देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,लव विडियो डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी नेपाली में: देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी, अपनी पिछली कहानीपड़ोसी भैया ने प्यार से मुझे चोदाके माध्यम से भी मैंने अपने जिस्म के बारे में बताया था.

सर्जिकल अबॉर्शन कैसे होता है

उसने मेरी बातें सुन लीं और उसको मेरे सारे प्लान के बारे में पता लग गया. रूप रंग सो जाओआलिया- थैंक्स!मैं- इन छुट्टियों में क्या प्लान है?आलिया- मॉम-डेड एक हफ्ते के लिए दुबई जा रहे हैं.

इधर सायरा ने सारे काम को समेटा और मेरे को नाईट किस करने के बाद अपने बेड रूम में चली गयी।अब हमारा यही रूटीन हो चुका था। दिन में सायरा मेरे साथ दो राउण्ड चुदाई का करती और रात में सोनू का ध्यान रखती. जोक्स नॉन वेजकुछ ही दिनों में मेरी उनसे फोन पर मैसेज के माध्यम से शुरूआती बातचीत हो गई.

मैंने भाभी की टांगों को फैलाया और उनकी चूत पर अपने होंठों को रख दिया.देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी: बहुत देर ऐसा करने पर मुझे लगा कि एक लड़का है, जो काफ़ी भद्दे किस्म के कमेंट्स कर रहा है.

मैंने लंड की गर्मी पाते ही अपनी चुत खोल दी और उसने धीरे से लंड अन्दर डाल दिया.राजन को बैंक के सहकर्मियों ने बताया था कि प्रकाश और उसकी बीवी का अक्सर झगड़ा रहता है और इसीलिए प्रकाश ने अपना ट्रान्सफर कराया है.

आस्था पिक्चर - देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी

जब लंड सिकुड़ कर बाहर निकल गया, तो वो मेरे बगल में आकर लेट गई और अपना एक पैर मेरे जाघों पर रख कर हाथों से मेरे छाती के बालों से खेलने लगी.मैंने आगे बढ़ कर उनके होंठों को चूम लिया। उनका विरोध ना पाकर उनके होंठों को अपने होंठों तले दबा कर चूसने लगा। उफ्फ … वो रसीले होंठ। आज भी मुझे उत्तेजित कर जाते हैं.

उनका दो बार में ही इतना अधिक रस निकला कि बेड की चादर तक गीली हो गई. देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी उनके लंड पर उछल कूद कर रही थीं, बिल्कुल वैसे ही एक बार मेरे से भी चुद जाओ न.

फिर मैंने बात को टालते हुए उसका ध्यान दूसरी तरफ खींचने की कोशिश की ताकि वो दोबारा से लंड चुसाई करने के लिए तैयार हो जाये.

देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी?

नींद खुलने के बाद मैंने देखा कि उसने मुझे पूरा जकड़ लिया है। और मुझे यह भी अहसास हुआ कि उसकी इस हरकत से नीचे मेरा लंड सलामी दी रहा है. मैंने झपट कर फ़ौरन वसुंधरा के जिस्म को खड़ा कर के अपने आगोश में ले लिया. उसके बाद उन्होंने सही निशाना लगा कर मेरी चूत में एकदम से लंड को घुसा दिया.

जिस जबरदस्त जिस्म को मैं देखना चाहता था, आज वो न केवल मेरे सामने नंगा था … बल्कि मेरे लंड से चुद भी रहा था. जब पेशाब करने के बाद मैं अपने लंड को हिला कर वापस अपनी लोअर में डालने वाला था तो मेरी नजर बाहर गई. मैं- सपना तुमने तो मुझको अपना पति बना लिया … और अभी पति जैसा कुछ किया भी नहीं.

दीदी खड़ी होकर अपने कपड़े लेकर अपने कमरे में चली गईंमेरी आंख लग गई और मैं सो गया. यही सोचकर मैंने दबे पाँव पास जाकर उन्हें चौंकाना चाहा, पर मेरे नजदीक पहुंचने से पहले ही परमीत ने कहा- आजा कुतिया … तेरी ही कमी थी, हम तो तेरा कबसे इंतजार कर रहे थे, पर तू तो साली दीदी के अनुभव का आनन्द ले रही थी. जब सुबह मेरी नींद खुली तब 10 बज रहे थे तो मैं बाथरूम में फ्रेश हुई और तैयार होकर उन अंकल से विदा ली.

