हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो

छवि स्रोत,आजा सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

સેક્સી વિડઓ: हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो, घर आते ही पापा का एक ही सवाल होता था- डिनर किया?मैं भी हां या ना में जवाब दे देता था.

बीपी हॉट वीडियो

करीब 2-3 मिनट बाद जब मंजू पूरी तरह से सुरक्षित महसूस कर रही थी कि मैं उसके साथ कोई गड़बड़ नहीं करूंगा, तो वो आराम से लंड के साथ खेल रही थी, उसे चूस रही थी. भोजपुरी बुर चुदाईगचागच दीदी की चूत चुदाई हो रही थी और दोनों को ही पूरा मजा मिल रहा था.

मैंने भी हंस कर जवाब दिया कि हां आपको जब भी मेरी जरूरत हो, आप मुझे बता देना. ब्लू फिल्म सेक्सी मूवी वीडियोमैंने सोचा कि ये दीवार कहां से आ गयी? मैंने देखा तो सामने एक 35-40 साल का बाऊंसर था.

फिर मैंने भाभी की चूत में जीभ दे दी और मस्ती में उनकी चूत को चाटने और चूसने लगा.हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो: उसका लौड़ा मेरी गांड में अंदर तक जा फंसा और अगले ही पल उसके लंड में हल्के झटके लगते हुए मुझे महसूस हुआ कि मेरी जलती हुई गांड में कुछ गर्म गर्म गिर रहा है.

हमने एक दूसरे की हाथ की उंगलियों को आपस में फंसा लिया था।ऐसे ही चोदते चोदते वह मेरे होंठों पर किस करने लगा। उसने मेरे होंठों को अपने होंठों के अंदर ले लिया। कभी वह मेरे बूब्स को चूसता और दबाता, फिर कभी मेरे सारे जिस्म पर अपना हाथ फिराता.आपको भाभी के साथ हुई ये चुदाई की कहानी पसंद आई या नहीं? मुझे अपना प्यार देना न भूलें.

xxx videos मराठी - हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो

मैंने कहा- ठीक है भाई, आप आराम से जाओ … फिक्र की कोई बात नहीं है … मैं ध्यान रखूँगा.हम लोगों के प्लान के मुताबिक शाम को पापा आज मम्मी की चुदाई करने के लिए तैयार हो गये थे.

कल तो मैंने एक ही बार चुदाई से संतोष करना पड़ा था लेकिन आज मैं मौके का पूरा फायदा उठाना चाह रहा था. हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो करीब 2-3 मिनट बाद जब मंजू पूरी तरह से सुरक्षित महसूस कर रही थी कि मैं उसके साथ कोई गड़बड़ नहीं करूंगा, तो वो आराम से लंड के साथ खेल रही थी, उसे चूस रही थी.

अपनी दोनों टांगों को चौड़ी करके मैं पिक्चर देखने लगी और वो लड़की मेरीचूत की पिक्चरदेखने लगा.

हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो?

और देखते ही देखते लंड को अम्मी की चूत में पूरा उतार दिया और जोर जोर से धक्के मारने लगा. वहां पर पहुंच कर मैंने दो टिकट ले ली मगर दोनों ही लेडीज के नाम से ली. तो मेरी सलहज ने रोते हुए अपनी सारी कहानी सुनाई और कहा कि अब उसका पति अर्थात आपका साला मुझ पर कोई ध्यान नहीं देता और बच्चा होने के बाद से पिछले एक साल से उसने मेरी चुदाई भी नहीं की है … मैं तड़पती रह जाती हूँ.

मैंने सोचा कि थोड़ा चांस तो लेना पड़ेगा … नहीं तो हाथ कुछ नहीं लगेगा. उसकी चूचियों पर किस किया और उसके बूब्स को पीते हुए उसको बेड पर लिटा लिया. मैंने सोचा क्यों न भाभी से थोड़ी बात कर लूं … हो सकता है कि उससे शायद उनका मन कुछ हल्का हो जाए.

