bhabi बीएफ

छवि स्रोत,कुत्ता का बीएफ पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी से: bhabi बीएफ, रोहित ने बताया- मुझे आप से मिल कर अच्छा लगा और वो चाहते हैं कि आज रात तीनों साथ रुकें.

बीएफ सेक्सी हॉट इंडियन

मैंने कहा- अरे तो किसी पब्लिक प्लेस में मिल लो, वहां तो चाह के भी कुछ नहीं होगा!मेरे 2-3 बार कहने पर वो मान गयी और पैसिफिक मॉल में हमारा मिलना तय हुआ. कुत्ता की बीएफ लड़की के साथफिर वो धीरे-धीरे मेरी चूत के पास आ गई और उसने मेरी चूत चाटनी शुरू कर दी.

वो आज लौड़ा मुँह में लेकर चूसती हुई मेरी आंखों में देख रही थी, जैसे वो लंड से पानी देने की फरियाद मेरी आंखों से कर रही हो. बीएफ वीडियो हिंदी एक्स एक्सउसी रात को हमारी वापसी के टिकट बुक हो गए थे तो हम दोनों अपने घर को निकल गए.

उसने मुझे बताया कि कुछ दिन उस पर लाइन मार और उसे अहसास दिला कि तुझे कोई पसंद करता है.bhabi बीएफ: उसे मैं सीधा बिस्तर पर ले गया और उसे लेटाकर उसके दोनों पैरों के पास बैठकर एक झटके में उसके दोनों पैरों को फैला दिया.

मैं उसे एक होटल में ले गया जहां मैंने पहले से ही रूम बुक कर रखा था.भाई क्या बताऊं … कितनी मस्त चूत थी उसकी … छोटी सी लंबी सी और एकदम गोरी सी.

औरत और जानवर का बीएफ - bhabi बीएफ

वो मेरे बूब्स के निप्पलों को जोर जोर से मींजने और काटने लगा, इससे मुझे दर्द भी हो रहा था.सीमा आज बहुत रोमांटिक मूड में दिख रही थी तो उसी मूड में उसने मुझे किस किया और शादी की सालगिरह की मुबारकबाद दी.

मैंने दिखावटी शर्म जताते हुए उसे जल्दी बाथरूम से बाहर निकाला और गेट लगा दिया. bhabi बीएफ मंजू रोहित का लंड हाथ में लेकर आग्गे पीछे करने लगी और देखते ही देखते उसने लंड मुँह में ले लिया.

मैंने डिल्डो नेहा की चूत पर घिसना शुरू कर दिया, जिससे नेहा पागल होने लगी.

bhabi बीएफ?

हमारे बीच की चुप्पी तोड़ते हुए उसने कहा- आगे खेलें अब!मैंने हामी भरी और फ़ोन आगे रखा. मेरी अम्मी अभी भी बाबा नाजिर से सेक्स करती हैं और अम्मी को जो भी काम हो, वो बाबा नाजिर से पूछ कर ही करती हैं. फिर मैंने सोचा कि शायद वापस आकर दे देंगी, इसलिए मैंने सोमवार की छुट्टी कर ली और वहीं रुका रहा.

वो एकदम सुनसान एरिया था क्योंकि रात में उस एरिया में ऐसे सब काम ही होते थे. मैं शरीर से फिट हूँ और मेरे शरीर पर कोई अतिरिक्त चर्बी नहीं है जो कि मेरे प्रति लड़कियों व भाभियों को आकर्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका रखती है. इसी बीच उसने गोटी चलाते हुए खुद को ज्यादा ही हिला लिया, जिससे उसके बाईं तरफ के बाल स्तन के ऊपर से हट गए.

मदन जी ने बड़ी लाइट बंद कर दी और नाईट बल्व की नीली रोशनी में हम दोनों सेक्स का मजा लेने लगे. मोहित ये सब मुझे खड़ी करके कर रहा था पर मुझे अब खड़ा हुआ नहीं जा रहा था. मुझे अपने से दोगुनी उम्र के या उससे भी बड़े मर्द बेहद पसंद हैं।मैं उसके बारे में सोच अपनी चूत सहलाने लगी.