हम कुछ देर ही रुके थे कि पीछे से किसी गाड़ी की लाइट आती दिखी, सासू माँ ने गाड़ी को हाथ दिया तो वो गाड़ी रुक गयी. आज मैं एक और सच्ची कहानी लेकर आया हूं जो मेरी पिछली कहानीदोबारा दोस्त की बहन को चोदासे आगे की कहानी है.

शायद हम दोनों ही विवाहित जीवन के कष्टमय दौर से गुजर चुके थे तो दोनों एक दूसरे का दर्द जानते थे.

मैं उनके स्तनों में इतना खो गया था कि मुझे पता ही नहीं चला कि आंटी मेरी तरफ देख रही थीं.

फिर मैं उठी और बाथरूम जाकर साफ़ करके फिर से रूम में आकर ब्रा पैंटी पहन कर बैठ गई. मैंने उसकी बात पर हैरानी जाहिर की कि दीदी अमन भैया के साथ कैसे सैट हो गई. फिर वही बोली कि मुझे माफ कर दो जान … मैं आपको एक बात बताना चाह रही हूँ.

देखो गीत, मैं तुम्हें बहुत चाहता हूँ … लेकिन मुझे पता है लड़कियां जिसे दिल में बिठाती हैं, उससे ही शादी करना चाहती हैं … और मैं अपने घर की हालत की वजह से बहुत जल्दी शादी करने वाला हूँ. मारिया आंटी के साथ चुदाई की कहानी का पूरा मजा मैं आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. दोनों के मन में एक ही बात चल रही थी ‘बहनचोद, 4000 रुपये महीना का प्रोटीन खाएगा तो घर वाले गांड पर लात मार कर बाहर निकाल देंगे.

तभी उन्होंने कहा- पहले अपने घर पर जाओ और कह कर आओ कि भाभी को कुछ काम है, इसलिए मुझे वहां 2-3 घंटे लगेंगे.

आंटी- आह मनोज … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मनोज आह आह आह उह!आंटी की कामुक आवाज़ों ने तो मेरा भी लंड खड़ा कर दिया. तुम्हारा मस्तक मुझे तब बड़ा ही दिलकश लगता है, जिस पर गुस्से में बल पड़ जाते हैं. जब मैंने उससे तुम्हारे फार्म हाउस के लिए कहा, तो उसने मुझसे कहा कि हां तेरे बीएफ का फार्महाउस ठीक रहेगा, वहीं पर चलते हैं.

कामिनी बोली- मैं हर दर्द सह लूंगी, बस अब जल्दी पेलो … मेरी बुर में बहुत खुजली हो रही है. अगर आप लोगों का रेस्पोन्स अच्छा रहा तो मैं अपने साथ हुई घटनाओं के बारे में और भी काफी कुछ बताऊंगा. मेरी तड़फ मोनिका के लिए बढ़ती जा रही थी, तो लगभग एक महीने बाद मैंने उसके मैसेंजर पर मैसेज छोड़ा.

हर लड़की जो चाहती है, वो सभी गुण तुम्हारे अन्दर हैं … और ऊपर से तुम्हारा तेज दिमाग़, जो मुझे सभी प्रॉब्लम्स से दूर रख सकता है.

मीना को चोदते चोदते वो समय आ गया कि मेरा सुपारा फूलकर संतरे जैसा हो गया और मीना की चूत में मैंने अपने लंड का फव्वारा छोड़ दिया. भाभी के बारे में सोचते हुए ही मैंने अपने लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया.

देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी मैं अंकल के ऊपर गयी तो अंकल ने अपना 9 इंच लम्बा विशाल लन्ड मेरी चूत में एक ही झटके में डाल दिया. ये लोग ऐसे सीन कैसे कर लेते हैं?” मैंने टीवी से ध्यान हटाये बिना पूछा.

देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी ऐसा लगता था जैसे वो मेरे सामने जानबूझकर अपने हिप्स मटकाकर चल रही है. उसकी चीख निकलने वाली थी लेकिन मैंने पहले ही उसका मुँह अपने मुँह से बंद कर दिया था.

इधर पैन्ट में मेरा लंड लंबा कड़क होकर सावधान पोजिशन में खड़ा हो चुका था.

बीएफ हिंदी एक्स वीडियो

वसुंधरा के होंठ मेरी नाभि पर और दोनों उरोज़ मेरी दोनों जांघों के साथ कस कर सटे हुए थे. मैं सोच ही रहा था कि इतने में जिम वाले ने पूछा- कब से शुरू करना है भाई?सुमित बोला- कल से ही. कोई 5 मिनट तक यही सब करने के बाद आंटी ने अपनी छाती पर हाथ रखते हुए मुझसे कहा कि रॉकी … क्या यहां पर अबीर नहीं लगाओगे?मेरी आंखें चमक गईं … मैंने कहा- क्यों नहीं.

वो तेज तेज सीत्कार करने लगी; वो बड़बड़ाने लगी- आंह … और अन्दर तक जीभ डालो … आह तेज … यस सक मी बेबी … और तेज … आंह मज़ा आ रहा है और तेज!ये ही सब बोलते बोलते प्रीति एकदम से झड़ गई. मैं विक्की से बोली- बेबी खाना ला दो … मैं बहुत थक गई हूं … अब मैं घर पर नहीं बनाऊंगी. थोड़ी देर की चूमा चाटी के बाद राजन को होश आया कि ये सब ठीक नहीं हो रहा.

मैंने परमीत के हाथों से उसे लेना चाहा, तो परमीत ने हाथ हटा कर मुझे और तड़पा दिया.

औरतें भी अपना काम करके पड़ोसियों के घर में गप्पें मारने के लिए चली जाती हैं. तभी अंकल ने दीदी की कमर को पकड़ कर अपनी कमर को एक जोर से झटका मारा, तो दीदी अपनी जगह से एक इंच ऊपर को खिसक गईं. हम दोनों धीमे धीमे गरम हो रहे थे और ऊपर से शराब का असर होने लगा था.

ख़ास तौर पर उस समय और भी ज्यादा खुजली होती है, जब पीरियडस आने होते हैं. और फिर कुछ ही देर और लंड चुत की रगड़ाई के बाद मेरा प्यार अपने चरम पर जाकर पिंकी की चूत में किसी लावे की तरह फूट पड़ा। मैंने उसे कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया और मेरे लंड ने फुदक फुदक कर उसकी चूत को अपने रस से भरना शुरु कर दिया।मुझे महसूस हो रहा था जैसे आज मेरे लंड से रोज से दुगना वीर्य निकल रहा है. उस वक़्त मर्डर फ़िल्म का इमरान हाशमी और मल्लिका का सेक्सी सीन चल रहा था.

एक हफ्ता तो वो होटल में रहा, फ्राइडे को रात को लखनऊ चला गया, क्योंकि सेकंड सैटरडे को बैंक बंद था. आंटी- आह मनोज … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मनोज आह आह आह उह!आंटी की कामुक आवाज़ों ने तो मेरा भी लंड खड़ा कर दिया.

मैं खुद चूंकि पहले से ही वाशरूम में हस्तमैथुन कर आया था तो इस फ्रंट पर तो मैं पहले ही सेफ था. मैंने उनकी ब्रा पकड़ ली और बोला- जान, आज हम दोनों एक साथ नंगे ही सारे घर में घूमेंगे. थोड़ी देर बाद मालकिन पेट के बल लेट गई और जांघें फैला कर बोली- सुरेश, थक तो नहीं गए ना?मैं- नहीं.

जब मैंने अपनी पहली कहानीअनजान लड़के से चुत चुदवा लीलिखी थी तो मुझे बहुत सारे ईमेल आए थे.

कमर पर बंधी बैल्ट वसुंधरा की पतली कमर के ख़म को विशिष्ट ढ़ंग से उजागर कर रही थी. मैं भी थोड़ा उत्तेजना में था, तो मैंने उससे कहा कि अगर मालिश शुरू करनी है, तो मुझे तुम्हारे मम्मे चैक करने पड़ेंगे. उसके बाद में जब भी मौका मिल जाता था, हम दोनों खूब सेक्स का मजा ले लेते, पर अब भईया का ट्रांसफर दूसरे शहर में हो गया है.

