हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन हीरोइन का सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी गाणे: हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ, आपका लंड खड़ा हो गया है, मगर सॉरी पापा इसको खड़ा करूँगी तभी आप किसी के साथ करने को तैयार होंगे.

सनी लियोन की भजन

कुछ ही देर में मुझे एहसास हुआ कि मेरी चूत के अन्दर गुदगुदाते हुए कुछ तो गर्म सा निकल रहा है, उस वक़्त कुछ अलग सा आनन्द मिलने लगा था. मद्रासी सेक्सी वीडियो मूवीअब मॉम नहीं हैं, यही सोच कर मैंने ढीले कपड़े पहने हैं ताकि रिलेक्स रहूं और ढेर सारा खाना खाऊं.

वैसे अभी मैंने अनीता दीदी की चूत तो देखी ही नहीं… मैं रात का इंतजार करने लगा. मां बेटे का प्यारअब उसकी ओर से कोई विरोध नहीं था, वह भी मेरा सहयोग करने लगी, उस पर भी कामुकता का नशा छाने लगा, उसने मेरे चेहरे को सहलाना शुरू कर दिया.

प्रत्युत्तर में मैंने भी उसे अपनी बांहों में इतनी जोर से भींचा कि उसकी सीत्कार निकल गई और उसके उरोज मेरे सीने में गड़ने से उसे पीड़ा का अनुभव हुआ.हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ: मेरी इन दो दिनों में हिम्मत बढ़ गई थी तो आज मैंने पहले उनकी गाल पे किस किया.

मेरे लंड का सुपारा उसकी मुनिया में जा फंसा, थोड़ी तकलीफ तो उसे हुई, पर उसने कोई परवाह नहीं की.भाभी कस के चिल्लाईं- आआह… मर गई माँआ…मैं झुक कर भाभी के होंठ चूसने लगा और उनके चूचों को मसलने लगा.

बेंगलुरु का सेक्सी वीडियो - हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

हमें उसके साथ आज ही यह मीटिंग जरूर करनी है, वरना हमारा बहुत नुकसान हो जाएगा.हम जहाँ जा रहे थे तो पता नहीं कितने मनचले हमें घूर घूर के देख रहे थे.

क्या बात है आज ऐसे अचानक कैसे? वो भी इतने महीनों के बाद?मीना- अब सारी बात यहीं बताऊं या अन्दर भी बुलाएगी?मोना और मीना अन्दर आ गए और मीना ने मोना को देखते ही पहचान लिया कि वो अभी रोई हुई है, उसकी आँखें सूजी हुई थीं. हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ मैं किचन में जाकर खाना परोसने लगी, तब तक मामा जी भी फ्रेश हो कर बाहर आ गये, हम दोनों साथ में खाना खाने बैठ गये, मैं ठीक से बैठ नहीं पा रही थी, कुर्सी पर गांड रखते ही दर्द सी होने लगती थी, फिर भी मैं बर्दाश्त कर रही थी क्योंकि यह हमारी आखिरी रात थी और मामा को मैं निराश नहीं करना चाहती थी.

अन्तर्वासना के सभी प्रेम पुजारियों को आशिक राहुल की तरफ से एक बार फिर से नमस्कार!प्यारे दोस्तो, मेरी पिछली सेक्सी कहानीतड़पते यौवन को भाई का प्यार मिलामें मैंने बताया था कि कैसे एक रईस परिवार की शादीशुदा कामुक नारी ने अपने एक चचेरे भाई के साथ अपनी काम वासना को संतुष्ट किया था.

हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ?

मैंने कहा- नहीं नहीं, बस पूछना था कि अब कोई दवाई बची तो नहीं है जो देना हो…उसने फ़ाइल देखी और बोली- नहीं कोई बाकी नहीं है. इसके बाद हम लोग बाथरूम में जाकर साथ में नहाये और काफी देर तक फिर से उसके पूरे बदन को और मम्मों को खूब रगड़ा और चूसा।इसमें फिर से गर्मी बढ़ गई तो एक बार फिर से मैंने चूत मारी और उस रात को हम लोग नंगे ही सो गए।फिर बाद में मैंने उसकी गांड भी मारी. मैं एकदम अधमरी सी जोर जोर से चिल्ला रही थी लेकिन मेरी आवाज किसी को सुनाई नहीं दे रही थी.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी चुदाई की कहानी ‘पापा ने अपनी सगी बेटी को चोद दिया’ उम्मीद करती हूँ कि आपको पसंद आई होगी. यह सुन कर भाभी हंसी और बोलीं- ये तो मालूम है कि अब तू जवान हो रहा है… पर अपनी भाभी के बारे में गंदा सोचता है ये पहली बार मालूम हुआ. मुझे जॉब के सिलसिले में कई बार बाहर जाना पड़ता है तो एक बार करीब एक वर्ष पहले मैं मध्यप्रदेश के एक छोटे से शहर नीमच 15 दिन के लिये गया.

