वीडियो में बीएफ चुदाई

छवि स्रोत,जानवर वाला सेक्सी वीडियो घोड़ा वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

hot भोजपुरी song: वीडियो में बीएफ चुदाई, तभी मैंने एक जोर का झटका दिया और मेरा पूरा लंड एक ही बार में भाभी की टाइट चूत में घुस गया.

सेक्सी वाला ब्लू पिक्चर सेक्सी

मेरे ससुराल में मेरी सास नीरु जिनकी उमर 42 साल है, ससुर जी जिनकी उम्र 47 साल, एक साला जिसकी उमर 21 साल है और मेरी इकलौती साली सीमा जो 19 साल की माल है।मेरे घर में मैं और मेरी पत्नी शहर में रहते हैं और मेरे मम्मी पापा गाँव में रहते हैं।कहानी मेरी और मेरी प्यारी सास की है जो भरे बदन 36 32 38 की मालकिन हैं। पिछले चार साल से उनकी चूत में कोई लंड नहीं गया. कुत्ते से लड़की की सेक्सी वीडियो… फ़क … डीप आहहह … यसस यू आर अमेज़िंग ओह्ह … गॉड … यस … यस …दस मिनट तक उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने उसे दीवार के सहारे खड़ा किया और पीछे से लंड उसकी चुत में डाल कर उसे जोर जोर से चोदने लगा.

मैं नंगा ही गया और उसे आवाज देकर बाथरूम का दरवाजा खोलने के लिए कहा. आंटी के साथ जबरदस्ती सेक्सी वीडियोमुझे भी आभास था कि एक न दिन तो ये बात बाहर निकलेगी ही, मगर इतनी जल्दी निकलेगी उसके बारे में मैंने नहीं सोचा था.

मौसी ने मुझे छाती पर चूमा, मेरी चूचियों के निप्पलों को चूसा और फिर पेट पर चूमा.वीडियो में बीएफ चुदाई: अब उस आदमी का सीना दीदी के मम्मों को दबाने की पोजीशन में हो गया था.

भाभी की कुमक आवाजें मेरे जोश बढ़ा रही थीं तो मैंने उनकी पैंटी भी निकाल दी.हमने एक लम्बा स्मूच किया और फिर अलग हो गये।वो बोली- तेरा स्टेमिना तो बहुत अच्छा है.

सेक्सी मम - वीडियो में बीएफ चुदाई

वो आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरा पूरा का पूरा लौड़ा अन्दर ले रही थी।अब वो थक गई थी तो मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी एक टांग उठा कर चोदने लगा.मैं उसके मम्मों के साथ खेलते हुए उन्हें चूस रहा था जिससे उसकी अन्तर्वासना और बढ़ गयी।इस बार मैंने उसे पलंग पर लेटा कर उसके दोनों हाथ उसकी चुन्नी से बांध दिए.

मैंने चिल्ला कर कहा- नहीं बेबी, वहां नहीं!लेकिन वह धीरे-धीरे ऐसे ही करता रहा, कभी जीभ से चाटता, बार-बार कभी उंगली कभी चाटना!इस वजह से मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. वीडियो में बीएफ चुदाई इसके बाद दोनों ने एक साथ अपना पानी छोड़ दिया … जिससे हम दोनों को ही बहुत मजा आया.

इतने में ही तेज तेज हवा चलने लगी जो तूफान की तरह अंदर झोंके लेकर आने लगी.

वीडियो में बीएफ चुदाई?

मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची और चाची के ब्लाउज का बटन खोल दिया. और जब उस दिन तुम मानसी को अपना मोटा लन्ड चुसा रहे थे! वाह क्या गज़ब का लौड़ा है तुम्हारा! इतना मस्त सामान मैंने किसी का नहीं देखा. आखिरकार एक चरम पर पहुंच कर उसने मेरी चूत में रस भर दिया और मुझसे अलग हो गया.

फिर मैंने उससे अपना रूमाल मांगा, तो बोली- मरो मत … मैं नया ला दूंगी. उसने वहीं से नीता को बोला कि जल्दी आ जाओ … अगर पापा घर आ गए तो बहुत डांट पड़ेगी कि अभी तक खाना क्यूं नहीं खाया?शिल्पी दीदी ने अंदर मेरी तरफ देखा और बोला- तुम भी आ जाओ, बाकी सामान बाद में रख लेना।मैं– ओके दीदी, चलो। हम सब साथ में ही चलते हैं।फिर हम सब डाइनिंग टेबल पर गए. उसकी बड़ी गांड मेरी आँखों के सामने थी।मैंने बैठकर उसकी गांड को खोलकर देखा.

