बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,ஆபீஸ் செக்ஸ் வீடியோ

तस्वीर का शीर्षक ,

বৌদিদের বিএফ: बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो, मगर अभी मेरा लंड ज्यों का त्यों उसकी चूत में फंसा हुआ था और मेरा पानी अभी तक नहीं निकला था.

पॉर्न वीडियो

कई मिनट बाद हम दोनों झड़ गए, पर मैंने चोदना जारी रखा, जिसकी वजह से लंड दुबारा खड़ा हो गया और मैंने दोगुने जोश से उनकी चूत को पेलना जारी रखा. सुहागरात वाली चुदाई वीडियोजिस वजह से भाभी के मम्मे भी उसी स्पीड से ऊपर नीचे हो रहे थे और वो खुद को कंट्रोल करने में लगी थीं.

कभी जब बहुत मन करता है तो रात भर नींद नहीं आती और मैं चूत में उंगली से कर लेती हूँ. बहन भाई की सेक्सी चुदाईमैं अपने कपड़े उतार कर अन्दर नहाने चला गया और अभी मैंने शॉवर चालू ही किया था कि गीता मेरे पीछे आ कर मुझसे चिपक गयी.

इस वक्त मैं आराम से उसकी चुत चोद रहा था और वो बाहर का मज़ा ले रही थी.बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो: भाभी- तुम भी मस्त हो … अच्छा कल आओगे ना तुम?मैं- हां कल मैं समय निकाल के जरूर आऊंगा.

भाभी इस झटके के लिए तैयार नहीं थी, वह एकदम चिहुंक गई और आ … आ … आ … की आवाज़ से इकट्ठी हो गई.उन दोनों ने मुझे वहीं ज़मीन पर लेटा कर एक ने नयी बियर की बोतल खोली और मेरे शरीर पर डालने लगीं.

ब्लू फिल्म कामसूत्र - बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो

मगर किस्मत से मैं छूट गई थी और मेरी पेंटी न मिली तो मैं बिना पेंटी के चली आई.इसलिए जहाँ भी मुझे मौका मिलता है मैं अपनी चूत की प्यास को लंड लेकर शांत करवा लेती हूँ.

सभी पाठकों को हिमांशु बजाज का हृदय से प्रणाम! गुरू जी और अंतर्वासना पाठकों के साथ सम्बंध इतना गहरा हो चुका है कि ज्यादा दिन अब दूर रहा नहीं जाता. बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो तेरा प्रमोशन पक्का हो जाएगा … मैं इसे फिर से चोदने आऊँगा, अभी मेरी बीवी मुझे फ़ोन कर रही है, तो जा रहा हूँ.

मैं- हाँ बोलिये?कल्पना- मुझे आपकी फोटोज अच्छी लगी हैं … आप अच्छे लग रहे हो.

बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो?

इस समय गाड़ी में बैठते ही वो मुझसे बस इतना ही बोल पाई- जीजू, जल्दी चलिए … यहां से निकलिए. फ़िर बियर पीने का दौर चालू हो गया, पहली बियर तो आराम से मज़े से शाम के बारे में बात करते हुए पी. भाभी ने भी मुझसे पूछा कि काम कैसा चल रहा है और इधर-उधर की बातें हुई.

मेरी चूची को चूस कर और मेरे निप्पल्स को बाईट करके वो मुझे चोद रहा था. आशीष मेरे ऊपर चढ़कर उस गीली पेंटी के ऊपर से ही ठीक चुत के स्थान पर अपना लंड पहली बार टांगें फैलाकर बिना पैंटी उतारे, वहीं पर रख दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया. मैंने कहा- क्या बात है … दोनों ने पूरी बात एक एक शब्द सेम टू सेम बोला.

आंटी मेरी तरफ घूम गई तो मैंने उनके होंठों को चूसना भी शुरू कर दिया. वो सीधा अन्दर आ गयी और बोली- जल्दी से अपने कमरे में जा, निकलने की तैयारी करनी है. काफी मस्त मिजाज का लौंडा है, खर्चा भी करता है और गांड भी मरवाता है.

इस तरह से कुछ देर तक नाटक करने के बाद उस के लंड को चूत में घुसवा लिया और दर्द का ड्रामा करके कराहने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’जब लंड चूत में पूरी तरह से घुस गया तो उसने अपना कमाल देखाना शुरू कर दिया. मेरे मामा के घर से थोड़ी ही दूर एक घर है, जहाँ मैं बचपन में अक्सर खेलने जाया करता था.