ऊपर वाले दोनों उसके निप्पल्स और मम्मों के साथ खेल रहे थे और बीच बीच में ऊपर बढ़ कर उसके होंठों को सांस फूलने तक चूम लेते थे. मैं समझ गयी कि सब लड़कों ने प्लान करके एक साथ हमारी गांड में लंड डाला है, जिससे सबकी चीख एक साथ निकली है.

लगभग 20 मिनट बाद कार्तिक मेरी बहन पास सोफ़े पर आ गया और अनुपम बेड पर अम्मी पास.

अब आगे Xxx डिजायर कहानी:सब खाना खाकर आलस्य में आ चुके थे और धीरे धीरे देखते ही देखते सब अपनी अपनी सीट पर सो गए।मैं सुबह एक नींद ले चुकी थी.

उन्होंने बताया कि उनके पापा ने पैसों के लोभ में मुझसे इनकी शादी करवाई. और मैंने यस!” कहते हुए छलाँग लगा दी।अरे! अरे! इतने भी एक्साइटेड मत हो जाओ, उसने कुछ शर्तें भी रखी हैं।” वह मेरा कंधा पकड़कर बोली।कह दो उसको, उसकी सारी शर्तें मंजूर हैं. तभी उसने ‘आह हह हह …’ कहते हुए खुद को अलग कर लिया और अंगड़ाई लेने की हरकत करते हुए अपनी गांड को हवा में उठा दिया.

पर शुरुआती चिकनाई के कारण दो इंच लंड घुस तो गया था, पर मैं केवल धकेले जा रहा था. अलफिया- हाय अम्मी मर गई!इस तरह आवाज करती हुई वो मेरा मुँह अपनी चूत पर दबाने लगी थी और मुझ पर झुक कर अपने हाथ से मेरा लौड़ा दबा रही थी. क्योंकि मेरी सहेली का पति आज बाहर गया है और वो आज दिन में मेरे घर आ जाएगी.

उठी तो सुबह के चार बज रहे थे, मैं अब भी दीपक की बगल में नंगी पड़ी थी, मुझे मेरी नग्नता अच्छी लग रही थी।मैं रात की चुदाई सोचते सोचते उंगली करने लगी.

फिर मैंने पहले ऊपर से हल्दी लाई, जब तुम नहीं जागे तो मैंने अन्दर हाथ डाल कर हल्दी लगाना चाही. जब दोनों साथ में झड़ गए और अपने कपड़े पहन कर निकल गए, तब मैं भी शांत हो गया. कुछ और बातें भी हुईं, पर उनका लिखना सेक्स कहानी के लिए जरूरी नहीं है.

रिया और आयेशा एक दूसरे के ऊपर चिपकी हुई थीं, इधर मैं और नेहा भी एक दूसरे के जिस्म को खा जाने की नियत से चूस रही थीं. मेरी पिछली कहानी थी:पति की बेरुखी से मोटी भाभी चुद गईयह सेक्स कहानी भाई बहन की चुदाई की कहानी है. मैंने पूछा- क्या हुआ … क्यों मुस्कुरा रही हो?वो बोली- कुछ नहीं, बस कुछ याद आ गया था, इसलिए.

आप खुद सोचिए कि जिस लड़की को पाने के लिए कई जवान लड़के लाइन लगा कर खड़े हों और वो खुद किसी परी से कम खूबसूरत न हो … वो मुझे आसानी से मिल जाए, तो ये मेरी खुशनसीबी से कम हो ही नहीं सकती थी.

वो बोली- अब दर्द क्यों हो रहा है … कार में तो इतना दर्द नहीं हुआ था. उसने फटाफट चखने के लिए सलाद काट लिया और कुछ पनीर पकोड़े और नमकीन हम बाहर से खरीद कर लाये थे.

bhabi बीएफ मैंने भी पूरे मन से भाभी का दूध चूसना चालू कर दिया और जल्द ही दोनों को खाली कर दिया. चाची को ऐसे देख कर मेरा मन किया कि काश ये मेरी चाची ना होती तो अभी उनको पटक कर चोद देता.

bhabi बीएफ वह कुछ ज्यादा ही चिल्ला रही थी तो चुदाई के साथ ही मैंने उसके मुँह पर हाथ रख दिया. मैं बाकी लोगों को भी बोल दूंगा, वैसे भी अरुणिमा में मेरी दिलचस्पी खत्म हो गई है.

