कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,बंगाली बंगाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

जानवर बीएफ फिल्म: कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म, तभी बुआ बोलीं- शादी तो अब हो ही गई है … मुझे जॉब ज्वाइन करने की जल्दी है.

सोनाक्षी सिन्हा की नंगी बीएफ

जीजा जी फोन पर बिजनेस के काम से बात कर रहे थे और मैं इन्स्टाग्राम इस्तेमाल कर रहा था. लड़कियों की चुदाई बीएफएक औरत जब पराये मर्द को घर में बुला कर कुंडी लगाने लगे तो इसका मतलब वो जरूर उससे कुछ न कुछ चाहती है.

मैंने उसे फिर से सीधा लेटा दिया और उसके मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा. हिंदी बीएफ हिंदी पिक्चर बीएफमैं, मेरी बीवी और पापा ने मिल कर एक प्लान बनाया जिसके मुताबिक मैंने मेरी चालू बीवी की चुदाई मेरी मां के सामने करनी थी.

अब जल्दी से अपना सात इंच का लौड़ा मेरी मुलायम चूत में डाल कर मेरी मासूम चूत के चीथड़े उड़ा दो.कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म: थोड़ी देर में जब मेरा लंड तन कर कुतुबमीनार बन गया, तो मैंने उनसे कहा कि अब आपकी गांड की बारी है … घोड़ी बन जाओ.

मामी बोलीं- ठीक है जीजा जी, आप खाना खाकर यहीं सो जाना और सुबह चले जाइएगा.मेरे परिवार में हम 4 लोग हैं- मम्मी-पापा, मैं और मेरा बड़ा भाई विक्रांत.

बीएफ सी एक्स - कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म

उसके बाद जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मैंने उसके मुंह से लंड निकाल लिया और उसको नीचे पटक लिया.वो मेरे कान के पास आकर धीरे से बोलो- आज कुछ ज्यादा ही माल था … मेरा तो पेट भर गया, मुझसे कुछ ना खाया जाएगा.

उन्होंने जानबूझ कर उसी वक्त एक सवाल दागा- तूने कभी किसी लड़की के साथ सेक्स किया है?मैंने उन्हें देखते हुए कहा- नहीं. कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म उनकी मोटी गांड और बड़े बड़े चूचे देख कर कोई भी उनको चोदने के लिए पागल हो सकता है.

मौसी भी कुछ देर बाद बाथरूम की लाइट ऑफ करके बिस्तर पर सोने के लिए आ गईं.

कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म?

अगर अम्मी ने उऩ्हें शादी करने के कहा, तो वो तो दूसरी शादी के लिए भी मना नहीं करेंगे. लैगी में उनकी जांघें देख कर मेरा लंड और भी सख्त हो गया, जो शायद चाची ने देख लिया था. इसके बाद मैं दीदी के दायें पैर के पंजों एड़ी को चूमते हुए घुटनों तक गया।अब मैं थोड़ा और दीवार की तरफ सटा और दीदी के दाहिने पैर को उठा कर अपने कंधों पर रख लिया.

मैंने जैसे जैसे उसकी चूत चाट रहा था उसके मुँह से कामुक आवाज़ें उतनी ही तेज़ निकलना शुरू होती जा रही थीं. अभी तक मुझे कोई ऐसा रास्ता नहीं दिख रहा था कि मैं मॉम की चूत तक पहुंच पाऊं. इस पर अम्मी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं देती थी क्योंकि उन्हें सिर्फ जनाजे के लिए जल्दी पहुंचना था.

आदमी- हैलो, आप कहां जा रहे हो?लड़का- अहमदाबाद।आदमी- गुजराती हो?लड़का- हां. मम्मी भी पापा की ओर गुस्से में देख रही थी जैसे उनको बता रही हो कि ये सब उनकी ही करनी है. फिर उस दिन की बात है, जब मुझे पता ही नहीं था कि मेरे साथ क्या होने वाला है.

