बीएफ बुंदेलखंडी

छवि स्रोत,ভিডিও পর্ন ভিডিও

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स कार्टून सेक्स: बीएफ बुंदेलखंडी, उधर जाने के लिए मैं रोज़ सुबह क़रीब साढ़े छह बजे अपने गांव से बस पकड़ कर रोहतक निकल जाता था.

सेक्सी वाली बीएफ

कहाँ वो दुबली पतली बुझी बुझी पिचकी हुई नगमा और किधर ये भरी भरी हंसती मुस्कुराती भरे बदन वाली मस्त सेक्सी नगमा. चोदी चोदा हिंदी फिल्ममतलब कुछ लड़कियों को अगर समय पर चोदा ना जाये तो उनको दौरे पड़ने लगते हैं.

मैंने पहले उन बालों को अपने उंगलियों से छुआ और चूत पर सभी जगह उंगली को घुमाने लगा. डब्ल्यू डब्ल्यू सेक्सी बीएफ फुल एचडीबॉटम लौंडा सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे लड़कों को देख कर वासना जागने लगी थी.

ये सुनकर मोहित ने कहा- कैसा मज़ा?तो मैंने कहा- मेरी जान सबसे ज्यादा मज़ा तो तुझे ही आने वाला है.बीएफ बुंदेलखंडी: मेरे प्यारे पाठको,आपने मेरी पिछली कहानीमौसी ने चुदवाई मुझसे अपनी देवरानी की चूतपढ़ी पसंद की और सैंकड़ों मेल मुझे मिले तारीफ़ के! इसके लिए आप सबका धन्यवाद.

छोटू मजे लेते हुए मुझे गाली देने लगा- ले रंडी मादरचोद, चूस ले मेरा लंड.मैंने उसे कैसे सेट किया, थोड़े रोमांस के बाद हम सेक्स की चाहत रखने लगे.

सेक्सी बीएफ सनी - बीएफ बुंदेलखंडी

मन कर रहा था कि अभी जाकर अपने दिल की बात बोलकर इस भाभी से ही शादी का प्रपोजल रख दूँ.वो घुटी हुई आवाज में मुझे बोलने लगी- प्लीज, ऊंह उन्नह बाहर निकालो … मैं मर जाऊंगी.

मेरा लंड भी कड़क होकर कोमल की सलवार के ऊपर से उसकी चूत के ऊपर ठोकर मार रहा था. बीएफ बुंदेलखंडी मैं आपके हर काम में भी आपकी मदद कर दूँगा, पर ये बात सिर्फ़ अपने दोनों के बीच में रहना चाहिए.

मैं मांड्या बस स्टॉप पर उतर गया और उस कार्यालय के लिए रवाना हो गया जहां नम्रता आंटी के पति काम करते थे.

बीएफ बुंदेलखंडी?

दरअसल मेरी मम्मी को घर के काम में मदद के लिए कोई चाहिए था और उसी समय मेरे उन दूर के मामा ने कहा कि वो अपनी बेटी रचना को भेज देंगे. हाय, मैं एक नया नया बिजनेसमैन हूं और अपने घर से ही अपना सारा काम करता हूं. ठंड के कपड़ों की वजह से उनके जिस्म कि गोलाइयों का अंदाज़ा लगाना जरा मुश्किल था, पर चेहरे से वो मस्त माल थीं, एकदम गोरी चिट्टी और चिकनी जैसे भोजपुरी टीवी अभिनेत्री रश्मि देसाई.

उन्होंने भी अपनी बांहें मेरी पीठ के चारों ओर तथा अपने पैरों से मेरी कमर को लपेटा हुआ था. मैंने उससे कहा कि मैंने तुम्हें पहले ही कहा था कि मैं तुम्हें हर रोज देखता हूँ और तुम मुझे बहुत खूबसूरत लगती हो, लेकिन तुम ही मुझे बार बार मजबूर क़र रही थीं, तो मैंने बस बोल दिया. मैंने लंड पर हल्का सा थूक लगाया और अपने लंड को वापस उसकी गांड पर सैट करके फिर से उसको अन्दर करने की कोशिश करने लगा.