उसी पल मैंने उसके हाथ पकड़ लिए और से अपनी ओर करके होंठों पर होंठ रख कर किस करने लगा.

जगल की सेक्सी

आज तक मैंने न जाने कितनी औरतों और लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाए, मुझे खुद याद नहीं है. मुझे दारू पीकर चुदाई में मजा आने लगा था और आज पहली बार दो लंड एक साथ मेरे साथ खेलने वाले थे. थोड़ी देर बाद जब उसकी चूत में दर्द बंद हुआ, तो मैंने अपने होंठ उसके होंठ से अलग किए.

सुधा को बहुत बुरी तरह से नशा हुआ था और वह मुझे अनदेखा करते हुए अपनी टांगें फैलाए सोफे पर बैठी रही. वो फिर से ‘ओह ओह आह मेरा निकला …’ चिल्लाने लगीं और मेरे लंड पर पूरी तरह से बैठ कर पूरे लंड को अन्दर डाल लिया. मैं पहले भी वो डिलडो चूत में ले चुकी हूँ तो मुझे बहुत ज्यादा असर तो नहीं हुआ.

जब रात 8 बजे तो शॉप बंद करने लगा तब आनन्द अंकल आए और उन्होंने मुझसे कंडोम मांगा.

जब मैं उनको रोमा आंटी बुलाता था तो वह कभी-कभी मजाक में बोलती थीं- मैं तुम्हें आंटी किस एंगल से लगती हूं?मैं इस पर बोलता कि आप मेरी फ्रेंड की मम्मी है इसीलिए तो आपको आंटी ही बुलाना पड़ता है. अब मैं सोचता हूं कि तुम इतनी हसीन और खूबसूरत हो, तो मेरी भी गर्लफ्रेंड ऐसी ही होनी चाहिए. उसके बाद उसने मुझे एक पैकेट दिया और कहा- वो चारों उस लड़की से बहुत खुश हुए हैं और इनाम दिया है.

वो बोली- अब मेरी चूत की मां चोदते रहोगे या अपना भी लंड पेलोगे उसमें? लंड बाहर निकाल कर दिखाओ. शायद उसने कभी किसी लड़की को किस नहीं किया था इसीलिए उसे इस सबकी उम्मीद नहीं थी. लंड पहले से बहुत टाइट और फूला हुआ था, मुझे लग रहा था कि जल्दी से उसकी बुर में लंड पेल दूँ.

चौधरी जी- सजनी, क्या तुमको मेरा बड़ा लंड देखकर डर लग रहा है? घबराओ नहीं, मैं बहुत प्यार से करूंगा, ज्यादा दर्द हो तो बता देना. उसने अपने मन में सोचा कि अब तो बहन की बुर बस मिलने ही वाली है तो और थोड़ा क्यों नहीं रुका जाए.

वो मेरी कच्छी के ऊपर से मेरी चूत की फांक पर हल्की हल्की उंगली फिरा रही थी जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. भाभी जाग गईं और मेरा हाथ पकड़ कर हटाती हुई बोलीं- आप मान क्यों नहीं रहे हो?मैंने कहा- भाभी एक बार करने दो. मैंने पलटकर उसके खुट्टे (टट्टे) पकड़ लिए और उन्हें दबाकर बोली- बहन के लंड अगर आज के बाद मुझे रांड या रंडी कहा न … तो तेरी गांड में गधे का लंड डलवा दूंगी … समझा मादरचोद.

मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच है और मैं मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले का रहने वाला हूं.