वो बड़बड़ाने लगा- आई लव यू तान्या!मैंने उसके कान में धीरे से कहा- चुप रहो … दरवाजे पर आदी खड़ा है … और उसने ये सब कुछ देख लिया. लेकिन मैंने दीदी को इस बात का पता नहीं चलने दिया कि मैंने उनकी चुदाई को देखा है.

अभी तो हम दोनों देर होने की आशंका के चलते हड़बड़ी में संदीप के घर पहुंचे. हमने पालक पनीर की सब्जी, दाल रोटी चावल, पापड़ सलाद तैयार करके टेबल पर सजा दिया. वहां उसका अपना दोस्तों का ग्रुप, पत्नी शोभा, जो एक स्कूल में टीचर है, और एक 5 वर्षीय बेटा था.

बिहारी बीएफ फुल एचडी

फिर वन्दना ने अपने बेटे को नौकरानी के साथ पार्क में भेज दिया और 8 बजे वापिस आने का बोल दिया.

क्योंकि मैं हमेशा नए लोगों से मिलने के लिए और नए दोस्त बनाने के लिए उत्सुक रहता हूं. आगे जाने के बाद मैंने पलट कर देखा, तो संदीप मुस्कुराते और शर्माते हुए मुझे ही देख रहा था. मैंने उसकी घाघरी के ऊपर से उसकी जांघों को अपने हाथों से सहलाना शुरू कर दिया.

मैंने उनको आगे बोला- जो ख़ुशी तुम्हें तुम्हारा पति नहीं दे पाया, मैं तुम्हें दूंगा. फिर मैंने उसकी शर्ट का बटन खोल कर अन्दर से उसकी ब्रा को निकाल दिया. राखी सावंत की सेक्सी फोटोमैंने केले को अपनी आंखों के सामने लाया, वो थोड़ा मुलायम सा हो गया था, वो अधपका केला था, नहीं तो अब तक तो कब का पिचक चुका होता.

इस तरह करते-करते वो कब मेरे ऊपर से हट गयी और कब हम दोनों का तौलिया भी हमारे जिस्म से अलग हो चुका था, पता ही नहीं चला।मजे की बात तो यह थी कि दोनों तौलिये भी एक दूसरे के ऊपर ही थे तो मेरी हल्की सी हँसी छूट गयी।इस बीच सायरा मेरे लंड से खेलने लगी, कभी वो मेरे लंड को मुंह के अन्दर तक भर लेती, तो कभी सुपारे पर अपनी जीभ चलाती, तो मेरे अंडों को कस-कस कर मसल देती. जेठजी ने पहले मेरी दोनों टांगों को पकड़ कर अलग किया, फिर अपनी उंगली चूत के फांकों में फिराने लगे.

वो खड़ा हो कर अपनी टी-शर्ट उतारने लगा, तो मैं भी खड़ी होकर उसकी टी-शर्ट उतारने लगी. उसका नाम शीला है वो भी दिखने में पटाखा है शायद राज उसे चोद चुका है!मैं और प्रीति सही मौके का इन्तज़ार करने लगे. उसने तुरंत अपना लंड निकाला और एक ही झटके में मेरी चूत में लंड उतार दिया … जिससे मेरा दर्द और बढ़ गया.

हम लगभग आधे रास्ते तक ही पहुंचे थे। तभी तेज हवा के साथ बारिश होने लगी. उसने दीदी की टांगों को दोनों हाथों से पकड़ कर उसकी चूत में लंड को रख दिया. अब मैंने अपना एक हाथ चाची के मम्मों पर रख दिया और उन्हें दबाने लगा.

मैंने अपने रस भरे गुलाबी होंठ रोहित के बड़े काले होंठों पर रख दिए और अपनी हाथ उसकी गर्दन पर.

आज मैं अपनी कोशिश के बाद स्वीटी आंटी की सेक्सी कमर, रसीली चूत, लाजवाब चूचे … के पूरे मज़े ले रहा था. जींस और लाल रंग के टॉप में जैसे ही मीना एयरपोर्ट से बाहर निकली, उसे देखते ही मेरा लण्ड उछल उछलकर सैल्यूट करने लगा.

