बीएफ बंगाली वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी गर्ल्स लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ चूत बीएफ बीएफ: बीएफ बंगाली वीडियो, उसने मुझे बैठने का इशारा किया, अब मैं उनके स्तनों को अपने मुँह में लिए था.

भाभी की बुर चुदाई वीडियो

जैसा कि आपने मेरी पिछली कहानी में पढ़ा था कि हाल ही में मेरे पति का तबादला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर ज़िले में हो गया था. सनी लियोन सेक्सी एक्स एक्स वीडियोमैंने आंखों से उनको झूठा गुस्सा दिखाया पर उन्होंने मुस्कुराते हुए मुझे अपनी ओर खींच लिया.

मैं एक छोटे से शहर में रहता हूँ … इसलिए मैं अपनी और अधिक जानकारी नहीं दे सकता हूँ. সেক্স ভিডিও ভিডিও সেক্স ভিডিওसाला मेरी चूचियों, चूत की कल्पना में खोया हुआ था।मैंने चाय खत्म की और बाथरूम में घुस गयी।नहा धोकर मैं जब निकली तो मैंने शरद को तेजी से मेरे कमरे के बाहर जाते हुए देखा।उस समय मैं तौलिया लपेटे हुयी थी।मैं मुस्कुराई.

मैंने उसको उल्टा लिटा दिया, उसकी गांड में थूक लगा कर लंड घुसा दिया और चोदने लगा.बीएफ बंगाली वीडियो: पहले एक फिर दो फिर तीन उंगलियों से मैंने मैडम की गांड को ढीला किया.

वैसे तो मैंने इससे पहले भी चूत चाटने का मजा लिया था मगर जिन्दगी में आज पहली बार किसी की चूत चाटने में इतना ज्यादा मज़ा आ रहा था कि चूत से मुँह हटाने का मन ही नहीं हो रहा था.फिर भी वहां पोल पर लगी लाईट से धीमी धीमी रोशनी आने के कारण हम दोनों एक दूसरे को देख पा रहे थे.

सेक्सी सानिया - बीएफ बंगाली वीडियो

बेटा मैं चाहती तो अपने ऑफिस में किसी मर्द को पटा लेती या कोईकिराये का मर्दबुला सकती थी.मैंने अपना लण्ड बाहर निकाला, नाज के चूतड़ उचकाकर एक तकिया उसके चूतड़ों के नीचे रखा.

मैं किसी कुत्ते की तरह आंटी की पकौड़ी सी फूली चुत को चाटे जा रहा था. बीएफ बंगाली वीडियो ‘ऊह्ह ह्ह यस्सस आअह्ह मर गइईई ईश्श …’हम दोनों को बहुत ही मज़ा आ रहा था.

” मैं मुस्कुराते हुए बोला और उसकी बांहों को पकड़कर अपने ऊपर लेटा लिया.

बीएफ बंगाली वीडियो?

अगले हफ़्ते रश्मि ने कहा- एक और स्क्रीन टेस्ट देना है, मुझे जाना पड़ेगा. मैंने उसकी ओर देखा, वो एक झीना सा नाईट गाउन पहन कर मेरे सामने बैठी थी. थोड़ी देर बाद वो लंड से चुत निकाल कर उठ गई और लंड को पकड़ कर अपनी गांड में दबाने लगी.

इसका मतलब साफ़ था कि दीदी को भी चूचियों को रगड़वाने में मज़ा आने लगा था. खैर मेरी कमर पकड़कर उन्होंने जोर लगाया तो थूक की चिकनाई से उनका लण्ड फिसल गया और मेरी पीठ पर आ गया. इधर अरविन्द ऊपर आकर मेरे माथे पर किस करने लगे और अपने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को दबाने लगे.

दीदी कुछ टाइम बाद झड़ने वाली थीं कि उन्होंने मुझे जोर से गले लगाते हुए मुझे अपने ऊपर ले लिया. वो बोलीं- इस बार मैं किसी काम से जा रही हूँ और मेरे पास समय नहीं होगा … पर मैं वहां एक टूरिस्ट गाइड को जानती हूँ … उसका वह नंबर दे दूंगी. चूंकि मेरे जीजू के छोटे भाई की वाइफ को गांव वाले घर में बच्चा हुआ था, तो जीजू दीदी और बच्चे गांव जाने वाले थे.