निकलते ही मैंने उसे पास करते हुए बोला- मुझे कुछ करना है।उसने पूछा- क्या करना है अब तुझे?मैंने बोला- तुम्हें गले लगाने का मन कर रहा है।वो बोली- ओह्ह, तो फिर यहां खुले में लगायेगा क्या? यहाँ नहीं. कुछ देर बाद साले साब किसी काम से चले गए और मैंने भाभी से बातों का सिलसिला जारी रखा. फिर अंजना मेरे लंड को लंड चूसने लगी और मेरा लंड की जोर-जोर से मुठ मारने लगी.

जैसे ही मामी अन्दर आईं, मैंने उन्हें बांहों में जकड़ लिया और किस करना शुरू कर दिया. यह मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था, जो मुझे इशारा कर रहा था कि आओ और मेरे चूचों को रगड़ रगड़ कर मुझे चोद डालो.

जिया मेम ने उस पर्ची को खोला और उसको खोल कर हम दोनों के सामने कर दिया.

मुझे माँ बेटा का सेक्स कहानी पर आप लोगों के फीडबैक का इंतजार रहेगा.

मनोहर को मैं भी पसंद करती थी इसलिए जब उसके होंठ मेरी चूचियों को चूस रहे थे तो मुझे भी उस पर बेपनाह प्यार आ रहा था. मेरी चालू बीवी धीरे धीरे अपने कपड़े उतारने लगी और पूरी तरह नंगी होकर बिस्तर पर लेट गई. अपने पैर मैंने उसके पैरों पर रख दिये तथा अपने हाथ से उसके स्तनों के साथ खेल करने लगा।मिनी और मैं इसी तरह लेटे बहुत देर तक बातें करते रहे।उसने मुझे अपने परिवार के बारे में बताया.

एक दिन मेरे सर में दर्द हो रहा था, तो मैं कमरे पर ही था, काम पर नहीं गया था. भाभी ने अपने हाथ से लंड पकड़ कर कहा- ये पैन्ट में क्या रखे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं है … उस पर आप मेरा मफलर डाल दो और आप आराम से सो जाओ. जब जब मौसा की जीभ मैडम की चूत में जाती थी तब तब वो मेरी चूत को भी जोर से चूसती थी.

मंजू अब मेरा लंड लंड चूसने लगी और करती रही … और जब तक मेरे लंड ने पानी नहीं छोड़ दिया और जिसे वो पी नहीं गई, तब तक उसने मुझे चैन नहीं लेने दिया.

पति ने पूछा- क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं, रात में पैर में थोड़ी मोच आ गयी. हम लोग कितना खुल चुके थे, इस बात का अन्दाज आप इस वार्तालाप से लगाइये कि एक बार रात को करीब 12 बजे ललिता का फोन आया- क्या कर रहे हो, विजय?सच बताऊं?”हाँ, बताओ. माँ ने कहा- ठीक है लेकिन ये बेल्ट मत मारो प्लीज।वो आदमी बोला- ठीक है, नहीं मारेंगे जानेमन.

गांड चुदाई का मौका मुझे मिला था लेकिन इससे ज्यादा खुशी तो आकाश सर को हो रही थी. मैं उसका लंड लेने के लिए तैयार नहीं था और वो मेरी देसी गांड लेने पर उतारू था. वहां पर एक रिक्शावाले के साथ में मजाक मस्ती करने लगी और बातों बातों में मेरी चूत की प्यास जाग गयी.

एक बार फिर से भाभी की आनंद भरी सिसकारियों में दर्द की कराहटें भी शामिल हो गयीं.

मैंने पूछा- कौन सी शर्त?तो उसने कहा- अब तुम बिना कंडोम के चोदोगे … तभी करूंगी. हाइट 5’9” है और लंड का साइज 6” है। मैं बहुत शर्मीला टाइप का बंदा हूं.

हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो धीरे धीरे निशा की चूत के करीब पहुंचता जा रहा था मेरा हाथ और इसी फीलिंग के कारण मेरे लंड का बुरा हाल हो चुका था. मैंने उन्हें अपनी तरफ खींच लिया और टेबल पर बैठा कर उनकी चुत को चूसना चालू कर दिया.

हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो आपका शरीर तो जैसे किसी परी का है, अगर आपको बुरा न लगे तो क्या मैं आपको देख कर मुठ मार लूं?मैंने उसकी इस बात का कोई जवाब नहीं दिया और उसने शायद मेरी खामोशी को मेरी हां समझ लिया. मुझे उनकी मुस्कुराहट में कुछ रहस्य सा लगा, तो मैंने मौसा जी की तरफ देखा.

रिसेप्शन का कार्यक्रम शहर के प्रतिष्ठित होटल में किया गया था, जहां प्रति व्यक्ति 1600 रुपये की दर से मैंने भुगतान किया था.

सेक्सी सुहागरात सुहागरात

तुम बहुत सेक्सी भी हो और हॉट भी और सुंदर तो हो ही … मिनट भर भी नहीं लगेगा. दीदी- आकाश, ये तुम क्या कर रहे हो?जीजा जी- तुम भाई बहन की चुदाई की फिल्म बना रहा हूं. मैंने कहा- अगर ऐसा है, तो जब आपकी सास और पति जाएं, तो मुझे उनके जाते हुए की फोटो लेकर भेज देना.

फिर मैं बोला- चलो जो हुआ सो हुआ, अब पुरानी बातों को दोहराने से फायदा नहीं. इस पर पिंकी हंसने लगी और अपने हाथ से मेरे उभरे हुए लंड को सहलाने लगी. गुड़िया बुआ लंड चूसने में बहुत एक्सपर्ट मालूम पड़ रही थीं और बहुत अच्छी तरीके से लंड चूस रही थीं.

मैं- अरे आप भी क्या बोल रही हो आंटी … मैं सबको थोड़ी ही करता हूँ? मैं तो बस आपके आराम के लिए ये सब कर रहा हूं.

मुझे भी सुमित के होंठों को चूसने में मजा आने लगा और मैं उसकी लार को अपने मुंह में खींचने लगी. आकाश अब सामने कुर्सी पर बैठ गया और मुझे अपनी बीवी की चूत चाटते हुए देखने लगा. अगले दिन मैंने पिंकी को बोला- चलो पिंकी, आज तुम्हारे बाल डाई करते हैं.

अंततः वह दिवस भी आ गया जब पिताजी मुझे अपने वाहन में बैठा कर अध्यापक जी के निवास पर लेकर गए. मैं भी उनकी चुत के झड़ने से जरा हैरत में आ गया कि इनका रस इतनी जल्दी कैसे निकल गया. उसने अपने अंडरवियर को भी उतार दिया और वो नंगा होकर फिर से मुझ पर टूट पड़ा.

वो मेरे कान के पास आकर धीरे से बोलो- आज कुछ ज्यादा ही माल था … मेरा तो पेट भर गया, मुझसे कुछ ना खाया जाएगा. मेरा एक हाथ पूजा की कमर पर और एक पैर पूजा की जांघ पर था और मेरा लन्ड पूजा की चूत पर था.

तभी अचानक से पर्दा हटा और वही भाभी मेरी बर्थ पर लेटने के लिए अन्दर आ गई. एक दिन ऐसे ही हम फ़ोन पर बातें कर रहे थे और उसने मुझे अपने रूम में आने को बोला जो कि मेरे रूम से ऊपर वाले फ्लोर पर था. इसी तरह कुछ देर तक करते रहने के बाद अब उसने कमान और मोर्चा संभाला और मेरी फ्रेंची को नीचे सरकाते हुए उतार दिया.

फिर मेरा ब्लाउज़, ब्रा, मेरी साड़ी, पेटीकोट, कब उतार दिये गए, मुझे कुछ पता नहीं।मैं बिलकुल नंगी सोफ़े पर फैली पड़ी थी और राजेश जी मेरे मम्मों को निचोड़ते, मेरे निप्पलों को मसलते। मेरी चूत के दाने को कभी काटते तो कभी चूस जाते।शादी के 10 साल बाद ये नया अनुभव मेरे लिए अकल्पनीय था।बड़ी मुश्किल से 4-5 मिनट ही मैं टिक पाई.

