बीएफ 2020 के बीएफ

छवि स्रोत,xxx सेक्सी हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

साड़ी वाला वीडियो बीएफ: बीएफ 2020 के बीएफ, मैं बुक लेने के लिए लाइन में लगा हुआ था, वहां पहले से ही बहुत लड़कियाँ और लड़के लगे थे.

सेक्सी कहाण्या

तभी मेरे दिमाग़ ने कहा कि बुआ को बात सब खुल कर बताना चाहिए, हो सकता है जान बच जाए. हिंदी वीडियो सेक्सी आवाजजिससे मेरी आवाज़ न निकले और फिर दूसरे झटके में पूरा लौड़ा अन्दर चला गया.

जब रीना और सीमा पूल से बाहर आकर हमारे शरीर पर लिपट गई तब हमारी इस बातचीत का अंत हुआ रात में मैंने रीना की गहरी चुदाई की अपने प्लान के सफल हो जाने तथा आने वाली शानदार चुदाई के याद के साथ मैंने रीना को जमकर ठोका।उधर श्लोक के कमरे से भी वैसी ही आवाजें आती रही जिसका जिक्र मैं इस कहानी में पहले ही कर चुका हूं।हालांकि आज की आवाज में काफी ज्यादा मज़ा और दर्द था और श्लोक की भी आवाज मजे के साथ आ रही थी. सेक्सी सेक्स वीडियो चोदा चोदीमैंने उसके बदन को पूरा भर दिया था, कोई भी अंग नहीं चूसे बिना नहीं रखा था, उसका सब कुछ चूस डाला था.

मेरी मामी की एक छोटी बेटी भी थी, मैं जब भी घर जाता था तो उससे भी कुछ देर बातें करता था वह भी मेरे साथ घुल मिलकर बातें करती थी.बीएफ 2020 के बीएफ: दोनों अपने हाथों से अपने चूचे मेरे मुँह में घुसेड़ रही थीं और गालियां दे रही थीं और एक दूसरे को किस भी कर रही थीं.

पिंकी- दीदी एक बार उसके नीचे दब कर देखो, तो पता लगेगा कि क्या सच्चाई है.अब मंजू पेट के बल ही पड़ी थी और उसके कमर से नीचे के हिस्से में दोनों टांगों के बीच राज खड़ा था और साथ में खड़ा था राज का लन्ड जो अब किसी भी पल अपनी फुहार मंजू के ऊपर छोड़ देना चाहता था!राज ने मंजू की दोनों जांघों से उसे पकड़ कर उठा दिया और फिर को अपने लंड को मंजू की चुत से सटाकर एक बार फिर जोरदार वार किया.

गुजराती सेक्सी वीडियो देखें - बीएफ 2020 के बीएफ

स्मिता- अच्छा अब ध्यान से सुन, अपनी माँ को शॉपिंग पे लेकर जाना और कुछ मॉडर्न ड्रेस दिलवाना! और जब वो उन ड्रेस को ट्राई करने जाये तो उसको छोटे साइज की ब्रा पेंटी लेकर देना और उनको भी ट्राई करने को बोलना, शायद वो मना कर दे तो जिद करना… अगर उसने ट्राई की तो वो जरूर बोलेगी क़ि ये छोटी हैं.मेरी सास की चुदाई की इस सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरी प्यारी चुदासी सासू माँ-1में आपने पढ़ा कि मैं अपनी सास के मुँह में अपना लंड डाल कर मजा ले रहा था.

मामी जी- सच राहुल तुम्हारे मामा जी ने तो आज तक इसको छुआ तक नहीं, एक बार गांड मारने का प्रयास किया था, लेकिन उस दिन क्या हुआ कि जब वह पीछे से अन्दर डालने का प्रयास करते, तो उनका लंड मेरे बड़े बड़े चूतड़ की गोलाई में ही फंस कर रह जाता था, क्योंकि उनका लंड छोटा है. बीएफ 2020 के बीएफ अभी विकी का लौड़ा तो नहीं है मेरे पास, लेकिन डिल्डो है, उसी से अपना काम चला लूंगी.

बताओ तो सही?”मेरे किसी सवाल का जवाब न देते हुए उसने उसका काम पूरा किया और बोली- अब सिर्फ मजे लो.

बीएफ 2020 के बीएफ?

इसी तरह कुछ दिन बीत गए और हम दोनों काफी अच्छे दोस्त बन गए थे, तो मैं उससे डबल मीनिंग बात भी कर लेता तो वो मेरी बात को हंसी में उड़ा देती. तभी उसने मुझसे पूछा- तुम कपड़े खुद पहन लोगी?मैंने कहा- मुझे अलमारी में से निकाल के दे दो. कुछ देर बाद उसकी माँ बाहर आई जिसको देख कर मेरा लौड़ा एकदम टाइट हो गया क्योंकि वो थी ही ऐसी.