मैंने कहा- हां मेरी जान तू डर मत, बस अब तू मेरा लंड अपनी कसी हुए गांड में महसूस कर और मजा ले. मैंने साक्षी की गांड पर हाथ रखा और धीरे से उसकी गांड को अपने लंड से थोड़ा ये देखने के लिए उठाया कि मेरा लंड अभी भी खड़ा है और उसकी गांड में फंसा हुआ है. मैंने उन्हें अपने लिए सुहाग का जोड़ा कैसा हो, वो इस प्रकार से बताया था.

बहन काम से वापस आई तो अम्मी अब्बू ने उसे बताया कि उन दोनों को शादी में पुणे जाना है. अपनी एक टांग उठाकर काकी ने बापू की टांग पर रख दी और दूध चुसवाने का मजा लेने लगीं.

मेरे ऊपर तो पहले से उत्तेजना सवार थी, तो मैं धीरे से अपना हाथ ले जाके उसकी जांघ पर रख के सहलाने लगा.

अब मॉम के इतने सेक्सी मम्मे देखकर मुझसे रहा नहीं गया और फिर मैंने उनकी ब्रा भी हटा दी.

आधा घंटे के बाद तूफान थोड़ा शांत हुआ तो मैंने उसे गोद में उठाया और बिस्तर पर ले गया. वो गुस्से में जोर जोर से जिन्न को गलियां देने लगे- मादरचोद ले, अपने लण्ड से आज तेरे दो टुकड़े कर दूंगा, फाड़ दूंगा तुझे रंडी!उनका लण्ड इतना बड़ा था कि मेरे गले को फाड़े दे रहा था. आखिर मैंने उसकी चूचियां कसके पकड़ीं और उसके मुँह में अपनी जीभ डाल कर जोर का धक्का दे मारा.

साक्षी ‘आह इस्स…’ करने लगी और मेरे मुँह में साक्षी की चूची से दूध की धार आने लगी. मैं- ये दर्द बस कुछ देर का है, कल तेरी चूत फिर से लंड की ऐसे प्यासी हो जाएगी, जैसे उसे कुछ हुआ ही न हो. अचानक मेरे पेट से गुड़गुड़ गुड़गुड़ आवाज आने लगी और पींपूं करके धीरे से मेरी पाद निकल गई.

[emailprotected]वाइफ चीटिंग सेक्स कहानी का अगला भाग:मेरी पत्नी होटल मालिक से चुद गयी होटल में- 2.

दोस्तो, मैं गुड़गांव में रहता हूँ और मेरी विधवा बबली बुआ मानेसर में रहती हैं. मैं बहुत ही सांवली हूँ पर मेरे मम्मे बहुत ही मस्त हैं, बिल्कुल गोल और बहुत ही चिकने व मक्खन से मुलायम हैं. दोनों ही पसीने की वजह से भीग चुके थे लेकिन मज़ा दोनों को ही बहुत ज्यादा आ रहा था.

मैंने नशे में बुआ के गाल में दो थप्पड़ जमा दिए और बोला- मेरा जो मन होगा करूंगा. अपने लंड को पूरा उनकी चूत में खाली करके मैंने उसे बाहर निकाला तथा देर तक हम-दोनों ऐसे ही एक दूसरे से लिपटे पड़े रहे. इस बात से मुझे ये कॉन्फिडेंस आया कि मैं किसी भी औरत को भरपूर शारीरिक सुख दे सकता हूँ और उसकी प्यास बुझा सकता हूँ.

गप्प ओं गों की आवाज़ के साथ साली की आंखें जो अभी तक बंद थीं, अपने प्यारे जीजू की इस हरक़त से खुल गईं.

उस औरत ने मुझे तिरछी निगाहों से देखा तो मुझे ऐसा लगा कि उस औरत को भी लंड की प्यास है. कुछ पल बाद मैंने धीरे से वो कम्बल उसके पैर पर भी डाल दिया और उसने भी कुछ न कहते हुए कम्बल को अपने ऊपर ओढ़ लिया.

बीएफ बुंदेलखंडी सच मैं आप कैसे दिखते हो या लगते हो इससे फर्क नहीं पड़ता, आपके अन्दर कितनी कामुकता है, इससे बड़ा फर्क पड़ता है. एक बार उसने कहा- मैं तुम्हारी बच्ची की मां बन गयी हूँ तो अब मैं पूरी तरह से तुम्हारी हूँ.

