बीएफ एचडी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एक्स बीएफ हिंदी मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो ताजा: बीएफ एचडी हिंदी बीएफ, मैं वहीं उसकी छूट के करीब आकर उसकी मरमरी टांगें चूमने और चाटने लगा.

हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ

इस बार वार बहुत तगड़ा था, उनकी चीख़ निकल गयी, वो बोली- धीरे कर!मैंने उनकी एक न सुनी, मैंने कहा- अभी मुझे अपनी मर्जी कर लेने दो, आपको मज़ा न आए तो कहना!उन्होंने कुछ नहीं कहा और मैं उनकी चुदाई करता रहा. देसी बीएफ hdवैसे जीजा और दीदी का सेक्स देखने के बाद मेरी चूत भी प्यासी हो गई थी.

भाभी ने मुझे नीचे किया और किस करते करते वह नीचे मेरी पैन्ट तक आ गई. बीएफ सेक्सी ब्लू वीडियो बीएफउसके जैसा ब्लोजॉब मुझे अब तक कभी किसी लड़की या भाभी ने नहीं दिया था.

इस तरह मैंने सुकांत जी को बुधवार को मेरे बैंक या ऑफिस में बुलाया; मैंने सोच रखा था कि सुकांत जी को लेकर अपने घर चली जाऊँगी फिर डिनर वगैरह के बाद सारी रात हमारी ही होगी.बीएफ एचडी हिंदी बीएफ: चुत के दाने को जीभ से सहलाता, होटों से दबता और मुँह में भर कर जोर से चूसता.

मैं जिम करता था इसलिए मुझे वजन उठाने में कोई परेशानी नहीं हो रही थी.आअह्ह … क्या शॉट मारा है मादरचोद … आअह्ह … अब बस मेरी आँखों में देखता रह और लम्बे लम्बे धक्के लगाए जा … लौड़ा बाहर जाए लेकिन सुपारा अंदर रहे.

सेक्सी नर्स बीएफ - बीएफ एचडी हिंदी बीएफ

उसी से मिलने तो मैं तो यहां पर आई थी लेकिन तुम लोगों ने मुझे गर्म कर दिया.जो कमीज मैंने पहनी हुई थी उसमें मेरी चूची का आकर बिल्कुल साफ़ पता लग रहा था.

जब मैंने अपनी पैंटी पर हाथ लगा कर देखा तो मेरी पैंटी भी गीली हो चुकी थी. बीएफ एचडी हिंदी बीएफ मैं ब्लाउज के ऊपर से ही उसके मम्मे को अपने मुँह में भरने की कोशिश करने लगा.

अब तक मेरे अंदर भी वासना जाग गई थी और मैंने उसके लंड को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ एचडी हिंदी बीएफ?

दोस्तो, उसका एक एक बूब आधा आधा किलो का होगा और एकदम गोरे गोरे निप्पल्स भी हल्के भूरे रंग के थे. हम लोग घर पहुंचे, तो दोस्त ने फटाफट एक एक पैग बनाया और हम लोग पीने लगे. उन्होंने मेरे लंड को छुआ तो मेरे शरीर में सनसनी सी मच गई।उन्होंने मेरी तरफ़ देखा और मैंने उनकी तरफ़ देखा और इशारे में बात समझ गई.

नम्रता ने अपनी टांग फैलायी और लंड पकड़ के चूत के मुहाने पर घिसने लगी. दोस्तो, पिछले भाग में आपने मेरे छोटे भाई विक्रम और मेरी खूबसूरत सेक्सी पत्नी रीना की चुदाई का वर्णन पढ़ा. निहारिका को टेढ़ा लेटा कर अपना लंड उसके चूतड़ों के छेद पर रखा और उसकी पतली कमर को पकड़ कर जोर से झटका दे मारा.

मैंने विक्की को निहारिका को किस करने व चूचियां दबाने का इशारा किया. मैं तो कहता हूँ आप मेरी अम्मी की रगड़ के चुदाई करो ताकि उन्हें कभी उस नकली लंड की जरूरत ही न रहे. उसने मुस्कुरा के सर हां में हिला कर मुझे जवाब दिया और लंड के सुपारे पर अपनी जीभ फिरा दी.