जैसे ही मैं पहुँचा तो तुरंत मुस्कान का फ़ोन आया, वो बोली- घर वाले शादी में चले गए, कहाँ हो तुम? अब मेरे घर आओ!मैं बोला- दरवाज़ा तो खोलो, तुम्हारे घर के सामने खड़ा हूँ. मैंने अपनी नज़र उस पर से हटा कर मोबाइल में लगा ली ताकि उसे यह ना लगे कि मैं अब भी उसे घूरता हूँ; वरना वो अब भाव खाने लगेगी!तो जब मैं मोबाइल चला रहा तो मैंने महसूस किया कि कोई मेरे बगल में आकर बैठा है. मैंने उन्हें कस कर पकड़ रखा था और नीचे उतारते समय उनकी चुचियों को जान बूझकर दबा दिया.

तभी मेरी नजर पर्दे पर गयी क्योंकि मुझको वहां पर किसी के खड़े होने की आहट हुई. मैंने उसका हाथ पकड़ कर अचानक से मेरे लौड़े पे रखा, तो उसने झट से हाथ छुड़ा लिया और पीठ पर जोरदार मुक्का मारा. क्या हुआ पापा जी; ऐसे क्या देख रहे हो? आपकी अदिति बहू ही हूं मैं!” वो चहक कर बोली.

लॉन में जाकर पहले तो दो कप चाय पी और फिर बाहर निकल के एक रिक्शा पकड़ा. मैं चुदाई के साथ साथ भाभी के एक चूचे को मुँह में लेकर चूस रहा था और दूसरे चूचे को अपने हाथ से मसल रहा था.

अब मुझ में ऐसी क्या बात है, मैं खुद भी नहीं जानती!यह बात पूरी तरह से सच है कि जितने भी मर्द मुझे देखते हैं, वो चाहे कितने भी क्लोज रिलेटिव हों, चाहे जितने बूढ़े हों सभी के सभी.

कुछ देर की चुदाई के बाद वो झड़ गयी, पर मेरा तो अभी निकला ही नहीं था, तो मैं अपने काम में चालू था.

वो मुझे कुछ देर चोदने के बाद अलग हो गया अब उसने मुझे घोड़ी बना कर चोदना शुरू कर दिया. फिर वो बोली- अमन यार, जाने का मन तो नहीं कर रहा, दिन में तो आ रहा है कि तुम इसी तरह मुझे लगातार मजा देते रहो… लेकिन अभी तो जाना पड़ेगा. अपना लंड बीवी के चुत में वैसे ही रखकर मैं अपनी प्यारी बीवी की पीठ पर सो गया.

मैं- अच्छा तभी रीना दीदी को आजकल घूर घूर कर देख कर तुम उनके इस क्रियाओं के बारे अंदाजा लगाते हो?श्लोक- नहीं, मैंने कहां देखा घूर कर?श्लोक की जुबान लड़खड़ाने लगी. और आप ने मेरी पिछली कहानीभाभी की चूत की चुदाई करके स्वर्ग का मजा लियापढ़ी ही होगी? नहीं पढ़ी तो जरूर पढ़ें. रविवार को हमें शाम को बाहर जाने की अनुमति होती थी मगर नौ बजे से पहले वापस आना होता.

अहमदाबाद पहुँचने के बाद मैंने एक होटल में डबल बेड का एक रूम बुक किया, फिर उसे मिलने के लिए एक कॉफ़ी शॉप में बुलाया.

हमें भी फोरप्ले करना चाहिए और इसे ज्यादा से ज्यादा सुखद बनाना चाहिए!इतना कहते हुए रीना ने मुझे कस के अपनी बांहों में भींच लिया और अपने होठों को मेरे होठों से लगाकर जोरदार चुम्बन देने लगी. कुछ दिन पहले ग्रेटर कैलाश मार्केट में मेरा बचपन का दोस्त सतीश मिला, बिल्कुल बदला हुआ, चश्मा लगा कर, मस्त मोटरसाइकल पर सवार, पूरा छह फुट का कद, पहलवानी, कसरती बदन. कुछ देर के बाद मैंने अपने दोस्त की बीवी को अपने ऊपर ले लिया और लंड पर बिठा कर उछलने को कहा.

किस करते करते मैं अपना हाथ उसकी पैन्ट में ले गया और चुत पर रख दिया, उसकी चुत पूरी गीली हो रही थी, मैंने चुत को सहलाना शुरु किया और मेरे लंड का तो हाल ही ऐसा हो रहा था कि अभी पैन्ट को फाड़ देगा और बाहर आ जायेगा. चूत भी ऐसी लग रही थी मानो किसी 18-19 साल की लड़की की चुत हो, जो आज तक कभी ना चुदी हो. वो चाह तो रहा था कि इस समय उठे और अपनी माँ की चूचियों को पकड़ कर अपने मुँह में भर ले… उनको जोर से उमेठ दे और अपनी माँ की रसीले लाल-लाल होंठों का सारा रस पी जाये.