उसी समय पप्पू एकदम से खड़ा हो गया था, मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने खाल नीचे की और हल्दी तुम्हारे टमाटर पर भी हल्दी लगा दी. उनकी सख्त पकड़ से मुझे भी धीरे-धीरे बर्दाश्त से बाहर होता जा रहा था. प्रिया- आपको जो भी करना होगा, आप कर सकते हैं मगर मैं आपको अपने होंठों पर कुछ नहीं करने दूंगी.

चार से उसने मजबूरी में अपनी गोटी आगे बढ़ाई और मुख्य केंद्र वाली रेखा के बाहर खड़ी हो गयी. भाभी को भी ये पोजिशन पसंद आ रही थी लेकिन अब तक वाइब्रेटर भी अपने अंतिम समय पर था तो भाभी ने उसे निकाला और धोकर उसका सेल चेंज कर दिया.

फिर गुरबचन जी हवलदार से बोले- प्यारेलाल तेरा नंबर आ गया, जा ऐश कर!हवलदार अन्दर गया और थोड़ी देर में अरुणिमा की आवाज आई- भैया तेरा मूसल ना तो मेरी चूत में घुस पाएगा और ना मेरी गांड ले पाएगी. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद वह खुद उठीं और मेरे होंठों पर एक लंबी किस करती हुई बोलीं कि कितना तड़पाएगा रे तू … चोद दे ना मुझे. ये लेकर वो छैल छबीली आगे बढ़ती रही और कुछ ही पलों बाद मेरी आंखों से ओझल हो गई.

मेरा सेक्सी फिल्म

सच में क्या बूब्स थे उसके!मेरा लंड जब कंट्रोल से बाहर हुआ तो मैं मीनू की फुद्दी चाटने लगा.

कुछ ही देर में वो मेरे साथ काफी सहज हो गई थी और मुझे भी उसका बातचीत करने का अंदाज काफी फ्रेंडली लगने लगा था. उसका ब्वॉयफ्रेंड होने के बावजूद भी वो मुझसे काफी हंसी मजाक करती थी और उससे मेरी बहुत बातें होती रहती थीं. वो बार बार अपनी चूत को मेरे मुँह में देने की कोशिश करती लेकिन मैं हर बार नहीं चूसता.

वह अपने पूरे शरीर को सहला रही थी और धीरे धीरे वह अपनी चूत को सहला रही थी. पूरी चुदाई में वो दो बार झड़ भी गई लेकिन मैं अपनी बहन की चुत का भोसड़ा बनाता रहा. बीएफ बीएफ हिंदी सेक्सअगले भाग में आपको बताऊंगी कि हम चारों ने उन चारों लड़कों की गांड किस तरह से मारी.

तभी बलवीर अंकल वहां आए और मुझसे कहने लगे- चलो तुम्हें हमारे खेत दिखा लाता हूँ. दोस्तो, इस भाई बहन के बीच की दूरियां कब खत्म हो गईं और उनके बीच सेक्स का सैलाब कैसे उमड़ा, ये सब मैं आपको पबर्टी एंड इन्फेचुएशन कहानी के अगले भाग में लिखूँगा.

अम्मी ने जल्दी डिनर बना लिया था और रात में खाना भी जल्दी खा लिया था. पापा को कुछ काम था, उन्होंने उधर अपना काम किया और मुझे मौसी के घर छोड़ कर वापस घर चले गए. चौधरी जी मेरे चूतड़ों पर थप्पड़ मारते, तो दर्द के साथ मुझे काफी मजा आता.

मेरी पिछली कहानीएक रात में चार पतियों का लंड लियामें आपने पढ़ा कि मैंने लड़की बन कर 5 पतियों से शादी की, सबसे गांड मरवाई. पापा को कुछ काम था, उन्होंने उधर अपना काम किया और मुझे मौसी के घर छोड़ कर वापस घर चले गए. करीब 3 मिनट ही हुए थे कि मैंने पिंकी भाभी को कसके पकड़ा और पूरा माल उनकी चूत में ही निकाल दिया.

ये दीपक ने भी देखा, अब वो मचल रहे थे मेरे चूचे भींचने के लिए!पर संकोच कर रहे थे.