मॉम- मंजू, क्या बात है, आज तुमने कुछ भी नहीं खाया, ऐसा करना तू टिफिन ले जा, घर जाकर खा लेना. चाहे वो ब्वॉयफ्रेंड के साथ चुदाई हो या फिर अपने ही सगे भाई के साथ चुदाई हो. मैंने कहा- हां क्यों नहीं … बिल्कुल तुमको तुम्हारी प्यास शांत करने वाले कई मर्द मिल जाएंगे.

तो उन्होंने मेरा हाथ हटा दिया और खड़े होते हुए बोलीं- ये गलत है … तू मेरे बेटे का दोस्त है … और उम्र में भी मुझसे बहुत छोटा है. एक दिन कार में बैठे हुए उसने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया और छेड़ने लगा.

आंटी ने अपनी फ्रेंड से कहा- यही है वो … जिसके आने का मुझे इन्तजार था. चूत चुदवाने के बाद मजा तो बहुत आया लेकिन उसके मोटे काले लंड ने चूत में दर्द भी कर दिया और गांड का बाजा भी अच्छी तरह से बजा दिया. करीब दस मिनट के बाद आंटी चाय लेकर आईं, हम सभी ने बातचीत करते हुए चाय पी.

योगा वीडियो सेक्सी

फिर उसे अपने दांतों से खींच लिया और उसकी देसीचुत नंगी होती चली गयी.

इस तरह से उस रात हम दोनों ने सारी रात सेक्स फोरप्ले किया मगर चुदाई नहीं हो पाई. लेकिन मैंने जब एक झटके में लंड चुत के अन्दर घुसाया, तो मामी समझ गई कि मैं मामा नहीं हूँ. तब जीजा जी दीदी के पास लेटे हुए कैमरे में रिकॉर्ड की हुई भाई बहन की चुदाई फिल्म को चैक कर रहे थे.

मैं सुनकर खुश हो गया और पापा को उल्टा लिटाकर उनकी गांड में लंड देकर चोदने लगा. फिर वो मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों पर लिप लॉक करके मुझे चूसने लगा. ब्लू पिक्चर सेक्सी बिहारफिर थोड़ी देर तक हम दोनों ने साथ में उनके पति को ढूंढा, पर वो नहीं मिल सके.

मैं एकदम एक चौधरी आदमी हूं और किसी की गुलामी करना मुझे पसंद नहीं है. पांच दिन में जी भर के उसकी जवानी का रस पी लिए थे और फिर उसे उसके घर पहुंचा दिया था.

मैं खड़ा होकर उसे देखने लगा।उसने कहा- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- सच कहूँ तो ऐसा फिगर सिर्फ बॉलीवुड ही रख सकता है. करिश्मा भाभी ने अपने हाथ से मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से हिलाना शुरू कर दिया था. उसके बाद मैंने वहां पड़े एक प्लास्टिक की तिरपाल को नीचे बिछा दिया और उस पर नंगी मोसी को लेटा दिया.

वो दोनों हाथों से मेरा सिर दबाते हुए मेरे होंठों को अपनी चूत पर दबाने लगी. मैंने कहा- बताइये मामी, आप क्या खायेंगी?वो बोली- घर से खाकर आई हूं. फिर मैंने अपने लंड को उसके मुँह से बाहर निकाला और उसकी रसीली चूत को चूसने का मन बना लिया.

मगर मैंने अपनी गांड को जोर से भींच लिया ताकि उसका लंड अंदर न जा सके.

तो दोस्तो, मेरी जान के होंठ इतने सुर्ख़ और नर्म हैं कि एक बार छू लूं तो हटाने का मन नहीं करता है। स्तनों की बात तो क्या करूँ आपसे … उसके स्तनों की गर्मी ऐसी है कि उसको गले लगाते ही सीना गर्म होने लग जाता है. एक तो मीठे दर्द में लिपटी हुई आह आह आहा … जो उसके मुंह से आ रही थी.