बीएफ बुंदेलखंडी मैंने फ़ोन उठाया तो कॉल रिसेप्शन से था।उन्होंने मुझे बताया कि कोई अंजलि जी आप से मिलने आई हैं. यदि आप पाठिकाओं को मेरी कहानी पढ़कर अपनी चूत में उंगली करने का मन हुआ हो और उत्तेजित होकर ये जानने का मन हुआ हो कि कोमल की चुदाई कैसी हुई होगी और आपका संदर्श कैसे कोमल कीचूत का भोसड़ाबनाएगा, अपने मूसल जैसे लंड को चूत में फिट करके पेलेगा, कैसे कोमल की चूत चुदेगी और वो कली से फूल बनेगी.

उसकी सांसें किसी धौंकनी की तरह तेज तेज चल रही थीं और दिल जोर जोर से धड़कने लगा था.

जणू सेक्सी वीडियो

अभी तक भाभी के पांव भारी नहीं हुए थे, शायद भैया-भाभी परिवार नियोजन कर रहे थे. फिर लिपलॉक किया और लंड चूत पर सैट करके उसके दोनों हाथों को जोर से पकड़ लिया. आंटी ने भी ज़िप खोल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और बड़े प्यार से सहलाने लगीं.

बुआ कमर उठा उठा कर चुदाई का मज़ा लेने लगीं और मैं झटके पर झटके लगाने लगा. मैंने उसकी लेगिंग्स की इलास्टिक को उसकी कमर के नीचे घुटने तक खिसका दिया. कभी मैं उसकी एक चूची को चूसता … तो कभी दूसरी चूची को!और धीरे से मैंने उसके निप्पल पर काट लिया … जिससे उसकी आह निकल गई.

मैं वापस गया और पेटीकोट लेकर मॉम को देने के लिए बाथरूम के बाहर रख आया.

उसने कहा- तुझे लड़की बनने का इतना शौक है कि मेस में पैंटी पहन कर आया है. मैं कोमल के शरीर के हर हिस्से को अपने होंठों से टच करता हुआ और उसके पैरों की उंगलियों को चूमने के बाद मैं ऊपर बढ़ने लगा. उसने मेरी दोनों टांगें पकड़ कर अपने कंधे पर रख लीं और एक जोर का झटका दे मारा.

मैंने उनकी चूचियों पर खीर डाल कर चूसी और उन्होंने भी मेरा लंड सॉस में डुबा कर चूसा. मुझे आंटी की चूत की वीडियो या फोटो निकालने का मन था लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. मैंने आगे कहा- मेरी निगाहें तुम्हारी निगाहों को देख रही हैं, मेरा मन भगवान से प्रार्थना कर रहा है कि कोमल मेरा ये प्रणय निवेदन स्वीकार कर ले.

मैंने सोचा कि जब इसका कुछ हो जाएगा, तो इसको देख कर अपना भी कुछ हो जाएगा. एकदम से लंड गांड में घुसा तो चाची की तेज आवाज़ आई- उई मम्मी मर गई रे … आह मेरी फट गई.

मैं हॉस्पिटल में था, मेरी ड्यूटी ख़त्म होने में आधा घंटा था और डॉक्टर साब जा चुके थे. उसने मुझे घुमा दिया और मेरे भारी भरकम कूल्हों की दरार में वो लंड रगड़ने लगा. नम्रता आंटी की बेटी स्कूल गई थी तो अब घर में सिर्फ मेरी आंटी और मैं ही था.

मैंने हाथ हटाने की कोशिश की, तब तक उसके दोनों दूध मेरे हाथों में आ गए थे.

मेरी बुर के आस पास हल्के हल्के बालों में बुर से टपका हुआ रस लगा था. मैंने और मेरे दोस्तों ने कुमकुम को बांध कर घोड़ी बना कर बारी बारी से मेरी चचेरी बहन को चोदा, उसकी चूत गांड एक साथ चोदी. उसके गोल गोल उभरे हुए स्तन, गदराये हुए चूतड़ उसे रूप की रानी बना रहे थे.

वर्जिन GF न्यूड सेक्स स्टोरी मेरी क्लासमेट की सीलबंद चूत की पहली बार चुदाई की है. लेकिन जब से उसने जवानी में कदम रखा, मेरी नजर बदल गयी और मैं उसे चोदने के सपने देखने लगा.

