भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी मां बेटे की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

जापानी हिंदी सेक्सी मूवी: भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ, मैं पूरा लंड अन्दर पेल कर कुछ देर उसे किस करता रहा और बूब्स दबाता रहा.

मद्रासी में सेक्सी मूवी

रात को जब सोने की बारी आई तो हम जीजा साली लूडो खेलने लगे और लाईट बंद कर दी. देहाती छोरी के सेक्सी वीडियोदेसी हॉट टीन गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त ने मेरी दोस्ती एक बहुत गर्म लड़की से करवाई.

प्रिया- ये क्या है … इतना बड़ा!मैं- लोगी अन्दर इसे?प्रिया- लेकिन मुझे दर्द होगा ना!मैं- नहीं कुछ नहीं होगा. सेक्सी मराठी आवाजवो सिसक जाती- आंह बेबी … बी स्लो … सक मी … सक माय बूब्स प्लीज़ … आंह और चूसो … खा लो पूरे … ओह बहुत तड़पा रहे हैं, तुम्हारे लिए ही हैं मेरी जान … आंह खा लो जान …अर्चना मचल रही थी और मैंने उसके पूरे बदन पर किस किया, लव बाईट किए.

भाभी ने मुझे देख कर अंगड़ाई ली तो उनकी चूचियों ने लंड में आग लगा दी.भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ: उसने मेरा लंड अपने हाथ में लिया और बोली- मेरे पति का लंड तो छोटा सा और पतला है.

बीच बीच में वो मेरी नमकीन चुत पर हाथ फेर देते, उससे मेरी आग और भड़क रही थी.वो मुझसे अपने आपको छुड़ाने की पुरजोर कोशिश कर रही थी पर कामयाब नहीं हो पाई.

मधु की सेक्सी वीडियो भोजपुरी - भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ

मैंने उनकी चूची को जोर से दबा दिया तो भाभी का मुँह खुल गया और मैंने लंड मुँह में पेल दिया.काली ब्रा में बहुत सेक्सी लग रही थी वो!मैंने 2 मिनट उसे ब्रा में देखा.

मैं उनके ऊपर लेट गया और उनके कोमल बदन पर होंठ फिराने लगा, फिर से उनकी एक चूची पर मुँह रख कर चूसने लगा. भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ मैंने उसके मम्मों को तेजी से चूसना शुरू कर दिया और दूसरी उंगली को उसकी चूत पर रख दिया.

देर तक चोदने के बाद मैंने खुद को मन ही मन बहुत रोका लेकिन अब मैंने अपने लंड का लावा उनकी चुत में डालने का मन बना लिया था.

भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ?

चुत पर उंगली रखते ही वो अपनी दूसरी चूची दबाने लगी और मुझसे उसको चूसने को बोलने लगी. वो मुझे अपने मुँह के सामने करती हुई बोली- पहले जी भर के देख तो लूं मेरे महबूब को … मैं तो आप पर उसी पल मर मिटी थी जब पहली बार देखा था. मैंने उनसे इतना कह कर अपना अंडरवियर उतार फैंका और नंगा होकर औधा लेट गया.

‘अह क्या मस्त माल लग रही हो मेरी बेगम … आज तुम्हें चोद कर जन्नत की सैर पर पहुंच जाऊंगा. वो हंस कर बोली- शेप न बिगड़ जाए इसलिए!मैंने भी हंस कर उसकी बात समझ ली. मैंने मौका देख कर भाभी की जांघों पर हाथ रख दिया और साथ साथ फोटोज दिखाने लगा.

थोड़ी देर बाद अभी मुझे गांड में मजा आना शुरू ही हुआ था कि उन्होंने अपना दूसरा झटका दिया और पूरा लंड मेरी गांड में डाल दिया. अगली सुबह उठते ही मदन ने मेरी गांड पर अपना लंड सटा दिया और मुझे खींच कर अन्दर घुसा दिया. ओरल सेक्स लंड चुसाई कहानी में मैंने बस स्टैंड के शौचालय में एक आदमी का लंड चूसकर मजा लिया.