मैंने अपना बैग पैक किया और चलने को हुआ, तो मैडम ने कहा- कुछ घास एडवांस में भी चलेगी?मैंने हंस कर उनके उठे हुए मम्मों को देखा और कहा- जी नहीं मैडम, मैं पूरी घास एक बार में ही खाऊंगा. उनके होंठ मेरे होंठों से, सीना सीने से और जांघें जांघों से मिली हुई थीं.

उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी लोवर में डाल दिया और अपनी चूत पर रख दिया.

नीचे उनकी चुत … आह क्या बताऊं दोस्तो … मेरी बुआ सच में इंटरनेशनल रांड लग रही थीं.

कुछ देर एक उंगली से ही चुत को ढीला करने के बाद मैं अपनी दो उंगलियों से उसे चोदने लगा और उसकी चूत को चाटने लगा. गांव में गाय, भैंस, बकरी, मुर्गी पालन करने वाले लोग मेरे ग्राहक थे. अपनी उंगली की टपोरी को उसके चारों और घुमाने लगी और छिद्र पर दबाव देने लगी.

कुछ मिनट तक वो मेरी गांड पर थप्पड़ मारता रहा और अपना लंड हिलाता रहा. सरिता भाभी ने फिर अपना अगला दांव फेंका और विजय से कहा कि जरा ऊपर से चीनी का डिब्बा उतार दो. मैं सीधा हुआ और अपनी आरू की टांगों के बीच में बैठ कर उसकी टांगें अपने कमर पर रख दीं.

यहां मैं चड्डी पहने अपने रूम में गया था मगर मेरा लंड अभी भी बैठ नहीं रहा था.

मेरी रण्डी माँ की सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सेक्सी माँ को अपने पापा के दोस्त के बड़े लंड से रंडी की तरह अपनी चूत चुदाई करवाते देखा. वो अपनी मैक्सी पहन कर और कमरे का दरवाजा बंद करके गेट खोलने चली गईं. एक दो दिन की बात होती तो चल जाती, लेकिन पिछले 4 दिन से रोज लंड झड़ा हुआ मिला.

थोड़ी सी चुम्मा चाटी करने के बाद मैं पारले जी बिस्कुट लेकर अपने घर वापस आ गया. वो लंड देख कर कहने लगी कि य…ये क्या है … इतना बड़ा और सख्त!मैंने कहा- ये मेरा औजार है और इसे लंड भी कहते हैं. उसे चलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी … लेकिन थोड़ी देर बाद साली साहिबा ने सब अड्जस्ट कर लिया.

कुंवारी लड़की की जवानी की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं बड़ी हो गयी थी, मुझे मर्द का स्पर्श नहीं मिला था। मैं चाहती थी कि मेरा कोई बॉयफ्रेंड हो। मगर मेरी पहली चुदाई …दोस्तो, मेरा नाम रूचिका है। मैं एक गांव की रहने वाली लड़की हूं। मेरा कद 5.

क्या बताऊं यारो … सामने आईने में सब दिख रहा था … मेरा मन कर रहा था कि साली चुदक्कड़ आंटी को अभी पटककर चोद दूँ. उसने लिखा कि जब वो इस वीकेंड अपने मम्मी पापा से मिलने ग्वालियर आएगी, तब मुझसे मिलेगी.

बीएफ बंगाली वीडियो मेरे मन में अपनी बहन को लेकर विचार आने लगे कि क्या मैं भी रंगोली के साथ …तो अब मजा लें माय हॉट सिस्टर सेक्स कहानी का!हालांकि ऐसा नहीं था कि मैंने कभी ऐसा सोचा नहीं था. मैंने पूछा- ट्रेनिंग … कैसी ट्रेनिंग!उन्होंने कहा- तेरा मालिक बहुत ही बड़ा और लंबा है … और तेरा छेद बहुत ही छोटा अब मुलायम है.