उसकी तरफ से साफ़ साफ़ चुदाई का निमन्त्रण पाते ही मेरा तो दिल बाग़ बाग़ हो गया, जो बात मैं कहना चाहता था, वो उसने ही कह दिया. चूत पर जैम लग जाने के बाद मैंने कोमल की टांगों को अपने कंधों पर रख लिया और उसकी चूत पर अपना मुँह लगाने लगा. अपने लंड को पूरा उनकी चूत में खाली करके मैंने उसे बाहर निकाला तथा देर तक हम-दोनों ऐसे ही एक दूसरे से लिपटे पड़े रहे.

बेटा ने मां को चोदा सेक्सी वीडियो

जैसा कि मैंने बताया कि दिसंबर का महीना आ गया था और ठंड बहुत ही ज़्यादा हो चुकी थी.

वो मेरी पकड़ से छूटने के लिए छटपटा रही थी, लेकिन मैंने उसे बहुत जोर से पकड़ा हुआ था. अब आगे देसी हिंदी Xxx चुदाई:मैं अभी बाथरूम की रोशनी की तरफ देख ही रहा था कि तभी अंदर से गेट खोलकर रम्भा बाहर आ गई. बॉयफ्रेंड फक में मुझे थोड़ा दर्द हुआ तो मैं कराहने लगी और समीर को लंड निकालने के लिए कहने लगी.

पोर्न भाभी फक करने का मौक़ा मुझे मिला जब मैं एक घर में पेस्ट कण्ट्रोल करने गया. बड़े दामाद की तबीयत खराब होने के कारण नैन्सी होली पर अपने मायके ना आ सकी किंतु मिष्टी आ गई. बिहारी बीएफ सेक्सी भोजपुरीहम लोग देर रात तक बातें करते और एक दूसरे को छूने और गुदगुदी करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे.

मैंने पूछा- सोनू तुम्हारी भतीजी जाने क्या सोच रही होगी? यार मैं तो बहुत शर्मिंदगी महसूस कर रहा हूं. नीना ने अपने बैग से स्ट्रेप ऑन डिल्डो निकाला और बोली- मैं तुम्हारी गांड चोदना चाहती हूँ.

अब मैं रोज जलालुद्दीन को बुलाती थी और वो भी मेरी बात मान कर हर रोज मुझे रगड़ रगड़ कर चोदा करते थे. उसके बाद मैंने चाची की चूत को साफ़ किया और टांगों को ऊपर करके चाची की चूत को चाटना शुरू कर दिया. एक हिजड़े ने पाने से जलालुद्दीन के लंड को धोया और साफ़ टॉवल से पौंछ दिया.

शाम को 4 बजे मैंने नीना को बड़ा ऐस प्लग दिखाकर कहा- यह तुम्हारी गांड में डालूंगा, कुछ देर रखने से गांड का छेद और फ़ैल जायगा. अभी मेरी तकलीफ समझो और कुछ अभी चाहो तो मांग लो मैं मना नहीं करूंगी तुमको, बोलो क्या चाहते हो?मैंने उससे कहा- सच बताऊं तो मैं हमेशा से ही अलग अलग औरतों को चोदना चाहता हूँ. जब तक उसकी गोटियां मेरे पाले में और मेरी गोटियां उसके पाले के नजदीक न पहुंच गईं.

अब उन दोनों ने मुझे कमरे में ले जाकर बेड के किनारे से कुतिया बनने का कहा.

मैंने पीछे से उनके एक चूतड़ को दबा दिया और दो उंगलियां चूत के अन्दर डाल दीं. मैंने मन में सोचा कि इस बेचारे को क्या पता कि एक उंगली से मेरी गांड की गर्मी शांत नहीं होने वाली!मगर उसे दिखने के लिए मैंने मेरी गांड टाइट कर ली जिससे इसे लगे कि मेरी गांड अनचुदी है.

और चूचियों के तो क्या ही कहने‌ … उनके निप्पल एकदम टी-शर्ट से बाहर निकलने‌ को आ रहे थे. माधुरी ने मेरी बात सुन कर कहा- ओके मैं हूँ न … मुझे तुम जितना चाहे चोदो, जैसे चाहे चोदो. उसकी फांकें गीली और चिकनी तो थीं मगर बहुत ताकत लगाने पर मेरा लंड अन्दर जा सका.