अब तक तो मैं अपने ही हाथ से लंड को रगड़ा करता था मगर औरत के हाथ में तो जैसे जादू होता है. मैं- ठीक है … लेकिन दीदी मेरी एक और इच्छा भी है कि आप मेरा लंड मुँह में लो … प्लीज़ दीदी … इस बार मना मत करना.

मगर उससे पहले मौसा ने अपने अंडरवियर को उतार कर मेरे होंठों के करीब लंड को कर दिया.

कुछ ही देर में वो धीरे धीरे सिसकारने लगी- अम्म … हां करता रह, अच्छा लग रहा है, बहुत आराम मिल रहा है.

इस कारण मेरी मां अपनी बहन पर पूरा विश्वास करती थी कि मेरी बेटी बहन के पास सुरक्षित रहेगी. उन्होंने मुझे फिर से शुक्रिया अदा किया।मामी बोली- और क्या चाहिए आपको?मैंने उनके होंठों को चूम कर कहा- मैं आपको दुल्हन की तरह सजा कर आपके साथ एक बार सुहागरात मनाना चाहता हूं. फिर भी कंट्रोल करके मैंने धीरे धीरे पैंटी के अंदर हाथ देने की कोशिश की.

इस समय जिया मेम पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी इसलिए थोड़ी देर सर के मनाने पर जिया मेम मान गयी. मेरी मस्त सेक्सी सेक्सी सेक्सी कहानी पढ़ने के लिए थैंक्स। यदि आपको मेरी स्टोरी के बारे में हॉट गर्ल से कुछ बात करनी है तो मुझे ईमेल पर अपना मैसेज भेज सकते हैं. कुछ ही देर में वो धीरे धीरे सिसकारने लगी- अम्म … हां करता रह, अच्छा लग रहा है, बहुत आराम मिल रहा है.

दीदी को ज्यादा फर्क नहीं पड़ा क्योंकि मैंने इनमें दो दिन में दीदी की चुत की अच्छी तरह से फैला दिया था.

लंड को और मस्त करने के लिए गुड़िया बुआ ने अपना पल्लू हल्का सा और नीचे सरका दिया था. कि कैसे मैंने उनकी चुत और गांड में अपना लंड पेल कर सेक्सी मामी के साथ सेक्स किया. मैंने सोच लिया कि इस लंड को अगर मैंने मौसी से छीन न लिया तो मेरा नाम भी कल्पना नहीं है.

भाभी- छीः छीः … कितनी गन्दी बातें करते हो तुम!मैं- अच्छा, बोल तो ऐसे रही हो भाभी जैसे कभी आपने चुदवाई ही नहीं? शादी करके भी कुंवारी चूत लेकर घूम रही हो क्या?भाभी- हां कुछ ऐसा ही समझो, मेरे पति का छोटा सा तो है, पता भी नहीं चलता कि कब डाला और कब निकाला!मैंने कहा- अच्छा तो हमको बुलाओ कभी. मैंने अपने हाथ को उसके लंड पर हल्के से रख दिया और उसका लंड अब मेरी हथेली के नीचे आ गया. थोड़ी बहुत झांटें ऊपर के हिस्से में थी … बाकी नीचे फांकों के आजू बाजू का जंगल साफ था.

मुझे ये देख कर खुशी होती थी कि मैं इतनी सेक्सी हूं कि लोगों के मुंह से लार टपकवा सकती हूं.

दोस्तो, मैंने अपने जीवन का एक सच्चा अनुभव आपको इस सेक्स कहानी के माध्यम से लिखा है. उसने मेरी चूत को धोया और फिर कपड़े से पौंछ कर मेरी चूत में मुंह दे दिया और मेरी चूत को जोर जोर से जीभ देकर चाटने लगा.

कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म हम दोनों एक दूसरे से बेतहाशा चिपक गए और एक दूसरे में समाने की कोशिश करने लगे. मुझे अपनी बहन को चोदते समय अभी ऐसा लग रहा था कि मैं तमन्ना भाटिया को चोद रहा हूं … क्योंकि दीदी उसी की तरह खूबसूरत और हॉट हैं.

कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म और उसके साथ ही मैंने भी अपना माल उसकी चूत में ही छोड़ दिया पर लंड को अन्दर ही डाले रखा. अंकिता का बच्चा होने की बात सुन कर वो डर गये और फिर मैं उनसे पैसे लेने लगी.

मैं बोला- दामाद के दोस्त के लंड का मज़ा लो मेरी सासू अम्मा!मैं धीरे-धीरे दोस्त की सास की चूत में लंड के धक्के मारने लगा.

न्यू सेक्सी नंगी

अगले दिन मेरा दोस्त मेरे घर आया और बोला- यार … कोमल की मां तो तेरी बड़ी तारीफ कर रही थी. उसको अपनी चूचियों के रसपान के लिए तड़पता हुआ देख कर मैंने उस पर रहम किया और अपनी दोनों चूचियों को बाहर कर लिया. इस पर भाभी मान गईं … और मुझसे बोलीं- क्या तुम भी मेरे साथ चल सकते हो?मैंने कहा- हां चलूंगा.

करीब 2-3 मिनट बाद मुझे अपने अंडकोषों पर उंगलियां महसूस हुईं, तो मैंने आंखें खोल कर देखा. तभी आंटी के फोन पर मामी का फोन आया- गोलू कहां है?तो उन्होंने झूठ बोल दिया कि वह चला गया. मैं उनके चूतड़ों पर और जोर से चपत मारते हुए उनको चोदने लगा- साली रांड बोल … तुम मेरी रांड हो.

लेकिन मोसी कपड़े अंदर रूम में भूल गई थी तो नंगी मोसी कपड़े लेने जा नहीं सकती थी क्योंकि मैं रूम के बाहर ही बैठा था।मोसी- अरे तू मेरे कपड़े ले आ!जब मैं अंदर से कपड़े लेकर आ गया और देने गया.

यह कहानी मुझे सुनीता ने ही सुनाई थी जब मेरी और सुनीता की दोस्ती हुई थी. मुझे हल्का हल्का दर्द हो रहा था और हल्का हल्का दर्द ताई को भी हुआ मगर देखते ही देखते पूरा लंड अंदर चला गया. मेरे गणित शिक्षक के सुझाव पर पिताजी ने अवकाश के दिनों में मुझे शिक्षक के घर भेज देने का मन बना लिया.

वो बोली- तुम्हारा हर टाइम ऐसे ही खड़ा रहता है क्या? मैंने कई बार देखा है तुम्हें. सीमा और मैं दोनों जिस चीज के लिए तरस रहे थे अब वो दोनों को मिल चुकी थी।सीमा अपनी तेज साँसों के साथ मुझे अपनी बांहों में भीच कर कहने लगी- जोर से करो रोमी। पूरा अंदर डाल के चोदो।मैं भी धक्के लगाते हुए उसे चोदने लगा. मेरे झड़ने के बाद हरि ने मुझे एक पैग पिलाया, जिससे मुझे राहत मिल गई.

क्योंकि रिश्ता पसंद करने का पूरा फैसला मेरे छोटे भाई और उस लड़की के पास था. जब मैंने लंड अन्दर नहीं पेला तो वो एकदम से उठी और अपनी चुत को फैला आकर लंड लेने की कोशिश करने लगी.

आह … कितना मस्त चूसती हो … आह बड़ा मज़ा आ रहा है … मेरे आंड भी सहलाओ रानी. मैंने भी सोचा कि जब बॉस खुद ही अपनी बीवी के साथ मुझे रोमांस करने के लिए कह रहा है तो मुझे इस बात में क्या दिक्कत हो सकती है. पर मेरा ध्यान फिर से उसकी रेड पैंटी में अटक गया, पर ज्यादा देर तक नहीं ऐसा न हो सका.

उधर से मैं अपने घर गया और नजमा आंटी को मुस्कुरा कर देखते हुए तैयार होकर फिर से बाहर चला गया.

थोड़ी देर बाद कंडक्टर के बगल की सीट खाली हो गई और मैं उस पर जाकर बैठ गया. मौसा पूछ बैठे- अब तक कितने लौड़ों का स्वाद चख चुकी है?मैं बोली- अपना हाथ दो. हाय दोस्तो, मैं राजकुमार अपनी बहन बनी बीवी की चुदाई कहानी को आगे बढ़ा रहा हूं.