उसने मुझे पहले भी मेरे एक ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदते हुए देख लिया था, पर तब वो और छोटा था. उस समय प्रीत एक हाथ से मेरे मम्मों को दबाने लगा और बोला- डार्लिंग एक बात बोलूं, करोगी?मैं बोली- हां बोलो. मैं एक कमसिन कच्ची कली की तरह दो छह फीट हाइट के मर्दों के बीच में आ गई थी.

इस बार भी भैया का जवाब हम नहीं सुन पाए, पर दीदी ने फोन रखने के पहले दो तीन बार थैंक्स … थैंक्स कहा. मेरे जोर देने पर अपने मुँह में लिया और थोड़ा सा चाट कर बस कहने लगी. अब मैं उसकी चूचियों को घूरता था तो वो भी इस बात को समझ चुकी थी और केवल मुस्करा कर रह जाती थी.

देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी ममता ने सिगरेट का लम्बा कश लेते हुए उसे बताया कि वो तो बहुत स्वछन्द और मस्त लड़की थी. उस युवा दुकानदार ने मुस्कुरा कर कहा- फ्रेंड या बॉयफ्रेंड?इस पर हमने थोड़ा सख्त लहजे का प्रयोग करते हुए कहा- सिर्फ फ्रेंड है और आप अपना काम कीजिए.

बेटे ने मां को चोदा सेक्सी बीएफ

दोस्तो, आप सभी ने मेरी पिछली कहानियों को बहुत प्यार दिया, उसके लिए बहुत धन्यवाद. चित्रा- अब पूरी रात सिर्फ किस ही करोगे या आगे भी कुछ करोगे?दीदी की बात सुनकर मैंने आलिया को घुमा दिया और उसकी ब्रा का हुक खोल कर निकाल दिया. ”वैसे तो मुझे तुम्हारी बात पर भरोसा है लेकिन फिर भी मैं तसल्ली करना चाहता हूँ, तुम यहाँ आओ.

तभी एक कंपकंपी के साथ कामिनी ने मेरे मुँह को अपनी चुत में दबा लिया- आह राजा. इसलिए मैं अब कॉलेज में किसी अच्छे लड़के को ढूंढने लगी, पर उधर मेरे लायक कोई लंड मिला ही नहीं. क्या ब्रेस्ट कैंसर में दर्द होता हैजैसे ही जांघ के ऊपर तक नाइटी गई तो कमर तक मैं नीचे पैंटी में ही दिखाई देने लगी.

मैंने उसकी चूत में लंड के टोपे को घुसाने की कोशिश की मगर चिकनाई की वजह से मेरा लंड फिसल गया.

इनमें से कुछ तो मुझे अपनी बहू समझते हैं, कुछ भाभी समझते हैं और कुछ अपनी रखैल की तरह समझते हैं. मैंने कहा- तुम किस प्रोजेक्ट की बात कर रही हो?उसने मेरे लंड को हाथ से मसला और कहा- इसको अन्दर करने वाला प्रोजेक्ट कह रही हूँ.

वहां से जब वो दोनों वापस आए, तो मैंने देखा कि दीदी ने अंकल के लंड को अपने मुट्ठी में पकड़ रखा था. मैं उन्हें धक्का देकर अपने से अलग करते हुए बोली- क्या भैया जी, अभी भी आप मुझे श्वेता भाभी ही समझ रहे हैं क्या? इस बार तो मैंने अपनी नाइटी पहनी है. उसको डांटने के बाद मुझे भी बुरा महसूस हुआ तो मैंने आरती को गले लगा लिया और चुप करवाने लगा.

अब उसके 6 साल के भाई और संदीप के अलावा मैं और मनु ही उस घर में रह गए थे.

हालांकि दीदी की बातों से हम दोनों को ये पता नहीं चला कि परमीत और दीदी के बीच सेक्स रिलेशन है या नहीं. मैं टीवी पर मूवी देखते हुए सोच रहा था कि कल से मैं और आलिया अकेले होंगे, क्योंकि कल से घर पर कोई नहीं होगा. बेड पर सबसे किनारे मैं लेटा, फिर प्रियांशु, पूजा और सबसे किनारे मीना.