उनका रंग बिल्कुल साफ़ था और उनके प्यारे गुलाबी होंठों के ऊपर एक छोटा सा तिल था, जो मुझे बहुत ही प्यारा लगता था. मैं आपको बयां नहीं कर सकता कि उसकी चूत की वो खुशबू मुझे किस कदर मदहोश कर रही थी।उसकी चूत को सहलाते हुए मैं उसकी चूत के आस पास चूमने लगा. वो मुझे देखना चाहती थी क्योंकि हम दोनों में काफी कुछ बात होने लगी थी.

बीएफ बुंदेलखंडी मैं एक पल के लिए रुका और फिर से लंड निकाल कर झटका देकर फिर से डाल दिया. मैंने बीवी को घोड़ी बनाया और लंड को पीछे से एक ही झटके में चूत की गहराई में पहुंचा दिया.

सेक्सी अंग्रेजी वीडियो फुल एचडी

हम सब एक दूसरे के साथ मिल कर एक साथ खूब अच्छी तरह से खुशी खुशी रहते हैं. वो हल्की-हल्की सिसकारियां ले रही थी और मैं भी धीमे-धीमे अपनी गति को आगे बढ़ाता जा रहा था. पता नहीं क्या हुआ … मैंने उनके होंठों को अपने मुँह में भर लिया और देर तक स्मूच करता रहा.

दूसरा हिजड़ा इस बार मेरी गुच्छी पर थप्पड़ मारने की बजाय उसको बुरी तरह मसल रहा था और मुझे दर्द होने की जगह मजा आ रहा था. थोड़ा सोचने के बाद मैंने हां कर दी और जाकर भाभी से मजाक में पूछने लगा- भाभी आपकी कोई बहन तो है न मेरे लिए?भाभी ने भी मेरे साथ मजाक करते हुए कहा- जब मैं हूँ तेरे साथ, तो मेरी बहन की क्या जरूरत?ऐसा बोल कर भाभी खिलखिला कर हंसने लगीं. क्सक्सक्स हॉट इंडियनमेरे लगातार लगते झटकों पर वो बस कराह रही थी ‘आह … आह … आह …’कुछ पल बाद उसका शरीर अकड़ने लगा, उसने मुझे अपने ऊपर दबा लिया.

मंजू बोली- बुआ तुम्हारा क्या प्रोग्राम है?मैं बोली- मैं तो अभी तुम्हारे घर चार दिन तक रहूँगी.

उसने चैक करने के लिए ईमेल आईडी का लॉगिन मेरे फोन में किया लेकिन गलती से मेरे फोन से वो लॉगआउट नहीं हुई. लंड को वापस खड़ा करने के लिए मैं लंड को सहलाने लगी और वापस मुँह में लेकर चूसने लगी.

दस मिनट तक मेरा मुँह चोदने के बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और जोर से अन्दर डाल दिया. उसने चैक करने के लिए ईमेल आईडी का लॉगिन मेरे फोन में किया लेकिन गलती से मेरे फोन से वो लॉगआउट नहीं हुई. इंडियन गांड चूत का मजा मैंने लिया अपनी मामी को चोद कर! मामी की गांड बहुत बड़ी है, उनको 100 नम्बर की पैंटी आती है.

हम दोनों को ही पता था कि इस मौसम में किसी को आना नहीं था और शाम तक बस हम दोनों ही घर में अकेले थे.

ये हॉट कजिन सेक्स कहानी मेरी और मेरी फुफेरी बहन तमन्ना (बदला हुआ नाम) की चुदाई की है. चाची चुपचाप जाकर तेल की डिब्बी उठा लाईं और मुझे देकर बोलीं- ले कर ले अपने मन की … और आज जमकर चोद डाल साली मेरी गांड को भी … बहुत कुलबुलाती है. रोहित अपना लंड मंजू के चूतड़ों के पीछे ले गया और लंड पेल कर जोरदार धक्का लगा दिया.

घोड़ा और लड़की का सेक्सीहर धक्के के साथ मेरा पूरा जिस्म हिल जाता था और मेरे नीम्बू उछल जाते थे. थोड़ी देर में ही मेरे लंड ने अपना लावा उगल दिया, जिसे उन्होंने अपने रूमाल से साफ़ कर दिया.

