वीडियो ब्लू बीएफ

छवि स्रोत,अंग्रेजी सेक्सी वीडियो बताओ

तस्वीर का शीर्षक ,

लड़की का पहला सेक्स: वीडियो ब्लू बीएफ, मार्च-अप्रैल महीने में हमारी तरफ रोजगार का साधन नहीं रहता तो हम लोग महुआ संग्रहित करने जाते हैं जिससे शराब बनायी जाती है।मैं और बड़ी चाची हर वर्ष सुबह 5 बजे उठकर जाते थे.

एचडी सेक्सी गांव की

तो वो बनावटी रोते हुए बोली- मगर जानू देखो न … आपने मेरी गांड फाड़ दी. नोरा फतेही xxxपूरी चुदाई करके उसने अपना पानी चुत में छोड़ा और खुश होकर वापिस बाहर निकाला.

हम दोनों ही उनकी तरफ बढ़े और अपनी-अपनी बीवियों को आलिंगन में लेकर उनके ऊपर चुम्बनों की बारिश सी करने लगे. लड़की कुत्ता सेक्सअब मैं तेजी से झटके मारने लगा और थोड़ी देर बाद मैंने उसकी गान्ड में वीर्य छोड़ दिया। हम दोनों पसीने से लथपथ हो गये थे और बिस्तर पर लेट गए।थोड़ी देर बाद दोनों बाथरूम में साथ गए और एक दूसरे को साफ़ किया।फिर खन्ना सर का फोन आया- राज़ तुम मेरे घर चले जाना.

तब वो कुंवारी थी लेकिन अब तो उसकी शादी होकर वो अपने ससुराल जा चुकी है.वीडियो ब्लू बीएफ: पर सुनील को किसी से मिलना है, तो वह उसके साथ ही रहेगा और दो ढाई के बीच में घर पहुंचेंगे.

जूली ने मेरी चड्डी को उतार फेंका और अपनी चूचियों से लटकी अपनी ब्रा को भी आजादी दे दी.चूंकि गोपाल की शादी मेरी शादी से पहले हुई थी इसलिये मैं उसकी पत्नी मीरा को भाभी कहता हूँ.

एचडी ओपन सेक्स - वीडियो ब्लू बीएफ

यदि आप मुझसे अपनी बीडीएसएम फेंटेसी के बारे में बात करना चाहते हैं या अपनी कोई अन्य सेक्सुअल फेंटेसी या रोल प्ले शेयर करना चाहते हैं तोइस लिंक पर क्लिक करकेमुझसे संपर्क करें.उसका कमरा ऊपरी छत पर था, जिससे उसके कमरे में क्या हो रहा है, किसी को कुछ पता नहीं लगता था.

फिर मैंने खुद अपनी दो उंगलियां अपनी गांड में डाल कर गांड को ढीला किया. वीडियो ब्लू बीएफ ये उसकी ताजगी भरी जवानी का एक नमूना था, जिसने मुझे मस्त कर दिया था.

पर जब एक दिन मेरे घर में मैंने सैम को मेरी पैंटी को हाथ में लेकर मुठ मारते देखा, तब मुझे माँ बेटा सेक्स का विचार आया कि क्यों न मैं अपने बेटे से ही चुद लूं.

वीडियो ब्लू बीएफ?

अब अंत में मैंने हर तरह से चेक किया कि सब कुछ सही है और फिर मैंने अपनी टीशर्ट को उतार दिया. एक मिनट बाद जब मॉम का दर्द बंद हुआ, तो मॉम भी अंकल को किस करने लगीं. मैं- क्यों … दीदी ने बोला था कि काम मत करो!आरव- सर दीदी गंदी है … वो मेरी सुसु को अपने मुँह में लेती है … और अपनी सुसु को मुझे चूसने को बोलती है.

उसे भी समझ में आ गया और उसने कुछ देर चुत को चूम चाट कर अपने भूखे लंड को मेरी चुत में पेल दिया. उसे अपने ऊपर ले लिया और बोला- अब तुम करो।मुझसे नहीं हो पायेगा।”क्यों नहीं होगा. फिर मेरे शानदार उरोजों पर मुँह लगाते हुए हाथ पीछे ले जाकर मांसल उभरे नितंबों को सहलाने लगा.

तभी भाबी ने मेरा हाथ अपनी चूत से निकालने का बोला … क्योंकि वो झड़ चुकी थीं. सुनील और मनोज ने तो जींस और टीशर्ट पहनी पर दीपा ने एक फ्रॉक ड्रेस डाली. तो नीरू दर्द के कारण आगे को हो गई और उसकी गांड में से मेरी उंगली निकल गयी.