कभी दायें कभी बायें बूब्स को भी साथ में दबा रहा था। फिर एक हाथ को नीचे ले गया और गाउन को धीरे से कमर तक ले आया और उसकी चूत के ऊपर से पैंटी पर हाथ रख दिया जो कि बहुत ही गीली हो रही थी। फिर मैं धीरे से पैंटी के ऊपर से दबाने लगा और कभी चूत में उंगली कर देता था.

मैंने दरवाजा बंद कर दिया और एक तरफ ले जाकर आंटी के चूचों को ऊपर से ही दबा दिया.

मुझे खुद पर बहुत भरोसा था कि मेरा गे होना किसी को पसंद हो न हो लेकिन मैं अपने आपको बहुत पसंद करता था. वो पेंटी खोल कर मुझे दिखाने लगा, फिर बोला- मैडम अगर आपको ना पसंद आए हों, तो दूसरी ला दूँ. वो पहले से ही चुदाई के लिए चुदासी थी, मेरे दूध चूसने और मसलने से वो हीट पर आ गई और मादक सिसकारी भरने लगी.

उसने मेरे शरीर को समझो, मेरी चूचियों के दम पर ही पकड़ कर ही उठा रखा था. मुझे उससे चुदवाने में बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था. मेरे घर में जब भी कभी कुछ अच्छा बनता है, तो मैं उसके रूम पर जाकर उसको दे देती हूँ और वो बड़े स्वाद से खा लेता है.

मैंने अपना लंड उसकी गांड पर सैट किया, एक पल के लिए तो वो हिचकी और मुझे मना करने लगी.

एक बार तो मुझे गुस्सा आया कि उसको बोल दूँ कि साले अपनी फूफी को ही गन्दी नज़र से देखता है, शर्म नहीं आती. पहले मैं आप सभी को बता दूँ कि हमारा घर के पुनर्निर्माण का काम चल रहा था, तो हम लोग किराए से एक घर में रहते थे. कुछ देर बाद चुदास फिर से चढ़ गई, तो मैंने अपना लंड निकाल लिया, जिसे वो देखती रह गई.

कुछ पल के दर्द के बाद मैंने उसकी टांगें फैला कर गांड के रास्ते को चौड़ा करते हुए चोदना चालू किया. फिलहाल आप मुझे मेल करके बताइये कि आपको मेरे परम आनन्द, परम सुख पाने की मेरी यह पहली कहानी कैसी लगी. मेरी बीवी कंफ्यूज थी कि बॉस शादी छोड़ कर इतनी जल्दी यहां क्यों आ गया और वह यह भी सोच रही थी कि ये औरत जो वहां बैठी थी.

मुझे अब भूख लग रही थी, तो मैंने किचन में जा कर देखा कि कुछ खाने को मिल जाए.

वो मेरी गांड में अपना लंड पेलते हुए मैक से कह रहा था कि इसकी चूत में जम के लंड पेलो. वो मुझे कुदरत की तरफ से मिली एक बख्शीश है, इसे देख कर सिर्फ लड़कियां ही मुझसे जलती हैं, बाकी सब इसे चाहते हैं.

बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो देवर भाभी सेक्स की मेरी कहानी के पिछले भागदेवर जी को ही पतिदेव मान लिया-1में आपने पढ़ा कि मेरे पति शादी के अगले दिन किसी रिश्तेदारी में चले गए थे. पता नहीं ये क्या होता है, क्यूं होता है … मुझे आशीष बहुत अच्छा लगने लगा और मैं उसकी तरफ आकर्षित होती जा रही थी.

बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो मैंने उसके बाद भाभी की पेंटी से हाथ निकाल लिया और उनके ब्लाउज को खोलना शुरू कर दिया. इधर की काफ़ी सेक्स कहानियां पढ़ पढ़ कर मुठ मारने की तो अब आदत सी हो चुकी है.

इस वक्त मेरी झड़ी हुई चुत में दूसरे लंड के धक्के मुझे अब घायल कर रहे थे.