अन्दर अलग अलग काउन्टर थे, पहले मैं लायेंज़री काउन्टर पर गयी, मैंने काफी सारी ब्रा और पैंटी निकलवा कर देखी, पर कुछ जमा नहीं.

उसके बाद कुछ लम्हों के बाद बापू ने प्यार से पद्मिनी के चेहरे को अपने हाथों में लिया और उसकी आँखों में अपनी में देखते हुए बोला- तू बापू से बहुत प्यार करती है ना?पद्मिनी ने बहुत ही नर्म धीमी आवाज़ में जवाब दिया- इसमें कोई शक है क्या बापू, दुनिया में सबसे ज़्यादा आपसे ही तो प्यार करती हूं. तभी मेरा ध्यान तब टूट गया, जब देखा उसके साथ एक बहुत ही मोटा सा इंसान उसको कार में लेकर जाने लगा.

बीएफ 2020 के बीएफ मैं मुँह से उसका लौड़ा चूसते चूसते उसकी गांड के छेद पर उंगली घुमा रही थी. मैंने अपने एक हाथ से अपने लंड को सहारा दिया, जिससे कि वो अब बाहर ना निकल पाए.

बीएफ 2020 के बीएफ फिर मैं भी बहुत मुश्किल से अपना पानी रोक पा रहा था, तो मैंने भाभी को बोला कि अब मेरे से नहीं रुका जा रहा, आप बोलो कहां पानी निकालूँ. कई बार हरीश को कॉलेज से आने में देर हो जाती है, तो मैं तुम्हें ही फोन कर लिया करूँगी.

मैडम आगे बढ़ गई थीं और पीछे मैं रूम का डोर बंद कर ही रहा था, तभी उन्होंने मुझे पीछे से ज़ोर से हग कर लिया.

ब्लू पिक्चर सेक्सी ब्लू वीडियो

विक्रम- क्या… कौन सी बात?मयूरी- ऐसे ख़ामोशी से चुदाई करने में मजा तो नहीं आता…विक्रम- हाँ… ये बात तो है. मैंने फिर खाला को चूमा और उनके बदन को सहलाया और बोला- आप तो जानती हो कि पहली बार थोड़ा दर्द होता है और खून भी आता है, उसके बाद तो मजा ही मजा है. उसने मेरी चुची दबाते हुए कहा- क्या हुआ, फट रही है?मैं चुप रही और धक्के झेलने लगी.

एक दिन अचानक वो हमारे रूम पर रात में ग्यारह बजे आये और बिना कोई भूमिका बनाये बोले- चूत चाहिए किसी को, हां तो चलो. तब तक अचानक से वो सामने घूम गयी और मेरा हाथ उसके दोनों गोल-गोल, मुलायम मम्मों पर चला गया जिससे मुझे थोड़ी शर्म आई लेकिन पता नहीं मुझे कुछ अजीब सा होने लगा और मेरा लंड खड़ा होने लगा और मैं झेंप गया और सर नीचे करके उससे कहा- यार सॉरी, मैंने ये जानबूझ कर नहीं किया. मैंने अगले ही पल अपनी दो उंगलियां कोमल की चूत में डाल दीं और उंगली से ही चूत चुदाई करने लगा.

मुझे भी गुदगुदी सी हो रही थी, साथ में उसका ऐसे हाथ घुमाना अच्छा भी लग रहा था.

मैं जैसे ही उनसे फोन लेकर अपना नम्बर सेव करने लगा तो सीढ़ीयों से आने की किसी के आने की आवाज सुनाई दी. जैसे ही रात के 11 बजे उन दोनों को ले कर आया और उन दोनों को बिठाकर बातें चालू कर दीं. वो बोला- तुम वन्द्या बहुत मस्त माल हो, आज से वन्द्या, तू मेरी बीवी हो गई हो है.

मैंने जल्दी से नहाया और नाश्ता किया, बाइक लेकर मम्मी से बोला कि मैं कुछ काम से मुरादाबाद जा रहा हूँ. यह मेरी सच्ची लव स्टोरी थी, आपको कैसी लगी दोस्तों मुझे अपने ईमेल में जरूर बताएं. और जाते जाते मुझे आँख मारती हुई बोली ‘नाईस कॉक!’वरुण- स्मिता, तुम्हारा बेस्ट सेक्स एक्सपीरियंस क्या था आज तक का?स्मिता- मेरे बॉयफ्रेंड ने पार्टी दी थी.

उसके बाद कई बार जब भी हमें मौका मिलता, हम चुदाई कर लेते हैं, वो रात मेरी जिंदगी की सबसे हसीन और सबसे खूबसूरत रात थी, मैं उस रात को में कभी भी नहीं भूल सकता।मेरी बहन की चूत चुदाई की कहानी कैसी लगी आपको? जरूर बताएं मुझे… आपके मेल्स का इंतजार रहेगा! आशा करता हूँ कि आप मुझे और कहानियां लिखने के लिए प्रेरित करेंगे. कुछ कसमसाहट के पश्चात उसने लंड को चूत में एडजस्ट किया और मजे से चुदने लगी। वह आह….