कुछ देर बाद मैंने उसी ब्रिज पर उसी जगह बाइक रोक दी जहां हम दोनों ने कल खड़े होकर बात की थी. जिस रूम में हम दोनों थे, उसमें परिवार के दो तीन लोग और भी सो रहे थे, जिसके कारण लाइट बंद थी.

यह बात आज से एक साल पहले शुरू हुई थी तब मैं सेक्स में किसी भी चीज के बारे में नहीं जानती थी क्योंकि मेरे साथ कभी कुछ ऐसा नहीं हुआ था.

मैंने उसे कपड़ा दिया तो उसने अपनी चुत, गांड और जांघें साफ कर लीं, तकिया कवर निकाल कर बाजू में फैंक दिया और कपड़े से बेडशीट भी पौंछकर साफ कर दिया.

प्राची मेरे नजदीक आकर मेरे लंड को सहलाती हुई पूछने लगी- किसका फोन था?मैंने उसे मनीष के फोन के बारे में बता दिया. फिर एक दिन अचानक सीमा मेरे घर पर अपना सारा सामान लेकर आ पड़ी।पहले तो मुझे कुछ समझ नहीं आया. अब वह दोनों लौंडे खुलकर मेरी चूत और गांड की चुदाई कर रहे थे, उन्होंने मेरे जिस्म को अपने आगोश में ले रखा था.

वीरू का 7 इंच का लौड़ा उस मुसलमानी अधेड़ उम्र की शबाना खान की गांड को तहस नहस करते हुए अंदर घुस चुका था।गांड की नाजुक चमड़ी फटने से खून की बूंदें वीरू के लौड़े पर और गद्दे पर बिख़र चुकी थीं. अम्मी एक हुस्न की परी हैं, एकदम गोरी हैं, उनके लंबे लंबे, सुनहरे घने बाल हैं. मैं बिस्तर पर जा कर बैठ गई और एक ने मुझे खींच कर बिस्तर पर लिटा दिया.

मैंने उससे बोला- मेरा होने वाला है, कहां निकालूं?वो नीचे से और तेज स्पीड बढ़ाते हुए बोली- अन्दर ही आ जा.

तब तू उसे जाने देना या तू दो तीन दिन के लिए बाहर चले जाना कहीं भी!उसने मुझसे पूछा- मैं कहाँ जाऊंगा?मैंने कहा- अरे यार … अपने उन्ही साथियों के पास चले जाना न!उसके बाद जब भी हमें मिलना होता तो अंगिका विपुल को मायके जाने को कहती और वो कुछ दिन के लिए चला जाता।फिर हम दोनों अपनी रातें रंगीन करते।इसी तरह चार महीने बीत गये. आपको ये भाई बहन की चुदाई हिंदी में कहानी कैसी लगी, इसके बारे में कमेंट करके ज़रूर बताएं. तभी मैं थोड़ा उठी और स्कर्ट ऊपर करके अंकल की गोद में बैठने लगी, जिससे अंकल का लंड पूरी तरह मेरी चुत में समा जाए.

इसके पहले की भाभी कुछ कह पातीं, मेरा हाथ ब्लाउज के हुक्स तक जा पहुंचा और मैंने एक झटके में तीनों चिटकनी वाले हुक खोल दिए. भाभी को भी गर्मी चढ़ने लगी और अब उन्होंने हल्की हल्की सिसकारियां भरना शुरू कर दीं. वो मेरे सामने नंगी लेट गयी और मुझे मेरी ट्रैक पैंट की ओर इशारा किया.

लेकिन उसके शरीर का कोई हिस्सा जब भी मुझसे लगता, तो मुझे बहुत मजा आता क्योंकि वो कभी सीधी, तो कभी करवट लेकर सो रही थी.

वो मेरी पीठ पर पानी डालने लगी, तो सोनाली ने देखा कि उसके नाखून के निशान जगह जगह थे. मैंने दरवाजा बंद करने की कोशिश की, तो उन्होंने कहा- अब दरवाजा क्यों बंद कर रहे हो.

भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ अब मेरी धड़कनें बढ़ गईं कि भाभी को सब पता चल गया होगा कि मैंने क्या किया है. उस सेक्स कहानी का शीर्षक अलग होगा, उसे भी जल्द ही लेकर प्रस्तुत होता हूँ.

भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ मगर ज्यादा जोर देने पर बताया कि रोहित उसको ज्यादा टाइम नहीं देता है और वो ये कहते हुए रोने लगीं. वहीं दूसरी और मेरी दीदी डिक्सी, जो अभी 21 साल की है, वो भी कुछ कम नहीं है.

इसलिए दीदी ने मेरे कान में चुपके से कहा- अब मेरे ऊपर आ जा!मैंने दीदी की नाइटी को और ऊपर तक उठा दिया जिससे उसकी चूचियां भी अब नंगी हो गयीं.

वीडियो छोडा छोड़ी

उनकी मस्ती भरी कामुक आवाजें सुनकर मैं भी एकदम से बिंदास हो गया और उनके मम्मों पर लगभग टूट पड़ा. उनका हाथ अब कंधे की सीध में था।जाने अंजाने उनका हाथ मेरे लंड पर रख गया। मेरा लंड फिर से फुफकारने लगा. दीदी मेरी इच्छा और मेरी खुशी के लिए अपना पूरा बदन मुझे सौंप चुकी थीं.

यदि वे लोग बट प्लग लगाकर उसकी गांड ढीली करने का उपाय नहीं करते … तो उसकी हालत खराब हो जाती. तो पहले तो हमने अपना केक काटा … एक दूसरे को बहुत सारी पप्पियाँ दी।केक काटने के बाद उसने मुझे अपनी बांहों में उठाया और बेड पर ले गया. मैंने उसे बांहों में भर लिया और कुछ देर बाद उसकी चूत में उंगली डालने की कोशिश की तो देखा कि वहां से खून निकल रहा था.

उसकी आंखों में देखने से पता चल रहा था कि वो अब मेरे लिए अपना मन पक्का कर रही है.

‘अह क्या मस्त माल लग रही हो मेरी बेगम … आज तुम्हें चोद कर जन्नत की सैर पर पहुंच जाऊंगा. बीच में ही जब उसके मुँह से पचापच की आवाज निकलती थी तो मेरा जोश और बढ़ने लगता था. सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको अपने दोस्त की बीवी सरिता देसी भाभी न्यूड चुदाई पूरी लिखूंगा.

मेरे आते ही भाभी ने पल भर के लिए कम्बल हटा कर मुझे अपने नंगे जिस्म की झलक दिखाई. करीब 20 मिनट बाद मैंने नींद का नाटक करते हुए भाभी के बोबों पर हाथ रख दिया. चाचा हम लोगों पर बिल्कुल ध्यान नहीं देते थे इसलिए प्राइमरी के बाद मेरी दादी ने मुझे पढ़ने के लिए मेरी बुआ के यहां भेज दिया था जो कि सीतापुर के एक गांव में रहती थीं.

हम दोनों ने खाना खाया और खाना खाने के बाद मॉम फिर से रसोई में बर्तन साफ करने चली गईं. ब्रदर वाइफ सेक्स कहानी मेरे छोटे भाई की पत्नी के साथ सेक्स सम्बन्धों की है.

मैंने अपने होंठ उसके होंठों में दे दिए और मेरा शरीर एकदम से निढाल होता चला गया. यह सुनकर रमेश सर ने दो तीन तेज झटके मार कर अपना वीर्य हज़ीरा की चुत में ही गिरा दिया. कुछ देर में मेरी उत्तेजना अपने चरम पर आती महसूस करने लगी और एक बार फिर से मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

हम दोनों काफी थक गए थे तो हम वहीं चादर पर लेट गए और बातें करने लगे.

मैंने कहा- भाभी, आप पकड़ के खुद देखो, तब पता चलेगा कि एक बार अंदर गया तो घर में नवाज़ का भाई आ जायेगा. तब भी वो नहीं हटी और उल्टा अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को कस कर पकड़ लिया. वो लड़का मेरी गांड में ताबड़तोड़ धक्के लगाने लगा, उसके हर एक धक्के से मेरी हल्की चीख निकल रही थी.