देहाती भाभी सेक्स वीडियो

कौशल्या सिसकारियां लेने लगी ‘ह्म्म्म आह्ह … ईस्स!’मैं और तेजी से उंगली अन्दर बाहर करने लगा. उसके बाद मैंने सुषी की चूत में अपना लंड डाल दिया और सुषी ने हल्की सी आह्ह निकाल दी अपने मुंह से. उसके बाद आंटी ने मुझे उठने के लिए कहा और खुद मुझे नीचे लेटने के लिए बोला.

मैंने कुछ गे सेक्स की वीडियो झा जी को भेज दिए और उनसे कहा- अभी बाथरूम में जाकर इन्हें देखो. भाभी थोड़ी प्लस साइज की थी तो उनका सारा शरीर इतना गुदाज और मस्त था कि जहां भी हाथ रखो, हाथ मलाई की तरह से उनके शरीर पर चल रहा था. उसने मुझे आवाज़ दी और बोली- सॉरी, क्या आप मुझे स्टेशन के बाहर तक ड्रॉप कर सकते हैं?मैंने कहा- ठीक है.

मैंने उसको अपने ऊपर खींच लिया और उसका लंड पकड़ कर अपनी चूत के मुँह पर रख दिया.

अगली सुबह हम काफी देर से जगे और उठकर दोनों ने एक दूसरे को गुड मॉर्निंग विश किया. यार बता नहीं सकता मैं, माल तो बहुत होती हैं, पर इतनी गजब की आइटम … उफ़ … साली फुरसत से बनाई गई चीज थीं भाभी. मुझे लंड से चुदने बाद जीभ से चूत चटवाने में ऐसा लग रहा था, जैसे वो मेरी चूत की सिकाई कर रहा हो.

फिर संध्या बोली- अमित तुम लेट जाओ, मैं तुम्हारे मुंह पर बैठ जाती हूँ, फिर चूसो मेरी चूत को. करीब दस-पन्द्रह मिनट के बाद मेरा भी लंड झड़ने को हो गया, मैंने सारा से कहा- बस अब मेरा भी काम होने वाला है. फिर मैंने आहिस्ता से उसका हाथ पकड़ कर अपने होंठों से लगा लिया, उसे मेरे स्पर्श से कंपकंपी सी आ गयी.

अब मैं अपने चरम पर था, मैंने उससे बोला- बहन कहाँ निकालूं?उसने बोला- मेरी चूत के अंदर ही निकाल दो. बॉस मेरी बीवी के होंठ चूसता हुआ उसकी भोसड़ी में अपना मोटा लंड पेल रहा था.

जब एक बार यह तय कर लिया कि उन दोनों को छूट देनी ही है तो फिर मन से सब नैतिक अनैतिक निकाल दिया। कभी शादी से पहले यह सब वीणा ने भी किया ही था और मेरी बेटी भी इंग्लैंड में रह रही है तो क्या करती न होगी। यह सब जवानी की सहज स्वाभाविक प्रतिक्रियायें हैं जिनका आनंद सभी ले रहे हैं। मैं नहीं ले पाया तो यह मेरी कमी थी. तुझे याद है, जब मैंने लाईट ब्लू कलर का पंजाबी ड्रेस पहना था, तब मैं दो बार पीछे मुड़ी थी, उस वक्त मैंने तुम्हें वहां देखा था. मैं समझ गयी कि ये साथ नहीं दे पा रहा है, मेरी जरूरत के हिसाब से उसके धक्कों में दम नहीं लग रहा था.

मैं उनको देख कर पहले तो सकपका गया लेकिन उन्होंने जब मेरा चेहरा देखा और फिर नीचे मेरे लोवर की तरफ ध्यान दिया तो वे मुस्कुरा कर चली गईं और जाते हुए बोलीं- खाना खाने जल्दी आ जाओ.

डाल दे तू तेरा पूरा लंड … आज फाड़ दे मेरी गांड को … ये गांड तेरी है … अब आआआ ऊमः उम्हउसने बीस मिनट तक मेरी गांड मारी. धीरे-धीरे अपने हाथ से उसकी चूत के ऊपरी भाग पर अपनी उंगली को घुमाने लगा. अनामिका मुझसे बोली- विकास देखो, मम्मी जो बोलेगी तुम मुझे घर आकर सब बताना.

आजकल सभी लड़कियां शादी से पहले और बाद में भी पर पुरुष से सेक्स करना पसन्द करती हैं. मुझे इसका कारण पता नहीं चल पा रहा था। मैंने कई दिन एक मेडीकल स्टोर से दवा भी खाई लेकिन कुछ आराम नहीं मिला। फिर मेरे छोटे भाई ने मुझे न्यूरो सर्जन के पास ले जाने के लिए कहा.