या तुम्हें ही चुदाई की जल्दी हो रही है?नीरव की बात सुनकर मैं भी हंसने लगी और उसकी दुकान में रुक गई।अब नीरव ने मुझसे धीरे से कहा- तुम्हारे लिए मैंने एक गिफ्ट भी लिया है। चलो दिखाता हूं।यह बोलकर उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे दुकान के पीछे की तरफ बने हुए हिस्से में ले गया।वहां मैंने देखा कि उसका एक छोटा सा पर्सनल कमरा भी है और एक सोफा कम बेड भी है. उन्होंने अपने पर खोलते हुए ऐसे मोड़ लिए जैसे बच्चा पैदा करने वाली हों.

मेरे पिताजी ने उससे अमिता के गांव के बारे में कुछ सवाल पूछे और फिर संतुष्ट होकर बोले- अमिता को साथ भेज दो. मैं रूम पर कभी लोवर के नीचे कुछ नहीं पहनता था, जिससे मेरे लंड का उभार साफ नजर आ रहा था. मैं सज-धज कर अब सुमित से मिलने के लिए तैयार थी मैंने एक टाइट सी कुर्ती और चुस्त पजामी पहनी हुई थी.

हिंदी फिल्म चुदाई सेक्सी

मैंने उससे सवालिया नजरों से पूछा कि ये क्या है?तो पिंकी बोली- अमन साहब, दूध पी लो … ताकत आ जाएगी.

मैं अन्दर गया, तो ममता आंटी बोलीं- मनीष, तुम अपना नम्बर मुझे दे दो. मैं वही वाकया आपके सामने पेश कर रहा हूं जो कि एक सत्य घटना पर आधारित है. मैंने भी अपनी स्लीपर का गेट खोल कर देखने की सोची कि आखिर माजरा क्या है.

दीदी- ओहह भाई … फक फक हार्ड योर सिस्टर आहह ओहह … यस याह आहह उहह ओहह मजा आ रहा है. वो नीचे बढ़ रही थी कि उसने मेरे लंड को अंडरवियर से लंड बाहर निकाला और उसे देखने लगी। मेरे अंदर एक अलग लहर दौड़ गयी. हिंदी में बीएफ एचडी सेक्सीइसी तरह चुदाई करते करते कुछ समय बाद वो समय भी आया, जब मेरा लंड रूपी चेतक थकने लगा और उसकी चूत भी पानी छोड़ने को तैयार हो गई थी.

मेरा मन कर रहा था कि मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड से दिन रात चुदती ही रहूं. पापा ने पिंकी को सब काम समझा दिया गया था और वो वापस सवाई माधोपुर जा चुके थे.

उसने अंकिता को गोल गोल घुमा कर देखा और फिर उसको अपनी गोद में सोफे पर बैठा लिया. मैं नीचे बढ़ा और उसकी गर्दन पर चूमता हुआ, काटता हुआ और नीचे बढ़ने लगा. फिर मैं धीरे से अपने कपड़े समेट कर अपने रूम में आ गया और फिर नंगा ही लेट गया.

वो बोलीं- राजा अब सुबह मेरी गांड मार लेना … अभी सोना है, मैं बहुत थक गयी हूँ. उनके दर्द के चलते मैं दो मिनट के लिए रुका, उसके बाद धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा. गोली खा लेगी तो कुछ नहीं होगा तुझे रांड।उसके बाद हमने उस दिन दो बार और चुदाई की.

फिर जब मैंने खिड़की से झांक कर अंदर देखा तो पाया कि वहां पर लवली की मां यानि कि मेरी सासू मां के ऊपर कोई आदमी चढ़ा हुआ है और उनको चोद रहा है.

वो आदमी बोला- तो पीस है कैसा?रस्तोगी बोला- कमाल की चुत है यार, रंडी कम और नई नवेली दुल्हन ज्यादा लगती है. [emailprotected]काल्पनिक सेक्स कहानी का अगला भाग:बॉस की बीवी की चुदाई का सपना-5.

