जतारा की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर कैटरीना की

तस्वीर का शीर्षक ,

राशन की सेक्सी वीडियो: जतारा की बीएफ, क्योंकि मैंने तो अभी तक बच्चों की लुल्लियां ही देखी थीं अतः उसका लण्ड बच्चों के लण्ड से बड़ा था जो मेरे लिए बहुत बड़ी चीज था.

कॉलेज की सेक्सी वीडियो देसी

गुजरते पांच साल से मेरी मामी अपनी वासना पूरी करने में मेरा इस्तेमाल करती रही. अंग्रेजी खुली सेक्सीउन दोनों उभारों के बीच में गुलाब की सुंदर कोमल और नाजुक दो छोटी पंखुड़ियों के बीच गुलाबी छेद में कामरस की बूंदें चमक रही थीं.

उसको वो बगल में रख मेरे ऊपर ऐसे चढ़ गयी, जैसे कोई मर्द किसी औरत के ऊपर चढ़ता है. राजस्थानी हिंदी देसी सेक्सीमैंने खुलते हुए कहा- हां तो रंडियों, अब ज्यादा मत तड़पाओ … लंड लेने की तैयारी शुरू कर दो.

मैंने कहा- आँटी, वह तो लम्बी कहानी है फिर कभी बता दूँगा, अभी तो आप मजे लो.जतारा की बीएफ: मैंने पूछा- वह कैसे??भाभी- कल रात को खीरे से करेंगे, तुम्हें मज़ा आएगा.

और वो इतना कह कर बेड पर लेट गई।मेरे पास दर्द की गोली थी तो मैंने उसे वो गोली खिला दी.वह कुछ कमाता नहीं है, इसे पीटता है और पैसों की डिमांड करता रहता है.

साउथ इंडिया का सेक्सी वीडियो - जतारा की बीएफ

मैं उस समय पूरी चुदाई के नशे में थी तो मैंने कहा- हां, जिसको बुलाना चाहो, बुला लो.मेरा सेक्स जीवन कहानी में पढ़ें कि मैं अपने मौसेरे भाई के साथ सुहागरात का मजा लेना चाहती थी.

मुझे एक ही ख्याल आ रहा था कि अगर मैं आज चूका तो फिर शायद कभी भी सलोनी भाभी के प्यार को ना पा सकूंगा. जतारा की बीएफ उसने अपने दोनों हाथ मेरे नितम्बों पर फेरते हुए अपने दोनों पैरों से मेरे दोनों पैरों को जकड़ लिया.

मैंने उसे अपने आगोश में भर कर उसकी ढीली सलवार में हाथ घुसा कर पैंटी के भीतर लेजाकर उसकी नंगी चूत अपनी मुट्ठी में भर ली और उसे बड़े प्यार से धीरे धीरे आहिस्ता आहिस्ता मसलने, सहलाने लगा.

जतारा की बीएफ?

दीपिका कभी मेरे शरीर और सुडौल पटों को निहारती तो कभी घोष की टाँगों को देखती. तुम हम दोनों को अच्छी तरह चोद पाओ, इसलिए ये स्टेमिना बढ़ाने की दवा है. ये सुनकर वे दोनों मुझसे थोड़ी दूर होकर सामने सोफ़े पर जा कर बैठ गईं और मुझे पास आने का इशारा करने लगीं.

’लेकिन मेरे साथ जो हुआ, उससे एक नई कहावत बन गई कि हर चूत पर लिखा होता है … उसको चोदने वाले का नाम. मैं आशा करती हूं कि Bhai Bahan Xxx कहानी आप चाव से पढ़ेंगे, यदि कुछ कमी रह जाये तो मुझे बाद में बता सकते हैं. उसने एक बार तो मेरी जाँघ को अपने हाथ में भींच लिया और फिर उसका हाथ मेरी जाँघ से उपर की तरफ बढ़ने लगा.

चूंकि लैपटॉप गारंटी पीरियड में था तो मैंने उससे एक कागज पर साइन करवाए और मैं वहां से अपने ऑफिस चल दिया. तुम्हारे दादा को मरे 36 साल हो गये हैं, किसी मर्द की नजर मेरे शरीर पर नहीं पड़ी. शाम होते ही आँटी बच्चों को लेकर ऊपर आ जाती और हम दोनों जी भर कर चुदाई का मजा लेते.