मैंने तुम्हें बताया तो था कि ऐसी कोई बात नहीं … वरना क्या मैं तुमको नहीं बता देती? तुम तो जानती ही हो कि मैं तुमसे कितना खुली हुई हूँ. मगर मेरे पति मेरे जैसे नहीं हैं, वो कभी भी ये नहीं जान पाते कि मेरे अन्दर क्या चल रहा है. मुझे काफी समय पहले से पता था कि मैं लड़कों में रूचि रखता हूँ और अपनी जिंदगी से मुझे कोई शिकायत भी नहीं है.

ट्रिपल सेक्सी व्हिडिओ हिंदी

इस वक्त भी मुझे इतना जम के गर्मी और करवाने घुसवाने का मन हो रहा था कि जल्दी से बस कोई लंड डाल दे और रगड़ कर चुदाई करे.

जांघों में अकड़न पैदा होने लगी थी और मैं अब केवल चूतड़ हिला पा रही थी. वो इस बार बड़ी देर में, बड़ी लम्बी चीख के साथ झड़ी, और काफी देर तक झड़ती रही. मैं अभी तक एक बार भी नहीं चुदी थी और अपने बॉयफ्रेंड से चुदने के लिए मचल रही थी.

मैंने सोचा जब तक कोई काम नहीं है तब तक ड्राईवर का काम ही कर लेता हूँ. उसने कुछ पल सोचने के बाद बताया कि वह दो दिन की सर्विस के दस हजार रुपये दे सकती है. ससुर बहू का सेक्स वीडियोबस दो मिनट में वाणी बोली- मेरे बारे में भी सोचो … इस कुतिया को तो ऐसे ही मज़ा आता है इसलिये ये हमारे मर्दों को उकसाती है और हर बार मैं ही सूखी रह जाती हूँ.

जब मदन की मां मुझसे बात कर रही थीं तो, उनकी सांसों से साफ शराब की महक आ रही थी, शायद उन्होंने अपनी पार्टी में पी हो. अब ऋतु की गांड रवि के फेस की तरफ थी और वो झुक कर फ्लोर पे बिल्ली की तरह चलने लगी.

कुछ देर बाद सुनील की मेल आई कि वो पागल हुए जा रहा है और वो मेरी पंजाबी फुद्दी की चुदाई करना चाहता है. इसलिए मैं ऊपर वाले से दुआ कर रही थी कि वह बच्चों के स्कूल जाने के बाद ही मुझसे मिलने के लिए आए. वो मस्त हो गई और अपने दांत दबाते हुए अपने हाथों से अपने मम्मे को मेरे से चुसवाने का मजा लेने लगी.

बाहर से तो यह हांडी देखने में बड़ी अच्छी दिखती है लेकिन इसमें जो भी कुछ पकता है उसका स्वाद तो इस खिचड़ी को चखने वाला ही बता सकता है न. मुझे अभी भी लगता है कि वो भी मेरे साथ किये गए सेक्स के बारे में रोज़ सोचती होगी। अभी भी जब वो मायके वापस आती है तो मैं उसे चोदने की कोशिश में लगा रहता हूँ पर अभी तक सही मौका नहीं बन पाया है।मैं पूरी कोशिश में हूँ कि जैसे ही निहारिका दीदी के साथ चुदाई का सीन बनेगा मैं आप सबको जरूर बताऊंगा. मेरा आधा लंड बहन की गांड को चीरता हुआ उसकी गांड में घुस गया और साथ ही साथ नीरू का सिर सामने दीवार पर जाकर लगा.

उसको अच्छी तरह पता था कि मर्दों को कौन सी जगह पर किस करने या सहलाने से वे उत्तेजित होते हैं.

नीना के मुताबिक इस समय दोनों ही एक दूसरे की जवानी का एक-एक बूंद रस निचोड़कर पी जाना चाह रहे थे. वो जैसे ही मेरे लंड को मुँह में ले कर अन्दर बाहर करने लगी, मुझे लगा कि अभी तुरंत ही लंड छूट जाएगा और हुआ भी वही.

