’ कर देती.

मैं कुछ बोलती कि वे ड्राइवर को बोले- एक मिनट के लिए थोड़ा गाड़ी वहीं पर बगल से लगा लो.

इतना बोल कर आंटी बोलीं- ओके अन्दर आ जाओ, सिलिंडर अन्दर स्टोर रूम में रखा है. अब आगे …मैंने घबराते हुए कहा- दीदी, इसको मत डालना वरना मेरी चूत फट जाएगी और सब यही समझेंगे कि इस लड़की की चुदाई हो चुकी है. मैंने कहा- भाभी, आपके आने से पहले मैं ब्लू फिल्म देख जरूर रहा था लेकिन मैंने जानबूझ कर आपको ये नंगी फिल्म नहीं दिखायी थी.

उन्होंने फिर से मेरे होंठों पर लंड को रखा और थोड़ा-थोड़ा अंदर-बाहर करने लगे. 00 बजे के आस-पास मेरे पति का फोन आया- मैं अभी 3 दिन और नहीं आ सकता हूँ. नेहा ने मेरे हाथ को पकड़ कर खींचने की कोशिश भी की, मगर कामयाब नहीं हो पायी.

इस दौरान उसकी जांघें थोड़ा सा खुल गयी थी … तभी मौका देखकर मैंने अपना हाथ उसकी जांघों के बीच घुसा दिया.

फिर मैंने उससे बात की और उसने 25 दिसम्बर की शाम का वक्त फिक्स कर दिया. आवाज लगाते ही मेरी पत्नी तुरंत बेडरूम में आ गई, उसने हम तीनों को कहा- अरे बेशर्मों, तुम तीनों अंदर मजे कर रहे हो और मैं तुमको गेट के छेद से मजे करते हुए देख रही हूं. आप मुझे बताएँ कि मैं क्या करूँ? मैं शादीशुदा हूँ लेकिन अपनी बहन को खुश देखना चाहता हूँ.

ज़िंदगी में पहली बार इतने मोटे मम्मों को दबाने और पीने को मिल रहे थे. वो पास में ही यानि दो स्टेशन छोड़ के ही उसका ऑफिस था, इसलिए वो सुबह मेरे लिए भी लंच बनाती थी. मैं घोड़ी बन गई और अमित ने पीछे से मेरी गांड को पकड़ कर मारा जिससे मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गई.

अनवर का सीना भी मेरे सीने से मिल गया और मैं अनवर के बाजुओं में पूरी समा गई.

गांव से बाहर निकलते ही मैंने उससे उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम ललिता बताया. इसके बाद हम दोनों ने सोचा कि यहां पर सब देख लेंगे, इससे ज्यादा इधर कुछ करना ठीक नहीं होगा.

इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो फिर मैंने वंदना के हाथ को पकड़कर अपने लंड पर रख दिया और दूसरे हाथ से मैं वंदना की चुत दबा रहा था. मैं तड़फ कर बोली- नहीं … मुझे नहीं करवाना है … प्लीज निकालो … बहुत दर्द हो रहा है, मम्मी बचाओ.

इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो मैं बोली- सुनील जोर से चोद मुझे … मैं पागल हो रही हूं, आज मेरी चूत को फाड़ दे. सच कहूं तो रंग किसी भी लड़की के खूबसूरती में आड़े नहीं आता है, ये बात सलोनी पर भी लागू हो रही थी.

मैं भी आह आह करता हुआ उसके ऊपर गिर गया, उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और मैं उसकी चूत के अन्दर ही झड़ गया.

देहाती सेक्सी बीएफ कुंवारी लड़की

वो मेरी टांगों की तरफ आ गया और मेरी टांगें फैला कर मेरी चूत को चाटने लगा. प्रार्थना ख़त्म हुई और मैं अपने ऑफिस रूम की तरफ जा रहा था कि तभी मुझे ऑफिस स्टाफ की खुसुर-फुसुर सुनाई पड़ी. लेकिन मैं नहीं रुका और बल्कि बगल की दराज से वियाग्रा निकाल कर खाई और नेहा को चोदना शुरू कर दिया.