क्या गजब कमर हिला रही थी वो … मैं भी नीचे से लंड उठा कर चुत चोदे जा रहा था. उसके बाद पूरे रास्ते में ज़्यादा बातें नहीं हुई और फिर हमको जहां पर उतरना था वो मुकाम आ गया।मुझे कुछ सोचने के लिए वक़्त चाहिए।” जब हम अलग हुए तब सीमा ने मुझे कहा।कुछ दिन यूं ही गुज़र गये.

मुझे लग रहा था कि शायद मैं ज्यादा पोर्न देखने लगा हूँ … ये उसका असर है. उनके नीचे जाते ही लंड किसी स्प्रिंग की तरह उछलकर उनके गाल पर चांटे जैसा लगा।उन्होंने फिर लंड को दोनों हाथों से पकड़ा और निहारने लगी. भाभी ने मुस्कुरा कर अपने देवर का लंड पकड़ लिया और उसको हिलाना चालू कर दिया.

ब्लू पिक्चर बफ

मेरा पढ़ाई में भी मन लगने लगा था और जब कम्पटीशन दिया तो मेरा रिज़ल्ट भी अच्छा आया.

मैंने उनसे पूछा- अगर आपको अपने ट्रांसफर से सम्बन्धित कोई काम हो तो मुझे बताइएगा, मैं अपने पापा से बात करके आपका काम करवा दूंगा. ससुराल में मेरे पति नमन जिनकी उम्र 23 साल लन्ड 8”, सास शांति उम्र 40 साल भरे पूरे बदन वाली औरत और मेरे ससुर जी हिम्मत सिंह उम्र 51 साल लन्ड-9″ रहते हैं. फिर मैंने उसे झटके से नीचे पलट दिया और उसके ऊपर आकर उसे किस करने लगा.

मेरे दिमाग में बार बार वही सारे दृश्य घूम रहे थे और गुदगुदी पैदा कर रहे थे. कमरे में आंटी की सिसकारियां गूंजने लगीं, साथ में फच फच की आवाजें भी आ रही थीं. नई नई पिक्चर सेक्सीऔर न ही कोई शारीरिक संबंध भी बांधा।कुछ दिन हम उस शोक के चलते घर में ही रही.

रात भर लगातार ये लोग मेरी चुत का भोसड़ा बनाते रहे और मैं बिना कुछ बोले इनके नीचे पड़ी चुदती रही. मेरी हरकत का उसने कोई विरोध नहीं किया बल्कि वो मेरा साथ देने लग गयी.

उन्होंने मेरे खड़े लौड़े को गले तक लेकर चूसना चालू कर दिया था, मुझे अप्रतिम आनन्द आ रहा था. तो पहले तो हमने अपना केक काटा … एक दूसरे को बहुत सारी पप्पियाँ दी।केक काटने के बाद उसने मुझे अपनी बांहों में उठाया और बेड पर ले गया. मेरी उस बात का जवाब इतनी देर बात मुझे इस तरह से मिला तो मेरे मन में उसे चोदने का ख्याल आने लगा.

थोड़ी ही देर बाद सोनाली ने अपना कमोड पर रखा पैर नीचे रखा और वो सीधी खड़ी हो गयी. खैर … ये क्लीवेज दिखाना बहुत दिनों तक चला, लेकिन आगे मामला मैंने बढ़ने नहीं दिया. शुरू में तो कुछ खट्टा सा लगा मगर उसकी चुत की मादक महक मेरे तन बदन में आग लगाने लगी थी तो बेहद मज़ा आ रहा था.

सलमा ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।अंकल नंगे बदन लुंगी पहने हुए थे.

सलमा ने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।अंकल नंगे बदन लुंगी पहने हुए थे. अब हम दोनों एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते थे और ऐसा हो भी क्यों ना … हम एक दूसरे पर इस कदर मरने जो लगे थे.