बीएफ बंगाली वीडियो अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है. मैं अभी भी अशी से बहुत प्यार करता था … लेकिन जब मेरे ज़हन में वो दोनों आते थे … तो मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मैं अशी की चीखें इमेजिन करके मुठ मार लेता था.

उधर बना कृत्रिम छिद्र को मेरी योनि छिद्र मानकर वो उसमें हर धक्के से और गहरी चोट करते जा रहा था.

नंगा सेक्स वीडियो

फिर मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर झुका दिया और नीचे जाकर गांड में लंड घुसा दिया. सड़क वैसे ही कच्ची थी, तो सब कुछ हिल-डुल रहा था और हरकत करना भी आसान था. मेरी बहन ने भी सारी बात सुन ली थी, वो भी बहुत खुश थी और मम्मी भी खुश थीं क्योंकि अब मैं जॉब करने वाला था.

मैंने कहा कि मेरा लौड़ा अब नहीं निकलने वाला है … आज जाटनी की गांड में पानी निकाल कर ही रूकेगा. वो चुदाई के खेल की पुरानी खिलाड़ी थी और अपनी कला दिखाते हुए लंड को मस्ती में चूस रही थी. मैंने बोला- ठीक है, ये सब मैं श्रेया के घर वालों को बता दूंगा कि वो काम करने के साथ साथ तुम्हारे साथ चुदवाती है.

आह … वो हलचल मैम की उंगलियों की थी जो पैंट के ऊपर से लंड को महसूस करने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

मैंने अपना लंड उसके मुंह में दे दिया और वो उसे मसल मसल कर चूसने लगी. आप लोग भी सोच रहे होंगे कि साला ऐसा क्या देख लिया?तो दोस्तो … वो जींस और शर्ट में थी और 5 फिट 4 इंच की जान लेने की मशीन सी थी. अब उन्होंने अपनी अस्त-व्यस्त हो चुकी साड़ी को उतार कर एक तरफ रख दिया और गीली पैंटी पहने हुए ही मेरे ऊपर आ गईं.

बीस मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैंने लंड का सारा माल चुत में ही निकाल दिया. इस पर मैम हंसती हुई बोलीं- अच्छा … ऐसा क्या ख़ास है मुझमें?मैं भी मैम की सुंदरता की तारीफ करने लगा. अब तक मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था, जिसे भाभी ने मेरी पैंट के ऊपर से तना हुआ देख लिया था.

मैं मम्मों को चूसने के बाद कुछ ऊपर को आया और उसकी गर्दन को अपनी जीभ से चाटने लगा. उफ्फ क्या चुत थी मेरी बहन की … कोई भी देख ले तो लंड डाले बिना उसे चैन ना आए.

भाभी 69 में बिस्तर पर लेट गईं और हम दोनों लंड चुत की चुसाई का मजा लेने लगे. बीच में वो अपने कंधे को मसल कर मेरी कांख का रस अपने कंधे पर समेट रहा था. मेरी यह सच्ची सेक्स कहानी मकान मालकिन की बड़ी बेटी मालती की चुदाई की है, जिसको उसकी सगी छोटी बहन ने ही मेरे बिस्तर तक पहुंचाया था.

भाभी थोड़ी देर चुपचाप बैठी रही तो मैंने भाभी को बोला- भाभी कुछ तो बोलिये?तब भाभी मेरे चेहरे को देखने लगी और बोली- देखो, तुमने जो कहा वो सब ठीक है.

वो सोढ़ी के हाथों से अपने मम्मे मिंजवाती हुई गांड लंड पर ऊपर नीचे पटक रही थी. मैंने थोड़ा सोचा और घर पर बोल दिया कि मेरे प्रोजेक्ट का काम है और मैं चार दिन कॉलेज के हॉस्टल में रहूंगा. दीदी दोनों घुटनों को मेरे कमर के अगल बगल रखकर चूत को लंड के ऊपर रखने जा रही थीं.