मैंने अल्मारी खोली और उसमें से एक ब्लैक कलर की ब्रा पैंटी का सैट निकाला और ब्रा पहनने लगी. मैंने नेहा को कहा- क्यों तेरी गांड नहीं फटी क्या?मेरी बात का जवाब देती हुई गीत ने नेहा को सुना कर कहा- इसकी कहाँ फटी है, इसके अंदर तो दो दो लौड़े भी एक साथ चले जाएँ तो भी न फटे.

मेरी साइड पर खड़े एक बूढ़े की कोहनी मेरे पेट के साथ छू रही थी, और वो बड़ा ही अनजान बनने का नाटक करते हुए मेरे बूब्स को छूने की कोशिश कर रहा था.

मैंने उनके होंठ चूसना शुरू कर दिए तो उन्होंने भी अपने होंठ चुसवाने में मेरा पूरा साथ दिया.

मैं उनके पास सोफ़े पर बैठ गयी और सूरज सामने वाले सोफ़े पर बैठ कर हम दोनों को देखने लगा. बारिश जोरों से हो रही थी, जिससे अब रास्ते में काफी जगह रोड़ पर पानी इकट्ठा हो गया था. कुछ देर में अनु भी बाथरूम से आ गया और हम दोनों ने साथ में ब्रेकफास्ट किया.

मैं वापस आया और कूपे की नाईट वाली लाइट भी बन्द करके अनीता के ऊपर चढ़ गया. अब क्योंकि मैं भी इसी दुनिया की हूँ … तो मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ. मेरी उम्र 39 साल है, पर मैं अभी भी सिर्फ 27-28 साल की जवान लड़की की तरह ही लगती हूँ.

हमारी बातों को सुन कर नेहा भी चूत और गांड चुदवाती हुई बोली- फक मी … आह्ह … फक मी फास्ट … आह्ह … साली गीत … तू भी चोद मुझे … कुतिया साली … तू भी मेरी चूत में डिल्डो घुसाती रह … साले संजय जोर से चोद … तेरे लौड़े को निचोड़ कर रख दूंगी मैं … आह्ह.

उसके बाद हमने दो महीने तक सिर्फ फ़ोन पर बहुत सी बातें की लेकिन मिल नहीं पाए. मैंने चुत के मुँह पर लंड के टोपे को टिकाकर दबाव बनाया ही था कि मेरी बहन ने लम्बी सांस लेते हुए अपनी गांड उछाल दी और अपनी चुत में मेरा आधा लंड गटक लिया. मेरी पिछली कहानीपुलिस वाली की चूत का चक्करमें आपने पढ़ा था कि मैं एक पुलिस वाली के साथ उनके ट्रेनिंग कैम्प के दौरान उनकी दोस्त एकता के साथ मुम्बई में दो सप्ताह के लिए रहा था.

मैं नहीं रुका और मैंने उसी तरह से उसकी चुत की दूसरी फांक को भी खींचते हुए चूसा. मैं अब लेफ्ट बूब को हथेली में भरकर भींचने लगा और राइट बूब को मुँह में लेकर चूसने लगा. मालिश करते हुए मेरे नौकर श्यामू ने कहा- मालकिन, तेल से आपकी ब्रा खराब हो जाएगी, अगर आप बुरा न मानो तो इसको खोल दूं?मैंने भी अपने पालतू कुत्ते नौकर से कहा- तुझे जो भी खोलना है … खोल दे लेकिन मालिश बढ़िया से करना.

मैंने कहा- देखो सुमन, लज्जा नारी का वस्त्र है … नारी जब कमरे में कदम रखती है, तब भी निर्वस्त्र अच्छी नहीं लगती.

लेकिन मुझे उन पर विश्वास नहीं होता है कि कहीं वह लोग मुझे ब्लैकमेल ना करने लगें. मैं- हां शशि … बस मेरा भी निकलने वाला है … क्या करूं?भाभी- अन्दर मत निकालना प्लीज़, गड़बड़ हो सकती है.

जतारा की बीएफ उसने अपनी भाभियों को मेरी सेक्स कहानी के बारे में बताया, तो वो उससे मेरी मुलाक़ात करवाने की कहने लगीं. 2-3 मिनट तक वो ऐसे ही आगे पीछे होती रही और फिर उसने एकदम से मेरे मुंह पर अपनी चूत को पूरी ताकत लगाकर दबा दिया.

जतारा की बीएफ अभी रात के 10 बजे थे और सासू माँ को लगाया हुआ ड्रिप भी ख़त्म होने वाला था. लेकिन दो-तीन दिन बात करने के बाद जब उन्हें विश्वास हो गया कि मैं उनके विश्वास के लायक आदमी हूं.