आंटी ने मम्मी के हाथ से मेरे लिए कई बार हलवा आदि बना कर भेजा था तो मैं अपने कमरे में आंटी के हाथ का बना हलवा ले जाता था और अपने लंड पर लगा कर आंटी को याद करके मुठ मार लेता था. मैंने पूछा- अब मुजफ्फरनगर जाने का क्या साधन है?वो बोला- अब तो छोटा हाथी या टेम्पो ही मिलेगा. रीना ने भी हसित के बालों को प्यार से सहलाया और कहा- तुम तो बिलकुल आशीष की तरह प्यार करते हो.

मैंने अपनी बाइक निकली और लवी मेरे पीछे एक साइड दोनों पैर करके बैठ गई. उसने पूरी तरह से अपने शरीर को अकड़ा लिया और बोली- आंह नवीन … मुझे दर्द हो रहा है … जरा धीरे करो. इस दौरान मेरा कभी किसी और लड़के से मिलना तो दूर, मैंने किसी दूसरे के बारे में सोचना तक छोड़ दिया था.

भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ तभी मैं अपना एक हाथ उसकी पीठ पर फेरने लगा और दूसरे हाथ से उसके कूल्हों को सहलाने लगा. उसकी बात सुन कर मैंने कहा- मैं …अभी मैं कुछ और बोलता, इससे पहले कुच्ची ही बोल पड़ा- चल बे भोसड़ी के … तेरा भी जुगाड़ है.

ग्वालियर की सेक्सी

धीरे धीरे मुझे उनके साथ व्हाट्सएप पर बातें करना काफी अच्छा लगने लगा. फिर जब उसका दर्द कम सा हुआ तो मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखे और उसे पकड़ एक ज़ोर से धक्का दे मारा. मुझे और जोश आ गया और मैंने अपना लंड सुपारे तक बाहर निकाला और जोर से अन्दर पेल दिया.

उसने अपनी जीभ निकाली और मेरे मोटे लम्बे लंड के टोपे को एक बार चाटा. मैंने कहा- कैसे मालूम है?वो बोली- अब पूरी कथा फोन पर ही सुन लोगे … या आकर भी कुछ बात करोगे?मैंने कहा- क्यों अभी बात करने में कुछ दिक्क्त है क्या?वो बोली- नहीं, अभी तो एकदम फ्री बैठी हूँ. बुर की चुदाई सेक्सी वीडियो मेंअगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि मैंने उसकी गांड कैसे मारी … और आज तक मैंने उसके साथ कितनी बार चुदाई की है.

लेकिन मेरे पापा ने बोला- बेटा अपनी मम्मी को अपने मामा के घर छोड़ आओ.

शब्बो का पूरा बदन वीरू के नीचे हिल रहा था।वीरू अब उसको आजाद करके अपने घुटनों के बल बैठा था तो शब्बो की हिलती हुई चूचियां देख कर उसको और भी मजा आ रहा था. जबसे संतोष की शादी हुई है, वो मुझसे प्यार करना तो दूर ढंग से बात भी नहीं करता.

दीदी की गर्म चूत की गहराई में जीभ देकर मैं भी पागल सा होने लगा था अब!वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … चूसो और जोर से चूसो. मगर जब भाभी बोलीं कि कोई घर पर नहीं है और हम सबको रात भर अपने चुत की सेवा देंगी, तो हम मन मार कर रूक गए. वो मुझे अपनी ओर बस ऐसे खींचे जा रही थी जैसे अन्दर समा लेना चाहती हो.

जब श्रीनगर से मेरी पोस्टिंग चंडीगढ़ हो गई थी, उस समय मेरी शादी को डेढ़ साल हो गया था.

अब आगे देसी हॉट गर्ल्स कहानी:जब मैं कुच्ची के साथ शब्बो के गांव की तरफ चल पड़ा तब मैंने कुच्ची से पूछा- अब तो बता मादरचोद. उफ्फ क्या लंड चूसती हैं यार वो … मैं तो समझो जन्नत में पहुंच गया था. उन दोनों ने सुम्मी की गांड और चुत में एक साथ लंड चलाने शुरू कर दिए और दूर खड़ी प्रियंका अपनी मम्मी की सैंडविच चुदाई की लाइव ब्लू-फिल्म देख कर अपनी चुत को अपनी टांगों से ही रगड़ने लगी.