दस मिनट के बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने पूछा- कहां निकालना है?साधना बोली- विशू जी, मुझे कोई खतरा नहीं है, मेरी चूत में ही निकाल दो. दो मिनट बाद हमने पोजीशन बदल ली और अब मैं मनोहर के ऊपर बैठ कर लंड की सवारी कर रही थी. वहां से मैंने पूजा के लिए एक नेट की ब्रा पैंटी और स्टॉकिंग और एक बहुत छोटा कट वाला शॉर्ट और ब्रा को ढ़कने लायक टॉप लिया.

सुनीता हल्की सी मुस्कुराई, अपने आप गाड़ी में पीछे बैठ गई और अम्मी की कमर पर हाथ फेर कर कहा- आप आगे बैठ जाओ. भाई बहन की कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी छोटी बहन की चुदाई कैसे की और हम दोनों ने कैसे मजे लिये. जीजा जी के हाथ में फोन था और हम दोनों भाई बहन जीजा जी के सामने नंगे थे.

कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म फिर उसने मुझे बेड पर पटक लिया और मेरी टाइट पाजमी के ऊपर से ही मेरी जांघों के बीच में चूत पर किस करने लगा. मेरे शरीर में एक मादकता सी छाने लगी क्योंकि मुझे न केवल बलविंदर अपितु उसकी पत्नी रूपिंदर व पुत्री डॉली के भी वस्त्र व उनके अंतर्वस्त्र भी सूंघ कर चिन्हित करने थे.

हर्ष और गर्ल का सेक्सी वीडियो

सर्दियों का मौसम था तो मोसी बाहर घर के आंगन में नंगी नहा रही थी जहां धूप आई हुई थी।घर में और कोई नहीं था. मैं चाची के घर पहुंचा, तो उन्होंने मुझे प्यार से गले लगाया और अपने कमरे में ले गईं. उसके मुंह से सिसकारियों के साथ दर्द भरी कराहटें भी बाहर आने लगीं- आईई … आह्ह … आऊच … आराम से … खा जाओगी क्या इसे?मैं उसकी बातों पर ध्यान नहीं दे रही थी और उसका लंड जोर से चूसने में लगी हुई थी.

दस मिनट तक हमने ऐसे ही वहां पर पानी में खड़े रह कर चुदाई का मजा लिया और फिर दोनों का निकल गया क्योंकि हम खुले में थे और उत्तेजना बहुत ज्यादा थी. मैंने कहा- चुप हो जाओ … अगर प्रीति ने सुन लिया, तो सब गड़बड़ हो जाएगी. बीएफ सेक्सी शादी वालीतुम उनके काम में टांग क्यों फंसा रही हो?मां बोली- जब वो लोग करते हैं तो मेरा दिमाग भी खराब हो जाता है.

ललिता की जांघें पकड़ कर मैंने ठोकर मारी तो मेरे लण्ड का सुपारा ललिता की चूत के लबों में फंस गया.

एक ऐसी दुनिया जहाँ से वापस नहीं आना चाहता था।कितने रसीले होंठ थे … शब्दों में नहीं बता सकता. हिन्दी सेक्सी कहानी में पढ़ कर मजा लें कि कैसे मुझे एक नवविवाहिता लड़की की कुंवारी चूत चोदने को मिल गयी.

मैंने सोच लिया कि यह गलत जरूर है, लेकिन अब मुझे दीदी की मदद तो करनी ही होगी. लेकिन मैं भरोसा दिलाता हूं कि जितना दर्द तुम्हें होगा उससे कई ज्यादा मजा भी इसमें मिलेगा तुमको. मैंने उनके ऊपर आकर पोजीशन बनाई और लंड पकड़ कर टीचर दीदी चुत के अन्दर डाल दिया और धक्के लगाने लगा.

मैं भी उनका साथ देने लगा और उनके होंठों को चूसते हुए उनके कपड़े खींचने लगा.