’मेल को गए अभी 5 मिनट भी नहीं हुए थे कि उसका जवाब आ गया कि वाओ क्या बात बताई है. अगले कुछ ही पलों में वो मेरी पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फेर रहा था. आखिर सुमेर एक तंदरुस्त ताकतवर जवान था और एक मस्त विशाल लंड का मालिक था.

अरुण ने उसको लिफ्ट दी, करीब 5 किलोमीटर तक का सफर था, अरुण ने उस औरत से उसका नाम पूछा.

मैंने बिना समय गंवाए उसके पैर फैलाते हुए ऊंचे कर दिए ताकि उसे ज्यादा दर्द न हो. जैसे ही हम अपने घर के लिए निकल रहे थे तो आंटी ने मुझसे कहा कि बेटा तुम अपना नंबर दे दो. ऐसे जंगलियों की तरह क्यों कर रहे हो?मैं थोड़ा नशे में बोला- चुप कर साली.

मेरी चाची की चूत चुदाई की कहानी के पहले भागकामुकता के घोड़े पर सवार चाची को चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी चाची को उसके बॉयफ्रेंड के साथ रेस्तराँ में देखा. उसने कंडोम चढ़ाते हुए बोला- क्या देख रही हो चाहिए क्या? दोनों एक साथ ले लेना.

वो तो यूं धत्त कह के निकल लीं, जाने से पहले एक बार मुस्कुरा के कातिल निगाहों से मुझपर एक भरपूर वार किया और कूल्हे मटकाते हुए चलीं गयीं और मैं उनके थिरकते नितम्ब ताकता रह गया. मैंने आश्चर्य से पूछा- क्या तुम सच कह रहे हो?वो बोला- हां सच कह रहा हूँ वन्द्या कि हम दोनों दोस्त वीडियो सेक्सी देखकर सिर्फ तुम्हें चोदने की बात करते हैं. हमने पानी पिया, फिर उसने मोबाईल पर लाईट म्यूजिक लगा दिया और हम बातें करने लगे.

ब्लू फिल्म सेक्स इंग्लिश

वो सब बाद में फिर कभी लिखूंगा, मेरे पुराने दोस्त और भाभियां तो मुझे और मेरे बारे में जानते हैं.

और ऐसा लगा, जैसे मेरी चूत में एक लोहे का गरम सरिया अन्दर तक पेल दिया गया हो. भाभी ने कहा- ठीक है … तो जो उस निशा के साथ किया था, वही सब मेरे साथ करना होगा. ऐसा ही चलता रहा, एक दिन रवि की रात को तबियत खराब हो गई तो भाभी ने तुरंत मुझे फ़ोन लगाया.

अब अच्छा लग रहा है।”यह सुन कर मेरे छेद की सलवटों में मसमसाहट होने लगी।उसने ढक्कन से भर कर और तेल छेद में उड़ेला और एक पूरी के साथ दूसरी उंगली भी थोड़ी-थोड़ी घुसाने लगा। अहाना ने भी इसे महसूस कर लिया था इसलिये अब उसकी सीत्कारें ठंडी पड़ गयी थीं।शायद वह दर्द के साथ एडजस्ट करने की कोशिश कर रही थी. तब मैंने ज्यादा वक्त न लेते हुए खड़े होके मैंने अपनी बनियान और अंडरवियर उतार दी और सुरेश जी के सामने नंगा हो कर पेट के बल लेट गया. मूवी हिंदी सेक्सी वीडियोरात को तीनों को चुदाई करने का पूरा मौका मिलता और तीनों इस मौके को कभी जाने नहीं देते, बस दुःख यह था कि तीनों खुलकर उस दिन जैसा चुदाई नहीं कर पा रहे थे.

दीपक को नहीं पता लगा कि दरवाजा खुल गया है मगर पिंकी से देख लिया था. अनीता दीदी अपने घर में अकेली रहती थीं, कभी कभी अपने भाई के घर आ जाया करती थीं.

शर्ट के बटन खोलकर मैंने उसे उठाया और पीछे से ब्रा का हुक खोला, तो हाय. तभी उन्होंने एक जोर का धक्का मारा और मेरी गांड में अपने लंड की पिचकारियों की बारिश करनी शुरू कर दी थी. फिर मैं उसकी चुत चाटने लगा और फांकों को चूसते हुए उसके फड़कते दाने को भी काट लेता था.

मैंने फिर से कोमल को अपनी गोद में लिटा लिया और मम्मों को दबाने लगा. खाने के बाद मैंने जूली को फिर से अपनी गोद में बिठा लिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, उसकी चूचियाँ भी दर्द करने लग गई थी. अब उसकी चूत थोड़ी ढीली हुई, मैं भी अब अपनी चरमसीमा पर आने को था, और मैं कस कस के धक्के मारने लगा.