इंग्लिश वाला सेक्सीआप सच में और भरोसे लायक हैं या नहीं! यह जानना चाहती हूं।उन्हीं दिनों मेरे घर में एक फंक्शन आया तो मुझे काम से बार-बार घर से बाहर जाना पड़ता था. राजन ने ममता के सर को अपने दोनों हाथों से पकड़ा हुआ था और अपनी ओर भींचा हुआ था.

आदिवासी हिंदी बीएफ

पता नहीं था कि वो क्या करने वाला है।सुबह मुझे विशाल ने अपने साथ कॉलेज चलने को कहा; मैं चल पड़ी। जैसे-जैसे वो बोलता गया मैं करती गयी।उसने बाइक पार्किंग में रोकी। कुछ दूरी पर आशू और उसके दोस्त बैठे थे। उसने रास्ते भर से ही मुझे समझा रखा था। मैं आशू और उसके दोस्तों की ओर बढ़ी. इस पर परमीत ने छेड़ते हुए कहा- ना बाबा … हम अपनी सहेली को अकेले छोड़कर नहीं जाएंगी. मैंने असमंजस से उन गिलासों की तरफ देखा, तो आंटी ने मुझे आंख मारते हुए ड्रिंक करने का इशारा किया.

दीदी ने झट से उठ कर ड्रावर में से कंडोम का पैकेट निकाल कर मुझे दे दिया. कुछ देर बाद संगीता आ गई, मैंने उसका टॉप उठाकर चूचियां निकाल लीं और संगीता को अपने पैरों के पास जमीन पर बिठाकर अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया. वो आंखें मूंदे ही बोली- आप ही बता दीजिये … मैं किसको इमेजिन करूं?एकाएक मेरे मुँह से निकला- अपने भैया को.

मेरी हाइट 5 फीट 7 इंच है और जबकि मेरी दीदी आरती की हाइट 5 फीट 6 इंच है. अब शोभा भी चुदासी हो चली थी, उसने राजन का लंड पकड़ के खूब चूसा और खड़े खड़े ही सोफे पर एक टांग रख के राजन का लंड अपनी चूत में कर लिया. निधि समझ गई कि उसके पतिदेव बहुत गुस्से में हैं और लवड़ा पकड़ कर मुठ मार रहे हैं … इसलिए इतने भड़के हुए हैं.

अभी मैंने सारे बर्तनों को सिंक में रखा ही था कि इतने में जेठजी ने पीछे से आकर मुझे फिर से पकड़ लिया और मुझे बेसिन के पास से हटाकर रसोई के बीचों बीच करके अपनी तरफ घुमा दिया. इसी दौरान मैंने अपना एक हाथ उसकी चुत पर रख दिया, जिससे उसके मुँह से एक लम्बी आह्ह निकल गयी और उसने मुझे कसके पकड़ लिया.

मैंने उसको कहा- तुम अपने पुराने ऑफिस से वर्क एक्सपीरीयेंस लिखवा कर लाना.

मतलब कोई उनको नंगा देख कर नहीं कहा सकता था कि उनकी 7 साल की एक बेटी भी होगी. कॉलेज गर्ल सेक्स विडिओपानी पीकर जैसे ही रेखा पलटी, मैंने वहीं रसोई में दबोच लिया और और उसकी एक टांग उठाकर रसोई स्लैब पर रख दी और अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत पर रखकर ठोक दिया. सुंदर सेक्सी वीडियोचाची की गांड में लंड घुसते ही उन्हें तेज दर्द हुआ, वो चिल्लाई- उई मर गयी … निकालो निकालो. उनके होंठों का स्पर्श मुझे अपने लंड पर मिलते ही मानो मुझे जैसे जन्नत मिल गयी हो … ऐसा लगा.

मैंने शैली को कहा- बेटा, चाय तो बहाना थी तुम्हें बुलाने का, मुझे तुम्हारी बहुत याद आ रही थी.