थोड़ी देर बाद वो अपनी यादों से वापस आ गई और बोलीं- पर अब मैं शादीशुदा हूं. मैं भाभी की चूत को चाट रहा था, तभी उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने वो पूरा पानी पी गया. आखिरकार एक चरम पर पहुंच कर उसने मेरी चूत में रस भर दिया और मुझसे अलग हो गया.

मैंने अवनीत को बेड पर लिटाकर उसकी गांड के नीचे दो तकिये रखे जिससे अवनीत की चूत पूरी तरह से खुल गई. उसने अपने कपडे़ कार की अगले सीट पर डाले और बाइक को साइड में खडा़ करके कार की पिछली सीट पर आ गया.

अवनीत झुक गई तो मैंने उसका लहंगा पीछे से उठा दिया और अपने लण्ड पर क्रीम मलकर उसकी बुर में डाल दिया और धीरे धीरे पेलने लगा.

एकदम से ब्रेक लगने से मैं झटके से आगे लड़ने वाली थी, तो संजय ने मुझे पकड़ लिया.

मैं उसे एक बार दुबारा देखना चाहता था, इसलिए कार से उतर कर अर्चना भाभी से इधर उधर की बातें करने लगा. मैं उसकी चूत का बाजा बजाना चाहता था और वो मुझसे भी ज्यादा प्यासी निकली।मेरे प्यारे दोस्तो, मैं राजू शाह अपनी पड़ोसन भाभी की गर्म सेक्स कहानी आपको बता रहा था. कभी अपने मम्मे कुरते के ऊपर से दिखा देती।अब तो वो भी समझ गये थे कि मैं उनसे चुदने को बेताब हूँ।अगले ही दिन मेरी ननद बाथरूम में नहा रही थी और मेरे ननदोई सो रहे थे.

मैं उसके पीछे एक कुत्ते की तरह हुआ और अपने छोटू को उसकी मुनिया में प्रवेश करवाया. जैसे जैसे हम बड़े हो रहे थे वैसे वैसे हमारी बातचीत भी थोड़ी कम ही होती जा रही थी. लंड का सुपारा घुसवाते ही मॉम चिल्ला उठीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मां मररर … गयययी … रे … आंह बाहरररर निकाल इसको!मैं जानता था कि मॉम की गांड पहली बार चोदी जा रही है, तो दर्द तो होगा ही.

सेक्स चेट करते हुए वो बहुत चुदासी हो जाती थी।एक बार हमारे लेब में कोई नहीं था तब मैंने उसे किस करने को कहा.

शकील ने कहा- मामी ने तुम्हारी सारी बात बताई, तुम तैयार क्यों नहीं हो?सुनीता ने कहा- मैं ऐसा नहीं कर सकती. गलती मेरी ही थी इसलिए स्वीकार भी मैंने बिना किसी तर्क-वितर्क के कर लिया. उस लंड की पोजीशन सेम वैसी ही डिट्टो थी जैसी मुझे कोमलप्रीत कौर जी ने भेजी थी। उस कॉलबॉय का सिकुड़ा हुआ लंड करीब 7 इंच लम्बा और करीब 3 इंच मोटा था.

चारू- मैं तो चाहती हूं कि वो मुझे खूब प्यार करें, मगर वो तो एक ही झटके में निबट जाते हैं और मैं अधूरी सी तड़पती रह जाती हूँ. तुम्हारा चेहरा और तुम्हारी बॉडी देख कर तो कोई भी लड़की तुमसे प्यार करने लगेगी. मैंने पूछा- आपको कितने बजे जाना है?वो बोले कि हम दोनों शाम की ट्रेन से जाएंगे.

मुझे काजल के साथ थोड़ा अजीब सा लग रहा था … पर वो साली बड़ी बेशरम निकली.

ये बोलकर वो अपने घर की तरफ गांड मटकाती हुई चल दी।मैं उसकी मस्त बॉडी और गांड को देखकर हमेशा आहें भरता रहता थी लेकिन मेरी किस्मत देखो … कभी जिस भाभी को चोदने के सपने भी नहीं देख सका वो आज सामने से कितना गजब का ऑफर दे रही थी. उसकी निप्पल अगर तनी हुई हों तो भी वह मजा ले रही है।फिर मैंने वैसे ही किया.

वीडियो में बीएफ चुदाई वैसे तो मैं पढ़ने लिखने में ठीक था, बस मेरी इंग्लिश थोड़ी कमजोर थी. कुछ देर अपने दोस्त की जवान बहन ऐसे चोदने के बाद मैं लन्ड उसकी चूत से निकाल कर बिस्तर पर लेट गया और पीहू से कहा- मेरे लंड के ऊपर आकर इसकी सवारी करो।पीहू मेरी कमर के दोनों तरफ अपने घुटनों के बल होकर अपनी चूत की छेद पर मेरे लन्ड को सेट कर बैठ गयी। मेरा पूरा लन्ड उसकी चूत में समा गया।मैंने पीहू से कहा- पीहू, अब तुम मुझे चोदो.