तुमने मुझे देखा, फिर तुम हंस पड़ीं … तुम्हें मेरी बात मजाक लगी, किन्तु मैं और सिर्फ मैं जानता था कि मैं किस दुविधा में फंसा हूँ. मैंने जैसे ही जोर से काट कर चूचे को चूसा, उसने ‘आआआह …’ भरी और अपनी चुत एकदम टाइट कर ली जैसे वो मेरे लंड को निचोड़ ही लेगी. मेरी यह कहानी मेरी पिछली कहानीवो मुझे भावनाओं में बहा ले गईको आगे बढ़ाती है.

मैंने उनसे प्यार भरी आवाज में विनती करते हुए कहा- नहीं आंटी, मैं आपको सिर्फ़ बस एक बार गले लगाना चाहता हूँ!उन्होंने गुस्से में आकर मुझसे कहा- नहीं! क्या तुम्हें एक बार कहने पर समझ में नहीं आता?मैं अब उनका जवाब सुनकर एकदम उदास हो गया और अपने पलंग पर जाकर सो गया.

मैंने पानी पिया फिर बात की- जी कहिये … क्या हुआ?अभी तक मेरे और रेखा के बीच में कोई ऐसी बात नहीं हुई थी कि मुझे या उसे कुछ गलत लगे. उन्हें शायद यकीन नहीं आ रहा था कि मैं उनके दरवाजे पर उनके सामने खड़ा हूँ. मैंने नेहा को जोरों से भींच लिया और उसकी मुनिया को अपने वीर्य से पूरा भरकर उसके ऊपर ही लेट गया.

मैंने उसे उसी मेज़ पर उसे उल्टा लिटा दिया और उसके पूरे बदन को नीचे से ऊपर तक चाटने लगा. बस मैं पूरा मस्त होकर उसकी चुत ऐसे झड़ा जैसे कि अपनी पूरी जान उसकी चुत के जरिये ट्रान्स्फर कर रहा हूँ. मैंने जैसे ही चाची को अपनी तरफ घुमाया, वाउ उनके दो मोटे रसीले आम मेरे सामने थे.

चाची मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और मुझे गज़ब का मज़ा आने लगा. 5 इंच के लगभग होगी।वर्तमान में मैं एक अध्यापक हूँ लेकिन आज से 7 साल पहले दिल्ली के एक बहुत बड़े अस्पताल में बिलिंग विभाग में काम करता था। यह घटना तभी की है और यह मेरे जीवन की पहली सेक्सुअल बहुत ही प्यारी घटना थी.

मैंने लंड बाहर खींच लिया और उसको घोड़ी बना कर उसके पीछे से लंड डालकर चूत में लंड के धक्के देने लगा. ‘ओओओओ … क्या मम्मे थे उसके …’तभी उसने झट से अपना दुप्पटा सीधा किया और हल्का सा ऊपर कर लिया. मैंने भी अपना ध्यान अब फिर से नेहा की चुत को चाटने पर लगाया और अपनी पूरी जीभ निकाल कर उसकी चुत में गहराई तक पेलने लगा.

मैंने जब से अपनी जवानी में कदम रखा है तब से ही मैं उनका दीवाना हूँ.

वन्द्या अभी जब से तू मेरी गोदी में है, तो लगता है कि अब मुझे और कुछ नहीं चाहिए … तू बहुत मस्त है वन्द्या … अब मैं तुझे रोज चोदूंगा. चूंकि मैंने पहली बार सपना की चूत मारी थी तो ज्यादा देर तक मैं भी रुक नहीं पाया. नाड़े की गांठ उलझ चुकी थी, जिससे वो और भी झुंझला उठी और मेरी तरफ देखने लगी.