नहीं तो मम्मी इधर आ गई तो हंगामा खड़ा हो जाएगा।जाते जाते रीना कह रही थी- अच्छा हुआ कि तुमने मेरे चूत का पानी निकाल दिया.

सिर्फ सेक्सी ब्लू पिक्चर

मैंने रूम के दरवाजे पर दस्तक देकर पूछा- मेम आपका सिस्टम रेडी हो गया है. मैंने समय ना गंवाते हुए उस गोरी और भरे पूरे देह की युवती को बिस्तर में लिटाया … और उसके बड़े घेराव वाले भूरे एक निप्पल को मुँह में भर लिया. लैपटॉप लाने के लिए वो जैसे ही पलटी, मेरी नजर उसकी मचलती गांड पर पड़ी, क्या मस्त माल थी वो.

आपको मेरी इंडियन विलेज भाभी सेक्स कहानी कैसी लगी … मुझे मेल जरूर करना. वो बूढ़ा मेरे सामने खड़ा होकर मेरे बालों को सहलाने लगा और अपने लंड के हल्के हल्के झटके मेरे मुँह में मारने लगा,बूढ़े का लंड उस लड़के जितना लंबा और मोटा तो नहीं था, मगर फिर भी पूरा तना हुआ और पूरा हार्ड था. मैंने पूछा- और दिवेश से!तो बोली- हम्म … वो मेरे पति हैं, मेरे बेटे के पिता है … और ये ज़िन्दगी तो मुझे उनके साथ ही निभानी ही है.

फिर बूढ़े ने मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा तो मैं उसी बैंच पर अपने हाथ रख कर नीचे खड़ी हो गयी.

लड़की- क्यों शायरा … ऐसा है क्या?उस लड़की ने हंसते हुए कहा मगर बेचारी शायरा तो शर्म से अब कुछ बोल भी नहीं‌ पा रही थी. उधर दूसरी तरफ मेरी दीदी और मेरे पति को जब भी मौक़ा मिलता, तो वो लोग तो एक दूसरे के कपड़ों में हाथ डालकर खेल लेते थे. हर धक्के के जवाब में आँटी अपने चूतड़ों को मेरी जांघों में मारती रही.

तभी भाभी ने मुझे रुकने के लिए कहा और बोली- मेरी जान थोड़ा सा आराम से … पहली बार है ना … इसलिए धीरे धीरे करना. फिर हम दोनों ने मिलकर चाय पी और अपनी कार में बैठकर माउंट आबू के लिए रवाना हुए. इससे छोटी चाची की चुत मेरे मुँह के सामने आ गई थी और मैं चुत चाटने लगा.

तो मैंने फिर कहा- डाक्टर साहब प्लीज हो सके तो देख लीजिये।तभी डाक्टर बोला- चलो अच्छा अब आ ही गयी हो तो ठीक है. मुस्कान के उसके साथ सैट हो जाने से मुझे घंटा फ़र्क नहीं पड़ा … बल्कि पूजा और मेरा रास्ता खुल गया.

बड़ी चाची एकदम से निढाल पड़ गईं और तभी चुत चाटे जाने से छोटी चाची की चुत से भी पानी निकल गया. भाभी ने हँस कर कहा- नहीं ननद बाईसा, तुम हो ही ऐसी जो किसी का भी लोड़ा खड़ा कर सकती हो. मैंने हेलो बोला तो उधर से बहुत ही रसीली मधुर आवाज आई- राज जी, नमस्कार, मैं दीपिका बोल रही हूँ.

मैंने कुछ देर तक डेज़ी की चुत चाटी और उसके बाद उसे हटा कर मैं बैठ गया.

हम दोनों वहां पहुंचे, तो मैंने पूछा- यहां कहां घुमाने लाए हो?उसने बोला- तुम चलो तो … आज कुछ वक़्त अकेले बिताते हैं. ममता जी को अब कॉलेज तो जाना नहीं था … इसलिए मैंने उनके घर के लिए उन्हें वहीं से एक ऑटो रिक्शा में बिठा दिया. फिर एक दिन मैंने और सूरज ने फिर कोशिश की सेक्स की … और जैसा मुझे डर था, वही हुआ.