सेक्सी इंडिया इंडिया15 मिनट के बाद मौसी तौलिया पहने हुई बाहर आईं और बोलीं- तुमने अपने कॉलेज की ड्रेस नहीं पहनी है, मतलब अब कॉलेज नहीं जा रहे हो. थोड़ी देर के बाद वहां वही लड़का आया, जिसने सूरज से भाभी की चुत दिलाने की बात की थी.

लंड और चूत दिखाओ

मगर दोस्ती का गाढ़ापन और एक दूसरे से मिलने की चाहत कब तक रोक लगा सकती थी. फिर उसके चेहरे पर किस करते हुए गले में किस किया और रीना के कान के पास अपने होंठों से प्यार करने लगा. ऊपर से उनकी बदन की मादक खुशबू, मीठी सॉफ्ट सी आवाज़ मुझे एकदम पागल बना देती थी.

आख़िर में हनी डरते डरते दिल्ली जाने को तैयार हो गया क्योंकि वो सोहल को खोना नहीं चाहता था. मगर आधा घंटा बाद ही मुझे फिर से अपनी चुत में सुरसुरी होने लगी और मुझे फिर से लंड की याद सताने लगी. इसकी जानकारी मुझे मेरी सहेलियों से मिलती रहती है।एक बार मैंने न्यूड हॉट सेक्स इन ट्रेन किया.

तब तक के लिए सुरक्षित रहिये … पेलते रहिये।इंडियन मेड पोर्न स्टोरी कैसी लगी ये भी जरूर बताना।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]. अब मैंने भी ‘गर्मी लग तो रही है …’ ऐसा बोलकर स्वेटर की चैन थोड़ी और नीचे कर दी, जिससे सर को मेरे आधे बूब्स एकदम साफ दिखने लगे थे और उनकी नज़र मेरे निप्पल ढूंढने में लगी थी. मैंने भी भाभी की कमर पर किस करते हुए उनके कुर्ते के साथ साथ उनकी ब्रा उतार दी और उनके बूब्स को चूसने लगा.

हर धक्के के साथ मेरे लंड का सुपारा सोनाली के गर्भाशय से मुँह पर ठोकर मार रहा था. वो हर बार मेरे ऊपर गिरती और बार बार और मैं उसके मम्मों को महसूस करता.

वो कुछ नहीं कह रही थी बल्कि आह आह करके कह रही थी कि और करो मुझे अच्छा लग रहा है.

फिर थोड़ी देर बाद मुझे वही फिर झपकी आने लगी तो ड्राइवर ने अपने साथ के स्टाफ़ को बोला कि मेडम के लिए पीछे कोई सीट की व्यवस्था कर दो अगर हो सके तो!जैसा कि मैंने आपको बताया था कि उस बस में सभी विदेशी ही थे तो सबकी सीट रिजर्व थी, सीट मिलना मुश्किल था. मुला मुलींचा सेक्सी व्हिडीओफिर अंगिका को मैंने कहा- जान, आज तुम हम दोनों की सुहागरात की तैयारी करोगी. सेक्सी आदिवासी सेक्सी आदिवासी सेक्सीफिर मैंने उसे अपना लंड चुसवाया औऱ उसकी चुत जिसे वो फुद्दी बोलती थी, को अच्छे से रगड़ा. अपनी चुत पर मेरा मुँह के लगते ही आंटी सिहर उठीं और बुदबुदाने लगीं- ये क्या किया तूने … आज तक तेरे अंकल ने कभी नहीं किया हाय मररर गयी रे मैं तो … तूने ये क्या कर दिया.

मैंने भाभी के गर्दन को चूसना चालू किया और फिर से होंठ गाल चूची सब चूसने लगा.

मैंने बाथरूम लॉक किया और नंगा होकर उसकी सलवार को चुत की जगह से नाक पर रख कर सूंघने लगा. कभी वो अपनी चूत को गोल गोल घुमाती, तो कभी लंड की चटनी सी पीसने लगती, तो कभी बस कमर को ऊपर नीचे करती, कभी पूरे शरीर से पूरे शरीर को रगड़ कर मालिश सी करने लगती. उनकी चूत पहले ही गीली हो चुकी थी, मेरे चाटने से उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया.