कुछ देर बाद मैंने एकता को मेरे पीछे किया और अपने पैरों को चौड़ा करके प्रमिला की तरफ को थोड़ा झुक गया. इसकी वजह से सोनल की हिम्मत बढ़ गई और उसने धीरे धीरे दादाजी की धोती ऊपर उठानी चालू कर दी.

जब तुम्हारे लंड से चुदकर इतना मज़ा आता है तो 2 लंड के साथ चुदने के मज़े के बारे में सोचकर मुझसे रहा ही नहीं गया इसलिए मैं सारी तैयारी पहले से ही करके बैठी हूँ. उसने मेरे लंड को टच किया और मुझे आँख मारी तो मैं भी उसको बांहों में भर कर किस करने लगा. मैंने उनकी चुत को ऊपर से हो चूमा और उसके बाद मैं अपने हाथों से उनके मस्त मोमे दबाने लगा.

एडल्ट बीएफ हिंदी

वो- लगाऊं फोन?मैं- हैं ग्वालियर में एक दो, जिनके साथ, उन्हीं के उनके कहने पर करता हूँ.

इस बात पर वो हंस पड़ी और मेरे से मेरा नाम पूछा, तो मैंने बताया कि मेरा नाम चंदन हैं. मैं किसी चुत को किताब या वीडियो के अलावा रियल में पहली बार देख रहा था. वो मेरी बहन को अपनी गोद में लेकर चोद रहा था और बोल रहा था कि आज पचास हजार वसूल ही कर लूंगा.

फिर मैं दोपहर के समय आया तो मैंने देखा कि ज्योति मेरे ही रूम में सोई हुई थी. वीर्य की धार शायद नेहा के गले तक पहुंच गयी होगी … मगर नेहा अपने ही रस्खलन की बदहवासी में थी इसलिए उसको‌ ध्यान ही नहीं था कि मैं क्या कर रहा हूँ. आज की बीएफमैं सामने स्क्रीन पर देख रही थी।अमित- नेहा एक बात बोलूँ, तू जब से कॉलेज आयी है तब से सिर्फ तुझे ही चाहता हूँ ।मैं- मुझे पता है इसलिए तो मैं आई हूँ यहाँ।अमित – उफ्फ … मेरी जान।यह कहकर वह मेरे बूब्स को मसलने लगा और मैं कसमसाने लगी.

उन लोगों की भी नाईट हमारे जैसे ही होती थी 3 नाईट उसके बाद 2 छुट्टी। पहली रात तो मैं नर्स रोजी को देखता ही रहा क्या गदर माल थी। यूं तो हम पहले भी मिल चुके थे जब मैं दिन में ड्यूटी करता था. पर मैं दम साधे यूं ही रुका रहा और स्वीटी को जकड़कर उसके ऊपर लेटा रहा.

फिर मैं उसको अपने घर की पानी की टंकी वाली जगह ले गया, वो छत से एक मंजिल और ऊपर ही था. मैंने मैम की टांगें फैला दीं और अपना लंड हाथ से हिला कर चूत की फांकों में फेरा. बस फ़िर क्या था, मैंने और 10-15 धक्के मारे और उसके अन्दर ही पानी छोड़ दिया.

इस तरह की बातों में जब हम लोग आपस में खुल गए, तो धीरे धीरे हम लोग सेक्स चैट करने लगे. उन्होंने पहले मेरे बालों पर हाथ फेरे, फिर मेरे सिर को अपने हाथों में पकड़ते हुए मेरे होंठों पर किस करने लगे. मुझे उसकी खराबी के बारे में पता चल गया और मैंने जल्दी ही उसके कम्प्यूटर को ठीक भी कर दिया.

अनिल बोला- ले लो ना मेरी जान … इसे भी थोड़ा जन्नत का मजा मिल जाएगा.