मैंने अब क्या किया?संजय- कुछ नहीं मेरी प्यारी पूजा ऐसे ही हँसी आ गई। चल अब तू घर जा ओके।पूजा- मामू वो मेरी चड्डी कहाँ है. अब दोस्तो आप समझ रहे होंगे कि यहाँ क्या होने वाला है? हाँ सही समझे भाई और बहन का मिलाप होने वाला है. कहाँ पे मिलना है, बोलिए?उन्होंने अपने घर का एड्रेस दिया और बोलीं- आधे घंटे में आ जाओ।उसके बाद क्या था.

अब मैं इसी उधेड़बुन में था कि क्या किया जाये और नया लौड़ा कहाँ से ढूंढा जाये. मैंने रजनी से कहा- अगर दीपक उठ गया तो?वो बोली- नहीं उठेंगे, भैया बहुत गहरी नींद में सोते हैं.

मैंने पूछा- तो क्या तुम अब भी चुदती हो पाने चचा से?वो बोली- नहीं… एक बार चाची ने हम दोनों को चुदाई करते पकड़ लिया था तो चाची ने चाचा को खूब डांटा डपटा और दूसरे शहर में तबादला करवा लिया.

आपका ये बहुत बड़ा है!”जमाई- बीस साल के बाद चुदवा रही हो तो दर्द तो होगा ही.

अब आगे हम लोग सुमन की तरफ चलते हैं जहां बाप बेटी सेक्स का खेल चल रहा है. मैं बता दूं कि मेरे बूब्स लड़कियों के जैसे तो नहीं है मगर जितने नॉर्मल लड़कों के थोड़े उभरे होते हैं उससे थोड़े से ज्यादा हैं. मैंने अब भाभी के पेटीकोट के अन्दर हाथ करके उनकी पिछाड़ी के ऊपर के हिस्से में हाथ फेरते हुए मालिश करना शुरू कर दी.

फिर मेरे मन में ख्याल आया कि क्यों ना आज मामा को अपनी चूत की झांटें साफ़ करके सरप्राइज़ दूँ. चाची गुस्से में बोलीं- पागल हो गया है क्या तू… कुछ समझ नहीं आता तुझे. जमीला ने मुझे पूछा- किसका फोन है?तो मैं बोला- कोमल का है, तेरी चूत के हाल पूछ रही है.

शाम को सुमन का दिल बहुत बेचैन था आज की संजय की हरकतें उसे बार-बार याद आ रही थीं और दूसरी तरफ़ उसके पापा का टेंशन भी उसको सता रहा था.

तो भैया ने साफ़ मना कर दिया और मेरा बिस्तर अपने बेड के पास ही लगा दिया. छुट्टी वाले दिन ग्रुप सेक्स की स्टोरी-1पूरे जोर शोर से चुदाई का एक दौर खत्म हुआ तो हम सभी एक साथ नंगे ही बैठ कर ताश खेलने लगे और हँसते हुए बातें करने लगे. स्कूल से 12 वीं पास करने के बाद मैंने ग्रेजुएशन के लिए कॉलेज में एड्मिशन लिया.

संजय ने उसको उठा कर खड़ा किया और उसकी चुत से लौड़ा टच करके कहा- अब इस पर सूसू कर. फिर मामा धीरे-धीरे शांत हो गए, मामा अपना लंड मेरी चूत के अन्दर ही छोड़ कर मेरे ऊपर लेट गए. मेरा तो दिमाग चकरा रहा था कि ये सब हो क्या रहा है।अब चाचा उठे और मेरी माँ को देख कर मुस्कुराते हुए घूम कर नीचे बैठ गये और आरती चाची को अपनी वाली जगह पर वैसे ही लिटा दिया। मेरी माँ ने भी चाचा को निहारा और एक सेक्सी सी स्माइल दी।चाचा ने अपना मुंह आरती की सुलगती हुई चूत पर लगा दिया ‘आआआआ आआअह्ह्ह.

जय ने राहुल को डांट लगाई- इतने बढ़िया माल की तूने अभी गांड देखी तक नहीं? चूतिया है यार तू भी!ये कहते हुए जय ने अचानक से मेरी पैंट खोलने की बजाय उसको खींच कर निकालने की कोशिश करने लगा जिससे पैंट का हुक टूट गया और मुझे थोड़ा गुस्सा आया.

खैर छोड़ो, मैं अपनी रियल सेक्स स्टोरी बताता हूँ!मैं उस समय 23 का था जब यह घटना घटी. मैंने उसके होंठ चूसने शुरू किये और धीरे धीरे उसके बूब्स सहलाने शुरू किये!समीर, तुम्हारे हाथ जब मेरे बदन पर घूमते हैं तो बड़ा अच्छा लगता है.

हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ मैंने पूछा- तुम भारत कब तक आ रही हो?तो वो बोली- मेरे राजा बस एक वीक और इन्तजार कर लो. सजंना अपने घर वालों से बहाना बनाकर आ गई और बस स्टैंड के नजदीक आकर उसने मुझे फोन किया.

हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ जमीला की गांड दूसरे किनारे पर पहुँच गई तो मैं रफीक से बोला- तुम अब नीचे खड़े होकर जमीला की चूत चोदो. हमारा प्रोजेक्ट खत्म होते ही, हम दोनों फिर से एक बार मस्ती करने के लिए फ्री हो गयी.

मैं अभी कुछ देर और उसके ऊपर ही लेटा रहना चाहता था लेकिन मेरे लिंग के सिकुड़ कर माला की योनि से बाहर निकल जाने के कारण योनि में से निकल रहा दोनों का मिश्रित रस बिस्तर गीला करने लगा था.

बीएफ देखना है हिंदी में

अब दोस्तो आप समझ रहे होंगे कि यहाँ क्या होने वाला है? हाँ सही समझे भाई और बहन का मिलाप होने वाला है. वह कुछ कह नहीं पा रही थी लेकिन बात अपने होठों के नीचे दबा वह अपनी तरह को छुपा रही थी ‘अम्म्ह अह मम्मम आअह्ह’मैं उसकी चूत चाट ले जा रहा था, इतना स्वादिष्ट रस मैंने आज तक नहीं चखा था. अब वो मुझे नोचने लगी थी और इससे पहले कि वो मेरी टी-शर्ट को फाड़े, मैंने उसे खुद ही उतारना ज्यादा बेहतर समझा.

ममता ने एक के बाद एक सवाल पूछने शुरू कर दिए- भाभी, कहाँ हैं बच्चे कितने हैं वगैरह वगैरह. ’अनीता इस सोंग पे डांस करती है और तिवारी को रिझाना चालू रखती है और फिर अपने रूम में कुछ ढूँढने चली जाती है. मैंने चुदाई ज़ारी रखी तो कुछ ही पलों बाद वो भी अपने चूतड़ उठाकर चुदवाने लगी थी.

किसी को नहीं छोड़ा, मेरे मामा के बेटे गेस्ट आए थे, उनकी भी मार दी थी। तब घर में बहुत हल्ला हुआ आपने तो कुछ नहीं कहा। पर सोचा न था आपके साथ भी करेंगे आई एम सो सॉरी।मैंने कहा- हाँ बड़ी बात है.

मेरे लिए खुद पर काबू करना मुश्किल हो रहा था और मेरा लंड भी धीरे-धीरे कड़क होने लगा था. हमने स्थिति को समझ कर अपने लंड मुंह से बाहर निकाल लिए और मेरी बीवी ने कृतज्ञता स्वरुप अपनी नर्म-गुलाबी जीभ को नुकीला कर उनके टोपों को चाटना जारी रखा. कविता ने एक लम्बा घूँट लिया तो रीना ने बियर एक ओर रख दी और झपट पड़ी कविता के ऊपर.

जब वो मुझे रोटी दे रही थी तो उसकी बाजू पे एक निशान था शायद वो सुमित ने आपने दांतों से काटा होगा. मोहन- हेलो जमीला डार्लिंग, कैसी हो और खूब चुदवा रही हो दो दिनों से राजेश से?जमीला- क्या बताऊँ यार, ये राजेश का लौड़ा बड़ा मस्त है और चोदता भी मस्त है. धीरे धीरे मेरा हाथ उस की योनि की ओर बढ़ा… तबी मुझे एकदम गत रात्री की याद आई.

सुमन अच्छी तरह जानती थी कि उसकी माँ किचन से एक घंटे पहले बाहर नहीं आने वाली. मैं मामा से बोली- एक बात पूछूँ?मामा बोले- हाँ पूछो?मैं बोली- आपका लंड इतना ज्यादा और इतनी ज्यादा गर्म पानी कैसे छोड़ता है?तो मामा बोले- पहली बार मैंने चुदाई की है ना.

‘उसका तो मैं रोज चूसती हूँ, लेकिन इतना हैवी लंड तो मेरे मुंह को रोज-2 नहीं मिलेगा!’ एंड्रयू के लंड को पूरा का पूरा अपने हलक में उतारने की चेष्टा करते हुए मेरी बीवी ने मुस्कुरा कर उत्तर दिया. मैंने फिर अपने होंठ चाची के होंठों पर रख दिए और उनके मम्मों को भी दबाने लगा. फिर छोटी दीदी को सुहागरात के बाद बड़े जीजाजी से चूत चुदाई करवाते देखा.

वो बस मुझे किस करने में बिजी रही, लेकिन मेरा अगला धक्का लगते ही उसका शरीर जैसे कांप उठा, उसकी साँसें तेज हो गईं और वो मुझे ऊपर से हटाने की कोशिश करने लगी.

फिर मैंने अपने होंठों को उनके होंठों पर रख कर दूसरा झटका दम से लगा दिया. मैंने भी उसका टॉप उसकी चूचियों से ऊपर उठा दिया और कैप्री को नीचे घुटनों तक खींच दिया. चूत देखने के नशे में मैं ऐसा खोया कि मुझे पता ही नहीं चला कि मैं कब झड़ गया मेरा पैंट और चड्डी दोनों गीली हो गईं.