इस चुदाई की कहानी में इतना ही, आगे की कहानी अगले पार्ट जल्दी भेजूंगा. रात के 1 बजे का समय हो गया था, मैं अपने कपड़े पहन कर लता भाभी के ड्राइंग रूम वाले दरवाजे से निकल कर चुपचाप अपने कमरे में चला गया. बस उनके कहते ही मुझे लगा, जैसे बदन से मेरी जान मेरे लंड के रास्ते बाहर निकल रही है। मैंने एक झटके से अपना लंड अपनी मॉम की चूत से निकाला और जैसे ही लंड बाहर निकला एक गाढ़े सफ़ेद पानी की धार बड़े ज़ोर से बाहर को निकली और मॉम के मुंह तक जा गिरी.

पटेल का दोस्त बोला- तुमने सही प्लान बनाया … तेरा प्लान सक्सेस हो गया. खैर, सिगरेट खत्म हुई, मैंने भी स्कूटर स्टार्ट किया और अपने कमरे पर चला गया. मैंने कहा- हां हाँ मीशा … पूछो न जो पूछना चाहती हो!वो बोली- जब से मैं जवान हो रही हूँ, मेरे शरीर में बहुत परिवर्तन हो रहे हैं और मेरे मन में बहुत बैचैनी हो रही है.

बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो उनको देखकर मैंने अचानक से बोला- सरप्राइज …भाभी अचानक से मुझे देख कर शॉक में थी और मैं शॉक में होने का नाटक कर रहा था. जो मुझसे चार-पांच साल बड़ी होतीं या जिनका शरीर मेरी पसन्द का होता था.

इंडिया सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफ

2 मिनट बाद मैंने देखा कि आंटी मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर लॉलीपोप की तरह चूस रही थी. एक औरत को जब उसके निकाह के बाद भरपूर रूप से सेक्स मिलने लगता है, तो उसकी एक मदहोशी भरी आदत पड़ जाती है, हर रात या दूसरी रात अपने शौहर द्वारा ना जाने किस किस तरीके से मसल दिया जाना, उनके लिंग से देर रात तक चुदाई करवाना. इसके साथ ही उसे नीना के चेहरे पर कातिल मुस्कान दिखाई पड़ी तो उसने एक झटके में ब्रा का हुक खोल दिया, जिससे दोनों आजाद कबूतर हवा में उड़ने लगे.

सास मेरे बच्चों की थोड़ी बहुत मदद कर देती है लेकिन बाकी का सारा काम मुझे ही करना पड़ता है. मैंने उसके होंठ अपने होंठ में भींच कर एक ज़ोर का धक्का मारा और नीरू बहन की चूत से एक बार फिर से खून आने लगा. एक्स वीडियो इंग्लिश सेक्सीगाजरी रंग के लाल-लाल रसीले से होंठ, मीडियम साइज की प्यारी सी काली आंखें, रंग भी गोरा, बाल थोड़े चिपके हुए थे और ज्यादा आकर्षक नहीं थे.

कल्पना ने जो एड्रेस दिया था, वो मेरे घर से कुछ 4 किलोमीटर की दूरी पर ही था, तो मैं भी फटाफट निकल गया और गूगल की हेल्प लेकर 20-25 मिनट में ही पहुंच गया.

मैं सलवार ऊपर खींचते हुए अपना सलवार का नाड़ा बांधते हुए बारात घर तरफ तेजी से चल दी. मैंने नैना को ज़ोर से पकड़ लिया और अपना सारा माल उसकी चूत के अन्दर छोड़ दिया.

कल्पना लंड बाहर करने की पूरी कोशिश करने लगीं, पर मैंने उन्हें अपनी बांहों में कस लिया और उनके होंठों पे अपने होंठ रख दिए. और अपनी कमर उछाल-उछाल कर मेरा मुँह अपनी योनि में घुसाए जा रही थी कोमल. वह मजाक में मुझे ‘आई लव यू …’ भी बोल देता था, पर वह बिल्कुल भी सीरियस नहीं था.

देख मेरा अच्छा दामाद है न, प्लीज, सिर्फ एक बार चूत लंड का मिलन करवा दे, मुझ पर रहम कर.

जा कर बात की, तो पता चला कि उनकी दो बेटियां हैं, एक की उम्र 28 साल (पद्मा) और दूसरी की उम्र 30 साल (शीला) है, दोनों विधवा हैं. मुझे ऐसा लग रहा था कि अगर वो तीन-चार बार मेरे लंड को ऐसे ही सहला देती तो मैं वहीं पर झड़ जाता. एक दो बार तो ऐसा तक हुआ कि उसने दोस्त के नीचे लेटे हुए ही मेरा नाम लेकर जोक करना शुरू कर दिया ताकि मेरी झांटें सुलगा सके.