उन्होंने जाते ही उसको अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठों को चूसने लगे. लेकिन अब उनका विरोध शांत हो रहा था, वो बेमन से ही सही, बस मुझसे हटने के लिए कह रही थीं, मगर मैं लगा रहा. आपको मेरी यह ससुर बहू सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपनी राय और विचार बतायें.

सेक्सी सेक्सी बीएफ भोजपुरीकई बार जब पापा मेरी मां की चुदाई दिन के समय में कर रहे होते थे तो मैं और लवली भी मां-पापा की चुदाई लाइव देखने के लिए पहुंच जाते थे. फिर मेरी नज़र उसके पैन्ट पर पड़ी, जिसमें लंड की जगह पर एक तंबू बना हुआ था.

देहाती देसी सेक्सी फिल्म

मां की नंगी चूची और मोटी गांड के बारे में सोच सोच कर मेरा लंड फटा जा रहा था और मैं मां की चूत के बारे में सोच कर मुठ मारने लगा. वो बोल रही थी- आई लव यू मेरी जान!उसके जिस्म की गर्मी से मेरा लंड फिर से बेकाबू होने लगा और मैं उसके बदन को चूम रहा था. वह अब थोड़ी नॉर्मल हो गई थी … तो मैंने उसे प्यार से गर्दन पर किस करते हुए एक झटका और मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया.

धीरे-धीरे भाभी बहुत ज्यादा गर्म होने लगीं और उनके मुँह से मादक सिसकारियों की आवाज आने लगी- आह … उहह. अगर चूत में वीर्य गिरने से बच्चा ठहर गया और कुछ गड़बड़ हो गयी तो मैं अपने घरवालों को क्या मुंह दिखाऊँगी? उन्होंने कितने विश्वास के साथ मुझे यहां पर शहर में पढ़ाई करने के लिए भेजा हुआ है. मैं बोला- नहीं, तेरे अंदर बहुत आग है न … आज मैं तेरी इस आग को शांत करने के बाद ही छोड़ूंगा तुझे.

मैंने पूछा- फिर हम चुदाई कैसे करेंगे?राज बोला- चुदाई तो होगी भाभी …मैं- कैसे?हरि- भाभी हम सब मिलकर आपके साथ xxx ग्रुप सेक्स करेंगे. मगर पिंकी ने मेरा लंड अपने मुँह से नहीं निकाला … उसने लंड का सारा पानी पी लिया था. ऐसा लग रहा था जैसे किसी कुत्ते के सामने से रोटी का टुकड़ा छीन लिया गया हो.

अन्दर का नजारा दंग कर देने वाला था क्योंकि मैंने देखा कि बाथरूम में आंटी और उनकी एक फ्रेंड थीं. वो तेजी से मेरी चूत को पेलने लगा और मजे में मेरी आंखें बंद होने लगीं.

अपने पैर मैंने उसके पैरों पर रख दिये तथा अपने हाथ से उसके स्तनों के साथ खेल करने लगा।मिनी और मैं इसी तरह लेटे बहुत देर तक बातें करते रहे।उसने मुझे अपने परिवार के बारे में बताया.

फिर हसन मेरे आगे लेट गया और उसने मेरे मुंह को अपने लंड पर झुका दिया और मैंने उसका लंड मुंह में ले लिया और चूसने लगी. पंजाब का बीएफ दिखाइएभाभी की गांड को देख कर मन करने लगा कि उनको पकड़ अभी चोद दूं लेकिन मैंने किसी तरह से खुद को रोक लिया. जीजा साली का बीएफ वीडियोमैं सोच रही थी कि शायद ये मेरी मजबूरी का फायदा उठाने की सोच रहा है. अपनी बनियान उठा कर अपना शरीर दिखा कर मुझे चूत चुदवाने के लिए उकसाने लगा.

थोड़ी देर आराम करने के बाद भाभी मेरे लंड से खेलने लगी और मैं उनकी चूची की घुंडी को धीरे धीरे दबाने और चूसने लगा.