मेरा ध्यान उन पर ही था, तो मैंने हाथ आगे बढ़ा कर उसके दोनों चूचे पकड़ लिए. जैसे-जैसे उंगली चूत को सहलाती जाती, वैसे-वैसे मैं मदहोशी के आलम में डूबने लगी.

मुझे उसकी गांड बहुत अच्छी लगती थी।वो उसकी 2 सहेलियों के साथ रतलाम में रहती थी.

मैं- देख लो एक बार … कुछ पसंद आता है तो देखने‌ में क्या जाता है?उस सेल्सगर्ल के साथ साथ अब तो मैं भी बोल पड़ा, जिससे शायरा मेरी तरफ और भी गुस्से से देखने लगी.

उसने पूछा- क्या … बताओ तो?तो मैंने बोला- बाद में बता दूँगा … और उसे मेडिसिन कैसे लेनी है, वो बता दिया. एक दिन उसने कहा- मेरे पति अपने किसी दोस्त की शादी में जा रहे हैं और मैं इस मौके को गंवाना नहीं चाहती हूँ, मैं तुमसे मिलना चाहती हूँ. हम‌ दोनों का स्खलन एक साथ ही शुरू हुआ था … इसलिए एक दूसरे के अंगों को अपने अपने प्यार का रस पिलाते हुए अब हम‌ काफी देर तक ऐसे ही एक दूसरे की बांहों में समाये पड़े रहे.

ऐसा करने से बिन्नी की पकौड़ा सी चूत मेरे लण्ड के सामने आ गई और मैं बुरी तरह से उसकी चूत की ठुकाई करने लगा. दोनों हाथ से अच्छे से पकड़ कर मेरी बहन एकदम रंडियों की तरह मेरा लंड चूसे जा रही थी। उसे उस वक़्त देख कर शायद कोई ना कहता कि इस पहले कभी लंड नहीं चूसा होगा।उसका जोश देखकर मैंने उसका सिर पीछे से दबाया और लंड को गले तक पहुंचा दिया. फिर मैंने भी इसका रिप्लाई दिया और उन्हें कसके अपने गले से लगा लिया.

थोड़ी देर बाद मैं साइड में लेट गया और अपनी सांसें नियंत्रित करने लगा.

जैसे जैसे मैं सर का लंड चूस रही थी, उनका लंड मुझे और भी बड़ा दिखाई देने लगा था. उसके बाद जब कामवाली काम खत्म करके चली गयी तो मैं भी उसके होंठों पर किस करके वहां से आ गया. हम अपने को एक्सपर्ट मानते थे … पर सच में गांड मराने के एक्सपर्ट आप हैं.

चूचियां दबाती ब्रा और चूत रगड़ती पैंटी मुझे मादक और गर्म कर रहे थे।मैंने पेटीकोट और ब्लाउज़ नहीं पहनी और एक नीले रंग की पारदर्शी साड़ी पहन ली साड़ी के बाहर से ही मेरी ब्रा में दबी चूचियां और पैंटी में चूत दिख रही थी।तभी सूरज का फोन आया- हैलो मैं सूरज हूं. एक दिन मेरी मम्मी ने मुझे ऊपर से मेरी चाची से कुछ सामान लाने को कहा, तो ऊपर सामान लेने गया. फिर उसको बता दिया कि उसकी ये वीडियो रिकॉर्ड हो चुकी है और आइंदा कभी वो मेरे या मेरी फ्रेंड्स के पास भी फटका तो ये वीडियो वायरल कर दी जायेगी.

वे मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर ऐसे देखने लगे, जैसे नाड़ी चैक कर रहे हों.

मैंने रूम की चाभी उसे दी और बोला कि तुम कमरे के अन्दर चलो, मैं बाईक पार्क करके आता हूँ. वो कुछ हैरान होकर बोला- क्या मतलब?शिवानी ने कहा- जिस लंड से मैं चुदना चाहती थी, मैं उसका काम देखना चाहती हूँ.

वीडियो ब्लू बीएफ बड़ी मुश्किल से उस रात मैंने अपने आप पर काबू पाया और हम दोनों के बीच थोड़ी बहुत बातचीत हुई और हम लोग सो गए. मैं उसकी चूत को कसकर भींचने लगा और वो एकदम से सिसकारने लगी- आह्ह … अम्म्म … आराम से … आह्ह … दर्द हो रहा है.