चोदा चोदी सेक्सी वीडियो दिखाइएउसने मुझे गौर से देखा और उसके बाद आंखें बंद करके अपने चेहरे को आगे कर दिया जैसे वो मुझे किस करने के लिए कह रही हो. उसके बाद तो बस लाइफ बिताया जाता है … तो जब तक जवानी है तब तक जी अपनी लाइफ … और जवानी के बाद जिसके पास पैसा है.

क्सक्सक्स १०

मैंने चेहरा मर्दाने चूतड़ों के बीच में घुसाया और गांड से होंठ जोड़ दिए. उसने मेरा सिर दबा दिया और मैं उसकी चूत में जीभ रगड़ कर उसके गर्म-गर्म पानी का स्वाद लेता रहा. थोड़ी देर बाद मेरा काम तमाम हो गया लेकिन मैंने ध्यान रखा और मैंने झड़ने से पहले अपना लंड मीशा की रक्तरंजित चूत से बाहर खींच लिया था.

तभी एकता ने कुछ समझा और बोला- ओ माय बेबी … कितनी जल्दी समझ गया … अब मुझे तेरे लंड की कहां जरूरत है. अन्नू और डोली के यहाँ इससे रोज़ गांड मरवाई, तो अब तू इसका लंड गांड में लेने को मना नहीं कर सकती. मेरी यह सच्ची कहानी आपको कैसी लगी, मेल के द्वारा मुझे जरूर बताइयेगा.

हां एक बात … ‘आरती की चुदाई का अशोक से और मेरी चुदाई का धीरज से’ सिवा हम दोनों के किसी को नहीं पता था. रास्ते में उसने कहा- मुझे आने में देर तो नहीं हुई ना?मैंने कहा- नहीं … पर मुझे आपके पास आने में देर हो गई. फिर मैंने नीचे से हाथ डाल कर उसके चूतड़ दबाये और कहा- सच्ची दीदी, ये बड़े मस्त हैं.

फिर वो बिस्तर पर सीधी लेट गईं और मैंने उनकी दोनों टांगें अपने कन्धों पर रखकर उनकी चूत मारनी शुरू की. लगता था उन दोनों ने पहले से ही हमारी सुहागदिन का इंतज़ाम कर रखा था.

ज़रीना बोली- छी: यह कोई मुँह में लेने की चीज है? घिन नहीं आएगी क्या?इससे पहले मैं कुछ कहता, सारा बोली- इसको मुँह में लेने का तो अपना अलग ही मजा है मेरी बहन.

यह कहानी जो मैं आपको आज बताने जा रहा हूँ, आज से लगभग दो या तीन साल पहले की है. सेक्स करने वाली लड़कियों के नंबरशंकर जी- क्या कौशल्या … कुछ भी बोलती हो, ठीक है सर मैं शाम को आपके घर आता हूँ. लडकियों की चुदाईउधर नीना की शर्महया भी रफू चक्कर हो चुकी थी क्योंकि उसे तो कब से इस घड़ी का बेसब्री के साथ इंतजार था. क्या मतलब है पीछे से आई थी? अभी तुम्हारी शीट से निकली है या नहीं?” उनका लहज़ा बहुत ही सख़्त था.

उसके इतना कहते ही वाणी उठी और वहीं लगी अलमारी में से एक डिल्डो वाली बेल्ट निकाल कर पहन ली.

मेरी सास ने अपने सारे बाल हटा कर अपनी चूत बिल्कुल चिकनी कर रखी थी, पर मेरा मन था कि उनकी रसीली चुचियों और कमर से हट ही नहीं रहा था. दस मिनट तक आंटी की चूत को इसी आसन में चोदने के बाद मैने आंटी को चूमा, तो आंटी ने ऊपर आने का कहा. मैं बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से डालो … बहुत दर्द हो रहा है.