इससे पहले कि मैं उनसे कुछ पूछता, उससे पहले उन्होंने कमरे की लाइट्स ऑफ कर कर दीं. रूबी आंटी बोले जा रही थीं- आह और चोदो मुझे … बहुत दिन के बाद चुद रही हूँ मैं … आह बहुत सुकून मिल रहा है.

चूत में उंगली सेक्स कहानी मेरी सेक्सी बुआ के साथ वासना भरे कारनामे की है. जितनी बार मेरा लंड अन्दर जाता, कोमक के मम्मे उछल कर उसके गर्दन तक पहुंच जाते और वो ‘ई ई मां आह आह्ह … आईआ … आईहह …’ की आवाज़ निकलने लगती. उसकी आहहह आहहह आहहह सुनकर मुझे मजा आने लगा।मैंने समारा को बिस्तर पर झुका दिया और उसकी टांग खोलकर लंड घुसा दिया और चोदने लगा अब गीला लंड सटासट सटासट अंदर बाहर करने लगा।समारा आज बहुत खुश थी क्योंकि उसे मोटा मजबूत लंड मिल रहा था।मैं समारा के बाल पकड़कर तेजी से अंदर-बाहर करने लगा.

बिहारी ब्लू सेक्स

फिर ऐसे ही हमारी रोज बात होने लगीं, इस तरह मेरी मुंतजिर से दोस्ती हो गयी थी.

मैंने उंगली और अंगूठे से भाभी की चूत के बाहरी होंठों को थोड़ा खोला तो चूत की दरार के ऊपर बहुत ही सुंदर दाना सा बना हुआ था जो उसका क्लीटोरियस था. मजाक मजाक में ही उससे पूछ लिया- तुम तो दिल्ली में रहती हो, तुम्हारा तो ब्वायफ्रेंड होगा ही!इस पर उसने इठलाते हुए कहा- अभी तक तो नहीं था … लेकिन अब बन जाएगा. वो बिना शर्ट पहने बाहर निकलने लगा, तो मैंने भी सोचा कि इतनी तेज बारिश में कौन मिलेगा.

इसी का उत्तर था कि उसका हाथ हर सेकंड पहले से ज्यादा दबाव से मेरी मांसल जांघ को मसल रहा था. तो मैंने रघु से कहा- अगर वो अपनी मर्ज़ी से राजी हुई है तो कोई बात नहीं … लेकिन पूरा किराया तू ही देगा. देसी लड़की की सेक्स वीडियोमैं तुम्हारा कब से इंतजार कर रही थी कि तुम कब आओ और मेरी जवानी का भरपूर फायदा लो.

कोमल अब एकदम ज्यादा जोरदार तरीके से नीचे से धक्के लगाने लगी थी जिससे मुझे समझ में आ गया था कि अब उसका कामरस निकलने का समय आ गया है. साथ ही शॉर्ट्स के अन्दर पहनी हुई पैंटी की किनारियों ने मुझे और भी ज्यादा गर्मा दिया था.

अब हम दोनों बारी बारी से अपने होंठों से एक दूसरे को दारू पिलाते गए. अब मैंने अपनी दोनों उंगलियां उसकी चड्डी में डाल दीं और सरकाते हुए उसकी चड्डी को पैरों में नीचे ला दी. दोनों मम्मों के बीच की घाटी ऐसी थी कि लगा बस उसको चूमने के समय निप्पल कान तक पहुंच जाएंगे.

तो मेरा लंड सामान्य लम्बाई का साढ़े पांच इंच का है मगर ये मोटा कुछ ज्यादा ही है. फिर मैं ये सोचता हुआ घर चला गया कि कल ज़ीनिया की चुत चुदाई का मजा मिलना पक्का हो गया है. उन्होंने जोर जोर से झटके देने शुरू कर दिए, पूरा बिस्तर हिलने लगा था.

उसका लिंग मेरे हाथ के उलटी तरफ रगड़ रहा था और लिंग की गर्मी मुझे अपने हाथ पर महसूस हो रही थी.