वीडियो ब्लू बीएफ अभी तक न तो मुझे लड़की के जिस्म का स्पर्श मिला था और न ही मैंने सेक्स किया था. उधर से बहुत ही मीठी सी आवाज आई- नमस्कार विकी जी …मैंने भी नमस्कार करते हुए उनका नमस्ते स्वीकार किया और औपचारिक रूप से फोन में शुरूआती बातें होती हैं.

और उसने भी अपना सारा पानी मेरी चूत में ही निकाल दिया। मेरी चूत और मेरी जांघें हमारे पानी से एकदम सन गई थी।फिर उसने मुझे नीचे बैठने का इशारा किया और मैं नीचे बैठ गई।तो फिर उसने मुझे अपने लंड चूसने को कहा मैं अपने दोनों हाथों से पकड़ कर उसके लौड़े को चूसने लगी.

बीएफ पिक्चर हिंदी में इंडियन

उसने मुँह बंद कर लिया, वो समझ गयी थी कि मैं मुँह में निकालने वाला हूँ. मैं पागल सा होने लगा और बोला- आह्ह … अब मैं मसाज कैसे करूं जान?वो बोली- मैं ही करूंगी अब जो करना है. ज़ारा- आ … ह … जान … सी!मैं उठा और उसके ऊपर आकर लंड को चूत के मुहाने पर रखा और एकदम से घुसा दिया.

मैंने कंडोम उतार कर डस्टबिन में फेंक दिया और वॉशरूम में जाकर लंड धोकर अपने कपड़े पहनने लगा. हमारे यहां पैसों की अब कोई दिक्कत नहीं है।मैंने अपने भाई कमल की मदद की और उसे एक अच्छे स्कूल में डाल दिया।अब मैंने गांव जाना भी छोड़ दिया है। मेरा बेटा 20 साल का है। कॉलेज में पढ़ता है। और वो भी एक अच्छे खासे लंड का मालिक है।आप सोच रहे होंगे कि मुझे कैसे मालूम? क्या मैंने उससे चुदाई कराई है?नहीं … मैं अपने बेटे सुमित से नहीं चुदी हूँ।पर मैं उसकी मां हूं … बचपन से उसे देख रही हूं. डिल्डो Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड ने डिल्डो से मेरी गांड मारी.

मैंने उसकी गांड को जोर से मसलते हुए पूछा- कैसा लग रहा है काजल?वो बोली- मजा आ रहा है यार।मैंने कहा- तुम्हारी पैंटी खराब हो जायेगी.

हमने उठ कर अपने कपड़ों को ठीक किया और आस-पास ध्यान से देखा कि कोई हमें देख तो नहीं रहा था. एक बार सुपारे पर आ चुके मेरे प्रीकम को भाभी ने अपनी जीभ से चाटा और अगले ही झटके में मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया. उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और मीना ने मेरी पीठ को नाखूनों से नोंच डाला.

उनके सीने के बालों से मेरे दूधों में चुभन हो रही थी मगर मजा भी बहुत आ रहा था।वो मेरी पीठ सहलाते हुए अपने हाथों को मेरी कमर और फिर मेरी गांड में ले गए। मेरी चड्डी के ऊपर से ही मेरी गांड को दबा रहे थे। उनका सख्त लंड मेरी पुद्दी से आकर चिपक गया. अनिल बोला- जानू मेरा निकलने वाला है, तुम हट जाओ वर्ना अन्दर हो जाएगा. जब कुछ देर बाद मैं थोड़ी शांत हुई तो अभिषेक ने पहले तो धीरे धीरे मेरी बुर में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया और एकाएक अभिषेक ने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी.

वो बोली- कैसे प्यार करते?मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, तो मैं कैसे इमेजिन करूँ. उन दोनों की ताबड़तोड़ चुदाई देख कर मेरी हालत भी खराब होने लगी थी और मैं अपनी बीवी को चुदते देखते हुए लंड को सहला रहा था.

उसने मेरे हाथ से केक का डिब्बा ले लिया और उसे खोल कर टेबल पर सजा दिया. ’ की कराह निकल‌ गयी और एक मस्त सी सिहरन मुझे उसके जिस्म से उठती सी महसूस हुई. उस लड़की पर गिरने से मैं नीचे गिरने से तो बच गया मगर वो लड़की मुझ पर बुरी तरह भड़क गयी‌ और तमाशा खड़ा हो गया.

पहले मैं मौनी पर ध्यान नहीं देता था क्योंकि मेरी कई गर्लफ्रेंड थीं और मेरे यार दोस्त भी बहुत थे.