मारवाड़ी औरत की चुदाई सेक्सी वीडियो

उस दिन तो मैंने कुछ नहीं सोचा, पर बाद में जब मैंने सेक्स का सुख ले लिया तब भाभी की बात कुछ कुछ समझ में आई थी. मैंने मेरी जाँघों से बहते उनके वीर्य को अपने हाथों में समेट कर अपने मम्मों और अपने चेहरे पर क्रीम की तरह मल दिया तो मुझे बहुत सुकून मिला. फिर उसकी पीठ पर जालीदार ब्लाउज़ की डोरियां और बीच में उसकी ब्रा की डोर, उसकी लचकती हुई कमर और पीछे से उसकी बड़ी गोलमटोल घुमावदार गांड, पूरा भरा हुआ बदन, गदरायी हुई माल लग रही थी.

इतना कहकर उन्होंने मुझसे पूछा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- गर्लफ्रेंड तो थी पर वह अपनी आगे की पढ़ाई करने दिल्ली चली गई. मुझे आज ये लग रहा था कि अगर आज कुछ नहीं किया तो फिर कभी नहीं हो पाएगा. क्या तुम उसका दूध पीना पसंद करोगे?मैं- अरे वाह … फिर तो आपकी वाइफ को चोदने में बहुत ज़्यादा मज़ा आएगा.

थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला और उसके मुँह में डाल दिया. फिर मैदान साफ़ देख कर मैं सीधा उसके घर के फाटक खोल कर अन्दर घुसा तो वो सामने खड़ी थी. फिर सबने एक दूसरे की तरफ देखकर इशारा किया और डिल्डो का टोपा लड़कों की गांड में पेल दिया जिससे सभी लड़कों की एक साथ चीख निकल गयी.

मैंने उनके रूम में उनकी ब्रा और पैंटी ढूंढनी शुरू की मगर मुझे नहीं मिली. मैं उसको अपनी तरफ खींचते हुए उसकी चूत चाटने लगा।वो भी मदहोश होके बोलने लगी- उम्म आह म्म्ह … हां और तेज चाटो आर्यन … और तेज … कब से भरी पड़ी थी टंकी … आज खाली कर दो इसे!मैं भी तेजी से उसकी चूत चाटने लगा और अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल कर उसके चूत के दाने के साथ खेलने लगा.

अब मैं खुद चाहने लगी थी कि निखिल मेरी चूचियों को और जोर देकर भींचे.

बुआ को चूत चटवाने में मजा आ रहा था, वो उसी जोश में मेरे लंड पर दांत से दबा देतीं. हिंदी बिलूकुछ दिन बाद मैंने मामी के अंडरगार्मेंट्स वाली जगह को ढूंढ लिया और मामी की सारी पैंटी और ब्रा को एक साथ निकाल कर अपने लंड से लगा लिया. ब्लू फिल्म ब्लू ब्लू पिक्चरतभी अचानक भाभी ने अपनी टांगें खोल कर मोड़ दीं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी फुद्दी में दबा लिया. काकी ने भी टांगें पूरी फैला दी थीं और बापू ने अपनी जीभ काकी की चूत पर लगा दी थी.

मेरा लंड फुल साइज़ में तन कर खड़ा था और उन्हें चोदने के लिए बिल्कुल तैयार था.

मेरा बापू हो हो करके हंसने लगा और काकी की चूत में ताबड़तोड़ लंड पेलने लगा. उसका पूरा वजन मेरे लंड पर था, जिससे मेरा पूरा 6 इंच का लंड उसकी गांड में सीधा घुस गया. लेकिन फिर जैसे जैसे मैं जवान हुआ और जब मैंने मॉम बेटे की सेक्स कहानियां पढ़ना शुरू किया तो मेरी नीयत मेरी मॉम पर ख़राब होने लगी.

अगले पल मैंने एक और धक्का लगाया, चूत के चिपचिपे पदार्थ और वैसलीन जैली की चिकनाहट से मेरा आधे से ज्यादा लंड शबाना की चूत में पेवस्त हो गया था. हर बार साक्षी जब अपनी गांड मेरे लंड पर रगड़ती, मुझे ऐसा लगता कि अब मेरा लावा अन्दर छूट जाएगा. मैंने पूछा- आप अकेली आई हो?आंटी- मैं रिश्तेदार के घर आई थी तो सोचा कि दवाई भी लेती चलूं.