मैंने थोड़ी रुकना ही सही समझा और उसको किस किया और कहा- क्या हुआ? तुम तो तैयार थी. तब मैंने उसको उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया उसकी चूत में लन्ड घुसा दिया और चोदने लगा.

पर डरती थी ये सोच कर कि ज्यादा एडवांस होने से राजू को शक हो जाएगा कि उसे ये सब कैसे मालूम!पर उसकी किस्मत अच्छी थी।राजू ने तो बहुत पॉर्न फ़िल्में देखी थी तो उसने खुद अपना लंड गौरी के मुंह में आहिस्ता से दे दिया।वो सोच रहा था कि गौरी मुंह में लेने को मना कर देगी।पर गौरी ने उसके अनछूए लंड को खूब लोलीपॉप की तरह चूसा. ’ की आवाजें निकलने लगीं और उसकी इन आवाजों को सुनकर मेरा लंड तो लोहे से भी मजबूत होता जा रहा था. मैंने कहा- बताओ तो क्या बात है?तब उसने बताया- ये मेरा ध्यान सही से नहीं रख पाते हैं.

मैंने उनकी पैंटी में हाथ डाल ही दिया और उनकी गर्म चुत को मसलने लगा. हम उसे खोना नहीं चाहते थे।मेरी सेक्सी कहानी पर अपनी राय जरूर दें जिससे मुझे लिखने की प्रेरणा मिले और मैं अपनी गलतियां सुधारूं. मैं जल्दी से उठकर बाथरूम गयी और फ्रेश होकर, नाइटी पहन कर सामने के कमरे में आ गयी.

बीएफ बंगाली वीडियो बहन की गांड सहलाते सहलाते मैं हाथ को आगे लाया और अर्शिया की जांघों के बीच में ले गया. मैंने उसे सोफे पर बिठाते हुए हदास भरी आवाज में उससे पूछा- आप क्या लेना पसंद करेंगे … ठंडा या गर्म!वो मेरे गेट बंद कर देने से कुछ कुछ समझ गया था इसलिए वो मेरी चूचियों को देखते हुए बोला- पहले गर्म फिर कुछ ठंडा.

आंटी का सेक्सी

तभी दीदी की आवाज आई- रुक क्यों गए … मालिश करो न!मैं आराम आराम से दीदी की नंगी हो चुकी गांड की मालिश करने लगा. मैंने उसे लंड चूसने को कहा, तो वो बैठ गई और लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. अब सरिता भाभी ने पूछा- क्या तुमने नाश्ता कर लिया?विजय ने कहा- नहीं अभी नहीं किया.

अपने लण्ड के सुपारे पर तेल की चार बूँदें टपकाकर मैंने मुमताज से कहा कि अपनी बुर के लब खोलकर मेरे लण्ड के सुपारे पर बैठ जाओ. उस अधेड़ के निकलते ही मैं खिड़की की तरफ वाली सीट पर खिसक गई और पास खड़ी लड़की सीट पर बैठने को लपकी. ব্লু পিকচার হিন্দিउस रात पूरे समय वो इन्सेस्ट पोर्न मेरे दिमाग में चलता रहा और मैंने अपने और रंगोली को उसमें इमैजिन भी किया.

मैं- अरे असीम, शरद कहां है? और ये सब क्या है, किसके बैग्स हैं ये?असीम- मैडम, वो भैया को अभी सुबह ही कॉल आया था कि उन्हें आज शाम को नहीं, अभी ही तुरंत निकलना होगा.

चल मादरचोद उल्टी लेट जा साली … तुझे भी मजा आएगा और मैं भी खुश हो जाऊंगा. फिर मैं भी कहां रुकने वाला था, मैंने पूरी ताकत से दूसरे ही झटके में पूरा लंड उनकी चूत के अन्दर डाल दिया.

इससे पहले मैं कुछ समझ पाता कि भाई ने मुझे हाथों को जोर से पकड़ कर उल्टा कर दिया और अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर चांप दिया. जैसा कि मैं आपको पहले बता चुका हूँ कि अर्शिया की गांड भी बहुत बड़ी है. मैंने अब अपनी उंगली को गति दे दी और उन दोनों की चुत में तेज तेज अन्दर तक उंगली चलाने लगा.