अगर आप ऐसा करने में कामयाब हुए, तो आपकी ज़िंदगी और रिश्ते में बहुत सुधार होंगे. मेरी आंटी का फिगर कुछ ऐसा था कि 38-डी के बूब्स … कमर 30 की और उनकी गांड 40 इंच की है.

मैंने कहा- फिर कर लो!भाभी बोली- चलो थोड़ी देर सो लेते हैं, लेकिन सोयेंगे आपस में चिपक कर. रवि ने दरवाजा खोला और बोला- आ गयी रंडी!रिया- सेठ बुलाये और रंडी न आये, ऐसा कैसे हो सकता है?वो दोनों अंदर गये और साथ में बैठ गये. भाभी सेक्स हिंदी स्टोरी का अगला भाग चुत लंड की लम्बी लड़ाई से लबरेज होगा.

हॉस्पिटल सेक्सी एचडी

तू तो चूस ले!वो मेरे अण्डकोषों को मुँह में भर कर चूसने और चाटने लगी.

आंटी मेरे लंड को इस तरह से चूस रही थी मानो जन्म जन्म की प्यासी हो?मैंने आंटी से पूछा- आंटी अंकल का इतना बड़ा नहीं था क्या?आंटी कहने लगी- राज, इतना बड़ा तो लाखों में एक आदमी का होता है, तुम्हारे अंकल का तो इससे आधा लंबा और आधा पतला था. वो खुद ही अपनी चूत में लन्ड रख कर उसे अंदर डालने के लिये मेरी कमर को अपनी तरफ खींचने की कोशिश करने लगी. लड़का- सर, ये तो हमें थाने ले कर जा रहे थे, फिर क्या हुआ?मैं- कुछ नहीं, मैंने सब ठीक कर दिया है.

मेरी इस नई फ्री चैट गर्ल स्टोरी के सभी पात्र और जगह का नाम आदि काल्पनिक हैं. वो भी मुझसे कुछ नहीं बोल रही थीं और मैं भी उनसे कुछ नहीं बोल रहा था. नंगी और सेक्सी वीडियोमैंने पूछा- तो आपको मुझसे बात करके कैसा लगा?उन्होंने कहा- मुझे लगा कि आप मेरे लिए काम में आ सकता हैं.

फिर भी अनजान सा बनकर मैंने बोला- भाभी मैं समझा नहीं कि हफ्ते में एक बार ही ध्यान रखता है … इसका क्या मतलब हुआ?भाभी बोलीं- इतने अनजान मत बनो कि समझे नहीं … तुम सब समझते हो. नीचे गीत मेरे लंड को भी अपने ही अंदाज़ में उसके छेद पर जीभ से टच करके चूस रही थी.

मैंने जैसे तैसे करके उनके पेटीकोट को खोल दिया और उनकी चूत में उंगली डाल दी. और मौसाजी की तबियत अब कैसी है?”हाँ ताऊजी की तबियत अब ठीक है पर डॉक्टर आराम का बोल रहे हैं। ताईजी तो बोलती रहती हैं प्रेम को भी यही बुला लो नौकरी की क्या जरूरत है। यहाँ का काम संभाल ले।”हाँ वो सब बाद में देखते हैं। तुम चिंता मत करो. मैंने भी जिया की चुत का पूरा पानी पी लिया और उसकी चुत झड़ने के बाद भी उसे चाटता रहा.

और हाँ, आगे से गालों पर ज्यादा निशान नहीं डालने हैं, दूसरे लोग भी तो देखते हैं. वे जाने लगी तो मैंने पूछा- आँटी दुबारा लाइट कब जायेगी और रात को कब आओगी?आँटी बोली- थोड़ा दिमाग लगाओगे तो कभी भी लाइट जा सकती है. बीच बीच में मैं उनकी चुत में भी लंड पेल देता, जिससे उन्हें भी मजा आने लगता.

उस दिन मेरी मम्मी ने मेरी पिटाई की और कहा कि यदि उससे दुबारा मिली तो मेरी जान निकाल दूँगी.

मेरे पास कन्डोम नहीं था, तो भाभी बोलीं- तुम ऐसे ही चोद दो … मैं दवा ले लूंगी. मैं भी जोर जोर से बोल उठी- हाँ मेरे दिलबर, मेरे राजा, मैं भी तुम्हारे बच्चे की माँ बनना चाहती हूँ.