मेरी Xxx डिजायर की कोई सीमा नहीं … मेरी एक इच्छा पूरी होती तो मन में दूसरी कोई कामना उपज जाती है. दोस्तो, मेरी हमेशा से कोशिश रहती है कि आप लोगों तक एक सच्ची और मजेदार सेक्स कहानी लेकर आऊं, जिसे आप लोग मजे लेकर पढ़ें और अपनी भागदौड़ भरी जिन्दगी में कुछ पल के लिए सेक्स कहानी का भरपूर मजा लें.

हम दोनों की सिसकारियां निकलने लगीं और एक साथ दोनों ने पानी छोड़ दिया. मेरा तो उसे यूं देख कर बुरा हाल हो गया और मेरी पैंट में तंबू बन गया. तभी उसने ‘आह हह हह …’ कहते हुए खुद को अलग कर लिया और अंगड़ाई लेने की हरकत करते हुए अपनी गांड को हवा में उठा दिया.

अभी मैंने ठीक से महसूस भी नहीं किया था कि उन्होंने फिर से निकलना शुरू कर दिया. ये सुनते ही उसने बाजू में पड़ा अपना पर्स उठाया और एक दो हजार का नोट मेरे मुँह में फंसा कर बोली- ये ले अपना नेग!मैंने सोचा कि आज मौका अच्छा है. मैंने उसे बताया कि मेरे पास एक फ्लैट खाली है उसमें मैं अपने दोस्तो के साथ कभी कभी जाता रहता हूँ.

bhabi बीएफ धीरज मेरे पीछे आ कर मेरी साड़ी में घुस गया, फिर साड़ी से मुंह निकाल के बोला- बॉस, इसकी तो चूत में भी रंग लगा है, लगता है लड़के अच्छा मजा ले गए।ये कह कर वो वापिस साड़ी के अंदर चला गया. क्या जान ही ले लोगे, तब चोदोगे क्या?मैंने कहा- ले ले मना किसने किया है रानी.

हेलो गूगल सेक्सी फिल्म दिखाओ

फिर मैं उसके टॉप पर आया और उसे खींचकर उसकी गर्दन तक चढ़ा कर उसके स्तनों का नंगा कर दिया. मुझे भी उसकी बात सही लगी और तभी अरुणिमा ने भी मुझे अपना सर हिला कर जाने का इशारा दे दिया. उसने अपने लंड को बहन की बुर की दरार में अच्छे से फंसाया और उसकी कमर को जोर से पकड़ कर एक जोरदार धक्का दे दिया.

आज तक मैंने न जाने कितनी औरतों और लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाए, मुझे खुद याद नहीं है. अब आगे फ्री वाइफ सेक्स कहानी:वो आदमी पूरी ताकत से अरुणिमा के मम्मों को भी मसल दे रहा था. बीएफ वीडियो कुंवारी लड़कियों कीआपको ये हॉट बहन की सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ कमेंट करके जरूर बताना.

मैंने उससे पूछा- टीना ने कभी ऐसा मजा दिया है?वो बोली- वो साली विच है … उसने मुझसे न जाने क्या क्या करवाया है.

उसके बाद वो मुझे बेड की तरफ ला रही थी, तभी मेरा खड़ा हुआ लौड़ा उसकी कमर को बार बार टच कर रहा था. इसका भी लंड गुरबचन जी की तरह लम्बा और मोटा था और अरुणिमा को गांड मराने में परेशानी हो रही थी.

भैया भाभी की उम्र में अंतर इसलिए है क्योंकि भैया की ये दूसरी शादी है. अब आगे :पिंकी भाभी ने वाइब्रेटर लेकर भाभी की चूत में पेल दिया और फुल स्पीड कर दिया. मैंने उन्हें और तड़पाना ठीक नहीं समझा और अपना मूसल आंटी की चूत में उतार दिया.

भाभी भी हमेशा सज-धज कर रहतीं, जब भी मैं जाता, तो मुझे वो आकर्षक लगने लगी थीं.