वीडियो में बीएफ चुदाई भैया ने 2-3 मिनट चाबी खोजी और ना मिलने पर बोले कि तेरी भाभी कुछ काम ढंग से नहीं करती है. खैर, मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि अभी तो मुझे आम खाने से मतलब था, गुठलियां गिनने से नहीं.

अंकल ने बोला- अपना बदन तो दिखाओ जान!मॉम ने कहा- तुम खुद ही मुझे नंगी करके देख लो न!फिर अंकल ने मॉम की साड़ी खोल दी.

एक्स वीडियो गुजराती

भाभी ने मुझे और मेरे लंड को साफ किया और मैं बेड पर वापस आकर लेट गया. मैंने भी वहीं पर अपने लंड को बाहर निकाल लिया और मेरी आंखों के सामने चल रही रासलीला को देख कर मैं अपना लंड पर वहीं पर खड़ा कर हाथ से मसलने लगा. मैंने लंड खड़े होते ही उससे कहा- जान अब क्या इरादा है?वो मुस्कुरा दी और सीट पर लेट गई और मुझसे कहने लगी- आज तुम अपने लंड से मेरी चूत को फाड़ दो.

मैंने झुंझला कर अपनी बहन की चुत कि फांकों में लंड का सुपारा फंसाया. हर धक्के के साथ उसके स्तन उछल जाते, तो मैंने अपना एक हाथ उसके स्तनों पर रखकर मसलने लगा. फिर उसने अपनी चूत का पानी एक अंगड़ाई के साथ छोड़ दिया।तब भाभी बोली- रहमान … लोहा गर्म है … हथौड़ा मार दो.

आपा की चीख निकलने को थी पर उन्होंने खुद को रोका कि चीखने से फ़रिश्ते के काम में खलल होगा.

तो क्या करते?मैंने कहा- ठीक है, मैं आ रहा हूं, वेट करो।उसने अपनी चूत को घास से साफ किया और हम दोनों ने फटाफट कपड़े पहने और वहां से निकल गए. उसने मेरे अंडरवियर को निकाल दिया और मेरे तड़पते लंड को अपने हाथ में भर लिया. मेरा जोश बढ़ गया, मैं पूरी चूची मुँह में लेने का कोशिश कर रहा था लेकिन चूची बड़ी थी और मेरे मुँह में नहीं आ रही थी.

अचानक मेरी नजर कोने में गई तो मुझे पता चला कि मेरे शौहर कोने से झांक रहे हैं. मैंने बोला- भाभी मैं कॉलबॉय नहीं हूँ … वैसे कहिए आपकी क्या फरमाइश है?भाभी बोलीं- पहले खाना खा लो, मुझे भी खाना है. अब हम दोनों दोस्त, जो रिश्ते में बाप बेटे बन गए थे, हैवानों की तरह मम्मी पर चढ़ गए.

दोस्तो, मेरा नाम दीप है, मैं अहमदाबाद गुजरात से हूँ।यह मेरी पहली और सच्ची घटना है रिश्तों में चुदाई की, सास दामाद की सेक्स स्टोरी!मेरी उमर 29 साल है और मैं प्राईवेट सेक्टर में जोब करता हूँ. सुबह जब शकील जाने को हुआ तो अम्मी ने शकील से कहा- सुनीता, तुम्हें एक बार बात करने के लिए अंदर बुला रही है.

दोस्तो, मेरा नाम विदित शर्मा है अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है। पिछले कई वर्षों से मैं अन्तर्वासना पर सेक्स कहानियां पढ़ रहा हूं लेकिन कभी कहानी लिखने का मौका नहीं मिला।आज मैं आपसे कुछ महीनों पहले अपने साथ हुई एक हसीन घटना शेयर करूँगा।पहले मैं आपको अपने बारे में बताता हूं. आखिर में मैंने पूरा पानी मैम की गांड में ही डाल दिया और हम दोनों मस्ती से सांसें नियंत्रित करने लगे. खैर, मैंने इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया क्योंकि अभी तो मुझे आम खाने से मतलब था, गुठलियां गिनने से नहीं.

लेकिन वादा करो कि आप मेरी शादी रोहित से करायेंगे?”मैं कराऊंगा, यह मर्द की जबान है.