ऐसी हॉट लड़की कि तूने सपनों में भी ना सोचा होगा, हीरोइन भी कुछ नहीं लगती उसके सामने, जो ब्लू फिल्म में तू देखता है, वो लड़कियां उसके पैरों के बराबर भी नहीं हैं.

लगभग 20-22 मिनट चोदने के बाद मैं झड़ने लगा तो बोलीं- अन्दर ही डाल दे, नसबंदी करवा रखी है. अब मैंने लंड को फिर से चुत पर सैट किया, रचना ने भी हाथ से लंड को थाम रखा था.

फिर धीरे धीरे मेरे लिंग को चाटते हुए अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. मैंने बगल से तेल की शीशी को उठाया और अपने लंड और उनकी गांड दोनों में लगा दिया. मैं अपने दोस्तों और सेक्सी भाभी और सभी जवान हॉट लड़कियों को धन्यवाद करता हूं कि वो सब मेरी स्टोरी पढ़ कर मेल करते हैं.

मौका देखकर मैंने बात छेड़ी- दीदी, इन आवारा लड़कों के चक्कर में आपको नहीं पड़ना चाहिए, सब मज़ा लेते है बस. अब गांड में दिनेश का लंड जड़ तक पहुंचने लगा, जिससे मैं बिल्कुल पागल हो गई और चिल्लाने लगी- आह. आप सब मुझे फीडबैक जरूर दें, इससे मुझे कहानी लिखने में थोड़ा मदद मिलती है.

बीएफ 2020 के बीएफ मैंने अपने लंड को उनकी चूत पे ऊपर टच करके रखा, पर मैंने उसे डाला नहीं, वो एकदम पागल सी हो गयी थी और नीचे से अपने चूतड़ उछाल रही थी. फिर मैंने अपने लंड पर धीरे धीरे दबाव बनाते हुए उनकी चुत में डालने लगा.

हिंदी बीएफ खुला

मैंने उसे कस कर पकड़ कर अपने होंठ उसके होंठों से लगा दिए और 15 मिनट तक उसे चूमता रहा. प्रभु मतवाला हो गया उसकी चिपकी जांघों के बीच उसकी चूत की उभार देख कर… मैंने और कीकु ने उसकी टाँगें अलग की, उसकी फूली हुए चिकनी चूत हमारी आँखों के सामने थी. उसकी गांड की फांक महसूस करके अब तो मेरा लंड भी पूरा खड़ा होकर उसकी गांड के छेद पर जा लगा.

बुआ का लड़का बाहर से खाना लेकर आया और हम दोनों खाना खाने के बाद एक दूसरे से थोड़ी बातें करने लगे. फिर जैसे ही मैं और वो रूम के अन्दर आये, वो पागलों की तरह मेरे होंठों को काटने लगी और मेरे कपड़े निकालने लगी. काजल अगरवाल सेक्सी विडिओहम दोनों अब पीठ के बल अगल बगल लेटे तेज़ी से साँस ले रहे थे, दोनों पसीने में डूबे थे.

उसने ऑटो वाले से मेरे ही कॉलेज का नाम बोला, यह सुन कर मेरा मन खुश हो गया.

मेरे हाथों ने उनके स्तनों को अपनी हथेलियों में भरा और उन्हें किस करने लगा. ये सब करते वक्त लड़कियों का हाइमन टूट जाना सामान्य है। अब जब मेरी शादी होगी तो मैं खुद को सफ़ेद चादर पर कुंवारी साबित नहीं कर पाऊँगी और मेरा पति भी मुझे इसी तरह से बदचलन समझेगा जैसे अभी मेरा अपना भाई मेरी भाभी को समझ रहा है.

मुझे उसके खड़े लंड का एहसास हुआ तो महसूस किया कि उसका लंड अपनी हरकत में आने लगा था. मुझे देख कर वो थोड़ा हिचकिचाया और उसने मुझसे पूछा- आप कौन?मैं बोली- मुझे सुनीता ने भेजा है, घर का काम करने के लिए. उस समय उनकी मस्त गांड उभर कर बाहर आ गई और छोटी सी पेंटी उनके चूतड़ों में फंसी, गजब ढा रही थी.

मैंने जब टिकट लिया था तो वेटिंग में थी लेकिन मेरा टिकट कंफर्म हो गया, मैं अपनी सीट पर जाकर बैठ गया.

दादर उतर कर मैंने टैक्सी ली और उसकी बताई हुई जगह (वडाला) पहुँच गया. फिर उसने बस के कंडक्टर से अपना टिकेट चैक कराया तो पता चला वो तो मेरे ही बगल वाली डबल सीटर पर थी. फिर पद्मिनी ने धीरे से कहा- क्यों मेरे ब्लाउज को फाड़ डाला आपने बापू, ये मेरी यूनिफार्म का ब्लाउज है.