तब तक उसकी फ्रेंड जो कॉलेज गई हुई थी, उसके भी आने का समय हो रहा था. मुझसे अब और सब्र नहीं हुआ, इसलिये मैंने अब सीधा ही अपना हाथ उसकी चूत पर रख दिया और उसकी छोटी सी नर्म मुलायम चिकनी चूत को अपनी हथेली में भर लिया‌.

मैं, फिर रजनी और फिर राहुल।राहुल- रजनी तुम फ्रेशर पार्टी में आ रही हो न?रजनी- हां, क्यों नहीं, हम दोनों आएंगे।अमित कोल्ड ड्रिंक और साथ में चिप्स के चार पैकेट लेकर आया और आकर मेरे साइड में बैठ गया।नेहा, ये लो …”और फिर रजनी और राहुल को भी दिया। हम वहाँ से अब निकले तो राहुल बोला कि तुम दोनों को हम छोड़ देंगे वरना ऑटो पता नहीं कब मिलेगा।वो दोनों दो बाइक से आए थे. पुनीत ने मेरे कूल्हों की तरफ जो लंड रस लगा था, उसे अपने हाथों से गांड की छेद पर लगाया और फिर अपने लंड का सुपाड़ा जैसे ही मेरी गांड में रखा, मैं उछल पड़ी और उसके थोड़े से ही दबाने पर आधा लंड मेरी गांड में घुस गया. मुझे अभी वह बुड्ढा ड्राइवर चोद ही रहा था कि अनवर आकर सामने से मुझसे लिपट गया और सीधे मेरी चूत में अपनी हथेली रखकर उल्टा लेट गया.

मेरी चूत में बहुत दिन के बाद लंड गया था, इसलिए मेरी चूत मेरे देवर का लंड पूरा अन्दर तक ले रही थी. मैं खुद पर काबू नहीं रख पाया और जल्दी से उसके पेटीकोट के साथ उसकी पेंटी भी उतार दी. वो भी मुझसे अलग हो गई और फिर हमने अलग होकर अपने कपड़े पहने और वहीं सो गए।जब मैं सुबह उठा तब तक वो जा चुकी थी.

इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो मैंने उससे पानी मांगा तो वो पानी देने के लिए कातिलाना अदा के साथ नीचे झुकी. सुलेखा भाभी का तो रस स्खलित हो गया था जिससे‌ वो‌ अब शिथिल पड़ गयी थीं.

इंग्लिश बीएफ एक्स एक्स एक्स एचडी

वहां का माहौल बिल्कुल किसी पोर्न फ़िल्म के दृश्य जैसा था, जिसमें चुदाई के चक्कर में दो जिस्मों ने किसी सुनसान रात में कोई अस्त व्यस्त सा फार्म हाउस ढूंढ लिया हो और हल्की रोशनी में मानो भारी चुदाई होने की तैयारी हो. एक तरह से उसने मुझे धोखा दिया था, बाद में एक मैसेज भेजा कि वो अपने पापा को धोखा नहीं दे सकती थी. दोस्तो, मेरे नाम अभय है, मैं जयपुर (बदला हुआ शहर) का रहने वाला हूँ.

शाबाश … मेरी पिंकी … आजा … एक बार छू कर तो देख … तुझे भी मज़ा आएगा … आजा, मेरे पास बैठ जा!” सर सिसकारी सी लेकर सोफे पर बैठ गये और उसका हाथ पकड़ कर अपने तने हुए लंड की तरफ खींचने लगे. उसने मुझे फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी और मैंने स्वीकार भी कर डाली और मेसेंजर पर उसने मुझे वेव किया हाथ हिला कर. बीएफ सेक्सी आगराकुछ ही देर में हम दोनों सेक्स की 69 की पोजीशन मैं होकर एक दूसरे को चाट रहे थे.

थोड़ी देर बाद मकान मालकिन मेरे पास आईं और बोलीं- चार्ली मैं बाहर जा रही हूं … दोपहर तक आ जाऊंगी … ऊषा अकेली है, तो थोड़ा ध्यान रखना.