अब मैं क्या करता? तो मैंने उसे ज़बरदस्ती घोड़ी बनाया, उसकी गांड को काफी देर तक सहलाया, फिर अपने लौड़े पर नारियल का तेल लगाया, उसकी गांड पर भी ढेर सारा तेल लगा दिया. पिछले 20 मिनट में तीन बार मिस कॉल कर चुकी है, बस उसको उसके ऑफिस से लेकर सीधे घर और अगले ढाई दिन साला कच्छी तक पहनने नहीं दूंगा उसको. मैं बोला- देखो उसको भी पति का सुख मिल जाएगा और आपको भी कंपनी मिल जाएगी.

xxx वीडियो न्यू

मैं उसकी तरफ देखती रही, तो उसने अपने लंड को सहलाते हुए पूछा- तुम्हारा नाम क्या है?मैं अचकचा कर बोली- निशा … और तुम्हारा?तो उसने बोला- मेरा नाम डेविड है और मैं नामित का बॉस हूँ. मैंने अपना पैर सीधा करके उसकी साड़ी में डाल दिया और पैर के अंगूठे से उसकी चुत को छेड़ने लगा. इसके बाद उसने वाईब्रेटर और तेज कर दिया मेरे ऊपर आकर मेरे दोनों निप्पलों को जोर जोर से दबाकर मेरे होंठ चूसने लगी.

उस कॉलब्वॉय को मैंने काफी बड़ी कंपनी से हायर किया था, इसलिए मैं उस पर भरोसा कर सकती थी.

आखिर एक कुंवारी लड़की कब तक इतना सहन करती, वो भी दो तीन हल्की सी चीखें मार कर एवं अपनी कमर को झटके मार कर झड़ गई और हाम्फने लग गई और मुझे ‘आई लव यू भाभी …’ और ‘प्यारी दोस्त’ बोल कर गले से लगा लिया.

भाभी की आंखें पहले ही नशीली थी और जब उनके ऊपर सेक्स का खुमार चढ़ा तो उनकी आंखें बिल्कुल ही शराबी की तरह से हो गई. मेरे लंड ने उसके गर्म मुंह में फिर से अपना वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया. دیسی سیکسआप लोगों ने मेरी पहली कहानीपहला प्यार और कुंवारी बुर की चुदाईको पढ़ा.

अचानक से उसने मेरी पैंट को खोला और मेरे अंडरवियर में से मेरा लंड निकाल कर अपने हाथ से हिलाने लगी। फिर अचानक से उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया। उसकी छुअन बहुत ही सुंदर प्रतीत हुई और मुझे अपार आनंद देने लगी। उसने मेरे लंड को मुंह में लेकर वहीं पर चूसना शुरू कर दिया. फ़िर एकदम से उसने मेरी गर्दन जोर से पकड़ी और दूसरी टांग भी उठा कर मेरी कमर पर लपेट कर मुझे यहां वहां चूमने लगी. इसके बाद मैं उसके ऊपर आया और उसकी चुचियों के ऊपर अपना लंड फिराने लगा और उसके मुँह के ऊपर सुपारा रख दिया.

मैंने अपने पूरे कपड़े उतार दिए और अपना 7 इंच का लौड़ा सीधा उनके मुँह के सामने कर दिया. उसने मेरा लंड मुँह बाहर निकाला और बोली- क्यों पता लगा … तड़फ कैसी होती है?उसने हंसते हुए फिर से मेरे लंड को मुँह में ले लिया.

मैंने उससे कहा- अगर तू न मिलती, तो शायद ही कभी मैं ऐसी चुदाई के मज़ा ले पाता.

एक दिन उसने बताया कि अब उसके पति मुझे बहुत प्यार करने लगे हैं, बिस्तर पे भी अब वो बहुत रोमांटिक होते हैं और मेरे साथ प्यार से ही सेक्स करते हैं. मैं चुप रही तो उन्होंने अपना नंबर मुझे दिया और बोले कि अगर विश्वास हो तो कॉल कर लेना. मुझे ऐसा मज़ा कभी नहीं आया जैसा नीरू बहन की चूत मारने में आ रहा था.

इंडियन हॉट एक्स एक्स एक्स मैंने कहा- नहीं यार मैं तुम्हारे साथ ऐसा नहीं कर सकता, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं, पर मैंने फिजिकल रिलेशन के बारे में अभी तक कुछ नहीं सोचा है. जब उसने देखा कि लंड उसकी चूत में घुस चुका है तो वह थोड़ी नॉर्मल होने लगी और बोली- तुमने तो मुझे डरा ही दिया था!इससे पहले वह कुछ कहती या करती मैंने उसकी चूत में धक्के देने शुरू कर दिये और उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

मुझे पता नहीं क्यों अजीब सा लगा और मैंने सुखबीर से फिर से उन्हें भगाने को कहा. फिर उसने मुझे कस कर पकड़ लिया और मैंने भी संध्या को कस कर पकड़ लिया. लेकिन मेरे पापा का लंड तो आपके लंड के आधे साइज से भी छोटा और पतला है.