सेक्सी वीडियो जोधपुर कामैं ये बात समझ रहा था कि मेरे माता पिता जी जाने वाले नहीं हैं, लेकिन ना जाने उनको आज क्या हो गया और वे मान गए. एक दिन मैं अपने एक दोस्त के साथ दारू पी रहा था तो मैं नशे में उसको बोला- सालों तुम लोगों का काम तो हो जाता है, मैं ही बहनचोद मुठ मार कर काम चलाता हूं.

హీరోయిన్ బి ఎఫ్ లు

उनका चेहरा तो बहुत ही क्यूट और भोला था, पर जैसे ही मेरी नज़र उनके शरीर पर पड़ी, मेरे अन्दर चिंगारियां फूट पड़ीं. पर मुझे तो उसकी चूत से मतलब था और धोखे के बाद सिर्फ सेक्स बच जाता है. क्या यह सच है?मैं बोली- हां अंकित आ जाओ, मुझे तुमसे लंड घुसवाना है, यह लालजी तुम्हारे सामान की बड़ी तारीफ कर रहा है.

मैंने ध्यान दिया कि वो मुझे बहुत देर से देख रही है तो मैंने भी उसकी तरफ़ देख कर थोड़ा मुस्करा दिया. अब हम वहां से गाड़ी स्टार्ट करके सीधा गोवा के एक रिज़ॉर्ट में पहुँच गए. मेरी पत्नी के लंबे समय से बीमार होने के कारण मैं काफी समय से यौन सुख से वंचित था, अतः कभी कभार हस्तमैथुन के द्वारा अपनी यौनक्षुधा को शांत कर लेता था.

लेकिन उसका लंड एकदम कड़क था, उसका पानी निकलने का नाम ही नहीं ले रहा था. जिप खुलते ही मैंने अपना हाथ अन्दर डाल दिया और उसकी टी-शर्ट को भी ऊपर कर दिया. सुधा भाभी- इट्स ओके, वैसे भी बहुत दिनों बाद कोई बात करने के लिए मिला है.

पिंकी के साथ चूत चुसाई का काम और नकली लंड से चुदवाने का काम हर रोज होने लग गया था. इतने मैं सुरेश जी उठ कर बैठ गए और बोले- सुबह हो गई है, अब यहां नहीं.

फिर उसकी चुत के छेद पर लंड रख कर हल्का सा पुश किया तो लंड फिसल गया.

बाबा वल्लिका के पास गए और बोले- तुम्हारा आँखें बंद कर लेना स्वाभाविक है. भाभी ने देवर का सेक्सी वीडियोरास्ते में मैंने रेखा से पूछा- आप क्या बहाना लगा के आईं होटल में? मैंने तो जूसी रानी से कहा कि एक दोस्त से मिलने जा रहा हूँ. सेक्सी वीडियो हिंदी मां बेटे कामैंने एक हाथ में ढेर सारा तेल डालकर उनकी पीठ पर दोनों हाथों से मालिश करना शुरू कर दिया. कम से कम मम्मी तो घर में जरूर होती है… दिन में भी!मयूरी सोचने लगी कि अगर अपनी चुदाई में माँ को भी शामिल कर लिया जाये तो यह समस्या ख़त्म हो सकती है.

मैंने सलमा को रात को 10 बजे फ़ोन लगाया तो उसने कहा कि आप कल आना, आज तो रात बहुत हो चुकी.

एक तो ब्लू फिल्म की खुमारी, ऊपर से आज भाभी की साड़ी वाला दृश्य, मुझसे कंट्रोल करना मुश्किल था तो मैंने बाथरूम में ही मोबाइल में ब्लू फिल्म चालू कर दी और सेक्स टॉय को भाभी की चूत समझ कर उसमें अपना लंड डाला और झटके पे झटके लगाने लगा. मेरे लंड से पिचकारी की भांति मेरे सफेद माल की धार बह निकली और सामने की दीवार को वीर्य ने सराबोर कर दिया. न … नहीं … तुम पीयो … वो रीत है ना दूध का गिलास …”नलिन के मना करने पर आयुषी ने खुद कॉफ़ी का मग उठा लिया और पीने ही लगी थी कि तभी उसने अपने पति के हाथ में कुछ देखा.

इसके बाद जैसे ही चूत को ले कर मेरे मुँह पर रखा तो वो दोनों हाथों से उसको खोल कर देखने लगा, जैसे कि वो कोई बहुत बड़ा जौहरी हो, जो हीरे की पहचान कर रहा हो. मैं मनोहर को पकड़ कर और अपनी बांहों में जकड़ कर उससे बोली- आह मस्त चोदता है तू. आखिरकारमैं उसकी बुर चाटने लगातो और जोर जोर से आहें भरने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मेरे सर को अपनी बुर में दबा के खूब ‘उम्म ममम आह सरताज जानू … जोर जोर से!’ कहने लगी.