सुबह मैं मोबाइल चला रही थी तो भैया ने मस्ती मज़ाक करते हुए मुझसे मेरा मोबाइल छीन लिया. मैंने संजना की साड़ी को खोल दिया और संजना का पेटीकोट और ब्लाउज भी खोल दिया. साल 2020 में मेरी जिंदगी में एक ऐसी लड़की का आगमन हुआ जिसे पाने के बाद मैं अपने आपको धन्य मानता हूँ.

सेक्सी बीएफ पंजाबी बीएफअब वो मेरे बिल्कुल गोद में ही थी, उसकी जांघों का स्पर्श मुझे पागल बना रहा था. जैसे ही मेरा पानी निकलने लगा, मॉम ने अपना मुँह खोला और तुरंत ही पूरा पानी निकल गया.

सेक्सी वीडियो फुल गुजराती

मैं उसे गोदी में उठाकर कमरे में ले गया और तुरंत कंडोम का पैकेट खोलकर लंड पर पहन लिया. वो बोला- लड़के करते हैं, तो उन्हें दर्द नहीं होता?मैं बोला- होता है, लेकिन सेक्स है ही ऐसी चीज़ कि जब करते हैं, तब ही मजा आता है, फिर वो लड़की के साथ हो या लड़के के साथ, लेकिन मर्ज़ी से होना चाहिए … ज़बरदस्ती से नहीं करना चाहिए. हम दोनों जल्द ही आपस में काफी क्लोज हो गए थे और काफी बातें करने लगे थे.

मुझे कुर्सी पर बैठा कर उसने पैंट की जिप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाला और मेरी गोद में चढ़ गई. थोड़ी देर तक वो ऐसे ही लेटी हुई मेरी चूत का रस अपने बॉयफ्रेंड के लंड को पिलाती रही. लेकिन गर्लफ्रेंड फक़ के लिए अभी तक हमें कोई सही जगह नहीं मिल पाई है इसलिए हम दोनों काफी उत्तेजित हैं.

फिर रिया ने भी कहा- हां यार, उन बहन के लौड़ों ने उस दिन कुछ ज्यादा ही किया था, तो अब उसका बदला तो लेना ही है. मैं हैरान था और उसकी पीठ पर लेटकर उसके गालों को चूमते हुए पूछने लगा- कैसा लगा एस सेक्स?‘दर्द हो रहा है … ज्यादा नहीं झेल पाऊंगी. वो मेरा हाथ अपनी चूत पर रखवा कर चूत रगड़वाने लगी और मैं भाभी की चूत में उंगली अन्दर बाहर करने लगा.

वो बोली- आंह बहनचोद, ये क्या कर दिया भोसड़ी वाले … मेरा जिस्म जल रहा है. लेकिन जैसे ही आंटी अपने मुँह में लंड लेकर जोर जोर से चूसने लगीं, मैं तो जैसे से आनन्द के सागर में गोते लगाने लगा.

कुछ ही तेज धक्कों के बाद चंदन मेरी चूत में स्खलित हो गया और हम दोनों बेड पर बेजान की तरह गिर गए.

मुझे चलने में थोड़ी तकलीफ हो रही थी तो मदन जी मुझको सहारा देकर बाथरूम ले गए. कुंवारी लड़कियों का सेक्सी बीएफ वीडियोवो आंख दबाती हुई बोली- अब तुम्हारी हिम्मत हो बताओ?मैं थक गया था लेकिन इज्जत का सवाल था और एक अच्छा परफॉर्मेंस करना मुझे जरूरी था. एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी चुदाई वालीबिग डिल्डो सेक्स कहानी में पढ़ें कि हम दो बहनों के पास दो जवान लड़कियां आयी तो हमने उनकी चूत में बड़े बड़े डिल्डो घुसाकर कैसे चोदा. मैं उसके पास पहुंचा और उससे पूछा- बुकिंग आपने ही की है?तब वह बोली- हां बुकिंग मैंने ही की है.

अब हम दोनों सहेलियां जब तब अंकुश के साथ थ्रीसम चुदाई का मजा ले लेती हैं.