अन्तर्वासना पर मैं बहुत टाइम से लिखना चाहता था, पहलेपहल काफी संकोच हुआ कि कहीं मेरी गोपनीयता भंग न हो जाए. मैंने जब उसकी चुत को देखा तो पाया कि मेरा लंड का सुपारा पूरी तरह से बहन की चुत में चला गया है.

हम दोनों इतनी तेज-तेज गुत्थम-गुत्था कर रहे थे कि दोनों एक दूसरे के अन्दर समा जाने के लिए बेकरार हुए जा रहे थे.

रानी के हाथ न जाने कब मेरे चूतड़ों तक चले गए थे और उन को दबा कर धक्का लगाने में सहायता कर रहे थे.

और चुत भी टाइट होती है इसलिए आराम से घुसेड़ना और जितने प्यार से करोगे उतने दोनों को मजे आएंगे. मैंने कहा- मैं कुछ हेल्प करूं क्या?भाभी बोली- तुम क्या हेल्प करोगे?भाभी ने मेरे कंधे से सिर उठाते हुए पूछा. वो एक पिंक कलर की नाईट ड्रेस पहने थे जो सामने से पूरी खुली थी और एक डोरी से बंधी हुई थी.

मैंने देखा कि व्हाट्सैप उसके बहुत मैसेज आए हुए थे कि मैं आज साड़ी में पटाखा लग रही हूँ. मैंने सारे पर्दे डालकर कमरे में अंधेरा कर लिया और मैं चादर ओढ़ कर सो गया. लेकिन इसके बाद उसने एक बार में ही अपना पूरा लंड मेरी चूत में पेल दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा.

”और डॉक्टर ने मम्मी की चूचियाँ पकड़ लीं और दबाने लगी।तब तक राजेश आया, मम्मी के सिर के पास खड़ा हुआ, झुका और होंठों से होंठ जोड़ दिए। भरपूर चुम्बन के बाद मम्मी बोली- राजेश ये … ये ठीक नहीं है.

दो-तीन मिनट के बाद आंटी वरूण के लंड की तरफ अपनी चूत को फेंकने लगी और देखते ही देखते उसकी चूत ने पचर-पचर पानी छोड़ दिया. उन्होंने छोड़ने की जगह एक झटका और दे दिया, तो अंकल का आधा लंड मेरी बुर में अन्दर घुस गया. मैंने पूछा- तुम तो सिर्फ कॉफ़ी लायी हो?यह कहानी अभी अगले भाग में जारी रहेगी। आशा करता हूँ कि कहानी अंतर्वासना के प्यारे पाठकों को पसंद आयी होगी.

जैसे जैसे टाइम बीतता गया, वैसे वैसे मौसी की चूत गीली होती गयी और मैं धक्कों की स्पीड बढ़ाता गया. काफी देर तक मैं यूं ही सोचता रहा और शावर का पानी मेरे ऊपर गिरता रहा. मेरे घर पर बाकी सब लोग रहते थे इसलिए मैं उससे मिलने के लिए बाहर भी नहीं जाती थी.

मैं भी जवान हो चुकी थी, मैंने भले ही अब तक कभी किसी से चुदवाया नहीं था, पर चुदाई के बारे में मैं सब कुछ जानती थी.

इंतजार के पलों को खत्म करने के इरादे से मैंने पूछा- तुम्हारी बेटी सो गई क्या?वो बोली- क्यूं, तुम्हें उसके साथ कुछ खेलना है क्या?उसने मेरा मजाक बनाते हुए कहा. तकरीबन 6 साल तक मैं एक क्रेन ऑपरेटर हूँ … इसलिए एक जगह अस्थायी नहीं रहता हूँ.

बीएफ एचडी हिंदी बीएफ लेकिन कुछ पाठकों ने अपनी मेल्स में मुझ से शिकायत की है कि मेरी कहानियों में स्त्री-पुरुष के गुप्तांगों का, प्रेम-आलापों का निहायत ही सभ्य शब्दावली में ही उल्लेख क्यों होता है, मैं भी औरों के जैसे अश्लील शब्दों का उपयोग क्यों नहीं करता. एक लड़का मेरी बहन पूनम के बूब्स पकड़ कर दबा रहा था और दूसरा उसकी जांघों को सहला रहा था.