मैंने उसको वहीं पड़ी एक टेबल पर झुका दिया और अपने लंड को उसकी चुत पर रगड़ने लगा. जैसे ही मेरा लौड़ा पूरा तन कर खड़ा हो गया, शीना ने उसको चूसना छोड़ दिया और सीधे से वो मेरे लण्ड को अपने हाथ में पकड़ के अपनी चूत मैं घुसाने के लिए उस पर बैठ गई. उसके बाद मैं सरक कर पास गया और झांक कर देखा तो मौनी अंदर कमरे में लेटी हुई थी.

वह अपनी बेटी को तूफ़ानी रफ़्तार से चोदते हुए उसकी चूत में ज़ोर के धक्के मारने लगा।ओह्ह्हह पिता जी, उईईई आह्ह मैं गई!” ज्योति का जिस्म अचानक अकड़ने लगा और वह ज़ोर से चिल्लाते हुए अपनी आँखें बंद करके झड़ने लगी।महेश ने ज्योति को झड़ते हुए देख कर उसकी चूत में ज़ोरदार धक्के मारते हुए अपने लंड को जड़ तक उसकी चूत में घुसा दिया।ज्योति की चूत से पानी निकल रहा था जिस वजह से उसे ज्यादा तकलीफ नहीं हुई. शायरा- मैंने तुम्हारे साथ इतना बुरा व्यवहार किया, फिर भी तुम आधी रात को मेरे लिए दवाई चले लेने गए और उस दिन के लिए ‘आई एम रियली सॉरी!’मैं- कोई नहीं, वो शायद गलती मेरी ही थी.

मैंने एक पल उसकी कमनीय चूचियों के मस्त नजारे को निहारा और अगले ही पल उसकी एक चुची को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया. मैं हाथ-मुंह धोकर आया तो तुरंत उसने एक कौर तोड़ कर हाथ में ले लिया. उसके बाद भाई नीचे ही बैठ गये और दिव्या ने उसको नीचे लेटा कर उसके लंड पर उछलना शुरू कर दिया.

हिंदी सेक्सी पंजाबी बीएफ

वो उम्र में मुझसे थोड़ी बड़ी थी तो मेरा उस पर कभी ध्यान नहीं गया था.

अगले ही पल मेरी नजर सामने दीवार पर लगी घड़ी पर पड़ी … तो शाम के 8 बज रहे थे. जब उसने चूत से लंड को बाहर निकाला तो मेरी चूत में से खून और वीर्य का द्रव बनकर निकल रहा था. वे मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर ऐसे देखने लगे, जैसे नाड़ी चैक कर रहे हों.

मैं किसी भी तरह की जबरदस्ती नहीं करना चाहता था, पर उसके साथ सेक्स करना चाहता था. मैंने इस बार फिर उसके हाथ फंसा लिए और बाल पकड़ कर उसके मुँह में उसकी ब्रा ठूंस दी. इंग्लिश सेक्स वीडियो ऑडियोलेकिन रात होते ही मुझे हल्का सा बुखार आ गया और मेरा सर दर्द करने लगा.

योजनानुसार दादी और मैं बेडरूम में पहुंचे, दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया. फिर सर ने मेरे मम्मों को दबाते हुए अपना लंड मेरी चूचियों की घाटी में फंसा दिया.

विक्रम ने एक बार बड़े प्यार से संजू की चूत को निहारा, जिसमें चूत से पानी रिस रहा था. शायद नयी जगह और देविका की चुत चोदने के मिले झूठे ख्याल मुझे परेशान कर रहे थे. थोड़ी ही देर बाद आंटी बाहर आ गईं और मुझे कमरे के बाहर देख कर चौंक गईं.

मैं भगवान से ये ही दुआ करता हूँ कि हर लंड को इतना दम दे कि वो जिस चूत में भी जाए, उसकी इच्छा पूरी करके ही बाहर आए. मैं- अब से इस चूत का पूरा ख्याल रखूंगा … रोज तुम्हारी चूत चोदकर तुम्हें मजा दूंगा. मैं बोला- अभी जब तुम अपनी चूत में उंगली कर रही थी तो क्या तब शर्म नहीं आ रही थी?तो वो बोली- साहब जी, मेरी शादी को आठ साल हो गए और शादी के दो साल बाद मैं यहां आ गयी.

रिचा मेरे खड़े लंड को देखते हुए झट से अपने घुटनों पर बैठी और उसने मेरी चड्डी भी नीचे खींच कर उतार दी.