वो मम्मी की आधी नंगी पीठ पर हाथ रखकर सहलाने लगा।अब सागर को मम्मी ने उठा दिया और खुद भी उठ गयी. भाभी मुझे बाहर लेकर आना चाह रही थी मगर पता नहीं नशे में मैं कुछ और बड़बड़ा रहा था. अब आप खुद ही अंदाजा लगाएं कि ऐसे सेक्सी माल को कौन चोदना नहीं चाहेगा.

अम्मी 2 दिन तक उसे इस बात के लिए मनाती रही लेकिन वह तैयार नहीं हुई. फिर मैंने धीरे लंड को बिना बाहर निकाले उसकी चुत को मथना शुरू किया और बमुश्किल आधे मिनट में उसकी कसमसाहट खत्म होने लगी और हाथों की मुट्ठियां ढीली पड़ने लगीं.

इसलिए उन्होंने मेरी नंगी मॉम को गोद में उठा लिया और दिनेश अंकल के पास ले आए. मैं बहुत से शहर घूमा हूँ, पर पिछले तीन साल से तो गुड़गांव में ही रह रहा हूँ. उसने जोर से मुझे ऊपर खींचते हुए अपने आपसे चिपका लिया और जोर से पकड़ कर भींचने लगी.

एक्स ब्लू

बोलो क्या तुम मेरे साथ चलोगी?अवनीत मेरे साथ मेरे घर चलने को एकदम तैयार हो गयी.

अमिता मौसी भी अपनी मोटी गान्ड उछाल उछाल के उसका लौड़ा ले रही थी।यह दख मुझसे रहा नहीं गया और मैंने मुठ मार ली और कम्बल वहीं छोड़ घर को आ गया. मैं उसके बूब्स दबाने लगा तो उसके मुँह से सिसकारियों की आवाज आने लगी- ओहो ओह अअआ उउउउई भाईजान और चूसो … ऐसे ही आह खा जाओ … बहुत मजा आ रहा है. मैं उसके स्तनों को दबाते हुए नीचे जाने लगा, उसकी नाभि में जीभ डाल कर चूसने लगा और उसके पेट को काटने लगा.

पहले तो अंकल ने मेरी चूत चाटी और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से घुसाने लगे. अगर ये अब्बू को पता चला तो वो शर्म से मर जाएंगे।फिर मैंने कहा- बाजी अब मैं क्या करूं?बाजी ने कहा- अभी हम सब घर जाएंगे और घर में बता देंगे कि रुबीना को बुखार था। मगर किसी दूसरे अस्पताल में इसकी सफाई करवा देंगे। तू 4 हजार रूपए इकठ्ठे कर ले।उसके बाद सब घर आ गए और किसी को कुछ पता नहीं चला. ई-मेल सेक्सी वीडियो कॉमवो रोने लगी और बोली- बस भैया … अब नहीं लिया जा रहा … बस करो … जाने दो मुझे!10-12 झटके मारने के बाद मैं रुक गया और मैंने उसको बांहों में भर लिया.

उसने अपनी गोरी चूचियां देखी तो वे भी कश्मीरी सेब की तरह लाल हुई पड़ी थी. लंड अंदर जाते ही भाभी की चीख निकल गई और वह लेट गई जिससे मेरा लंड बाहर निकल गया.

इसी बीच संजय अंकल के एक ड्राइवर ने भी मुझे चोदा और शादी वाले दिन भी इन तीनों ने मुझे रगड़ा. उनकी गुलाबी चुत बिल्कुल साफ झांट रहित ऐसी दिख रही थी, जैसे सामने कोई पोर्नस्टार चुदने के लिए लेटी हो. मुझे मैम की चुत से थोड़ा-थोड़ा नमकीन सा स्वाद आ रहा था, पर मजा भी आ रहा था.

और कुछ ही देर में वो जोर से आह … मम्म की आवाज़ के साथ झड़ गयी और चिल्लाने लगी- कमीने धीरे कर!पर उसके इस तरह के चिल्लाने से मैं और जोश में आ गया और उसके चूतड़ों पर मारते हुए और जोर जोर से चोदने लगा. मैं- हां भाभी, आपके लिए तो मैं पागल ही हो गया हूँ … न जाने ये टाइम फिर आए ना आए … अभी तो जवानी का मज़ा लूट लूं. एक बार चुत ने मेरे लंड का स्वाद चख लिया था, तो ये तो जाहिर था कि वो बार बार मेरे लंड की सवारी करेगी.

[emailprotected]रियल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कजिन की कजिन को चोदा-2.

लगभग 5 मिनट की चुदाई के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया। लगभग दो मिनट बाद मेरा भी पानी निकल गया. मैं खाना खाकर हाथ धोने ही वाला था कि अम्मी ने मुझे कहा- आज शाम को तू एक बार फिर ज़ोहरा को मजार पर दुआ के लिए ले जाना.