मैंने लगभग झपटते हुए उसकी ब्रा और पैन्टी उतार दी और फिर स्वीटी ने भी मेरे कपड़े उतार दिये. लेकिन मेरा मन बहुत करता था कि अपना लंड उसके मुंह में दे दूँ।मैंने सोचा कि आज तो हमारी सुहागरात है, आज प्रियंका मेरे लंड को मुंह में लेने से मना नहीं करेगी.

उसके मुँह से ज़ोर के आह निकली, तो मैं थोड़ा रुक गया और उसके होंठों को चूसने लगा. उसके शरीर के अंदर जो चीज़ मुझे सबसे ज्यादा पसंद आई वह थी उसके मोटे-मोटे हिप्स. स्टेशन से बाहर निकलकर हमने एक टैक्सी ली और एक होटल में जाकर रूम बुक करवा लिया.

फिर मैंने उसे सीधा किया और उसकी टांगों को अपनी कमर पर रख कर उसकी चुचे पकड़ कर, फिर से उसकी चूत में लंड दे दिया और उससे बेरहमी से चोदने लगा.

भाभी- ओके कल मैं आपके भैया के साथ अपनी माँ के घर जा रही हूँ, मैं वहां से आके आपसे बात करूँगी. मैं काफी साल से अन्तर्वासना पर पोर्न कहानियां पढ़ रहा हूँ तो मैंने भी सोचा कि क्यों ना में भी मेरे पुराने हसीन पलों को आपके साथ शेयर करूँ!आज मैं आप सभी को अपनी जिंदगी की एक सच्ची भाई बहन सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ. जब वह मेरे साथ सेक्स करते थे तो मुझे किसी और से चुदवाने के लिए कहते थे। पहले तो मुझे यह बहुत अजीब सा लगता था परंतु धीरे-धीरे सामान्य लगने लगा और कुछ दिन बाद मेरा भी मन किसी और से चुदवाने के लिए करने लगा।कुछ दिनों बाद मेरे पति ऑफिस के काम से बाहर चले गए और 2 हफ्ते बाद वापस आए.

हिंदी ब्लू बीएफ सेक्सी हिंदीअब वो आह आह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… अया आह … की आवाज़ निकालते हुए चुदाई के मज़े ले रही थी. भले ही पहले जेठ जी ने मेरे साथ थोड़ी जबरदस्ती की हो, पर उनकी चुदाई मुझे इतनी पसंद आ गयी कि पति के आने तक मैं उनके नीचे ही लेटी रही.

रंडी वाली बीएफ

कुछ 20-22 जोरदार शॉट के बाद मैंने भी फचक फचाक से अपना गर्म गर्म वीर्य उसकी चूत में गिरा दिया. हालांकि मैं अपने पति को भी पूरा खुश रखती हूँ, पर जब भी मुझे मौका मिलता, मैं जेठ जी को बुला कर उनसे चुत की शांति करवा लेती. मैंने अपना पजामा उतार दिया और अपना 8 इंच का लंड उसके हाथों में थमा दिया.

गाड़ी अपनी स्पीड से चल रही थी, तभी चार पांच मिनट बाद धीरे-धीरे से मेरा दर्द कम होने लगा और मैं अब बिल्कुल अपने आप से बाहर होने लगी. उसी साईट पर लकड़ियों का ढेर लगा था उसके पीछे शायद उन लोगों का ट्रक था. उसने जैसे ही यह बात मुझसे कही, मैं हैरान हो गया कि कोई सच में मुझसे अपनी चुत की चुदाई करवाना चाहती है.