और उसका फिगर तो मानो कोई बेली डांसर हो!वो हमेशा जीन्स पहन कर आती थी जिससे उसका पिछवाड़ा साफ साफ दिखता था.

बस कुछ ही पलों में मेरी कमर ने उठ उठ कर लंड को सलामी देनी शुरू कर दी थी और धकापेल चुदाई का मंजर बिस्तर की चादर को लाल रंग से भिगोते हुए अपनी छाप छोड़ने लगा था. बाथरूम से जब मैं बाहर आया था तो मैंने बिना अंडरवियर पहने ही पजामा पहना था. अपनी बहन की जवानी से मुझे उत्तेजना के साथ डर भी लग रहा था कि कहीं कोई बवाल न हो जाए.

રાજસ્થાની સેકસી વીડિયોक़रीब दस मिनट बाद डायरेक्टर ने अपने तगड़े लंड का पानी मेरी बीवी की चुत में ख़ाली कर दिया. शीना की चूत भट्टी की तरह गर्म हो चुकी थी और उसने अपने मुलायम हाथों से मेरे लम्बे लंड को मसलकर लोहे की रॉड बना दिया था.

हिंदी एक्स एक्स एक्स

ये कहकर मैंने उसे देखा, तो उसने मेरी तरफ प्यार से देखा और हम दोनों एक दूसरे को बड़े प्यार से होंठों पर चूमने लगे. वाह … रश्मि बुरा मत मानना, पर आज तुम कुछ ज्यादा ही खूबसूरत लग रही हो. अब बड़ी बहन सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको अपनी दीदी की सास की चुदाई से रूबरू कराऊंगा.

मैं सोच में पड़ गयी थी कि सिर्फ 6 महीने दूर रह कर, मैं इतनी अकेली महसूस करती थी … तो राजीव सर इतने साल से अकेले हैं … उन पर क्या बीतती होगी. मैंने कसकर उसे अपने शरीर से चिपकाया हुआ था, उसके बाल मेरे मुंह पर उड़ कर आ रहे थे. ये जानकर मैं बहुत निराश हुआ क्योंकि मैं अभी भी उससे बहुत प्यार करता था.

उसे चलने में थोड़ी दिक्कत हो रही थी … लेकिन थोड़ी देर बाद साली साहिबा ने सब अड्जस्ट कर लिया. ये सोचा कि बहन के कंप्यूटर में दोस्तों के नाम के बाकी के फोल्डर शाम को खोलूंगा. मैं समझ गया कि मां अन्दर ही हैं लेकिन मेरे आने की उन्हें ख़बर नहीं हुई है.

मैं उसके कंधों को चूमते हुए और उसके बड़े बड़े चुचों को निचोड़ते हुए आगे बढ़ने लगा. मैंने थोड़ा सोचा और घर पर बोल दिया कि मेरे प्रोजेक्ट का काम है और मैं चार दिन कॉलेज के हॉस्टल में रहूंगा.

मैंने सोचा कि कोई महिला कितनी भी मॉडर्न क्यों ना हो, पर ऐसा कैसे कर सकती है.

मैंने तेज़ तेज़ झटके मारने शुरू कर दिया।अब मैंने उसके होंठों को आजाद कर दिया और खुशबू को तेज़ तेज़ चोदने लगा. देसी भाभी को चोदाअन्दर से वासना भी भर जाती थी और मैंने एक बार उन दोनों की चुदाई की बातें पढ़ते हुए मुठ भी मार ली थी. कॉल गर्ल्स वीडियोअब आगे सेक्सी औरत चुदाई कहानी:नाज के साथ मेरा चुदाई का खेल बढ़िया चल रहा था. मैं बोली- जान … आज की मेरी मुँह दिखाई कहां है?इस पर वो बोले- कुछ देर में वो भी तुम्हें दे दूंगा, जो कि तुम्हें जीवन भर याद रहेगा.