देसी सेक्सी वीडियो चुदाई की

कुछ ही देर में शेखर का शरीर अकड़ने लगा और तभी उसके लंड ने पिचकारियां छोड दी. मैंने समझ लिया कि मेरा लंड मोटा है और भाभी के मुँह से पक्का चीख निकलेगी. उस दिन नशे में तो मैंने कह दिया था लेकिन बाद में गांड फटने लगी कि अब क्या होगा.

उसके निप्पल में से पानी आना शुरू हो गया था।इसी तरीके से मैं उसका पूरा बदन चूमते चूमते नीचे की तरफ जाने लगा.

मुझे कपड़े पहनाते समय भाभी ने मेरे लिप्स और लंड पर किस करके लंड को साफ कर दिया.

लेकिन उनको इलाज करने से रोक भी तो नहीं सकती थी इसलिए मैं आँखें मींच कर लेट गई. मैं- कोमल आप मुझ पर कम से कम टैक्सी वाले से ज्यादा बिलीव कर सकती हैं. लोकल बीएफ फुल एचडीदोस्तो, जैसे कि मैंने आपको बताया था कि मैं पूना में हिंजेवाड़ी में एक मार्केटिंग कंपनी जॉब करता हूँ.

पर मैं उनकी कहां कुछ सुनने वाला था … मैंने लंड के टोपे को भी बाहर निकाल लिया और चाची के बंधे हुए हाथ पकड़ कर एक हाथ से लंड को चूत पर सैट करके एक ज़ोरदार धक्का लगा दिया. मैंने उसे फोन लगाया तो उसने कहा- मैंने गेट खुला रखा है, तुम सीधा अन्दर आ जाना और गेट बंद करके ऊपर आ जाना. तभी भाभी ने अनजाने में ही सही, मगर अपने पेट को कुछ अन्दर को कस लिया, जिससे नाड़ा खोलने में आसानी हो गई और एक झटके में नाड़ा खुल गया.

स्टेप मदर सन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुझे पता लगा कि मेरे पापा मेरा माँ को सेक्स का पूरा मजा नहीं पाते. हम-दोनों साथ ही झड़े तथा मैंने अपना फ़व्वारा उनकी चूत में ही छोड़ दिया.

उसने अपना काला लंड मेरी गोरी चिकनी गाड़ के छेद पर रखा और आगे पीछे घिसने लगा.

धीरे धीरे हम दोनों ने प्रोग्राम बनाना शुरू कर दिया, इस बार वो और भी ज्यादा गर्म थी. मुझे देखकर वो शर्मा गयी और कहने लगी- मैं आ तो रही थी, तुम क्यों आ गए?मैंने कहा- मैं तुम्हारी चूत और गांड को साफ़ कर देता हूँ. जब मॉम सज-धज कर तैयार होकर बाहर निकलती हैं, तो क्या बच्चे, क्या बूढ़े और क्या जवान … सभी के लंड मेरी मॉम की सेक्सी जवानी को देखकर सलामी देने लगते हैं.

সেক্স বাঙ্গালী সেক্স বাঙ্গালী সেক্স मैं- मतलब कुछ भी, इतने बीएफ कैसे हो सकते हैं?डिंपी- जैसे तुम लड़के लोग 4-5 लड़कियां एक साथ घूमते हो, वैसे ही. मैं और जोर जोर से साक्षी की चूची को अपने मुँह में और अन्दर तक खींच लेता और जोर जोर से निप्पल को अपने होंठों में दबा कर अन्दर भींच लेता.

वो मेरे सामने अपने नंगे 40 साइज़ के गोरे चिट्टे बूब्स 36 की कमर ओर 42 की गांड के साथ नंगी पड़ी मचल रही थीं. वह एक बंगाली बीवी थी लगभग 32 साल की एकदम मदमस्त जवान।उसकी चूचियाँ बहुत ज्यादा ही मादक लग रहीं थीं मुझे!वह मुझसे मिलकर खुश हुई और मैं उससे मिलकर!बबली उसके कपड़े उतारने लगी।मैंने जब उसे पूरी तरह नंगी देखा तो मेरा लण्ड साला अपने आप ही बाहर निकल आया।उसकी चूचियों ने तो मेरी जान निकाल ली थी।मैं रुक नहीं पाया. अगले दिन चाचा और चाची वापिस चले गए फिर मेरी चाची से कभी मुलाकात नहीं हुई क्योंकि अब चाचा का तलाक हो चुका है.