बहुत मदहोश कर देने वाली महक थी वो!जिससे शायरा की चुत की महक लेते लेते मैंने अब उसकी गीली पैंटी को एक‌ बार जीभ से चाट भी लिया. उसके दोनों हाथों को बगल में दबा कर उसके चेहरे और गर्दन को तेजी से चूमने लगा. मुझे गुदगुदी हो रही थी और जब दर्द होता तो मैं दाएँ-बाएँ हिल जाती जिससे चैकअप सही से नहीं हो पा रहा था.

इतना कह कर गीत ने अपनी जीभ निकाली और संजय के आगे बैठ कर उसके लंड को चाटना शुरू कर दिया. रेहाना मजे में सिसकारियां लेने लगी- आह्ह अंकल … ऊउउ … आह्ह … हम्म … फक मी … आह्ह … चोद दो अंकल।कई मिनट तक वो रेहाना की चूत में धक्के लगाता रहा और फिर उसने लंड निकाल लिया. मैंने कहा- चाचा को पता है?चाची ने कहा- नहीं, लेकिन तुम भी मत बताना प्लीज़.

जतारा की बीएफ बहुत देर से से चुदाई कर रहे थे हम!काफी देर एक दूसरे की बांहों में पड़े रहे।टाइम काफी हो चुका था; रात होने को आई थी।वो उठी. अनीता बोली- फूफाजी, आपको क्या मालूम है कि इस समय घर में कोई नहीं है?मैंने कहा- तुमने सुबह जो बातें अपने पति से की थीं, वो मैंने सुन ली थीं.

ब्लू फिल्म एक्स एक्स सेक्सी

मैंने उनसे रुकने का पूछा … तो उन्होंने कहा कि आप मेरे घर में ही रुक जाना, आपको कोई दिक्कत नहीं होगी. फिर मैंने उसकी गांड के छेद को उँगलियों से खोला और संजय को बोला- एक मिनट रुको सभी, अब चुदाई का असली आसन बनेगा. अभिषेक ने मेरा किस पाकर मेरी चूचियों को दबाया और बोला- ठीक है … इस किस की कीमत पर छोड़ रहा हूँ.

वो दोनों एकता और प्रमिला के पास आ गयीं और दो दिन तक मैंने सबको साथ में चोदा. मैं मामी से गांड को ढीली रखने की कह कर धीरे धीरे उनकी गांड में लंड डालने लगा. ववव सेक्सी विडीओमोहल्ले में न जाने कितने ही लोग उन्हें देख कर अपने लंड की पिचकारियां छोड़ते होने.

मैंने उत्तेजित होकर अपने लंड को सहलाना शुरू कर दिया था और अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था.

मैंने कहा- कितने दिन हो गये भाभी आपको चुदे हुए?वो बोली- बहुत टाइम हो गया है इसलिए दर्द हो रहा है. मेरे लंड ने जोश में आकर उसकी चूत को जोरदार सैल्यूट मारा और मैं पुनः चूत पर झुक गया और उसके होंठ खोल कर भीतर निहारने लगा.

भाभी जोर से हंसी और बोली- चलो, तुमने यह बात कह कर अपने सच्चे और साफ मन होने का और सबूत दे दिया. क्या भाभी का सेक्स करने का दिल कर रहा है?मैंने पूछा- अब सर का दर्द कैसा है आपका?भाभी बोलीं कि अभी हो रहा है. मुझे भी आज समझ आ गया था कि दोनों चाची मेरे लंड का कचूमर निकाल कर ही रहेंगी.

गीत ने पास खड़ी नेहा को धक्का देकर हमारे बीच गिरा दिया और साथ ही गीत बोली- मज़ा पूरा आना चाहिए इसे, नहीं तो मैं नहीं चुदवाने वाली सालों हा हा हा।गीत की इस बात का जवाब संजय ने दिया- पहले कौन सा हमने कम मज़ा दिया है?हम दोनों के बीच बेड पर सेट होती हुई नेहा बोली- ये तो है, आप के साथ एन्जॉय करके मज़ा बहुत आता है.

वो शर्माने लगी और छुड़ाने लगी लेकिन मैंने उसकी चूचियों को जोर जोर से दबाना शुरू कर दिया. मगर बिना लंड चुत के ये सब कितनी देर तक मजा देता!अब मुझे रश्मि की चूत को चोदना ही था. कुछ देर यूं ही उनसे बात करते करते मंजिल आ गई और मैंने मौसी को उस मॉल के पास छोड़ दिया, जहां मम्मी ने बोला था.

सेक्सी फिल्म देखने वाली हिंदीतो दोस्तो, मैं अपनी मैरिड गर्लफ्रेंड को कैसे दोबारा सेट करूं? ताकि मेरी इच्छा पूरी हो. तभी बड़ी चाची मुझसे बोलीं- उस कैफे में रोज जाते हो … या आज मुझे देखने ही आए थे?उनकी बात सुनकर मैं तो सकपका गया और बिना कुछ जवाब दिए कमरे से बाहर चला आया.

सेक्सी किल्पा

अभी भी मेरा मुँह बन्द था, पर होंठ ढीले थे … जिसे कविता बड़े चाव से चूस रही थी और बार बार अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर डालने का प्रयास कर रही थी. निशी ने बोला- देख बॉयफ्रेंड नहीं बदल सकती … तो किसी और से सेक्स कर ले. काव्या ने अपने होंठों को दांतों से काट लिया और वो खुद के उरोजों को दबोचने लगी, साथ ही निप्पल को उमेठने लगी.

अब कविता ने घुमा फिरा कर मुझे अपनी बातों में फंसाने की कोशिश शुरू कर दी. मन तो बहुत कर रहा था विजय के पास जाने का लेकिन यह खतरा मैं यहां मोल लेना नहीं चाह रही थी. मैंने उसकी गांड पर हाथ रखे हुए ही उसके चेहरे पर एक शरारत भरा चांटा मारा.

मुझे भी अपनी क्लास के दूसरे सेक्शन का एक लड़का धीरे धीरे अच्छा लगने लगा और फिर बहुत अच्छा लगने लगा. क्या बोलते हो?इस मैंने कहा- हां, अच्छी बात है, इसमें मुझे क्या ऐतराज हो सकता है. बेटा गुड्डू अब इसे छोड़ना नहीं है … आज इसकी चुत तो गीली कर ही दे, इसको अपनी याद में चुत में उंगली करने पर मजबूर कर दे.

मेरी हमेशा से एक ही इच्छा थी कि मैं आदमी की तरह अपने पति को चोदूं … पर वो निठल्ला कभी काम ही नहीं आया. वो मुझसे पूछने लगी- आप कहां चले गए थे?मैंने उसे लेटे लेटे ही पास आने को बोला, क्योंकि हम दोनों के मुँह पर मास्क लगा होने के कारण बोलने के लिए जोर से बोलना पड़ रहा था.

गीतिका बोली- हाय राज, कितनी बेदर्दी से चोद रहे हो तुम मुझे, मैं तो जिंदगी में पहली बार इस तरह से चुद रही हूँ, कभी भी नहीं सोचा था कि मेरी ऐसी चुदाई कभी होगी?वो अपने मुंह से तरह- तरह की आवाजें निकलती रही.

अब आगे की पब्लिक सेक्स:करीब दस मिनट की लंड चुसाई के बाद अनीता सर को पीछे ले गयी और अपनी दोनों टांगों के बीच मेरे पैर ले लिए. सेक्सी नंगा सीन सेक्सीमर्दों को इतना मजा देती हो, मैंने आज तक किसी औरत को इतना डूब कर मजा देने वाली औरत नहीं देखी. 3 लोगों की सेक्सी वीडियोमैं घर के अन्दर गया, तो भाभी मेरे करीब आकर पूछने लगीं- मैं आपको पहचान नहीं पाई, आप कौन है?मैं बोला- मैं आपका पड़ोसी हूँ. मैंने अपना लंड बाहर निकाला और दोबारा गीतिका की चूत के ऊपर पोजीशन लेकर एक ही झटके में उसकी मुलायम, फूली हुई गोरी चूत के अंदर लण्ड दे मारा.

जयपुर पहुंचने से पहले एक बार मेरी गोद में आ जाओ और मेरे लण्ड को चैन दे दो!मुझे भी पता था कि जयपुर पहुंचने के बाद काफी समय तक विजय का लण्ड नहीं मिल पाएगा.

मैंने कहा- तुम दोनों इकठ्ठे बाहर जाओगे तो किसी को शक हो जाएगा इसलिए एक एक करके बाहर जाओ. अगली बार की मैडम की चुदाई की कहानी में लंड चुत की रंग रेलियां आपके तन बदन में आग लगा देंगी. एक रांड मेरे लंड के सुपारे को मुँह में लेकर चूस रही थी, तो दूसरी मेरे आंडों को चूसने में लगी थी.