बीएफ सेक्सी बीएफ ब्लू फिल्म

तो जाने की रिस्क उठा पाएंगी। आपकी पहचान छुपी रहने की गारंटी मेरी और इस बात की भी कि यह चीज़ कभी भी आपके लिये भविष्य में परेशानी का सबब नहीं बनने वाली।”शायद नहीं।”जवाब देने में जल्दबाजी मत कीजिये। यह दोस्त वही है जिसका ज़िक्र आपने अन्तर्वासना पर निदा की अन्तर्वासना वाली कहानी में पढ़ा होगा. दीदी आहें भर रही थीं और आंखें बंद किए बस मज़ा ले रही थीं- नहीं सतीश, प्लीज़ कुछ मत करो ना, मेरी बात मान जाओ ना, फिर कभी कर लेना, आज रहने दो, देखो कोई आ जाएगा, बहुत बदनामी होगी. जब तुमसे बात नहीं होती तो एक अजीब सी घबराहट होती है, दिल बैचैन रहता है, हमेशा तुम्हारे ही ख्याल दिल में आते हैं, यह सोचती हूं कि काश तुम पहले मिल गए होते! तुमसे बात करके मैं अपना खाना पीना सब भूल गयी हूँ, बस ऐसा लगता है कि कोई मुझे खाना पीना ना दे और सिर्फ तुमसे बातें करने के लिए बोल दे.

इस वजह से मेरी तो फट के हाथ में आ गयी कि कहीं मेरी बहन जाग तो नहीं गयी?फिर वी मेरी तरफ पूरी तरह से मुड़ गयी, मैं वैसे ही डर के मारे पड़ा रहा और यह देखने लगा कि कहीं वो जागी हुई तो नहीं है.

अब भी जब भी हमें मौका मिलता है, तो हम चुदाई कर लेते हैं और चूमा चाटी वगैरह तो हम हर दिन ही चुपके चुपके कर लेते हैं.

मैं भी इस बात को जानती थी कि पहली बार में दर्द होता है लेकिन मुझे ये नहीं मालूम था कि दर्द कितना होता है. मैं कभी उसके कानों में जीभ घुमाती थी, तो कभी उसके निप्पलों को मसलती थी. सेक्सी वीडियो मोटी चूची वालीउतने में राजू का फोन आया, उसने बोला- नीचे आ जाओ, मैं भी आने वाला हूँ.

उसने मेरे होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और धकापेल चालू कर दी. आंटी के मम्मे थोड़े लटके हुए थे, लेकिन इस उम्र के लिहाज से काफी ठीक थे. बापू उसकी एक चुची को मुँह में लिए चुसक रहा था और दूसरी वाली को अपने हाथों से मसल रहा था.

खैर वो चला गया, मैं थोड़ी देर बाद उठी और एक फोल्ड की हुई पट्टी चुपचाप उठा कर धीरे से पीछे कमरे में चली गयी. मैंने मना नहीं किया और फिर हम लोग बिस्तर पर लेट गए और एक दूसरे की बाँहों में चिपक कर एक दूसरे को किस करने लगे.

फिर मैंने अनुप्रिया के बूब्स को पकड़ा और किस किया ही था कि अनुप्रिया जाग गई और बोली- दीदी, मेरा फिर मन हो रहा है सेक्स करने का!मैंने कहा- हाँ मेरी जान, मेरा भी मन हो रहा है।हम लोगों ने फिर सेक्स किया और तब तक घड़ी में सुबह के 6.

कुछ ही देर बाद कुछ ऐसा हुआ कि सामने वाली बर्थ जिनकी थी, वे आ गए और मैंने उसको नजरों से अपने बगल में आने का इशारा किया. रूबी बोली- आहा, रस निकल आया!वो झुकी और प्रभु की आँखों में देखते हुए उसके लौड़े की ओर मुँह किया, सेक्सी अंदाज़ में ज़ुबान निकालते उसका प्री-कम चाट लिया. उसने मेरा लौड़ा अपने हाथ से पकड़ कर अपने छेद पर फिट किया तो मैंने एक झटका लगाया और मेरा आधा लंड उसकी गांड में चला गया.

ऑंटी ऑंटी सेक्सी व्हिडीओ फिर उसने अपने दोनों भाइयों को अपने पास बुलाकर बातचीत शुरू की- एक बात पूछूं?विक्रम और रजत एक साथ- हाँ पूछ…मयूरी- आज माँ कुछ ज्यादा हॉट नहीं लग रही है?विक्रम- हाँ यार… और मुझे तो कुछ अलग ही लग रही थी. कुछ देर बाद सैमी ने एक ज़ोर से झटका मारा और लंड मेरी चूत की झिल्ली को फाड़ता हुआ थोड़ा सा अन्दर चला गया.

नमस्ते दोस्तो, मैं रोहन हूँ मेरी उम्र 20 साल है, मैं होशंगाबाद (मध्यप्रदेश) का रहने वाला हूँ. हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम पुनीत वर्मा है और मैं 21 साल का हूँ और मेरा लन्ड 6. रेखा जैसे ही अंदर घुसी मैंने बिजली की तेज़ी से दरवाज़ा बंद करके उसको ज़ोर से आलिंगन में बांध लिया और अपने तपते होंठ उसके होंठों से लगा दिए.