मैंने उसे एक मिनट तक देखा तो उसने कहा- आपको संकोच हो रहा है तो मैं मोहल्ले से दो चार लोगों को मदद के लिए बुलवा लेता हूं. हज़ीरा मुस्करा कर बोली- चलो अच्छा हुआ कि हमें सीमा से कहना नहीं पड़ा. और जैसे ही इसका आभास वीरू को हुआ कि शबाना की गांड से उसके लौड़े का निकाह हो चुका है तो उसने भी शबाना को ऊपर उठा लिया.

करवा चौथ माता

फिर जब उसने मेरी गर्दन को चूमा, मेरा भी सब्र का बांध जैसे टूट जाने को हो गया. यही नहीं, अब वो घर के हर काम के साथ साथ मेरा भी हर तरीके से ख्याल रखने लगी थी. मैं डांस करते हुए उसे किस करने की कोशिश करने लगा तो वो आंख दबा कर बोली- क्या बात है … लेने की बहुत जल्दी है.

वो बोली- चाट इसे … अब बहुत देर हो गई तुझे तड़पाते हुए … अब नहीं रहा जाता.

आपको मेरी ये इंडियन देसी गर्ल सेक्स कहानी कैसी लग रही है, प्लीज़ मेल करना न भूलें.

वो बोली- इससे तो परहेज नहीं है न … लो इसे पी लो, इससे सारी थकान मिट जाती है. सरिता की आहें वासना में डूब गयी थीं और उसने अपना सर मेरे सीने पर रख दिया था. आदिवासी सेक्सी वीडियो चुदाई कीजो मर्द मेरे नीचे लेट कर मेरी चुत में लंड पेले हुए था, मैं उससे एकदम से चिपक गई.

शब्बो पागल हो उठी और कामुकता में सिसकारने लगी- याल्ला हहह मालिक मैं मर गयी … अम्म्मीईई … आह्ह!इतने में ही शब्बो ने वीरू का मुँह अपनी चूत पर जोर देकर दबाया, अपनी जाँघों से उसका सिर दबाते हुए शब्बो मूतने लगी. विलास इस तरह हल्के हल्के से मेरे लंड को सहला रहा था कि मेरे लंड में तनाव आने लगा था. कुछ देर उसे ऐसे ही दर्द देने के बाद में रुक गया और उससे अपने लंड के ऊपर आने को बोला.

मैंने सोनाली का एक पैर कमोड पर रख दिया और मैं अपना तना हुआ लंड का सुपारा उसकी गीली चूत पर रगड़ने लगा. अचानक हुए इस हमले से पहले तो प्राची थोड़ी चिहुंक उठी लेकिन फिर उसे भी मजा आने लगा.

क्या आईडिया है?”विवेक बोला- आपको नानी को पिछले वाले कमरे में लाना होगा.

3- लड़की की चुत गांड मुँह या शरीर की सील लड़की के बाप के अलावा उसकी मां के बताए गए आदमी से ही फाड़ी जाएगी. मेरी इस दलील पर मेरी बीवी चुप रही और उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया. उसने मुझे देखा तो वो थोड़ा घबरा गई, उसने तुरंत कॉल काट दी, जिससे मुझे पूरा पता समझ आ गया कि ये अपने बॉयफ्रेंड से ही बात कर रही थी.

सेक्सी वीडियो है भाई मैं उसकी पूरी गर्दन पर चुम्बन काटते चाटते हुए थोड़ा नीचे वक्ष की ओर आया तो उसने दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ लिया. सभी ने उसको भी चलने को कहा तो उसने कॉलेज के बहाने से जाने से मना कर दिया.

मैंने पहली बार जिस दिन भाभी को देखा था, उसी दिन सोच लिया था कि कैसे भी करके भाभी को चोदना ही है. मैंने कैसे उनकी चूत में अपना लंड डाला?मैं आरुष पुणे का रहने वाला हूँ और मैं यहां अपने मम्मी और पापा के साथ रहता हूं. मैं- और जो आग मेरे अंदर लगी हुई है उसका क्या?दीदी- अपना हाथ जगन्नाथ! बाथरूम में जाकर हिलाकर आ जा!मैं- दीदी, आप ही अपने हाथ में लेकर हिला दो ना मेरे इस लंड को?दीदी- तेरा दिमाग खराब हो गया है.