बीएफ सेक्सी वीडियो साड़ी वाला

’वो मेरे चेहरे के नीचे उल्टा लेट गया- कामिनी, मेरी गांड का स्वाद ले. शाम में मेरे पति का कॉल मुझसे बात करने के लिए आया, मगर मुझमें उस वक़्त इतनी हिम्मत नहीं थी कि उनसे सही से बात कर सकूं. मैं उछल रही थी कि इतने में एकदम से लाइट आ गई और निहाल ने झट से अपना लंड निकाल लिया, पर निकालते निकालते थोड़ी देर हो गई या बगल में जो लड़के खड़े थे, उन दोनों लड़कों ने जल्दी से खेल देख लिया.

मैंने कुछ गे सेक्स की वीडियो झा जी को भेज दिए और उनसे कहा- अभी बाथरूम में जाकर इन्हें देखो. हम वहां खड़े होंगे, फिर आपको चेंजिंग रूम में नहीं बगल से आराम करने कि लिए छोटा सा रेस्ट रूम है, वहां ले चलेंगे.

फिर उस औरत ने मेरी बीवी को अपने साथ लिया और मेरी बीवी को लेकर घर आ गई.

हम दोनों कमरे में आ कर कॉफी पीने लग गए, कॉफी खत्म होते ही मैंने साहिल से बोला- एक बात बोलूं?वह बोला- तुम्हें पूछने की कोई जरूरत नहीं है, तुम बेझिझक बोलो. उत्तेजना तो मेरे बदन में भी भारी हुई थी लेकिन वो अंकल की उम्र से मुझे थोड़ी हिचक हो रही थी. वहां जाकर मैं जल्दी-जल्दी आन्सर कॉपी करने लगी। उन्होंने भी अपना वादा निभाया और रोज मुझे आंसर देते रहे। मैं हर पेपर में उन्हीं के द्वारा बताए गए आन्सर को लिखने लगी.

मेरे लपलपाते लंड के सामने कुंवारी चुत चुदने को रेडी थी, जिसकी सील टूटने का पल आ गया था. उसने नीले रंग की गहरे रंग की साड़ी पहनी और और शादी में जाने के लिए तैयार हो गई. वो क्या है ना कि हम मिर्ज़ापुरयों को अपने टेलेंट पर पूरा भरोसा होता है.

यही सोच कर मैंने ऋतु से बोला- अब जो सर बोल रहे हैं, वो तो करना ही पड़ेगा.

बंगाल का सेक्सी बीएफ वीडियो: वो बोला- झाड़ी के पीछे तुम्हारी चुदाई अच्छे से पूरी हो गयी थी कि नहीं?मैं कुछ नहीं बोली, तो वो खुद से फिर बोला कि वो लड़के भागे जिस तरह से मुझे लगा कि ठीक से नहीं चोद पाये होंगे. कुछ ही देर में मुझे ऐसा लगने लगा कि वो मेरे होंठों को चूसते हुए मेरी चूत को भोसड़ा बनाने के नजरिये से चोदे जा रहा था.

उस आदमी ने तुरंत जेब से अपने 500 का नोट निकाला और मेरे हाथ में रख दिया. उसने पीछे से मुझे अपनी बांहों में पकड़ लिया और मेरे चूचों को दबाने लगा. ये सब मैं भी देख रहा था कि ऑफीसर रवि अपनी उंगलियों को ऋतु की गांड के आस पास घुमा रहा था.

जब हम दोनों की नजरें एक दूसरे से मिलीं, तो वो मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था.

मैंने मौका हाथ से निकल जाने देना ठीक नहीं समझा और बातों बातों में उसे अपने मन की इच्छा बता दी. पहले तो मेरे पापा ने बोला- उनको कैसा लगेगा कि फैमिली से कोई नहीं गया और ये जाएगा, तो कैसा लगेगा. जब पूरी तरह से उसने मेरी चूत को चोद लिया तो अपना सारा माल चूत में ही छोड़ दिया.