अपने घर से कुछ दूरी पर जहाँ बस स्टैंड था, वहाँ एक करीबन 40 साल की आंटी बस का इंतजार करती हुई खड़ी थीं. टीवी देखते देखते अचानक से मामा ने मेरे टॉप में हाथ डाल कर मेरी ब्रा के ऊपर से मेरे चूचों को दबाने लगे.

उसे मैं अक्सर सोसाईटी में बड़े टाइट कपड़ों में सुबह सैर करते हुए देखता था. मैंने अपने एक हाथ को नीचे ले जाकर उसके शर्ट के अंदर से उसके पेट पर रखा तो मानसी के मुँह से कंपकंपाती सिसकारियाँ निकलने लगीं. उन्होंने फ्लॉरा की कमर को कस कर पकड़ा और दे दनादन गांड की ठुकाई शुरू कर दी.

तीरपल एकस

मैंने उससे पूछा- कुछ गलत हो गया तो?वो बोली- चिंता मत करो, फिलहाल सेफ टाइम है.

चाची बोली- ठीक एक शर्त पर!‘शर्त? बताइए मैं सभी शर्त मानने को तैयार हूँ…’ मैं बोला. सुमन कमरे में आ गई और बिस्तर पर बैठ कर बड़बड़ाने लगी- मुझे पता था माँ, आपका जबाव ऐसा ही होगा, इसी लिए मैंने रात को ही फैसला कर लिया था कि मैं पापा को उनके हिस्से की ख़ुशी ज़रूर दूँगी, चाहे उसके लिए मुझे कुछ भी करना पड़े. लेकिन चंगेज़ अब झड़ने की कगार पर पहुँच चुका था और उसने जल्दी ही अपना लंड मेरी जान से प्यारी नताशा के मुंह से बाहर निकाल लिया और मुट्ठी में भर कर उसे मेरी बीवी के मुंह के सामने दोहने लग गया.

इनकी बुआ का लड़का मनोज जो अभी 25 साल का है, उसकी अभी शादी नहीं हुई है, हमारे यहाँ अकसर आता जाता रहता है क्योंकि बुआ का गाँव पास ही है और मनोज भैया अभी पढ़ाई कर रहे हैं. ऐसा लग रहा था कि जैसे वे मुझे अपनी चूत में समा लेना चाह रही हों।उसके बाद उन्होंने मुझे कहा- यार … अब बर्दाश्त नहीं होता. इंग्लिश वीडियो सेक्सी वीडियोमैंने फिर से नेहा का हाथ पकड़ा और अपने हाथ में ले कर लौड़े को लोअर के ऊपर से ही पकड़ा कर रगड़ने लगा.

अगले दिन जब वो स्कूल से घर आई तो मैं पहले से उसका इंतजार कर रहा था. अब अगर तुम भी मुझे दोस्त मानती हो तो अपनी लाइफ के बारे में कुछ बताओ।फ्लॉरा- व्ववो टीना बात दरअसल ऐसी है.

सीधे कहूँ तो दोनों तरफ आग बराबर लगी थी या शायद उसमें मेरी सोच से भी बहुत ज्यादा लगी थी. अब हम दोनों जंगली हो चले थे सब्र किसी में भी नहीं था… मैं उसकी साड़ी उतारने लगा तो उसने मना कर दिया, उसने कहा- कोई आ भी सकता है, साड़ी नहीं खोलूंगी. आपका लंड खड़ा हो गया है, मगर सॉरी पापा इसको खड़ा करूँगी तभी आप किसी के साथ करने को तैयार होंगे.

मजा तो बहुत आ रहा था लेकिन मुझे चुदाई के लिए भी बेचैनी बहुत हो रही थी. कमाल का तराशा हुआ 34-30-36 का एकदम बेदाग़ गोरा बदन मेरे सामने नंगा था. ये किस्सा उस स्थिति का है, जब सविता भाभी अपनी सहेली शोभा से अपने मादक जीवन की एक घटना का जिक्र कर रही थीं.

बिल्डिंग में सभी लोग निखिल से नाराज थे, दोनों का प्रेम प्रकरण एक बड़ी चर्चा का विषय बन गया था.

आज ही क्लाइंट से मिलना है और उसे अंडरगार्मेंट्स की डेमो देनी होंगी. रात को हम जब रिसेप्शन में मिले तो वो ज़्यादा खुश और प्यारी लग रही थी.