बीएफ एचडी हिंदी बीएफ दीदी बोली- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- दीदी, अब तो घर में भी कोई नहीं है. अच्छा हट्टा कट्टा, ऊंचा लम्बा, मज़बूत कद काठी का लड़का था और शायद हैंडसम भी था.

रीना ने कहा:जाने कहा मेरा जिगर गया जीअभी अभी यही किधर गया जी!मैंने कहा- उफ़ … तुम्हें तो सब मजाक ही सूझता है, जाओ बात नहीं करनी मुझे.

बीपी+सेक्सी+वीडियो

मुझे आपके यहां कब और कैसे आना है?उसने मुझे बताया- पंकज आप आज ही 3 बजे तक मेरे घर आ जाओ. उनके मन में ये था कि उन दोनों को सेक्स करते उनकी जवान सेक्सी साली देख रही है. उसके झड़ते ही मैंने अपना लंड पूरी ताक़त से उसकी झड़ती हुई बुर में डाल दिया और उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

फिर दो मिनट बाद भाभी सीत्कारने लगी- आह अब चोद दो प्रिन्स … मुझसे रहा नहीं जाता … मत तड़पाओ अपनी जान को … जल्दी से चोद दो मुझे प्लीज़ … फक मी हार्ड. तू एक बार मुझे सच बता दे वंश कि मेरे नंगे जिस्म को देख कर तेरा लंड खड़ा क्यों हुआ था. रितेश का लंड भी बहुत मोटा है लेकिन मुझे अलग-अलग मर्दों के लंड लेने का मन करता रहता है इसलिए मैंने राज को फंसा लिया.

उसकी पीठ मेरी तरफ थी, तो मैं उसका चेहरा नहीं देख पा रहा था, मगर पीठ दिख रही थी.

मैं देव कुमार जयपुर राजस्थान से इस कामुक सेक्सी कहानियों के विश्वविख्यात अन्तर्वासनाx. उसकी गोरी, नंगी पीठ, जो काले बालों के नीचे ढकी हुई थी, को देख लग रहा था जैसे किसी फिल्म की हिरोइन हॉट सीन देने के लिए तैयार खड़ी हो. जैसे खलहड़ से हल्दी पीसते हैं ठीक उसी तरह वो मेरी बुर की पिसाई करने लगा.

शादी सर्दियों के दिनों में थी और उस रात मैंने शराब का सेवन कर लिया था. ”अरे नहीं राजे … ऐसे तो मैं न जाने दूंगी … मैं हूँ नस्पोर्ट्स इंचार्ज … मेरी इजाज़त है … आज मत करो बॉक्सिंग प्रैक्टिस …. मुझे आज व्हिस्की पीने का मन कर रहा था, मैंने सकुचाते हुए मनीषा से पूछा, तो उसने हंस कर कह दिया- हां ले लो, मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

अंकल बड़े ही शातिर थे, उन्होंने मेरी बुर को बहुत ही पास से जुबान अन्दर घुसेड़ घुसेड़ के चूसना जारी रखा … तो पता नहीं कब मैंने भी उनका लंड अपने मुँह में ले लिया. मैंने अपना लंड उसके हाथ में पकड़ा दिया और वो उसको पकड़ कर सहलाते हुए दबा कर देखने लगी.

मैंने और जोर पकड़ते हुए पूरी ताकत के साथ भाभी की चूत को चोदते हुए दूसरी बार उनकी चूत में अपना माल गिराना शुरू कर दिया. उन्होंने मुझे जबरन अन्दर बुलाया और कहा- तुम बैठो, मैं तुम्हारे लिए कोक लेकर आती हूँ. अगले दिन संडे था और मैं सुबह से ही भाई को पटाने की तरकीब बनाने लगी थी.

दस मिनट तक मेहनत करने के बाद मैंने सुमन के मुंह पर अपनी चूत का पानी फेंक दिया.

मैंने अपने हाथ से अपनी चड्डी नीचे सरका दी और बोली- जरा यहाँ भी कर दो प्लीज! मुझे बहुत आराम मिल रहा है. सोनल के चिल्लाने से राधिका उसके पास आ गई और वो दिशा को साइड में करके सोनल को किस करने लगी. रिदम मुझे अपनी बाइक पर घुमाने के लिए बोलता था लेकिन मैं उसको मना कर देती थी.