उमेश सर गेट पर ही खड़े थे और उन्होंने मुझे मुस्कुराते हुए देखा और मेरी गांड पर फिर से एक हाथ दे मारा. वो भी गांड मटका मटका कर लंड ले रही थी।अब मैंने उसे घोड़ी बनने को कहा. तो मामी ने कहा- मैं और तुम्हारे मामू चार-पांच दिन के लिए तुम्हारे गांव जा रहे हैं.

कुछ देर तक एक दूसरे के होंठों का रस पीने के बाद मैंने उसकी टॉप को उतार दिया. तो छोटी बुआ बोलीं- तूने कभी मुठ नहीं मारी … इसलिए तेरा लंड इतना तगड़ा है. लेकिन मुझे उसकी सिसकारियां सुन रही थी जिनको सुनकर मैं जोर जोर से उसकी चूत सहलाने लगा.

वीडियो में बीएफ चुदाई फिर मैंने अपना चेहरा अमित के रूमाल से साफ़ किया और अमित भी अपने कपड़े ठीक करने लगा. मेरी नजर उसकी मोटी गांड और मोटी मोटी चूचियों को ताड़ने में ही लगी रहती थी.

सेक्स व्हिडिओज

फिर मैंने उसकी पीठ पर अपना सारा भार डाल दिया और उसके पेट के नीचे से हाथ ले जाकर चूचे दबाते हुए उसको जोर जोर से चोदने लगा. उसने कहा- हो गया? निकल गई होशियारी? चल अब बाहर आ और घुटनों के बल बैठ कर मेरा लण्ड चूस, फिर मैं तेरी गांड मारूंगा और फिर इत्मिनान से चोदूंगा तेरी मस्त सी चूत को बहुत ही मस्ती से. मुझे तब समझ आया कि मौसी अब मेरी सौतेली मां बन चुकी हैं और उन्हें एक बच्ची को जन्म दिया है.

मुझ में और हिम्मत नहीं रही।मैं उसके ऊपर आ गया और मस्ती से चोदने लगा. हुआ कुछ यूं था कि आकांक्षा को ड्राइंग बनानी नहीं आती थी, तो मैंने उसके ड्राइंग में मोर बनाया था. सेक्सी गर्ल हॉट गर्लमुझे देख कर नंगी पड़ी माधवी भाभी ने एक कामुक अंगड़ाई ली और मुझे गले लगा कर किस किया.

मैं बुआ से बोला- आपके हाथ तो ठीक से चल रहे हैं, अब पैरों को चलाना भी सिखाता हूँ.

मैंने उसकी जांघों को कस कर थाम लिया और उसकी चूत के छेद पर लंड के सुपारे को सेट कर दिया. लेकिन दिखावे के लिए मैं तुरंत उठी और बोली- आप ये क्या कर रहे हैं … आपका दिमाग़ खराब है क्या!मैं अभी कुछ और बोलती, तब तक उन्होंने मुझे कसके पकड़ लिया और बेड पर चित लिटा दिया.

जिसे देख कर मैंने अपना छह इंच का खड़ा लंड अपनी मां की चुत पर रखा और अन्दर पेल दिया. मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उसको अपनी ओर खींचा और उसके होंठों को किस करना शुरू कर दिया. अब तू ही बता क्या करूँ?एकदम अचानक से आकांक्षा मेरे नज़दीक आयी और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए.

मैंने उसे वापस अपने लौड़े पर बिठाया और किस करने लगा।दोनों बहनों की टाइट चूत इस बात की गवाह थी कि इनकी खातिरदारी किसी ने काफी वक्त से नहीं की है।मैंने मेघा की नंगी पीठ पकड़ी और फिर हल्के हल्के लण्ड अंदर करने लगा.

मैं तेजी से उठा और उसको अपनी बांहों में जकड़ कर उसकी चूची पर दाँत काट लिया. ज़ोहरा ने कुछ नींद और कुछ होश में सोचा कि शायद यह मजार पर दुआ करने के कारण हो रहा है. मैंने कहा- मैं मैं … भाभी क्या करूं आप हो ही इतनी सेक्सी कि मैं खुद पर कंट्रोल नहीं कर पाया था.

सेक्सी व्हिडिओ मायागांड की दरार के अंदर बिल्कुल बीच में हल्का काले रंग का छोटा सा छेद था और उसके आजू-बाजू सुनहरे रंग के छोटे छोटे बाल थे. वो बोली- राज, तुम्हारी चाची और गुड़गांव वाली रेखा आंटी कितनी लकी हैं।फिर मैंने उससे कहा- राखी, तुम्हारे जैसी कोई नहीं है।मैंने उसे घोड़ी बनाया और चोदने लगा.