सुमन ने इशारा दे दिया तो गुलशन जी आगे बढ़े औरबेटी को नंगी कर दियाअब वो ऊपर से नीचे तक सुमन को निहार रहे थे और मन ही मन अपनी कामयाबी पे खुश हो रहे थे, उन्होंने सुमन को बिस्तर पर लेटाया; उसके नर्म होंठों को अपने होंठों से जकड़ लिया और फिर एक लंबी किस के बाद वो सुमन की जीभ को चूसने लगे. वो ढीली हो गई थी, मैं उसे जोर-जोर से चोदने लगा और कुछ मिनट बाद मैं उसकी चुत में झड़ने को हो गया. वो जोर से चीख भी रही थी- ओह ओह सी सीईईईइ आह्ह्ह सी उई अशोक जोर से एई एई उईई अशोक खूब जोर से ईई उईई ओफ्फ्फ हो जोर से आआऐईइ आई…!हर धक्के पर चाची आई उई कर रही थी.

हम एक दूसरे से बात कर रहे थे, बातों बातों में मैंने उनसे गेट वाली बात का ज़िक्र किया कि उन्होंने मुझसे झूठ बोला, वो बोली- झूठ तो मैंने बोला है पर तुमसे नहीं. ये पानी कहाँ निकालूं?‘मेरी सूखी चूत में… इतने दिन बाद इसका सावन आया है, अपना रस मेरी चूत में ही निकालना. टीना- अच्छा अच्छा ऐसे तुमको मज़ा नहीं आएगा उस दिन क्या हुआ वो विस्तार से बताती हूँ.

हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ और वैसे भी शायद तुम्हें याद नहीं लेकिन तुमने कहा था कि ये लंड मेरा है और मैं जब चाहूँ इसे प्यार कर सकती हूँ. आपको मेरी राह देखनी पड़ी इसलिए क्षमा चाहूंगी। कुछ जरूरी कामों में उलझ गयी थी.

चुत लैंड की सेक्सी वीडियो

उसकी कराहें मेरे लंड को पागल कर रही थी उसकी चूत ने मेरे लंड को कस कर पकड़ लिया था. लेस्बियन शब्द सुन के तिवारी को भी मानो एक झटका सा लगा और अपने नाख़ून मुंह में दबाते हुए बोला-लेस्बियन भाबी जी…?अनीता अपने हाथ मुंह से हटाते हुए बोली- सॉरी तिवारी जी बेस्ट फ्रेंड की आने की ख़ुशी में हड़बड़ाहट में न जाने में क्या बोल गयी. नींद खुलते ही मैं ये सब नजारा देख कर शर्मा गई, जल्दी उठ कर मैंने कपड़े पहन लिया, फिर मैं मामा के नंगे बदन को देखने लगी, क्योंकि मैं रात में मामा के लंड को ठीक से देख नहीं पाई थी, अभी तो मामा नींद में थे.

भाभी शर्मा गईं और बोली- अच्छा जी, बदमाशी भी कर लेते हो?मैंने कहा- शुरुआत तो आप ने ही की है. इस समय मेरी भार्या मस्ती में घूघूघू… की आवाजें निकालते अमरीकी मेहमान का तना हुआ मोटा लंड चूसने में लगी हुई थी. పంజాబీ సెక్స్मन किया कि अभी इनके सारे कपड़े निकाल कर इनको चोद डालूँ, लेकिन मैं ऐसा नहीं करना चाहता था.

मैं राजीव को मना ही करने वाली थी कि रिया बोल पड़ी – वैसे तो हम एक रात का अकेली 25000 लेती हैं.

यहाँ का हर कमरा काफी सुरक्षित भी था क्योंकि यहाँ पर कोई आता जाता नहीं था. लेकिन जब वो दोपहर को सो रही थीं तो मैंने उनकी पैरों में गुदगुदी की, लेकिन जब कुछ हलचल नहीं हुई तो कुछ आगे बढ़ा और दीदी की जाँघों तक पहुँच गया, पर वहीं रुक गया.

आज जाकर अपनी चुदाई की देसी कहानी या कहिए अपनी आपबीती आपको बताने जा रहा हूँ. !मैंने जल्द से उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया और उसे चुसकने लगा. और उस काले हब्शी को बाथरूम में बुला कर उसका मोटा लम्बा लंड पकड़ लेती है.

उसकी बातें सुनता हुआ मैं शान्त चुपचाप पड़ा रहा उसके ऊपर!‘राजा तुम धक्के मत लगाना… हाँ मैं आई… आ गई… मेरे दूध कस के पकड़ लो… मैं चुद रही हूँ अपने स्वप्न पुरुष से… झड़ रही हूँ अब… ये लो ये लो आह… आज मैं तृप्त हुई अंकल राजा!’ वो मिसमिसाते हुए ऐसे बोल बोल के झड़ने लगी.

हर तरह की गंदी हरकत मैंने उस से करनी शुरू कर दी, और वो भी हंस हंस कर मेरा हौंसला बढ़ाती, और खुद भी मुझसे गंदी गंदी बातें कर लेती थी. दो घंटे के सफर के बाद हम सब चंडीगढ़ नहीं, बल्कि पंचकुला गए, वहाँ पे हमारा एक और दोस्त था, जिसे हमने सारी ज़िम्मेवारी सौंपी थी. मैंने उसे किस किया, उससे पूछा- कैसा लगा?तो बोली- बहुत मजा आया आज!मैं उसे किस करने लगा.