बीएफ फुल एचडी पिक्चर

उसने कहा- अभी मुझे कुछ नहीं चाहिए, पर हां जल्दी ही मैं तुमसे जो कुछ मांगूगी. उसके लंड पर बहुत दबाव पड़ रहा था, पर अब वो वापिस मुड़ने की स्थिति में बिल्कुल नहीं था. इस बार मैंने अपना मुँह किसी छोटे होल के जैसा बना दिया ताकि उन्हें एक किसी कुंवारी चूत के जैसा महसूस हो.

उसकी चूचियाँ ऐसी लग रही थी जैसे दो पर्वत खड़े होकर खुद पे इतरा रहे हों! जब वो सांस लेती तो उसके वो पर्वत ऊपर नीचे हो रहे थे जिन्हें देखकर मेरा शैतानी दिमाग खुद ब खुद काम पे लग गया।अपनी बहन के पास जाकर मैं उसे हल्की रोशनी में फिर से उसे ऊपर से लेकर नीचे तक निहारने लगा. अपनी माशूका का नंगा बदन देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया और मैं फिर से उसके स्तन चूसने लग गया.

”पागल हो क्या, अभी तो अनु के साथ थे, अब मुझे कह रहे हो, दोनों हाथों में लड्डू चाहिए क्या तुम्हें?”ऐसी बात नहीं है दीदी, आपको तो पता है.

मेरी गांड पर उसका लंड ऐसे घिसा जा रहा था, जैसे प्लाजो फाड़ कर अन्दर चला जाएगा. फ़िर मैंने अपना लंड उसके मुँह में दे दिया और मैं उसके मुँह में झड़ गया. उसने पूछा- क्या ड्रिंक करते हो?वो बोला- मैडम झूठ नहीं बोलूँगा, करता था मगर अब इतने पैसे ही नहीं है कि पीने की सोच भी सकूँ.

फिर प्रीति को अपने चूतड़ों पर कुछ महसूस हुआ तो उसने एकदम से मेरे लिंग को एक हाथ से पकड़ लिया और उठ कर बैठ गयी. बस अब मैं उसके गोल गोल मम्मों को अपने हाथ से दबाने लगा और उसके निप्पल को मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. तो मैं उठकर ऊपर गई, देखा तो मुझे विश्वास नहीं हुआ क्योंकि मेरी मम्मी शिवदयाल के सामने उलटी नंगी लेटी हुई थी और शिवदयाल मॉम की कमर की कास के मालिश कर रहे थे.

उसने मुझे कहा एक बार बाहर निकालो, दोबारा डाल लेना, परंतु मैंने ऐसा नहीं किया, मैंने तीन या चार झटकों में अपना 6 इंच का लिंग बहन की चूत में घुसा दिया.

बीएफ 2020 के बीएफ: उन्होंने इसकी शादी किसी अपने दोस्त के लड़के से करने की सोची हुई है, जो बहुत अच्छी जॉब करता है. वो भी हॉट हो गईं और उन्होंने मुझे बेड पर धक्का देकर गिरा दिया।मैंने उन्हें किस करना शुरू कर दिया। उन्होंने मुझे रोककर बोला- ऐसे क़िस नहीं करते.

उसकी हर ख्वाइश और हर सपने में सिर्फ मैं ही रहूंगी, ऐसा सभी कहते हैं. मेरे प्रिय दोस्तो और भाइयो, भाभियो, आप सबको मेरा नमस्कार!मेरी पिछली कहानीफ़ोन सेक्स चैट से देसी चूत की चुदाई तकआप सबने जरूर पढ़ी होगी तो आप तो जानते हैं कि मैं पटना से हूं और मेरी हाइट लगभग 6 फुट है और मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लंबा और लगभग सारे 3 इंच मोटा है. मगर ना तो राहुल हटने को तैयार था और ना ही मैं मना करने के मूड में थी.

मैं फिर से उसके होंठ चूसने लगा और उसे बिस्तर पर लिटा दिया और फिर उसकी गर्दन पर किस करने लगा.

रूबी- आहा आहा, बहुत दिन बाद इतने जवान लौड़े का मज़ा मिला है, ज़ोर से चोदो!ऐसे बोल उसने अपनी टाँगों से मुझे घेर लिया और मेरे रिदम में अपनी कमर आगे पीछे करने लगी. सीमा का हाथ मेरे लिंग पर ही था, वह आश्चर्यचकित हुई और बोली- वाह जीजू, इतनी जल्दी? आज क्या मेरी चूत अपने मोटे लिंग से फाड़ ही डालोगे?इस पर मैंने उससे कहा- मुझे तुम्हारी गांड का छेद और चौड़ा करना है. मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई तो उसने आहें भरना शुरू कर दीं और मचलने लगी.