பிஎஃப் பிலிம் செக்ஸி

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:टीचर की चुदाई देखकर मुझे कुंवारी चूत मिली-2. और कब सामान्य बातों से हम प्यार की बातों पर आ गये, हमें पता ही नहीं चला और हम बस कॉलेज और उसके बाहर बस प्यार की बातें ही किया करते थे।कॉलेज में जब हम साथ होते थे तो मौक़ा पाकर मैं कभी कभी उसकी जाँघ या पीठ पर हाथ फेर देता था जिससे वो सिहर जाती थी।अब वो मेरी गर्लफ्रेंड बन गयी थी. साथ ही साथ मैं अपने दोनों हाथों को उसके बगल से ले जाकर फिर से उसके मम्मों को मसलने लगा.

मैंने देखा कि पूरा लंड उसकी चूत की खाई में उतर चुका है और उसकी जांघ के हिस्से मेरी जांघ पर रगड़ खा रहे हैं।मुझे असीम चरम पर सुख मिल रहा था और वो अपनी गांड हिला हिला कर मेरा लन्ड चूत के अंदर रगड़ रही थी।वो अपनी गांड उठा कर धक्के लगाने लगी और थोड़ी देर तक चुदने के बाद झड़ गई. इधर वो मेरे बूब्स को चूस और चाट रहा था जिस से मेरा दर्द मजे में बदल गया. और शायद मेरा पहला हस्तमैथुन भी उस अंकल ने ही किया था जिसका मुझे भी चस्का लग गया था.

मैं फिर निकलने ही वाला था कि नीता की आवाज सुनाई दी- शिल्पी, मैं नहाने जा रही हूं. इस पर मेरे मामू ने कहा- ठीक है इनके साथ साथ मेरे बच्चों की भी पढ़ाई हो जाएगी. अब उधर अंकल मॉम की गांड में उंगली आगे पीछे करने में लगे थे और इधर मॉम अंकल का लंड चूसती रहीं.

फिर मैंने दो उंगलियों को अन्दर डाला, तो उसकी आंखों में दर्द का अहसास झलका, लेकिन वो उंगलियों का मजा लेती रही. वो धीरे धीरे मेरी जांघ को सहलाने लगा और धीरे धीरे वो अपना हाथ मेरी चूत के पास लाता जा रहा था.

उसकी इस स्टाइल से चुदाई की मैं कायल हो गई … आज पहली बार मैं इस तरह से मोटे लंड से चुद रही थी.

मुझे पता था कि सेक्स में बहुत मजा अता है क्योंकि मेरी कुछ सहेलियों ने अपने चोदू यार पाल रखे थे और वे उनसे अक्सर अपनी चूत चुदवाती रहती थी. प्रकृति सेक्सीमैंने अपना पूरा लंड चुत में डाल दिया, जो उसकी बच्चेदानी से टकरा गया. सेक्सी फिल्म जंगल वालाउसकी बुर पकौड़ा सी फूली हुई थी और एकदम कुंवारी थी … मतलब बिना चुदी हुई थी. मैंने अपनी टांगों को थोड़ा ऊपर कर लिया ताकि टांगों के बीच में मेरा हाथ लंड पर चलते हुए मामी को दिखाई न दे.

मुझे एकदम से उसके पीछे पाकर वो घबरा गयी लेकिन मैंने उसके मुंह पर हाथ रखा हुआ था.

अब मुझे तो संडास जाना ही नहीं था, मैं तो सिर्फबुआ की गांडदेखने आया था. उसी समय आंटी ने अपने ब्लाउज के बटन खोलते हुए ब्रा ऊपर की और अपने चुचे मेरे सामने खोल दिए … मैं तो आंटी के मम्मे देखता रह गया. रात की बात याद करके मुझे बहुत शर्म भी आ रही थी और ठरक से लौड़ा भी टाइट हो रहा था.

फिर वो मेरी बच्चेदानी के पास ही तेज पिचकारी के साथ झड़ गया। उस अहसास को मैं शब्दों में बयाँ नहीं कर सकती।इसी तरह से उस कॉलबॉय ने मेरी पूरी रात में 3 बार चूत और 1 बार गांड मारी।अगली सुबह मैंने, शनाया ने और वो कॉलबॉय ने साथ साथ बाथरूम में शावर लिया और लंड चूत का सहलाने का प्रोग्राम चला. अब मैंने उसे कुतिया बनाए हुए ही बेड के कोने में खींचा और खुद बेड से उतरकर खड़ा हो गया. फिर शकील ने अपना लंड बाहर निकाला और पीछे से अम्मी की चुत में डाल दिया.