ब्रेन ट्यूमर क्या हैमैंने ध्यान से देखा कि मैंने तो पतला वाला कॉटन का गाउन पहना है, जिससे छत की लाइट में मेरे मम्मों का आकार थोड़ा थोड़ा समझ आ रहा है. मैंने उसे अपने से अलग किया तो उसे लगा कि मैं वहां से जाना चाहता हूँ.

हिंदी बीएफ बोलती हुई

मैंने अपना लंड वहाँ रखा और जैसे ही अंदर को धकेला, मेरा लंड किसी गीली, गरम और बड़ी मुलायम सी जगह में घुस गया. फिर मैंने अपना हाथ उसकी ब्रा में डाल दिया और उसके निप्पल को दबाने लगा. काम पिशाच-1तीन चार दिन बाद मेरा लुल्ला बिल्कुल ठीक हो गया, मगर इन दिनो में मैं मौसी से इतना खुल गया, इतना घुल मिल गया कि मुझे जैसे उसके बिना सांस ही ना आती हो.

जवाब में पूजा भी मुस्कुरा दी और वो अब अपने सामने के नज़ारे के मजे लेने लगी. हहहहहाआअहा… तो आपने इसका नाम पिंकी रख लिया अब!” बहू रानी खुल कर हंसती हुई बोली. मैं वहीं खड़े होकर सब देख रहा था, तभी रजनी ने वहीं खिड़की की तरफ करवट ली.

उसने अपना नाम सुमन बताया और हम दोनों ने अपने मोबाइल नंबर एक दूसरे को दे दिए थे. हाय दोस्तो, मैं निकिता फिर से एक बार आप सबको मेरी धांसू चुदाई की मेरी इंडियन चुदाई कहानी सुनाने आयी हूँ. मैं धीरे-धीरे ऊपर गया तो मैं हैरान हो गया कि दीदी पड़ोस वाले लड़के सुमित की गोद में बैठी थी.

काम पिशाच-1तीन चार दिन बाद मेरा लुल्ला बिल्कुल ठीक हो गया, मगर इन दिनो में मैं मौसी से इतना खुल गया, इतना घुल मिल गया कि मुझे जैसे उसके बिना सांस ही ना आती हो. उसका लंड ढीला होकर मेरी चुत से फिसल गया और फिर पीटर मुझे वैसे ही आगे ड्राइंग रूम में लेकर गया और मुझे सोफे पे लिटाया।साथ में वो भी मेरी चूचियों पे सर रख के लेट गया.

थोड़ी देर बाद उसने मुझे एक नीले रंग की बिकनी दी और उसे पहन कर दिखाने को बोला.

मेरे भाई ने लंड को मेरी चूत से निकाल लिया और मेरी गांड में डालने लगा. क्लासिक मिशनरी क्या हैआज की कहानी विनय और रीना की है, जिनकी शादी छह महीने पहले ही हुई है. इंडियन सेक्सी डॉक्टरपीछे से ऋतु ने बिना कोई वक़्त गवाएं झुक कर अपना चेहरा उसकी काली चूत पर टिका दिया और चूसने लगी. मैंने भी अब ठान लिया था कि प्राची भाभी को उसी के अंदाज में ही जवाब देना है.

‘मदद? कैसी मदद?’ तिवारी के मन में मनों लड्डू फूट रहे थे, वो सोच रहा था कि शायद उस पल का ज़ल्दी से ही अंत होगा जिसका उसको बेसब्री से इंतज़ार था, सालों की तपस्या मानो खत्म होने को थी, उसने सोचा कि शायद अनीता उसको अपना नंगा बदन दिखाना और उसके साथ सोना चाहती हो.

प्रेम ने सविता से बातचीत शुरू की कि आपकी सहेलियों ने बताया है कि आप कुछ परेशान हैं. सविता ने खुद ही लंड चूत पर सैट किया और मैंने धक्का देकर उसकी चूत में लंड पेल दिया. मैं- किस रात के लिए?अनुराधा- उस दिन जब तुम किस करना चाहते थे और मैंने तुम्हें मार कर भाग गई थी.

अब बचे दो लड़के, उस दोनों ने मेरे दोनों हाथों लंड पकड़ा दिया और आगे पीछे करने को बोला. फिर मैंने बहूरानी के पैर मोड़ कर ऊपर कर दिए जिससे उनकी चूत अच्छे से उभर गई, मैं चूत को निहारने लगा. स्लो मोशन डांस की अदा दिखाते हुए मेरी पत्नी ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया और अंतिम क्सक्सक्स सीन में जब कैमरा उसके वीर्य सने चेहरे पर आया तो नताशा ने अंतिम डायलॉग के रूप में अपने होठों को गोल करते हुए, अपनी सदाबहार मुस्कान के साथ कहा- मेरी आज की ये परफॉरमेंस मैं अपने प्यारे हसबैंड को डेडीकेट करती हूँ… आई लव यू डार्लिंग!!!मेरी बीवी की चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लगी?[emailprotected].