जब वो होटल वगैरह जाती थी तो अपने पति से कोई बहाना बना देती थी कि उसे आज अपनी किसी सहेली के घर जाना है या बहन के घर जाना है. अगर आपको इसमें कोई ऐतराज ना हो तो?चाची ने मुझसे कहा- हाँ ठीक है, तुम बैठकर अपना मन बहला लो, मुझे उसमें कोई आपत्ति नहीं है!उस समय चाची ने सफेद रंग का सलवार कुर्ता और चूड़ीदार पजामा पहना हुआ था जिसमें वो बड़ी सुंदर नजर आ रही थी. मैंने उसके सिर पर हाथ रखकर अपने लंड की तरफ दबाया, रोजी बड़े प्यार से मेरे लंड को मुंह में ले गयी और लोलीपोप के जैसे जीभ घुमा घुमाकर चूसने लगी।मेरी उत्तेजना बढ़ती जा रही थी, थोड़ी ही देर में मेरे लंड ने उसके मुंह में पिचकारी छोड़ दी। उसने मुंह हटाने की कोशिश की लेकिन मैंने उसका सर अपने हाथों से दबा रखा था जिससे मेरा पूरा माल उसके मुंह में चला गया। उसको उल्टी सी होने को थी लेकिन उसने पूरा माल पी लिया.

मैंने सरिता से पूछा- कहां निकालूं?तो उसने कहा- अन्दर ही निकालो राजा. लेकिन पूजा उस दिन कॉलेज नहीं गई क्योंकि वो कमरे पर मेरा इंतजार कर रही थी.

उनकी धमकियों से एक टाइम तो मेरी गांड फट गई थी, लेकिन फाइनली वो मान गईं.

कुछ देर तक रूपा ने मेरे लंड को सहलाया और फिर ज़मीन पर घुटनों के बल बैठते हुए मेरे लंड को अपने होंठों में दबा लिया. 18 साल की लड़की बीएफ सेक्सीजब वो थोड़ी नार्मल हुई तो मैंने उनसे कहा- सब यहीं करना है या बिस्तर पर चलें?वो मुस्कराई और बोली- अब क्या करना है. साउथ सेक्सी बीएफ वीडियोदोस्तो, मेरा नाम रॉकी है और मैं राजस्थान के कोटा से हूँ। मेरी उम्र 20 साल है. मस्त चुदाई के साथ वो अपने मुँह से चिल्लाए जा रही थी- आह … और ज़ोर से करो …उसकी चुदास से भरी आवाज़ मुझे और अधिक उत्तेजित करने का काम कर रही थी.

ऐसी चुदाई हो रही थी, जिससे लग रहा था कि ये ऐसे ही चलती रहे, कभी खत्म ही ना हो.

आज सच में इतना अधिक पानी निकला था कि हम दोनों के जिस्म का नीचे का हिस्सा लंड चूत के रस से भीग गया था. वो ड्राइवर को बोला- तुम गाड़ी सीधे बंगले तरफ ले लो और पीछे क्या हो रहा है, उसे भूल जाओ. सच बोलूं तो उनका रसीला लंड देख कर मेरे मुँह में और मेरी चुत में पानी आने लगा था.

फिर मैंने अपने दोनों हाथ पीछे से आगे को लिए और उसके मम्मों को छूना चालू कर दिया. हालांकि प्रशांत को यह सब बड़ा ही नागवार गुजर रहा था, क्योंकि चूत की लालच में तब तक लंड से न जाने कितना पानी बह चुका था. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी पैंट पर रखवा लिया और उसने खुद ही मेरे तने हुए लंड को ढूंढ लिया.

बीएफ देना हिंदी में

मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी टी-शर्ट को उठा रखा था, जिसे मैं बाहर निकल देना चाहता था, मगर वो तो मेरे होंठ व जीभ को चूसने में ही व्यस्त थी. मैं उससे थोड़ा दूर हो कर बैठा था, तो उसने ब्रेक लगा कर मुझे अपने पास कर लिया और मैं उससे टकरा गया. उसने अपने होंठों को मेरी गर्दन पर रखा और मेरी एक चूची को दबा दिया जिससे मैं और ज्यादा मदहोश होने लगी.