सुहागरात कैसे बनाया जाता है

अब तलाश थी तो किसी लंड या चूत की जो लंड का पानी निकालने के लिए मिल जाए. मैंने उसके दोनों चूचों को अपने हाथ में भर लिया और उसके पेट पर किस करना शुरू कर दिया. उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा- क्या रोज़ ही हाथ से हिला लेते हो?मैंने कहा- हां.

भाभी इठला कर बोलीं- हां बोलो?मैं- एक बार मुझसे सेक्स करवा लीजिए ना!भाभी मुँह टेढ़ा करके बोलीं- हां कर लो, मैं ये रही. फिर मैं पेट को चूमते हुए उनकी नाभि तक आया और नाभि को चूसने लगा, काटने लगा.

भाभी की चूत देखते ही मैं बेकाबू हो गया और उस वक्त मुझे पता नहीं क्या हुआ, मैं जल्दी से अपनी जीभ से भाभी की चूत को चाटने लगा.

उस लड़के ने लवी को सॉरी बोला और कहा- मैं आज के बाद मैसेज या कॉल नहीं करूंगा और ना ही तुमसे कुछ कहूँगा. दोस्तो, मैं आपका साथी आजाद गांडू एक बार फिर से आपको गे सेक्स कहानी में मजा देने हाजिर हूँ. उनके चेहरे पर दर्द की लकीरें उभर आयीं, पर मैंने बिना परवाह के एक जोरदार धक्का दे मारा और मेरा आधा लंड चूत के अन्दर चला गया.

मैंने कहा- यदि मैंने एक बार तुम्हारे साथ वो सब किया तो आगे तुम मेरी शिकायत कर सकती हो कि मैंने तुम्हारे साथ वो सब किया था. मैंने उनकी चड्डी और ब्रा को बेड के नीचे छुपा दिया और हॉल में जाकर बैठ गया. वो मुझसे थोड़ा गैप बना कर बैठी थी और उसने कुछ पकड़ा हुआ भी नहीं था, तो उसे झटका लगा.

जब उसने कहा- छोटे बाबू इतने गौर से देख रहे हो कि लगता है कि आंखों से ही दूध पी लोगे क्या?मैं उसकी इस बात से एकदम से हड़बड़ा गया और नाश्ता करने लगा.

भाई बहन की चुदाई वाली बीएफ: मैं आंटी का नम्बर लेकर और मम्मी को मेरे लंड से चुदने की बात बोलकर अपने घर आ गया. कोहरा इतना गहरा गया था कि सड़क के उस पार देखना थोड़ा मुश्किल हो रहा था.

अब जब भी मैं उसे श्वेता के यहां लेकर जाता, तो वो मुझे कसके हग करके बैठी रहती और हम रोजाना रात को छत पर मिलने लगे, किस करने लगे. अब मेरी सेक्सी दीदी की चूत चुदाई की कहानी में आगे क्या हुआ, वो मैं आपको इस कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. वह कह रही थी- पहले मुझे चोदो, फिर मेरी अम्मी चोदना। आज तो है नहीं … तुम कल ही मेरी अम्मी चोद पावोगे। कल चोदना और मेरे सामने चोदना.

डॉक्टर के प्रमाण पत्र की सहायता से लड़कियों के नाम से आधार कार्ड, पेन कार्ड बना लेंगे.

विलियम ने सोचा जैसे मैंने हाथ पर किस के लिए हाँ बोल दिया था उसी तरह मैं लिप किस के लिए भी हां बोल दूंगी. भाभी रोते हुए बोलीं- मैंने क्या नहीं किया इस आदमी के लिए … इसने जब जो कहा, मैंने किया. मैं भी भाभी के चूचों के स्पर्श से पूरा चार्ज हो गया और मैंने भाभी को कमर के बल लेटने को कहा.