ब्लू पिक्चर सेक्सी दिखाइए वीडियो

भले ही कुछ भी हो, ऋतु थी तो एक गर्म जवान महिला… कब तक मर्यादा के नियंत्रण में रहती, ऋतु ने खुद को बचने के लिए उठने की नाकाम कोशिश की, इसी कोशिश में उसने अपनी चूत से हाथ हटा दिया. उसके स्कूल जाने के बाद मैंने उसके कमरे की तलाशी ली तो गैस स्टोव के पास एक प्लास्टिक बोतल में एक वाइट पाउडर मिला, जिसे मैंने उंगली में ले कर टेस्ट किया, तो पूरी जीभ झनझना उठी. भाभी ने कहा- आह्ह्ह ह्ह्ह्हहमैंने कहा- डार्लिंग मुझे पता है कि तुझे बहुत टाइम से चोदा नहीं गया है.

इसका एक कारण तो हम सब जानते हैं कि टीना की संगत का असर था और दूसरा उसने ऐसे-ऐसे टास्क कर लिए थे, जिससे उसकी वासना जाग गई थी.

क्या बात है आज ऐसे अचानक कैसे? वो भी इतने महीनों के बाद?मीना- अब सारी बात यहीं बताऊं या अन्दर भी बुलाएगी?मोना और मीना अन्दर आ गए और मीना ने मोना को देखते ही पहचान लिया कि वो अभी रोई हुई है, उसकी आँखें सूजी हुई थीं.

जब मेरा वीर्य निकला तो वो सारा ऐसे पी गई जैसे बच्चा दूध पीता है, वो कुतिया आखिरी बूंद भी निचोड़ कर ले गई मेरे लंड से!‘तुम दोनों अब अपनी जगह बदल लो!’ मैंने सन्नी और विकास को कहा. लगभग 10-15 पिचकारियों के बाद मेरा तूफ़ान शांत हुआ और वीर्य को उसकी बच्चेदानी के मुंह तक भर दिया. लड़कियों को रात में कैसे सोना चाहिएथोड़ी देर में मैं कमरे के अन्दर आई और आइने के सामने खड़ी हो गई और अपने मम्मों को देखा.

हमें उसके साथ आज ही यह मीटिंग जरूर करनी है, वरना हमारा बहुत नुकसान हो जाएगा. मैंने देखा कि भाभी की चुत से खून आ गया, तब पता चला कि भाभी वर्जिन थीं. चलिये अब कहानी पर चलते हैं, जैसा कि शीर्षक से ही लग रहा है कि चूत की भरमार है इस कहानी में.

फिर बताती हूँ कि क्या करना है।संजय ने अपने कपड़े निकाल दिए, तब तक पूजा भीएकदम नंगी हो गई थी।संजय- ले मेरी जान हो गया नंगा. गुलशन जी की बात सुनकर सुमन को बहुत दुख हुआ और वो अपनी माँ को कोसने लगी.

वो खुद भी पीछे की तरफ चूतड़ों को हिला-हिला कर चुदाई में साथ दे रही थी।मैंने उसको गोद में उठा लिया और खड़ा होकर अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया। वो मुझसे लिपटी हुई थी.

ऋतु ने मेरी चड्डी एक झटके में नीचे करके मेरे फड़कते हुए लंड को अपने नर्म हाथों में लेकर ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया और फिर उसे चूसने लग गई. मैं अपने हाथ को काफी समय से उसके लंड के आगे रेलिंग की पाइप पर रखे हुए था. थोड़ी देर में मेरे मस्ताना की नसें फूलने लगी और मेरे मस्ताना से जोर से पिचकारी मारी जो सीधे सबीना के गले में गिरी.

सट्टा किंग की खबर सट्टा किंग की खबर उसके दो बड़े बड़े सुंदर बूब मेरे सामने थे… वो तो मानो काम की देवी लग रही थी और मैं उसके बूब्स को मसलने लगा. मैंने उसे नीचे से ऊपर की ओर देखते हुए मुआयना किया और दिल से आवाज आई ‘परफेक्ट…’ चौड़े चौड़े मजबूत पैर उसके जीन्स के नीचे से दिख रहे थे जो काफी गोरे थे, जिन पर हल्के हल्के बाल थे, नाखून में थोड़ी मिट्टी लगी हुई थी जिससे यह पता चल रहा था कि वह कोई गांव का मजबूत चोदू लड़का है, और वह नंगे पैर ही वहाँ पर बैठा था.

क्या सोचने लगे?गुलशन जी की तो हालत देखने लायक थी मगर उन्होंने कुछ ग़लत नहीं सोचा और सुमन की गर्दन पर धीरे-धीरे दबाने लगे. मैंने कहा- पण्डित जी, आपको जब भी स्वाद चेंज करने का मन हो तो बोलियेगा, मैं बना दिया करुँगी. मेरी चीख सुनकर पूल में चुद रही रिया ने कहा- निक्की, मुझसे पहले दो दो लंड डलवा लिए तूने कमीनी… अब देख मैं इन तीनों के लंड निचोड़ती हूं.