रानी कहती थी कि अगर फोन पर ही आप इतना प्यार करते हो तो हकीकत में कैसे करोगे.

थोड़ी ड्रिंक्स लेने के कारण शायद हम दोनों ही कुछ ही पल में सेक्स के नशे में आ गए और बहुत कामुक होकर एक दूसरे को चूमने लगे थे. मैं थोड़ी देर उसी मुद्रा में रुका रहा, उसके बाद मैंने धीरे धीरे अपने लंड को चुत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. मैं भी दीदी की गांड के स्वाद को चखते हुए अपने होंठों पर जीभ फिराई और बेडरूम में जाने लगा.

जेठ जी बेड से नीचे उतरे और उन्होंने जल्द ही अपने सारे कपड़े भी उतार दिए. वो लंड हिलाता हुआ मेरे करीब आया और 69 पोज़िशन में होकर मेरे ऊपर लेट गया. उन्होंने मुझसे बातें की और बोले- मेरा नाम जुनैद है, मैं तुम्हारे घर के पास वाले घर में ही रहता हूँ.

हिंदी देसी वीडियो

अन्तर्वासना पर मैंने पहले भी सेक्स कहानी लिखी हैं, जिसमें एक सेक्स कहानीदोस्त की बहन मुझसे लव करती हैको पढ़कर बहुत से पाठकों ने जवाब दिया है. अबकी बार एक ही झटके में मेरा पूरा लौड़ा मुंतज़िर की चुत में अन्दर तक चला गया था. आपको इस सेक्स कहानी में क्या अच्छा लगा, जरूर बताइए, मैं सभी के मेल पढ़ती हूँ.

इसके बाद हम दोनों ने उसी होटल में रुक कर करीबन 10 दिन तक लगातार चुदाई की.

यहां मैं चड्डी पहने अपने रूम में गया था मगर मेरा लंड अभी भी बैठ नहीं रहा था.

मेरी नजर उसके मम्मों को निहार रही थी और सुनील की निगाहें सोनल की मदमस्त जवानी पर टिकी थीं. उसका दिल्ली में ही अपना मकान है और शादी के बाद से हम दोनों उसी घर में रहते हैं. देहाती लड़की का सेक्सी वीडियोफिर उसका मोटा लौड़ा अपने मुँह में लेकर मैं लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

आज अजूबा हुआ, उसने मेरी बुक हटाई नहीं … बल्कि वो उसमें आज का लैसन खोलने लगा. उसने एक बार मुझे नजर भरके देखा और अपना नंबर देकर वो वहां से चला गया. अब्बू ने अपना कुर्ता निकाल दिया और पूरी तरह से नंगे होकर मुझसे लिपट गये.

ये सुनकर वो बोली- राज, तू क़िस्मत वाला है कि बिहारी होकर हरियाणा की जाटनी चोद रहा है. अब मैं इस बात को दावे से कह सकता हूँ कि चुत चुदाई से ज्यादा लंड चुत की चुसाई में ज्यादा मजा आता है.

अब आगे नंगी लड़की होटल Xxx कहानी:अपने सामने कोमल को यूं देख कर मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने उसके तन से ब्रा और पैंटी को निकाल दिया.

आह … क्या मस्त मजा आ रहा था … मुझे अपनी तपती चुत में मजा आने लगा था. मैंने आंखें खोलकर देखा तो ये उनका वही दोस्त था, जो बाहर लॉबी में बैठा था. मैंने उन्हें आजाद कर दिया और बारी बारी से दोनों निप्पलों को खींचते हुए चूसना चालू कर दिया.

एक्स एक्स एक्स हिंदी सेक्सी पिक्चर उसी दौरान मैंने मैम के पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया था जो सरकता हुआ नीचे गिर गया था. दस मिनट तक भाभी बाथरूम में गाना गुनगुनाती रहीं और जब वो बाथरूम से बाहर निकलीं तो मेरे होश फाख्ता हो गए थे.