पिक भेजने के बाद उन्होंने मुझसे पूछा- आपका मेरे बारे में क्या ख्याल है?मैंने कहा कि आपकी उम्र तो 40 के आसपास लगती है. ये सेक्स स्टोरी मेरी और मेरी आंटी की है … जो उम्र में मुझसे 7 साल बड़ी हैं. अब बातें मत करो, मेरी चूत तड़प रही है … जल्दी से अपना लंड चुत में डाल दो.

सेक्सी एकस

मैंने कहा- आपको पसंद आया या नहीं?आँटी बोली-पसंद तो बहुत आया, परंतु तुमने तो मेरी नई पैंटी ही फाड़ दी. जब भी वो फार्म हाउस पर जाती है, ननद और देवरानी के साथ मिलकर उनसे ही चुदवाती है. वो झुंझला कर बोली- मैं तुमसे बात कर रही हूँ और तुम हो कि किताब में व्यस्त हो.

मैं कुछ देर बाद उठ कर बैठ गया क्योंकि मैं दूसरी बार ऐसे ही झड़ना नहीं चाहता था.

दादी की उम्र करीब 60 साल थी और कद काठी लगभग मल्लिका जैसी ही थी और रंग बहुत साफ था.

निशु बोला- हम दोनों तुम्हारे पहले बाल हटाएंगे … फिर साथ में नहाएंगे. गाना बजना शुरू हो गया और वापस आते हुए मौसी ने कमर लचकानी शुरू कर दी. भाभी ओपन सेक्सीजब वो उठी और कपड़े बदलने लगी तो मुझे उसकी पैंटी की एक झलक मिल गयी थी.

मैंने खुशी को खुद से अलग किया और चलने लगा था … तो पायल ने मुझे रोक कर फोटो खींचने के लिए कहा. चूंकि मैंने उन्हें पहले ही बता दिया था कि आपको मेरे वहां ठहरने का इंतजाम आपको ही करना है. मैं- अम्म् हां … वैसे आपके घर में और कोई नहीं है?वो- नहीं, बस सास ससुर थे मगर वो शादी से पहले ही चल बसे थे.

मैंने नेहा के होंठों को अपने होंठों में लेकर उसकी चूत को अपने लंड से स्पीड से चोदना शुरू कर दिया और ऊपर से संजय भी उसके चूतड़ों पर चपत लगाता हुआ उसकी गांड को चोद रहा था. रात के तकरीबन 10:30 से 11:00 के बीच का समय हो चला था, जब मैं आबू रोड पहुंचा.

मगर मैं झड़ना नहीं चाहता था इसलिए पांच मिनट के बाद ही मैंने उसको रोक दिया.

मैं- हाईय शशि … तुम्हारा बदन भी तो मस्त है जानेमन … कितनी गोरी हो तुम, मस्त चुचे है तुम्हारे और चूतड़ों की तो पूछो ही मत … तुम्हारी चूत में लंड जा रहा है, ऐसा तो लग रहा है, जैसे बस यही जिंदगी है. अब आगे इस तरह की चुदाई किस तरह कर पाऊंगी, ये सोच कर ही मुझे रोना आ गया. तो क्या हुआ?मैंने उसे बताया कि कुछ कारण हो गए हैं इसलिए आज वहां नहीं जा पाएंगे.

सेक्सी वीडियो मोटी मोटी चूची वाली उसके बाद मैंने भी उनके बदन पर हाथ फेरना शुरू कर दिया और अपने पसंदीदा मम्मों को धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया. रिया ने झुक कर अपनी गांड को रमेश के सामने कर दिया और गांड का छेद खोल कर रमेश को दिखाने लगी.

तो वो बोले- ये क्या कर रही है शाकुफ़ा?मैं बोली- आपने कसम दी थी कि मुझे वैसा ही लड़का लाकर दोगे. विजय ने जाने से पहले अंतिम बार मेरी गांड भी मारी … और मेरे हर छेद में अपना लौड़ा घुसा घुसा कर मेरी हर छेद की चुदाई की. वो अपने पति और सास-ससुर के साथ रहती थी परन्तु अब उनकी अपने पति के साथ उतनी बनती नहीं थी.

सेक्सी व्हिडिओ कटिंग

उसने मेरी टांगों को और चौड़ा कर दिया और अब मेरी चूत का मुंह पूरा खुल चुका था और उसका लौड़ा सटासट मेरी चूत को चोद रहा था. फिर बाथरूम में जाकर वो अपने गीले कपड़े उतार कर एक टी-शर्ट और लोवर पहन कर कमरे में आ गईं. मैं मन ही मन खुश होकर ऊपर आ गया और गीतिका की चूत सारी रात चोदने को मिलेगी, यह सोच सोच कर रोमांचित हो रहा था.

मैंने पानी लाकर टब में सामान्य तापमान पर किया और टब में मामी को बैठा कर उनकी गांड की सिकाई की. ये मौका देख कर कविता ने जबरदस्ती मेरी नाइटी खींच कर मेरी टांगों से निकाल मुझे पूरी तरह से निर्वस्त्र कर दिया.

एक दिन बाद ही मैंने एप को अपने फोन में इंस्टाल किया और रूम बुक कर लिया.

भाभी ने अपनी जीभ से सारे लण्ड को जड़ तक साफ किया और बोली- ऐसे साफ करते हैं इन चीजों को!मैंने भी तुरंत भाभी को बेड पर सीधा लिटाया और उन्हीं की तरह ही उनकी चूत को खोल कर चाटने लगा. अनीता बोली- फूफाजी, अगर आज आपको ऐतराज नहीं हो, तो मैं आपकी चुदाई करूं?मैं सोच में पड़ गया कि यह औरत है … आदमी की कैसे चुदाई करेगी. फिर जैसे ही उन्हें होश आया कि मेरा हाथ उनकी चुत को छू रहा है, वो आह भरती हुई मुझसे छूटने की कोशिश करने लगीं.

मुझे गेस्ट हाउस में सोने का बिस्तर पर सोने को बोल कर अनीता चली गयी. फिर अपनी उंगली से चूत को फैलाया और फिर मेरी चूत में जीभ देकर चाटने लगे. वरना आज मुझे यूं ही सोना पड़ता क्योंकि आज रंजुमुनी की पेलने की बारी है।बिना समय गंवाए हम दोनों भाई रीना के पीछे एक एक कर के कमरे के बाहर निकल आए और फ़िर ताला लगा दिया।बुआ के बेटे के साथ मैं बुआ से मिलने पहुंचा तो बुआ पर नींद की गोलियों का असर साफ दिख रहा था.

मैंने उससे कारण पूछा, तो उसने उत्तर दिया कि अभी कुछ खेल और बाकी है.

जतारा की बीएफ: भाभी के मुँह से खुले आम चुत और मम्मों जैसे शब्द सुने तो मैं भी खुल गया. उन भैया को मैं जानता था लेकिन भाभी को पहली बार देखा था।भाभी इतनी खूबसूरत थी कि जैसे चांद की चांदनी को अपने में समेटे हुए हो। वो गहरे हरे रंग की साड़ी पहने हुए थी.

जिस दिन घर में कोई नहीं होगा उस दिन मैं तुम्हारी चूत का उद्घाटन करूँगा. मैंने उस गर्म सेक्सी भाभी की प्यास कैसे बुझाई?दोस्तो, मैं अंश एक बार फिर से आप सभी पाठकों का स्वागत करता हूं. अब मैंने पूछा- भाभी आपने मेरी झूठी कॉफी क्यों पी?भाभी बोलीं- झूठा पीने से प्यार बढ़ता है.

अरे ये तो भाभी जी हैं!मैं अब हड़बड़ा के वापस मुड़ने वाला था पर भाभी ने ही तुरंत कह दिया- अरे रूको भी … हमसे इतना भी क्या शर्माना?अब वहाँ वैसी ही स्थिति में रूकना मेरी मजबूरी हो गई थी.

उनका जवाब आ गया- बस हो गई आपकी पसंद खत्म!मैं- नहीं भाभी, मैं आपको हमेशा पसंद करता था … और करता रहूँगा पर आपको मंज़ूर नहीं है, तो मैं कर भी क्या सकता हूँ. नहीं तो मेरे साथ पैदल चलो, रास्ते में बातें भी होती रहेंगी और आज तो धूप भी नहीं है … शायद बारिश आएगी. ऐसी मद भरी अंगड़ाई जो मुर्दे को भी उठा दे!मेरा लंड खड़ा हो गया!उसे देखकर वो मुस्कुराने लगी!मैं- क्या हुआ?ज़ारा- साहब सलामी दे रहे हैं!मैं- इसे तो सलामी देनी ही पड़ेगी! तुम इस घर की मल्लिका जो ठहरीं!ज़ारा- तो इन दो प्यार करने वालों को मिला देते हैं!अपनी चूत पर उंगली रख कर बोली और बिस्तर पर चढ़ने लगी.