इरोटिक ब्लोजॉब सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपने बदन की मालिश कर रहा था और हमारी नौकरानी ने मेरा खड़ा लंड देख लिया. आखिर वो पल आ ही गया था जिसके बारे में सोच सोच कर मैं पिछले 6 घंटे से परेशान था. मंजू ने अपने होंठों को भी कस लिया था … इससे मेरा लंड कसा कसा सा महसूस होने लगा था.

उस दिन के बाद से हम दोनों मां के सामने चुदाई करते रहते थे और मां देख कर चली जाती थी. एक दिन आंटी कपड़े फैलाने के बाद मेरे रूम में आई तो मैं रजाई में नंगा लेटा हुआ था. ये सुनकर मैंने लंड निकाल लिया और उसी पल दीदी मेरे सामने घुटने के बल बैठ गईं.

हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो पहले ही दिन मैंने सोच लिया था कि आज बहन की चूत को एक बार तो जरूर छूकर देखूंगा. वो शायद आपस में एक दूसरे को होंठों को चूस रहे थे या फिर जिस्मों को चूम रहे थे.

सेक्सी वीडियो आलू

मैं चाहता हूँ कि हम दोनों दो दोस्तों की तरह खुल कर हर एक बात कर सकें। जो मैं तुमसे पूछूंगा, तुम भी खुल कर बताना. दोबारा लंड को चूत पर लगाया गया और मौसा ने मेरी चूचियों पर मुंह रख दिया और पीने लगे. मैं समझ गयी थी कि ये तुम्हारे अलावा किसी और का काम नहीं हो सकता है.

मेरी चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मैं मेरी सहेली को डिलीवरी के लिए अस्पताल ले गयी. दीदी- तुम मेरे कौन हो?मैंने कहा- आपका भाई अपनी बहन की चुत चुदाई करना चाहता है. ಹಳ್ಳಿ ಸೆಕ್ಸ್भाई बहन की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मेरी बहन जवान हुई तो उसकी जवानी देख मेरा ही मन अपनी बहन की चुदाई को करने लगा.

मैंने दांतों से पकड़कर उनकी पैंटी नीचे सरका दी और अब उनकी खूबसूरत चूत मेरे सामने थी.

इससे मेरा खुला लंड राधिका के कंधे को छूता हुआ आया और वो एकदम से लंड देखने लगी. वैसे एक लड़की से बात की है जो कि बड़ी ही आसानी से चूत देने के लिए तैयार दिख रही है.

मैं- लेकिन सर आपकी बेटी भी इस सबके लिए राजी थी!पूजा आंटी ने अंजना के बाल पकड़ कर उसे घसीटते हुए बोलीं- बोल रंडी … ये तेरे साथ जबरदस्ती करने आया था!अंजना घबरा गई थी, उसने कह दिया- मॉम, मेरी कोई ग़लती नहीं है … ये मेरे साथ जबरदस्ती कर रहा था … मैं पुलिस को बोल दूंगी. पहले दिन से ही मां ने रघु को अपने ही कमरे में सोने के लिए बोल दिया था. मैं आंटी के पास गया और उनसे कहा- हैलो आंटी … क्या मैं आपकी कोई हेल्प कर दूं?आंटी ने मेरी तरफ देखा और कहा- हां शायद मैं इन दोनों को एक साथ नहीं ले जा सकती हूँ … ये बहुत भारी हैं.

15 मिनट तक आंटी मेरे लंड को मजा लेकर चूसती रही और मैं आंखें बंद करके लंड चुसवाने का मजा लेता रहा.

अब मैं मामी के दोनों मम्मों को एक साथ दबा दबा कर बारी बारी से उनके दोनों निप्पलों को चूस रहा था. मेरी अम्मी की उम्र लगभग 41 साल है लेकिन दिखने में भी 30 साल की लगती है. मैंने सोच लिया कि यह गलत जरूर है, लेकिन अब मुझे दीदी की मदद तो करनी ही होगी.

