सेक्सी बीएफ साड़ी पर

छवि स्रोत,छोटी छोटी लड़कियों की बीएफ मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx देसी सेक्स: सेक्सी बीएफ साड़ी पर, वैसे तो मैं सांवले रंग का हूँ, लेकिन लोग कहते है कि मैं बहुत स्मार्ट दिखता हूँ.

सेक्सी वीडियो की बीएफ

मीता अब तक दो बार झड़ चुकी थी और उसकी चूत भी लंड से दोस्ती के लिए बेक़रार हो उठी थी. एक्स एक्स हिंदी फिल्म बीएफमम्मी और पापा का तलाक़ हुए अभी कुछ दिन ही हुए थे कि एक दिन जब मैं कोचिंग से लौटा तो एक आदमी हमारे घर आया हुआ था जो 35-40 साल का होगा.

रमेश ने पहले अपने हाथ से रीता के बूब्स को जार से दबाया और फिर उसे अपनी गोद में खींच कर बैठा दिया. सेक्स बीएफ हिंदी मेवहां से कुछ सामान खरीद लिया, फिर कपड़ों की दुकान पर जाकर ममा ने अपने लिए एक साड़ी खरीदी एक रेडीमेड ब्लाउज लिया.

सुनसान जगह पर किसी अनजान आदमी का गधे जैसा लंड चूसने में सच में बड़ा मजा आता है.सेक्सी बीएफ साड़ी पर: अन्दर शेफाली बोली- ये अंकुश कहां रह गया … अभी तक आया नहीं?तभी अंकुश भी आ गया और बोला- ये क्या … आज तो पूरा इंस्टीट्यूट ही खाली है.

मैं बाहर खड़े होकर उनकी ये बातें सुन रही थी और अन्दर झांकने की कोशिश कर रही थी.मैंने नेहा के माथे को चूम लिया, माथे को चूमने के बाद मैं नेहा के नाक होंठ, ठुड्डी, उसकी गर्दन उसके मम्मों को चूमते हुए उसके पेट, धुन्नी और चूत तक आ गया.

सेक्सी बीएफ वीडियो सीन - सेक्सी बीएफ साड़ी पर

दूसरी तरफ मेरे फैमिली मेंबर सब लोग मामी को देख कर बड़े खुश थे कि चलो बहू सुंदर मिल गई है.ये लंड तो मेरी बच्चेदानी से टकरा रहा है … आह मेरे लंडूऊऊ … आज मुझे चोद चोद कर ठंडा कर दो तुम … मेरी जान.

कुछ मिनट चुत चुसवाने के बाद मैंने थॉमस को रोहन को वापिस भेजने का इशारा किया. सेक्सी बीएफ साड़ी पर और उसका हाथ पकड़ कर सामने बैठा लिया और फिर मैंने अपने हाथ से खाने का पहला कौर उसे खुद खिलाया.

मुझे इतनी गहरी सोच में डूबा हुआ देख कर मामी ने मुझे हल्का सा धक्का दिया और बोलीं- कहां खो गया?मैंने मुस्कुराते हुए का कहा- नहीं नहीं … कहीं नहीं … मामी … बस कुछ नहीं.

सेक्सी बीएफ साड़ी पर?

मेरी सेक्स कहानी के साथ बने रहने और हौसला बढ़ाने के लिए मैं आप सभी का आभारी हूँ. तभी मेरी नजर चौराहे के उस पार खड़ी मनजीत व गुरजीत पर पड़ी, वे टैम्पो के इन्तजार में खड़ी थीं. बिन्दू के गदराए शरीर को मैंने खड़े होकर एक बार फिर बांहों में भर लिया.

तभी मामी बोलीं कि तुम बताओ … तुम्हारी रातें कैसे कट जाती हैं?इस पर मैंने कहा कि बस रोज रात को ब्लू फ़िल्में देख लेता हूँ … और मुठ मार कर सो जाता हूँ. बीच बीच में मैंने उसके कान की लौ भी चूसा, जिसका असर ये हुआ कि वो फिर से कामातुर हो गई. विनीता मुझसे लिपट गयी, मानो मैंने उसके जिस्म में एक नई जान डाल दी हो.

उनका फिर से मेल आया कि वो अपना एक और एक्सपीरियंस शेयर करना चाहते हैं और मुझे उन्होंने इसके लिए रिक्वेस्ट की कि मैं उनके इस एक्सपीरियंस को अपने शब्द दूं. मैं बहुत उत्तेजित था क्योंकि करीब डेढ़ साल के बाद उसकी चूत चोदने को मिल रही थी. गर्ल्स Xxx हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि मैं किराए के कमरे में रहता था तो कैसे ऊपरी मंजिल पर रहने वाली एक लड़की से मेरी दोस्ती हुई और एक रात वो मेरे कमरे में आ गयी.