फिर एक पल बाद उनकी प्यारी सी आवाज में एक बार फिर मेरे कानों में मिठास बन कर घुल गई- आप हमारा एसी कल जरूर ठीक कर देना … गर्मी के दिन है … बहुत परेशानी है. तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी यह Xxx ब्रदर एंड सिस्टर कहानी … आप लोग कमेंट करके मुझे जरूर बताइएगा और मुझे मेल भी कीजिएगा. मैंने बिना देर किए उनको आजाद कर दिया और अपने हाथों में पकड़ कर उनकी मक्खन सी मुलायमियत का मजा लेने लगा.

एक्स एक्स बीपी एचडी

अब उनके मुंह से कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- आह आह आह ओह याह फॅक मी हार्डर … आह ओह युवी … यु फक सो गुड. आंटी बोलीं- साले अब चोद ना … जल्दी से अपना लंड चुत में डाल दे … मेरी चुत में आग लगी है मादरचोद … मुझे चोद दे. अब मैं रोज रात को मम्मी और पापा की चुदाई देखने लग गयी और मेरा हाथ कब पता नहीं चूत पर जाने लग गया.

अब मैंने अपनी दोनों उंगलियां उसकी चड्डी में डाल दीं और सरकाते हुए उसकी चड्डी को पैरों में नीचे ला दी. फिर जब वो थोड़ा संभल गया, तो उसने मुझे अपनी ओर बुलाया और मुझे अपनी गोद में बिठा लिया.

उसने कहा कि विवेक कह रहा था अभी कॉल पर कि कल वापिस आ जाऊंगा नाईट तक!तभी मैंने वाइन खोल कर अमिता को पास बुलाया.

कुछ दिन के लिए, असीम के आने तक सुरजीत या किरणदीप तुम्हें तुम्हारे ऑफिस छोड़ देगा. ऊपर का मेरा पूरा शरीर साफ दिखने लगा और छोटी सी ब्रा भी मेरे मम्मों को छिपाने में नाकाम साबित होने लगी. मजा तो मुझे भी उतना ही आ रहा था लेकिन मन में एक डर भी था कि कहीं किसी समय उसके घरवाले ही न टपक जायें.

वह मुझे गले से पकड़ कर अपने ऊपर जोर जोर से खींच रही थी और बोल रही थी- मुझे खा जाओ … मेरी जान मुझे खा जाओ. बहन की गांड सहलाते सहलाते मैं हाथ को आगे लाया और अर्शिया की जांघों के बीच में ले गया. एकदम दूध सी सफेद और पूरे चेहरे पर कहीं कोई तिल तक का नामोनिशान नहीं था.

सरिता भाभी ने देखा कि विजय तो नहा रहा है, तो उसको विजय को नंगा देखने की लालसा जाग गई.

बीएफ बंगाली वीडियो: सरोज हंसने लगी और बोली- अम्मा की बहू को भी चोदेगा क्या?मैंने कहा कि अगर किस्मत में होगी … तो उसे भी पेल दूँगा. चुदाई का मजा किरकिरा हो गया था … तो हम दोनों ने भी कपड़े पहने और मैं सुनीता के घर से चला गया.

मैंने लंड निकाल लिया और हम दोनों बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ करके फिर से बिस्तर पर आ गए. वो फ्लैट फुल फर्नीचर वाला था, हम दोनों ने एक घंटे में अपना सारा सामना जमा लिया और किचन को भी लगभग रेडी कर लिया था. पहली बार की चुदाई में मेरी चुत की सील टूट गई थी, सो अब कार्तिकेय ने जल्द ही दूसरा हमला भी कर दिया.

उसकी इस बात से मैं भी खुश हो गई और मैंने उसके पास से किताब को थोड़ा अपनी तरफ सरका लिया.

करीब 5 मिनट किस करने के बाद मॉम ने मेरे सारे कपड़े उतारना शुरू कर दिया. मैं जानती हूँ कि तुम्हारी उम्र के आदमी भी बाहर सेक्स करने के सपने देखते हैं. खैर, मैंने भाभी से कहा- जी भाभी जी, ठीक है, मैं इसे पढ़ा दिया करूंगा.