इससे वो एकदम गनगना उठी थी और मुझसे चिपक कर मेरा सर अपने मम्मों पर दबाए जा रही थी. दोस्तो, अगर लड़की की चुत चोदनी हो, तो ये सबसे जरूरी होता है कि पहले उसको इतना गर्म क़र दो कि वो खुद लंड के लिए मचलने लगे. इस चारदीवारी ने मुझे जाने कितनी रातें बेबसी के आलम में सिसकते हुए देखते गुज़ारी हैं और इसी चारदीवारी ने मुझ अभागिन पर नसीब को मेहरबान होते देखा है, आपको मुझ पर क़रम करते देखा है, मेरे प्यार को परवान चढ़ते देखा है.

मैंने लंड बाहर खींच लिया, इसके बाद भाभी ने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और मेरा सारा माल पी गईं. इधर मेरे कूल्हों को खोल कर अभय मेरी गांड के सुराख पर जीभ से चाटने लगा. पर शायद दीदी को रफ्तार ना काफी लगा … तभी तो दीदी खुद ही डिल्डो की ओर कमर उछालने लगी थीं.

बीएफ सेक्सी वीडियो दिखाएं हिंदी में

मैंने भी ज़ोर ज़ोर धक्के मारे और करीब 5 मिनट में ही झड़ने वाला हो गया. देखेंगें … !” वसुंधरा ने खुद को पूर्ण रूप से मेरे आगोश में ढीला छोड़ कर जवाबी चोट की. उसके मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और तेज … कमॉन … आह्ह चोदो.

एक बार अपने दोस्त की बात याद करके मैंने सोचा कि क्या पता मेरे दोस्त की ये बात सच हो कि ऋतु दीदी का किसी से घर में ही कोई चक्कर हो … या उसका कोई ब्वॉयफ्रेंड हो.

उसने आईने में देखते हुए मुझे आँख मारी तो मैं भी उसकी तरफ देखकर मुस्करा दी.

मैंने उसको बांहों में कस लिया और उसके होंठों के रस को निचोड़ने लगी. वो कमरे के अन्दर आ गया था और बहुत मिन्नतें करना लगा कि आज उसका आखिरी दिन है. अमेरिकन गर्ल सेक्सतभी साकेत भैया एक जोर के झटके के साथ रुक गए और अपना लंड दीदी के चूत में डाले हुए ही दीदी के ऊपर लेट गए.

अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे पागलों की तरह एकदम जंगली तरीके से किस करने लगा. लंड चूसते चूसते कब उन्होंने अपनी सलवार और ब्रा उतारी, मुझे पता भी नहीं चला. इससे आपको डर भी नहीं लगेगा और कहीं कुछ गड़बड़ हुई तो मैं संभाल लूंगा.

मैं उसके होंठ चूसने लगा और एक तेजी से शॉट मारा, तो इस बार मेरा लौड़ा पूरा अन्दर चला गया. बेडरूम में जाकर मैंने कॉण्डोम चढ़ाया और धकाधक पेल कर जल्दी से डिस्चार्ज किया और शैली को बिना यह बात बताये पढ़ाया और उसके घर भेज दिया.

इसके बाद मैं फिर से आदी के रूम में गई, तो वो कपड़े पहन चुका था और उसके बेड पर मेरे ब्रा पैंटी पड़े थे.

फिर उसने आगे बताया कि उसकी रूममेट के बॉयफ्रेंड ने उसके मम्मों को दबा दबा कर बड़े किए है. मेरे लंड में रक्त का प्रवाह इतनी तेजी से हो रहा था जितना कि इससे पहले मैंने कभी महसूस नहीं किया था. उसने अपना सर पीछे मेरे कंधे पर टिका दिया और मेरा नाम लेकर प्यार भरी बातें बुदबुदाने लगी.

आंटी की कहानी फिर एक स्टेशन आया बीच में … मुझे वहां उतरना तो नहीं था पर मैं जान बूझ कर वहां उतर गयी. आगे अपनी सच्चाई आप लोगों तक पहुंचाने के लिए अपने कमेंट और अपनी राय मुझे मेरी मेल आईडी पर जरूर भेजें।मेरी मेल आई डी है-[emailprotected].