एक हाथ से मेरे चुचे मसल रहा था, एक से मेरे बाल और लबों से मेरे लबों को चूसे जा रहा था. अब हर रोज छुट्टी के बाद गुरजीत मुझे कॉल करके पूछती- अंकल, आ रहे हैं क्या?धीरे धीरे एक महीना बीत गया, बरसात का मौसम शुरू हो गया.

कुछ लोगों ने मुझसे मिलने को भी बोला था, लेकिन समय के अभाव में मिल नहीं पाया, उसके लिए सॉरी … और सभी का धन्यवाद.

मैं जल्दी तैयार हो गया था इसीलिए शादी वाली जगह पर चला गया।थोड़ी ही देर में और सब भी आ गए.

अमन के जाते ही मैं किचन में गया और नीरा की गोरी पीठ पर किस करने लगा. फिर मैंने दीदी के गाल को उमेठते हुए कहा- अरे वाह … दीदी मौका मिलते ही आपने तो चौका लगा दिया. उफ्फ़ … अंकल जान लोगे क्या मेरी?”मैं कभी उस नाजनीन की पीठ चूसता, कभी गर्दन, कभी कान चूसता चला गया.

रॉन भी उसके सिर को पकड़ कर याह्ह … याह्ह … करता हुआ अपना लंड मेरी बीवी के मुंह में पेलता रहा. मेरा मन तो था कि मैं उस टीचर की चुदाई का एक और राउंड खेलूं लेकिन फिर उसको वापस भी जाना था. मेरा मन तो था कि मैं उस टीचर की चुदाई का एक और राउंड खेलूं लेकिन फिर उसको वापस भी जाना था.

हालांकि किसी वजह से वो ख़ुशी से डांट खा चुकी थी और अब वो फिर से मुझसे अपने प्रेम का इजहार कर रही थी.

इस तरह मेरे ब्वॉयफ्रेंड थॉमस ने मुझे 12 दिन तक मेरे पति की नजरों के सामने अपनी रखैल बना कर चोदा. उसका लंड मेरी लोअर में छुपी चूत पे रगड़ कर रहा था और उसमें गीलापन आता चला गया।अब मैंने भी देर ना करते हुए अपनी लोअर पैंटी सहित उतार दी और उसके सामने नंगी हो गयी बिल्कुल। मेरी चिकनी नंगी चूत नुमाया हो गयी. ऐसी कामुक घोड़ी को काबू करना बहुत जरूरी था, तो मैंने गांड पर अपने हाथ से जोर की तीन चपत लगा दीं … वो भी चूत और गांड के बीच में, जिससे वो सिहर गयी और सीधा मुँह करके उसने अपने होंठ मेरे होंठों से लगा दिए.

यूं तो में अपने पति से बहुत चुदती थी और अनिकेत का लंड मेरे पति के बराबर ही होगा … पर इतना तड़पने के बाद एक लंड का चूत में एहसास केवल एक स्त्री ही समझ सकती है. अब चलिये ना।रमेश- बड़ी भूख लगी हुई है तुम्हारी चूत को, चलो तुम्हारी चूत की भूख को मिटा ही देता हूं. तभी मेरे इतना सोचते ही फिर से सुपारा मेरी चूत में घुसता चला गया और मेरी मीठी कराह निकल गई.

मैंने थॉमस का लंड अपने हाथ में लिया और उसे फिर से मुँह में लेकर चूसने लगी.

बीच बीच में दांतों से काट लेता था और जोर का धक्का देकर चूत में लंड को अंदर तक पेल देता था. वक्त ठहर सा गया था, उत्तेजना उफान पर थी और मेरा लंड अभी भी कपड़ों की कैद में था.

सेक्सी बीएफ साड़ी पर मैंने बोला- जब तक खाना नहीं आता मैं सबके लिए जब तक ड्रिंक्स ले आती हूँ. मैंने अपनी कोई प्रतिक्रिया नहीं क्या तो वो समझ गया कि मैं गहरी नींद में सो रही हूँ.

सेक्सी बीएफ साड़ी पर सेक्स के बाद महिला से मुँह फेर कर सो जाने वाले पुरुष श्रेष्ठ चुदाई के बावजूद महिला को संतुष्टि नहीं दे सकते हैं. उसने देखा कि मैं उसकी चूचियों को घूर रहा हूँ, तो उसने अपने कुरते को और खींच कर चूचियों को और बाहर कर दिया.