तामिळ सेक्स पदम

जब घर नजदीक आने को था, तो उसने अपनी उंगली निकाल कर अपने मुँह में दबा ली और मेरी तरफ वासना से देखने लगा. उस जवान ने पहले तो मेरे नाईटी के ऊपर ही से मेरे बदन के हर हिस्से पर हाथ फिराया और फिर मेरे नाईटी के लगे से अपना एक हाथ अंदर डाल कर मेरे स्तनों को मसलने लगा. प्रशान्त ने मम्मी के मुँह में पेशाब कर दी और उनके चेहरे को भी भिगो दिया.

उसके बाद ननद उनके लंड को अपने हाथ से टटोलते हुए उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया।मेरी चूत बह रही थी।उन्होंने ननद के लोअर को नीचे कर निकाल कर दिया.

फिर क्या हुआ?दोस्तो, मैं आपको अपने जीवन की एक सच्चाई बताना चाहता हूं.

मैंने उसे छेड़ते हुए कहा- आज कितनों को मारने वाली हो?उसने भी तपाक से बोल दिया- कितनों का तो पता नहीं, पर आपको जरूर मारने का विचार है. ’ का मतलब पूछते हुए उनसे साफ़ शब्दों का इस्तेमाल किया- आपका मतलब वो सेक्स में आपको खुश नहीं रख पाते हैं. सेक्सी फिल्में ब्लू सेक्सी फिल्मेंपर तू वादा कर कि बाहर किसी को नहीं बतायेगा।पक्का वादा माँ … मैं ये किसी से नहीं कहूंगा। चलो न अब देखो न ये कितना उछाल मार रहा है.

न्होंने अपनी आंखें बंद कर लीं और चुदाई का मजा लेते हुए अब मस्ती में आकर कामुक और मादक सी सिसकारियां लेने लगी- हम्म … आह्ह … अम्म … अह्ह … करो … और थोडा़ अंदर … आह्ह … थोड़ा कस कर!भाभी अब गांड उठा उठाकर मेरा साथ देने लगी और उसकी आह … आह … की आवाजें पूरे कमरे में गूंजने लगीं. मैं उसके लंड को आगे पीछे कर रहा था। कहीं से हल्की सी रौशनी आई तो समीर ने हमको यह सब करते हुए देख लिया।समीर उठा और उसने अपनी अंडरवियर निकाल दी. हम दोनों को ही ऐसा लग रहा था कि न जाने हम कितने वर्षों बाद मिल रहे हैं.

मैंने देखा कि मां सो गयी हैं, तो मैं भी उनके बारे में सोचते हुए सो गया. थोडी़ देर बाद दोनों ने ताश खेलने का प्रस्ताव रखा तो हम तैयार हो गये.

अब मैंने भी भाभी की टांगों को कंधे पर रखकर 5-6 जोरदार धक्के लगाए और भाभी की चूत में ही झड़ गया और भाभी के ऊपर लेट गया।दोस्तो, इससे पहले मैंने अपनी बहन के बारे में कभी ऐसा नहीं सोचा था लेकिन भाभी ने गाली दी जिससे मेरा भी मन बदल गया.

तभी रिंकी बाहर आई और बोली- तुम यहां?तो मैंने बोल दिया- हां, अंकल तुम्हारा ध्यान रखने लिए बोल कर गए हैं. कुछ देर के बाद उसने फिर तेजी से धक्के लगाते हुए अंदर पानी छोड़ दिया और फिर वो उठ गया. मैं नहीं रोकूंगी।मैंने ज्योति को उठा कर बैठा दिया और उसे अपना लन्ड चूसने का इशारा किया तो वो मेरे लन्ड को अपने मुख में लेकर चूसने लगी।कुछ देर उसे अपना लन्ड चूसने के बाद मैंने कहा- ज्योति, चुदाई के लिए तैयार हो.

सेक्सी फोटो चुड़ै भाभी की निकलती आहों से मैंने उनके होंठों पर अपने होंठों का ढक्कन कस दिया, जिस वजह से उनकी मादक आवाजें मेरे मुँह में ही दब गईं. उसने एक पिंक कलर का सूट पहन रखा था, जिसमें वो बहुत सुंदर लग रही थी.

एक बार तो मैं शॉक हो गया लेकिन फिर मैंने चुदाई बंद नहीं की और पांच मिनट बाद मैंने उसकी चूत में पानी छोड़ दिया. उसकी बड़ी चुचियां देखकर मुझसे हमेशा से लगता था कि वो किसी से चुदवाती है, पर मैं कभी उसे पकड़ नहीं पाया. गरम भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक शादी में सर्दी की रात में हाल में बिस्तर लगा कर सोना पडा.

xxxx देशी

इधर मुझे पता चला कि ज़िन्दगी में पहली बार मुझे लड़कियों के साथ एक ही रूम में पढ़ना पड़ेगा. वो मेरा सारा माल पी गयी।उस रात मैंने माँ की गांड भी मारी।दिन के 11 बज चुके थे रात भर चुदाई की वजह से माँ और मैं लेट सो कर उठे. अब मैं उसकी चूत चूसने के साथ साथ ही अपनी उंगली उसकी गांड में अन्दर बाहर भी कर रहा था.

सुबह मुझे कुछ सामान भी ले जाना था तो मेरे सारे पैसे पर्स में ही थे।अब जागरण खत्म हो गया था तो सारे लोग अपने घरों को जा रहे थे. इस पर मेरे मामू ने कहा- ठीक है इनके साथ साथ मेरे बच्चों की भी पढ़ाई हो जाएगी.

उस से प्रेरित होकर मैंने सोचा था कि काश यही लण्ड मुझे मिल जाये तो मैं खूब उछल उछल के चुद जाऊँ और अपनी बरसों की प्यास बुझा लूँ।लेकिन मैंने वासना पूर्ति के लिए ऐसा नहीं किया। मुझे लगा कि यह हमारे संस्कारों के विरुद्ध होगा.

मेरा मन तो कर रहा था कि हाथ थोड़ा और नीचे ले जा कर नाड़ा खोल दूँ और चूत में अपनी उंगली घुसेड़ दूँ. रमेश ने बाबा से पानी मांगा और कहा कि हमारी गाड़ी खराब हो गयी है, मैं गाड़ी में पानी डालने जा रहा हूं. तभी उसने मुझसे बोला- क्या हुआ मिस्टर सेकंड फ्लोर, यहीं थाली ले आऊं या अन्दर आओगे.

मैं ये सब देखकर हैरान था कि एक अजनबी के सामने माधवी भाभी ने ये सब बिना किसी डर के सामने रख दिया था. वो एकदम से सकपका गयीं और बोलीं- क्या कर रहा है, पागल हो गया है क्या? ये क्या हरकत है?मैं बोला- भाभी बहुत मन कर रहा है, एक किस दे दो ना प्लीज?वो बोली- यहां किसी ने देख लिया तो सारी आशिकी बिखरी बिखरी फिरेगी. इस समय मेरे मन में बड़ी बुआ घुसी थीं … क्योंकि उनकी गांड और चुचे बड़े थे.

मम्मी की पेशाब की आवाज़ सर्र सर्र करते हुए निकल रही थी और बड़ी मजेदार महक आ रही थी.

वीडियो में बीएफ चुदाई: मैंने बाथरूम के दरवाजे की एक झिरी में आंख लगाई तो अन्दर का नजारा बड़ा गर्म था. अम्मी ने कहा- मजाक नहीं … लगता है उसे तुम्हारा पिछवाड़ा पसंद आ गया है.

मैंने उनका ध्यान खुद पर से हटाने के लिए बोला- आप ही यहां के गेम्स के टीचर हैं. वह साड़ी को हमेशा अपनी नाभि के नीचे बांधती थी और कयामत लगती थी जिसे देखकर किसी का भी लंड झटके मारने लगे।उनके पति कपड़े की दुकान चलाते थे जो हमारे घर से थोड़ी दूरी पर थी. उसके बाद सुनीता उठी और अपनी पेंटी निकाल दी और शकील के मुंह पर बैठ गई.

सत्यम तो मेरा पति हो ही गया था, तो मेरा जब भी मन होता था, तब मैं उसको अपने घर बुला लेती थी और मजे से उसका लंड अपनी बुर में घुसवा कर मजा लेती रहती थी.

आज भी वैसा ही हुआ, मेरी पत्नी सो गई तो मैं अवनीत के कमरे में पहुंचा, वो टीवी देख रही थी. अब मुझे तो संडास जाना ही नहीं था, मैं तो सिर्फबुआ की गांडदेखने आया था. मगर मैं हमेशा मना कर देती थी।पर दोस्तो, जीजा की किस्मत में ही मेरी पहली चुदाई का सुख लिखा था।ये सब कैसे हुआ ये कहानी के अगले भाग में पढ़िए।किस तरह मेरी कुंवारी बुर की सील टूटी और जीजा ने मेरी जवानी कैसे लूटी।मिलते हैं मेरी अन्तर्वासना की कहानी के अगले भाग में।[emailprotected]जीजा साली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:जीजा की नजर साली की कुंवारी बुर पर-2.