वो जोर जोर से सांसें लेने लगी और शिथिल होकर मुझे आराम से चूमने लगी. धीरे धीरे ऐसे ही चाटते हुए मैं उसकी चूत तक पहुँच गया जहाँ उसकी काली पैंटी जो उसके कामरस से भीगी हुई थी और उसकी बुर और मेरी जीभ के बीच दीवार बनी हुई थी. विकास ने झट से नेहा को बिस्तर पर लेटा दिया और लंड को एक बार उसके मुँह में ले जाकर उससे गीला करने के लिए बोला.

मेरी स्पीड को देख कर भाभी समझ गईं कि मैं थक गया हूँ, तो वो मुझे लिटा कर खुद मेरे ऊपर लेट गईं और आगे पीछे होने लगीं. मैं भी एक बाइक राइडर हूं, दिन में बहुत सारी सवारियों को अपनी बाइक पर बिठाकर उनको उनकी मंजिल तक पहुंचाता हूं. फिर मुझे याद आया कि आयेशा की बहन तो मैं ही हूँ, मैं खुद को कैसे चोद सकती हूँ.

काशी वीडियो सेक्सी

मुझे देख कर अरुणिमा ने नज़र झुका ली और ड्राइवर मुझे देख कर मुस्कुरा दिया. इसके बाद बाबा ने फिर से अपना लंड अम्मी के हाथ में दे दिया और खड़ा करने का कहा. मैंने एक ही गोली खाकर 12 बजे से बाथरूम में नहाते समय से दोपहर के 3 बजे तक साली को चोदा.

ज्यों ज्यों उन दोनों की उम्र बढ़ती जा रही थी, दोनों का आकर्षण एक दूसरे के प्रति बढ़ता जा रहा था.

मैं और रिया बहुत बुरी तरीके से एक दूसरे को ऐसे किस कर रही थी जैसे कि हम एक दूसरे को खा जाने वाली थी.

मैं उसके घर रिमोट लेने गया, तो उस समय उसके घर में वो भाभी अकेली थी, उसकी ननद बाजार गई थी. मैंने उसके सुबह निकलने के समय को अपने साथ सैट किया और अगले दिन उसी वक्त उठ गई. सेक्सी बीएफ वीडियो रंडीजल्दी ही भाभी मदहोश हो गईं और बोलने लगीं- जान, मुझे अच्छे से प्यार करो.

ज़ल्दी … साथ ही मैं भी तेरे मुँह में अपनी चूत से अपनी जवानी का रस छोड़ने वाली हूँ. मैंने सोचा उनके नज़दीक जाने के लिए उनके बच्चों से दोस्ती कर लेता हूँ तो शायद नजदीकी बढ़ाने में सुविधा रहेगी. मेरा कमरा घर के एकदम से आखिर में था, इस वजह से मेरे कमरे के तरफ घरवालों का कम आना-जाना रहता था.

उन्होंने मेरे ऊपर अपना वजन नहीं डाला और अपने लंड को बिना पकड़े चूत में लगाने लगे लेकिन लंड इधर उधर हो रहा था. कुछ देर बाद उसने व्हाट्सएप पर मुझे मैसेज किया और मुझसे कुछ डाउट पूछे.

थोड़ी देर तक वो ऐसे ही लेटी हुई मेरी चूत का रस अपने बॉयफ्रेंड के लंड को पिलाती रही.

उसने हाथ के इशारे से कहा- अपना पानी मेरे मुँह में डाल दो, मैं इसको पीना चाहती हूँ. एक दिन मुझे अचानक रोहित का फोन आया- हम दो दिन तक किसी काम के लिए चंडीगढ़ आ रहे हैं. कई जगह और निशान भी दिख रहे थे, उसके चूतड़ भी लाल हो गए थे और चूत भी सूजी दिख रही थी.

सेक्सी फिल्म वीडियो सेक्सी फिल्म बीएफ वो मजाक में कहने लगी- तुम्हारे पास रिमोट नहीं है क्या … कहां गया?मैंने कहा- काम नहीं कर रहा है. गजब की पावर थी उनकी!उनका लंड मेरी चूत की जड़ में जब जब पड़ता तो जांघों से जांघें टकराने की जोर से पट पट की आवाज आती.