भाई लोग और माँ सभी मेरे ऊपर काफी ध्यान दिया करते थे जिसके कारण मैं कभी खुल के किसी से बात भी नहीं कर सकती थी।मगर फिर भी घर में छुप छुपा कर हमेशा फ़ोन में गन्दी फिल्में देखा करती और अपनी चूत में उंगली किया करती थी।बहुत सारे लड़के मुझे लाइन मारते थे मगर घर वालों के डर से मैंने कभी किसी को पास नहीं भटकने दिया.

सेक्सी स्टोरी माँ

मैंने बिन्दू के टॉप को उसकी चुचियों के ऊपर से नंगा किया और एक चूची को मुंह में भर कर पीने लग गया. मामी मुझे गरम करते हुए बोलीं- किसकी में पेल रहा है?मैंने कहा- मामी, आपकी चुत में पेल रहा हूँ. मैं शुरूआत करने के लिए कई बार सोचता था लेकिन शर्म और संकोच के मारे आगे नहीं बढ़ पाता था.

एक दिन में सुबह न्यूज़ पेपर पढ़ रही थी, तो उस न्यूज़ पेपर में एक पंपलेट निकला जो स्विमिंग क्लासेज को लेकर था. मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी के पिछले भागमाँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-1में आपने पढ़ा कि मैंने रात भर पड़ोस की जवान लड़की को उसी के घर में चोदा. सपना एकदम से डर गई और अपने आपको छुड़ाने लगी, लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा और कसके जकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया.

ऐसे भी हर इंसान की सोच अलग-अलग होती है।मुझे कुसुम के साथ सेक्स चैटिंग करना भी बेहद पसंद था.

पानी भरने की वजह से उसे सांस लेने में तक़लीफ़ हुई, तो उसने खुद अपने हाथ से लंड सहलाना शुरू कर दिया. प्रतिभा का शरीर फिर ज्वर की भांति तपने लगा … चूत लपलपाने लगी, गांड का छिद्र खुल बंद होकर सांस लेने लगा. मेरे हां कहने पर उसने डाइनिंग टेबल पर खाना लगा दिया और हम साथ बैठ गए.

माल झाड़ने के बाद वे सब सिगरेट पीने लगे और हंसते खिलखिलाते हुए चले गए. भाभी के चेहरे पर मैंने आंसू रूपी मोती ढलकते देखे, निश्चित था कि ये खुशी के आंसू थे. सुबह उठना, अपने बिजनेस पर जाना, रात को बाहर से खाना खाकर रूम पर आकर सो जाना.

लेखक की पिछली कहानी भी पढ़ें:मेरा भानजा भी है और बेटा भीकरीब 10 साल पहले हमारे मुहल्ले में एक पंजाबी परिवार रहने के लिए आया. अब मैंने मन बना लिया था कि रक्षाबन्धन में घर जरूर जाऊँगा और उससे मिल कर आऊँगा.

एक बार मेरे सामने अगर किसी औरत की ब्रा और पैंटी उतर जाती है तो फिर उस पर मेरा अधिकार हो जाता है. इस बार थॉमस से अपना सारा माल मेरी चूत में ही निकाल दिया और मैं थॉमस से चिपक कर बेड पर ही लेट गयी. रमेश- रवि, एक बार अपनी बेटी की चूत और गांड … मेरा मतलब इस रश्मि रंडी की चूत और गांड को चाट कर तो देख.

मैंने झट से दांव बदला और लण्ड को गांड से अलग करके झट से अपने मुख में भर लिया।अगले ही पल 5 से 7 झटकों के बाद उसके लण्ड ने गर्म पिचकारी छोड़ दी और उसका सारा गर्म लावा मेरे मुंह के अलावा मेरे होंठों पर आ गिरा। मैंने उसके वीर्य की एक एक बूंद को चाट कर साफ कर दिया।चूंकि अब रात हो गयी थी तो अब खाना बनाने का वक्त आ गया था.

वो बोलीं- हर्षद तुमने तो मेरी चुत फाड़ दी आज … शायद खून निकल गया है. मैंने बिन्दू को मजा देने के लिए उसकी चूचियों को और होंठों को चूसना शुरू किया तो दो ही मिनट बाद बिन्दू एकदम मुझसे लिपट गई और आ… आ… आ… ई. मम्मी ने मुझे कुछ सामान दिया और बोलीं कि लो ये सामान मामा के घर देकर आओ.