हमने लाइफ में बहुत कुछ किया जो एक पति पत्नि या एक गर्लफ्रेन्ड और बॉयफ्रेन्ड ही करते हैं. राधिका- इतनी सुबह तुम भाई-बहन ने चुदाई शुरू कर दी?सोनल- ये सब भाई का काम है, मुझको उठाकर चोदने लगे.

मेरे पास आकर वो पूछने लगा- लड़की, तू मुझे सच बता कि तू कहां से आयी है और ये जो आदमी तेरे साथ है वो कौन है? क्या ये तुझे पैसे देकर लाया है? क्योंकि तेरा बाप तो नहीं लग रहा ये. तत्काल वसुन्धरा मेरा सर अपने हाथों में ले अपने उरोजों पर दबाने लगी और उसके मुंह से आहों-कराहों तूफ़ान फ़ट पड़ा- आह … उफ़ … हा … उई … ई … ई … हक़्क़ … सी … इ … इ … ई … ई … आह … उफ़ … हाय … जोर से करो राज … यस … यस … ओ गॉड! सी. उसके बाद नीचे वाले लड़के ने अपनी उंगलियाँ निकाल लीं और मेरी बगल में खड़ा होकर अपने कपड़े उतारने लगा.

क्सक्सक्स होली

पिचकारी इतनी तेज थी कि कोई बूंद कहीं जाकर लगती और कोई कहीं जाकर गिरती.

उसके बाद मैंने जोश में आकर उसके चूचों को दबाना शुरू कर दिया और इतनी जोर से मसला कि उसकी चीख निकलने लगी. या फिर चलो दोनों लोग एक साथ ही मूतने चलते हैं, मैं तुम्हें मूतते हुए देख लूंगी और तुम मुझे. मैंने हल्के से मुस्कुराते हुए उसे मना कर दिया और उठ कर सीधी बैठ गयी.

इस मज़े को पाकर सरिता और भी बेचैन होकर बोली- हाय पापा कितना मजा आ रहा है … बिना लंड के तो मैं मर ही जाऊंगी. थोड़ी देर आराम करने के बाद वो उठी और मेरे सामने खड़ी होकर सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधने लगी. बीएफ फिल्म ओपन वीडियोमैं वहीं उसकी छूट के करीब आकर उसकी मरमरी टांगें चूमने और चाटने लगा.

उनके झड़ने के बाद हम वापस नंगे ही सो गए।सुबह उठ कर वो फिर शुरू हो गए. जब बाप अपनी बेटी की चूची चूसता तो सरिता तड़फ कर कहती- हाय पापा अब मेरी शादी कर दीजिए … हाय पापा आप चोद नहीं पाते तो किसी जवान लड़के से हमको चुदवा दीजिए … अब मुझे उंगली से मज़ा नहीं आता.

मैंने तुम्हें जो भी बताया हैं वो सब सही है और मैं किसी को तकलीफ़ नहीं देना चाहता कि कोई मेरे कारण दुखी हो. मैं निहारिका से बात करने के बहाने बैठी, तो जानबूझ कर विक्की के लंड पर हाथ रख दिया … और लंड को थोड़ा दबा भी दिया. मैं- हां तभी तो जब तक पूरा चाटकर साफ नहीं कर लेता, तब तक तुम्हारी चूत को छोड़ता नहीं हूं.

जबकि वो मेरे बाल पकड़कर जोर जोर से मेरे मुँह में लंड डाल कर मेरे मुँह की चुदायी करने लगे. तुम्हारी ये सेक्सी आवाज और सेक्सी बात सुनकर मैं अपना लंड मसल रहा हूं, कहीं मेरा माल निकलकर मेरी पैंट न खराब कर दे. मैंने उसके पेट को चूमा और उसके चूचों को दबाते हुए उसकी पैंटी के ऊपर ही उसकी चूत को किस करने लगा.

मौसी के मुँह से लगातार निकल रहा था- आह … उह … आह … कितना मज़ा आ रहा है … कितने साल बाद ये मज़ा मिला आज मुझे … आह ऐसे ही करते रह … आअहह उईईईई उफफफ्फ़ … आअह … आअहह ओह ह्म्म्म्म ममम उईईइ … सोओओओनु … और जोर जोर से करर्र!मौसी की ऐसी बातों से मेरा भी उत्साह बढ़ रहा था और मेरे कमर की स्पीड भी.