प्रीत का लंड शायद अपने पूरे तनाव में आ चुका था और वो उसको मेरी गांड पर जोर जोर से चुभा रहा था. ज़ोरदार 10 मिनट चुदाई के बाद मैं उनकी चुत में ही झड़ गया और मैं उनके ऊपर गिर गया.

लण्ड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए डिस्चार्ज का समय आया तो न चाहते हुए भी चार छह धक्के फुल स्पीड से लगाकर फव्वारा छोड़ दिया. इसका नतीजा यह हुआ कि मैं चुत के दाने पर अपना थूक लगा कर डिल्डो से रगड़ने लगी. फिर तो हम एक दूसरे को बेताहाशा चूमने लगे।देखते ही देखते पूरे नंगे हो गये.

मुझे उसका लन्ड लोहे जैसा लग रहा था।मैं झड़ने वाली थी।मैंने सूरज से कहा- सूरज, लो थोड़ा पानी पी लो. मैंने अपना लंड उसकी चूत में चलाना चालू कर दिया और उंगलियों से उसकी गांड को मथने लगा. मैं समझ गया कि भाभी की चुत में आग लगी हुई है और उसको मेरा लंड चाहिए है.

वीडियो ब्लू बीएफ मैं उसके लंड को बड़ी हसरत से देखने लगी थी, शायद वो भी मेरी चुदास को समझ गया था. उन्होंने निराशा में मुझे ऊपर खींचने की कोशिश करी लेकिन फिर जब मैंने उनको मौका नहीं दिया तो उन्होंने अपने शरीर को ऊपर खिसका कर मेरे होंठों को अपने स्तनों से अलग कर दिया.

बीएफ पिक्चर देखना है बीएफ

फिर एक रात की बात है कि करीब 1 बजे के आसपास मेरे रूम का दरवाजा खुला. मॉम भी उठ गईं और घुटने के बल बैठ कर अंकल के लंड के सुपारे को चाटने लगीं. पिंकी बोली- मैं दो मिनट के लिए लाईट बंद कर रही हूँ, सब लोग अलग अलग हो जाएँ, म्यूजिक चलेगा और फिर जिसके पास जो आ जाएगा, अगले दो मिनट वो उसी के साथ डांस करेगा.

इसमें किसी भी समय रोगी में सेक्स करने की इच्छा जागृत होती है और सेक्स न होने पर हाथ पैर मारना या बेहोश हो जाना आम बात है. मैं चुदास से पागल मादक सिसकारियां ले रही थी- आह आह उम्म्ह ओह!कुछ देर के बाद मैं उसके कपड़े उतारने लगी. सेक्सी मूवी जंगल वालीउसके अंगों में इतनी मादकता है कि काली होने बावजूद वो मर्दों को अपनी तरफ आकर्षित किया करती है.

दोपहर करीब बारह बजे वापस आया और खाना खाकर लेट गया!मैं- ज़ारा, मुझे नींद आ रही है तुम मुझे तीन बजे उठा देना!ज़ारा- क्यों कहीं जाना है?मैं- हां मिलना है किसी से!ज़ारा- किससे मिलना है?मैं- यार एक तो तुम आजकल सवाल बहुत ज्यादा करने लग गयी हो!ज़ारा- मैं तो बस ऐसे ही पूछ लेती हूं! आप ही आजकल चिड़चिड़े हो गये हो!मैं- छोड़ो तुम! बस मिलना है किसी से!ज़ारा- फाईनेंसर से?पकड़ा गया.

कभी पूछ लिया, तो उनको मैं क्या जवाब दूंगी!मुकेश- ठीक है साली मादरचोद, पहले लंड तो चूस … फिर देख कैसे मैं तेरी मां चोदता हूँ. मेरी सेक्स कहानी के पिछले भागभाभी की सहेली ने चुदाई के लिए ब्लैकमेल किया-2में आपने पढ़ा कि भाभी ने मेरे सरप्राइज के रूप में अपनी सहेली शीना को बुला रखा था.

इसके बारे मैंने नीरू को नहीं बताया … बस तेज तेज उसकी गांड चोदने लगा. मैंने शिवम को रोक लिया और उससे बोली- मेरा और विवेक का जो वीडियो है उसको डिलीट कर दे. अब मुझसे भी ना रहा गया और मैंने भी उसकी पैंट के बटन खोल कर उसका लंड हाथ में ले कर उस ऊपर नीचे करने लगी.

पिंकी चुदवाते हुए मस्ती में बोली- रवि फटी चुत देख कर पूछेगा, तो मैं क्या कहूँगी.