मैं आपलोगों को क्या क्या बताऊं कि उन्होंने मुझसे कितनी गंदी गंदी बातें की. तुम दोनों के लौड़े आराम से अंदर ले सकते हैं ये छेद।तभी रमेश ने रश्मि की गांड पर एक जोरदार चाँटा मारते हुए कहा- रंडी, तूने भी हमें अभी देखा ही कहाँ है? आज तेरी ऐसी चुदाई करेंगे कि तुझे तेरी रंडी माँ याद आ जाएगी।तब तक रवि बेड पर चढ़ गया और रश्मि उसे देख कर मुस्कुरा दी.

शेफाली और मैंने देखा कि आज तो पूरा इंस्टीट्यूट खाली खाली लग रहा था. क्या तुम अपनी स्कर्ट में दबी अपनी शर्ट को बाहर निकाल सकती हो?आरूषि ने अपनी शर्ट को स्कर्ट से बाहर खींच लिया. मैं अपने भाई की ससुराल में वापस आकर लेटा लेटा उसी के बारे में सोच रहा था कि कब उसकी चुत चुदाई का अवसर मिलेगा.

செக்ஸ் ப்ளூ ஃபிலிம் படம்

उसको आप सभी बतायें कि उसने ये सब ठीक किया या गलत किया? पाठिकाओं से विशेष अनुरोध है कि वो खुद को विनीता की जगह रख कर एक बार जवाब जरूर दें.

फिर आप बोलने लगीं कि ओह सॉरी मुझसे पानी का गिलास गिर गया … कहीं आपको लगी तो नहीं, मैं पानी साफ कर देती हूँ. कुछ आधा घंटे की चुदाई के बाद स्वीटी मैडम बोलीं- आंह जानू और तेज चोदो … और जोर से … मेरी जान बड़ा मस्त मजा आ रहा है … और जोर से करो. डॉक्टर ने उसके बेटे की जांच करने के बाद बोल दिया कि उसके बेटे को यहीं अस्पताल में ही भर्ती करना होगा और यहीं पर उसका इलाज होगा.

जितनी तेज़ी से लंड चूत से बाहर आता, उतनी ही तेज़ी से लंड चूत में जा रहा था. साथ ही उसने बधाई प्रेषित की।लेकिन मेरे मन में कुछ बातों की दुविधा थी जिसे मैं खुशी के सामने भी नहीं कह सकता था. बीएफ व्हिडिओ बीपीपूजा- उम्हा … चुउप्प … सीस्प्स्प्स … चुप्च्प्च्प् … म्हुउन्ंन् म्म्ं … आज खा जाऊंगी … मैं बहुत दिन से इन कड़क बाजुओं में आने को तड़प रही थी.

नेहा की चूत की दोनों ऊपर की पुटियां एकदम सुंदर, उभरी हुई, कसी हुई और तरोताजा लग रही थी. लेकिन ऐसी वासना और इतने इत्मीनान से लंड चुत के अन्दर गया कि मुझे दर्द का अहसास तक नहीं हुआ.

मैंने उसे अपने जन्मदिन का हवाला दिया कि एक रात के लिए वो मान जाये, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा. मेरे बताते ही उसने थोड़ा झुक कर अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और अपना हाथ मेरे लंड पर रख कर उसे पैंट के ऊपर से ही दबाने और सहलाने लगी. ऐसी गांड भला किसे चोदने के लिए मिलती है, यही सोच सोच कर मैं फूला जा रहा था.

वो हम लोगों के साथ करो, तब जाने देंगे … नहीं तो हम अभी गांव से और लोगों को बुला लाएंगे. शाम को मैं सुमीना के यहां गया ये देखने कि उसके बच्चे की तबियत अब ठीक है या नहीं. पता तो चलेगा कि बाप की इज्जत कैसे उछाली जाती है!रवि- क्या ये रंडी हम दोनों के लंड ले सकेगी? आज तो मैं इसकी चूत और गाँड का भोसड़ा बना दूंगा।रवि की बात सुन कर रमेश खुश हो गया और रश्मि बिल्कुल सरप्राइज रह गयी.

मैंने नेहा के पटों को थोड़ा सा अपने हाथों से खोला और चूत के ऊपर लंड रखने की जगह बनाई और धीरे धीरे छेद के अंदर सुपारा डाल दिया.

अर्जुन की इस खुराफाती दिमाग का सोच कर मैं काफी रोमांचित हो रही थी।रात के करीब 10. एक दिन शनिवार को लगभग 3:00 बजे के करीब मैं एक बहुत ही सेक्सी पिक्चर के पोस्टर देखकर टिकट की लाइन में टिकट लेने के लिए खड़ा हो गया.