मुझे उनकी चीखों से मानो ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी सील पैक माल को चोद रहा होऊं. मैंने दीदी के कंधों को पकड़ कर दीदी को खड़ा कर दिया और अपने सीने से दीदी को लगा लिया. मैंने पूछा तो बोली कि उसको मुझसे ज्यादा जल्दी थी दूध पिलाने की इसलिए उसने पहले से ही ब्रा और पैंटी दोनों ही निकाल कर रखी हुई थी.

थोड़ा सोचने के बाद भाभी ने चाय के लिए हां बोल दिया और चेंज करने के लिए रूम में चली गयी. मेरा दोस्त घर आया और उसने मां के सामने ही पूजा को दो बार भाभी बोला. फिर मैं लंड हटा कर उठा और नजमा आंटी की ड्रेसिंग टेबल से क्रीम ले आया.

सेक्सी प्रकार

दो-तीन मिनट किस करने के बाद मैंने दीदी की चुत में लंड सैट किया और दीदी घचाक से लंड पर बैठ गई. सबके साथ साथ मुझे भी समझ आ गया कि वो अपने लंड को अन्दर खाली कर रहा था. इसके बाद मैंने कॉलेज में एक गर्ल को ये सोच कर पटाया कि इसकी चुत चोद लूंगा और मौका मिला, तो इसकी गांड भी मारूंगा.

पहले तो वो विरोध कर रही थी, लेकिन मेरी पकड़ बहुत मज़बूत थी, जिससे वो हिल भी नहीं पा रही थी.

मुझे पता था मेरा लंड उसकी गांड में आसानी से नहीं घुसेगा … तो मैंने वहीं किचन से तेल निकालकर आरज़ू से कहा- बेटा पहले अपने अब्बू के लंड की मालिश कर दे … तभी ये तेरी कुंवारी गांड में घुस पाएगा.

दो मिनट के बाद उसने फिर से एक धक्का मारा और मेरी चूत में उसका लंड आधे से ज्यादा प्रवेश कर गया. आप मेल करके मुझे जरूर बताएं कि भाभी की चूत की सेक्स कहानी कैसी लगी. श्रीलंका बीएफ फिल्ममुझे कुछ समझ नहीं आया कि वो मुझे टैरेस पर क्यों ले जा रहा है।पर मैंने वहाँ जाकर देखा कि विवेक ने वहाँ पर बहुत तैयारी की है। मैं ये सब देख कर बहुत हैरान थी और बहुत खुश भी।वहाँ ऊपर से नज़ारा बहुत खूबसूरत था।हमने डिनर किया.

अब आगे:मैं खाना खाने के बाद फोन पर पोर्न देखते हुए सो गया और करीब पांच बजे मेरी नींद खुली. ये बोल कर दीदी ने मेरे बायें हाथ को पकड़ कर अपनी दायीं चूची पर रखवा दिया. तभी मैंने अपना हाथ हटा कर उसके होंठों को अपने होंठों में कैद कर लिया और उसके होंठों को पीने लगा.

क्योंकि डाई से कपड़े खराब होने का डर था, इसलिए मैं भी सिर्फ अपने बॉक्सर में बाथरूम में आ गया. इसीलिए आज घर का माहौल ऐसा हो रखा था … और मैं भी इसलिए बहुत दुखी हूँ.

जब मैं अन्दर गया तो बाथरूम में से एक मदहोश कर देने वाली खुशबू आ रही थी.

फिर अमन ने अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत पर रख दिया और धीरे धीरे अपना लंड मेरी चूत के छेद के अंदर घुसाने लगा. मगर फिर लंड के सिकुड़ने से पहले ही मैंने लंड को चूत से बाहर खींचा और कॉन्डम निकाल कर उसको गांठ मारकर कूड़ेदान में फेंक आया. मैंने उनसे पूछा- आप लोगों की गर्लफ्रेंड कहां हैं?तो उन्होंने कहा- वो आज नहीं आएंगी.

हिंदी बीएफ सेक्सी एचडी देहाती ऊपर से तो पूरी पैंटी मेरे थूक में गीली हो गयी थी और नीचे उनकी चूत के रस में।उसके बाद मैंने पैंटी को भी निकाल दिया. जब पहली बार दोस्त के घर में मैंने उसकी अम्मी को देखा तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं.