क्या कर रहे हो? यार कोई देख लेगा तो बहुत बदनामी होगी।” मैं थोड़ी नाराज होते हुए रोहित से बोली।अरे रुको ना मेरी जान!” रोहित ने मुस्कुराते हुए बोला और उसने मेरे भगांकुर पर अपने अंगूठे को रखकर घुमाना शुरू किया।उई …. सच में उस समय तो मुझे यही लग रहा था कि अगर कहीं जन्नत है … तो बस यही है. ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरा लंड अंदर किसी दीवार के जाकर टकरा रहा था.

माँ का दूध बढ़ाने की दवादोस्तो, मुठ मारने में तब और ज्यादा उत्तेजना होती है जब कोई लड़की सामने से देख भी रही हो. इस समय अनीता ने अपने एक हाथ को मेरी गर्दन के पीछे रखा हुआ था और दूसरा हाथ मेरी पीठ पर सहला रही थी.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ एचडी

प्लान के मुताबिक मैंने उसके नंगे बदन पर हंटर चलाना शुरू किया और कुछ कोड़े मारे. मैंने कहा- कौन सा सपना?उसने कहा- मसाज करवाते हुए गुलाबी टोपे वाला लंड चूसने का सपना. उसी तेज बारिश में अभिषेक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी चुचियां दबाने लगा और मुझे किस करने लगा.

उसने झुक कर टेबल पर प्लेट रखी और उसके झुकने से दुपट्टे के बीच से उसके दूध की लाइन दिख गई. शाम को क्लीनिक पर बैठते ही मैं अन्दर पहुंचा, तो देखा काफी भीड़ भाड़ थी. तभी वो दोनों अन्दर आते हैं और वो आदमी सोफे पर बैठ गया, जिसको मैं देखने के लिए बेताब था.

संडे के दिन वो थोड़ा देरी से नहाती थी और कमरे से बाहर भी दो-तीन बार आती थी. लड़कियां चुदासी हो रही थीं … सभी की चूत गीली पड़ी थी और उधर लड़कों के लंड का तो तम्बू बना ही रहा. पेमेंट के बाद मैंने वो एटीएम कार्ड शायरा को वापस कर दिया और सारा सामान लेकर शायरा के साथ बाहर आ गया.

डॉक्टर साहब की गांड मारने में मैं ऐसा मस्त हुआ कि मैं उनकी चूमा चाटी भूल गया. कभी छुपकर तो सोते समय खड़े लंड को देखकर कभी तो सोचती कि अपने बेटे से ही चुद जाऊँ!पर ऐसा करने में भी डर लगता था.

मैं- तुम्हारा हज़्बेंड भी कभी मूवी दिखाने नहीं ले गया?वो- उसको तो पैसे कमाने से फुर्सत ही कहां है!मैं- क्यों तुमसे प्यार नहीं करता?वो- प्यार तो तब करे, जब पैसे कमाने से उसे फुर्सत हो.

जिन लोगों को रिश्तों में सेक्स पसंद नहीं हो, वो लोग प्लीज़ इस चुदाई की गन्दी स्टोरी से दूर ही रहें. নেপালি এডালफिर मैंने उसकी गोद से उठ कर मोबाइल में टाइम देखा, तो अभी दस ही बजे थे. सूअर की सेक्सी वीडियोब्लू फ़िल्में देख देख कर मेरा मन और भी ज्यादा करता कि कोई मेरी गांड भी चूस ले और मेरा ग़ुलाम बनकर रहे. पिंकी ने लाईट बंद कर दी … म्यूजिक चला दिया … नाजिया हसन का ‘आओ न प्यार करें …’नई जोड़ियाँ बन चुकी थीं, कौन किसके साथ था किसी को नहीं मालूम था.

ऐसे ही डॉक्टर साहब के बड़े भाई भी मेरे क्लास फैलो थे, वे भी तब मेरे जैसे ही माशूक थे.

उसने करीबन 5-6 बार मेरी चुत की चुम्मी ली और फिर चुत चुसाई में लग गया. अब मेरे हाथ उसके बूब्स पर पहुंच गये और मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा. दुबारा चुदाई के बाद हम दोनों सो गए और सुबह जिस वक्त हम अहमदाबाद में एंटर हो चुके थे.

उस पूरी क्लास में बस मेरी कामुक सिसकारियों की आवाज़ गूंज रही थी- उफ़ हहह … यस आई लाइक इट … ओह्ह फ़क मी … आह आह आह फ़क मी हार्ड अभिषेक … उफ़्फ़फ़ उफ़्फ़फ़ उई मां मैं मर गई आह उफ़्फ़!मेरी आवाजें उसे और भी उत्तेजित कर रही थीं, जिससे वो अपनी पूरी ताकत और रफ्तार से मुझे चोदे जा रहा था. मैंने एक लाल रंग का टीशर्ट पहन लिया था और उसके नीचे काले रंग की लैगिंग पहन ली थी जो मेरी जांघों और गांड में एकदम से कस गयी थी. पिंकी बोली- तुमने उसके अंदर हाथ डाला था क्या?तो धीरज हंस पड़ा- क्यों किसी ने शिकायत की क्या?पिंकी बोली- हाँ शबनम कह रही थी कि सिर्फ हाथ ही डाला लंड नहीं.

वीडियो में सेक्सी बीएफ फिल्म

जैसे कोई मेरे लोअर में नीचे साइड से हाथ डाल कर मेरे लंड से खेल रहा था. वो उसके पास जकर प्यार से उसके सिर पर हाथ फेरते हुए बोली- चिराग बेटा उठ … कॉलेज जाने में देर हो जाएगी. मैं बोली- और लूसी के साथ तुम्हारा क्या चल रहा है, वो भी बता देना?वो बोला- क्या बक रही है!?इतने में मैंने विवेक को फोन कर दिया.

अब तो हालत ये हो गई थी कि जब जब मैं अपने चूतड़ उठाती, वो झट से समझ जाता कि अब उसे अपनी बीवी की गांड चूसनी है.

मगर मैं ऊपर से बोल रही थी- उन्ह … यह क्या कर रहे हो?वो कुछ नहीं बोला और मम्मों को जोर जोर से दबाने लगा.

अब मैंने सन्नी से बेड के नीचे साइड में में खड़े होने को बोला और न्यासा को डॉगी स्टाइल में आने को बोल कर अपना लंड पीछे से उसकी चुत में डाल दिया. नहाने के बाद मैंने ब्रा और पैंटी पहनी और उसे अपनी अंडरवियर और बनियान पहनाई. सोना मेरी शहजादीमनोज बोला- तू कहे तो उसे यहीं बुला लूं, मैं भी चुसवा लूँगा तुम भी चटवा लेना.

मैंने उसे बताया कि मेडिकल मसाज से बहुत सारी बीमारियाँ ठीक हो सकती हैं और मोटापा भी कम हो जाता है. भोसड़ी के, अब उनकी चूत और गांड का भी ऐसा ही हाल करेगा, मैं होने नहीं दूंगी. मैंने उनके मम्मों को सहलाते हुए एक और धक्का दे दिया, मेरा आधा लंड अन्दर चला गया.

इस समय वो एक हाथ से ड्राइवर का लंड हिला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे आंडों को सहला रही थी. आप बताओ आपको क्या चाहिए?मैंने बोला- सोच लो … बाद में मना मत कर देना.

थोड़ी देर बाद उन्होंने खुद ही अपने आप को हल्का सा पीछे किया और दीवार का सहारा लेते हुई अधलेटी स्थिति में आ गयी.

इसी दौरान संजू ने अपनी दूसरी चुची को भी ब्रा से आजाद कर दिया और विक्रम उसका मर्दन अपने हाथ से करने लगा. अब तक शायरा ने अपने हज़्बेंड से उम्मीद लगाई हुई थी … मगर वो उम्मीद पूरी नहीं हुई. तो वो एक भी बार सहमति नहीं देती थी, बोलती थी- मेरे लिए आपका ही लिंग दुनिया का सबसे अच्छा लिंग है.

रामदेव बाबा व्यायाम आपका अब तक जो प्यार मुझे मिला है, उसके लिए आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद. जब लंड अन्दर जाता, तो मेरे लंड के साईड का हिस्सा सरनी की बुंड के गोल गोल चूतड़ों से टकरा रहा था.

तो मैंने अनु उर्फ अनिता की मौसी सास वीणा को दो दिन के लिए मुंबई आकर रुकने का बोला. हम दोनों एक दूसरे की बांहों में लेटे हुए बियर और सिगरेट का मजा ले रहे थे. थोड़ी देर बाद उसने कहा- ज़ोर-ज़ोर से करो … बहुत मज़ा आ रहा है … आहह … आहह … उम्म्ह … ह्म्म्म्म … आआह्ह ह्हहह्ह … फाड़ दो आअज … मेरी चूत को … उफ्फ्फ़ … ह्म्म्म जोर से … तेज्ज … मज़ा आ रहा है.

हिंदी भाभी की सेक्सी बीएफ

मैं अपनी गान्ड उठा कर कुतिया बन गई।अब तेरी चूत नहीं … तेरी गान्ड फाड़ूंगा!”यह सुन कर मैं घबरा गई. मैंने पूछा- मजा आया या नहीं?बिन्नी- मज़ा तो बहुत ही आया, मेरा तो सिर भी तोड़ दिया आपने. जैसा हुआ बस मैंने वही लिख दिया।आप लोगों को मेरी यह देसी होली सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके बताएं।[emailprotected].

और उस वक्त उसकी आंखों में जो मोटे-मोटे आंसू आते थे शायद वक्त भी उन्हें भुला ना पाये!आप लोग भी सोच रहे होंगे कि मैं कहां ये प्यार-मोहब्बत की बातें ले बैठा?तो दोस्तो, एक बात गांठ बांध लो कि जहां प्यार है वहीं संभोग होता है! बिना प्यार या तो वेश्यावृति होती है या फिर बलlत्कार!खैर, मूल बात पर चलते हैं!वो एक ट्रे में चाय लेकर आई. मैं- देख लो एक बार … कुछ पसंद आता है तो देखने‌ में क्या जाता है?उस सेल्सगर्ल के साथ साथ अब तो मैं भी बोल पड़ा, जिससे शायरा मेरी तरफ और भी गुस्से से देखने लगी.

क्योंकि घर पर मेरे बुजुर्ग माता-पिता, भाई-भाभी, भाभी के बच्चे और मेरे बच्चे सब थे.

मेरी चुत पर ढकी मेरी गीली काली पैंटी को भी उसने निकाल फेंका और मेरी चुत में अपना मुँह घुसा कर चाटने लगा. मेरे लंड पर शायरा की चूत अपना दबाव बनाए जा रही थी और मेरा लंड भी नयी नयी चूत में जाकर उछल रहा था. उनके चूचों का साइज़ 36 इंच है और गांड का साइज़ 44 इंच के आस-पास का होगा.

फिर तो मैंने उसके मम्मों को ऐसे चूसा, जैसे गर्मी में कोई पहली बार गूदे वाला आम खा रहा हो. दोनों के कपड़े फिर उतर गए और आज बरसों बाद पिंकी ने रवि के साथ मन भर कर सेक्स किया. और ऐसा करते वक़्त हवा में उठे मेरे पैर मेरे ही चेहरे की ओर दबा दिए, जिससे चुत और भी उभर कर लंड लेने के लिए सामने आ गई.

उसने दोपहर में किसी से कुछ नहीं कहा और इधर उधर की बातें ही होती रहीं.

वीडियो ब्लू बीएफ: भैया का पूरा बदन पसीने से भीग गया था और उसके लंड पर दिव्या और सुनील के लंड से निकला हुआ वीर्य धूप में अलग से ही चमक रहा था. मेरी बड़ी चाची भले ही देखने में काली है लेकिन गदरीली मांसल जांघों वाली और मोटी गांड की मालकिन है.

वह अपने होंठों से मेरे होंठों का रसपान करने लगा और अपने दोनों हाथ मेरे चेहरे से हटाते हुए मेरे बूब्स की तरफ बढ़ाने लगा. मकान मालकिन- तो तुम बाहर घूमा-फिरा करो … किसी से बात करो … दोस्ती करो, तब तो दिल लगेगा. अब आगे की बीवी को चुदवाया कहानी :मेरा काम हो जाने के बाद मैं फिर से सोफ़े पर आकर बैठ गया और पंकज ने सुमन को जाँघों से हटा कर अपनी गोद में बिठा लिया था।उसका लंड सुमन की चूत के ठीक बीचोंबीच था और दोनों लिप किस कर रहे थे।तभी सुमन ने अपनी गाँड थोड़ी सी ऊपर उठा ली और पंकज के गले में अपने हाथों को लपेट कर अपनी एक चूची उसके मुँह में दे दी.

पूरा मोहल्ला उस भाभी को प्यासी निग़ाहों से घूरता रहता था, लेकिन मैंने कभी उसके बारे में गलत नहीं सोचा था.

मामी बोलीं- अब तक तुम क्या करोगे?मैंने कहा- मैं आपकी गांड में देसी घी डालकर आपकी गांड को चाटूंगा. फिर धीरे धीरे बातें फोन पर पप्पी सप्पी की होने लगी और बातों का सिलसिला बढ़ता गया. ब्रा खोलकर मैंने पीछे से उसकी नर्म नर्म चूची पकड़ लीं और फिर उनको हल्के हल्के दबाने लगा.