जिस दिन से गुरजीत ने मेरे साथ कार में आना जाना शुरू किया था, मैंने उसी दिन से रोज सुबह शाम शिलाजीत के दो कैप्सूल खाने शुरू कर दिये थे क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि 19 साल की गुरजीत की चूत चोदने में मेरा 50 साल का लण्ड कमजोर पड़ जाये. गुरजीत के 20 रुपये भी बचते थे और टैम्पो के धक्कों के बजाय एसी कार का सफर करती. कुछ देर बाद दोबारा से उन्होंने मेरे लंड पर लिक्विड चॉकलेट को लगाया और फिर से लंड चूसने लगीं.

मैंने फिर कहा- अगर मैं तुम्हारे साथ कुछ ज्यादा कर जाऊं … तब भी नहीं? तुम्हारे साथ बिना सहमति के सेक्स कर लूं … क्या तब भी नहीं?नेहा ने फिर सपाट उत्तर दिया- हां सर तब भी मैं नाराज नहीं हो सकती. मैंने देखा कि मीता के गोरे चूतड़ों पर मेरी उंगली के लाल निशान उभर आए थे. उन्होंने बताया कि उनकी गैस की टंकी सुबह से नीचे रखी हुयी है, वो भरी हुई और उनसे उठ नहीं रही है.

सेक्सी बीएफ साड़ी पर वो अपनी दोनों टांगें हवा में उठाते हुए बोलीं- आह और चोदो … और जोर से … मेरी जान मस्त मजा आ रहा है. मैं सोच में पड़ गयी कि अगर मैं न बोलती हूँ, तो ये नौकरी, घर और ऐशो आराम सब निकल जाएगा … जिसके लिए में हमेशा के लिए तरसती रही हूँ.

मारवाड़ी चूड़ियां

सरोज बोली- लंड लेने का मन कर रहा है क्या?मैंने कहा- हां, मगर कहां से लायेगी?वो बोली- वो सब मुझ पर छोड़ दे. दो ही दिन में साली जी की शर्मो हया हवा हो चुकी थी और वे चुदाई कला में दक्ष होकर लंड का आनंद लेना सीख चुकी थी. तुम, तुम्हारी बेटी और तुम्हारा बिजनेस!रमेश ने रति को अपनी बांहों में कस लिया और बोला- अरे जानू … ग़ुस्सा क्यों होती हो.

लड़की की जांघें चाटने में मुझे वैसे भी अपार हर्ष और आनंद होता ही है. रीता- मैं जरा फ्रेश हो कर आती हूँ।वो बाथरूम में गयी और जब बाहर निकली तो रमेश के चेहरे पर शैतानी मुस्कान फैल गयी. बीएफ औरतों कीमेरी आंखों में से आंसू निकलने लगे … क्योंकि आज तक मैंने इतना मोटा लंड अपनी चुत में नहीं लिया था.

तो उसने मुझे सलाह दी- इसमें कोई बुराई नहीं है, जो भी होगा तुम दोनों के अलावा किसी को नहीं पता होगा। इसमें कोई इज्ज़त बेचने जैसी चीज़ नहीं है, बस लेन-देन की बात है। वरना तू हार ही तो जाएगी.

वे बोलीं- राज मैं आज 4 साल बाद सेक्स कर रही हूँ … मैं बहुत खुश हूँ. जो बेटी उसकी नजरों के सामने बड़ी हुई थी वो आज उसके सामने रंडी बन कर नंगी लेटी हुई थी.

मैंने भी अपने धक्के तेज कर दिए और उसी वक्त मेरे लण्ड ने बिन्दू की चूत में अपने वीर्य की पिचकारियां मारनी शुरू कर दी. बस तुम कैसे भी थॉमस को खुश करना … और हां मैं तुमसे पहले भी प्यार करता था और अभी भी करता हूँ. अब आगे की सेक्स ऑन रोड स्टोरी:अनिकेत मुझे अपनी गोदी में लिए गाड़ी के बाहर था और मेरी चूत को अच्छे से चूस रहा था.

और उसका प्रकाशन भी हो गया, जिसे पढ़कर आप सभी पाठक पाठिकाओं द्वारा प्रशंसा के खूब संदेश आए।कुसुम ने भी कहानी की जमकर तारीफ की.

फिर मैंने दो लड़कों को दूसरी साइड भेज दिया और कहा कि जब महिला पुलिस वालीं कपड़े उतारकर लेटेंगी, तब उन सबको दोनों साइड से टॉर्च जलाकर शोर मचाकर डराना है. उसने कुछ देर तक मेरी गर्लफ्रेंड की चूत को बड़ी शिद्दत से चाटा और चूसा. मैंने उसी समय चित होकर अपनी टांगें खोल दीं और मेरी बुर खुली हवा में अपने भाई के लंड का इन्तजार करने लगी.

बीएफ दिखाएं चोदते हुएफिर इसका माल कैसे टेस्टी नहीं होगा! तेरे जैसी चूत पाकर तो ये पूरा बेकाबू हो जाता है और ऐसा ही गाढ़ा गाढ़ा मजेदार माल फेंकता है. मैं और वो साथ में लेट जाते थे लेकिन अभी तक कभी चुदाई जैसा कुछ नहीं हुआ था.

काजोल की नंगी तस्वीरें

डेजी अब कराहने लगी थी और मुझसे रुकने की कह रही थी, लेकिन बहन का लौड़ा मेरा लंड शांत ही नहीं हो रहा था और न ही पानी छोड़ रहा था. उसके बाद मेरे जितने भी नम्बर थे सब व्हाट्सएप और नॉर्मल कॉलिंग में ब्लॉक कर दिए गए. मैं दूसरे हाथ से बदन को सहला रहा था- बस मेरी गुड़िया … बस जो होना था वो हो गया … अब दर्द नहीं होगा जान … बस मेरी बच्ची बस!मीता रोते हुए हिचकी लेते हुए फफक रही थी- उन्ह … आह … ये क्या कर दिया अंकल … आपने मेरी फाड़ दी … आंह आपने कहा था कि प्यार से करोगे … आप तो जानवर हो जानवर … आपने मेरी चूत को फाड़ दिया … आह … अब मैं कैसे घर जाऊंगी … कुत्ते हो आप अंकल … कमीने हो आप.

मैं शुरूआत करने के लिए कई बार सोचता था लेकिन शर्म और संकोच के मारे आगे नहीं बढ़ पाता था. वो बोलीं- कुश्ती देखने के बाद क्या करते हो?मैंने भी कह दिया कि हाथ चला लेता हूँ. वैसे मेरी शादी कभी भी हो, तुम्हें जरूर बुलाऊँगी, तुम आओगे ना?मैंने कहा- तुम बुलाओ और मैं ना आऊं ऐसा सोचना भी नहीं, बुलाने के लिए धन्यवाद।अब खुशी और मैं एक दूसरे को समझने लगे थे.

कि ये साला आता कहाँ से है?खैर ये सोचते सोचते दस बज गए मगर राजू नहीं आया. मुझे गोदी में पहली बार किसी मर्द ने इस तरह उठाते हुए चूसा था, तो ये मेरे लिए ये एक ख़ास लम्हा था. मैंने उसकी तरफ हाथ बढ़ाते हुए कहा- हैलो विन्नी जी!विन्नी- हैलो राज! कैसे हो तुम?कहते हुए उसने हाथ मिलाया.

थॉमस अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाल कर मेरे पेट के ऊपर आ गया और अपना लंड हिलाने लगा. अब सरोज ने मेरे होंठों से अपने होंठों को हटाया और मेरी चूचियों के निप्पलों को मसलने लगी.

मैं मोबाइल में पोर्न लगा कर एक हाथ से अपनी चुचियों को मसलने लगी और दूसरे हाथ से अपनी बुर में उंगली करने लगी.

ऐसा कहकर आप मेरे लंड को फिर से बेतहाशा चूसने चूमने लगीं भाभी और फिर अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. चीन का सेक्स बीएफआप सब आफ्टर-प्ले जानते हैं ना? लो कर लो बात … आफ्टर प्ले नहीं जाना, तो कुछ नहीं जाना. कुंवारी दुल्हन सेक्स बीएफमैंने बड़ी उत्सुकता से पूछा- फिर क्या हुआ दीदी?दीदी बोली- हम्म … अपने पति का के कारनामे बड़े मजे लेकर सुन रही है. मैंने अपनी पिछली रचनामेरे जीवन का पहला सेक्समें आप सबको बताया था कि किस तरह से मैंने अपनी जिंदगी का पहला सेक्स नीलम नाम की एक टीचर के साथ किया.

और रही बात सेक्स की … तो हम गरीबों का जिस्म तो होटल की चादर के समान होता है, एक रात के लिए कोई भी सोकर निकल जाता है.

फिर उसने अपना सारा माल मेरी चुचियों पर ही छोड़ दिया और मेरी बगल आकर लेट गया. मैंने सोचा आंटी अपनी वासना के चलते कुछ न्यूड पोर्न या सेक्स कहानी वगैरह देख रही होंगी. जैसे जैसे मेरे डिस्चार्ज का समय करीब आ रहा था मेरे लण्ड का सुपारा मोटा होता जा रहा था और मेरे लण्ड की तमाम नसें उभर कर फूल गईं.

कुछ देर चूत चाटने के बाद अंकुश ने अपना लंड शेफाली की चूत में डाल दिया तो शेफाली और तड़पने लगी. मैंने बिन्दू को मजा देने के लिए उसकी चूचियों को और होंठों को चूसना शुरू किया तो दो ही मिनट बाद बिन्दू एकदम मुझसे लिपट गई और आ… आ… आ… ई. भाभी की चूत में उंगली और बड़े सख्त मम्मों को मैं पूरी ताकत से पी रहा था.

सनी लियोनी के सेक्सी फोटो

दोस्तो, मेरे जीवन में एक बात बहुत अच्छी रही है कि मैं जिस बात को पाना चाहता था, कुदरत मेरा पूरा साथ देती थी और इसी वजह से मैं बहुत ही भाग्यशाली रहा हूँ. फिर उन्होंने अपने लंड पर तेल लगा कर गांड के छेद में सुपारा घुसा दिया. और मैंने फिर खुशी से पूछ लिया- तुम्हारे मंगेतर ने तुम्हें मुझसे बात करने की परमीशन कैसे दी?इस पर खुशी ने कहा- पूरी कहानी विस्तार से बाद में बताऊंगी.

उसे मेरे कड़क लंड का एहसास हुआ, तो बदले में उसने भी मुझे होंठों पर चूम लिया.

अब थॉमस ने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया.

हैलो फ्रेंड्स, मेरी देसी Xxx सेक्स कहानी के पिछले भागजेठजी ने मेरा चुदाई काण्ड कर दिया- 2में आपने पढ़ा कि मैं अपने जेठ के साथ एक बार चुदवा कर उनके लम्बे और मोटे लंड से दुबारा चुदने का मन बना चुकी थी और उनके वापस आने का इन्तजार कर रही थी. लड़के ने देख लिया तुरन्त पापा को दिखाया और बोला कि भैया ने ऐसे मैसेज भेजा है. वीडियो बीएफ सील पैकवो बूढ़ा बाबा अपने दोनों हाथों से मेरे निप्पलों को सहलाने और मींजने लगा.

मैं कुछ बोलती इससे पहले वो फिर मुझसे गले लगकर किस करने लगा और बोला कि मैं आपको चोदना चाहता हूं. जहां अंधेरा ही था … पर वहां रोशनी के लिए बिजली के दिए लगा रखे थे … और धीमी रोशनी जला रखी थी. मैंने मां से कहा- अरे मां आपने क्यों तकलीफ की, मैं खुद ही गेट खोल लेता ना!वो बोलीं- अरे मेरा काम खत्म हो गया था हर्षद और मैं तुम्हारा ही इंतजार कर रही थी.

अब आप ही बताइए कि मैं अपनी गलती कैसे सुधारूं?भाभी गांड हिलाते हुए बोली- फिर आपने क्या कह मेरी जान!मैं- भाभी मैं पागलों की तरह आपसे बोला कि भ्भभाभी आपने मेरे लौड़े को गिलास से चोट मारी है. मुझे जल्दी घर जाना है।रमेश- पर क्यों मेरी जान?रीता- घर पर मेरे पति मेरा इंतज़ार कर रहे होंगे।रमेश- वह भड़वा क्या इंतज़ार करेगा तुम्हारा? उसे तो मैं एक फ़ोन लगाऊंगा तो वह अपनी माँ भी चुदवा देगा मुझसे।रीता ने हंसते हुए कहा- और बच्चे? मेरे बच्चों को कौन संभालेगा?रमेश- तुम्हारा पति कब काम आएगा? वह सम्भालेगा उन्हें.

मैंने अपने लण्ड के ऊपर भी वैसलीन लगाई और दबाव बढ़ाया, लेकिन छेद इतना छोटा था कि लण्ड के सुपारे के नीचे बुर का छेद दिखाई नहीं दे रहा था, बुर खुलने लगी, सुपारा धीरे धीरे अंदर जाने लगा.

जवाब में मैं भी ऊपर नीचे होकर उसकी चूत में धक्के देने लगा ।मेरे हाथ उसके स्तनों तक पहुंच रहे थे जो कि उसके स्तनों को जोर से मसल रहे थे. आपने तो फिर भी लंड का स्वाद ले लिया है … मैंने तो आज तक किसी के साथ सेक्स ही नहीं किया है. मैंने रंडी की तरह कहा- संगम देखना है कि डुबकी भी लगाना है?वो बोला- डुबकी भी लगाने का मन तो है … यदि आपको कोई ऐतराज ना हो तो हम भी बहती नदी में चप्पू चला लेंगे.