मोनी के नजदीक पहुँच कर मैं कुछ देर तो ऐसे ही लेटा रहा, फिर नींद का सा बहाना करके मैं आज फिर से उसके पीछे चिपक गया। मोनी ने अपना‌ मुँह दूसरी तरफ किया हुआ था इसलिये मेरा उत्तेजित लंड आज भी उसके नितम्बों पर लग गया था. स्वीटी की फैमिली को किसी रिश्तेदार की शादी में जाना था, तो स्वीटी ने मुझे बताया कि उसने अपने फैमिली वालों से कह दिया कि आप सब जाओ मुझे पढ़ाई करनी है, तो किसी सहेली को घर पर बुला लूंगी.

मैं भाभी को पैरों से ले कर होंठों तक चूमता गया, फिर होंठों पर किस करने लगा. उसकी चीख इतनी तेज निकली थी … मानो किसी ने उसकी चुत में गरम सरिया डाल दिया हो. मगर मेरे लंड का माल निकलने के लिए तो आंटी कोई जुगाड़ कर ही नहीं रही थी.

लेकिन आप मेरी एक बात मानो तो इनके लिए मैं कुंवारी लड़की का इंतज़ाम कर देती हूँ. हम दोनों की गाण्ड फट गयी। मैंने मुँह पर उंगली रखते हुए शान्त रहने का इशारा किया।कुछ देर बाद मैं कड़कती आवाज में बोला- कौन है?बाहर से आवाज आई- कुछ नहीं भाई, चैक कर रहा था. उम्म्ह… अहह… हय… याह…स्स्स … सर … दर्द हो रहा है!” वह कसमसाते हुए कहने लगी.

बीएफ एचडी हिंदी बीएफ उसकी पेंटी के साथ-साथ मेरी हथेली भी भीगती चली गयी।अब मैं ठहरा चूत चाटने का रसिया। मोनी की चूत से बहते इस गर्म गर्म कामरस को महसूस करके मुझसेरहा नहीं जा रहा था इसलिये मोनी को छोड़कर मैं अब उससे थोड़ा अलग हो गया। मोनी पहले ही नीचे से दूसरी तरफ मुड़ी हुई थी जो कि मेरे छोड़ते ही अब करवट बदलकर दूसरी तरफ हो गयी। मगर मोनी ने करवट बदलकर बस अब अपने मुँह को ही दूसरी तरफ किया. मैंने कई बार कोशिश की आगरा जाने की लेकिन मैं अभी तक दोबारा उससे नहीं मिल पाया.

जेंट्स बीएफ

उसके चूचुक बिल्कुल कड़े होकर ऊपर को उठ गए थे … कह रहे थे हमें भी किस करो, चूसो. गांड मारना या मारने की प्यास जागी या नहीं? आपके कमेंट का इंतज़ार रहेगा. कुछ देर ऐसा करने के बाद मैंने उसके गाल पकड़ के दबाये और पूरा मुँह खोल के ऊपर कर दिया.

उसने मेरी तरफ देखा, मैंने भी हामी में सर हिला दिया।तो राकेश बोला- तो मैं बाहर घूम आता हूँ. जीजा की स्पीड बढ़ने लगी और उन्होंने मेरी चूत की जोरदार चुदाई शुरू कर दी. नंगी बीएफ ओपनवाह क्या चूची थी … ऐसा लगा जैसे मैं किसी अमृत का पान कर रहा हूं।तभी महेश आकर दूसरी चूची में जुट गया और बोला- भाई, तुम्हारी याद में ये सूख के लकड़ी हो गयी थी.

मैं मिडल क्लास घर का लड़का था और मुझे ये सब सिर्फ अपनी बीवी के साथ ही करना था.

मैं एक और तेज झटके में अपना पूरा लंड शायना बुआ की चूत में ठोक दिया. डॉली बाहर आई, कार में बैठी तो मैंने पूछा- पेपर कैसा हुआ?तो खुशी से उछलकर बोली- बहुत अच्छा.

मैंने उसके चूचों को कस कर दबाया और सहलाया तथा साथ ही उसके मुंह में अपनी जीभ डाल दी. मैंने देखा कि दिशा अपनी चुत में उंगली कर रही थी, तो राधिका अपने मम्मे पर हाथ घुमा रही थी. मगर जाने से पहले उसने मुझसे वादा लिया कि रात वाली बात कभी किसी से न कहूँ.