चुदाई सेक्सी पोर्न वीडियो

मैंने अब उनके व्हाट्सैप के स्टेटस देखना और उन पर कमेंट्स करना शुरू किए. फार्म हाउस में आने के बाद मैंने और सोनी ने रोल प्ले करना शुरू किया. घर तुम्हारा है, तुम्हारी भतीजी का थोड़ी है, जो वो तुम्हें ज्ञान पेल रही थी.

मैंने पूछा- इतना रंगीन आदमी है कौन?वो बोला- तेरी कमसिन गांड की पूरी दुनिया दीवानी है, यह भी उनमें से कुछ दोस्त हैं. फिर अपने लंड का टोपा मेरी Xxx गांड के छेद पर रखकर उसे अन्दर धकेलने लगे.

मुझे तो यकीन ही नहीं हुआ कि कोमल भाभी मेरे इतनी पास खड़ी है और वो मेरे खड़े लंड को भी नोटिस कर रही है.

खाला की चीख निकल गई- आह मर गई … उई अम्मी रे मर गई … आंह निकालो जल्दी सुलेमान … मैं अपने हाथ जोड़ती हूँ … आह निकाल लो जल्दी से वर्ना मैं मर जाऊंगी. पहले मुझे लगा कि उन्हें मेरा आइडिया पसंद नहीं आएगा लेकिन वो दोनों ही झट से मान गईं. मगर यह बात जरूर है कि हमने आज तक अपनी लिमिट्स कभी क्रॉस नहीं की थी.

अब मुझे भी कुछ चाहिए था, इसलिए मैंने माधुरी से कहा- चलो न 69 करते हैं. उन घटनाओं से मुझे लगा कि चाची की चूत अभी गर्म होगी, इसी वक्त उन्हें थोड़ी हिम्मत करके चाची को पीछे से आवाज़ लगाई. मैं एक बात बता दूँ कि हम दोनों हर रोज रात को कॉल और मैसेज से फ़ोन सेक्स करते थे.

वो बोले- बड़ी देर लगा दी तुमने?तो मैंने जाम में फंसने का बहाना बनाया.

बीएफ बुंदेलखंडी: लंड को मम्मी की चूत में डालकर मैं मम्मी के ऊपर लेट गया और मम्मी की चूचियां पकड़कर मनीषा मनीषा कहते हुए चोदने लगा. मैं इसी तरह बैठा हुआ पीछे को लेट गया और उसकी गांड को दबा ऊपर को उठाना चाहा.

जब हवस का तूफ़ान थमा तो मैंने देखा कि मेरी गांड मार मार कर जलालुद्दीन साहब ने उसका रंगरूप ही उजाड़ दिया था. दूसरा हिजड़ा हँसते हुए बोला- हाय हाय, आज लंड घुसने पर मर रही है, लेकिन कल लंड घुसवाने के लिए मरेगी!जलालुद्दीन बोले- अरे नगमा जान, अभी तो आधा भी नहीं घुसाया है, अभी से मर जाओगी तो हम चोदेंगे किसको?उन्होंने थोड़ा आगे पीछे कर के अपना लंड एडजस्ट किया और हिजड़े को इशारा किया. एक पैर पर खड़े होकर, दूसरे की जांघों और पैरों को सहला कर मजा ले रहे थे.

उनको 100 नम्बर की पैंटी आती है मतलब उनकी चूतड़ों का नाप सौ सेंटीमीटर का है.

मैंने पूछा- मजा तो आया न!खाला बोलीं- साले, फाड़ कर रख दी है और पूछ रहे हो कि मजा आया?मैं हंस दिया. अब मैंने उसे चुदाई की पोजीशन में लिटाया और अपने लंड पर थूक लगा कर सैट कर दिया. इसी तरह की कामुक और रसीली बातों के साथ मैंने उसे बिस्तर पर गिरा दिया.