ಸೆಕ್ಸ್ ತೆಲುಗು ಸೆಕ್ಸ್उसकी आंख बंद हुई तो मैं धीरे से वहां से उठी और आहिस्ता से अपनी नाइटी डाल कर वहां से निकल ली. उसने मुझे अपने से दूर नहीं होने दिया और उस टाइम उसकी आंखों में फिर से आंसू थे.

कॉलेज की लड़कियों का सेक्सी पिक्चर

तब मैंने अपने हाथ से लंड को पकड़ा और चूत के छेद पर रखकर एक जोरदार धक्का लगा दिया और मेरा लंड उसकी चूत को फाड़ता हुआ करीब 2 इंच तक घुस गया. मेरे धक्कों की स्पीड तेज होने के साथ ही जिया की सिसकारियां भी तेज हो गयीं. तभी भाभी ने अपनी ननद को आवाज़ दी- बन्नो, घर नहीं जाना है क्या?फिर मैं स्वीटी को बाथरूम से बाहर लेकर आया.

अमन अभी भी मुझे किस किये जा रहा था और मेरे बूब्स को दबाए जा रहा था. तुमने मुझे बहुत तड़पाया है डिम्पल है, अब और सब्र का इम्तेहान मत लो. कहाँ तो मैं गर्लफ्रेंड की चुदाई के ख़्वाब देख रहा था!मैंने गर्लफ्रेंड के मुंह को अपने हाथ से ढक दिया ताकि उसके चूं-चा बाहर न निकले और सारा खेल बिगड़ न जाये.

नजमा आंटी हमारे घर भी आती रहती थीं और मेरी अम्मी भी उनके यहां आना जाना करती थीं. उसी समय मौसा जी ने नीचे से एक ज़ोर का धक्का मारा तो उनका लंड चूत के अन्दर घुसता चला गया. मैंने हल्का सा झटका दिया तो मौसी थोड़ी कसमसा गयी और बोली- आराम से करना.

मैंने मामी के पास जाकर उनके चूचों पर हाथ रखा, तो मामी की तरफ से कोई भी हलचल नहीं हुई. कुछ देर बाद मैंने अपना 7 इंच का लंड गुड़िया बुआ के मुँह में घुसा दिया.

उनको डिस्टर्ब ना हो इसलिए हम वहां पर योगा प्रैक्टिस नहीं कर सकते थे.

तो दोस्तो, मेरी जान के होंठ इतने सुर्ख़ और नर्म हैं कि एक बार छू लूं तो हटाने का मन नहीं करता है। स्तनों की बात तो क्या करूँ आपसे … उसके स्तनों की गर्मी ऐसी है कि उसको गले लगाते ही सीना गर्म होने लग जाता है. देसी सेक्स करते हुएउनको पोते से पहले एक पोती हो चुकी थी, लेकिन पोता की ख़ुशी कुछ ज्यादा थी इसलिए बुआ ने एक बड़ा कार्यक्रम रखा था. एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो चुदाईललिता का कद पांच फीट, नैन नक्श साधारण, रंग सांवला, दुबला पतला शरीर, आँखों पर मोटे फ्रेम का चश्मा लगा था. मेरी सासू मां की उम्र लगभग 40 के करीब है जबकि लवली के पिताजी यानि कि मेरे ससुर का देहांत हो चुका है.

हमारे पड़ोस में एक नई पड़ोसन आई थी जिसका नाम सुनीता था वो लगभग 35 साल की थी.

फिर मैंने भाभी की गांड पर थूक लगाया और लंड के सुपारे से भाभी की गांड पर दबाव बनाने लगा. कुछ देर बाद आंटी कमरे से बाहर चली गईं, पर मेरी हालत खराब हो रही थी. तो आज मैं अपने जीवन की एक सच्ची घटना लिख रहा हूँ और आशा करता हूँ कि आपको अच्छी लगेगी.

हालांकि शुरूआत मेरी तरफ से नहीं हुई थी लेकिन मैं जानता था कि भागीदार तो मैं भी था. तो मैंने आंटी की चुत से लंड निकाला और उनकी सहेली की चुत में पेल दिया. मेरे पिताजी व अध्यापक जी आपस में वार्तालाप करने लगे और मुझे ऊपर वाले कक्ष में बैठाकर मेरे सामने टीवी चला दिया गया.

सेक्सी बफ जाने वाली

मैंने आंटी से लंड चूसने का कहा, तो नीचे बैठ कर आंटी लंड चूसने लगीं. मैं एक स्कूल टीचर हूँ और अन्तर्वासना की बहुत बड़ी प्रशंसक हूँ और कई वर्षों से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ रही हूँ. मैंने उनको आराम करने के लिये कहा और खुद किचन में जाकर अपने लिये खाना निकाला.

अब इन लोगों ने पैंटी के अंदर के सारे बाल पहले शेव कर दिए।उसके बाद थर्मोलिसिस मशीन को हर जगह लगा लगा कर उन्होंने मेरी पूरी जगह को चिकना बना दिया.

कामुक आवाजें निकालते हुए वो कुछ देर चुदी और फिर मैंने उसे घोड़ी बनने के लिए कह दिया.

अन्तर्वासना सेक्सी हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि कोचिंग के लिए मैं अंकल के घर रहने लगा. इतना बोल कर उसने एक धक्का लगाया और मेरी आह्ह करके चीख निकल निकल गयी. चुदाई सेक्सी हिंदीफिर मैं दीदी को किस करने लगा और किस करते हुए उनके मम्मों भी मसल रहा था.

पंकज ने आव देखा न ताव उसने अपनी पैंट को ऊपर किया और शर्ट को हाथ में लेकर सरपट भागा और दूसरी ओर से निकल गया. गाड़ी में बैठते वक्त अम्मी पीछे बैठने लगी लेकिन मनोज ने कहा- भाभीजान, आप आगे आ जाओ, सुनीता को पीछे बैठने दो. तभी उसने मेरी लैगी निकाल दी और फिर मेरी गीली पैंटी के ऊपर से चुत को चाटने लगा.

लेकिन पता नहीं क्यों उसे छोड़ने का दिल नहीं कर रहा था मेरा … और शायद वो भी नहीं चाह रही थी कि मैं जाऊँ. मैंने किचन में आंटी के दूध कसके पकड़ लिए और उनके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

मैंने भी कहा- मेरा तो सब ठीक चल रहा है भाभी जी … पर आप बताइए … आप बड़ी दुखी लग रही हैं … और दोपहर को जब मैं घर आया था, तो घर का माहौल भी दुखी सा लग रहा था.

उसने मां की गांड पर लंड को रगड़ना शुरू किया और उसके छेद पर सुपारे को हल्का हल्का अंदर धकेलते हुए मां की गांड के छेद की मसाज करने लगा. वो अब भी मेरे जिस्म को चूम रहा था।उसने मुझे उल्टा किया और मेरे बदन को पीछे से चूमने लगा. मगर उसका फोन आया था कि काम बन गया है और उसे उधर पन्द्रह दिन रुकना पड़ेगा.

ಕನ್ನಡ ಫುಲ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ उसके बात करने का अंदाज ऐसा था कि उसकी बातों को सुन कर लग रहा था कि वो लड़कियों को इम्प्रेस करने की कोशिश कर रहा है. अब अंजना ने बेड के नीचे से एक बैग निकाला और उसमें से एक रस्सी निकाली और मेरे दोनों हाथ कुर्सी के हत्थों से बांध दिए.

मेरा एक हाथ पूजा की कमर पर और एक पैर पूजा की जांघ पर था और मेरा लन्ड पूजा की चूत पर था. अमन अभी भी मुझे किस किये जा रहा था और मेरे बूब्स को दबाए जा रहा था. जैसा कि आप मेरी कहानी के पिछले भागदुनिया ने रंडी बना दिया-4में पढ़ा कि जब मैं फ्लैक के अंदर पहुँची तो मुझे पता चला कि मुझे सात लोगों से चुदना पड़ेगा। खैर, इसे लालच कहें या मेरी अन्तर्वासना, मैं चुदने के लिए तैयार हो गई।हम सबने साथ में खाना खाया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर मूवीस

प्रिया आयी, तो प्रीति ने उससे पूछा- तुमने ऐसा क्यों किया मेरे साथ?प्रिया ने बड़े प्यार से जवाब दिया कि मैंने भी सोनू ने मजे लिए, मगर मैंने कभी ये नहीं सोचा कि अगर मैं कभी बदनाम हुई … तो इसे फसाऊँगी. सुभाष ने कहा- बोल क्या बात करना है?मैंने पूछा- सुभाष भईया, अमिता यहां है क्या?उसने मुझे घूरा और कहा- यहां क्यों होगी?मैंने डरते डरते उससे कहा- पिछले महीने आप उसे मेरे घर से ले आए थे और पांच दिन बाद उसे उसके मायके छोड़ने गए थे. मेरा चिकना लंड तैयार था उसकी गांड मारने के लिए … मैंने उसे घोड़ी बनाया, उसकी गांड पर लंड रखा.

मेरे बड़े बड़े मम्मे और बड़ी गांड मेरी मचलती जवानी को साफ जाहिर कर रहे थे. वो नंगी ही बैठी हुई थी और उसके पैरों के बीच में से यूरिन गिरने लगा था, जिसके फर्श पर गिरने से अजीब सी आवाज आ रही थी.

पापा बोले- इतने सुन्दर माल की चुदाई जब आंखों के सामने हो रही हो तो कौन नहीं मुस्कराएगा.

मैंने कहा- बेटा जब मैंने पहली बार तेरी चूत की सील थोड़ी थी, तब भी तो दर्द हुआ था. फिर मुझे बेड से नीचे बिठाया गया और तीनों ने अपने लंड मेरे मुंह में ठूंसना चाहा. वो डर गयी और बोलीं- नहीं राजा … तुम्हारा लंड इतना बड़ा है, मैं गांड में नहीं ले सकूँगी … मेरी गांड फट जाएगी आज तक मैंने तुम्हारे मामा से भी कभी गांड नहीं मरवाई है … नहीं नहीं … मैं गांड में लंड नहीं लूंगी.

मैंने कहा- अरे होटल में क्यों रहना … आप बुरा ना मानो, तो आप मेरे घर में रह सकती हो. आंटी मस्ती से मुझे देखते हुए मेरे लंड को अपने हाथों से सहला रही थीं. उनके लंड चूसने से मेरे मुँह से कराह निकलने लगी- आह ममता रानी … और जोर से लंड चूसो.

मैं चाची के घर पहुंचा, तो उन्होंने मुझे प्यार से गले लगाया और अपने कमरे में ले गईं.

हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियो: गोरी गोरी जाघें … और चूसने लायक रसील होंठ … बड़ी बड़ी आंखें … लम्बे और घने बाल. उस दिन के बाद से पापा के साथ मेरी अच्छी दोस्ती हो गयी और अब जब भी मौका मिलता है हम दोनों एक दूसरे के साथ खूब गे मैन सेक्स करते हैं.

प्रिंसीपल सर का डर क्यों था ये आपको इस सेक्स कहानी में आगे पता चल जाएगा. मेरे लंड को हैरानी से देखते हुए वो बोली- हाय… इतना बड़ा भी होता है क्या किसी का?ये कह कर भाभी ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और उसको लॉलीपोप की तरह चूसने लगी. इस पर अम्मी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं देती थी क्योंकि उन्हें सिर्फ जनाजे के लिए जल्दी पहुंचना था.

वो पूरे जोश में लगी थी, लंड चुसाई में वो पूरा लंड अन्दर निगल रही थी.

मैंने ना-नुकुर तो किया लेकिन हकीकत है कि मुझे अच्छा लग रहा था और मैं चुदवाने के लिए तैयार हो गई थी. कुछ देर तक चूचियों को पीने के बाद मैंने उसकी पैंटी उतारी और उसकी चूत के दर्शन किये. मैं उठ कर मूतने गया और मैंने देखा कि मेरा टोपा लंड की त्वचा से अब पूरा का पूरा बाहर आ रहा था.