सेक्स बीएफ भोजपुरी

जॉन की चिकनी चुपड़ी बातों में फ्लॉरा ये भूल गई कि वोएकदम नंगी हैऔर अभी वो ग़लत सही की बातें कर रही थी. अगर कभी मौका मिले तो करोगी?फ्लॉरा- अंकल सच बताऊं तो मेरी चुदाई की शुरूआत ही रिश्तों से हुई है और मेरा बहुत मन था कि आपके जैसा तगड़ा लंड हो और बड़ी उमर का कोई हो, उससे मैं चुदाई करूँ. गोपाल वहां से चला गया नीतू ने उसको चाय दे दी और तब तक मोना भी उठ गई थी.

ऐसे ही बातों-बातों में सरिता और मैं काफी खुल गए हम दोनों ही एक दूसरे को समझ गए थे, दोनों ही खिलाड़ी थे. जब किसी को आपके लंड से चुद कर खुशियाँ मिलतीं है तो ऐसी खुशियाँ मैं हर एक असंतुष्ट महिला या लड़की को देना चाहूंगा.

माँ तुम्हारी चूत बहुत मजा दे रही है और इसने मेरे लंड को अपने अंदर कस लिया है.

चुदाई के दरमियान मैंने कुछ पोजीशन बदलकर उनके साथ सेक्स करना चालू रखा और उनके चुचे दबाना और चूसना और उनके गले पर बाइट करना चालू रखा।एक लंबी चुदाई के बाद अब मेरा झरने का समय आ गया था। इस दरमियान वो दो बार झड़ चुकी थी. अब शायद वो भी समझ गया कि मैं कहाँ और क्यों देख रहा हूँ लेकिन उसने फिर से आँखें बंद कर लीं और ऐसा करते हुए एक बार अपनी जिप वाला भाग हल्के से खुजला दिया और ऐसा करने से उसका सोया हुआ लंड उसके लेफ्ट हैंड की तरफ साइड में दिखने लगा. फिर मैंने सन्नी और विकास को इशारे से अंदर आने के लिए कहा तो ऋतु दरवाजे के पास खड़ी हुई नंगी ही उनका वेट कर रही थी.

ऋतु ने बताया कि उसके पति राहुल काम के सिलसिले अकसर बाहर रहते हैं इसीलिए उन्होंने किरायेदार रखा है. 5 मिनट बाद रफीक ने कंडोम उतारकर अपना लण्ड जमीला के मुँह में और मैंने जैसे ही लण्ड बाहर निकाला तो खुद सबीना ने कंडोम निकाल कर फेंक दिया और मस्ताना को चूसने लगी. ये सेक्स कहानी भी मेरी एक सत्य घटना है, जिसमें आप लोगों पढ़ेंगे कि कैसे मुझे अपने बिजनेस को बचाने के लिए अपने दो अफ्रीकन क्लाइंट्स से चुदना पड़ा.

‘रहने दो भाभी… चाय पानी के चक्कर में टाइम ख़राब मत करो; आप लोग तो जल्दी से चुदाई का चक्कर चलाओ अब.

हिंदी में बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ: मैं उन्हें गोद में उठाए हुए किस करते करते ही उनके साथ किचन में गया. ये जहर सिर्फ़ अपनी मर्ज़ी से छोड़ता है, बाकी किसी गर्मी का इस पर कोई असर नहीं होता.

मैं आप दोनों की खुश मिजाज जिंदगी के लिए गॉड के सामने कैंडल जलाऊँगी।मेरी ने तो हम दोनों को बिलकुल सेन्टी कर दिया।मैंने आगे बढ़कर उसे अपने आगोश में लिया। उधर रिया भी अपने आंसू पोछते हुए ग्रुप हग” कह कर हमारे गले लग गयी. काफी लम्बी चुदाई के बाद स्मृति ने कहा- यार, कुछ हो रहा है मुझे…उसका जिस्म अकड़ने लगा था यानि वो अब झड़ने की कगार पर थी. खैर मेरा नाम आर्यन सिंह है, मैं उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में रहता हूँ, मैं 21 साल का हूँ, मेरी लम्बाई 5’8″ है, मेरे लंड की लम्बाई 7 इंच है.

कमाल का तराशा हुआ 34-30-36 का एकदम बेदाग़ गोरा बदन मेरे सामने नंगा था.

मैंने पूछा- वो लोग क्या कोई फीस लेते हैं?तो रूबी ने बताया कि वह सब वैशाली करेगी. सासू माँ को लगा कि आज यह लौकी जैसा लम्बा लंड मेरे गले को फाड़ता हुआ पेट तक जा कर मानेगा. इसी लिए उनसे नॉर्मल हो जा, फिर वो ध्यान नहीं देंगी और तू अपना काम करती रहना.