झड़ने के बाद वह मुझे दोबारा से किस करने लगा और मैं भी बदले में उसको किस करने लगी.

इससे पहले दोस्तो, कभी किसी लड़की ने खुद मेरे साथ शुरूआत नहीं की थी, मुझे ही फंसाना पड़ता था. मामी ने मुझसे लिपटते हुए कहा- मैं तुम्हारे साथ काफी पहले से ये सब करना चाहती थी, पर मैं बदनामी से डरती थी. बिना चुदे उससे रहा नहीं जाता।मैं आपको बता दूँ कि मेरी बहन एक बहुत ही गर्म माल है। उसके मम्मे उभरे हुए 32 के साइज के हैं.

बीएफ सेक्सी खुली सेक्सीवो इस कदर की तेज़ी से मेरा लौड़ा चूस रही थी, जैसा उसने कभी किसी का लंड अब तक मुँह में ही नहीं लिया हो. वो अपने हाथों से मेरी गर्दन को पकड़ कर अपने लंड पर मेरे मुंह को ऊपर-नीचे करने लगा.

सेक्सी ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर सेक्सी

मैंने लंड काजल की चूत पर से हटा दिया और जैसे कि किसी ने उसका प्यारा खिलौना ले लिया हो. जोकि किसी भी लड़की को होना सामान्य था ‘बदनामी का डर’ फिर भी वो मुझ पर विश्वास करके मेरा साथ दे रही थी।मैंने उसके हाथों को आगे करके फिर से उसकी लाल ब्रा से बांधा और ऊपर कर दिया। मैंने उसके होंठ चूसना चालू किया. यहाँ बता दूँ कि मेंसेस में खून से भरी हुई चूत बहुत ज़्यादा गर्म होती है.

मेरी चूची बहुत टाइट हो चुकी थी और वो मेरी चूचियों को दबा-दबा कर चूस रहा था. इतने में ही वरुण ने आंटी की साड़ी की सिलवटों को खोलना शुरू कर दिया. जीजा-साली शायद पहली बार एक-दूसरे के जिस्म को भोग रहे थे इसलिए रितेश जीजू के अंदर इतनी उत्तेजना भर गई थी.

तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपनी हब्शी लंड को मेरे मुँह में घुसा दिया और थोड़ी देर ऐसे ही मेरा मुँह चोदने लगा. करीबन 15 मिनट लगातार दिशा की हचक कर चुदाई की तो वो शांत हो गई … मैं भी उसकी चूत से लंड निकाल कर उसके पेट पर झड़ गया. मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं.

उसने हाथ में थोड़ा तेल लिया और एक हाथ गांड की दरार के बीच में घुसा दिया और मेरी चुत तक तेल लगाने लगा. इसके बाद अचानक से भाबी नीचे बैठ गईं और केला की तरह पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं.

उसकी पैंटी अब तक गीली हो गयी थी और मुझे कुछ अजीब सी महक आ रही थी और स्वाद भी.

पूजा फिर मेरी तरफ मुड़ी और अपनी कमर पर हाथ रख कर पूछने लगी कि क्या किया तुमने, जो ये इतने जोर से चीखी?मैंने बताया कि मुझे लगा कि तुम बैठी हो और मैंने इसके गाल को जोर से नोंच लिया, इसलिए ये चीखी. हिंदी पंजाबी सेक्सी बीएफदो तीन दिन क्रेन का काम चलता रहा और हम लोगों का एक दूसरे को देखने का अपना खेल चालू रहा. नाबालिक बीएफ पिक्चरउसके चहरे को महसूस करना एक अलग अहसास था।फिर मैं उठा और बोला- चलो घोड़ी बन जाओ. उसने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया और बोला- बंध्या, मेरी नज़र में तो तू दुनिया की सबसे मस्त आइटम है और दुनिया की सबसे चुदक्कड़ लड़की है.

ताऊ जी ने बुआ की कमर को थाम लिया था और उनकी कमर को पकड़ कर वो उनकी चूत को अपने लंड पर धकेल रहे थे.

आंटी बोली- अरे अरे … क्या कर रहे हो? मैं शारदा से तुम्हारी शिकायत कर दूंगी. फिर सुमिना ने उसे अपने ऊपर से हटाते हुए उसको पीछे किया और वो अपने घुटनों पर आ गया. मेरी बहन है ही इतनी हॉट … जब भी उसे चोदूँ, तो लगे कि पहली बार ही चोद रहा हूँ.

मैं- भाबी, आपकी ये नटखट सी चुत कुछ मूसल जैसा बड़ा सा खाना चाह रही है. जब उन्होंने कुछ नहीं कहा, तो मैंने धीरे से उनकी कमर में अपना हाथ डाला और गांड पर लंड का दबाव बढ़ा दिया, जिससे उनकी आह निकल गई और वे थोड़ा कसमसा कर आगे को खिसक गईं. मैं बस लड़कियों से नजर मिलते ही शर्मा जाता और दिल की धड़कन तेज हो जाती.

आसामी ड्रेस

बल्कि अंकल मेरे होंठ चूसने लगे ‘मूऊऊ ऊऊह मुईई …’इससे मैं भी बहक गई और उनके सर में हाथ डाल कर मैं भी उनका साथ देने लगी. वसुन्धरा बड़ी आतुरता से मेरी जीभ चूसने लगी और उसके दोनों हाथों की दसों उंगलियां मेरे सर में यहां-वहां गर्दिश करने लगी. तुम्हारी बेटी भी कैसी है … दुनिया में इतने सारे लंड हैं लेकिन इसने अपनेबाप से ही चूत चुदवा ली.

मैंने माँ से कहा- माँ, मैं आपको बहुत पसंद करने लगा हूँ और आपके साथ सेक्स करना चाहता हूं.

मैंने वैसा ही किया और उसने मेरे पैर उठा कर अपने कंधे पर रखे और अपने लंड पर थूका और मेरी गांड के छेद पर लगाया.

इक अनजानी सी ईर्ष्या की भावना दिल में सर उठाती तो थी लेकिन मैं दुनियादार आदमी था, सब ऊंच-नीच समझता था. मैं सोनल के पूरे जिस्म पर चूम रहा था और बीच बीच में उसके मम्मों को भी मसल रहा था, जिससे वो ओर मदहोश रही थी. बीएफ मूवी भेज दोकुछ समय बाद मेरे मम्में इतने विकसित हो गए कि मुझे ब्रा पहननी पड़ी और मैं आस पड़ोस के मर्दों की आँख का तारा बन गयी.

और वसुन्धरा जी! आप भी ध्यान रखना प्लीज़! हम घर नहीं गए, कोई कारण ही नहीं था घर जाने का. वैसे मैं तो दोनों बहनों की तरह दिल खोलकर नीचे ऊपर दोनों का मज़ा लेने को बेकरार थी. कई बार खाना बनाने के वक्त वो अपनी साड़ी पेट के नीचे दबा लेती हैं और उस वक्त उनकी नाभि साफ झलकती है.

मैं नम्रता के ऊपर लेट गया और नम्रता ने मुझे चिपका लिया, मेरा लावा बहते हुए नम्रता की चूत को गीला कर रहा था और उसका लावा मेरे लंड को गीला कर रहा था. चूचों को मसाज देने के बाद वो बेकाबू हो गई और उसने खुद को मेरे हवाले कर दिया.

अब मैंने अपना एक हाथ ले जाकर उसकी एक चूची पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा.

वो फोन पर सेक्स चैट करते वक्त बहुत सेक्सी आवाजें निकालती थी … बहुत ज़ोर से आहें लेती थी. कुछ देर तक मोनी की सन्तरे जैसी चूचियों को सहलाने के बाद मैंने मोनी को सीधा करके अपनी तरफ खींचने की कोशिश की ताकि मैं उसकी चूचियों का रसपान कर सकूं. पर एक बात थी कि खाना बनाने की तैयारियों के बीच वो मुझसे चिपकती, फिर पलटी मार के अपनी पीठ को मेरे सीने से चिपकाती और फिर मुझे पीछे से पकड़ लेती.

बीएफ mp3 बीएफ रोज की तरह जब मैं अंकल के घर गया, तो मैंने देखा अंकल ने उनकी काम वाली की चुदाई करके आराम कर रहे थे. उस रात उसने पिंक टॉप और ब्लैक जींस पहन रखी थी जोकि मैंने उतार दी थी.

फिर अंकल जी ने मेरी चूत अपनी उँगलियों से खूब चौड़ी खोल दी और भीतर झांकने लगे तथा अपनी एक उंगली का सिरा मेरी चूत में घुसा कर जायजा लिया. लगभग कुछ मिनट बाद वो बाहर आई, तो उसे देख कर मैं फिर उत्तेजित हो गया. उसने मेरी पेंटी निकाल दी और मुझे बिस्तर पर चित्त लिटा कर मेरी चूत को चाटने लगा.

बिहारीसेक्स

नम्रता- मैं तो चाहती हूं कि तुम उत्तेजित हो, जिससे मेरी चूत को तुम्हारा लंड मिले. भाभी ने कहा- मैं तो तेरी भाभी हूँ, मुझसे कैसी शर्म … चल अपना औजार बाहर निकाल कर दिखा मुझे. मैं मानता हूँ कि मेरा लंड ज्यादा बड़ा नहीं है, पर इतना दमदार ज़रूर है कि किसी भी लड़की या औरत को खुश कर दे.

खैर … हम दोनों खाना खा के वापस रूम में आए, तो मैंने दोस्त को कॉल किया. पहले तो मैंने और रानी ने आमने सामने बैठ कर लंड को चूत में घुसेड़ दिया.

मैं आज से तुम्हारी बीवी हूँ … आह इस चुत को फाड़ दो … मुझे ये बहुत तंग करती है … मैं तुम्हारी दासी हूँ.

फिर जिस औरत ने मेरी मौसी को चाकू लगा रखा था, उसने अपने कपड़े और मेरे कपड़े उतरवाए और फिर चुत चुसवाई कराने के बाद के बाद मेरे मुँह में अपने चुचे ठूंस कर कहा- ले दूध चूस चिकने. मैं तुरंत कैंची लेकर आया और चाची के चूत के लम्बे बालों को काटने लगा. मैंने झुक कर वसुन्धरा के बाएं पैर के अंगूठे और उंगली के बीच में एक चुम्बन ले लिया.

आगरा से ट्रांसफर होकर जब मैं कानपुर आया तो मैंने कानपुर में जो मकान किराये पर लिया. सिर्फ रानी को बाथरूम में चुदना पसंद नहीं था उसका कहना था कि बाथरूम में चलते हुए शावर में एक दूसरे की जीभ और बदन के संपर्क का लुत्फ़ गायब हो जाता है. मैं आंखें बंद करके महसूस कर रही थी कि वो अपना लंड लेकर मेरे सामने ही खड़ा है.

मोनी प्रतिक्रया में अपने दोनों घुटनों को मोड़ कर नीचे वो दूसरी तरफ मुड़ गई.

बीएफ एचडी हिंदी बीएफ: मैं भी स्टाफ रूम से लंच करके बाहर पानी की टंकी के पास हाथ धोने के लिए जा रहा था. लंड तो पहले से ही खड़ा हुआ था, ऊपर से काजल के हाथ का स्पर्श सीधा मेरी जांघ पर … वो भी मेरे तने हुए लंड से दो-तीन इंच की दूरी पर! उफ्फ लंड झटके पर झटके देकर जैसे पागल हो उठा.

मैंने अपनी जिंदगी में इतना मजा पहले कभी नहीं लिया था जितना तेरी चूत को चोद कर लिया है. पिछले 2 घंटों के करतबों के दौरान उसकी चूचियां बहुत सेंसिटिव हो गयी थीं. तभी मेरे दिमाग में बिजली सी कौंधी और एक ही पल में वसुन्धरा की झगड़ालू तबियत, सारी दबंगई, सारी बदतमीज़ी और इस वक़्त सहमी और छुई-मुई हो कर बैठी होने का राज़ समझ में आ गया.

बुआ की नजर सीधे मेरे खड़े लंड पर गयी और वो पांच मिनट तक ऐसे ही देखती रहीं.

इसी बीच उसने मेरी जीन्स में हाथ डाल दिया और लंड को पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया. मैंने उसके चूचों पर तेल की बूंदें डाल दीं और उसके चूचों को मसाज देने लगा. ये राधिका थी, उसके बाद सोनल और आखिर में दिशा की गांड मेरे हाथों ने मसली थी.