शिबू- अभी और मजा आएगा … रुक जा बहन की लौड़ी … तेरी फुद्दी की चटनी बनने वाली है. उसकी लाल लिपस्टिक से रंगे होंठों को देख कर लगा कि उसे यहीं पर चोद दूं … मगर एयरपोर्ट था … कैसे चुदाई कर सकता था. मैंने कोमल की मां को नहीं बताया कि मैं अपने घर नहीं बल्कि उसी के घर उसकी बेटी को चोदने जा रहा हूं.

काले आदमियों की सेक्सी

कुछ दिनों बाद वो फिर से अपने पीहर आई और तब हमने मिलने का प्लान बनाया. फिर किस्मत ने इशारा दिया और मुझे पता चला कि कोमल की मां एक चालू औरत है. दो मिनट में ही मैंने उनकी गांड तेल से भर दी ताकि लंड आसानी से फिसल कर ताई की गांड में घुस जाये.

मैंने- वो क्यों चढ़ते हैं मामी?मामी तेज हंसते हुए कहने लगीं- तुझे नहीं मालूम कि तेरा मामा मेरे ऊपर क्यों चढ़ता है?मैंने उन्हें उकसाया- नहीं मामी मुझे नहीं मालूम … आप बताओ न … मामा आपके ऊपर क्यों चढ़ते हैं और कैसे चढ़ते हैं?मामी बोलीं- चल पहले खाना खा लेते हैं … मुझे बहुत भूख लग रही है. वो बोली- मां! आप यहां क्या कर रही हो? आपको शर्म नहीं आती है एक पति पत्नी के रूम में इस तरह से ताक-झांक करते हुए? आप बाहर चलिये, मैं बाहर ही आती हूं.

मुझे लड़कों के साथ सेक्स करके बदनाम नहीं होना है और बिना सेक्स के जिंदगी में कोई मज़ा नहीं है.

जैसे ही कमरे के अंदर आया और दीदी ने दरवाजा बंद किया तो मैंने पीछे से उनको पकड़ लिया. मैंने खोला, तो वो अपनी जीभ से ढेर सारा थूक मेरे मुँह में डालने लगा. मैंने दीदी के दूसरे दूध का हाल भी बुरी तरह चूस चूस कर मलीदा बना दिया था.

इस चूत चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि कैसे हम लखनऊ में मिले और मैंने उस सेक्स को बेचैन लड़की को चोदा होटल में लेजाकर. पापा ने मुझे बेड के साथ में अपने घुटनों में बिठा लिया और मेरे मुंह में अपना लंड दे दिया. उनके पास में खड़ा हुआ ही मैं अपने लंड को हाथ से हल्के हल्के मसलने लगा.

मैं समझ रहा था कि ये मजाक कर रही है … अपने पति का लंड खा चुकी है, तो इसे लंड से क्या दिक्कत होगी.

कुंवारी लड़की की बीएफ फिल्म: साधना खाना खाते खाते सिसकारने लगी और उसने खाना छोड़कर थाली एक तरफ रख दी. मैंने उसकी चूचियों को मुंह में भर लिया और एक एक करके जोर जोर से पीने लगा.

अगर मम्मी इस सब को लेकर कुछ बवाल करती तो हमें पता लग जाता कि काम बहुत मुश्किल है. ”मुंह लटकाये डरते डरते मैंने लिफाफा पकड़ा तो ललिता बोली- पेज पलटकर पढ़ लेना. एक बार फिर से भाभी की आनंद भरी सिसकारियों में दर्द की कराहटें भी शामिल हो गयीं.

फिर खड़े खड़े मैंने उन्हें घुमाया और पीछे से ही उनकी गांड में लंड डालने लगा.

उन्होंने मुझसे पूछा- अरे ये कैसे हो गया, तुम्हारा तो पूरा पजामा गीला हो गया. मैंने अपने कपड़े सही किए और भाभी से पैसे लेकर खाने वाले डिलीवरी वाले को दे दिए. शिबू मेरे मम्मों को दबा रहा था और मेरे मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं.