अमेरिकन बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,राजस्थानी ब्लू बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

पोर्न सेक्सी: अमेरिकन बीएफ सेक्स, मैंने पूनम को देखा तो पूनम का भीगा हुआ बदन मुझे मदहोश कर रहा था क्योंकि भीगने से उसकी साड़ी उसके बदन से ऐसे चिपक गई थी, जैसे लड़का लड़की सेक्स के टाइम चिपके हुए होते हैं.

ब्लू सेक्सी देहाती बीएफ

फिर हम वैसे ही लेटे रहे, मैंने अपने घर पर फ़ोन करके बोल दिया कि मैं दोस्त के घर हूँ और सुबह आऊंगा. बीएफ सेक्सी नंगे वालीमैं- अब क्या है?अमित- मुझे मिनी को बिना कपड़ों के देखना है और इसके लिए मैं कोई भी कीमत चुकाने को तैयार हूँ.

फिर मैंने डिनर बनाया और फिर रोहण और मैंने डिनर किया और फिर हम सोने लगे. गुजरात का बीएफमैंने कई बार उसे बताना चाहा कि मैंने तुझसे बदला लेने के चक्कर में फंसाया था, पर उसने मेरा इतना साथ दिया कि मैंने ये बात अपने मन में ही मार ली और उसे एहसास भी नहीं होने दिया.

दोस्त कहते थे कि ‘अबे एक जाएगी नहीं तो दूसरी कैसे आएगी, भूल जा उसे!’पर मैं उसको प्यार करता था.अमेरिकन बीएफ सेक्स: मंजरी ने हल्के से अपना सर हिला कर पुलकित को आने को कहा, पुलकित नीचे को झुका और उसने मंजरी के होंठों को चूम लिया.

उसने मुझे अपनी बांहों में इस कदर कस लिया कि मेरी चूचियां मसली जा रही थीं.पड़ोस की सीमा भाभी (नाम बदल दिया है) एक मस्त रापचिक माल हैं, गठा हुआ बदन, मस्त 5 फीट 4 इंच की हाइट, उनके 36डी के बड़े बड़े चुचे.

जुदाई पिक्चर बीएफ - अमेरिकन बीएफ सेक्स

मैंने होश में आकर देखा, आकाश बिल्कुल नंगा मेरे ऊपर लेटा हुआ है और उसका लंड मेरी चुत से टच हुआ पड़ा है.वहाँ पहुंच कर बीवी ने फ़ोन पर बताया कि माँ ठीक हैं, मैं कल शाम तक आ जाऊँगी.

अब मेरी सुमीना से अच्छी दोस्ती होने लगी, हम सेक्स की बातें भी करने लगे. अमेरिकन बीएफ सेक्स मैंने अनुष्का से आप से तुम पर आते हुए बोला- मैं तुमको नंगी देखना चाहता हूँ, तुम बहुत खूबसूरत हो.

दिव्या की उम्र करीब बीस साल है, वो एक बहुत ही खूबसूरत भरे हुए सेक्सी बदन की मालकिन है, उसके जिस्म का आकार 34-30-36 का है.

अमेरिकन बीएफ सेक्स?

तभी अंकल बोले- आरती, मैं तुम्हें अभी एक बार पूरी नंगी देखना चाहता हूं. थोड़ी देर ही हुई होगी उसी पंक्चर कार में ड्राइविंग सीट पर एक मैडम बैठी दिखाई दीं. स्कूल से कॉलेज पहुँचते पहुँचते मैं एक नंबर की झूठी और नकचड़ी और फैशनबाज़ हो चुकी थी.

अब विनीत ने आरजू के शरीर पर से सब कुछ निकाल दिया, वो बिल्कुल नंगी थी और उसे कोई फ़र्क भी नहीं था, इसके बाद विनीत ने अपना लंड निकाला और आरजू के सामने कर दिया, लगाबह्ग साढ़े पांच इंच का लंड जिसे आरजू ने अपने हाथों से पकड़ा और सकिंग करने लगी. उसके बाद मैंने उन दोनों की एक एक बार चूत मारी और गीतांजलि की एक बार गांड भी मारी. मैंने धीरे से उनकी पेटीकोट का नाड़ा खोल कर उसे उनके जिस्म से अलग कर दिया,वो काली ब्रा और पैन्टी में क़यामत लग रही थीं.

पास पड़ी नेपकिन से रानी ने मेरा लंड अच्छे से पौंछ दिया और फिर अपनी चूत में घुसा कर उसे साफ़ करने लगी. पर कभी चुदाई नहीं करवाई, मुझे भी कोई तकलीफ नहीं थी क्यूंकि ऐसा चुसवाना किसके नसीब में होता है. मॉम भी अब पूरी तरह गर्म हो गईं, मेरी मॉम के दोनों हाथ उस लड़के की पीठ पर थे, कुछ ही देर में वे दोनों आउट ऑफ़ कंट्रोल हो चुके थे.

मैं हमेशा से उसकी इज्जत करता था क्योंकि वो मेरा बहुत ख्याल रखती थी. उसने कुछ नहीं कहा, फिर हल्के से ऊपर से ही उसकी चुत पे हाथ फिरा दिया.

वो भी चाहती है कि हमारे प्यार की स्टोरी सब लोग जाने और इसमें ज्यादा फायदा हम अपना ही मान रहे हैं, ताकि जब भी मन हो, हम अपने बीते पलों को याद कर सकें.

मैंने अपने होंठ अप्पी के होंठों से मिला दिए और उनका रस पीने लगा जिस से उसके हाथ की पकड़ ढीली होने लगी और वो पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी!मेरा हाथ तुरंत मेरी बहन की पैन्टी में प्रवेश कर गया, वहां तो पहले से ही सैलाब आया था, उसकी चूत पूरी तरह से भीग चुकी थी और अब तो बस वो चुदने को बिल्कुल तैयार थी! मैंने जैसे ही चूत पे हाथ रखा… क्या बताऊँ यारो, वो फूली हुई गुजिया जैसी चूत थी जिसे मैंने कस कर रगड़ा.

अब आगे की सेक्स कहानी अगले पार्ट में सुनाऊंगी, तब तक आप जल्दी से अच्छे अच्छे कमेंट्स मेरी आईडी पर करो. बेडरूम रानी की चूत से निकलती फचफच फचाफच की मधुर ध्वनि से गूँज रहा था, उनकी चूत से जैसे रस की नदिया सी बह रही थी. उसकी मखमली गांड मारते समय मैं हाथ से उसकी गांड पर चमाट मार रहा था, दर्द की वजह से वो कराह रही थी.

उसने घबराई हुई आवाज में पूछा- तुम कौन हो?मैंने कहा- तुम्हारे साथ ही सफ़र कर रहा हूँ. मुझे बहुत ही अच्छा लगा, क्या रुई की तरह उसका गोल गोल चूचा मुझे मस्त अहसास दिला गया था. उसने मुझे खड़ा किया और मेरा लंड ऐसे पकड़ लिया जैसे मुझे गिरफ्तार कर लिया हो.

मैंने आकाश को तेज़ी से धक्का देकर बेड से नीचे गिरा दिया और मैं भी बेड से उठने की कोशिश करने लगी, लेकिन मुझसे खड़ा नहीं हुआ गया.

18 वर्षीया वर्षा का रंग रूप, वो मुझसे कई गुना गोरी है, उसकी लंबाई मुझसे थोड़ी कम है, वो मेरे कानों तक आती है. जैसे ही मैंने अपना ब्लाउज निकाला, मेरे बूब्स उछल पड़े मेरी ब्रा मेरे बूब्स को संभाल नहीं पा रही थी क्योंकि मैंने बहुत छोटी ब्रा पहनी थी।फिर मैंने अपने पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया और पेटीकोट एकदम से नीचे गिर गया।रोहण मुझे ब्रा पेंटी में अधनंगी देख कर शॉक हो गया था. उसने जैसे ही अपनी चुत को थोड़ा टाइट किया, मेरा भी लंड झड़ने वाला हो गया.

मैं उनके पास आकर सो गया और पीछे से हाथ डाल कर उनके बड़े बड़े दूध दबाने लगा. पहले मुझे बहुत अजीब सा लग रहा था, मगर अब धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा. अब मैं क्या भैया को बताऊँ कि बिना मेकअप के मैं नहीं निकलती थी, आज निकल रही हूँ.

मैं- नहीं भाभी, आज मैं इसे अपने हाथ से ठण्डा नहीं करूँगा आज तो इसे आप ही ठण्डा करेंगी.

अब कोमल लंड को तेज़ी से मस्त चूस रही थी और उसे अपनी मुँह के अन्दर बाहर कर रही थी, जैसे उसे भी अब चूसने में मजा आ रहा था. उसी दिन बुला लेना कि उसकी पार्टी अभी बाकी है आकर ले ले और मुझे माफ़ी भी मांगनी है बस.

अमेरिकन बीएफ सेक्स बाहर सबसे नॉर्मल बातें हो रही थीं लेकिन मॉम थोड़ी शांत सी बैठी थीं. तो रवि ने कहा- अच्छा तो विवेक के साथ ग़लत नहीं है?मैंने कहा- मैं और विवेक एक दूसरे से प्यार करते हैं.

अमेरिकन बीएफ सेक्स सिर से लेकर पैरों तक मेरे बदन की कोई ऐसी जगह नहीं थी, जहाँ उसने मुझे किस ना किया हो. वहां जाकर पता चला कि ताई जी घर पर नहीं हैं और मेरी बहन घर पर अकेली है.

उस दिन मैं तैयार हो रही थी कि दिव्या ने कहा- आज तुम तो क़यामत लग रही हो.

पुलिस वालों की बीएफ

उन्होंने थोड़ी देर हाथ को रोका लेकिन जब हाथ नहीं रुका तो उसने रज़ाई के अन्दर ही हाथ को फ्री कर दिया मतलब चुपके से अपनी स्वीकृति दे दी. मम्मी राधिका ने उसे अपने मुँह के पास किया, सूंघ कर देखा, पति की मौत के एक लम्बे अरसे बाद लंड की जानी पहचानी खुशबू पाते ही, उनकी गदराई हुई चूत पसीजने लगी. वो अपने हाथ मेरे पेट से लगा कर लंड चूत से निकालने की कोशिश करने लगी.

मैं करती हूँ लेकिन दर्द तो नहीं होगा?”उफ्फ्फ मम्मी इस लम्बे तगड़े नीग्रो से चुदेंगी. ये कहकर वो चले गए और कुछ देर बाद उन्होंने मुझे बॉबी भैया का पता और मोबाइल नंबर लाकर दे दिया. उन्होंने मेरा लंड फ़िर से चूस कर नेक्स्ट राउंड के लिए खड़ा कर दिया और मैंने उन्हें फ़िर से इशारे से कहा- लेट जाओ.

जब खाना-वाना हो गया तो हम लोग आग के पास बैठ गपशप करने लगे।कुछ देर बात करने के बाद स्वीटी को पेशाब का प्रेशर बना, जिसके चलते उसने अपनी सलवार उतार दी। उसका कुर्ता कमर तक दोनों तरफ से कटा हुआ था, जिसके चलते उसकी पैंटी उन कट से दिख रही थी। ऐसा लग रहा था मानो मेरे सामने कोई कॅबरे डान्सर खड़ी हो, और कैबरे डांसर की तो फिर भी पैंटी नहीं दिखती है, मुझे तो मेरी बहन की नंगी टाँगे और पैंटी दिख रही थी.

हमारे घर में मेरी मम्मी और मैं हम दो ही हैं, मेरे पापा ज़्यादातर बाहर ही रहते हैं।तो जो परिवार अभी रहने आया था, उसमें अंकल का नाम हरी प्रसाद था, आंटी का नाम रूप रानी और उनके एक बच्चे का नाम विकी था. करीब 10 मिनट बाद वो एकदम से ऐंठ गई और उसकी चूत ने मेरे मुँह पर अपना रस छोड़ दिया जिसे गीतांजलि ने अपनी जीभ से चाट कर साफ किया।उसके बाद सिमरन ने मुझसे कहा- वीशु जी, अब मेरे से बर्दाश्त नहीं हो रहा है इसलिये अब आप अपना लंड मेरी चूत में डाल दो. 5 इंच का हो गया है।मैं भाई के लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी तो उसका लंड धीरे धीरे अपने आकर में आने लगा।5 मिनट में भाई का लंड मेरी चूत में था, 15 मिनट तक अलग तरीके से मेरी चूत बजा कर अपना पूरा ताज़ा माल मेरे मुँह में डाल मुझे पिला दिया और कपड़े पहन कर अपने रूम में चला गया।मैं भी अपने कपड़े पहन कर बाथरूम चली गयी और वहां बैठ कर शर्र शर्र मूतने लगी.

अब मेरा पूरा लंड उनकी गांड के अन्दर था और मैं धीरे धीरे धक्के मार रहा था ताकि मेरे पीछे खड़ी आंटी को ये ना पता चले कि क्या हो रहा है. थोड़ी देर में ही उसने एक लिंक रोड पर कुछ दूर जाकर गाड़ी रोक दी और मुझे अपनी सीट पर अपने लंड के आगे बैठा लिया. शाम को 5 बजे वापस आया तो देखा उसने मुझे देखते ही कंप्यूटर में कुछ किया और नॉर्मली काम करने लगी.

अतः अपनी सेक्स कथा लिखते समय कोई भी हीन भावना मन में न रखें और पूरे आत्मविश्वास के साथ लिखें. आपके पहले प्रोजेक्ट पे ये आपके साथी होंगे और इसलिए आप दोनों का केबिन एक ही है.

उनकी इस बात से मैं तनिक चौंका और मुझे अब खाने का स्वाद क्यों अलग लगा था, इसका मतलब समझ आने लगा. यह सेक्सी कहानी मेरी मौसी की शादी में मेरी मॉम की किसी अनजान लड़के से चुदाई की है. वो आह आह करती रहीफिर मैंने उसका टॉप उतार दिया और और मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही मसलने और चूसने लगा.

वो पापा मम्मी से मिले और कहा- दीदी कह रही थीं कि आप नया घर बनवा रहे हैं, पैसे की जरूरत हो तो बेहिचक बोलना.

उस वक्त सब अपने अपने में बिज़ी थे, तो थोड़ी देर बाद मॉम खुद ही उस फंक्शन वाली जगह से निकल कर घर की तरफ चली गईं. मैंने कहा कि मैं कल जा रहा हूँ बस जाने से पहले तुझसे गले लगना चाहता हूँ. मुझे देखते ही दीदी चिल्लाई- ये क्या बदतमीज़ी है? नॉक करना नहीं आता तुम्हें?अपनी पैंटी ऊपर करते हुए बोली अंजलि दीदी.

इतने में अचानक से बाथरूम का दरवाजा खुला और भाभी की ननद अन्दर आ गई और अन्दर आते ही हम दोनों को नंगा देख कर बोली- ये सब क्या चल रहा है… भाभी तुम तो एक नम्बर की चुड़क्कड़ निकली. उम्म्ह… अहह… हय… याह…!सीमा ने मेरी जेब से रंग निकाल कर मेरे लंड पर लगाया और मेरा लंड अपनी चुत में डलवा लिया.

अब मेरी मामी भी गर्म हो चुकी थीं और वो भी अपनी कामवासना पर कंट्रोल नहीं कर पा रही थीं. उस दिन भाभी जब मुझे बायोलॉजी पढ़ा रही थीं, तो एक चैप्टर था रिप्रोडक्शन. सुबह उठ कर फोन देखा तो आकांक्षा के तीन चार मिस्स्ड कॉल पड़े थे, मैं हैंगओवर को सँभालने के लिए खड़ा ही हुआ था कि दरवाज़े की घंटी बजी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्स

मैं उसके घूरने पर मुस्कुराती हुई बर्थ से उठी तो वह फ़ौरन मेरे पास आया और मुझसे चिपक कर मुझे बोसे देने लगा.

दीदी ने पेंटी पहनी हुई थी लेकिन बहुत छोटी सी, दीदी की चूत का छोटा सा हिस्सा ही पेंटी से ढका हुआ महसूस हो रहा था. इस स्माइल के बाद तो मेरी हिम्मत बहुत बढ़ गई और मैंने उसको पीछे से जाकर पकड़ कर पागलों की तरह उसके गले पर, फेस पर चूमने लगा. तभी मेरी सास और जोर से चिल्लाई- आाहह हइइई मरररर गई निशा…और मैंने अपनी चूत सास के मुँह पर और दबा दी जिससे आवाज कम आये.

इकलौती होने की वजह से मम्मी डैडी के लाड़ प्यार के कारण मैं बचपन से ही बिगड़ैल हो गई थी. मैंने उसे लेटाया और एक तकिया उसकी क्मर के नीचे लगाया और मैंने थोड़ा उसका चूत रस लिया, उसे लंड के उपरी हिस्से पर 3 इंच तक लगाया ताकि लंड आसानी से चूत में जा सके और फिर मैंने अपना लंड जैसे ही उसकी चूत पर रखा उसके मुँह से हह्ह्ह्ह की आवाज़ निकल आई. बीएफ दर्दअगर मैं धीरे धीरे करता तो तुझे बार बार दर्द होता और ऐसा करने में एक बार ही हुआ.

पूनम के मुँह से हल्की सिसकारी निकलने लगी और उसका भीगा बदन मेरी बाँहों में था. मेरी हालत ख़राब हो रही थी उस गांव वाले लौंडे और अमित ने क्या दबाए होंगे, इतनी ताकत से मसले थे.

मोनिका पर गांव के लड़के ट्राई मार चुके थे, पर मोनिका कसी से बोलना तो दूर किसी की तरफ देखती भी नहीं थी. कुछ मिनट के बाद खुशबू बोली कि राजा अब बहुत हो गया, मेरी प्यास बुझा दे. आपमें से कोई कुछ रिप्लाई या मेरी नोन वेज कहानी पर फीडबैक देना चाहता हो तो मुझे मेल कीजिएगा.

तब तक काजल भी निकल आई थी, उसने पिला और सफ़ेद मिक्स कलर का सूट पहना हुआ था और आज उसने बाल भी धोये थे. हम दोनों शाम का इंतजार करने लगे, अंधेरा हो गया और मैं अपनी स्कर्ट और शर्ट पहन कर ऊपर एक शाल ओढ़ ली और वहीं उस मकान के आस पास घूमने लगी. पहली बार किसी ने मेरा इतना खयाल रखा था तो कब उनसे प्यार हुआ, मुझे इसका पता ही नहीं चला.

इस बार भी मुझे ऐसा लगा कि मैं पहली बार उसकी चूत में लंड डाल रहा हूँ.

उसको भी मीठे दर्द के साथ मज़ा आने लगा था और वो अपनी गांड हिला हिला कर चुदाई के मज़े ले रही थी. फिर हमने दिन भर चुदाई की, मैंने रात में भाभी मां को नंगी करके छत पर भी चोदा.

फिर वो मेरे ऊपर चढ़ कर मेरी मैक्सी को ऊपर उठा कर मेरी गीली चूत में अपने लंड को डालने लगे. अब धीरे धीरे मैं उसके पैरों को चूमते हुए ऊपर की ओर आने लगा, जब मेरे होंठों ने उसकी जांघों को छुआ तो उसे गुदगुदी सी हुई और वो मचलने सी लगी, वहीं से मैं उसकी चड्डी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा, उसकी चड्डी गीली सी हो गयी थी।फिर मैंने चूत पर चड्डी के ऊपर से ही किस किया और उसके चुच्चों की तरफ अपना मुंह ले गया। तब तक वो बस आँखें बंद करके मज़ा ले रही थी. मैंने पूछा- क्या किसी लौंडे की अब तक नहीं मारी? या कोई लौंडिया भी नहीं मिली? क्या ब्रह्मचारी हो?वह बोला- भैया सब काम किया.

हम दोनों ने शिमला पहुँचने के बाद होटल में एक रूम ले लिया और घूमने निकल गए. पूनम ने मुझ से पूछा कि यहाँ घूमने लायक क्या है?तो मैं बोला- पूनम, यहाँ मैं तुमको कुछ दिखाने लाया हूँ. चौथे दिन मैंने अपना सामान पैक करना शुरू कर दिया तो भैया ने मुझसे पूछा- वीशु तू अभी ये क्या कर रहा है?मैंने भाभी के सामने ही भैया से कहा- भैया मैं नहीं चाहता कि आप और भाभी में मेरी वजह से लड़ाई या झगड़ा हो इसलिए मैं अपने घर जाना चाहता हूँ.

अमेरिकन बीएफ सेक्स एक कैमरामैन मम्मी को उस नीग्रो अंग्रेज का लंड चूसते हुए साइड से फिल्म बना रहा था तथा दूसरा उनके मुँह के पास क्लोजअप शॉट ले रहा था. कुणाल हंस कर बोला- तुमने कभी किसी लड़की चुत को नजदीक से देखा है?मैंने- नहीं.

सनी लियोन की बीएफ चुदाई वीडियो

फिर वो मेरे खड़े लंड के ऊपर लपक पड़ी और लंड को मुँह में भर कर जोर जोर से चूसने लगी. मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ?भाभी जी बोलीं- मैंने जो गारमेंट्स लिए हैं उसमें एक पीस छोटे साइज़ का निकल आया है, उसे चेंज करना है. फिर एक दिन मेरी बीवी को ब्लीच और सब मेकअप वगैरह करवाना था तो उसने राखी को कॉल करके घर पे बुला लिया.

आंटी ने बेटियों की तरफ़ इशारा करके कहा- अच्छा ये मेरे लिए और उनके लिए नहीं?कुणाल- क्यों नहीं आप चाहें तो उनके लिए भी है. मैं कुछ सेकेण्ड के लिए तो रुका लेकिन तभी मैंने भाभी को उनके ससुर के सामने ही जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया. बीएफ फिल्म फिल्म बीएफ फिल्मजब उन लोगों में मुझे उकसाया तो मैंने गुस्से से कह दिया कि ‘भूत की माँ की चूत.

मैंने पूछा- जी, कौन शीतल? मैंने पहचाना नहीं!फिर उसने बताया कि वो ही जिसने पार्क में आपका नंबर लिया था.

इसके बाद मैंने लंड को काम पर लगा दिया और उन्होंने अपनी कसी हुई चूत में मेरे लंड को ऐसे लील लिया, जैसे बहुत दिनों से लंड की भूखी हों. इधर मोहन लाल की उंगलियों और जुबान के लगातार प्रहार से मयूरी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई और और इतनी देर में एक बार झड़ चुकी थी.

यह मेरा किसी पुरूष के साथ पहला मौका था, आश्चर्य की बात और बेहद ही अलग अनुभव था लेकिन मुझे बहुत आनन्द आया और मैंने अनामिका के होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. शिशिर मम्मों को मसलते हुए सलमा की चुत को चोद रहा था और वह नीचे से कमर उचकाते हुए शिशिर की गांड को कुरेद रही थी. मैं थोड़ी देर वहीं रुका रहा और उस को किस करता रहा, उस के चूचों को दबाता रहा.

भाभी ने लंड को मुँह में ले लिया और मुझे भी पहली बार उनके मुँह का स्पर्श पा कर मजा आया.

अब सलमा ने दोनों पैरों को चौड़ा किया तो सुनील की तरह शिशिर भी उसकी चुत पर झुकता चला गया. अब मेरी बहन मुझसे बोली- भाई, आज मुझे एक रंडी की तरह चोद दे!मैंने अपनी जीभ उसकी चूत पर रख दी, कसम से आग निकल रही थी मेरी बहन की चूत में से! बिल्कुल गुलाब की पंखुरी की तरह उसकी चूत के दोनों फांकें थी. चूत का छेड़ मिलते ही अमिने एक जोर का ढका मारा और मेरा लंड भाभी की चूत के अन्दर… अब मैं भाभी को घोड़ी बना कर पूरा मजा ले ले कर चोदने लगा और वो भी सिस्कारियां लेती हुई चुदने लगीं.

बीएफ बीएफ एचडी बीएफ बीएफ एचडीफिर अपने लंड को मेरी चूत की फांकों में हल्का सा फंसा कर जोर लगा कर अन्दर पेल दिया. चचा जान मेरी गरदन को दोनों तरफ से बेतहाशा चाट रहे थे, जिससे चचा जान की लार से मेरी गरदन पूरी गीली हो चुकी थी.

सेक्सी मूवी फिल्म ब्लू

मेरी मम्मी राधिका कोई कुंवारी बच्ची तो थीं नहीं, उन्हें पता था कि ऐसे फनफनाते हुए लंड के साथ क्या करना है. वह मुस्कुराया और बोला- मैं ड्राइवर से कह दूंगा, कक्का आप आराम से निपट लियो, भैया बहुत सुन्दर हैं. मैंने लंड उसकी चूत के अन्दर डालने की कोशिश की, लेकिन वो जा ही नहीं रहा था.

दिव्या के भैया ने भी मुझे चोदा है, पर ये बात दिव्या को नहीं पता है. गांव में इतने दिनों बीच में मैंने कई बार फोन पर किशोर से बात की थी. हाँ जब तुम्हारा लंड लड़की या औरत की चूत या गांड में पूरा घुस जाए, तब थोड़ा रुकना चाहिए लेकिन लंड फिर भी बाहर मत निकालना ओके.

क्योंकि वो बार बार बाहर नहीं आ सकती थी, ऐसा उसके पापा ऐसा नहीं चाहते थे. पहले मुझे बहुत अजीब सा लग रहा था, मगर अब धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा. फिर मैंने भाभी को खड़ा करके धीरे धीरे उनके कपड़े निकालने शुरू कर दिए.

उम्म्ह… अहह… हय… याह…!सीमा ने मेरी जेब से रंग निकाल कर मेरे लंड पर लगाया और मेरा लंड अपनी चुत में डलवा लिया. तो मैंने उसकी चूचियों को कस कर दोनों हाथों से पकड़ा और एक ही झटके में जड़ तक लंड उतार दिया.

मैंने अब मामी के गाँव में ही काम ढूँढ लिया है और मैं उनके घर पर ही रहने लगा हूँ.

अब उसकी आवाज़ बदल चुकी थी और उउई उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह उउई जैसी आवाज़ निकलने लगी थी!अब मैं सुहागरात मनाने के लिए बिल्कुल तैयार था, मैं उसे उठा कर उसकी मॉम के बेड पे ले गया जहां वर्षों पहले उसकी माँ ने सुहागरात मनाई होगी!मैंने उसे बेड पर फेंका. बीएफ सेक्सी दिल्ली सेक्सीअब मैं अपने काम में लग गया, मैंने डिग्गी से स्टेपनी, जैक पाना वगैरा निकाले और जैक चढ़ाने में लग गया. हिंदी देहाती बीएफ वीडियो मेंहर समय उपलब्ध यूनिवर्सल लुब्रिकेंट थूक निकाला, अपने हाथ में लिया और मेरी गांड पर मल दिया. अभी लेटे हुये 5 मिनट ही हुये होंगे कि मम्मी उठी और बाथरूम चली गयी हमने एक दूसरे की तरफ देखा और मैंने धीरे से कहा- बच गये, वरना आज तो गये थे!और फिर हमें कब नींद आ गयी, हमें पता ही नहीं चला.

आकाश ने अपनी कार एक होटल के पास रोकी और मुझे साथ लेकर होटल में चल दिया.

फिर रोहण भी फ्रेश होने चला गया और मैं किचन में ब्रेकफास्ट बनाने चली गयी. दोस्तो, मेरी पिछली कहानीगर्लफ्रेंड की अदला बदली करके चुदाई की तमन्नाआप लोगों ने पसंद की उसका बहुत बहुत शुक्रिया. जाते टाइम माला ने मुझे पीछे से कस कर पकड़ लिया और एक झप्पी देने के बाद उसने अपने दोनों हाथ हवा में फैला कर टाइटैनिक वाला पोज़ दिया.

मैं ये सोचने लगी कि कल फिर अमित से गले लगना है और ये मेरे लिए कल क्या लाएगा. तुमने जब चाय की बात की थी, मैं तब ही समझ गई थी कि मजदूरों से इतनी हमदर्दी क्यों? मैंने तेरा पीछा किया और ये सब देखा, मैं ये सब पापा को बताउंगी. कुछ देर बाद मेरे पति ने मुझे हिलाया, मैं नहीं बोली, वो समझे कि मैं सो रही हूँ.

नंगी फिल्म दिखाओ वीडियो

तो मैं इस तरह से बैठा था कि मेरा राइट हैण्ड सीट के ऊपर से जाकर काजल के सिर के पीछे रखा हुआ था, मेरी उंगलियां उसके कान के पीछे टच हो रही थी और यह जगह लड़कियों को गर्म करने के लिये बहुत ही अच्छी है लेकिन शुरू में मैंने ध्यान नहीं दिया. मैंने भी उसका साथ देते हुए हर धक्के पर लंड से चुत पर दबाव बनना चालू कर दिया. आपको किसी चीज की जरूरत होगी तो प्लीज आप हमें फोन कर दीजिये, आपका वीकेंड हैप्पी हो.

हमने आई डी प्रूफ दिया, जब सारी फॉरमिलिटी हो गईं, तो वो लड़का मुस्कुराया और उसने कहा- सर आपकी वाइफ बहुत सुन्दर हैं, एन्जॉय कीजिये.

लगभग 15 मिनट चूसने के बाद अंकल का लंड से गरम गरम वीर्य निकला और मैं उसे पी गया.

8-10 धक्के भयंकर गति से लगाने के बाद ओमार रुक गया और अपना लंड बाहर निकाल सहलाने लगा. अरे मेरे पापा और मेरी चूत के मिलन की पूरी कहानी मेरी सेक्सी आवाज में सुन कर मजा लें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिये सर्वोत्तमब्राउज़र क्रोम Chrome है. सेक्सी फिल्म वीडियो बीएफ सेक्सी फिल्मउसके पीछे उसके दोनों बेटों में से एक अपनी बहन की चूत चोद रहा था और दूसरा अपनी भाभी की चूत मार रहा था.

फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये जिससे वो हिल गयी, उसकी आँखें खुल गयी और मेरी आँखों से मिल गयी. आनन्द ने मेरी बीवी को अपनी बांहों में कस के पकड़ कर खड़ा था, मोना चाय बना रही थी. मेरे मामा की तो किस्मत बहुत अच्छी है जो आप जैसी मामी उन्हें मिली हैं.

लगभग 5 मिनट के बाद मैं हाथ उसकी चड्डी के अंदर लेकर गया तो पता चला उसकी चूत पर बहुत झाँट थी. उस रात तो बस मैं ऊपर ही ऊपर हाथ फेर पाया, भाभी के सेक्सी बदन का मजा लेता रहा.

जैसे ही मैंने उसको कहा कि मैं छूटने वाला हूँ तो उसने मुझे उसके मुँह में आने को कहा और तेजी से चूसने लगी.

उसकी चूचियां ज़्यादा तो नहीं लेकिन हाँ मतलब भर की थी जो मेरे हाथ में आ रही थी और अब मैं उन्हें धीरे धीरे दबाता और उसे फ्रेंच किस भी करता जाता. ”संजय ने मेघा को खड़ा करके उसका एक पैर बेड पर रख दिया और पीछे से उसकी चूत में लंड डाल कर उसे चोदने लगा. दोस्तो, उसकी चूत पे एक भी बाल नहीं था और गांड भी एकदम मस्त चिकनी थी.

बीएफ जानवर फिल्म फिर मैंने उससे बोला- पहले तो तेरी चुत मारने की सोची थी लेकिन पहले गांड मार दी. मैंने पीछे से जाकर एक हाथ से उन के बाल पकड़ कर उनको अपनी तरफ़ घुमाया और उनके रसीले होंठों को एक जबरदस्त किस किया.

फिर क्या था, मैं पागलों की तरह उसकी गर्दन पे किस कर रहा था और अपने हाथों से उस के बूब्स बड़े ही आराम से सहला रहा था. लेकिन दीदी ने ज़ोर लगाया और मेरे से छूट कर बेड पर आगे की तरफ हो गई तो मैंने भी जल्दी से खुद को दीदी के ऊपर गिरा दिया और लंड को पकड़ कर चूत में घुसा दिया और दीदी के हाथों को पकड़ कर बेड से लगा लिया. मैंने पूछा- रोज मस्ती होती होगी?मेरे दोस्त ने कहा- हां यार… बिन नागा… हर रोज… किसी दिन मेरा मूड ना हो तो रेणुका ही पहल कर देती है.

हिंदी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

इसी तरह मेरी लाइफ कट रही थी कि अचानक ही एक रोमांटिक मोड़ आ गया उसमें हुआ ये कि मैं एग्जाम देने दूसरे स्कूल गई थी तो वहां ड्रेस पहन के ही जाना था, तो मैं भी उसी ड्रेस में गई. अमित- अरे लड़की से कभी दिल की बात करते हुए डरो नहीं… मना ही कर देगी ना… लड़कियों की कभी टेन्शन मत लो… साली एक जाती है तो सामने से साली 10 और आती हैं. यहाँ तक कि जब वो चल रही थी, तब मेरी बहन के चूतड़ गजब की छटा बिखेर रहे थे.

लगभग 5 मिनट की चुत चुसाई के बाद मॉम मचलने लगी, उनका बदन काम्पने लगा, उनके मुंह से आनन्द भारी सिस्कारियां निकलने लगी जो मैं रात की नीरवता में साफ साफ़ सुन पा रही थी. सीनियर, जिसका नाम सिराजुद्दीन था उसने कहा कि हमें पुलिस थाना चलना पड़ेगा।अब हम दोनों सिराज के सामने गिड़गिड़ाने लगी- सर, पुलिस थाना जाकर क्या करेंगे… जो भी है यही सुलझा लीजिए प्लीज। अगर थाने में गई तो हम किसी को मुँह दिखाने के काबिल नहीं रहेंगी। प्लीज सर… प्लीज!वैगरह वैगरह!काफी देर बाद उसने हमें चुप रहने के लिए बोला। फिर उसका और उसके साथियों का नजरों में ही कुछ इशारा हुआ.

मेघा ने सविता की ब्रा पेंटी भी उतार दी और खुद की भी निकाल कर हटा दी.

कुछ देर पहले मैं बूब्स को चूस रहा था इसलिए बूब्स पर हल्का सा थूक लगा हुआ था जिससे हाथ चिकना होकर दीदी के बूब्स फिर दब दब कर फिसल रहा था, मैंने थूक की चिकनाहट का सहारा लिया और दोनों हाथों की उंगलियों से बूब्स के निप्पलों को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. मैं समझ गया कि मीतू के मन में भी कुछ तो है, मैंने 10 मिनट में पढ़ा दिया, फिर हम बातें करने लग गए, उस समय मम्मी दूसरे रूम में टीवी देख रही थी तो कोई प्रॉब्लम नहीं थी. धीरे धीरे हम दोनों में फिर बातें होने लगीं, पर मेरी उनसे खुल कर बात करने की हिम्मत नहीं हो रही थी.

मैं दावे के साथ कह सकता हूँ कि मेरी इस कहानी को पढ़कर जिन पुरुष दोस्तों के पास चूत का इंतज़ाम है, वो चूत या गांड मारने लगेंगे और जिन महिला दोस्तों के पास लंड का इंतज़ाम है, वो अपनी अपनी चूत में लंड घुसवाने को विवश हो जाएंगी. मगर जैसे ही खड़ी हुईं, मैंने उन्हें कमर से पकड़ लिया ताकि वो उठ सकें. अब जल्दी बताओ मुझे कब करने को मिलेगा और कैसे करूँगा? और कैसे उसे पैसे दूंगा?मैं- तुम उसके लिए कोई एक गिफ्ट लो और उस गिफ्ट के अन्दर जितनी किस करनी है उसके रूपये जोड़ कर रख देना और एक चिट्ठी रख देना कि ये सब तुम्हारे लिए है.

दो साल बाद एक बार भाई अपने दोस्तों के साथ टूर पर गए, तब मैंने निश्चय किया कि अब जो भी हो, मैं भाभी को अपने दिल की बात बोल कर रहूँगा.

अमेरिकन बीएफ सेक्स: इस पोर्टल को देख कर मुझको भी मेरी कहानी लिखने का विचार आया लेकिन किसी वजह से लिख नहीं पाया. तभी मेरे मोबाइल पर घंटी बजी तो मैं उस मैडम को एक्सक्यूज़ मी कह कर बात करने लगा.

उसके मुँह से क़यामत शब्द सुना तो अचानक मुझे वो सारी बातें ध्यान आ गईं और मैं फिर से सोच में पड़ गई. फिर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये जिससे वो हिल गयी, उसकी आँखें खुल गयी और मेरी आँखों से मिल गयी. मैंने आकाश को बोला- आकाश मैंने तेरा क्या बिगाड़ा था जो तूने मेरे साथ ये सब किया?तब आकाश ने बोला कि तेरा घमण्ड तोड़ने की लिए तेरे साथ ये सब किया.

लेकिन धीरे धीरे वक्त के साथ जब मैं जवान हुई तो मेरे अन्दर कई तरह तरह की गरम गरम फीलिंग आने लगी, मैं रातों में सेक्स के लिए तड़पने लगी.

वो ड्रेस मेरे बूब्स से लेकर चूतड़ों तक थी, पीछे पीठ में ऊपर से नीचे तक पूरे में चैन लगी थी. रिया हंसी, मेरे पास आकर उसने मेरे होंठ चूमे और कहा- कमीनी, तू तो दिन ब दिन रंडी बनती जा रही है. बहुत दिनों बाद लंड के धक्के मेरी गांड पर पड़ रहे थे, वे बड़े जोरदार गांड फाड़ू टक्करें थी, ठोकरों से गांड लाल हो गई, चिनमिनाने लगी पर मजा भी बहुत आ रहा था.