मैं जिस वक्त अपने रूम में ब्लाउज और पेटीकोट में थी, उसी समय मेरा देवर मेरे कमरे में आ गया और उसने मेरे करीब आकर मुझे पकड़ लिया.

फिर जब नार्मल हुए, तो भाबी एक बार फिर से मेरे लंड को पकड़ के सहलाने लगी.

स्खलित के बाद सुलेखा भाभी‌ की चुत के अन्दर की दीवारें प्रेमरस से भीगकर अब और भी चिकनी और मुलायम हो गयी थीं जिससे मेरा लंड अब और भी कुशलता से उनकी चुत की मालिश कर रहा था. मैं मजे से नेहा को चोद रहा था और नेहा अपनी कमर को उचका उचका कर मेरा जोश बढ़ा रही थी. साड़ी वाली के बीएफमैं किस करते हुए उसके बूब्स और पूरे शरीर को अपने हाथों से मसल रहा था, उसकी लेगिंग के अंदर हाथ डाल कर उसकी चूत को मसल रहा था.

उसके मुंह से ऐसी सेक्सी बातें सुनकर मेरा लंड भी खड़ा होना शुरू हो गया था. मैंने कहा- शादीशुदा है तो बिल्कुल चलेगी और बदनामी की बात तो तुम करो ही मत. मैंने ब्रा के ऊपर से ही सोनू के मम्मों को थोड़ा-थोड़ा दबाया तो सोनू एकदम मस्त हो गई और सिसकारियां लेने लगी.

अब मैंने रॉकी से बोला कि भाई ये कस्टमर बिरजू करता क्या है?तो उसने बताया कि वो ड्राइवर है. तब छत्तू बोले- वन्द्या जब से मैंने तेरी फोटो देखी है, तो उस वक्त से अभी तक मेरा लंड खड़ा हुआ है.

करीब पांच छः मिनट तक मुझे असहनीय दर्द हुआ, फिर धीरे से थोड़ी राहत मिली और मैंने लंड लीलना शुरू कर दिया.

फिर मैंने कायदे से अपना पूरा हाथ उसके दूध पर रखा, तो उसके मुँह से हल्की सी आह निकली. वंदना ने मेरी कमीज की सभी बटन खोल दिए और मुझे बोला कि खुद कपड़े पहने हुए हो और मेरे सब कपड़े उतार दिए. अब मैंने करण से पूछा- कब आए करण पाल?उसने ढीठता से बोला- यही एक घंटा हुआ है.

बीएफ बीएफ बीएफ फिल्म तुम मेरी बांहों में सकुचाई सी आयी थीं और तुमने मेरे होंठों का गहरा चुम्बन लिया था. पर मुझे क्या पता था कि जहां मैं जा रहा हूं, वहां एक से बढ़ कर एक चूत मिलेंगी.

मैंने धीरे-धीरे उसकी पैंट के ऊपर हाथ रखा और ऊपर से ही उसकी चूत वाले भाग को सहलाने लगा. मैंने थोड़ा आराम से बोला कि यह तो नॉर्मल सी बात है, आप चिंता मत करो इसमें आपकी कोई ग़लती नहीं है. मैंने उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया तो वह और ज्यादा आनंदित होने लगी.

बीएफ स्कूल टीचर

मैंने तब भी हिम्मत जुटाते हुए कहा- क्या कर रहे हो?मेरी बात सुनकर मेरी बीवी उठ गई … लेकिन करण पाल वहीं बैठा रहा. फिर कुछ बातें करने के बाद भाभी ने मेरी फीस मुझे दी और मुझे स्टेशन तक छोड़ने भी आई. मैं उसे अपने रूम में ले गया, उसे बैठाया और पानी का गिलास भरकर दिया.

अब मेरी पत्नी और नीरू ने पायल को बेड के कोने पर कर लिया और दोनों ने उसकी टांगें ऊपर उठाकर एक एक टांग फैलाकर पकड़ ली और मुझसे उसकी बुर पर अपना लंड लगाकर अंदर डालने को बोला. मैंने कहा- लेकिन मैंने जो भी फोन के अंदर देखा वह किसी को पता नहीं चलेगा, तुम इस बात से बेफिक्र रहो.