बीएफ फिल्म बीएफ बीएफ सेक्सी अर्पित को वहीं छोड़ कर मैं नीला और निशांत को बुलाने के लिए चली गयी. सुलेमान- मतलब?मतलब तू शैली को अपने नीचे लिटा, मैं और कुरैशी मालिनी को दोनों छेदों में बजाते हैं.

फिर साबुन लगा कर थूक के साथ अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल कर सहलाई और घुमाते रहे. मैंने उनको कस कर पकड़ लिया और लंड का दर्द चूत में बर्दाश्त करने लगी. यह मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, आप अपनी राय इस पते पर देकर अगली कड़ी के लिए मेरा हौसला बढ़ायें।[emailprotected].

देहाती गांव की देसी सेक्सी वीडियो

वो बेसब्र सी होकर मेरी शर्ट को खींचने लगी, जिससे नीचे के बटन टूट गए. मैं उनके शांत चेहरे पर काम वासना के वशीभूत होकर देखने लगी, वो शायद मेरे मन की बात समझ गए. रीता रंडी की बात सुन कर वेटर भी शरमा गया और वहां से चुपचाप चला गया.

रॉबर्ट ने मुझे काफी देर तक चोदा और उसके बाद वो भी अपनी चरम सीमा पर आ गया. जहां अंधेरा ही था … पर वहां रोशनी के लिए बिजली के दिए लगा रखे थे … और धीमी रोशनी जला रखी थी.

मैं बोला- इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या हो सकती है अंकल! मगर पहले मुझे होटल जाना होगा.

इसमें मेरे 32 इंच के चूचों को दूर से ही कोई देख कर मस्त हो सकता था. वो बोली कि जाकर रश्मि से मिले और पता करे कि उसकी क्या क्या कमजोरी है? कैसे रश्मि को चुदाई के धंधे में उतारा जा सकता है?रेहाना को भी रिया ने एक लाख रुपये ऑफर कर दिये. तूने मस्त करंट वाली माल जैसी लौंडिया को मेरी झोली में डाल ही दिया, थैंक्यू.

वेटर को खाने का ऑर्डर दिया तो वेटर बोला- सर आप रूम में चलिए, खाना वहीं पहुँचा दूंगा मैं. कुछ ज्यादा स्मार्ट लड़के, मेरी गांड पर हाफ पैंट के ऊपर से ही हाथ फेर देते और मुस्करा देते. मेरा पूरा मुँह चूत के रस से गीला था, तो मीता के होंठों के किनारों से सफ़ेद लकीर सी बह रही थी.

गर्ल हॉट सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे पड़ोस की जवान लड़की ने मुझे पार्क में बुलाया.

सेक्सी बीएफ साड़ी पर: फिर पीछे से मैं आंटी से बोला- आंटी, आप ये क्या कर रही हो?मेरी आवाज सुनकर आंटी एकदम से घबरा गईं और शर्म से लाल हो गईं. वो मुझे गाली बकने लगी थीं- अब आ भी जा मादरचोद … अपनी अम्मी को चोद दे भैन के लौड़े … क्यों तड़फा रहा है हरामी.

नमस्कार दोस्तो, मैं आपका अपना प्रकाश सिंह, अपने नई सेक्स स्टोरी के साथ आपके सामने हूँ. उसने फोन रख दिया, तो कुच्ची बोला- अब भाई तेरी ठंडी तो दूर हो जाएगी मेरा क्या होगा?मैं- तू ना यहां बैठे बैठे ये कल्पना करना कि अब मैं उसकी चूची चूस रहा होऊंगा … अब वो मेरा लंड छू रही होगी और अब चुदाई हो रही होगी. फिर वो मेरे एकदम पास आया और बोला- बताओ क्या फैसला लिया? पुलिस को बता दूँ या तुम मेरी बात मानोगी.

आहिस्ता-आहिस्ता आगे बढ़ती हुई वो बिल्कुल रमेश के पास घुटने मोड़ कर बैठ गयी।रमेश- क्या नाम है तुम्हारा?लड़की- जी रश्मि.

मैंने हिल डुल कर अपनी आंखों पर से पट्टी हटाना शुरू किया तो सर ने मुझे रोक लिया. उसको नहीं पता था कि ये मस्ती कुछ ही पलों में दर्द और चीख में बदलने वाली है. तो मैं अपनी चिकनी नंगी चूत लेकर खड़ी हो गयी उसके सामने।आपकी सुहानी चौधरी[emailprotected]कॉलेज गर्ल की नंगी चूत की कहानी का अगला भाग:कभी कभी जीतने के लिए चुदना भी पड़ता है-3.