तुझे कोई दिक्कत तो नहीं है न?मैंने कहा- नहीं मम्मी, मुझे कोई दिक्कत नहीं है. सुनीता बोली- डरो नहीं, ये रंडियां तुम जैसे अमीरों के लिए ही बनी होती हैं. आज फहीमा एक घरेलू औरत की तरह नहीं बल्कि एकदम रंडी की तरह लंड को चूसे जा रही थी.

सेक्सी बीपी रेप

वो काफी मजबूत मर्द साबित हुआ, लगातार आधा घंटा तक मेरी चूत फाड़ता रहा. मुझे किस करते हुए मॉम ने मेरी टी-शर्ट निकाल दी और मैंने पैंट अलग कर दी. अभी से ये सब करने लगी है यार बेबी … मैं ऐसा क्या करूं कि ये ठीक हो जाए.

हल्के हल्के फिरती हुई उंगली कब तेजी से अन्दर बाहर होने लगी, पता नहीं चला. आज की थ्रीसम सेक्स की कहानी बबली बुआ और उनकी उसी सहेली भाभी की है, जिनको मैं पहले भी दो बार चोद चुका था.

मुझे पिंकी की चूत बहुत सुंदर लगी, गुलाबी गुलाबी फूली हुई, आगे से बंद, पूरी कुंवारी चूत लग रही थी.

उस वक़्त तो डरते हुए पूछा कि बुर के अन्दर अन्दर अपना लंड डाल लूं?वो इतनी गर्म थीं कि बोल नहीं पा रही थीं. तब तक उधर से चाची इतनी गर्म हो गई थीं और कुंवारे लंड के अनाड़ीपन पर इतनी रीझी हुई थीं कि इतने पर ही झड़ गईं. मैंने एक टोकरी में कुछ सब्जी रखी और जमीन पर वैसे बैठ गयी, जैसे संगीता बाजार में बैठती है.

उससे मिलते ही मैंने एक टाइट हग कर लिया और हम दोनों होटल की तरफ चल पड़े. कुछ लोगों के ईमेल आते हैं, वो पूछते हैं कि कहानी रियल है या काल्पनिक. कुछ देर बाद उनका एक लंबा किस लेने के बाद मैं अपने घर पर आ गया और अपने बिस्तर पर लेटकर सो गया.

अपने हाथ नीचे ले जाकर पापा ने मम्मी के कंधे में फंसे ब्लाउज को पकड़कर थोड़ा नीचे सरका दिया.

bhabi बीएफ: उस बाबा ने मेरी अम्मी को अपने पास खींच लिया और एकदम से अपनी बांहों में जकड़ लिया. मामी Xxx भाषा में बोली- हां चोद लेना मेरी जान … मगर फिलहाल तो मैं पूरी तरह से थक गई हूँ, अभी मुझसे कुछ नहीं हो पाएगा.

सुलेमान ने मुझे अपने लंड की तरफ घूरते देखा तो उसने कहा- जान क्या हुआ है तुम्हें? प्लीज़ आओ और मेरे पास बैठो, मेरी बगल में बैठो. जैसे ही मैंने उसके स्तनों को मुट्ठी में भरा, उसकी टीस निकल पड़ी ‘आम्म्म्म्म …’उसने अपना चेहरा मेरी ओर कर लिया. मदन जी ने मेरी माँग में सिंदूर भर दिया और बोले- संजय, आज से जब हम अकेले होंगे.

”जब उन्होंने ये कहा तो मैंने उनकी तरफ़ नज़र उठा कर देखा, उनका चेहरा गंभीर था.

ये सुन कर भाभी बोलीं- अरे यार, अभी तो लड़का जवान हुआ था और तुरंत ही उसका लंड काट दिया. मैंने फिर से विश्वेश्वर जी को कॉल किया और एक रूम का सस्ता फ्लैट का इंतजाम करवा लिया. जिस किसी को भी गांड मरवाने में मजा आता है, उसका एक सपना होता है कि एक बार बड़ा और मोटा लंड गांड में लेकर देखे.