भाभी ने भी मेरी टी-शर्ट उतार दी और अपने पैरों से मेरे लोअर और निक्कर को उतार दिया. … बस प्यार सच्चा होना चाहिए और वो तुमसे बहुत प्यार करते हैं … उन्होंने मुझसे वादा किया है कि वो तुम्हें हमेशा खुश रखेंगे. फिर अंकल दीदी की जांघों के बीच में बैठ गए और अपने लंड को दीदी की पानी छोड़ती हुई चुत पर रख दिया.

बीएफ वीडियो बीएफ वीडियो मूवी

मुझे अपने पास लिटा कर वो मेरे बदन से लिपटने लगी और मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. फिर राज बोला- कुछ हेल्प चाहिए तो बोल?मैं बोला- अभी आके तूने सारा प्लान चौपट कर दिया. उनमें से कुछ तो वक्त के दरिया में पीछे छूट जाते हैं, मगर कुछ अंत तक साथ तैरते चले जाते हैं, फिर चाहे अंजाम डूबना ही क्यों न हो.

जब पहली बार उसकी नर्म चूत की फांकों तक मेरी उंगली पहुंची तो उस अहसास ने सारे बंधन तोड़ने पर मजबूर कर दिया. तब तक वसुंधरा भी वार्डरोब से एक ए-4 साइज़ का एक लिफ़ाफ़ा निकाल कर मेरे सामने की कुर्सी पर आ विराज़ी.

इसलिए मैं अपने चाहने वालों को नाराज़ नहीं करना चाहती और अपनी चुदाई का एक ताज़ा किस्सा आपकी सेवा में लेकर हाजिर हुई हूँ.

कभी वो मेरे लंड के टोपे पर उंगली से सहला रही थी तो कभी मेरे लंड की मुठ मारने लग जाती थी. मैंने यह दिखाया उसके सामने कि जैसे मैं अपने जीवन में जिस बड़ी चीज का हकदार था, उससे वंचित रह गया उसके कारण. वो बोला- तू आशीष से मिल कर खुश हो जायेगी?मैं बोली- हां, मैं उससे मिलने के लिए कुछ भी कर सकती हूं.

मेरी दीदी से साकेत भैया का चक्कर फिट हो चुका था और दीदी का पहला बुर चोदन हो चुका था, मेरी दीदी की चुत की सील खुल चुकी थी. उसके आगोश में आते ही मुझे दुनिया भर की खुशियां एक साथ नसीब हो गई थीं. अब शायद मॉम को भी मजा आ रहा था क्योंकि मॉम के मुंह से अब दर्द की बजाय आनंद की आवाजें निकलती हुई सुनाई दे रही थीं- ऊऊफफ्फ … शर्मा जी.

वो- और …मैं- तुम्हारी मोटी मोटी आंखें एकदम वाइट और बीच में मटकता काला गोला … आह … आज भी नशीला है … जो एक बार देख ले, तो नशे में हो जाए.

देहाती बीएफ देहाती बीएफ सेक्सी: मैं और मनु परमीत के सामने घुटने के बल बैठ कर टकटकी लगाये उसकी चूत का मुआयना करने लगे. मुझे शुरू शुरू में तो कुछ अजीब सा लगा, पर बाद में मुझे उसके हाथों का स्पर्श अच्छा लगने लगा.

उसने बताया था कि उसके प्लान से ही हम मिल पाए थे … और चुदाई कर पाए थे. फिर मैंने अचानक एक धक्के में अपना पूरा लंड चाची की गांड में अंदर तक घुसा दिया. जब सुबह मेरी नींद खुली तब 10 बज रहे थे तो मैं बाथरूम में फ्रेश हुई और तैयार होकर उन अंकल से विदा ली.

रेखा को लेकर मैं बेडरूम में आ गया और अपने लण्ड पर कॉण्डोम चढ़ा लिया.

नहीं तो किसी अनाड़ी से चूत का उद्घाटन करवाने में मुझे शांति ही नहीं मिल पाती. रेखा ने मेरा लण्ड मुंह में लेकर चूसा और बोली- चाचा जी, कोशिश करती हूँ कि आपकी इच्छा पूरी हो जाये. अगले ही पल दीदी ने अपनी टी-शर्ट निकाल दी, जिससे उनकी प्रिन्टेड ब्रा और 36 बी साइज के कातिलाना चुचे दिखने लगे.