मैं तो उसके बारे में तुम्हें भी कुछ नहीं बताऊंगा, लेकिन पहले तुम मेरी उसके साथ कुछ बात तो करवा दो.

वह बोली- यह रहा तुम्हारा गिफ्ट!मैंने कहा- अब रिटर्न गिफ्ट भी तो देना पड़ेगा!और इतना कहकर मैंने उसे गोद में उठा लिया उसे उठाकर अंदर कमरे में पलंग पर ले गया. आपका फिगर साइज क्या है?आंटी बोलीं- मतलब?मैं बोला- बूब्स का साइज?आंटी का जबाब था- पूरा 38. अब तो बात यहां तक बढ़ गई थी कि मैं अपने घर वालों को चूतिया बना कर मौका देखकर उसके साथ बाहर घूमने भी जाने लगी थी.

अगले दिन जब मैं ऑफिस से घर आया तो मैंने देखा कि अनु और करण पाल एक कमरे में पास पास बैठे थे और बातें कर रहे थे. मस्त चुदाई के साथ वो अपने मुँह से चिल्लाए जा रही थी- आह … और ज़ोर से करो …उसकी चुदास से भरी आवाज़ मुझे और अधिक उत्तेजित करने का काम कर रही थी. एक दिन हमेशा की तरह मकान मालिक और उनकी बीवी के जाने के बाद मैं और ऊषा घर में अकेले बचे.

उसके बाद क्या हुआ:लता भाभी अदा से मुस्कराकर बोली- अच्छा छोड़ो अब, आज सांय को मुझे पिक्चर दिखा कर लाओ?मैं खुश हो गया, मैंने कहा- ठीक है, 6 से 9 बजे वाले शो में चलते हैं।वह बोली- तीन टिकट ले आना, बच्ची भी साथ चलेगी लेकिन हेमा को पता नहीं चलना चाहिए, हम पिक्चर हाल में ही मिलेंगे.

इंग्लिश वीडियो बीएफ वीडियो: टॉप उतारते ही लाल ब्रा में कैद उसके मखमली दूध दिखाई दे गए। किस करते करते पहले तो थोड़ी देर ब्रा के ऊपर से ही धीरे धीरे उसके दूधों को सहलाने लगा फिर उसकी गर्दन को चूमता और चाटता रहा और रोजी मेरे बालों से खेल रही थी।थोड़ी देर बाद मैंने उसकी ब्रा खोलकर उतार दी. मैंने उसको बोला- मेरा ऑफिस रेलवे स्टेशन के पास में है, मैं सिर्फ 5 मिनट में आपके पास आता हूँ.

अब मॉम सिर्फ ब्रा में थी क्योंकि जीचे उन्होंने पैन्टी नहीं पहनी हुई थी. उसने फिर सवाल किया- देखनी है?मैंने हां में सिर हिलाया तो उसने अपनी साड़ी ऊपर की, पैंटी हटाई और मुझे अपनी चूत दिखा दी. उंगली से मेरी चूत को कुरेदते हुए जेठ जी बोले- नीतू रानी, तेरी चूत बहुत टाइट भी है.

रवि उठ कर सीधे हो गए और मुझसे बोले- थोड़ा कमर पीछे घोड़ी स्टाइल में ऐसी कर लो.

मैंने सासू माँ को बोला है कि ऑफिस से एक फाईल लानी है, तो मैं उधर जाके आऊंगी. क्योंकि गर्मी के दिनों में फसल न होने के कारण खेतों में कोई नहीं होता और यहां पर कोई मोटरसाइकिल या कार अब नहीं आने वाली थी. मगर उसे होश ही कहां था, वो लगातार मुझे जोरों से चूमे चाटे जा रही थी.